MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय

MP Board Class 10th Science Chapter 7 पाठान्तर्गत प्रश्नोत्तर

प्रश्न श्रृंखला-1 # पृष्ठ संख्या 132

प्रश्न 1.
प्रतिवर्ती क्रिया तथा टहलने के बीच क्या अन्तर है?
उत्तर:
प्रतिवर्ती क्रिया एक अनैच्छिक क्रिया है जो मेरुरज्जु द्वारा नियन्त्रित होती है, जबकि टहलना एक ऐच्छिक क्रिया है जो मस्तिष्क द्वारा नियन्त्रित होती है।

प्रश्न 2.
दो तन्त्रिका कोशिकाओं (न्यूरॉन) के मध्य अन्तर्ग्रथन (सिनेप्स) में क्या होता है?
उत्तर:
एक तन्त्रिका के तन्त्रिकाक्ष (एक्सॉन) से होता हुआ विद्युत् आवेग कुछ रसायनों का विमोचन करता है जो न्यूरॉन के मध्य रिक्त स्थान अन्तर्ग्रथन (सिनेप्स) को पार करके अगली तन्त्रिका कोशिका की द्रुमिका में इसी तरह का विद्युत् आवेग पैदा करता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
मस्तिष्क का कौन-सा भाग शरीर की स्थिति तथा संतुलन का अनुरक्षण करता है?
उत्तर:
पश्च मस्तिष्क में स्थित भाग अनुमस्तिष्क शरीर की स्थिति तथा सन्तुलन का अनुरक्षण करता है।

प्रश्न 4.
हम एक अगरबत्ती की गंध का पता कैसे लगाते हैं?
उत्तर:
जब अगरबत्ती की गंध हमारी नासिका में पहुँचती है तो वहाँ उपस्थित न्यूरॉन की दुमिका में विद्युत् आवेग पैदा हो जाता है जो एक तन्त्रिका कोशिका से दूसरी तन्त्रिका कोशिका में होता हुआ अग्र मस्तिष्क के अनुभाग घ्राणपिण्ड में पहुँचता है। तब हमको अगरबत्ती की गंध का पता चलता है।

प्रश्न 5.
प्रतिवर्ती क्रिया में मस्तिष्क की क्या भूमिका है?
उत्तर:
प्रतिवर्ती क्रिया में मस्तिष्क की भूमिका-हृदय स्पंदन, श्वसन, पाचन आदि अनेक अनैच्छिक क्रियाएँ तथा पुतली का फैलना, सिकुड़ना, स्वादिष्ट भोजन को देखकर मुँह में पानी आना आदि अनैच्छिक प्रतिवर्ती क्रियाओं का नियंत्रण एवं नियमन मस्तिष्क द्वारा होता है।

प्रश्न शृंखला-2 # पृष्ठ संख्या 136

प्रश्न 1.
पादप हॉर्मोन क्या है?
उत्तर:
पादप हॉर्मोन:
“विशेष प्रकार के रासायनिक पदार्थ जो पादपों के विशिष्ट भागों या कोशिकाओं द्वारा स्रावित होते हैं और विशेष प्रकार की कोशिकाओं की क्रियाशीलता या कार्यशीलता को प्रभावित करते हैं तथा विविध क्रियाओं का नियन्त्रण एवं समन्वय करते हैं, पादप हॉर्मोन्स कहलाते हैं।”

प्रश्न 2.
छुई-मुई पादप की पत्तियों की गति, प्रकाश की ओर प्ररोह की गति से किस प्रकार भिन्न है?
उत्तर:
छुई-मुई पादप की पत्तियों की गति वृद्धि मुक्त होती है। इसका वृद्धि से कोई लेना-देना नहीं, जबकि प्रकाश की ओर प्ररोह की गति वृद्धिपरक होती है अर्थात् वृद्धि के कारण होती है।

प्रश्न 3.
एक पादप हॉर्मोन का उदाहरण दीजिए जो वृद्धि को बढ़ाता है।
उत्तर:
ऑक्सिन एक वृद्धि को बढ़ाने वाला पादप हॉर्मोन है।

प्रश्न 4.
किसी सहारे के चारों ओर एक प्रतान की वृद्धि में ऑक्सिन किस प्रकार सहायक है?
उत्तर:
जब कोई प्रतान किसी सहारे का सहारा लेता है उसका झुकाव जिस ओर होता है उसके विपरीत दिशा में ऑक्सिन चला जाता है और उस ओर की कोशिकाओं को लम्बाई में वृद्धि के लिए उद्दीपित करता है तो प्रतान का तना वहीं से मुड़कर जाता है। यही प्रक्रिया निरन्तर चलती रहती है और प्रतान उस सहारे के चारों ओर वृद्धि करता रहता है। इस प्रकार किसी सहारे के चारों ओर एक प्रतान की वृद्धि में ऑक्सिन सहायक होता है।

प्रश्न 5.
जलानुवर्तन दर्शाने के लिए एक प्रयोग की अभिकल्पना कीजिए।
उत्तर:
जलानुवर्तन के प्रदर्शन हेतु प्रयोग-एक बड़ा आयताकार बर्तन लेकर उसमें कुछ मिट्टी तथा लकड़ी का बुरादा भरकर एक सिरे पर एक छोटा पौधा लगा दीजिए तथा दूसरे सिरे पर मिट्टी में थोड़ा पानी डालिए। इस उपकरण को कुछ दिन सूर्य के प्रकाश में रखा रहने दीजिए। कुछ दिन बाद पौधे को निकालिए तो आप देखेंगे कि जड़ें उस ओर को मुड़ी हुई हैं जिस ओर बर्तन में पानी था। यह प्रयोग जलानुवर्तन का प्रदर्शन करता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 1

प्रश्न श्रृंखला-3 # पृष्ठ संख्या 138

प्रश्न 1.
जन्तुओं में रासायनिक समन्वय कैसे होता है?
उत्तर:
जन्तुओं में रासायनिक समन्वय विशिष्ट रासायनिक पदार्थ हॉर्मोन्स द्वारा होता है जो जन्तुओं की विशिष्ट एवं विविध ग्रंथियों या अंगों में स्रावित होते हैं।

प्रश्न 2.
आयोडीन युक्त नमक के उपयोग की सलाह क्यों दी जाती है?
उत्तर:
अवटु ग्रंथि (थायरॉइड ग्रन्थि) को थायरॉक्सिन हॉर्मोन बनाने के लिए आयोडीन आवश्यक है। भोजन में आयोडीन की कमी से गॉयटर रोग से ग्रसित होने की सम्भावना बढ़ जाती है। इस बीमारी से बचाव के लिए हमें आयोडीन युक्त नमक के उपयोग की सलाह दी जाती है।

प्रश्न 3.
जब ऐड्रीनेलिन रुधिर में स्रावित होती है, तो हमारे शरीर में क्या अनुक्रिया होती है?
उत्तर:
ऐड्रीनेलिन हृदय सहित लक्ष्य अंगों या विशिष्ट ऊतकों को प्रभावित करता है। इससे हृदय की धड़कन बढ़ जाती है, श्वसन की दर बढ़ जाती है, पाचन तन्त्र एवं त्वचा में रुधिर की आपूर्ति कम हो जाती है, धमनियों के आस-पास की पेशियाँ सिकुड़ जाती हैं, रुधिर की दिशा कंकाल पेशियों की ओर हो जाती है। ये सभी अनुक्रियाएँ मिलकर शरीर को स्थिति में निपटने के लिए तैयार करती हैं।

