MP Board Class 8th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 2

In this article, we will share MP Board Class 8th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 2 Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Sanskrit Solutions Surbhi विविधप्रश्नावलिः 2

प्रश्न 1.
प्रश्नानाम् एकपदेन उत्तरं लिखत(प्रश्नों के एक शब्द में उत्तर लिखो-)
(क) भूमेः गुरुतरा का? (पृथ्वी से भारी क्या है?)
उत्तर:
माता। (माता)

(ख) आतुरस्य मित्रं किम्? (रोगी का मित्र क्या है?)
उत्तर:
भिषग। (वैद्य)

(ग) वसन्तपञ्चमी कस्य आगमनं सूचयति? (वसन्त पंचमी किसके आगमन को सूचित करती है?)
उत्तर:
ऋतुराजवसन्तस्य (ऋतुराजवसन्त के)

MP Board Solutions

(घ) वसन्तोत्सवे कस्याः पूजनम् भवति? (वसन्त के उत्सव में किसका पूजन होता है?)
उत्तर:
सरस्वत्याः। (सरस्वती का)

(ङ) चन्द्रशेखरस्य जन्म कस्मिन् ग्रामे अभवत्? (चन्द्रशेखर का जन्म किस गाँव में हुआ था।)
उत्तर:
भाभराग्रामे। (भाभरा गाँव में)

(च) चन्द्रशेखरः काम् भाषाम् अधीतवान्। (चन्द्रशेखरः ने किस भाषा को पढ़ा?)
उत्तर:
संस्कृतभाषाम्। (संस्कृत भाषा को)

(छ) अस्तसमये सूर्यस्य वर्णः कः भवति? (अस्त होते समय सूर्य का रंग कैसा होता है?)
उत्तर:
ताम्रः। (लाल)

(ज) नरत्वं दुर्लभं कुत्र? (मानव जन्म कहाँ कठिनता से प्राप्त होता है?)
उत्तर:
लोके। (संसार में)

(झ) जयन्तः सीताचरणे किं कृतवान्? (जयन्त ने सीता के चरणों में क्या किया?)
उत्तर:
चञ्चुप्रहारम्। (चोंच का प्रहार)

(ञ) चित्रकूटे जलप्रतापस्य किं नाम? (चित्रकूट में जल प्रपात का क्या नाम है?)
उत्तर:
हनुमान्धारा। (हनुमान् धारा)

(ट) पुष्पसजंकण्ठे कः समर्पयति? (पुष्पाहार गले में कौन समर्पित करता है?)
उत्तर:
शिवराजः। (शिवाजी)

MP Board Solutions

(ठ) अहिल्यायाः व्यक्तित्वं कथं वर्तते? (अहिल्या का व्यक्तित्व कैसा है?)
उत्तर:
बहुमुखिप्रतिभासम्पन्नम्। (बहुमुखी प्रतिभा से सम्पन्न।)

(ड) माहिष्मती कस्य राजधानी आसीत्। (माहिष्मती किसकी राजधानी थी?)
उत्तर:
सहस्रार्जुनस्य। (सहस्रार्जुन की।)

प्रश्न 2.
प्रश्नानाम् एकवाक्येन उत्तरं लिखत(प्रश्नों के एक वाक्य में उत्तर लिखो-)
(क) युधिष्ठिरस्य मातुः नाम किम्? (युधिष्ठिरस्य माता का नाम क्या था?)
उत्तर:
युधिष्ठिरस्य मातुः नाम कुन्ती। (युधिष्ठिर की माता का नाम कुन्ती था।)

(ख) प्रसन्नोभूत्वा यक्षः किम् अकरोत्? (प्रसन्न होकर यक्ष ने क्या किया?)
उत्तर:
प्रसन्नोभूत्वा यक्षः सर्वेभ्यः जीवनं दत्तवान्। (प्रसन्न होकर यक्ष ने सभी को जीवन दे दिया।)

(ग) ऋतुराजवसन्तस्य आगमनसूचना कदा भवति? (ऋतुराज वसन्त के आगमन की सूचना कब होती है?)
उत्तर:
ऋतुराजवसन्तस्य आगमनसूचना माघमासस्य शुक्लपक्षस्य पञ्चम्यां तिथौ भवति।। (ऋतुराज वसन्त के आगमन की सूचना माघ महीने के शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि को होती है।)

(घ) तमिलनाडुराज्ये जनाःशारदां कथम् अर्चयन्ति। (तमिलनाडु राज्य में लोग शारदा को कैसे पूजते हैं?)
उत्तर:
तमिलनाडुराज्ये जनाः प्रकाशितान् हस्तलिखितान् ग्रन्थात् एकस्याम् पीठिकायां संस्थाप्य विविधैः उपचारैः शारदां अर्चयन्ति। (तमिलनाडु राज्य में लोग प्रकाशित हस्तलिखित ग्रन्थों को एक चौकी पर रखकर विभिन्न पूजा की विधियों से शारदा की पूजा करते हैं।)

(ङ) स्वाधीनतान्दोलने के के चन्द्रशेखरस्य सहायकाः अभवन्? (स्वाधीनता के आन्दोलन में कौन-कौन चन्द्रशेखर के सहायक हुए?)
उत्तर:
स्वाधीनतान्दोलने भगतसिंह-राजगुरु-बटुकेश्वरशिवराम-सुखदेवसदृशाः। क्रान्तिकारिणः चन्द्रशेखरस्य सहायकाः अभवन्। (स्वाधीनता के आन्दोलन में भगतसिंह, राजगुरु, बटुकेश्वर, शिवराम, सुखदेव जैसे क्रान्तिकारी चन्द्रशेखर के सहायक हुए।)

MP Board Solutions

(च) चन्द्रशेखरः कथं वीरगतिम् प्राप्नोत्? (चन्द्रशेखर ने कैसे वीरगति प्राप्त की?)
उत्तर:
चन्द्रशेखरः स्वहस्तेनैव स्वकीये मस्तके गोलिका प्रहारेण वीरगति प्राप्नोत्। (चन्द्रशेखर ने अपने हाथ से ही अपने सिर में गोली के प्रहार से वीरगति प्राप्त की।)

(छ) वृक्षाणां स्वभावः कीदृशः? (पेड़ों का स्वभाव कैसा होता है?)
उत्तर:
वृक्षाणां स्वभावः सत्पुरुष इव। (पेड़ों का स्वभाव सज्जन जैसा होता है।)

(ज) न्याय्यात्पथः पदमपि के न विचलन्ति? (न्याय के मार्ग से एक कदम भी कौन नहीं हटते हैं।)
उत्तर:
न्याय्यात्पथः पदमपि धीराः न विचलन्ति? (न्याय के मार्ग से एक कदम भी धीर नहीं हटते हैं।)

(झ) हनुमान्धारा इति नाम कथम् प्रसिद्धम? (हनुमान् धारा यह नाम कैसे प्रसिद्ध हुआ?)
उत्तर:
लङ्कादहनानन्तरं रामाज्ञया हनुमान् अत्रैव शीतलत्वं प्राप्तवान् अतः एतस्य हनुमान्धारा इति नाम प्रसिद्धम्। (लंका दहन के बाद राम की आज्ञा से हनुमान ने यहीं ठण्डक प्राप्त की, अतः इसका हनुमान् धारा नाम प्रसिद्ध हुआ।)

(ञ) निर्झराः कीदृशाः वर्तन्ते? (झरने कैसे हैं?)
उत्तर:
निर्झराः कल-कलनादपूरिताः वर्तन्ते। (झरने कल-कल के स्वर से भरपूर हैं।)

(ट) धर्मराज्यसंस्थापनार्थं श्रीरामदासेन का आशी: प्रदत्ता? (धर्मराज्य की स्थापना के लिए श्रीरामदास ने क्या आशीर्वाद दिया?)
उत्तर:
धर्मराज्यसंस्थापनार्थः श्रीरामदासेन ‘तव सर्वत्र अप्रतिहतो विजयः भवतु’ इति आशीः प्रदत्ता। (धर्मराज्य की स्थापना के लिए श्रीरामदास ने ‘तुम्हारी सब जगह निर्विघ्न विजय होवे’ यह आशीर्वाद दिया।)

(ठ) शिवराजस्य गुरुः कः आसीत्? (शिवाजी के गुरु कौन थे?)
उत्तर:
शिवराजस्य गुरुः श्रीरामदासः आसीत्। (शिवाजी के गुरु श्रीरामदास थे।)

(ङ) अहिल्याबाई कीदृशी महिला आसीत्। (अहिल्याबाई कैसी महिला थीं?)
उत्तर:
अहिल्याबाई प्रजावत्सला, धर्मपारायणा, न्यायनिष्ठा च महिला आसीत्। (अहिल्याबाई प्रजावत्सल, धर्मपरायण और न्यायनिष्ठ महिला थीं।)

MP Board Solutions

(ढ) अहिल्याबाई कदा जन्म अलभत? (अहिल्याबाई ने कब जन्म लिया?)
उत्तर:
अहिल्याबाई पवविंशत्युत्तर-सप्तदश ख्रिस्ताब्दे (१७२५) मईमासस्य एकत्रिंशे (३१) दिनांके जन्म अलभत) (अहिल्याबाई ने सत्रह सौ पच्चीस (१७२५) ई. में मई महीने की इकत्तीस (३१) तारीख को जन्म लिया।)

प्रश्न 3.
रेखाङ्कितपदम् आधृत्य प्रश्ननिर्माणं कुरुत(रेखांकित शब्द के आधार पर प्रश्न का निर्माण करो-)
(क) उदयास्तसमये रविः ताम्रवर्णः भवति। (उदय और अस्त के समय सूर्य लाल रंग का होता है।)
उत्तर:
उदयास्तसमये कः ताम्रवर्णः भवति? (उदय और अस्त के समय कौन लाल रंग का होता है?)

(ख) वृक्षाः अन्येभ्य: छायां कुर्वन्ति। (पेड़ दूसरों के लिए छाया करते हैं।)
उत्तर:
वृक्षाः केभ्यः छायां कुर्वन्ति। (पेड़ किनके लिए छाया करते हैं?)

(ग) न्याय्यात्पथः पदं न प्रविचलन्ति धीराः। (न्याय के मार्ग से एक कदम भी धीर पीछे नहीं हटते हैं।)
उत्तर:
न्याय्यात्पथः पदं न प्रविचलन्ति के? (न्याय के मार्ग से एक कदम भी कौन पीछे नहीं हटते हैं?)

(घ) वर्जयेत् तादृशम् मित्रम्। (उस प्रकार के मित्र को छोड़ देना चाहिए।)
उत्तर:
वर्जयेत् कीदृशम् मित्रम्? (किस प्रकार के मित्र को छोड़ देना चाहिए?)

(ङ) विविधैः पुष्पैः ऋतुराजस्य स्वागतम् भवति। (विभिन्न पुष्पों के द्वारा ऋतुराज का स्वागत होता
उत्तर:
कैः ऋतुराजस्य स्वागतम् भवति? (किनके द्वारा ऋतुराज का स्वागत होता है?)

(च) पुस्तकानाम् अपि पूजनम् भवति। (पुस्तकों का भी पूजन होता है।)
उत्तर:
केषाम् अपि पूजनम् भवति? (किनका भी पूजन होता है?)

MP Board Solutions

(छ) शारदाम् अर्चयन्ति। (शारदा को पूजते हैं।)
उत्तर:
काम् अर्चयन्ति? (किसको पूजते हैं?)

(ज) रामघट्टः मन्दाकिन्याः तटे अस्ति। (रामघाट मन्दाकिनी के तट पर है।)
उत्तर:
रामघट्टः कस्याः तट अस्ति? (रामघाट किसके तट पर है?)

(झ) सः प्रातः विद्यालयं गच्छति। (वह सुबह विद्यालय जाता है।)
उत्तर:
सः कदा विद्यालयं गच्छति? (वह कब विद्यालय जाता है?)

(ञ) एषः मम अग्रजः अस्ति। (यह मेरा बड़ा भाई है।)
उत्तर:
एषः कस्य अग्रजः अस्ति? (यह किसका बड़ा भाई है।)

(ट) चित्रकूट सतना मण्डले अस्ति। (चित्रकूट सतना मण्डल में है।)
उत्तर:
चित्रकूटं कस्मिन् मण्डले अस्ति? (चित्रकूट किस मण्डल में है?)

(ठ) अहं मालवप्रदेशतः आगच्छामि। (मैं मालवप्रदेश से आ रहा हूँ।)
उत्तर:
अहं कुतः आगच्छामि? (मैं कहाँ से आ रहा हूँ?)

(ङ) राज्ञा महिष्मता निर्मिता माहिष्मती। (राजा महिष्मति के द्वारा माहिष्मती का निर्माण किया गया।)
उत्तर:
केन निर्मिता माहिष्मती? (किसके द्वारा माहिष्मती का निर्माण किया गया?)

(ढ) रघुवंशे माहिष्मतीवर्णनम् अस्ति। (रघुवंश में माहिष्मती का वर्णन है।)
उत्तर:
कुत्र माहिष्मतीवर्णनम् अस्ति? (कहाँ माहिष्मती का वर्णन है?)

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
कोष्ठकात् उचितानिपदानि चित्वारिक्तस्थानानि पूरयत (कोष्ठक से उचित शब्द चुनकर रिक्त स्थानों की पूर्ति करो-)
(क) माता ……… गुरुतरा अस्ति। (भूमि:/भूमेः)
(ख) ……….. भिषमित्रम् भवति। (आतुरः/आतुरस्य)
(ग) वसन्तपञ्चमी ……….. नाम्ना अपि ज्ञायते। (श्रीपञ्चमी/ऋषिपञ्चमी)
(घ) चन्द्रशेखरस्य पितुः नाम ………. आसीत्। (सीतारामः/दयारामः)
(ङ) चित्रकूटे रामचन्द्रः ………. यावत् निवासं कृतवान्। (चतुर्दशवर्षाणि/एकादशवर्षाणि)
(च) भवान् कुतः ………..। (आगच्छति/आगच्छसि।)
(छ) राजवाड़ास्थानं ……….. वर्तते। (उपेक्षणीयम्/प्रेक्षणीयम्)
उत्तर:
(क) भूमेः
(ख) आतुरस्य
(ग) श्रीपञ्चमी
(घ) सीतारामः
(ङ) चतुर्दशवर्षम्
(च) आगच्छति
(छ) प्रेक्षणीयम्।

प्रश्न 5.
अधोनिर्दिष्टैः अव्ययैः वाक्यानि रचयत(नीचे लिखे अव्ययों से वाक्यों की रचना करो-)
कदा, च, तत्र, विना, अत्र, अद्य, तु।
उत्तर:
MP Board Class 8th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 2 Q5

प्रश्न 6.
नामोल्लेखपूर्वकं सन्धि कुरुत(नाम का उल्लेख करते हुए सन्धि करो-)
उत्तर:
MP Board Class 8th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 2 Q6

प्रश्न 7.
लकार परिवर्तनं कुरुत(लकार परिवर्तन करो-)
उत्तर:
लट – लोट
(क) रक्षति – रक्षतु
(ख) रक्षामि – रक्षाणि
(ग) गच्छसि – गच्छ
(घ) गच्छामः – गच्छाम
(ङ) पिबन्ति – पिबन्तु
(च) पिबथ – पिबत
(छ) शृणुथः – शृणुतम्
(ज) याचतः – याचताम्
(झ) स्मरामः – स्मराम
(ब) पचन्ति – पचन्तु

MP Board Solutions

प्रश्न 8.
उचितम् मेलयत(उचित को मिलाओ-)
MP Board Class 8th Sanskrit Solutions विविधप्रश्नावलिः 2 Q8
उत्तर:
(क) → (iii)
(ख) → (i)
(ग) → (ii)
(घ) → (v)
(ङ) → (vi)
(च) → (iv)
(च) → (iv)
(छ) → (viii)
(ज) → (vii)

प्रश्न 9.
पूर्तिं कुरुत (पूरा करो-)
उत्तर:
(क) उद्यमं साहस धैर्य, बुद्धिः शक्तिः पराक्रमः।
षडेते यत्रं वर्तन्ते, तत्र देव सहायकः॥

(ख) उदये सविता ताम्रः, ऐवास्तमेति च। सम्पत्तौ च
विपत्तौ च, महतामेकरूपता

प्रश्न 10.
अधोलिखितगद्यांशम् पठित्वा उत्तराणि लिखत (नीचे लिखे गद्यांश को पढ़कर उत्तर लिखो-)
(I) प्राचीनकाले वसन्तपञ्चयां ज्ञानयज्ञतपस्वरूपां सरस्वतीं जनाः पूजयन्ति स्म। अधुना अपि सम्पूर्णे देशे आध्यात्मिक जिज्ञासया अस्मिन् दिने जनाः ज्ञानस्य अधिष्ठात्री शारदाम् पूजयन्ति। वसन्तोत्सवः वस्तुतः सांस्कृतिकः उत्सवः अस्ति। वैदिककालात् एव अस्मिन् दिने सरस्वत्याः उपासना भवति।

अनुवाद :
वसन्त उत्सव का द्वितीय पक्ष अधिक सम्मान के योग्य होता है। भारत में वसन्त की बेला में देवी सरस्वती की आराधना भी परम्परा है। वसन्त पंचमी ज्ञान की उपासना। (और) आराधना का उत्सव है। प्राचीन समय में वसन्त पंचमी पर ज्ञानयज्ञ (और) तप स्वरूप सरस्वती को लोग पूजते थे। अब भी सम्पूर्ण देश में आध्यात्मिक जिज्ञासा से इस दिन लोग ज्ञान की मुख्य देवी शारदा (सरस्वती) को पूजते हैं।

(क) प्राचीनकाले वसन्तपञ्चम्यांजनाः काम्पूजयन्ति स्म? (प्राचीन काल में वसन्त पंचमी को लोग किसको पूजते थे।)
उत्तर:
प्राचीनकाले वसन्तपञ्चम्यां जनाः सरस्वती पूज्यन्ति स्म। (प्राचीन काल में वसन्त पञ्चमी को लोग सरस्वती को पूजते थे।)

(ख) अधुना जनाः वसन्तपञ्चम्यां देशे काम पूज्यन्ति? (अब लोग वसन्त पंचमी को देश में किसको पूजते हैं?)
उत्तर:
अधुना जनाः वसन्तपञ्चम्यां देशे शारदां पूजयन्ति। (अब लोग वसन्त पंचमी को देश में सरस्वती को पूजते हैं।)

(ग) वसन्तोत्सवः कीदृशःउत्सवः अस्ति? (वसन्त उत्सव: कैसा उत्सव है?)
उत्तर:
वसन्तोत्सवः सांस्कृतिक उत्सवः अस्ति। (वसन्त उत्सव सांस्कृतिक उत्सव है।)

MP Board Solutions

(घ) कस्मात् कालात् वसन्तपञ्चम्यां सरस्वती उपासना भवति? (किस काल से वसन्त पंचमी को सरस्वती की उपासना होती है?)
उत्तर:
वैदिककालात् वसन्तपञ्चम्यां सरस्वती उपासना भवति। (वैदिक काल से वसन्त पंचमी को सरस्वती की उपासना होती है।)
अथवा
(II) अङ्केश:-पुनः पुनः स्मरतु। प्राचीनकालतः अवन्तिकानाम्नी प्रसिद्धा उज्जयिनी, माहिष्मतीनाम्ना प्रशस्तः नहेश्वरञ्चेति स्थानद्वयं मालवक्षेत्रे अन्तर्भवति।