प्रश्न 4.
मधुमेह के कुछ रोगियों की चिकित्सा इंसुलिन का इंजेक्शन देकर क्यों की जाती है?
उत्तर:
मधुमेह की बीमारी इन्सुलिन की कमी के कारण होती है। इसलिए मधुमेह के रोगियों की चिकित्सा इन्सुलिन का इन्जेक्शन देकर की जाती है ताकि इन्सुलिन की कमी को दूर किया जा सके।

MP Board Class 10th Science Chapter 7 पाठान्त अभ्यास के प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
निम्नलिखित में से कौन-सा पादप हॉर्मोन है?
(a) इंसुलिन।
(b) थायरॉक्सिन।
(c) एस्ट्रोजन।
(d) साइटोकाइनिन।
उत्तर:
(d) साइटोकाइनिन।

प्रश्न 2.
दो तन्त्रिका कोशिका के मध्य खाली स्थान को कहते हैं –
(a) द्रुमिका।
(b) सिनेप्स।
(c) एक्सॉन।
(d) आवेग।
उत्तर:
(b) सिनेप्स।

प्रश्न 3.
मस्तिष्क उत्तरदायी है –
(a) सोचने के लिए।
(b) हृदय स्पन्दन के लिए।
(c) शरीर का संतुलन बनाने के लिए।
(d) उपर्युक्त सभी।
उत्तर:
(d) उपर्युक्त सभी।

प्रश्न 4.
हमारे शरीर में ग्राही का क्या कार्य है? ऐसी स्थिति पर विचार कीजिए जहाँ ग्राही उचित प्रकार से कार्य नहीं कर रहे हों। क्या समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं?
उत्तर:
हमारे शरीर में ग्राही हमारे पर्यावरण से सभी सूचनाओं का संग्रह हमारी ज्ञानेन्द्रियों की सहायता से करते हैं। अगर ग्राही उचित प्रकार से कार्य नहीं कर रहे हैं तो अनेक समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं; जैसे-हमको गंध का आभास नहीं होगा, स्वाद का पता नहीं चलेगा, हम आवाज नहीं सुन सकेंगे, हम कुछ देख नहीं सकेंगे या हमको स्पर्श में कठोरता या कोमलता, ठण्ड या गर्मी आदि का अनुभव नहीं होगा।

MP Board Solutions

प्रश्न 5.
एक तन्त्रिका कोशिका (न्यूरॉन) की संरचना बनाइए तथा इसके कार्यों का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
तन्त्रिका कोशिका की संरचना –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 2
तन्त्रिका कोशिका (न्यूरॉन) के कार्य –

  1. बाह्य वातावरण से प्राप्त प्रेरणाओं या संवेदनाओं को विद्युत् आवेगों में बदलना।
  2. इन विद्युत् आवेगों को तन्त्रिका तन्त्र के प्रमुख अंगों मस्तिष्क या मेरुरज्जु के विभिन्न भागों तक पहुँचाना।
  3. मस्तिष्क एवं मेरुरज्जु से प्राप्त आदेशों को सम्बन्धित अंगों तक पहुँचाना।
  4. सजीवों के शरीर के आन्तरिक वातावरण में विभिन्न अंगों के बीच समन्वय स्थापित करना।

प्रश्न 6.
पादप में प्रकाशानुवर्तन किस प्रकार होता है?
उत्तर:
पादप के प्ररोह के अग्र भाग (टिप) में एक पादप हॉर्मोन ऑक्सिन संश्लेषित होता है जो कोशिकाओं की लम्बाई में वृद्धि में सहायक होता है। जब पादप पर एक ओर से प्रकाश आ रहा है तब ऑक्सिन विपरीत होकर प्ररोह के छाया वाले भाग में आ जाता है। प्ररोह की प्रकाश से दूर वाली साइड में ऑक्सिन का सान्द्रण कोशिकाओं को लम्बाई में वृद्धि के लिए उद्दीपित करता है। अतः पादप प्रकाश की ओर मुड़ता हुआ दिखाई देता है। इस प्रकार पादप में प्रकाशानुवर्तन होता है।

प्रश्न 7.
मेरुरज्जु आघात में किन संकेतों के आने में व्यवधान होगा?
उत्तर:
मेरुरज्जु आघात में बाहरी आघातों, दुर्घटनाओं, आक्रमणों एवं विभिन्न प्रकार के खतरों से सम्बन्धित संकेतों के आने में व्यवधान होगा।

प्रश्न 8.
पादप में रासायनिक समन्वय किस प्रकार होता है?
उत्तर:
पादप में रासायनिक समन्वय पादप हॉर्मोन्स के स्रावण के द्वारा होता है।

प्रश्न 9.
एक जीव में नियन्त्रण एवं समन्वय की क्या आवश्यकता है?
उत्तर:
जीव में नियन्त्रण एवं समन्वय की आवश्यकता:
एक जीव की विभिन्न क्रियाकलापों के सुचारु रूप से संचालन एवं जीव के अनुरक्षण के लिए नियन्त्रण एवं समन्वय अति आवश्यक है।

प्रश्न 10.
अनैच्छिक क्रियाएँ तथा प्रतिवर्ती क्रियाएँ एक-दूसरे से किस प्रकार भिन्न हैं?
उत्तर:
सभी अनैच्छिक क्रियाएँ प्रतिवर्ती क्रियाएँ नहीं होतीं अपितु सभी प्रतिवर्ती क्रियाएँ अनैच्छिक क्रियाएँ होती हैं। उदाहरणार्थ हृदय की धड़कन, पाचन, श्वसन अदि अनैच्छिक क्रियाएँ हैं लेकिन प्रतिवर्ती क्रियाएँ नहीं हैं।

प्रश्न 11.
जन्तुओं में नियन्त्रण एवं समन्वय के लिए तन्त्रिका तथा हॉर्मोन क्रियाविधि की तुलना तथा व्यतिरेक (Contrast) कीजिए।
उत्तर:
जन्तुओं में नियन्त्रण एवं समन्वय का कार्य तन्त्रिका तन्त्र तथा हॉर्मोन दोनों द्वारा किया जाता है। तन्त्रिका तन्त्रं हमारी ज्ञानेन्द्रियों द्वारा सूचना प्राप्त करता है तथा हमारी पेशियों द्वारा क्रिया करता है, जबकि हॉर्मोन रसायनों के कम या अधिक स्रावण से क्रियाएँ नियमित होती हैं तथा हॉर्मोन्स जीव के एक भाग में उत्पन्न होते हैं तथा दूसरे भाग में इच्छित प्रभाव पाने के लिए गति करते हैं।

तन्त्रिका तन्त्र में मस्तिष्क, मेरुरज्जु एवं तन्त्रिका कोशिकाएँ क्रियाशील होती हैं, जबकि हॉर्मोन्स का उत्पादन विशेष ग्रंथियों में होता है। अन्य किसी अंग की आवश्यकता नहीं होती। हॉर्मोन की क्रिया को पुनर्भरण क्रियाविधि नियन्त्रित करती है।

तन्त्रिका तन्त्र में विद्युत् आवेगों का संवहन होता है, जबकि हॉर्मोन्स नियन्त्रण में विशिष्ट कार्बनिक यौगिक हॉर्मोन्स का स्रावण एवं संवहन होता है।

तन्त्रिका तन्त्र सभी ऐच्छिक, अनैच्छिक एवं प्रतिवर्ती क्रियाओं का नियन्त्रण एवं समन्वय करता है, जबकि हॉर्मोन्स ऐसा नहीं करते।