अञ्जना-राज्ञा महिष्मता निर्मिता माहिष्मती अधुना महेश्वरनगरमेव’ अस्ति। अनूपदेशस्य यज्ञः सहस्रार्जुनस्य राजधानी अपि आसीत्।

अनुवाद :
अंजना-उनकी धर्म निष्ठा को याद कर रहा हूँ। अपने पुत्र मालेराव की मृत्यु के बाद नर्मदा के किनारे इन्दौर के पास महेश्वर (नामक) स्थान को राजधानी बनाया।

अंकेश :
फिर से याद करो। प्राचीन काल से अवन्तिका नाम की प्रसिद्ध उज्जयिनी और माहिष्मती नाम से प्रशंसनीय महेश्वर ये दोनों स्थान मालव क्षेत्र के अन्तर्गत हैं।

अंजना :
राजा महिष्मत् के द्वारा निर्मित माहिष्मती अब ‘महेश्वर’ नगर ही है। अनूपदेश के राजा सहस्रार्जुन की राजधानी भी थी।

(क) उज्जयिन्याः अपरं नाम किम्? (उज्जयिनी का दूसरा नाम क्या है?)
उत्तर:
उज्जयिन्याः अपरं नाम अवन्तिका। (उज्जयिनी का दूसरा नाम अवन्तिका है।)

(ख) महेश्वरस्य अपरं नाम किम्? (महेश्वर का दूसरा नाम क्या है?)
उत्तर:
महेश्वरस्य अपरं नाम माहिष्मती। (महेश्वर का दूसरा नाम माहिष्मती है।)

(ग) सहस्रार्जुनः कस्य देशस्य नृपः आसीत्? (सहस्रार्जुनः किस देश का राजा था?)
उत्तर:
सहस्रार्जुनः अनूपदेशस्यं नृपः आसीत्। (सहस्रार्जुन अनूपदेश का राजा था।)

(घ) सहस्रार्जुनस्य राजधानी कस्मिन् नगरे आसीत्? (सहस्रार्जुन की राजधानी किस नगर में थी?)
उत्तर:
सहस्रार्जुनस्य राजधानी महेश्वरनगरे आसीत्। (सहस्रार्जुन की राजधानी महेश्वर नगर में थी।)

MP Board Solutions

प्रश्न 11.
अधोलिखितम् गद्यं पठित्वा उत्तराणि लिखत(नीचे लिखे.पद्य को पढ़कर उत्तर लिखो-)
(I) उदये सविता ताम्रस्ताम्र एवास्तमेति च।
सम्पत्तौ च विपत्तौ च महतामेकरूपता॥

अनुवाद :
सूर्य उदय होते समय लाल होता है और अस्त होते समय भी लाल होता है। उसी प्रकार महान् लोग सम्पत्ति (सुख) और विपत्ति (दुःख) में एक समान रहते हैं।
(क) उदये सवितुः वर्णः कः भवति? (उदय के समय सूर्य का रंग कैसा होता है?)
उत्तर:
उदये सवितुः वर्णः ताम्रः भवति। (उदय के समय सूर्य का रंग लाला होता है।)

(ख) अस्तङ्गते सवितुः कः वर्णः भवति? (अस्त होते समय सूर्य का रंग कैसा होता है?
उत्तर:
अस्तङ्गते सवितुः ताम्रः वर्णः भवति। (अस्त होते समय सूर्य का रंग लाल होता है।)

(ग) सम्पत्तौ विपत्तौ च केषाम् एकरूपता? (सुख और दुःख में किनकी एक समानता रहती)
उत्तर:
सम्पत्तौ विपत्तौ च महताम् एकरूपता। (सुख और दुःख में महान् लोगों की एक समानता रहती है।)

(घ) उदये इति पदे का विभक्तिः अस्ति? (‘उदये’ इस शब्द में कौन-सी विभक्ति है?)
उत्तर:
उदये इति पदे सप्तमी विभक्तिः अस्ति (‘उदये’ इस शब्द में सप्तमी विभक्ति है।)
(अथवा)
(II) माता गुरुतरा भूमेः खात्पितोच्चतरस्तथा।
मनः शीघ्रतरं वाताच्चिन्ता बहुतरी तृणात्॥

अनुवाद :
युधिष्ठिर बोला-माता पृथ्वी से भारी है (अर्थात् माता का गौरव पृथ्वी से ज्यादा है)। पिता आकाश से अधिक ऊँचे हैं, मन वायु से तेज चलने वाला है और चिन्ता तिनकों से भी अधिक (जनसंख्या या अनन्त) है।
(क) भूमेः गुरुतरा का? (भूमि से ज्यादा गौरव किसका है?)
उत्तर:
भूमेः गुरुतरा माता। (भूमि से ज्यादा गौरव माता का है।)

(ख) पिता कस्मात् उच्चतरः? (पिता किससे ऊँचे हैं?)
उत्तर:
पिता खात् उच्चतरः। (पिता आकाश से ऊँचे हैं।)

MP Board Solutions

(ग) वातात् शीघ्रतरं किम्? (वायु से तेज क्या है?)
उत्तर:
वातात् शीघ्रतरं मनः। (वायु से तेज मन है।)

(घ) तृणात् बहुतरी का? (तिनकों से भी अनन्त क्या है?)
उत्तर:
तृणात् बहुतरी चिन्ता। (तिनकों से भी अनन्त चिन्ता है।)

प्रश्न 12.
उचितविकल्पं चित्वा लिखत(उचित विकल्प चुनकर लिखो-)
(क) वसन्तपञ्चमी पर्व भवति। (फाल्गुनमासे/चैत्रमासे/माघमासे/कार्तिकमासे)
(ख) चन्द्रशेखरस्य जन्म अभवत्। (जुलाईमासे/मईमासे/अगस्तमासे/जूनमासे)
(ग) सम्पत्तौ च विपत्तौ च महताम् भवति। (अनेकरूपता/भिन्नरूपता/एकरूपता/विविधरूपता)
(घ) ‘सत + आचारः अस्ति। (स्वरसन्धि/ – व्यञ्जनसन्धिः/विसर्गसन्धिः/प्रकृतिभावसन्धिः)
(ङ) विद्यालयः अस्ति। (अव्ययीभावसमासः/तत्पुरुषसमासः/द्वन्द्वसमासः/द्विगुसमासः)
(च) अहिल्याबाई इत्यस्य पत्युः नाम आसीत्। (दामोदररावः/खण्डेराव:/मल्हारराव/कृष्णराव:)
उत्तर:
(क) माघमासे
(ख) जुलाईमासे
(ग) एकरूपता
(घ) व्यञ्जनसन्धिः
(ङ) तत्पुरुषसमासः
(च) खण्डेरावः।

MP Board Class 8th Special English Solutions Chapter 17 Manav Sangrahalaya: One of Its Kind

In this article, we will share MP Board Class 8th Special English Solutions Chapter 17 Manav Sangrahalaya: One of Its Kind Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Special English Solutions Chapter 17 Manav Sangrahalaya: One of Its Kind

Manav Sangrahalaya: One of Its Kind Textual Exercise

Word Power

Question 1.
Give one word for the following:

(a) A building in which objects of artistic, cultural, historical or scientific interest are kept.
(b) The period of time in history before information was written down.
(c) The place where a particular type of animal or plant is normally found
(d) A picture that is made by using a camera that has a film sensitive to light inside it ……………
(e) A short journey made for pleasure, especially one that been organized for a group of people …………….

Answer:

(a) Museum
(b) Prehistoric
(c) Habitat
(d) Photograph
(e) Excursion.

Question 2.
Fill in the missing letters in the following words:

(a) d_p_cts
(b) m_gn_f_c_nt
(c) _xc_ _rs_ _n
(d) th_ m_
(e) w_nt_r
(f) t_m_rr_ w
(g) _r_g_n_l
(h) s_sp_ct
(i) sp_c_ _l
(j) c_mm_n_t_s

Answers:

(a) depicts
(b) magnificent
(c) excursion
(d) theme
(e) winter
(f) tomorrow
(g) original
(h) suspect
(i) special
(j) communities.

MP Board Solutions

Comprehension

Question 1.
Choose the right answer to complete these sentences

(a) Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya was initially set up in ………….
(i) 1979 in Bhopal
(ii) 1977 in New Delhi
(iii) 1976 in Mumbai
(iv) 1979 in New Delhi

(b) Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya is situated on of
(i) Shamla Hills.
(ii) Arera Hills.
(iii) Idgah Hills.
(iv) Museum Hills.

(c) The hill is one of a continuous chain hills.
(i) thirty-one.
(ii) thirty-six.
(iii) thirty-three.
(iv) thirty-four.

(d) The museum is spread on an area of ………….
(i) 197 acres.
(ii) 195 acres.
(iii) 190 acres.
(iv) 192 acres.

(e) The main entrance of Indira Gandhi Manav Sangrahalaya is of
(i) traditional desert village style.
(ii) traditional Himalayan village style.
(iii) traditional coastal village style.
(iv) traditional desert city style.

Question 2.
A. Answer the questions given below:

(a) Why Mere Rohit and Rani not very excited that day?
Answer:
They were not excited that day because the winter vacation was coming to an end yet there was still no plan in sight.

(b) What in Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya?
Answer:
It is a museum.

(c) Where is it situated?
Answer:
It is situated in Bhopal.

(d) What is parole?
Answer:
It is the wonderful gate constructed in a traditionial Himalayan village style.

(e) What do you know about Veethi Sankul?
Answer:
It is one of the main museum buildings based on the theme of human evolution.

(f) What makes this museum different from others?
Answer:
It preserves folkart, and tribal communities, their habitats, their cultural diversities and their relationship with nature. This fact makes this museum different from others.

(B) Pick out the words from the box that are related with ‘Parole’ and ‘Veethi Sankul’ and write them in the space given
Himalayan village style, building, wonderful, gate, photographs, exhibits, main entrance, models, human evolution.
Answer:
MP Board Class 8th Special English Chapter 17 Manav Sangrahalaya One of Its Kind 1

MP Board Solutions
Let’s Learn

Look at these sentence:

1. I had already had my lunch.
2. The peon had rung the bell before ten o’clock.
3. The boys had gone to play prior to our arrival.

  • The verb in these sentences are in the past prefect tense. This tense is used to express an action completed in the past.
  • It is also used to express an action completed in the past before another action took place.

Example:

  1. I had finished my work before she came
  2. The train had steamed off before we reached the station

(A) Now rewrite the following passage using the past perfect tense of the verbs given in the brackets:

The train (arrive) at the station when I reached there. In fact, it was about to move again. The guard (show) the flag and the engine (give) the whistle. Pawan (get) down from the train. A porter (take) out the luggage. Pawan was standing with the luggage and wondering whether I (not receive) his telegram. He felt relived to see me. I told him that I leave) home well in time but a traffic jam on the way (made) me late. Pawan informed me that Pinki (stay) back at Agra. The doctor (advise) her to take rest far a few days.
Answer:
The train had arrived at the station when I reached there. In fact, it was about to move again. The gruard had showed the flag and the engine had given the whistle. Pawan had got down from the train. A porter had taken out the luggage. Pawan was standing with the luggage and wondering whether I had not received his telegram. He felt relieved to see me. I told him that I had left home well in time but a traffic jam on the way had made me late. Pawan informed me that Pinki had stayed back at Agra. The doctor had advised her to take rest for a few days.

(B) Complete the following sentences using the past perfect tense of suitable verbs:

Example: Mohit was limping
…………………………
Mohit was limping because he had sprained his leg.

(a) Rahul was sad because ……………………
(b) Asha was upset because ……………………
(c) The teacher was angry because ……………………
(d) Salma was happy because ……………………
(e) My mother was worried because ……………………

Answers:

(a) Rahul was sad because he had not got time to play.
(b) Asha was upset because she had received a bad news.
(c) The teacher was angry because the students had disobeyed him.
(d) Salma was happy because her father had brought a beautiful dress for her.
(e) My mother was worried because she had got bad new.

MP Board Solutions

Let’s Talk

Rohit has come to visit Indira Gandhi Manav Sangrahalaya. He sees a potter at work. He is fascinated to see the potter’s wheel. The following is the conversation between Rohit and the potter. Talk to your partner and develop the conversation.

Rohit : Hello Sir, I’m Rohit. I want to ask you some questions on pottery.
Potter : Hello Rohit, you are welcome.
Rohit : First tell me about the material needed for pottery.
Potter : Clay, water.
Rohit : What type of clay do you use?
Potter : It is a special type of clay.
Rohit : How do you prepare the clay for the pot?
Potter : It takes a long time and labour in its preparation
Rohit : What do you do then?
Potter : Then we put the clay on the wheel and prepare the pot.
Rohit : Thank you, for giving me the information.

Let’s Write

Notice Writing

A notice is meant to give information to people without caring to circulate it individually. Notices are put up at a prominent place from where everybody can read. In school you may have a special place for a notice board. In residential colonies a notice board is generally placed at the entrance gate. Notices may be inserted in newspapers too.

All notices have a few features in common. They

  • have a heading
  • are clear, brief and complete.
  • are attractive.
  • are written in simple language giving all necessary information like the purpose, date, time and venue.
  • have the name and designation of the person circulating the notice.

Now read the following notice which the sports secretary of Govt. Model School had put up on his school notice board.

Notice
The Inter-school cricket Tournament will begin from 10th January 2007. Matches will be played after school between 3.00 p.m. to 5.00 p.m.

All boys aged between 12 and 14 who wish to play may give their names to the secretary, latest by 25th Dec.2007…..
Dec. 2007….
Sports Secretary,
10th Dec. 2007….

Your school has arranged an educational tour to Indira Gandhi Rashtriya Manav Sanghrahalaya on 1st Feb’2007. You are Arif Khan, the head boy of your school. Write a notice for your school notice board inviting the students to participate in the tour.
Answer:
Notice
The school has arranged an educational tour to Indira Gandhi Rashtriya Manav Sanghrahalaya on 1st Feb’ 2007. All the interested students are requested to contact the undersigered as soon as possible.
Arif Khan
The head boy
25th Jan. 2007

MP Board Solutions

Let’s Read

Read the map carefully and answer the questions given below.
MP Board Class 8th Special English Chapter 17 Manav Sangrahalaya One of Its Kind 2
When you go from bhopal to pachmarhi:

Question 1.
Which highway will the bus take to go to Pachmarhi?
Answer:
The Bhopal Nagpur Highway.

Question 2.
Which direction does it go from the Nagpur Highway?
Answer:
Southwards.

Question 3.
What’s the distance between Hoshangabad and Pipariya?
Answer:
Pipariya is 70 kms from Hoshagabad.

Question 4.
How far is Pachmarhi from Pipariya?
Answer:
Pachmarhi is 54 kms from Pipariya.

Question 5.
Name the towns on the Hoshangabad Pachmarhi road.
Answer:
Babai, Sohagpur, Pipariya.

Question 6.
What does the signboard at Pachmarhi say?
Answer:
Welcome to Pachmarhi, a hill station.

Manav Sangrahalaya: One of Its Kind Word Meanings

MP Board Class 8th Special English Chapter 17 Manav Sangrahalaya One of Its Kind 3

MP Board Class 8th English Solutions

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 5 Coal and Petroleum

In this article, we will share MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 5 Coal and Petroleum Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 5 Coal and Petroleum

MP Board Class 8th Science Coal and Petroleum NCERT Textbook Exercises

Question 1.
What are the advantages of using CNG and LPG as fuels?
Answer:
The advantages of using CNG and LPG as fuels are:

  1. CNG and LPG are a non-polluting fuel vehicles.
  2. CNG is used for power generation.
  3. LPG can be used directly for burning in homes and factories.
  4. CNG and LPG fuels are easy to store.

Question 2.
Name the petroleum product used for surfacing of roads.
Answer:
These days bitumen is used for surfacing of roads in place of coal-tar.

MP Board Solutions

Question 3.
Describe how coal is formed from dead vegetation. What is this process called?
Answer:
About 300 million years ago, the earth had dense forests in low lying wetland areas. Due to natural processes like flooding, these forests got buried under the soil. As more soil deposited over them, they were compressed. The temperature also rose as they sank deeper and deeper. Under high pressure and high temperature, dead plants got slowly converted to coal. As coal contains mainly carbon, the slow process of conversion of dead vegetation into coal is called carbonisation. Since it was formed from the remains of vegetation, coal is also called a fossil fuel.

Question 4.
Fill in the blanks:
(a) Fossil fuels are and
(b) Process of separation of different- constituents from petroleum is called
(c) Least polluting fuel for vehicle is
Answer:
(a) coal, petroleum, natural gas.
(b) refining
(c) CNG.

MP Board Solutions

Question 5.
Tick TruelFalse against the following statements:
(a) Fossil fuels can be made in the laboratory. (T/F)
(b) CNG is more polluting fuel than petrol. (T/F)
(c) Coke is almost pure form of carbon. (T/F)
(d) Coal tar is a mixture of various substances. (T/F)
(e) Kerosene is not a fossil fuel. (T/F)
Answer:
(a) False, (b) False, (c) True, (d) True, (e) True.

Question 6.
Explain why fossil fuels are exhaustible natural resources.
Answer:
Coal, petroleum and natural gas are fossil fuels. The amount of these resources is limited in nature and is used by human activities. This is why fossil fuels are exhaustible natural resources.

MP Board Solutions

Question 7.
Describe characteristics and uses of coke.
Answer:
Coke is obtained as a solid residue by heating coal in a closed tube in the absence of air. Coke is a tough porous black substance. It is almost pure form of carbon. Uses of Coke:

  1. It is used in the manufacture of steel.
  2. It is used in the extraction of many metals.

Question 8.
Explain the process of formation of petroleum.
Answer:
Petroleum was formed from organisms living in the sea. As these organisms died, their bodies settled at the bottom of the sea and got covered with layers of sand and clay. Over millions of years, absence of air, high temperature and high pressure transformed the dead organisms into petroleum and natural gas.

MP Board Solutions

Question 9.
The following table shows the total power shortage in India from 1991-1997. Show the data in the form of a graph. Plot shortage percentage for the years on the Y-axis and the year on the X-axis.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 5 Coal and Petroleum 1
(Source: CME, D&B researchcea.nic.in)
Answer:
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 5 Coal and Petroleum 2

MP Board Class 8th Science Coal and Petroleum NCERT Intext Activities and Projects

Activity 5.1

Make a list of various materials used by us in daily life and classify them as natural and man-made.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 5 Coal and Petroleum 3

MP Board Class 8th Science Coal and Petroleum NCERT Additional Important Questions

A. Short Answer Type Questions

Question 1.
Define inexhaustible natural resources with examples.
Answer:
These resources are present in unlimited, quantity in nature and are not likely to be exhausted by human activities. Examples are sunlight, air.

MP Board Solutions

Question 2.
Define exhaustible natural resources with examples.
Answer:
The amount of these resources in nature is limited. They can be exhausted by human activities. Examples of these resources are forests, wildlife, minerals, coal, petroleum, natural gas etc.