प्रश्न 12.
छुई-मुई पादप में गति तथा हमारी टाँग में होने वाली गति के तरीके में क्या अन्तर है?
उत्तर:
छुई-मुई पादप की गति में कोई तन्त्रिका या अन्य पेशी ऊतक भाग नहीं लेता, जबकि हमारी टाँग की गति में तन्त्रिका ऊतक तथा पेशी ऊतक भाग लेता है।

पादप कोशिकाओं में जन्तु पेशी कोशिकाओं की तरह विशिष्टीकृत प्रोटीन तो नहीं होती अपितु वे जल की मात्रा में परिवर्तन करके अपनी आकृति बदल लेती है।

MP Board Class 10th Science Chapter 7 परीक्षोपयोगी अतिरिक्त प्रश्नोत्तर

MP Board Class 10th Science Chapter 7 वस्तुनिष्ठ प्रश्न

बहुविकल्पीय प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्न कथनों में कौन-सा कथन ज्ञानेन्द्रियों के सन्दर्भ में सत्य है –
(a) स्वादेन्द्रिय स्वाद का संसूचक है, घ्राणेन्द्रिय गंध का।
(b) स्वादेन्द्रिय एवं घ्राणेन्द्रिय दोनों गंध के संसूचक हैं।
(c) दृश्येन्द्रिय गंध का संसूचक है एवं घ्राणेन्द्रिय स्वाद का।
(d) घ्राणेन्द्रिय स्वाद का संसूचक है एवं स्वादेन्द्रिय गंध का।
उत्तर:
(a) स्वादेन्द्रिय स्वाद का संसूचक है, घ्राणेन्द्रिय गंध का।

प्रश्न 2.
इलेक्ट्रिकल आवेगों का गमन तन्त्रिका कोशिकाओं में होता है –
(a) डेण्ड्राइट → एक्सॉन → एक्सॉन सिरा → कोशिकाकाय।
(b) कोशिकाकाय → डेण्ड्राइट → एक्सॉन → एक्सॉन सिरा।
(c) डेण्ड्राइट → कोशिकाकाय → एक्सॉन → एक्सॉन सिरा।
(d) एक्सॉन सिरा → एक्सॉन → कोशिकाकाय → डेण्ड्राइट।
उत्तर:
(c) डेण्ड्राइट → कोशिकाकाय → एक्सॉन → एक्सॉन सिरा।

प्रश्न 3.
सिनेप्स में रासायनिक संकेत का संवहन होता है –
(a) एक न्यूरॉन के डेण्ड्राइट सिरे से दूसरे न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे तक।
(b) एक ही न्यूरॉन के एक्सॉन से कोशिकाकाय तक।
(c) एक ही न्यूरॉन के कोशिकाकाय से एक्सॉन सिरे तक।
(d) एक न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे से दूसरे न्यूरॉन के डेण्ड्राइट सिरे तक।
उत्तर:
(d) एक न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे से दूसरे न्यूरॉन के डेण्ड्राइट सिरे तक।

प्रश्न 4.
एक न्यूरॉन में इलेक्ट्रिकल संकेत का रासायनिक संकेत में परिवर्तन घटित होता है निम्न में –
(a) कोशिकाकाय।
(b) एक्सॉन सिरा।
(c) डेण्ड्राइट सिरा।
(d) एक्सॉन।
उत्तर:
(b) एक्सॉन सिरा।

प्रश्न 5.
प्रतिवर्ती चाप के अवयवों का सही क्रम है –
(a) ग्राही → पेशी → संवेदी न्यूरॉन → मोटर न्यूरॉन → मेरुरज्जु।
(b) ग्राही → मोटर न्यूरॉन → मेरुरज्जु → संवेदी न्यूरॉन → पेशी।
(c) ग्राही → मेरुरज्जु → संवेदी न्यूरॉन → मोटर न्यूरॉन → पेशी।
(d) ग्राही → संवेदी न्यूरॉन → मेरुरज्जु → मोटर न्यूरॉन → पेशी।
उत्तर:
(d) ग्राही → संवेदी न्यूरॉन → मेरुरज्जु → मोटर न्यूरॉन → पेशी।

प्रश्न 6.
शरीर का सन्तुलन निम्न द्वारा नियन्त्रित होता है –
(a) सेरीब्रम।
(b) सेरीबेलम।
(c) मेड्यूला।
(d) पोन्स।
उत्तर:
(b) सेरीबेलम।

प्रश्न 7.
मेरुरज्जु निकलती है निम्न से –
(a) सेरीब्रम।
(b) मेड्यूला।
(c) पोन्स।
(d) सेरीबेलम।
उत्तर:
(b) मेड्यूला।

प्रश्न 8.
प्रकाश की ओर प्ररोह की गति कहलाती है –
(a) गुरुत्वानुवर्तन।
(b) जलानुवर्तन।
(c) रसायनानुवर्तन।
(d) प्रकाशानुवर्तन।
उत्तर:
(d) प्रकाशानुवर्तन।

प्रश्न 9.
पौधों में ऐब्सिसिक अम्ल का मुख्य कार्य है –
(a) कोशिकाओं की लम्बाई में वृद्धि करना।
(b) कोशिका विभाजन को प्रोत्साहित करना।
(c) वृद्धि का अवरोधन करना।
(d) तने की वृद्धि को प्रोत्साहित करना।
उत्तर:
(d) तने की वृद्धि को प्रोत्साहित करना।

प्रश्न 10.
निम्नलिखित में से कौन पादप की वृद्धि से सम्बन्धित नहीं है?
(a) ऑक्सिन।
(b) जिबरेलिन।
(c) साइटोकाइनिन।
(d) ऐब्सिसिक अम्ल।
उत्तर:
(d) ऐब्सिसिक अम्ल।

प्रश्न 11.
किस हॉर्मोन के संश्लेषण के लिए आयोडीन आवश्यक है?
(a) एड्रीनेलिन।
(b) थायरॉक्सिन।
(c) ऑक्सिन।
(d) इन्सुलिन।
उत्तर:
(b) थायरॉक्सिन।

प्रश्न 12.
इन्सुलिन के सन्दर्भ में असत्य कथन चुनिए –
(a) इसका स्रावण पेंक्रियाज से होता है।
(b) यह शरीर की वृद्धि एवं विकास का नियमन करती है।
(c) यह रक्त शर्करा के स्तर का नियमन करती है।
(d) इन्सुलिन का अपर्याप्त स्रावण डायबिटीज का कारण होता है।
उत्तर:
(b) यह शरीर की वृद्धि एवं विकास का नियमन करती है।

प्रश्न 13.
निम्नलिखित में असंगत जोड़े को छाँटिए –
(a) ऐड्रीनेलिन-पिट्यूटरी ग्रंथि।
(b) टेस्टोस्टेरॉन-टेस्टीज।
(c) एस्ट्रोजन-ओवरी।
(d) थायरॉक्सिन-थायरॉइड ग्रन्थि।
उत्तर:
(a) ऐड्रीनेलिन-पिट्यूटरी ग्रंथि।

प्रश्न 14.
गार्ड कोशा के आकार में परिवर्तन होता है निम्नलिखित के कारण –
(a) प्रोटीन का कोशा में संघटन।
(b) कोशा का तापमान।
(c) कोशा में जल की मात्रा।
(d) कोशा में केन्द्रक की स्थिति।
उत्तर:
(c) कोशा में जल की मात्रा।

प्रश्न 15.
मटर के पौधों में तन्तुओं (टैण्ड्रिल) की वृद्धि निम्नलिखित के कारण होती है –
(a) प्रकाश का प्रभाव।
(b) गुरुत्व का प्रभाव।
(c) तन्तुओं की उन कोशिकाओं में तीव्र कोशिका विभाजन जो सहारे से दूर है।
(d) तन्तुओं की उन कोशिकाओं में तीव्र कोशिका विभाजन जो सहारे की सम्पर्क में है।
उत्तर:
(c) तन्तुओं की उन कोशिकाओं में तीव्र कोशिका विभाजन जो सहारे से दूर है।