Question 3.
Why charcoal is better fuel than wood?
Answer:
Charcoal is a clean fuel and gives very less smoke which is equivalent to negligible. But wood is not a clean fuel and gives a lot of smoke on burning.

Question 4.
Why should we conserve energy?
Answer:
We should conserve energy:

  1. to overcome the problem of energy crisis.
  2. to save non-renewable sources of energy.
  3. to make the sources last long.

MP Board Solutions

Question 5.
Why are we using coal and petroleum
even though a large amount of sun’s energy is falling on the earth?
Answer:
Even though a large amount of the sun’s energy is falling on earth, it is very much diffused. In order to use sun’s energy we have to collect and concentrate it.

B. Long Answer Type Questions

Question 6.
What are the uses of LPG?
Answer:
At high pressure, LPG is stored in liquid form. Therefore, it can be filled at high pressure in small cylinders which can be sent for household and industrial uses. When regulator fitted on the cylinder is turned on, pressure inside the cylinder reduces and LPG converts in gaseous form and passes through a pipe to the burner where it is used as fuel.

Question 7.
Write a short note on Compressed Nature Gas.
Answer:
Compressed Natural Gas (CNG): Natural gas is mainly composed of methane (CH4) with ethane C2H6 and propane C3H8 gases in lesser amount. Methane is the major component (95%) of the natural gas. Usually petroleum gases are obtained at the top level of petroleum oil in petroleum wells. CNG is natural gas compressed at high pressure. CNG is used as a fuel in houses and in automobiles. It is more pollution free than other fuels.

MP Board Solutions

Question 8.
Define the term fossil fuel. Name three fossil fuels.
Answer:
The period between 200 to 300 million years ago is known as carboniferous age. During this period large trees covered many areas of the earth. The generations of trees died and were gradually buried. These trees were converted very slowly into peat, then lignite and finally coal. It is called fossil fuels. Examples of fossils fuels are coal, petroleum and natural gas.

Question 9.
What is PCRA? What does it advise?
Answer:
PCRA stands for Petroleum Conservation Research Association. It advises people how to save petrol/diesel while driving. Their tips are:

  • drive at a constant and moderate speed as far as possible.
  • switch off the engine at traffic lights or at a place where one has to wait.
  • ensure correct tire pressure.

MP Board Solutions

MP Board Class 8th Science Solutions

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals

In this article, we will share MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals

MP Board Class 8th Science Reproduction in Animals NCERT Textbook Exercises

Question 1.
Explain the importance of reproduction in organisms.
Answer:
The production of new individuals from their parents cells is known as reproduction. Reproduction is very important as it ensures the continuation of similar kinds of individuals, generation after generation. If reproduction process does not exist, the generation of living beings will be vanished from the earth.

Question 2.
Describe the process of fertilization in human beings.
Answer:
In human beings, sexual reproduction occurs which is reproduction results from the fusion of male and female gametes. The male reproductive organs are a pair of testis, sperm ducts and penis. The testis produces the male gametes called sperms. Millions of sperms are produced by the testis. Though the sperms are very small in size, each has a head, a middle piece and a tail. Each sperm is a single cell with all the usual cell components.

The female reproductive organs are a pair of ovaries, oviducts and the uterus. Ovary produces female gametes called ova (eggs). In human beings, a single matured egg is released into the oviduct by one of the ovaries every month. Uterus is the part where development of the; baby takes place. Like sperm, an egg is also a single cell.

The first step in the process of reproduction is the fusion of a sperm and an ovum. Millions of sperms from the male are transferred into the female body. The sperms swim in the oviduct with the help of their tails to reach the egg. When they come in contact with the egg, one of the sperms may fuse with the egg.

Such fusion of the egg and the sperm is called fertilization. During fertilization, the nucleus of the sperm and the egg fuse to form a single nucleus. This results in the formation of a fertilized egg or zygote. The new individual inherits some characteristics from the mother and some characteristics from the father.

MP Board Solutions

Question 3.
Choose the most appropriate answer:
(a) Internal fertilization occurs:
(i) in female body.
(ii) outside female body.
(iii) in male body.
(iv) outside male body.
Answer:
(i) in female body.

(b) A tadpole develops into an adult frog by the process of:
(i) fertization
(ii) metamorphosis
(iii) embedding
(iv) budding.
Answer:
(ii) metamorphosis

(c) The number of nuclei present in a zygote is:
(i) none
(ii) one
(iii) two
(iv) four.
Answer:
(iii) two

MP Board Solutions

Question 4.
Indicate whether the following statements are True (T) or False (F):

  1. Oviparous animals give birth to young ones.
  2. Each sperm is a single cell.
  3. External fertilization takes place in frog.
  4. A new human individual develops from a cell called gamete.
  5. Egg laid after fertilization is made up of a single cell.
  6. Amoeba reproduces by budding.
  7. Fertilization is necessary even in asexual reproduction.
  8. Binary fission is a method of asexual reproduction.
  9. A zygote is formed as a result of fertilization.
  10. An embryo is made up of a single cell.

Answer:

  1. False
  2. True
  3. True
  4. False
  5. True
  6. False
  7. False
  8. True
  9. False
  10. False

Question 5.
Give three differences between a zygote and a foetus.
Answer:
The three differences between a zygote and a foetus are:

  1. Zygote is made up of a single cell while foetus is made up of many Cells.
  2. Zygote does not have well developed limbs, foetus has well developed and identifiable limbs.
  3. Zygote is formed by the fertilization of sperms and ovum, foetus is formed by the repeated divisions of the zygote.

MP Board Solutions

Question 6.
Define asexual reproduction. Describe the two methods of asexual reproduction in animals.
Answer:
Asexual reproduction is defined as the type of reproduction in which only a single parent is involved. Budding and binary fission are the two main methods of asexual reproduction.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals 1

(i) Budding is the method of asexual reproduction that takes place in hydra. Each hydra has two or three bulges which are called buds. These buds develop into new individuals. Since new individuals in hydra are formed from buds, this type of asexual reproduction is known as budding.

(ii) Binary fission: Amoeba is a single celled animal. It begins reproduction by the division of its nucleus into two nuclei. Thus, two amoeba are formed from one amoeba. Since an animal reproduces by division into two individuals, this type of asexual reproduction is called binary fission.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals 2

Question 7.
In which female reproductive organ does the embryo get embedded?
Answer:
The embedding of the embryo takes place in the wall of the uterus of the female for further development.

MP Board Solutions

Question 8.
What is metamorphosis? Give examples.
Answer:
Metamorphosis. It is the drastic change which takes place during the development of an animal into an adult. Frogs and silkworms exhibit metamorphism.
Egg of frog → Tadpole larva → Adult
Tadpoles look different from the adult. But they soon transform into an adult capable of jumping and swimming. Similarly, caterpillar or the pupa of silkworm looks quite different from adult. Also beautiful moth emerges out of the cocoon.

Question 9.
Differentiate between internal fertilization and external fertilization.
Answer:
(i) Internal fertilization – The fertilization which takes place inside the body of the female is called internal fertilization. It occurs in humans and other animals such as cows, dogs and hens.

(ii) External fertilization – The fertilization which takes place outside the body of the female is called external fertilization. It is common in aquatic animals such as frogs, fish and starfish.

Question 10.
Complete the cross-word puzzle using’ the hints given below:
Across
1. The process of the fusion of the gametes.
6. The type of fertilization in hen.
7. The term used for bulges observed on the sides of the body of Hydra.
8. Eggs are produced here.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals 3
Down
2. Sperms are produced in these male reproductive organs.
3. Another term for the fertilized egg.
4. These animals lay eggs.
5. A type of fission in amoeba.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals 4

MP Board Solutions

MP Board Class 8th Science Reproduction in Animals NCERT Extended Learning – Activities and Projects

Question 1.
Visit a poultry farm. Talk to the manager of the farm and try to find out the answers to the following:
(a) What are layers and broilers in a poultry farm?
(b) Do hens lay unfertilized eggs?
(c) How can you obtain fertilized and unfertilized eggs?
(d) Are the eggs that we get in the stores fertilized or unfertilized?
(e) Can you consume fertilized eggs?
(f) Is there any difference in the nutritional value of the fertilized and undertilized eggs?
Answer:
Do yourself.

Question 2.
Observe live hydra yourself and learn how they reproduce by doing the following activity:
During the summer months collect water weeds from ponds or ditches along with the pond water and put them in a glass jar. After a day or so you may see several hydra clinging to the sides of the jar. Hydra is transparent, jelly-like and with tentacles. It clings to the jar with the base of its body. If the jar is shaken, the hydra will contract instantly into a small blob, at the same time drawing its tentacles in. Now take out few hydras from the jar and put them on a watch glass. Using a hand lens or a binocular or dissection microscope, observe the changes that are taking place in their body. Note down your observations.
Answer:
Do yourself.

MP Board Solutions

Question 3.
The eggs we get from the market are generally the unfertilized ones. In case you wish to observe a developing chick embryo, get a fertilized egg from the poultry or hatchery which has been incubated for 36 hours or more. You may then be able to see a white disc-like structure on the yolk. This is the developing embryo. Sometimes if the heart and blood vessels have developed you may even see a red spot.
Answer:
Do yourself.

Question 4.
Talk to a doctor. Find out how twinning occurs. Look for any twins in your neighbourhood, or among your friends. Find out if the twins are identical or non-identical. Also find out why identical twins are always of the same sex? If you know of any story about twins, write it in your own words.
Answer:
Do yourself.

MP Board Solutions

MP Board Class 8th Science Reproduction in Animals NCERT Intext Activities and Projects

Activity 9.1
Visit some ponds or soil-flowing streams during spring or rainy season. Look out for clusters of frog’s eggs floating in water. Write down the colour and size of the eggs.
Answer:
The colour of the eggs is dull white and size is less than a centimetre to a few centimetres.

Activity 9.2
Try to collect eggs of the following organism-frog, lizard, butterfly or moth, hen and crow or any other bird. Were you able to collect eggs of all of them? Make drawings of the eggs that you have collected.
Answer:
Yes, I collected all of these eggs.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals 5

MP Board Class 8th Science Reproduction in Animals NCERT Additional Important Questions

A. Short Answer Type Questions

Question 1.
Name two organisms which reproduce by splitting their bodies into two parts.
Answer:
Two organisms which reproduce by splitting their bodies into two parts are amoeba and Paramecium.

Question 2.
What is reproduction? What’s the need for this process?
Answer:

  • The process of producing individuals of their own kind is called reproduction.
  • It is an essential for the continuation of similar units of individuals, generation after generations.

Question 3.
What is fertilization?
Answer:
The process of fusion of male and female gamete in sexual reproduction is called fertilization.

Question 4.
Name the male and female sex organ of animals.
Answer:
The male sex organ is called testes and female sex organ is called ovary.

Question 5.
Give the life cycle of a frog.
Answer:
Egg → early tadpole → late tadpole → adult frog.

B. Long Answer Type Questions

Question 6.
What are the names of male reproductory organs in human beings?
Answer:
In human beings male reproductory organs are a pair of testes, sperm ducts and a penis. Testes are responsible for producing male gametes called sperms. They are transported to the sperm ducts and through the penis, they are ejaculated in female body.

MP Board Solutions

Question 7.
Explain the reproductory organs of female in human beings.
Answer:
In human beings the female reproductory organs are a pair of ovaries, oviducts or fallopian tubes and the uterus. Ovaries are responsible to produce female gamete called ova, which fertilize with male sperm in female fallopian tube and travels to uterus for its development into embryo and the foetus.
Exercise for Practice

Question 8.
Explain the process of fertilization.
Answer:
Sperm is a tiny cell and is quite active for its movement, a thread like structure, the flagellum is found which is called as the tail. Ovum, the female gamete is a large, spherical cell which remains static. When the male and female gamete fuse; a new cell called zygote is formed. This process of fusion is known as fertilization. This zygote undergoes many changes and forms a new individual.
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 9 Reproduction in Animals 6

MP Board Solutions

MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 8 गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट

In this article, we will share MP Board Class 8th Hindi Solutions Chapter 8 गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 8 गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट

MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Chapter 8 पाठ का अभ्यास

बोध प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्नलिखित शब्दों के अर्थ शब्दकोश से खोजकर लिखिए
उत्तर
कीर्ति = यश; संगम = मिलना, समागत, दो या अधिक नदियों के मिलने का स्थान; प्रलय = सर्वनाश, बर्बादी; शंकु = शंकु के आकार में; वेधशाला = तारों और नक्षत्रों के अध्ययन के लिए बनी शोधशाला; धारणा = मत; प्रख्यात = प्रसिद्ध हेय-घृणित, घृणा करने योग्य पद्धति = ढंग; सूत्रबद्धधागे में बँधा हुआ, अथवा संक्षेप में आसन्न = समीप, पास।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में लिखिए

(क) पटना शहर का पुराना नाम क्या है ?
उत्तर
पटना शहर का पुराना नाम पाटलिपुत्र है।

(ख) पटना के पास कौन-सा प्रख्यात विश्वविद्यालय था?
उत्तर
पटना के पास नालन्दा विश्वविद्यालय था जो अपने समय का बहुत ही प्रसिद्ध विश्वविद्यालय था।

(ग) पटना के पास किन-किन नदियों का संगम हुआ
उत्तर
पटना के पास गंगा, सोन और गंडक नदियों का संगम हुआ है।

(घ) वेधशाला किसे कहते हैं?
उत्तर
वेधशाला में तारामण्डल और नक्षत्रों की गति का अध्ययन किया जाता है। यह एक प्रयोगशाला ही होती है जिसमें ज्योतिषी ग्रहण आदि के लगने और समाप्त होने के समय की भविष्यवाणी करते हैं।

MP Board Solutions

(ङ) ‘भट’ शब्द का क्या आशय है ?
उत्तर
‘भट’ शब्द का आशय ‘योद्धा’ होता है।

(च) ‘आर्यभटीय’ पुस्तक के कौन-कौन से चार भाग
उत्तर
आर्यभटीय पुस्तक के निम्नलिखित चार भाग हैं

  1. दशगीतिका
  2. गणित
  3. कालक्रिया
  4. गोल।

आर्यभटीय पुस्तक संस्कृत भाषा में रचित है और इसकी रचना पद्मात्मक है।

(छ) ‘आर्यभटीय’ की ताड़पत्र पोथियों की खोज किस विद्वान ने की थी ?
उत्तर
‘आर्यभटीय’ ताड़पत्र पोथियों की खोज महाराष्ट्र के विद्वान डॉ. भाऊ दाजी ने सन् 1864 ई. में की थी। यह मलयालम लिपि में लिखी हुई थी। उन्होंने ही इनका विवरण प्रकाशित किया था।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर विस्तार से लिखिए
(क) पाटलिपुत्र नगर से दूर आश्रम में ज्योतिषी और विद्यार्थी क्यों एकत्रित होते थे? .
उत्तर
पाटलिपुत्र नगर से दूर आश्रम में ज्योतिषी और विद्यार्थी एकत्रित होते थे। यह आश्रम टीले पर था। वहाँ बड़ी चहल-पहल थी। यह आश्रम भी कुछ भिन्न प्रकार का था। टीले पर बसे इस आश्रम का लम्बा-चौड़ा आँगन था। उस आँगन में ताँबे, पीतल और लकड़ी से निर्मित अनेक तरह के यन्त्र रखे हुए थे। उनमें से कुछ यन्त्र गोल आकार के थे, कुछ कटोरे जैसे तथा कुछ वर्तुलाकार थे तथा कुछ शंकु की तरह के थे। वास्तव में, यह एक वेधशाला थी। इन यन्त्रों के आस-पास कितने ही ज्योतिषी बैठे हुए थे। वे सभी बहुत प्रसिद्ध थे। साथ ही वहाँ अनेक विद्यार्थी भी बैठे हुए थे। वे वहाँ इकट्ठे होकर हिसाब लगाकर भविष्यवाणी किया करते थे कि ग्रहण किस समय लगेगा, कहाँ दिखाई देगा तथा इस ग्रहण का समय क्या होगा। वे अपनी गणना के अनुसार की गई भविष्यवाणियों की सत्यता की परख करने के लिए वहाँ एकत्र हुआ करते थे।

(ख) ‘पृथ्वी अपनी धुरी पर चक्कर लगाती है’, इस कथन को आर्यभट्ट ने किस तरह लोगों को समझाया? .
उत्तर
आर्यभट्ट ने कभी भी आँखें मूंदकर पुरानी गलत धारणाओं को स्वीकार नहीं किया। वे अपने विचारों को बिना झिझक और भय के प्रस्तुत कर दिया करते थे। उन्होंने ग्रहणों और आकाश की अन्य अनेक घटनओं के सम्बन्ध में स्वतन्त्र रूप से अपने विचार रखे। उन्होंने लोगों को खुलकर बताया कि हमारी पृथ्वी अपनी धुरी पर चक्कर लगाती है। वह स्थिर नहीं है। आकाश का तारामण्डल स्थिर है। आर्यभट्ट ने यह भी स्पष्ट किया कि पृथ्वी अपनी धुरी पर पश्चिम से पूर्व की ओर घूमती है और इसके साथ हम भी घूमते रहते हैं। इसलिए आकाश का स्थिर तारामण्डल हमें पूर्व से पश्चिम की ओर जाता हुआ जान पड़ता है।

(ग) आर्यभट्ट ने सूर्यग्रहण और चन्द्रग्रहण के विषय में क्या विचार व्यक्त किए थे ?
उत्तर
कुछ आचार्य और विद्यार्थी पाटलिपुत्र के आश्रम की वेधशाला में बैठकर आपस में चर्चा कर रहे थे कि ग्रहण क्यों लगता है। उनमें से कुछ कह रहे थे कि धर्मग्रन्थों में लिखा हुआ है कि ग्रहण के समय राहु नाम का राक्षस सूर्य और चन्द्रमा को निगल लेता है। हमें चाहिए कि इन ग्रन्थों की बातों पर हमें विश्वास करना चाहिए। परन्तु वहाँ उपस्थित विद्यार्थी मण्डल में एक तरुण विद्यार्थी बैठा हुआ था। वह अपने साथी विद्यार्थियों को समझा रहा था कि पृथ्वी की बड़ी छाया जब चन्द्रमा पर पड़ती है तो चन्द्रग्रहण लगता है और इसी तरह जब चन्द्रमा, पृथ्वी और सूर्य के बीच आता है तथा वह सूर्य को ढक लेता है, तब सूर्यग्रहण होता है। राहु नामक राक्षस सूर्य अथवा चन्द्रमा को निगल जाता है, यह सब कपोल कल्पित धारणा है। हमें इनमें विश्वास नहीं करना चाहिए।

(घ) ज्ञान-विज्ञान के क्षेत्र में संसार को प्राचीन भारत की क्या देन है ?
उत्तर
ज्ञान-विज्ञान के क्षेत्र में संसार को प्राचीन भारत की सबसे बड़ी देन है-शून्य सहित केवल दस अंक संकेतों से भी संख्याओं को व्यक्त करना। इस दाशमिक स्थान मान अंक पद्धति की खोज आर्यभट्ट से तीन-चार सौ वर्ष पहले हो चुकी थी। आर्यभट्ट इस नई अंक पद्धति से परिचित थे। उन्होंने अपने ग्रन्थ के शुरू में वृन्द (1000000000) अर्थात् अरब तक की दस गुणोत्तर संख्या संज्ञाएँ देकर लिखा है कि इनमें प्रत्येक स्थान अपने पिछले स्थान से दस गुना है। आर्यभट्ट ने हमारे देश में गणित-ज्योतिष के अध्ययन की एक नई स्वस्थ परम्परा शुरू की। इस तरह यह कहा जा सकता है कि प्राचीन भारत ने ज्ञान विज्ञान के क्षेत्र में संसार को बहुत बड़ी उपलब्धि कराई।