प्रश्न 16.
पराग नलिका की अण्डाणु की ओर वृद्धि निम्न के कारण होती है –
(a) जलानुवर्तन।
(b) रसायनानुवर्तन।
(c) गुरुत्वानुवर्तन।
(d) प्रकाशानुवर्तन।
उत्तर:
(b) रसायनानुवर्तन।

प्रश्न 17.
सूरजमुखी पुष्प का सूर्य के मुखातिव होकर गति करना निम्न के कारण है –
(a) प्रकाशानुवर्तन।
(b) गुरुत्वानुवर्तन।
(c) रसायनानुवर्तन।
(d) जलानुवर्तन।
उत्तर:
(a) प्रकाशानुवर्तन।

MP Board Solutions

प्रश्न 18.
पकी हुई पत्तियों और फलों का वृक्षों से अलग होकर गिरना निम्न पदार्थ के कारण होता है –
(a) ऑक्सिन।
(b) जिबरेलिन।
(c) ऐब्सिसिक अम्ल।
(d) साइटोकाइनिन।
उत्तर:
(c) ऐब्सिसिक अम्ल।

प्रश्न 19.
संवेदी आवेगों के स्थानान्तरण या गमन के सन्दर्भ में कौन-सा कथन असत्य है?
(a) संवेदी आवेग गति करता है डेण्ड्राइड सिरे से एक्सॉन सिरे तक।
(b) डेण्ड्राइट सिरे पर संवेदी आवेग कुछ रसायन उत्पन्न करता है जो एक विद्युत् आवेग पैदा करता है दूसरे न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे पर।
(c) एक न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे पर उत्पन्न रसायन सिनेप्स को पार करके दूसरे न्यूरॉन के डेण्ड्राइट में वैसा ही विद्युत् आवेग पैदा करता है।
(d) एक न्यूरॉन विद्युत् आवेगों को केवल दूसरे न्यूरॉन को ही नहीं भेजता बल्कि पेशी एवं ग्रंथि कोशिकाओं को भी भेजता है।
उत्तर:
(b) डेण्ड्राइट सिरे पर संवेदी आवेग कुछ रसायन उत्पन्न करता है जो एक विद्युत् आवेग पैदा करता है दूसरे न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे पर।

प्रश्न 20.
अनैच्छिक क्रियाओं का शरीर में नियन्त्रण होता है निम्न में –
(a) अग्र मस्तिष्क में मेड्यूला
(b) मध्य मस्तिष्क में मेड्यूला।
(c) पश्च मस्तिष्क में मेड्यूला।
(d) मेरुरज्जु में मेड्यूला।
उत्तर:
(c) पश्च मस्तिष्क में मेड्यूला।

प्रश्न 21.
निम्न में कौन अनैच्छिक क्रिया नहीं है?
(a) उल्टी आना।
(b) लार आना।
(c) हृदय स्पन्दन।
(d) चबाना।
उत्तर:
(d) चबाना।

प्रश्न 22.
यदि एक व्यक्ति (महिला/पुरुष) तीव्र सर्दी जुकाम से पीड़ित है, तो वह –
(a) सेब एवं आइसक्रीम के स्वाद का नहीं अन्तर कर पाता।
(b) इत्र की गंध एवं अगरबत्ती की गंध में अन्तर नहीं कर पाता।
(c) हरे प्रकाश से लाल प्रकाश में अन्तर नहीं कर पाता।
(d) ठंडी वस्तु से गर्म वस्तु में अन्तर नहीं कर पाता।
उत्तर:
(b) इत्र की गंध एवं अगरबत्ती की गंध में अन्तर नहीं कर पाता।

प्रश्न 23.
थायरॉक्सिन के सन्दर्भ में कौन-सा कथन असत्य है?
(a) थायरॉक्सिन के संश्लेषण के लिए आयरन आवश्यक है।
(b) यह कार्बोहाइड्रेड, प्रोटीन एवं वसा के चयापचय का नियमन करता है।
(c) थायरॉक्सिन के संश्लेषण के लिए थायरॉइड को आयोडीन चाहिए।
(d) थायरॉक्सिन को थायरॉइड हॉर्मोन भी कहते हैं।
उत्तर:
(a) थायरॉक्सिन के संश्लेषण के लिए आयरन आवश्यक है।

प्रश्न 24.
बौनापन परिणाम है –
(a) थायरॉक्सिन का अत्यधिक स्रावण।
(b) वृद्धि हॉर्मोन का कम स्रावण।
(c) ऐड्रीनेलिन का कम स्रावण।
(d) वृद्धि हॉर्मोन का अत्यधिक स्रावण।
उत्तर:
(b) वृद्धि हॉर्मोन का कम स्रावण।

प्रश्न 25.
यौवनारम्भ के समय उससे सम्बन्धित शारीरिक परिवर्तनों का नाटकीय ढंग से अन्तर का कारण है निम्न का स्रावण –
(a) वृषण से एस्ट्रोजन एवं अण्डाशय से टेस्टोस्टेरॉन।
(b) ऐड्रीनल ग्रंथि में एस्ट्रोजन एवं पिट्यूटरी से टेस्टोस्टोरॉन।
(c) वृषण से टेस्टोस्टेरॉन एवं एस्ट्रोजन अण्डाशय से।
(d) थायरॉइड से टेस्टोस्टेरॉन एवं पिट्यूटरी ग्रंथि से एस्ट्रोजन।
उत्तर:
(c) वृषण से टेस्टोस्टेरॉन एवं एस्ट्रोजन अण्डाशय से।

प्रश्न 26.
एक डॉक्टर एक मरीज को इन्सुलिन इन्जेक्शन लेने की सलाह देता है, क्योंकि –
(a) उसका रक्तचाप कम है।
(b) उसका हृदय स्पन्दन धीमा है।
(c) वह घेघा (गॉयटर) से पीड़ित है।
(d) उसका रक्त शर्करा का स्तर ऊँचा है।
उत्तर:
(d) उसका रक्त शर्करा का स्तर ऊँचा है।

प्रश्न 27.
मनुष्य में पौरुष बढ़ाने वाला हॉर्मोन है –
(a) एस्ट्रोजन।
(b) टेस्टोस्टेरॉन।
(c) इन्सुलिन।
(d) वृद्धि-हॉर्मोन।
उत्तर:
(b) टेस्टोस्टेरॉन।

प्रश्न 28.
निम्न में कौन-सी अन्तःस्रावी ग्रंथि युग्म में नहीं है?
(a) ऐड्रीनल।
(b) वृषण।
(c) पिट्यूटरी।
(d) अण्डाशय।
उत्तर:
(c) पिट्यूटरी।

प्रश्न 29.
दो न्यूरॉन के बीच सन्धि कहलाती है –
(a) कोशिका संधि।
(b) तन्त्रिका पेशी संधि।
(c) उदासीन संधि।
(d) सिनेप्स।
उत्तर:
(d) सिनेप्स।

प्रश्न 30.
मानव में जीवन पद्धतियों का नियन्त्रण एवं नियमन निम्न के द्वारा होता है –
(a) जनन एवं अन्तःस्रावी तन्त्र।
(b) श्वसन एवं तन्त्रिका तन्त्र।
(c) अन्तःस्रावी एवं पाचन तन्त्र।
(d) तन्त्रिका एवं अन्तःस्रावी तन्त्र।
उत्तर:
(d) तन्त्रिका एवं अन्तःस्रावी तन्त्र।