MP Board Solutions

(ङ) आर्यभट्ट को प्राचीन भारतीय विज्ञान का सबसे चमकीला सितारा क्यों कहा जाता है ?
उत्तर
आर्यभट्ट दक्षिणापथ में गोदावरी तट क्षेत्र में अश्मक जनपद के रहने वाले थे, बाद में ये अश्मकाचार्य के नाम से प्रसिद्ध हुए। आर्यभट्ट बचपन से ही तेजबुद्धि थे। वे गणित और ज्योतिष. के अध्ययन में गहरी रुचि लेते थे। वे इन दोनों विषयों-गणित और ज्योतिष के अध्ययन के लिए अश्मक जनपद से पाटलिपुत्र पहुँचे। इन दोनों स्थानों के मध्य की दूरी हजारों मील थी। आर्यभट्टआँख मूंदकर पुरानी गलत बातें नहीं मानते थे। वे सदा ही अपनी विचारधारा को बिना किसी डर के और बिना झिझक के प्रस्तुत कर देते थे। ग्रहण सम्बन्धी बात ही नहीं, दूसरी भी आकाशीय घटनाओं के सम्बन्ध में स्वतन्त्रतापूर्वक अपने विचार रखते थे। वे एक साहसी ज्योतिषी वैज्ञानिक थे। उन्होंने पृथ्वी की गति के बारे में अपने विचार खुलकर सबके सामने रखे थे। वे सबसे पहले ज्योतिषी थे जिन्होंने स्पष्ट रूप से अपने शब्दों में कहा कि पृथ्वी स्थिर नहीं है। यह अपनी धुरी पर चक्कर लगाती है। स्थिर तो आकाश का तारामण्डल है। इसके अतिरिक्त आर्यभट्ट ने हमारे देश में गणित और ज्योतिष के अध्ययन की एक नई स्वस्थ परम्परा शुरू की। इसलिए आर्यभट्ट को प्राचीन भारतीय विज्ञान का सबसे चमकीला सितारा कहा जाता है।

प्रश्न 4.
वस्तुनिष्ठ प्रश्न
रिक्त स्थानों की पूर्ति वाक्य के सामने कोष्ठक में दिए शब्दों से छाँटकर कीजिए
(क) पृथ्वी अपनी धुरी पर ……….. से …………. की ओर घूमती है। (पूर्व, उत्तर, दक्षिण, पश्चिम)
(ख) ग्रहणों की वैज्ञानिक व्याख्या करने वाले तरुण पण्डित का नाम ……… था। (चरक, आर्यभट्ट, सुश्रुत)
(ग) आर्यभट्ट की पुस्तक का नाम ………………. था। (ज्योतिष शास्त्र, गणितशास्त्र, आर्यभटीय)
उत्तर
(क) पश्चिम, पूर्व
(ख) आर्यभट्ट
(ग) आर्यभटीय।

भाषा-अध्ययन

प्रश्न 1.
निम्नलिखित तालिका के ‘अ’भाग में कुछ शब्द दिये गये हैं। ‘ब’ तालिका में उनके विलोम शब्द मनमाने क्रम से दिये गए हैं, उन्हें सही क्रम में लिखिए
MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 8 गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट 1
उत्तर
सही क्रम-परतन्त्र, अस्थिर, पाताल, भय, प्रकाश, पूर्वान्ह।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित वाक्यों में से उद्देश्य और विधेय अलग-अलग कीजिए-.
उत्तर
MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 8 गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट 2

प्रश्न 3.
‘विशेष’ शब्द में ‘वि’ उपसर्ग जुड़ा हुआ है। ‘प्रख्यात’ शब्द में ‘प्र’ उपसर्ग जुड़ा हुआ है। इसी प्रकार ‘वि’, ‘प्र’,’अधि’ और ‘अति’ उपसर्ग जोड़कर नए शब्द बनाइए
उत्तर

  1. वि = विज्ञान, विशिष्ट, विभूति, विशेष।
  2. प्र = प्रस्तुत, प्रमुख, प्रधान, प्रख्यात।
  3. अधि = अधिसंख्य, अधिपत्र, अधिक्रम ।
  4. अति = अतिदाह, अतिदीन, अतिदोष।

प्रश्न 4.
निम्नलिखित प्रत्यय जोड़कर प्रत्येक के दो-दो शब्द बनाइए
ता, आई, आवट, वाला, त्व।
उत्तर

  1. ता-सुन्दरता, कुरूपता, वीरता।
  2. आई-पढ़ाई, लिखाई, पुताई, मढ़ाई, मिठाई।
  3. आवट-लिखावट, दिखावट, रंगावट।
  4. वाला-दूधवाला, धनवाला, फलवाला, मिठाईवाला।
  5. त्व-घनत्व, विद्वत्व, शीतत्व, ग्रीष्मत्व।

प्रश्न 5.
इस पाठ के समानार्थी, विरोधार्थी और पुनरुक्त शब्द अलग-अलग तालिका में लिखिए।
उत्तर
MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 8 गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट 3

गणितज्ञ, ज्योतिषी आर्यभट्ट परीक्षोपयोगी गद्यांशों की व्याख्या

(1) पाटलिपुत्र नगर नंद, मौर्य और गुप्त सम्राटों की राजधानी रहा है। दूर-दूर तक इस नगर की कीर्ति फैली हुई थी। राजधानी होने से देशभर के प्रतिष्ठित पण्डित यहाँ एकत्र होते थे। प्रख्यात नालंदा विश्वविद्यालय भी पटना से ज्यादा दूर नहीं था। देश के ही नहीं, दूसरे देशों के विद्यार्थी भी विशेष अध्ययन के लिए नालंदा और पाटलिपुत्र आते थे। उस समय पाटलिपुत्र नगर ज्योतिष के अध्ययन के लिए मशहूर था।

शब्दार्थ-सम्राटों – बड़े राजाओं कीर्ति – यश; प्रतिदिन = प्रतिष्ठा प्राप्त; एकत्र = इकट्ठः प्रख्यात = प्रसिद्ध; मशहूर = प्रसिद्ध।

सन्दर्भ-प्रस्तुत पंक्तियाँ हमारी पाठ्य-पुस्तक “भाषा भारती के पाठ गणितज्ञ ज्योतिषी आर्यभट्ट’ से अवतरित हैं। इसके लेखक ‘गुणाकर मुले’ हैं।

प्रसंग-इन पंक्तियों में बताया है कि पाटलिपुत्र नगर शिक्षा और ज्योतिष के अध्ययन का केन्द्र था। इसे नंद वंश, मौर्य वंश और गुप्त वंश के राजाओं ने अपनी राजधानी बनाया था।

व्याख्या-पाटलिपुत्र प्राचीन भारत का प्रसिद्ध नगर था। इस नगर को नंद वंश, मौर्य वंश और गुप्त वंश के प्रसिद्ध शासकों ने अपने राज्य की राजधानी बनाया। उस जमाने का पाटलिपुत्र आज का पटना शहर है। यह नगर दूर-दूर तक प्रसिद्ध था अपनी कीर्ति के लिए। यह नगर क्योंकि राजधानी था; इसलिए यहाँ पर देशभर के प्रसिद्ध और प्रतिष्ठा प्राप्त विद्वान लोग इकट्ठे होते थे। उस युग का प्रसिद्धि प्राप्त नालन्दा विश्वविद्यालय पाटलिपुत्र (पटना) से अधिक दूर नहीं था। इस विश्वविद्यालय में अपने देश के ही नहीं दूसरे देशों के भी विद्यार्थी अपनी विशेष पढ़ाई-लिखाई के लिए नालन्दा और पाटलिपुत्र आया करते थे। उस समय पाटलिपुत्र ज्योतिष विज्ञान के अध्ययन के लिए बहुत ही प्रसिद्ध था।

MP Board Solutions

(2) आर्यभट्ट आँख मूंदकर पुरानी गलत बातें मानने को तैयार नहीं थे और अपने विचार बेहिचक प्रस्तुत कर देते थे। ग्रहणों के बारे में ही नहीं, आकाश की दूसरी अनेक घटनाओं के बारे में उनके अपने स्वतन्त्र विचार थे। उस जमाने के प्रायः सभी लोग, ज्योतिषी भी, यही समझते थे कि हमारी पृथ्वी आकाश में स्थिर है। किसी ज्योतिषी के मन में इस सवाल को लेकर कोई नई बात उठी भी होगी तो भी धर्मग्रन्थों के वचनों के खिलाफ आवाज उठाने का साहस उनमें नहीं था।

शब्दार्थ-आँख मूंदकर = बिना विचार किये हुए ही; बेहिचक = बिना किसी झिझक या भय के प्रस्तुत कर देते थे = सामने रख देते थे; घटनाओं = गतिविधियों; स्वतन्त्र = बिना दबाव के जमाने के = युग के, समय के स्थिर है- ठहरी हुई; सवाल = प्रश्न; धर्मग्रन्थों = धार्मिक पुस्तकों; खिलाफ = विरुद्ध; साहस = हिम्मत।

सन्दर्भ-पूर्व की तरह।

प्रसंग-आर्यभट्ट महान् विज्ञान वेत्ता थे। वे सदैव बिना किसी दबाव के अपनी सीधी सच्ची बात को स्वतन्त्र रूप से सबके सामने रख देते थे।

व्याख्या-आर्यभट्ट बड़े विज्ञानी और ज्योतिष के ज्ञाता थे। वे पुरानी गलत बातों को मानने के लिए कभी भी तैयार नहीं होते थे। किसी भी समस्या के समाधान सम्बन्धी अपने विचारों को बिना झिझक और संकोच के सबके सामने रखने से भी नहीं डरते थे। ग्रहणों और आकाश की दूसरी बहुत-सी घटनाओं के बारे में उनके विचार बहुत स्वतन्त्र थे। उस युग के जितने भी विचारक और विद्वान ज्योतिषी थे, वे सभी इस विचारधारा के मानने वाले थे कि हमारी यह पृथ्वी आकाश के बीचोंबीच ठहरी हुई है, परन्तु यदि उस समय के विद्वानों और ज्योतिषियों के मन में इसी प्रश्न पर कि पृथ्वी स्थिर है अथवा चलायमान है, कोई विचार उठा हो, तो भी उन्होंने अपनी विचारधारा को रखने के लिए हिम्मत नहीं जुटाई होगी। इसका एक कारण भी रहा होगा कि धर्मग्रन्थों के अन्दर जो भी लिखा गया था, उसके विरुद्धं किसी भी विद्वान द्वारा आवाज उठाने की हिम्मत नहीं थी।

(3) मगर आर्यभट्ट में ऐसा साहस था। उन्होंने पृथ्वी की गति के बारे में अपने विचार खुलकर जाहिर किए। आर्यभट्ट हमारे देश के पहले ज्योतिषी थे जिन्होंने साफ शब्दों में कहा कि पृथ्वी स्थिर नहीं है। यह अपनी धुरी पर चक्कर लगाती है। स्थिर तो आकाश का तारामण्डल है।

शब्दार्थ-साहस = हिम्मत; गति = चाल; खुलकर = स्पष्ट रूप से; जाहिर किए = प्रकट किए; साफ शब्दों में = स्पष्ट रूप से; स्थिर ठहरी हुई; धुरी-कीली; चक्कर लगाती है = घूमती है।

सन्दर्भ-पूर्व की तरह।

प्रसंग-आर्यभट्ट ने स्पष्ट रूप से बताया कि पृथ्वी अपनी कीली पर घूमती है।

व्याख्या-आर्यभट्ट में गजब का आत्मविश्वास और हिम्मत थी। उन्होंने स्पष्ट रूप से अपने विचारों को लोगों के सामने रखा कि पृथ्वी गतिमान है, यह अपनी धुरी पर (कीली पर) लगातार घूमती रहती है। यह ठहरी हुई अथवा स्थिर नहीं है। इस तरह का कथन आर्यभट्ट का था। ऐसा कहने वाले आर्यभट्ट पहले भारतीय थे। वे पहले भारतीय ज्योतिषी थे जिन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि यह आकाश जिसमें तारामण्डल दिखता है, स्थिर है, एक स्थान पर ठहरा हुआ है।

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame

In this article, we will share MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame

MP Board Class 8th Science Combustion and Flame NCERT Textbook Exercises

Question 1.
List conditions under which combustion can take place.
Answer:
Conditions for combustion are:

  1. The substance must be combustible.
  2. Air is necessary for combustion.
  3. The temperature of the substance to be burnt should be higher than its ignition temperature.
  4. It is essential for a substance to reach ignition temperature to bum.

Question 2.
Fill in the blanks:
(a) Burning of wood and coal causes ………… of air.
(b) A liquid fuel, used in homes is …………..
(c) Fuel must be heated to its …………….. before it starts burning.
(d) Fire produced by oil cannot be controlled by……………..
Answer:
(a) pollution
(b) kerosene oil
(c) ignition temperature
(d) water.

Question 3.
Explain how the use of CNG in automobiles has reduced pollution in our cities?
Answer:
The use of CNG in automobiles has reduced pollution in our cities because CNG does not produce any poisonous gases on burning. It is less polluting and a cleaner fuel.

MP Board Solutions

Question 4.
Compare LPG and wood as fuels.
Answer:
Comparison between LPG and wood as fuels:
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 1

Question 5.
Give reasons:
(a) Water is not used to con retrofires involving electrical equipment.
(b) LPG is a better domestic fuel than wood.
(c) Paper by itself catches fire easily whereas a piece of paper wrapped around an aluminum pipe does not.
Answer:
(a) Water is not used at all to control the tire involving electrical equipment because water is a good conductor of electricity and it may result in electric shock or electrocution.

(b) LPG is a better fuel than wood because LPG does not produce harmful smoke like wood. It does not pollute the environment. It is easy to store and handle.

(c) The ignition temperature of paper is higher than that of a piece of paper wrapped around an aluminum pipe. 6. Make a labeled diagram of a candle flame.

Question 6.
Make a labeled diagram of a candle flame
Answer:
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 2

Question 7.
Name the unit in which the calorific value of a fuel is expressed.
Answer:
It is expressed in kilo joules per kg. (kJ/kg).

Question 8.
Explain how CO2 is able to control fires.
Answer:
Carbon dioxide cuts off the supply of air to the combustible substance and extinguishes fire. Also CO2 being heavier than oxygen, covers the fire like a blanket. Since the contact ‘between The fuel and oxygen L cut on, -ha. fire is controlled. The added advantage of CO2 is that in most cases it does not harm the electrical equipment.

Question 9.
It is difficult to bum a heap of green leaves but dry leaves catch fire easily. Explain.
Answer:
Green leaves contain lot of water. So, when we try to bum them, water contained in the leaves cools the combustible materials (leaves), so that its temperature is brought below its ignition temperature. This prevents the burning of green leaves. In case of dry leaves, they do not contain any water. So when burning process starts, its temperature is raised drastically above its ignition temperature and the leaves catch fire easily.

Question 10.
Which zone of a flame does a goldsmith use for melting gold and silver and why?
Answer:

  • The goldsmith uses the outermost zone of a flame with a metallic blow-pipe for melting gold and silver.
  • The flame in the outer most zone has. the highest temperature sufficient to melt the gold and silver.

Question 11.
In an experiment, 4.5 kg of a fuel was completely burnt. The heat produced was measured to be 180,000 kj. Calculate the calorific value of the fuel.
Answer:
We know that,
Calorific value fuels
MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 3

MP Board Solutions

Question 12.
Can the process of rusting be called combustion? Discuss.
Answer:
The process of rusting cannot be called combustion because neither energy is released nor heat and light are produced during it, while in combustion-release of energy takes place with heat and light.

Question 13.
Abida and Ramesh were doing an experiment in which water was to be heated in a beaker. Abida kept the beaker near the wick in the yellow part of the candle flame. Ramesh kept the beaker in the outermost part of the flame. Whose water still get heated in a shorter time?
Answer:
Ramesh’s water will get heated in a shorter time because the outermost part of the flame is the hottest.

MP Board Class 8th Science Combustion and Flame Extended Learning – Activities and Projects

Question 1.
Survey the availability of various fuels in your locality. Find out their cost per kg and prepare a tabular chart showing how many kJ of various fuels you can get for every rupee.
Answer:
Various fuels like LPG, kerosene, cow dung.
LPG for ? 431 for 14.2 kg.
Kerosene oil ? 20 for one liter.
Cow dung for ? 5 for one kg.

Question 2.
Find out the number, type and location of fire extinguishers available in your school, nearby shops and factories. Write a brief report about the prepareness of these establishments to fight fire.
Answer:
Do yourself.

Question 3.
Survey 100 houses in your area. Find the percentage of households using LPG, kerosene, wood and cattle dung as fuel.
Answer:
Do yourself.

Question 4.
Talk to people who use LPG at home. Find out what precautions they take in using LPG.
Answer:
The following precautions are taken:

  • They keep their cylinders in standing position.
  • They switch off regulators after the use.
  • They keep on checking and cleaning pipe time to time.

MP Board Solutions

Question 5.
Make a model of a fire extinguisher. Place a short candle and a slightly taller candle in a small dish filled with baking soda. Place the dish at the bottom of a large bowl. Light both the candles. Then pour vinegar into the dish of baking soda. Take care. Do not pour vinegar on the candles. Observe the foaming reaction. What happens to the candles? Why? In what order?
Answer:
The candles get extinguished. The smaller candle will get extinguished first because the supply of oxygen is cut off due to foam. The smaller candle will come in effect of foam earlier than the longer one and thus stop burning prior to the longer candle.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 4

MP Board Class 8th Science Combustion and Flame Intext Activities and Projects

Collect some materials like straw, matchsticks, kerosene oil, paper, iron nails, stone pieces, glass etc.
Under the supervision of your teacher try to burn each of these materials one by one. If combustion takes place mark the material combustible, otherwise mark it as non-combustible (Table 6.1).

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 5

Make two paper cups by folding a sheet of presence of water, the ignition temperature paper. Pour about 59 mL of water in one of Df paper is not reached. Hence, it does not the cups. Heat both the cups separately with burn. a candle (Fig. 6.3) What do you observe?
What happens to the empty paper cup?
What happens to the paper cup with water?
Does water in this cup become hot?
Answer:
If we continue heating the cup, we can even boil water in the paper cup but the empty. Cup when heated shall burn.
Can you think of an explanation for this phenomenon?
The heat supplied to the paper cup is transferred to water by conduction. So, in the presence of water, the ignition temperature of paper is not reached. Hence, it does not burn.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 6

Record your observations and mention whether on burning the material forms a flame or not.
TABLE 6.2 Materials forming Flame on Burning

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 7

TABLE 6.3 Types of Fuels
Make a list of fuels familiar to you. Group them as solid, liquid arid gaseous fuels as in table.