रिक्त स्थानों की पूर्ति

  1. हमारे शरीर में नियन्त्रण एवं समन्वय का कार्य ………… तथा ………… द्वारा होता है।
  2. तन्त्रिका तन्त्र हमारी …………. द्वारा सूचना प्राप्त करता है तथा हमारी ………….. द्वारा क्रिया करता है।
  3. तन्त्रिका तन्त्र की प्रमुख इकाई ………… होता है।
  4. रासायनिक समन्वय ………….. द्वारा होता है।
  5. पौधों में केवल ………….. समन्वय होता है।

उत्तर:

  1. तन्त्रिका तन्त्र, हॉर्मोन।
  2. ज्ञानेन्द्रियों, पेशियों।
  3. न्यूरॉन।
  4. हॉर्मोन।
  5. रासायनिक।

जोड़ी बनाइए
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 3
उत्तर:

  1. → (c)
  2. → (d)
  3. → (e)
  4. → (f)
  5. → (b)
  6. → (a)

सत्य/असत्य कथन

  1. आकस्मिक पर्यावरणीय संवेदना की तुरन्त प्रतिक्रिया प्रतिवर्ती क्रिया कहलाती है।
  2. संवेदी न्यूरॉन मेरुरज्जु से आवेग को पेशियाँ तक पहुँचाती है।
  3. मोटर न्यूरॉन ग्राही अंगों से आवेग को मेरुरज्जु तक पहुँचाते हैं।
  4. संवेदी आवेगों के गमन का पथ ग्राही से मेरुरज्जु होते हुए पेशियों या ग्रंथियों तक का प्रतिवर्ती चाप कहलाता है।
  5. मस्तिष्क का सोचने-समझने वाला भाग पश्च मस्तिष्क है।
  6. सुनने, सूंघने, दृष्टि एवं याददास्त के केन्द्र अग्र मस्तिष्क में स्थित हैं।
  7. लार आना, उल्टी आना, रक्त चाप आदि अनैच्छिक क्रियाएँ पश्च मस्तिष्क के मैड्यूला द्वारा नियन्त्रित होती है।
  8. अनुमस्तिष्क हमारे शरीर के सन्तुलन को नियन्त्रित नहीं करता है।

उत्तर:

  1. सत्य।
  2. असत्य।
  3. असत्य।
  4. सत्य।
  5. असत्य।
  6. सत्य।
  7. सत्य।
  8. असत्य।

एक शब्द/वाक्य में उत्तर

  1. पौधों में नियन्त्रण एवं समन्वय किस तन्त्र द्वारा होता है?
  2. कशेरुकी जन्तुओं में किन तन्त्रों द्वारा नियन्त्रण एवं समन्वय होता है?
  3. किस हॉर्मोन की कमी से मधुमेह का रोग होता है?
  4. मनुष्य में आयोडीन की कमी से कौन-सा रोग होता है? (2019)
  5. अग्न्याशय में किस हॉर्मोन का स्रावण होता है?

उत्तर:

  1. अन्तःस्रावी तन्त्र।
  2. तन्त्रिका तन्त्र एवं अन्तःस्रावी तन्त्र।
  3. इन्सुलिन।
  4. घेघा।
  5. इन्सुलिन।

MP Board Class 10th Science Chapter 7 अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
तन्त्रिका तन्त्र से क्या समझते हो?
उत्तर:
तन्त्रिका तन्त्र:
“प्राणियों में समझने, सोचने और किसी भी चीज को याद रखने के साथ-साथ शरीर के विभिन्न अंगों के कार्यों में समन्वय एवं सन्तुलन स्थापित करके, नियन्त्रण बनाए रखने वाला तन्त्र तन्त्रिका तन्त्र कहलाता है।”

प्रश्न 2.
तन्त्रिका तन्त्र को कितने भागों में विभाजित किया जाता है? उनके नाम लिखिए।
उत्तर:
तन्त्रिका तन्त्र के मुख्य भाग-तन्त्रिका तंत्र के निम्न मुख्य तीन भाग हैं –

  1. केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र।
  2. परिधीय तन्त्रिका तन्त्र।
  3. स्वायत्त तन्त्रिका तन्त्र।

प्रश्न 3.
मस्तिष्क क्या होता है?
उत्तर:
मस्तिष्क: “केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र का वह भाग (अंग) जो कपालगुहा में सुरक्षित रहता है, मस्तिष्क कहलाता है।”

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
सुषुम्ना या मेरुरज्जु से क्या समझते हो?
उत्तर:
कशेरुक दण्ड की गुहिका में स्थित सुरक्षित केन्द्रीय तन्त्र का वह भाग (अंग) जो संयोजी ऊतकों से बनी तीन झिल्लियों से ढकी संरचना है, सुषुम्ना या मेरुरज्जु कहलाती है।”

प्रश्न 5.
हॉर्मोन्स से क्या समझते हो?
उत्तर:
हॉर्मोन्स:
“विशेष प्रकार के रासायनिक पदार्थ जो विशिष्ट भागों या कोशिकाओं द्वारा स्रावित होते हैं और विशेष प्रकार की कोशिकाओं की क्रियाशीलता या कार्यशीलता को प्रभावित करते हैं तथा विविध क्रियाओं का नियन्त्रण एवं समन्वय करते हैं, हॉर्मोन्स कहलाते हैं।”

प्रश्न 6.
अन्तःस्रावी ग्रंथियाँ क्या होती हैं?
उत्तर:
अन्तःस्रावी ग्रंथियाँ:
“शरीर में पायी जाने वाली विशेष प्रकार की ग्रंथियाँ जिनसे हॉर्मोन्स का स्रावण होता है, अन्तःस्रावी ग्रंथियाँ कहलाती हैं।”

प्रश्न 7.
न्यूरॉन किसे कहते हैं?
उत्तर:
न्यूरॉन या तन्त्रिका कोशा:
“तन्त्रिका तन्त्र की सूक्ष्मतम इकाई कोशा अथवा ऊतक तन्त्रिका कोशा या तन्त्रिका ऊतक या न्यूरॉन कहलाती है।”

प्रश्न 8.
प्रत्यावर्ती (प्रतिवर्ती) क्रिया किसे कहते हैं?
उत्तर:
प्रत्यावर्ती (प्रतिवर्ती) क्रिया:
“वे अनैच्छिक क्रियाएँ जो किसी प्रेरणा या उद्दीपन या फिर किसी प्रतिक्रिया के रूप में होती है। प्रत्यावर्ती (प्रतिवी) क्रियाएँ कहलाती है।”

प्रश्न 9.
प्रतिवर्ती (प्रत्यावर्ती) चाप से क्या समझते हैं?
उत्तर:
प्रतिवर्ती (प्रत्यावर्ती) चाप:
“तन्त्रिकीय तत्व जो प्रतिवर्ती क्रिया को संचालित करते हैं तथा एक चाप बनाते हैं जिसे प्रत्यावर्ती (प्रतिवर्ती) चाप कहते हैं।

प्रश्न 10.
सुषुम्ना (मेरुरज्जु) के दो प्रमुख कार्य लिखिए।
उत्तर:
सुषुम्ना (मेरुरज्जु) के प्रमुख कार्य:

  1. मस्तिष्क से आने वाली प्रेरणाओं या संवेदनाओं का संवहन करना।
  2. प्रतिवर्ती क्रियाओं का समन्वय एवं नियन्त्रण करना।