MP Board Class 8th Science Solutions Chapter 6 Combustion and Flame 8

MP Board Class 8th Science Combustion and Flame Additional important Questions

A. Short Answer Type Questions

Question 1.
What is combustion? Name three combustible substances.
Answer:
Combustion is the process of burning of a substance in the presence of oxygen to liberate energy in the form of heat and light. Combustible substances are wood, paper and kerosene.

MP Board Solutions

Question 2.
Can you name few fuels used in our homes?
Answer:
Cowdung, wood, coal, charcoal, kerosene and LPG are few fuels used in our homes.

Question 3.
Name few fuels used in trade and industry.
Answer:
LPG, coal, petrol, diesel and nuclear fuels are used in trade and industry.

Question 4.
Can you burn a piece of wood by bringing a lighted matchstick near it?
Answer:
No, because wood has high ignition temperature and it requires to be heated for longer time to start its burning. Whereas the lighted matchstick extinguishes very soon.

Question 5.
Why do you have to use paper dr kerosene oil to start fire in wood or coal?
Answer:
As wood or coal has high ignition point, it requires a lot of time to be heated before burning can take place. That is why paper or kerosene oil are burnt near wood to start fire.

B. Long Answer Type Questions

Question 6.
What are different types of combustion?
Answer:
Combustion is of three types:

  1. Rapid Combustion: When gases bum
  2. Spontaneous Combustion: When any material like phosphorus bums on its own without any apparent cause, it is called spontaneous combustion.
  3. Explosion: When combustion takes place with sudden release of heat and light and a large amount of gas in form of bang, it is called explosion as in case of crackers and bombs.

Question 7.
Mention three characteristic features of an ideal fuel.
Answer:

  • An ideal fuel is cheap, readily available, readily combustible and easy to transport.
  • It has high calorific value.
  • It does not produce gases or residues that pollute the environment.

Question 8.
Write a short note on fire extinguinavishers.
Answer:
In most of the fire extinguishers, carbon dioxide gas is used for extinguishing fire. Carbon dioxide, being heavier than air surrounds the burning substance and disrupts the supply of oxygen. Carbon dioxide neither bums nor helps in burning and therefore, fire gets extinguished. In soda acid extinguishers, a mixture of CO2 and water is sprayed over fire. Water reduces the ignition temperature of the burning substance and C02 disrupts supply pf oxygen thereby fire is extinguished.

MP Board Solutions

MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 11 गिरधर की कुण्डलियाँ

In this article, we will share MP Board Class 8th Hindi Solutions Chapter 11 गिरधर की कुण्डलियाँ Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 11 गिरधर की कुण्डलियाँ

गिरधर की कुण्डलियाँ पाठ का अभ्यास

 गिरधर की कुण्डलियाँ बोध प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्नलिखित शब्दों के अर्थ शब्दकोश से खोजकर लिखिए
उत्तर

  1. दौलत-सम्पत्ति; ठाँऊस्थान, स्थिर; पाहुनअतिथि, मेहमान; निदान = अन्त में, कारण, उपचार; निस= रात; अभिमान : घमण्ड; जस= यश; जग संसार, दुनिया; जियत = जीवित रहना, जीते रहना।।
  2. गाहक = ग्राहक, ग्रहण करने वाला; कोकिला = कोयल; सहस = हजार; बिनु = बिना; लहै = प्राप्त कर सकना; ठाकुर मन के = मन के मालिक, मन के स्वामी।
  3. ताहि उसको; खता= चूक, गलती, कमी; परतीती = विश्वास, भरोसा; सुधि लेइ = खोज खबर लेनी चाहिए, सोच-समझकर आचरण करना चाहिए; बिसारि दे= भुला दे।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में लिखिए
(क) हमें दूसरे व्यक्तियों से किस प्रकार के वचन बोलना चाहिए?
उत्तर
हमें दूसरे व्यक्तियों से विनयपूर्वक मीठे वचन बोलने चाहिए।

(ख) कोयल सबको अच्छी क्यों लगती है ?
उत्तर
कोयल सबको अच्छी लगती है क्योंकि वह मिठास भरी बोली बोलती है।

(ग) धनी व्यक्ति को क्या नहीं करने को कहा है ?
उत्तर
धनी व्यक्ति को अपने धन का घमण्ड नहीं करना चाहिए।

(घ) ‘गुन के गाहक’ से क्या आशय है ?
उत्तर
गुण (अच्छी बात या लाभकारी वस्तु) के ग्रहण करने वाली सभी होते हैं। गुण रहित (खराब और अलाभकारी) वस्तु को कोई भी स्वीकार नहीं करता है।

(ङ) बीति ताहि …… कहकर कवि ने कौन सी सलाह दी है?
उत्तर
कवि ने सलाह दी है कि जो बात (घटना) घट चुकी है, उसे भुला देना ही उचित है। इससे आगे सोच-समझकर व्यवहार करना चाहिए।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर विस्तार से लिखिए

(क) धन पाकर हमें अभिमान क्यों नहीं करना चाहिए?
उत्तर
धन पाकर हमें अभिमान नहीं करना चाहिए क्योंकि धन तो चंचल है, कभी धन आ जाता है, तो कभी चला जाता है। सम्पत्ति किसी पर भी सदा के लिए नहीं रहती। यह तो बहते हुए जल के समान होती है जिस प्रकार जल एक स्थान पर स्थिर नहीं रहता उसी तरह धन कभी भी एक व्यक्ति के पास सदा स्थिर बनकर नहीं रहता। इसे स्थिर बनाकर रखने का कोई उपचार भी नहीं है। यह धन तो चार दिन-रात का मेहमान होता है। इसलिए मीठा बोलकर, विनयपूर्वक सबके साथ व्यवहार करना चाहिए।हमें प्रेमपूर्वक सन्तुलित बात करनी चाहिए। धन पर घमण्ड करना घाटे का (हानि का) सौदा है।

(ख) कोयल और कौए की वाणी में क्या अन्तर है?
उत्तर
कोयल और कौआ दोनों ही काले रंग के पक्षी हैं। इनकी वाणी को सभी लोग सुनते हैं लेकिन कोयल की वाणी सभी को अच्छी लगती है, सुहाती है। अपनी कर्कश बोली के कारण कौए सबके द्वारा अपवित्र और त्याज्य माने गये हैं। कोयल की वाणी मीठी होने से सब लोगों द्वारा उसकी मिठास की प्रशंसा की जाती है। सभी लोग उसके ग्राहक हैं। कोयल की मधुर वाणी हजारों लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर लेती है।

(ग) बीती बातों को भुलाने से क्या लाभ तथा क्या हानि है ?
उत्तर
बीती बातों को भुलाने से ही लाभ है क्योंकि भविष्य में लाभ होने की बात को ठीक तरह से सोच-समझ लेने से घटित घटना को भुला देने में ही भलाई है। घटित घटना से हमें निराश और हतोत्साहित नहीं हो जाना चाहिए। आगे के कार्य को सोच-समझकर कर, मन लगाकर करना चाहिए। फिर जो आसानी से हो सके उसे करना चाहिए। मन लगाकर काम करने से उसमें सफलता मिलती है। दुष्ट व्यक्ति भी फिर हँसी नहीं उड़ा पाते। मन में कोई चूक (कभी गलती) न होने से, मन में पक्का विश्वास करके अपने काम में जुट जाना चाहिए। इससे भविष्य में सफलता मिलती है। भविष्य में सुख प्राप्ति की आशा होती है। अतः जो घटना (बात) बीत गई (घटित हो गई) उसे भुला देने में ही लाभ है।

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
‘लोक व्यवहार की बातें’ इन कुण्डलियों में हैं। उदाहरण देकर समझाइए।
उत्तर
(1) किसी भी व्यक्ति को अपने धन का घमण्ड सपने में भी नहीं करना चाहिए। यह धन कभी आ जाता है तो कभी चला जाता है।
(2) हमें मीठे वचन बोलने चाहिए। मधुर व्यवहार से और विनयपूर्वक बोलने से हमें संसार में यश की प्राप्ति होती है। जो लोग घमण्ड रहित होकर, मधुर वाणी बोलकर व्यवहार नहीं करते, वे निश्चय ही घाटे का सौदा प्राप्त करते हैं।
(3) धन का घमण्ड उचित नहीं क्योंकि धन सदा किसी के पास नहीं रहता।

द्रष्टव्य है

  • दौलत पाय न कीजिए सपने में अभिमान।
  • मीठे वचन सुनाय, विनय सब ही सौं कीजै।
  • पाहुन निस दिन चारि, रहत सब ही के दौलत।

(4) मधुर और मीठे बोल सभी को अच्छे लगते हैं। ‘सबद सुनै सब कोय, कोकिला सबै सुहावन।’
(5) घटित घटना को भुला देना ही लाभकारी है। भविष्य में सबका भला हो, इस भावना से उचित व्यवहार की बात को सोच समझकर बीती बात भुला देनी चाहिए। मन में किसी भी प्रकार चूक न रखते हुए मन पर पूरा विश्वास रखते हुए आगे का उचित व्यवहार अपनाना चाहिए। इसी में भलाई है, सुख है। ‘बीती ताहि बिसारे दे, आगे की सुधि लेइ।

प्रश्न 5.
निम्नलिखित पंक्तियों का सन्दर्भ सहित भाव स्पष्ट कीजिए-
(क) सबद सुनै सब कोय, कोकिला सबै सुहावन।
दोऊ को रंग एक, काग सब भए अपावन।।

(ख) बीति ताहि बिसारि दे, आगे की सुधि लेड़।
जो बनि आवै सहज में, ताही में चित्त देई।।
उत्तर
महाकवि गिरधर कहते हैं कि गुणों के (अच्छी बात के) ग्रहण करने वाले लोग तो हजारों की संख्या में होते हैं। बिना गुण की वस्तु को (जो वस्तु अच्छी नहीं है, उसे) कोई भी नहीं लेता। जिस तरह कौआ और कोयल के शब्द को (वाणी को) तो सभी सुनते ही हैं लेकिन कोयल की वाणी सभी को अच्छी लगती है। इन दोनों-कौआ और कोयल का रंग एक-सा होता है, परन्तु सभी कौए अपवित्र हो गये। हे मन के स्वामी (मनमौजी) ! कवि गिरधर कहते हैं कि आप सभी इस एक बात को सुन लीजिए कि कोई भी व्यक्ति – बिना गुण वाली (खराब) वस्तु को ग्रहण नहीं करेगा। गुणकारी (अच्छी) वस्तु के ग्राहक तो हजारों लोग होते हैं।

जो बात हो चुकी उसे भुला देना चाहिए, हमें, फिर, भविष्य के बारे में सोच-विचार (खोज खबर लेनी चाहिए) करना चाहिए। जो बात (काम) आसानी से हो सके, उसमें ही अपने मन को लगाना चाहिए। जो भी बात (काम) बन सके (हो सके) तो उसे ही मन लगाकर करना चाहिए। इस तरह कोई भी दुष्ट व्यक्ति हमारी हँसी भी नहीं उड़ा सकेगा और मन में कोई भी चूक अथवा दोष भी नहीं आ सकेगा। कविवर गिरधर कहते हैं कि उस काम को मन में विश्वास के साथ कीजिए। भविष्य में होने वाले सुख की बात को समझकर उस बात को भुला दीजिए, जो बीत चुकी है, घट चुकी है।

गिरधर की कुण्डलियाँ भाषा-अध्ययन

प्रश्न 1.
‘जस’ शब्द का मानक रूप ‘यश’ है। इसी प्रकार निम्नलिखित शब्दों के मानक रूप लिखिए
सपने, सहस, सबद, गुन, परतीती, जियत, ग्राहक।
उत्तर

  1. स्वप्न
  2. सहस्र
  3. शब्द
  4. गुण
  5. प्रतीति
  6. जीवित
  7. ग्रहणकर्ता।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित विकल्पों में से सही विकल्प चुनिए
“सबद सुनै सब कोइ, कोकिला सबै सुहावन” में अलंकार है (यमक, अनुप्रास, श्लेष)
उत्तर
‘अनुप्रास’

प्रश्न 3.
इस पाठ की कुण्डलियों में अभिमान’ शब्द के समान ‘निदान’ तुकान्त शब्द आया है।
इसी प्रकार निम्नलिखित तालिका में से तुकान्त शब्द चुनिए और सही क्रम में लिखिए लीजै
MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 11 गिरधर की कुण्डलियाँ 1
उत्तर

  1. लीजै-कीजै
  2. तौलत-दौलत
  3. सुहावनअपावन
  4. देइ-लेइ
  5. पावै-आवै।

प्रश्न 4.
अनुस्वार और आनुनासिक के प्रयोग वाले पाँच-पाँच शब्द लिखिए।
उत्तर
अनुस्वार के प्रयोग वाले शब्द-पंच, गंज, पंक, पंत, कंस, कोंपल, चौंच।
आनुनासिक के प्रयोग वाले शब्द-जाँच, आँच, आँख, नदियाँ, फलियाँ।

प्रश्न 5.
कुण्डलियाँ छन्द के अन्य उदाहरण छाँटकर उसकी मात्राओं की गणना कीजिए।
उत्तर
MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 11 गिरधर की कुण्डलियाँ 2
MP Board Class 8th Hindi Bhasha Bharti Solutions Chapter 11 गिरधर की कुण्डलियाँ 3
लक्षण – कुण्डलियाँ के छ: चरण होते हैं। प्रत्येक चरण में 24 मात्राएँ होती हैं। इस छन्द के आरम्भ में दोहा और अन्त में रोला छन्द होता है। इस छन्द की एक विशेषता यह भी है कि जो शब्द इसके आरम्भ में आता है, वही इसके अन्त में भी आता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 6.
निम्नलिखित शब्दों के दो-दो पर्यायवाची शब्द वर्ग पहेली से छाँटकर लिखिए
दौलत, संसार, अभिमान, पाहुन।
उत्तर-
शब्द – पर्यायवाची शब्द
दौलत = सम्पदा, धन।
संसार = लोक, जग।
अभिमान = गर्व, दर्प।
पाहुन = अतिथि, मेहमान।

गिरधर की कुण्डलियाँ सम्पूर्ण पद्यांशों की व्याख्या

1. दौलत पाय न कीजिए सपने में अभिमान।
चंचल जल दिन चारि को, ठाँउ न रहत निदान।।
ठाँउ न रहत निदान, जियत अग में जस लीजै।
मीठे वचन सुनाय, विनय सब ही सौं कीजै।।
कह गिरधर कविराय, अरे यह सब घट तौलत।
पाहुन न निस दिन चारि, रहत सब ही के दौलत।

शब्दार्थ-दौलत सम्पत्ति:पाय प्राप्त करके अभिमान घमण्ड; ठाँउ = स्थिर; निदान = अन्त में; जीयत = जीवित रहते हुए; जग = संसार; जस = यश; लीजै = प्राप्त कर लीजिए; सुनाय = सुनाकर; सौं = से; कीजै = कीजिए; घट = कम; तौलत = तोलते हैं; पाहुन = मेहमान, अतिथि; निसिदिन चारि = चार रात-दिन की, थोड़े समय की; सब ही के सभी के पास।

सन्दर्भ-प्रस्तुत कुण्डलियाँ हमारी पाठ्य-पुस्तक ‘भाषाभारती’ के पाठ ‘ गिरधर की कुण्डलियाँ से अवतरित हैं। इसके रचयिता कविवर गिरधर हैं।

प्रसंग-कवि गिरधर ने इन कुण्डलियों के माध्यम से बताया है कि धन सम्पत्ति का मनुष्य को घमण्ड नहीं करना चाहिए क्योंकि यह तो थोड़े समय की ही होती है।

व्याख्या-हमें धन-सम्पत्ति प्राप्त करके स्वप्न में भी घमण्ड नहीं करना चाहिए। यह सम्पत्ति तो जल के समान चंचल है, बहुत थोड़े समय रहती है। अन्त में यह एक स्थान पर (किसी एक व्यक्ति के पास) नहीं रहती है। क्योंकि सम्पत्ति स्थिर नहीं रहती, इसलिए इस संसार में अपने जीवनकाल में यश प्राप्त करो। सभी से मधुर वचन बोलिए और सभी के साथ विनयपूर्वक व्यवहार कीजिए। महाकवि गिरधर कहते हैं कि धन-सम्पत्ति प्राप्त करके जो कम तौलते हैं अर्थात् कपट का व्यवहार करते हैं, उन्हें यह ध्यान रखना चाहिए कि यह सम्पत्ति तो चार दिन रात (थोड़े समय) की मेहमान (अतिथि) है; यह सभी के पास सदा नहीं रहती है।

MP Board Solutions

(2) गुन के गाहक सहस नर, बिन गुन लहै न कोय।
जैसे कागा कोकिला, सबद सुनै सब कोय।।
सब सुनै सब कोय, कोकिला सबै सुहावन।
दोऊ को रंग एक, काग सब भए अपावन।।
कह गिरधर कविराय, सुनो हो ठाकुर मन के।
बिनु गुन लहै न कोय, सहस नर गाहक गुन के।।

शब्दार्थ-गुन = गुण; गाहक = ग्रहण करने वाले; सहसहजारों; लहै = ग्रहण करते हैं; न कोय = कोई भी नहीं; कागाकौआकोकिला = कोयल; सबद = वाणी, बोली; सब कोयसभी लोग: सबै सभी को सुहावन = अच्छी लगती है; अपावन = अपवित्र; ठाकुर मन के = मन के स्वामी; गुन = गुणों के, लाभकारी होने से; गुण के अच्छे के।

सन्दर्भ-पूर्व की तरह।

प्रसंग-कवि बताते हैं कि गुणकारी (लाभदायक) अथवा अच्छी वस्तु (बात) के हजारों लोग ग्राहक होते हैं।

व्याख्या-महाकवि गिरधर कहते हैं कि गुणों के (अच्छी बात के) ग्रहण करने वाले लोग तो हजारों की संख्या में होते हैं। बिना गुण की वस्तु को (जो वस्तु अच्छी नहीं है, उसे) कोई भी नहीं लेता। जिस तरह कौआ और कोयल के शब्द को (वाणी को) तो सभी सुनते ही हैं लेकिन कोयल की वाणी सभी को अच्छी लगती है। इन दोनों-कौआ और कोयल का रंग एक-सा होता है, परन्तु सभी कौए अपवित्र हो गये। हे मन के स्वामी (मनमौजी) ! कवि गिरधर कहते हैं कि आप सभी इस एक बात को सुन लीजिए कि कोई भी व्यक्ति – बिना गुण वाली (खराब) वस्तु को ग्रहण नहीं करेगा। गुणकारी (अच्छी) वस्तु के ग्राहक तो हजारों लोग होते हैं।

3. बीती ताहि बिसारि दे, आगे की सुधि लेड।
जो बनि आवै सहज में, ताही में चित्त देइ।।
साही में चित्त देइ, बात जोई बनि आवै।
दुर्जन हँसे न कोय, चित्त में खता न पावै।।
कह गिरधर कविराय, यह करू मन परतीती।
आगे को सुख समुझि, होय बीती सो बीती।।

शब्दार्थ-बीती ताहि = जो बात (घटना) समाप्त हो गई, घट गई उसे; बिसारि दे = भुला दे; आगे की सुधि लेइ = इसमें आगे विचार करके आचरण (व्यवहार) करना चाहिए, खोज खबर लेनी चाहिए; जो बनि आवै = जो भी कुछ हो सके उसे; सहज में = सरलता से, आसानी से; ताही में = उसी में; चित्त देइ = मन लगाना चाहिए; बात जोई बनि आवै = जो भी बात बन सके दुर्जन = दुष्ट व्यक्ति; कोय = कोई भी; हँसे न = हँसी न ठड़ा सके; खता = दोष या चूक; पावै = प्राप्त होने दो; यहै = वही; मन परतीती = मन में विश्वास के साथ; करू = कीजिए; आगे को = भविष्य में (आने वाले समय में); समुझि = समझकर; बीती सो बीती = जो बात (घटना) बीत गई (हो गई), सो हो गई।

सन्दर्भ-पूर्व की तरह।

प्रसंग-जो बात (घटना) घट चुकी, उसके ऊपर अधिक सोच-विचार नहीं करना चाहिए, कवि को ऐसी सलाह है।

व्याख्या-जो बात हो चुकी उसे भुला देना चाहिए, हमें, फिर, भविष्य के बारे में सोच-विचार (खोज खबर लेनी चाहिए) करना चाहिए। जो बात (काम) आसानी से हो सके, उसमें ही अपने मन को लगाना चाहिए। जो भी बात (काम) बन सके (हो सके) तो उसे ही मन लगाकर करना चाहिए। इस तरह कोई भी दुष्ट व्यक्ति हमारी हँसी भी नहीं उड़ा सकेगा और मन में कोई भी चूक अथवा दोष भी नहीं आ सकेगा। कविवर गिरधर कहते हैं कि उस काम को मन में विश्वास के साथ कीजिए। भविष्य में होने वाले सुख की बात को समझकर उस बात को भुला दीजिए, जो बीत चुकी है, घट चुकी है।

MP Board Class 8th Social Science Solutions Chapter 1 भारत में ब्रिटिश सत्ता की स्थापना और विस्तार

In this article, we will share MP Board Class 8th Social Science Solutions Chapter 1 भारत में ब्रिटिश सत्ता की स्थापना और विस्तार Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Social Science Solutions Chapter 1 भारत में ब्रिटिश सत्ता की स्थापना और विस्तार

MP Board Class 8th Social Science Chapter 1 अभ्यास प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्नलिखित प्रश्नों के सही विकल्प चुनकर लिखिए
(1) इलाहाबाद की सन्धि निम्न में से किसके साथ की गई ?
(क) मीर कासिम
(ख) नवाब नजमुद्दौला
(ग) शुजाउद्दौला
(घ) बहादुरशाह जफर।
उत्तर:
(ग) शुजाउद्दौला

(2) निम्नलिखित में से कौन-सी व्यापारिक कम्पनी भारत नहीं आई थी ?
(क) पुर्तगाली
(ख) डच
(ग) फ्रांसीसी
(घ) अमेरिकन।
उत्तर:
(घ) अमेरिकन

(3) डचों द्वारा भारत में बनाई गई प्रमुख फैक्ट्री कहाँ थी?
(क) गोवा
(ख) दमन
(ग) पुलीकट
(घ) दीव।
उत्तर:
(ग) पुलीकट

(4) 1615 ई. में सर टॉमस रो को राजदूत बनाकर कहाँ भेजा गया था ?
(क) इंग्लैण्ड
(ख) अमेरिका
(ग) भारत
(घ) फ्रांस।
उत्तर:
(ग) भारत

(5) प्रथम दो कर्नाटक युद्धों के समय भारत में फ्रांसीसी गवर्नर कौन था ?
(क) डूप्ले
(ख) क्लाइव
(ग) कार्नवालिस
(घ) कोल्बार्ट।
उत्तर:
(क) डूप्ले

प्रश्न 2.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –
(1) भारत में सर्वप्रथम ………. यूरोपीय जाति का आगमन हुआ।
(2) 1498 ई. में भारत आने वाला यूरोपीय था।
(3) ………..”का गोवा, दमन और दीव पर अधिकार था।
(4) ईस्ट इण्डिया कम्पनी की स्थापना ……….. के लिए की गई।
(5) प्लासी के युद्ध के समय बंगाल का नवाब ………..था।
(6) वेलेजली की सहायक सन्धि द्वारा …………. और हैदराबाद को कम्पनी के अधीन लाया गया।
(7) लॉर्ड डलहौजी ने …………… नीति का अनुसरण किया।
उत्तर:

  1. पुर्तगाली
  2. वास्कोडिगामा
  3. पुर्तगालियों
  4. व्यापार
  5. सिराजुद्दौला
  6. मैसूर
  7. फूट डालो और राज्य करो।

MP Board Class 8th Social Science Chapter 1 अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 3.
(1) भारत में यूरोपीय व्यापारिक कम्पनियों का आगमन क्यों हुआ?
उत्तर:
भारत में यूरोपीय व्यापारिक कम्पनियों का आगमन भारत के साथ व्यापार करने के लिए हुआ।

(2) पुर्तगाल की व्यापारिक कम्पनी ने भारत में कहाँ-कहाँ अपने व्यापारिक केन्द्र स्थापित किए ?
उत्तर:
पुर्तगाल की व्यापारिक कम्पनी ने भारत में कालीकट, गोवा, दमन, दीव एवं हुगली के किनारे अपने व्यापारिक केन्द्र स्थापित किये।

(3) भारत में डचों ने किस नाम की स्वर्ण मुदा चलाई थी?
उत्तर:
भारत में डचों ने ‘पगोडा’ नाम की स्वर्ण मुद्रा चलाई। थी।

(4) सहायक सन्धि की नीति किस गवर्नर जनरल द्वारा। अपनाई गई?
उत्तर:
सहायक सन्धिकी नीति लॉर्ड वेलेजली गवर्नर। जनरल द्वारा अपनाई गई।

(5) भारत में अंग्रेजों की विजय के दो कारण लिखिए।
उत्तर:

  • उस समय भारत में राजनीतिक अराजकता, राजनीतिक बिखराव व केन्द्र का कमजोर होना।
  • अंग्रेजों पर हल्के और छोटे हथियार तथा प्रशिक्षित सेना का होना।

MP Board Class 8th Social Science Chapter 1  लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 4.
(1) डच कम्पनी के द्वारा भारत में किए गए व्यापारिक कार्यों का उल्लेख कीजिए।
उत्तर:
डचों ने गुजरात में कोरोमण्डल समुद्र तट, बंगाल, ! बिहार तथा उड़ीसा (ओडिशा) में व्यापारिक कोठियाँ स्थापित की। इन्होंने अपना पहला कारखाना मछलीपट्टम में खोला। डचों ने भारत के साथ मुख्यतः मसालों, नील, कच्चे रेशम, शीशा, चावल एवं अफीम का व्यापार किया। डचों की प्रमुख फैक्ट्री पुलीकट में थी, जहाँ वे स्वर्ण मुद्रा ‘पगोडा’ को ढालते थे।

(2) यूरोपीय व्यापारिक कम्पनियों के मध्य प्रतिस्पर्धा के क्या कारण थे ?
उत्तर:
यूरोपीय व्यापारिक कम्पनियों के मध्य प्रतिस्पर्धा के प्रमुख कारण निम्नलिखित थे –

  • अधिक मुनाफा अर्जित करना और राजनीतिक प्रभुत्व में वृद्धि करने की नीति।
  • एक-दूसरे को मात देने के लिए कम से कम मूल्य पर भारतीय माल क्रय करने का प्रयास करना।
  • बाजार पर अपना प्रभुत्व स्थापित करने की इच्छा।
  • व्यापार पर नियन्त्रण स्थापित करने के लिए राजनीतिक सत्ता स्थापित करने का सपना देखना। .

(3) सहायक सन्धि की शर्ते लिखिए।
उत्तर:
सहायक सन्धि की शर्ते इस प्रकार थीं –

  • सहायक सन्धि अपनाने वाले भारतीय राज्य को अपनी सुरक्षा के लिए ब्रिटिश सेना की एक टुकड़ी को अपने राज्य की सीमाओं में रखना होता था।
  • ब्रिटिश सेना के खर्चे के लिए सन्धि स्वीकार करने वाले राज्य को एक निश्चित धनराशि अथवा अपने राज्य का एक भू-भाग कम्पनी को देना होता था।
  • भारतीय शासक को अपने दरबार में एक अंग्रेज अफसर को भी रखना होता था, जो भारतीय शासक के कार्यों में हस्तक्षेप किया करता था।

MP Board Class 8th Social Science Chapter 1  दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 5.
(1) कर्नाटक युद्धों के कारण लिखिए।
उत्तर:
कर्नाटक युद्धों के प्रमुख कारण निम्नलिखित हैं –

  • ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कम्पनी और फ्रांसीसी कम्पनी में व्यापारिक प्रतिस्पर्धा थी।
  • दोनों ही अधिक बाजार तथा सुविधाएँ पाने के लिए व्यापार पर अपना प्रभुत्व स्थापित करना चाहती थीं।
  • फ्रांसीसी कम्पनी का प्रधान कार्यालय दक्षिण-पूर्वी समुद्र तट पर पाण्डिचेरी में था, जबकि ब्रिटिश कम्पनी का प्रमुख केन्द्र, फोर्ट सेण्ट जॉर्ज (मद्रास) में था, जो कि पाण्डिचेरी से अधिक दूर नहीं था।
  • दोनों ही कम्पनियाँ अति महत्वाकांक्षी थीं।
  • दोनों का ही कार्यक्षेत्र (पश्चिमी और पूर्वी भारत) लगभग एक ही था।

(2) प्लासी युद्ध के कारण लिखिए।
उत्तर:
प्लासी युद्ध के प्रमुख कारण निम्नलिखित थे –

  • अंग्रेज समस्त बंगाल पर अपना अधिकार करना चाहते थे यद्यपि अंग्रेजों को पहले से ही काफी सुविधाएँ प्राप्त थीं।
  • क्लाइव ने फ्रांसीसी बस्ती चन्द्रनगर पर अपना अधिकार कर लिया तथा वहाँ का नवाब सिराजुद्दौला इसके खिलाफ कुछ न कर सका।
  • क्लाइव ने नवाब के दुश्मनों को अपना संरक्षण दे रखा था।
  • क्लाइव ने सेनापति मीर जाफर और राय दुर्लभ आदि के साथ एक गुप्त समझौता कर नवाब को गद्दी से हटाने के लिए एक षड्यन्त्र रचा था।
  • क्लाइव सिराजुद्दौला को गद्दी से हटाकर अपने समर्थक मीरजाफर को बंगाल का नवाब बनाना चाहता था।
  • युद्ध करने के लिए क्लाइव ने नवाब सिराजुद्दौला पर अलीनगर की सन्धि भंग करने का आरोप लगाया।

(3) इलाहाबाद की सन्धि की शर्ते लिखिए।
उत्तर:
मुगल सम्राट शाह आलम, नवाब मीर कासिम व शुजाउद्दौला अंग्रेजों से युद्ध में पराजित हो गये। अतः 1765 ई. में शुजाउद्दौला तथा शाह आलम को रॉबर्ट क्लाइव से सन्धि करनी पड़ी। यही सन्धि इलाहाबाद की सन्धि कहलाती है।
इसकी शर्ते इस प्रकार थीं –

  • अवध के नवाब से ₹ 50 लाख युद्ध के हर्जाने के रूप में लेकर अंग्रेज उसे अवध का राज्य लौटा देंगे।
  • कड़ा और इलाहाबाद तथा उसके आस-पास का क्षेत्र अवध से अलग कर मुगल बादशाह शाह आलम को दिया जायेगा।
  • चुनार का दुर्ग अंग्रेजों को मिलेगा।
  • अंग्रेजों को अवध की सीमाओं के भीतर बिना कर दिये व्यापार की सुविधा मिलेगी।

(4) लॉर्ड डलहौजी की विलय नीति को समझाइए।
उत्तर:
भारतीय राज्यों को प्रत्यक्ष रूप से कम्पनी के अधीन करने के लिए गवर्नर जनरल लॉर्ड डलहौजी ने विलय नीति (हड़प नीति) का अनुसरण किया। सबसे पहले उसने भारतीय राजाओं द्वारा दत्तक पुत्र लेने की प्रथा पर रोक लगा दी जो शासक बिना पुत्र के मर गये, उनके राज्यों को ब्रिटिश साम्राज्य का अंग बना लिया गया। ऐसे राज्यों में झाँसी, नागपुर और संतारा प्रमुख थे। मैसूर और पंजाब के विस्तृत राज्यों को युद्ध द्वारा ब्रिटिश शासन का अंग बना लिया गया। 1856 ई. में अवध के नवाब पर कुशासन का आरोप लगाकर अवध को ब्रिटिश शासन का अंग बना लिया गया।

(5) व्यापारिक एवं राजनैतिक प्रतिस्पर्धा में अंग्रेजों की सफलता के कारण लिखिए।
उत्तर:
अंग्रेजों की सहायता के प्रमुख कारण इस प्रकार थे –

  • भारत में अनेक छोटे-छोटे राज्य थे, जिनकी सैनिक शक्ति भी अधिक न थी।
  • उस समय के शासक विलासिता और अहंकार का जीवन जी रहे थे तथा उनकी सेनाएँ कमजोर, पथ भ्रष्ट और अनुशासनहीन थीं।
  • नाममात्र के मुगल सम्राट शक्तिहीन, वैभवहीन, कमजोर और साधनहीन थे।
  • उस समय के अराजकता के माहौल में मराठे भी (जो एक शक्तिशाली संगठन था) आपसी संघर्ष में उलझे थे।
  • अंग्रेजों के पास हल्के और छोटे हथियार तथा प्रशिक्षित एवं अनुशासित सेनाएँ थीं।
  • सर्वोपरि उनकी फूट डालो और राज्य करो की नीति सफल रही।

(6) अंग्रेजों और मराठों के बीच हुए विभिन्न युद्धों का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
अंग्रेजों और मराठों के बीच मुख्यतः तीन युद्ध हुए। जिनका वर्णन निम्न प्रकार है –
1. अंग्रेजों – मराठों के बीच पहला युद्ध सन् 1775 ई. में शुरू हुआ। इस युद्ध में मराठा सरदार एक साथ होने के कारण युद्ध अनिर्णित रहा और आने वाले लगभग 20 वर्ष तक दोनों में ही शान्ति बनी रही।

2. दूसरा अंग्रेज – मराठा युद्ध लॉर्ड वेलेजली के समय में लड़ा गया। शक्तिशाली मराठा सरदारों, भोंसले तथा सिंधिया ने मराठा राज्य की स्वतन्त्रता बनाये रखने के लिये अंग्रेजों के विरुद्ध सन् 1803 में युद्ध छेड़ दिया। एक होकर महत्वपूर्ण युद्ध लड़े गये किन्तु अंग्रेजी सेना के सामने वे टिक न सके।

3. तीसरा और अन्तिम अंग्रेज – मराठा युद्ध सन् 17171718 ई. में लॉर्ड हेस्टिंग्ज के शासन काल में हुआ। पेशवा बाजीराव द्वितीय ने अंग्रेजों के निरन्तर हस्तक्षेप से क्रोधित होकर युद्ध शुरू कर दिया। भोंसले तथा होल्कर ने भी युद्ध की घोषणा कर दी। भिन्न-भिन्न लड़ाइयों में अंग्रेजों की सेना ने भोंसले, होल्कर और पेशवा को पराजित किया। इस प्रकार, मराठा शक्ति को नष्ट करके अंग्रेज भारत के प्रमुख सत्ताधारी बन गए।

MP Board Class 8th General English Solutions Chapter 4 Trees: Our Saviours

In this article, we will share MP Board Class 8th General English Solutions Chapter 4 Trees: Our Saviours Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th General English Solutions Chapter 4 Trees: Our Saviours

Trees: Our Saviours Textual Exercise

Read and Learn
(पढ़ो और याद करो):
Do Yourself.

Word Power
(शब्द सामर्थ्य):

(A) The letters ‘dis’ and ‘un’ before a word often mean ‘not’. Make new words by. adding the correct prefixes.
(किसी भी शब्द के आगे अक्षर “dis” और “un” अक्सर नहीं (नकारात्मक) अर्थ देते हैं। सही प्रत्यय लगाकर नये शब्द बनाएँ।)

  1. happy
  2. continue
  3. agree
  4. fair
  5. kind
  6. approve.

Answer:

  1. unhappy
  2. discontinue
  3. disagree
  4. unfair
  5. unkind
  6. disapprove.

MP Board Solutions

(B) Fill the right word in the right place:
(उचित स्थान से रिक्त शब्द भरो:)
Answer:

  1. Clothes are made of cloth.
  2. My elder brother obviously is older than me.
  3. My grandfather is old and is child-like, but my uncle often behaves in a childish manner which I don’t like.
  4. We can adapt to western ways of living but not adopt them.

(C) Match the words given in the two-boxes to make compound words:
(दो खानों में दिये शब्दों का संयुक्त शब्द बनाने के लिए मिलान करें:)
Answer:
blackboard; toothbrush; newspaper; teapot; notebook; raincoat; farmhouse forehead, suitcase; bargraph.

MP Board Solutions

Comprehension
(बोध प्रश्न):

(A) Answer the following questions:
(नीचे दिये प्रश्नों का उत्तर दें:)

Question 1.
Why did the workers from a factory come to the village of Gopeshwar ?
(व्हाय डिड द वर्कर्स फ्रॉम अ फैक्ट्री कम टु द विलेज ऑफ गोपेश्वर ?)
फैक्ट्री के कर्मचारी गोपेश्वर गाँव क्यों आए ?
Answer:
The workers from a factory had come to the village of Gopeshwar to cut the ash trees to make sleepers for the railways.
(द वर्कर्स फ्रॉम अ फैक्ट्री हैड कम टु द विलेज ऑफ गोपेश्वर टु कट द ऐश ट्रीज टु मेक स्लीपर्स फॉर द रेलवेज।)
फैक्ट्री के कर्मचारी रेलगाड़ी के स्लीपर बनाने के लिए पेड़ काटने गोपेश्वर आए थे।

Question 2.
What did the villagers decide when the axe men refused to return ?
(व्हॉट डिड द विलेजर्स डिसाइड व्हेन द ऐक्समेन रिफ्यूज्ड टु रिटर्न ?)
गाँववासियों ने क्या निर्णय लिया जब कुल्हाड़ी धारियों ने लौटने से इन्कार कर दिया ?
Answer:
The villagers decided that they would not let the axes touch the trees at any cost.
(द विलेजर्स डिसाइडिड दैट दे वुड नॉट लैट द ऐक्सिज टच द ट्रीज ऐट ऐनी कॉस्ट।)
गाँववासियों ने यह तय किया कि वे किसी भी कीमत पर पेड़ों पर कुल्हाड़ी नहीं लगने देंगे।

MP Board Solutions

Question 3.
What did the axe men do when the villagers hugged the trees and shouted “chipko, chipko”?
(व्हॉट डिड द ऐक्समेन डु व्हेन द विलेजर्स हग्ड द ट्रीज एण्ड शाउटिड “चिपको चिपको” ?)
कुल्हाड़ीधारियों ने क्या किया जब गाँववासियों ने पेड़ों को गले लगा लिया और “चिपको, चिपको” चिल्लाए ?
Answer:
The axe men were frightened and they ran away.
(द ऐक्समेन वर फ्राइटन्ड एण्ड दे रैन अवे।)
कुल्हाड़ीधारी डर गये और वे भाग गए।

Question 4.
What did the villagers do when the contractors chose another forest ?
(व्हॉट डिड द विलेजर्स डू व्हेन द कॉन्ट्रेक्टर्स चोज ऐनदर फॉरेस्ट ?)
गाँववासियों ने क्या किया जब ठेकेदारों ने दूसरा जंगल चुन लिया ?
Answer:
When the contractors chose another forest, the villagers began to march in a procession to save the forests.
(व्हेन द कॉण्ट्रैक्टर्स चोज एनदर फॉरेस्ट, द विलेजर्स बिगेन टू मार्च इन अ प्रोसैशन टु सेव द फॉरेस्ट्स।)
जब ठेकेदारों ने दूसरा जंगल चुना तो गाँववासी जुलूस के साथ उसे बचाने निकल पड़े।

MP Board Solutions

Question 5.
What is the work of “Dasohli Gram Swarajya Mandal ?”
(व्हॉट इट द वर्क ऑफ “दसोहली ग्राम स्वराज्य मण्डल’)
“दसोहली ग्राम स्वराज्य मण्डल” का क्या कार्य है ?
Answer:
This organisation works to regenerate the degraded forests.
(दिस ऑर्गेनाइजेशन वर्क्स टु रीजनरेट द डिग्रेडिड फॉरेस्ट्स।)
ये संस्था उन जंगलों को नवजीवन प्रदान करने का कार्य करती है जिनका पतन हो गया है।

(B) Say whether the following statements are true or false:
(निम्नलिखित कथन सत्य हैं या गलत, बतायें:)

  1. Trees were being saved by the contractors.
  2. In 1953, a group of people from a factory arrived at the Village of Gopeshwar.
  3. ‘Chipko’ or ‘Hug the trees’ was a non-violent movement of the mountain people to save their trees.
  4. Dasohli Gram Swarjya Mandal is an organisation to regenerate the degraded forests.
  5. Chipko movement proved very valuable in the conservation of forests.