प्रश्न 11.
अनुवर्तन गति किसे कहते हैं? उदाहरण देकर समझाइए।
उत्तर:
अनुवर्तन गति:
“पर्यावरणीय उद्दीपन के कारण पेड़-पौधे दिशिक गतियाँ करते हैं, जिन्हें अनुवर्तन गति कहते हैं।” ये गतियाँ उद्दीपन की दिशा में भी हो सकती हैं अथवा विपरीत ।

उदाहरण:
पौधों का प्ररोह तन्त्र प्रकाश की ओर एवं जड़ तन्त्र अन्धकार की ओर गति करता है।

प्रश्न 12.
प्रकाशानुवर्तन किसे कहते हैं?
उत्तर:
प्रकाशानुवर्तन:
“पौधों का प्ररोह तन्त्र प्रकाश की ओर तथा जड़ तन्त्र अन्धकार की ओर अर्थात् प्रकाश के विपरीत गति करता है। प्रकाश के कारण होने वाले इस अनुवर्तन गति को प्रकाशानुवर्तन कहते हैं।”

प्रश्न 13.
जलानुवर्तन से क्या समझते हो?
उत्तर:
जलानुवर्तन:
“पौधों का जड़ तन्त्र जल की ओर गति करता है। जल के उद्दीपन के कारण होने वाली यह अनुवर्तन गति जलानुवर्तन कहलाती है।”

प्रश्न 14.
गुरुत्वानुवर्तन से क्या समझते हो?
उत्तर:
गुरुत्वानुवर्तन:
“पौधे का प्ररोह तन्त्र गुरुत्व के विपरीत ऊपर की ओर गति करता है तथा जड़ तन्त्र गुरुत्व की ओर अर्थात् नीचे की ओर गति करता है। गुरुत्वीय उद्दीपन के कारण होने वाली यह अनुवर्तन गति गुरुत्वानुवर्तन कहलाती है।

प्रश्न 15.
क्या होगा जब हमारे खाने में आयोडीन की कमी हो जाएगी?
उत्तर:

  1. आयोडीन की भोजन में कमी के कारण थायरॉइड द्वारा थायरॉक्सिन हॉर्मोन्स का स्रावण कम होगा जिसके फलस्वरूप कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन एवं वसा की चयापचय अभिक्रिया बाधित होगी।
  2. इसके अतिरिक्त आयोडीन की कमी से व्यक्ति घेघा रोग से पीड़ित हो सकता है।

प्रश्न 16.
दो न्यूरॉन के मध्य सिनेप्स में क्या घटित होता है?
उत्तर:
जब एक इलेक्ट्रिक आवेग एक न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे पर पहुँचता है तो यह कुछ रासायनिक पदार्थों का विमोचन करता है जो सिनेप्स को पार करके दूसरे न्यूरॉन के डेण्ड्राइट सिरे की ओर बढ़ता है और अन्य इलेक्ट्रिक आवेग उत्पन्न करता है।

MP Board Class 10th Science Chapter 7 लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्नलिखित आकृति भाग (a), (b), (c) एवं (d) का नामांकन कीजिए तथा इलेक्ट्रिकल संकेत (आवेग) की दिशा प्रदर्शित कीजिए।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 4
उत्तर:
(a) संवेदी न्यूरॉन।
(b) मेरुरज्जु (CNS)।
(c) मोटर न्यूरॉन।
(d) भुजा की पेशियाँ।

इलेक्ट्रिकल संकेत (आवेग) की दिशा –
ग्राही – संवेदी न्यूरॉन – मेरुरज्जु – मोटर न्यूरॉन – शी।

प्रश्न 2.
निम्न के लिए जबावदेय हॉर्मोन्स के नाम लिखिए –

  1. कोशिकाओं की लम्बाई में वृद्धि करना।
  2. तने की वृद्धि करना।
  3. कोशिका विभाजन को प्रोत्साहन देना।
  4. परिपक्व पत्तियों का गिरना (पतझड़)।

उत्तर:

  1. ऑक्सिन।
  2. जिबरेलिन।
  3. साइटोकाइनिन।
  4. ऐब्सिसिक अम्ल।

प्रश्न 3.
अन्तःस्रावी ग्रंथियों को संलग्न चित्र में नामांकित कीजिए।
उत्तर:
(a) पिनियल ग्रंथि।
(b) पिट्यूटरी ग्रंथि।
(c) थायरॉइड ग्रंथि।
(d) थायमस ग्रंथि।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 5

प्रश्न 4.
संलग्न चित्र के (a), (b) एवं (c) में कौन अधिक सही है और क्यों?
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 6
उत्तर:
(a) अधिक सत्य है, क्योंकि गुरुत्वानुवर्तन के कारण पौधे का प्ररोह तन्त्र गुरुत्व के विपरीत ऊपर की ओर गति करता है, जबकि जड़ तन्त्र गुरुत्व की ओर नीचे की तरफ गति करता है।

प्रश्न 5.
संलग्न चित्र में भाग (a), (b), (c) एवं (d) को नामांकित कीजिए।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 7
उत्तर:
(a) डेण्ड्राइट
(b) कोशिकाकाय
(c) एक्सॉन,
(d) तन्त्रिका (न्यूरॉन) सिरा या एक्सॉन सिरा।

प्रश्न 6.
प्रतिवर्ती चाप का नामांकित चित्र बनाइए।
उत्तर:
प्रतिवर्ती चाप का नामांकित चित्र –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 8

प्रश्न 7.
प्रतिवर्ती क्रियाविधि का सचित्र वर्णन कीजिए।
उत्तर:
प्रतिवर्ती क्रियाविधि (Process of Reflex Action):
प्रतिवर्ती क्रिया में मेरुरज्जु (Spinal cord) भाग लेती है जबकि मस्तिष्क का इसमें कोई कार्य नहीं होता। मनुष्य की इच्छा के बिना ये क्रियाएँ बाहरी उद्दीपनों के फलस्वरूप होती हैं। जैसे कि जब हम किसी गर्म वस्तु को छूते हैं तो एकाएक अपना हाथ हटा लेते हैं। इस प्रकार संवेदनाओं को संवेदी अंगों (Sensory organs) से संवेदी तन्त्रिकाओं (Sensory neurons) के माध्यम से मेरुरज्जु तक पहुँचा दिया जाता है।

यह संवेदना या प्रेरणा सुषुम्ना में पाए जाने वाले संवेदी तन्तुओं में से होकर पृष्ठीय मूल के द्वारा सुषुम्ना तक पहुँचती हैं तथा सायटॉन के एक्सॉन सुषुम्ना के धूसर द्रव्य में इन्हें ले जाते हैं। धूसर द्रव्य में से प्रेरणा या संवेदना चालक तन्त्रिका में पहुँचती है। चालक तन्त्रिका सुषुम्ना तन्त्रिका के आधारीय मूल से निकल कर पेशियों में जाकर विभाजित हो जाती है। पेशी प्रेरणा या उद्दीपन के अनुसार कार्य करती है, अतः हाथ उठ जाता है।

प्रश्न 8.
निम्नलिखित के उत्तर दीजिए –

  1. यौवनारम्भ के समय महिलाओं में जो शारीरिक परिवर्तन देखने को मिलते हैं उसके लिए कौन-सा हॉर्मोन उत्तरदायी है ?
  2. किस हॉर्मोन की कमी से शरीर बौना रह जाता है?
  3. किस हॉर्मोन की कमी के कारण रक्त का शर्करा का स्तर बढ़ जाता है?
  4. किस हॉर्मोन के संश्लेषण के लिए आयोडीन आवश्यक है?