Answer:

  1. False
  2. False
  3. True
  4. True
  5. True.

MP Board Solutions

Let’s Learn
(आओ याद करें):

(A) Fill in the blanks with suitable pronouns.
(उचित सर्वनाम से रिक्त स्थान भरिए:)
Answer:
Leena was on her annual visit to her uncle’s house. She always enjoyed it because she was allowed to spend most of the day down at the mango grove. Reena’s uncle was a friend of the man who owned the grove and he always gave mangoes at a special rate. This year her aunt joined her, and together they set off across the fields to the grove. The branches of the trees were covered with fruits, and so bowed down with the weight that they almost touched the ground. They spent hours picking the fruit, eating most of them and sleeping in the shade.

(B) Use the words given in the box in the blanks below to make the Past Perfect Tense.
(बॉक्स में दिये शब्दो से Past Perfect Tense बनाने के लिए रिक्त स्थान भरें:)
Answer:

  • Harry had died before the doctor came.
  • The rain had stopped before you arrived.
  • I had reached the school before the bell rang.
  • There was a storm after the plane had landed.
  • The thief had run away before the police came.

MP Board Solutions

Let’s Talk
(आओ बात करों):

Look at the picture given in the book carefully.
(दिये चित्र को ध्यान से देखें।)
Frame the questions related to the answers.
(दिए गए उत्तरों से सम्बन्धित प्रश्न बनाएँ।)

Question 1.
Where did you go in the morning ?
Answer:
I went for a morning walk.

Question 2.
Who went with you ?
Answer:
My mother and sister went with me.

Question 3.
What did you see there?
Answer:
We saw a large number of people and children there.

MP Board Solutions

Question 4.
What were they doing there?
Answer:
Some were walking about, some were reading newspapers. Some were doing exercise, children were playing and some of them were roaming around.

Question 5.
When did you come back?
Answer:
We came back at 9 O’clock.

Question  6.
Did you enjoy ?
Answer:
Yes, we enjoyed and returned home full of energy.

Let’s Read
(आओ पढ़ें):

Read the given notice which the Cultural Secretary of Vallabh Bhai School put up on his school notice board and answer the questions given below:
(दिये गये नोटिस को पढ़ें जो वल्लभ भाई स्कूल के सांस्कृतिक सचिव ने स्कूल के सूचना-पट्ट पर लगाया है और नीचे दिये प्रश्नों के उत्तर दें:)

(A) Fill in the blanks:
(रिक्त स्थान भरिए:)

(1) Anurag has put up a ………on his school noticeboard.
(2) Anurag is the ……….. secretary of Vallabh Bhai School.
Answer:
(1) notice
(2) cultural.

MP Board Solutions

(B) Answer the following questions:
(निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दें:)

Question 1.
Which ceremony was being held at Vallabh Bhai School ?
Answer:
Tree Plantation ceremony was being held at Vallabh Bhai School.

Question 2.
How many plants are to be contributed by each class ?
Answer:
A minimum of five plants should be contributed by each class.

MP Board Solutions

Question 3.
Write the name and designation of the student who has written the notice.
Answer:
Anurag has written the notice. He is the Cultural Secretary of the school.

Question 4.
Which word in the notice has the meaning complete and enthusiastic ?
Answer:
The word ‘wholehearted’ means complete and enthusiastic.

Let’s Write
(आओ लिखो):

Write a letter to the editor of a newspaper complaining against the cutting of trees, with the help of guidelines, given in the box.
(बॉक्स में दिये गये निर्देशों की सहायता से पेड़ों को काटने के विरुद्ध शिकायत करते हुए किसी समाचार-पत्र के सम्पादक को एक पत्र लिखें)
Answer:

403, D. K. Rainbow
Chunna Bhatti,
Bhopal
15th Oct., 20 …….

The Editor,
The Hindustan Times,
Bhopal:
15th Oct., 20.

Sir,
I would like to draw your attention to the cutting of trees prevailing in our area. As we all know that trees are valuable to us. Trees help to bring rain, keep the air clean, we get fruits from them. Trees help to beautify our surroundings. Hence, cutting of trees shall be a thrust to the environment. If the trees are cut then ecology will be disturbed. The floods shall occur and destroy the crops after rains. So the concerned authorities should take immediate steps to stop the cutting. Strick action should be taken against them.

Thanking you,
Yours Truly
Anurag

MP Board Solutions

Let’s do it
(आओ इसे करें):

Draw pictures of at least five trees and write two uses of each in your note book / drawing sheet.
कम से कम पाँच पेड़ों के चित्र बनायें और अपनी नोटबुक/ चित्रकला शीट पर प्रत्येक के दो प्रयोग लिखें।
Answer:
Here are the names of five trees with their uses. Students can draw their pictures themselves in their drawing sheet.

MP Board Class 8th geranal English Chapter 4 Trees Our Saviours

Trees: Our Saviours Word Meanings

Arrive (अराइव) – पहुँचना; Achieve (ऐचीव) – प्राप्त करना; Conservation (कन्सरवेशन) – सुरक्षित रखना; Comforts (कम्फर्ट्स) – सुख साधन; Deforestation (डीफॉरेस्टेशन) – वन कटाई; Destroy (डेस्ट्रॉय) – नष्ट करना; Degrade (डिग्रेड) – दरजा घटाना; Frighten (फ्राइटन) – भयभीत करना; Flood (फ्लड) – बाढ़; Hug (हग) – लिपटना; Huge (ह्यूज) – विशाल; Incident (इन्सिडेन्ट) – घटना, Landslide (लैन्डस्लाइड) – भू-स्खलन; Livelihood (लाइवलिहुड) – आजीविका, रोजी; Neglect ( गलैक्ट)-ध्यान नहीं रखना; Non – violent (नॉन-वाइलेंट) — अहिंसात्मक; Organisation (ऑर्गनाइजेशन) – संगठन; Prevent (प्रिवेन्ट) – नहीं होने देना; Procession (प्रोसेशन) – जलूस; Precious (प्रैशस) – कीमती; Regenerate (रिजेनरेट) – नवजीवन प्रदान करना; Unforgettable (अनफॉरगैटेबल) – अविस्मरणीय; fodder (फॉडर) – चारा; Erosion (ईरोजन) – (भू) क्षरण, नाश।

Trees: Our Saviours Summary, Pronunciation & Translation

1. The forests of the Himalayan region have played an important role in the life of the people of Uttarakhand. They have been supplying fodder for their cattle, wood for fuel, fruits for food and herbs for medical treatment. The forests have also prevented floods and soil erosion in the area during the monsoon season.

द फॉरेस्ट्स ऑफ द हिमालयान रीजन हैव प्लेड ऐन इम्पोर्टेट रोल इन द लाइफ ऑफ द पीपुल ऑफ उत्तराखण्ड. दे हैव बीन सप्लाइंग फोडर फॉर देअर कैटल, वुड फॉर फ्युअल, फ्रूट्स फॉर फूड एण्ड हर्ब्स फॉर मेडिकल ट्रीटमेंट. द फॉरेस्ट्स हैव ऑल्सो प्रीवेन्टिड फ्लड्स एण्ड सॉइल इरोजन इन द एरिया ड्यूरिंग द मानसून सीजन.

अनुवाद:
हिमालय क्षेत्र के जंगलों की उत्तराखण्ड के लोगों के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका रही है। वे उनके जानवरों के लिए चारा, ईंधन के लिए लकड़ी, भोजन के लिए फल और चिकित्सा के लिए जड़ी-बूटियाँ प्रदान करते हैं। वन बरसात के मौसम में बाढ़ और भूमि क्षरण से इस क्षेत्र का बचाव भी करते हैं।

2. During the 1970’s, however deforestation began. Trees were cut down. As a result, there was nothing to hold the soil. The rushing rain water carried away not only the soil, but also huge rocks, causing landslides, filling up the rivers, leading to floods. Further owing to the forest trees being taken away, the people who depended on them for food and fuel, faced great difficulty. They had to walk longer distances to collect firewood for cooking, plants for food and medicines, and to graze their cattle.

ड्यूरिंग द 1970′ (नाइन्टीन सेवन्टीज) हाउएवर डिफॉरेस्टेशन बिगेन. ट्रीज़ वर कट डाउन. ऐज़ अ रिजल्ट, देअर वाज़ नथिंग टु होल्ड द सॉइल. द रशिंग रेन वाटर कैरिड अवे नॉट ऑनली द सॉइल, बट आल्सो ह्यूज रॉक्स, कॉजिंग लैण्डस्लाइड्स, फिलिंग अप द रिवर्स, लीडिंग टु फ्लड्स. फर्दर ओइंग टु द फॉरेस्ट ट्रीज बीइंग टेकन अवे, द पीपुल हूँ डिपेन्डिड ऑन दैम फॉर फूड एण्ड फ्यूअल, फेस्ड ग्रेट डिफीकल्टी. दे हैड टु वॉक लांगर डिस्टेन्सिस टु कलैक्ट फायरवुड फॉर कुकिंग, प्लांट्स फॉर फूड एण्ड मेडीसिन्स, एण्ड टु ग्रेज देअर केटल.

अनुवाद:
उन्नीस सौ सत्तर के दशक में जंगलों की कटाई आरम्भ हुई। वृक्षों को काटा गया था। परिणामस्वरूप मृदा को क्षरण से रोकने को कुछ नहीं था। तेज बहते हुए वर्षा का जल अपने साथ केवल मिट्टी ही नहीं बल्कि विशाल चट्टानें ले जाता था जिससे भूस्खलन होता था और इनसे नदियाँ भर जाने पर बाढ़ आ जाती थी। इसके अतिरिक्त जंगल से पेड़ों को हटाने से, लोग जो भोजन और ईंधन के लिए उन पर निर्भर थे, उन्होंने बड़ी परेशानी का सामना किया। उन्हें खाना पकाने के लिए लकड़ी, भोजन एवं दवाइयों के लिए पौधे इकट्ठा करने और अपने पशुओं को चराने दूर-दूर तक जाना पड़ता था।

MP Board Solutions

3. The people were angry but helpless. They did not know what they, the simple villagers, could do to stop the destruction of their forests. For a long time rich forests had been destroyed by the contractors. One morning in March 1973, a group of people from a factory that made railway goods arrived at the village of Gopeshwar, in Chamoli district of Uttarakhand. They had come to cut the ash trees. The wood was to be used to make sleepers for the railways in the plains. The villagers requested the axe men to go back, but they refused to return. The people decided that they would not let the axes touch the trees, no matter what happened. They said,

द पीपुल वर ऐंग्री बट हैल्पलैस. दे डिड नॉट नो व्हाट दे, द सिम्पल विलेजर्स, कुड डू टु स्टॉप द डिस्ट्रक्शन ऑफ देअर – फॉरेस्ट्स. फॉर अ लांग टाइम रिच फॉरेस्ट्स हैड बीन डेस्ट्रायड बाइ द कॉन्ट्रेक्टर्स. वन मार्निंग इन मार्च 1973, अ ग्रुप ऑफ पीपुल फ्रॉम अ फैक्ट्री दैट मेड रेलवे गुड्स एराइव्ड ऐट द विलेज ऑफ गोपेश्वर, इन चमोली डिस्ट्रिक्ट ऑफ उत्तराखण्ड. दे हैड कम टु कट द एश ट्रीज. द वुड वाज टु बी यूज्ड टु मेक स्लीपर्स फॉर द रेल्वेज इन द प्लेन्स. द विलेजर्स रिक्वेस्टिड द एक्समैन टु गो बैक, बट दे रिफ्यूज्ड टु रिटर्न. द पीपुल डिसाइडिड दैट दे वुड नॉट लैट द एक्सेज टच द ट्रीज, नो मैटर व्हॉट हैपन्ड. दे सैड,.

अनुवाद:
लोग क्रुद्ध थे परन्तु असहाय थे। वे नहीं जानते थे कि वे, साधारण ग्रामीण, अपने वनों का विनाश रोकने के लिए क्या करें। एक लम्बे अर्से से समृद्ध वनों को ठेकेदारों द्वारा नष्ट किया जा रहा था। मार्च, 1973 की एक सुबह, उत्तराखण्ड के चमोली जिले के गोपेश्वर गाँव में रेलवे कोच बनाने वाले एक कारखाने के लोगों का एक समूह आया। वे मोहिन वृक्षों को काटने आये थे। लकड़ी का प्रयोग मैदानी क्षेत्रों में रेल्वे के लिए स्लीपर बनाने में किया जाना था। ग्रामीणों ने पेड़ काटने वालों से वापस जाने की प्रार्थना की परन्तु उन्होंने वापस जाने से मना कर दिया। लोगों ने तब यह तय किया कि चाहे जो हो जाए वह कुल्हाड़ियों को उन वृक्षों को छूने नहीं देंगे। उन्होंने कहा,

4. “Let us save our precious trees. Let us hug them so that no one can reach them.” And they all rushed forward shouting, “Chipko Chipko.” The axe men were frightened by the turn the situation had taken and they ran away. The people had succeeded in saving their trees Thus began the movement called “Chipko” or. “Hug the Trees”. It was a non-violent movement of the mountain people to save their trees by hugging them.

“लैट अस सेव अवर प्रैशस ट्रीज. लैट अस हग दैम सो दैट नो वन कैन रीच दैम.” एण्ड दे ऑल रश्ड फॉरवर्ड शाउटिंग, “चिपको चिपको”. द एक्समैन वर फ्राइटन्ड बाइ द टर्न द सिचुएशन हैड टेकन एण्ड दे रैन अवे. द पीपुल हैड सक्सीडिड इन सेविंग देअर ट्रीज ! दस बिगेन द मूवमेंट कॉल्ड “चिपको” और “हग द ट्रीज”. इट वाज़ अ नॉन-वायलेण्ट मूवमेंट ऑफ द माउन्टेन पीपुल टु सेव देअर ट्रीज बाइ हगिंग दैम.

अनुवाद:
आओ, अपने मूल्यवान पेड़ों को बचाएँ। आओ उनसे लिपट जाएँ जिससे कोई उन तक नहीं पहुँच सके। . . .. और वे सभी ‘चिपको-चिपको’ चिल्लाते हुए आगे की ओर दौड़े। स्थिति को बदलता देख वृक्षों को काटने आये लोग भयभीत हो गए और वे भाग गए। लोग अपने वृक्षों को बचाने में सफल हो गए। इस प्रकार ‘चिपको’ या वृक्षों को गले लगाओ’ आन्दोलन आरम्भ हो गया। यह पहाड़ी लोगों का अपने वृक्षों को गले लगाकर उन्हें बचाने के लिए एक अहिंसावादी आन्दोलन था।

5. The villagers of Gopeshwar had saved its trees but the contractors were not going to give up easily. They chose another forest which was about 60 kilometers away from Gopeshwar. News of this reached Gopeshwar. So the entire village men and women, old and young, began to march in a procession. They carried drums and trumpets and banners with messages like –

“Chop me – not the tree.”
and
“Kill us first, before you cut a single tree.”

द विलेजर्स ऑफ गोपेश्वर हैड सेव्ड इट्स ट्रीज बट द कॉन्ट्रेक्टर्स वर नॉट गोइंग टु गिव अप ईजिली. दे चोज अनअदर फॉरेस्ट विच वाज अबाउट 60 किलोमीटर्स अवे फ्रॉम गोपेश्वर. न्यूज ऑफ दिस रीच्ड गोपेश्वर. सो द एन्टायर विलेज मैन एण्ड वुमैन, ओल्ड एण्ड यंग, बिगेन टु मार्च इन अ प्रोसेशन. दे कैरिड ड्रम्स, एण्ड ट्रम्पेट्स एण्ड बैनर्स विद मेसेजिज लाइक-

“चॉप मी-नॉट द ट्री.”
एण्ड
“किल अस फर्स्ट, बिफोर यू कट अ सिंगल ट्री.”

अनुवाद:
गोपेश्वर के ग्रामीणों ने अपने वृक्षों को बचा लिया था परन्तु ठेकेदार भी आसानी से छोड़ने वाले नहीं थे। उन्होंने दूसरा जंगल चुन लिया जो गोपेश्वर से लगभग 60 किमी. दूर था। यह समाचार गोपेश्वर पहुँचा। तब सम्पूर्ण गाँववासी-पुरुष एवं स्त्रियाँ, वृद्ध एवं युवा एक जुलूस में आगे बढ़ने लगे। वे ढोल और तुरही बजाते हुए चल रहे थे तथा हाथों से इसमें सन्देश की । तख्ख्यिाँ लिए हुए थे –
“मुझे काटो-पेड़ को नहीं”
और
“हमें पहले मारो, इससे पहले कि तुम एक भी पेड़ काटो।”

MP Board Solutions

6. The axe men could not raise their axes. They fled. The “Chipko” idea had once again won. Trees had been saved. The message began to sweep through the region. The people knew that if they could save their forest, the forest would save for them their soil, their water and their livelihood. Many such incidents took place. Over the years the people’s movement became well known all over India and abroad. Thus, people have come together to work to protect their forests.

द एक्समैन कुड नॉट रेज देअर एक्सिस. दे फ्लैड. द “चिपको” आइडिया हैड वन्स अगेन वन. ट्रीज हैंड बीन सेव्ड. द मेसेज बिगेन टु स्वीप श्रू द रीजन. द पीपुल निऊ दैट इफ.दे कुड सेव देअर फॉरेस्ट, द फॉरेस्ट वुड सेव फॉर दैम देअर सॉइल, देअर वाटर एण्ड देअर लाइवलीहुड. मैनी सच इन्सीडेन्ट्स एक प्लेस. ओवर द ईयर्स द पीपुल्स मूवमेंट बिकेम वैल नोन ऑल ओवर इण्डिया एण्ड एब्रोड. दस, पीपुल हैव कम टुगेदर टु वर्क टु प्रोटेक्ट देअर फारेस्ट्स.

अनुवाद:
कुल्हाड़ी लिए लोग अपनी कुल्हाड़ी को नहीं उठा सके। वे भाग गए। ‘चिपको’ विचार ने एक बार पुनः विजय प्राप्त की। वृक्षों को बचा लिया गया। पूरे क्षेत्र में सन्देश फैल गया। लोगों को समझ आ गया कि यदि वे अपने वनों को बचा सके तो वन उनके लिए उनकी मिट्टी, जल और जीविका को बचाएँगे। ऐसी कई घटनाएँ घटित हुईं। कालान्तर में यह जनान्दोलन पूरे भारत और विश्व में प्रसिद्ध हो गया। इस प्रकार लोग अपने जंगलों की रक्षा करने के लिए काम करने को एक साथ आ गये।

7. They have organised themselves especially the women through organisations such as the Dasohli. Gram Swarajya Mandal to regenerate the degraded forests. This is how the Chipko movement has proved very valuable in the conservation of forests. It has taught an important lesson to the people in the conservation of the forests.

दे हैव ऑर्गनाइज्ड दैमसेल्व्स एस्पेशियली द वुमैन श्रू ऑर्गनाइजेशन्स सच ऐज़ द दसोहली ग्राम स्वराज्य मण्डल टु रिजनरेट द डिग्रेडिड फॉरेस्ट्स.दिस इज हाउ द चिपको मूवमेंट हैज प्रूव्ड वैरी वेल्यूएबल इन द कन्जर्वेशन ऑफ फॉरेस्ट्स. इट हैज टॉट एन इम्पॉर्टेट लैसन टु द पीपुल इन द कन्जर्वेशन ऑफ द फॉरेस्ट्स.

अनुवाद:
उन्होंने मृत वनों को पुनर्जीवित करने के लिए दसोहली ग्राम स्वराज्य मण्डल जैसे, कई संगठनों के माध्यम से – स्वयं को संगठित किया, विशेष रूप से महिलाओं से। इस प्रकार चिपको आन्दोलन वनों के संरक्षण में बहुत मूल्यवान सिद्ध हुआ है। इसने वनों के संरक्षण में लोगों को एक . महत्वपूर्ण सबक सिखाया है।

MP Board Class 8th Sanskrit Solutions Chapter 15 देवी अहिल्या

In this article, we will share MP Board Class 8th Sanskrit Solutions Chapter 15 देवी अहिल्या Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 8th Sanskrit Solutions Surbhi Chapter 15 देवी अहिल्या

MP Board Class 8th Sanskrit Chapter 15 अभ्यासः

प्रश्न 1.
एकपदेन उत्तरं लिखत(एक शब्द में उत्तर लिखो-)
(क) अहिल्यायाः जन्मग्रामः कः? (अहिल्या का जन्म कां ग्राम कौन-सा है?)
उत्तर:
चौण्डी। (चौण्डी)

(ख) अहिल्यायाः व्यक्तित्वं कथं वर्तते? (अहिल्या का व्यक्तित्व कैसा है?)
उत्तर:
बहुमुखिप्रतिभासम्पन्नम्। (बहुमुखी प्रतिभा से सम्पन्न)

(ग) राजवाड़ा कुत्र अस्ति? (राजवाड़ा कहाँ है?)
उत्तर:
इन्दौर नगरे। (इन्दौर नगर में)

MP Board Solutions

(घ) माहिष्मती कस्य राजधानी आसीत्? (माहिष्मति किसकी राजधानी थी?)
उत्तर:
सहस्रार्जुनस्य। (सहस्रार्जुन की)

(ङ) सुशीलाबाई-माणकोजी इति अनयोः पुत्री का आसीत्। (सुशीलाबाई-माणकोजी इन दोनों की पुत्री कौन थी?)
उत्तर:
अहिल्याबाई। (अहिल्याबाई)

प्रश्न 2.
एकवाक्येन उत्तरं लिखत(एक वाक्य में उत्तर लिखो-)
(क) लेखनप्रतियोगिता के विषयम् अधिकृत्य आसीत्? (लेखन प्रतियोगिता किस विषय को आधार बनाकर थी?)
उत्तर:
लेखनप्रतियोगिता ‘विक्रमादित्य-भोजराजाभ्याम् पोषिते मालवक्षेत्रे अहिल्यायाः प्रजावात्सल्यम्’ इति विषयम् अधिकृत्य आसीत्। (लेखन प्रतियोगिता ‘विक्रमादित्य और भोजराजा के द्वारा पोषित मालव क्षेत्र में अहिल्या का प्रजा प्रेम’ इस विषय को आधार बनाकर थी।)

(ख) अहिल्याबाई कदा जन्म अलभत? (अहिल्याबाई ने कब जन्म लिया?)
उत्तर:
अहिल्याबाई पञ्चविंशत्युत्तरसप्तदश ख्रिस्ताब्दे (१७२५) मईमासस्य एकत्रिंशे (३१) दिनाङ्के जन्म अलभत्। (अहिल्याबाई ने सत्रह सौ पच्चीस (1725) ईस्वी में मई महीने की इकत्तीस (31) तारीख को जन्म लिया।)

(ग) अहिल्याबाई कीदृशी महिला आसीत्? (अहिल्याबाई कैसी महिला थीं?)
उत्तर:
अहिल्याबाई प्रजावत्सला, धर्मपरायणा, न्यायनिष्ठा च महिला आसीत्। (अहिल्याबाई प्रजावत्सल, धर्मपरायण और न्यायनिष्ठ महिला थीं।)

(घ) महेश्वरस्थानस्य उल्लेखः कुत्र कुत्र वर्तते? (महेश्वर स्थान का उल्लेख कहाँ-कहाँ है?)
उत्तर:
महेश्वरस्थानस्य उल्लेखः रामायणमहाभारतग्रन्थयोः बौद्ध-जैनधर्मग्रन्थेषु वर्तते। (महेश्वर स्थान का उल्लेख रामायण-महाभारत ग्रन्थों में और बौद्ध-जैन धर्म ग्रन्थों में है।)

(ङ) कीदृशी अहिल्याबाई सदा राजते? (कैसी अहिल्याबाई सदा सुशोभित होती हैं?)
उत्तर:
धर्मार्थकाममोक्षेषु निरता अहिल्याबाई सदा राजते। (धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष में लगी हुई अहिल्याबाई सदा सुशोभित होती हैं।)

प्रश्न 3.
रेखाङ्कितपदम् आधृत्य प्रश्ननिर्माणं कुरुत(रेखांकित शब्द के आधार पर प्रश्न निर्माण करो-)
(क) अहम् मालवप्रदेशतः आगच्छामि। (कुतः) (मैं मालव प्रदेश से आ रहा हूँ।)
उत्तर:
अहम् कुतः आगच्छामि। (मैं कहाँ से.आ रहा हूँ?)

(ख) अहिल्याबाईखण्डेरावस्यपत्नीआसीत्।(कस्य) (अहिल्याबाई खण्डेराव की पत्नी थीं।)
उत्तर:
अहिल्याबाई कस्य पत्नी आसीत्। (अहिल्याबाई किसकी पत्नी थीं।)

MP Board Solutions

(ग) रघुवंशकाव्ये महिष्मतिवर्णनम् अस्ति। (कुत्र) (रघुवंश काव्य में महिष्मति वर्णन है।)
उत्तर:
कुत्र महिष्मतिवर्णनम् अस्ति? (कहाँ महिष्मति का वर्णन है?)

(घ) अहिल्यायाः विद्याप्रीतिः असामान्या आसीत्। (कथम्) (अहिल्या का विद्या के प्रति प्रेम असामान्य था।)
उत्तर:
अहिल्यायाः विद्याप्रीतिः कथम् आसीत्? (अहिल्या का विद्या के प्रति प्रेम कैसा था?)

(ङ) राज्ञा महिष्मता निर्मिता माहिष्मती। (केन) (राजा महिष्मत् के द्वारा माहिष्मती का निर्माण किया गया।)
उत्तर:
केन निर्मिता माहिष्मती? (किसके द्वारा माहिष्मती का निर्माण किया गया?)

प्रश्न 4.
समुचितमेलनं कुरुत(सही मेल करो-)
MP Board Class 8th Sanskrit Solutions Chapter 15 देवी अहिल्या 1
उत्तर:
(क) → (iii)
(ख) → (iv)
(ग) → (ii)
(घ) → (v)
(ङ) → (i)

प्रश्न 5.
उचितपदेन रिक्तस्थानम् पूरयत(उचित शब्द से रिक्त स्थान की पूर्ति करो-)
(क) भवान् कुतः …………। (आगच्छति/आगच्छसि)
(ख) माहिष्मतीनाम्ना …………. प्रसिद्धः। (महेश्वरः/उज्जयिनी)
(ग) राजवाड़ास्थानां …………. वर्तते। (प्रेक्षणीयं/उपेक्षणीयम्)
उत्तर:
(क) आगच्छति
(ख) महेश्वरः
(ग) प्रेक्षणीयम्।

प्रश्न 6.
भिन्नशब्दं चिनुत(भिन्न शब्द चुनो-)
(क) कुतः, किम्, कुत्र, कथम्, मित्रम्।
(ख) श्रोतुम्, गन्तुम्, नेतुम्, समागत्य, ज्ञातुम्।
(ग) नर्मदा, क्षिप्रा, शिवना, चम्बल, हिमालयः।
(घ) विंशति, अशीति, नवतिः, षष्ठिः, द्रोणः।
(ङ) रामायणम्, महाभारतम्, पुराणम्, काव्यम्, कालिदासः।
उत्तर:
(क) मित्रम्
(ख) समागत्य
(ग) हिमालयः
(घ) द्रोणः
(ङ) कालिदासः।

MP Board Solutions

देवी अहिल्या हिन्दी अनुवाद

अञ्जना :
हरिः ॐ! भ्रातः भवान् कुल आगच्छति?

अङ्केश: :
भगिनी, मालवप्रदेशतः आगच्छन् अस्मि।

अञ्जना :
तव जन्मदेश: मध्यप्रदेशस्य मालवक्षेत्रे वर्तते किम्? तत्र को विशेषः?

अङ्केश :
आम्! विक्रमादित्य-भोजराजाभ्यामपोषिते मालवक्षेत्रे अहिल्यायाः प्रजावात्सल्यम् इति विषयम् अधिकृत्य लेखनप्रतियोगिता आसीत्।

अञ्जना :
तर्हि, कथय मे अहिल्यावृत्तम्। श्रोतुम् इच्छामि।

अनुवाद :
अंजना-हलो! भाई आप कहाँ से आ रहे हो?

अंकेश :
बहन, मालव प्रदेश से आ रहा हूँ।

अंजना :
तुम्हारा जन्म का स्थान मध्य प्रदेश के मालव क्षेत्र में है क्या? वहाँ क्या विशेष है?

अंकेश :
हाँ! विक्रमादित्य और भोज राजा के द्वारा पोषित मालव क्षेत्र में अहिल्या का प्रजा प्रेम’ इस विषय के आधार पर लेखन प्रतियोगिता थी।

अंजना :
तो, मुझे अहिल्या का चरित्र बताओ। सुनना चाहती हूँ।

अङ्केशः :
सुशीलाबाई-माणकोजी इति। अनयोः सुपुत्री आसीत्। अहिल्याबाई महाराष्ट्रस्य चौण्डीग्रामे पंचविंशत्युत्तरसप्तदश ख्रिस्ताब्दे (१७२५) मईमासस्य एकत्रिंशे (३१) दिनाङ्के जन्म अलभत।

अञ्जना :
नर्मदा-क्षिप्रा-शिवनाचम्बलनदीभिः सम्पन्नस्य मालवक्षेत्रस्य वधूः खण्डेरावस्य पत्नी खलु अहिल्याबाई?

अङ्केश :
आम! सूबेदार मलाररावस्य पुत्रवधूः मालवप्रजानां सर्वस्वम् आसीत्। अहिल्यायाः व्यक्तित्वं बहुमुखि प्रतिभासम्पन्नं वर्तते स्म। एषा प्रजावत्सला, धर्मपरायणा, न्यायनिष्ठा महिला आसीत्। इन्दौरनगरे तस्याः राजवाड़ा क्षेत्रं सुन्दरम् पवित्रं च अस्ति। अद्यापि राजवाड़ास्थलम् इन्दौरनगरस्य हृदयमिव प्रेक्षणीयं वर्तते। अत्र देशविदेशेभ्यः यात्रिकाः दर्शनार्थम् आगच्छन्ति।

MP Board Solutions

अनुवाद :
अंकेश :
(अहिल्याबाई) सुशीलाबाई और माणकोजी इन दोनों की सुपुत्री थी। अहिल्याबाई ने महाराष्ट्र के चौण्डी ग्राम में सत्रह सौ पच्चीस (1725) ईस्वी में मई महीने की इकत्तीस (31) तारीख को जन्म पाया।

अंजना :
नर्मदा, क्षिप्रा, शिवना और चम्बल नदियों से सम्पन्न मालव क्षेत्र की वधू और खण्डेराव की पत्नी क्या अहिल्याबाई थीं ?

अंकेश :
हाँ! सूबेदार महारराव की पुत्रवधू मालव की प्रजा की सब कुछ थी। अहिल्या का व्यक्तित्व बहुमुखी प्रतिभा से सम्पन्न रहता था। वह प्रजा से प्रेम करने वाली, धर्मपरायण, न्यायनिष्ठ महिला थीं। इन्दौर नगर में उनका राजवाड़ा क्षेत्र सुन्दर और पवित्र है। आज भी राजवाड़ा स्थल इन्दौर नगर के हृदय की तरह देखने योग्य है। यहाँ देश-विदेश से यात्री दर्शन के लिए आते हैं।

अञ्जना :
स्मर न तस्याः धर्मनिष्ठाम्। स्वपुत्रस्य मालेरावस्य मरणानन्तरं नर्मदातीरम् इन्दौरसमीपस्थम् महेश्वरस्थानं राजधानी चकार।

अङ्केश :
पुनः पुनः स्मरतु। प्राचीनकालतः अवन्तिकानाम्नी प्रसिद्धा उज्जयिनी, माहिष्मतीनाम्ना प्रशस्तः महेश्वरञ्चेति स्थानद्वयं मालवक्षेत्रे अन्तर्भवति।

अञ्जना :
राज्ञा महिष्मता निर्मिता माहिष्मती अधुना ‘महेश्वरनगरमेव’ अस्ति। अनूपदेशस्य राज्ञः सहस्रर्जुनस्य राजधानी अपि आसीत्।

अनुवाद :
अंजना-उनकी धर्म निष्ठा को याद कर रहा हूँ। अपने पुत्र मालेराव की मृत्यु के बाद नर्मदा के किनारे इन्दौर के पास महेश्वर (नामक) स्थान को राजधानी बनाया।

अंकेश :
फिर से याद करो। प्राचीन काल से अवन्तिका नाम की प्रसिद्ध उज्जयिनी और माहिष्मती नाम से प्रशंसनीय महेश्वर ये दोनों स्थान मालव क्षेत्र के अन्तर्गत हैं।

अंजना :
राजा महिष्मत् के द्वारा निर्मित माहिष्मती अब ‘महेश्वर’ नगर ही है। अनूपदेश के राजा सहस्रार्जुन की राजधानी भी थी।

अङ्केश: :
अथ किम्! रामायण-महाभारतग्रन्थयोः बौद्धजैनधर्मग्रन्थेषु अपि महेश्वरस्य उल्लेखो वर्तते। कालिदासविरचिते. रघुवंशे माहिष्मती-वर्णनमस्ति। आदिशङ्करमण्डनमिश्रयोः मध्ये शास्त्रार्थचर्चा महेश्वरस्थाने एव अभवत्, एतदेव पुण्यक्षेत्रम् अहिल्यायाः राजधानी च अभवत्।

अञ्जना :
अहिल्याबाई धीरा, शासनप्रवीणा च आसीत् इति पठितवती।

अङ्केश: :
आम्! आम्, सत्यं खल। तस्याः शासनव्यवस्था, अर्थनीतिः, रक्षानीतिः, विद्याप्रीतिः च विशिष्टा इति ज्ञायते।

MP Board Solutions

अनुवाद :
अंकेश :
और क्या! रामायण महाभारत ग्रन्थों में और बौद्ध जैन धर्म ग्रन्थों में भी महेश्वर का उल्लेख है। कालिदास के द्वारा रचित रघुवंश (महाकाव्य) में माहिष्मती का वर्णन है। आदि शंकराचार्य और मण्डनमिश्र के बीच शास्त्रार्थ चर्चा महेश्वर स्थान पर ही हुई और यही पुण्यक्षेत्र अहिल्या की राजधानी हुई।

अंजना :
अहिल्याबाई धीरे और शासन में प्रवीण थीं ऐसा पढ़ा है।

अंकेश :
हाँ! हाँ! निश्चय ही सत्य है। उनकी शासन व्यवस्था, अर्थनीति, रक्षानीति और विद्या के प्रति प्रेम अद्वितीय था, ऐसा जाना जाता है।

अञ्जना :
अहो भाग्यम् मालवक्षेत्रस्य। जयतु कीर्तिशेषा अहिल्याबाई।

अङ्केश: :
जयतु, जयतु लोकमाता अहिल्याबाई।

उभौ :
सर्वंसहा जितक्रोधाऽहिल्याबाईति कीर्तिता।
धर्मार्थकाममोक्षेषु निरता राजते सदा॥

अनुवाद :
अंजना :
ओह! मालव क्षेत्र का भाग्य। केवल यश के रूप में जीने वाली अहिल्याबाई की जय हो।

अंकेश :
लोकमाता अहिल्याबाई की जय हो, जय हो।

दोनों :
धरती क्रोध को जीतने वाली अहिल्याबाई से प्रसिद्ध हुई। जो धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष में सदा लगी हुई सुशोभित होती हैं।

देवी अहिल्या शब्दार्थाः

प्रजावत्सल्यम् = प्रजा प्रेम। दम्पती = पति और पत्नी। पञ्चविंशत्युत्तरसप्तदश = 1725, (पंचविंशति = 25, उत्तरे = आगे, सप्तदश = 17)। एकत्रिंश=31 अलभत = पाया/प्राप्त किया। सर्वस्वम् = सब कुछ। बहुमुखीप्रतिभासम्पन्नम् = बहुत प्रकार की प्रतिभा से सम्पन्न। विशिष्टा = अद्वितीय, विशिष्ट। कीर्तिशेषा = केवल यश के रूप में जाने वाली। सहा = धरती। जितक्रोधा= क्रोध को जीतने वाली। धर्मार्थकाममोक्षेषु = धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष में। चतुर्विधपुरुषार्थाः = चत्वारः धर्मः, अर्थः, कामः, मोक्षश्च।