उत्तर:

  1. ऑस्टेरोजिन।
  2. वृद्धि हॉर्मोन।
  3. इन्सुलिन।
  4. थायरॉक्सिन।

MP Board Solutions

प्रश्न 9.
निम्नलिखित के उत्तर दीजिए –

  1. मस्तिष्क से सम्बन्धित अन्तःस्रावी ग्रंथि का नाम लिखिए।
  2. कौन-सी ग्रंथि पाचक एन्जाइम एवं हॉर्मोन्स का स्रावण करते हैं?
  3. वृक्क से सम्बन्धित अन्तःस्रावी ग्रंथि का नाम लिखिए।
  4. कौन-सी अन्तःस्रावी ग्रंथि पुरुषों में मिलती है, लेकिन महिलाओं में नहीं।

उत्तर:

  1. पिट्यूटरी।
  2. पैंक्रियाज।
  3. ऐड्रीनल।
  4. वृषण।

प्रश्न 10.
कौन-से घटक केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र एवं परिधीय तन्त्रिका तन्त्र का निर्माण करते हैं? केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र के घटक अवयवों की सुरक्षा कैसे होती है?
उत्तर:
मस्तिष्क एवं सुषुम्ना (मेरुरज्जु) केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र का निर्माण करते हैं तथा परिधीय तन्त्रिका तन्त्र में तन्त्रिका कोशिकाओं का जाल बिछा रहता है।

मस्तिष्क की सुरक्षा कपाल गुहा से होती है जो खोपड़ी की हड्डियों से बना एक मजबूत खोल होता है जिसमें हृदय स्थित होता है तथा सुरक्षित रहता है।

सुषुम्ना (मेरुरज्जु) मजबूत हड्डियों से बनी कशेरुक दण्ड की गुहिका में सुरक्षित होता है। इसके अतिरिक्त इन दोनों अंगों की बाह्य आघातों से सुरक्षा इनमें उपस्थित मस्तिष्क-सुषुम्ना द्रव्य के द्वारा भी होती है।

प्रश्न 11.
जन्तुओं में रासायनिक नियन्त्रण एवं समन्वय कैसे होता है?
उत्तर:
जन्तुओं के शरीर में उपस्थित विभिन्न अन्तःस्रावी ग्रंथियाँ विभिन्न प्रकार के हॉर्मोनों का स्रावण करती हैं। ये हॉर्मोन रक्त में मिल जाते हैं जहाँ से विशिष्ट ऊतकों अथवा अंगों में चले जाते हैं, जिन्हें लक्ष्य ऊतक या लक्ष्य अंग कहते हैं। उस लक्ष्य ऊतक या लक्ष्य अंग में ये हॉर्मोन विशिष्ट जैव-रासायनिक या शारीरिक क्रियाओं का सम्पादन करते हैं। इस प्रकार जन्तुओं में रासायनिक या हॉर्मोनल नियन्त्रण एवं समन्वय होता है।

प्रश्न 12.
किसी सिनेप्स में एक न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे से दूसरे न्यूरॉन के डेण्डाइट सिरे तक संकेतों या आवेग का प्रवाह होता है, लेकिन इसके उलट नहीं। क्यों?
उत्तर:
जब कोई विद्युत् आवेग किसी न्यूरॉन के एक्सॉन सिरे पर पहुँचता है, तो यह एक रासायनिक पदार्थ का विमोचन करता है। यह रसायन दूसरे न्यूरॉन के डेण्ड्राइट सिरे की सिरे की ओर प्रसरण करता है जहाँ यह विद्युत् आवेग (संकेत) उत्पन्न करता हैं। इस प्रकार विद्युत् आवेग एक रासायनिक संकेत में परिवर्तित हो जाता है। चूँकि यह रसायन डेण्ड्राइट सिरे पर अनुपस्थित होता है इसलिए इलैक्ट्रिकल संकेत रासायनिक संकेतों में परिवर्तित नहीं होता है।

MP Board Class 10th Science Chapter 7 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
मस्तिष्क के मुख्य भाग क्या हैं? विभिन्न भागों के कार्य लिखिए।
उत्तर:
मस्तिष्क के मुख्य भाग एवं उनके कार्य:
(a) अग्र मस्तिष्क-इसके निम्नलिखित दो उपभाग हैं –
(1) प्रमस्तिष्क:
इसका प्रमुख कार्य तन्त्रिका तन्त्र के अन्य शेष भागों पर नियन्त्रण रखना है। इसके अतिरिक्त यह बुद्धि, विचार, स्मृति, अनुभव एवं मनोभाव का केन्द्र है तथा सभी ऐच्छिक क्रियाओं का नियन्त्रण करता है। इसके अविकसित होने से मंदबुद्धि होते हैं।

(2) हाइपोथैलेमस:
यह तन्त्रिका तन्त्र का संगठन केन्द्र होता है। यह जननांग, अन्तःस्रावी ग्रंथियों, हृदय आदि की क्रियाओं पर नियन्त्रण रखता है।

(b) मध्य मस्तिष्क: यह दृष्टि एवं श्रवण उद्दीपन को ग्रहण करता है।

(c) पश्च मस्तिष्क:
इसके निम्नलिखित तीन उपभाग हैं –

  1. अनुमस्तिष्क-यह अंग विन्यास एवं शारीरिक संतुलन को बनाए रखता है।
  2. पॉन्स वेरोलाई-यह अनुमस्तिष्क के एक भाग से दूसरे भाग को प्रेरणाओं के प्रेषण का कार्य करता है तथा पेशीय गतियों पर नियन्त्रण रखता है।
  3. मैड्यूला ऑब्लांगेटा-यह अनैच्छिक क्रियाओं पर नियन्त्रण करता है।
  4. प्रमस्तिष्क गोलार्डों के नीचे एक छोटा भाग डायनसेफेलॉन होता है जो शरीर की उपापचय क्रियाओं पर नियन्त्रण करता है। यह शारीरिक ताप एवं जनन क्रियाओं को नियन्त्रित करता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 2.
निम्न हॉर्मोन्स में से प्रत्येक का एक कार्य लिखिए –
(a) थायरॉक्सिन।
(b) इन्सुलिन।
(c) ऐडीनेलिन।
(d) वृद्धि हॉर्मोन्स।
(e) टेस्टोस्टेरॉन।
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 9

प्रश्न 3.
विभिन्न पादप हॉर्मोनों के नाम लिखिए तथा उनके पौधों की वृद्धि एवं विकास पर शारीरिक (कायिक) प्रभावों को लिखिए।
अथवा
चार पादप हॉर्मोन के नाम एवं कार्य लिखिए। (2019)
उत्तर:
पादप हॉर्मोनों के प्रकार एवं कार्य-पादप हॉर्मोन प्रमुख्तः निम्नलिखित चार प्रकार के होते हैं –

  1. ऑक्सिन।
  2. जिबरेलिन।
  3. साइटोकाइनिन।
  4. ऐब्सिसिक अम्ल (ABA) वृद्धि रोधक।

1. ऑक्सिन:
कोशिकाओं की लम्बाई में वृद्धि, कोशिका विभाजन में सहयोग, पौधों की गतियों पर नियन्त्रण, पत्तियों को गिरने से रोकना, बीज रहित फलों के उत्पादन में सहायता करना।

2. जिबरेलिन:
बीजों के शीघ्र अंकुरण में सहायक, बौने पौधों की लम्बाई में वृद्धि, पौधों की पत्तियों को चौड़ी करने में सहायता करना।

3. साइटोकाइनिन:
प्रोटीन के संश्लेषण में सहायक, कोशिकाओं एवं तने की लम्बाई में वृद्धि, पार्श्व कलिकाओं में वृद्धि, जड़ों एवं पत्तियों की वृद्धि रोकने में सहायक एवं अंकुरण के समय उत्प्रेरक उत्पन्न करना।

4. ऐब्सिसिक अम्ल (ABA) वृद्धि रोधक:
पत्तियों के एवं फूलों के खुलने एवं बन्द करने की क्रियाओं का नियन्त्रण, पतझड़ की क्रिया को प्रोत्साहित करना तथा पौधों की वृद्धि दर को कम करना।

प्रश्न 4.
प्रतिवर्ती क्रिया क्या है? दो उदाहरण दीजिए। एक प्रतिवर्ती चाप की व्याख्या कीजिए।
उत्तर:
प्रतिवर्ती क्रिया:
“वे अनैच्छिक क्रियाएँ जो किसी प्रेरणा या उद्दीपन या फिर किसी प्रतिक्रिया के रूप में होती हैं, प्रतिवर्ती क्रिया कहलाती है।”

प्रतिवर्ती क्रिया के उदाहरण:

  1. गर्म वस्तु पर पैर पड़ते ही पैर का एकदम उठना।
  2. आँख के आगे अचानक तिनके के आने से आँख के पलक का झपकना।

प्रतिवर्ती चाप:
तन्त्रिकीय तन्त्र जो प्रतिवर्ती क्रिया को संचालित करते हैं तथा एक चाप बनाते हैं जिसे प्रतिवर्ती चाप कहते हैं।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 7 नियंत्रण एवं समन्वय 10

प्रश्न 5.
“तन्त्रिकीय तन्त्र एवं अन्तःस्रावी (हॉर्मोनल) तन्त्र मिलकर मानव शरीर में नियन्त्रण एवं समन्वय के कार्य को पूर्ण करते हैं।” कथन की पुष्टि कीजिए।
उत्तर:
अन्तःस्रावी तन्त्र एवं तन्त्रिका तन्त्र द्वारा मानव शरीर में नियन्त्रण एवं समन्वय मानव शरीर में हॉर्मोनल नियन्त्रण एवं समन्वय:
मानव के शरीर में विशेष प्रकार की ग्रन्थि पाई जाती है जिनसे विशेष प्रकार के कार्बनिक रासायनिक पदार्थ स्रावित होते हैं, जिन्हें जन्तु हॉर्मोन्स या हॉर्मोन्स कहते हैं। इन ग्रन्थियों को अन्त:स्रावी ग्रन्थियाँ कहते हैं। ये हॉर्मोन्स विभिन्न प्रकार की ग्रन्थियों में स्रावित होकर रक्त में मिल जाते हैं।

रक्त के द्वारा ये हॉर्मोन्स विभिन्न प्रकार के अंगों की विभिन्न कोशिकाओं में पहुँचते हैं तथा उन कोशिकाओं को उत्तेजित करके उनकी क्रियाशीलता को बढ़ा देते हैं तथा उसका नियन्त्रण करते हैं। ये हॉर्मोन्स वृद्धि उपापचय क्रियाओं एवं विभिन्न प्रकार की शारीरिक क्रियाओं का नियन्त्रण एवं समन्वय करते हैं। यह नियन्त्रण एवं समन्वय हॉर्मोनल नियन्त्रण एवं समन्वय कहलाता है।

तन्त्रिकीय समन्वय एवं नियन्त्रण (Coordination and Control by Nervous Systems):
मनुष्यों में शरीर की विभिन्न क्रियाएँ एक विशिष्ट एवं विकसित तन्त्र द्वारा समन्वित, नियन्त्रित एवं संचालित होती हैं, जिसकी तन्त्रिका तन्त्र कहते हैं। तन्त्रिका तन्त्र की संरचनात्मक एवं क्रियात्मक इकाई न्यूरॉन होती है। तन्त्रिका तन्त्र में संकेत तन्त्रिका उद्दीपनों के रूप में उत्पन्न होते हैं, जो कि वातावरणीय उद्दीपनों के प्रति तीव्र व्यवहार प्रवाह करती हैं।

बाह्य वातावरण से प्राप्त प्रेरणाएँ या संवेदनाएँ न्यूरॉन को उत्प्रेरित करके शरीर के विभिन्न भागों में समन्वय एवं नियमन स्थापित करती हैं। सजीवों के शरीर के आन्तरिक वातावरण में विभिन्न अंगों के बीच समन्वय, न्यूरॉन के द्वारा स्थापित किया जाता है।
शरीर की सम्पूर्ण ऐच्छिक एवं अनैच्छिक तथा प्रतिवर्ती क्रियाओं का नियन्त्रण, केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र (मस्तिष्क एवं सुषुम्ना) के द्वारा किया जाता है।

इस प्रकार मनुष्य एवं अन्य बहुकोशिकीय जन्तुओं के शरीर के बाह्य वातावरण, आन्तरिक वातावरण, संतुलन एवं संवेदी अंगों में नियन्त्रण एवं समन्वय, तन्त्रिका तन्त्र के द्वारा स्थापित होता है। इस प्रकार हम देखते हैं कि किस प्रकार अन्तःस्रावी (हॉर्मोनल) तन्त्र एवं तन्त्रिका तन्त्र मिलकर मानव शरीर में नियन्त्रण एवं समन्वय बनाए रखते हैं।

MP Board Class 10th Science Solutions

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण

MP Board Class 10th Science Chapter 2 पाठान्तर्गत प्रश्नोत्तर

प्रश्न श्रृंखला-1 # पृष्ठ संख्या 20

प्रश्न 1.
आपको तीन परखनलियाँ दी गई हैं। इनमें से एक में आसवित जल एवं शेष दो में से एक में अम्लीय विलयन तथा दूसरे में क्षारीय विलयन है। यदि आपको केवल लाल लिटमस पत्र दिया जाता है, तो आप प्रत्येक परखनली में रखे गए पदार्थों की पहचान कैसे करेंगे?
उत्तर:
हम दिए गए लाल लिटमस पत्र के तीन भाग कर देंगे और प्रत्येक परखनली में एक – एक भाग डुबोयेंगे जो लिटमस नीला हो जाएगा उसमें क्षारीय विलयन होगा, उसे पृथक् कर लेंगे। शेष दोनों परखनलियों में से एक में अम्लीय विलयन तथा दूसरी में आसवित जल होगा। क्षारीय विलयन वाली परखनली से नीले लिटमस को निकालकर दो भाग करके शेष दोनों परखनियों में एक – एक भाग डुबोयेंगे जिस परखनली का लिटमस पत्र पुनः लाल हो जाता है उसका विलयन अम्लीय होगा तथा दूसरी परखनली का आसुत जल। इस प्रकार तीनों विलयनों का परीक्षण कर लेंगे।

प्रश्न श्रृंखला-2 # पृष्ठ संख्या 24

प्रश्न 1.
पीतल एवं ताँबे के बर्तनों में दही एवं खट्टे पदार्थ क्यों नहीं रखने चाहिए?
उत्तर:
दही एवं खट्टे पदार्थों में अम्ल होते हैं। ये पीतल से अभिक्रिया करके जिंक एवं कॉपर के तथा कॉपर, ताँबे से क्रिया करके कॉपर के लवण बनाते हैं जो विषाक्त होते हैं। इसलिए पीतल एवं ताँबे के बर्तनों में दही एवं खट्टे पदार्थ नहीं रखने चाहिए।

प्रश्न 2.
धातु के साथ अम्ल की अभिक्रिया होने पर सामान्यतः कौन – सी गैस निकलती है? एक उदाहरण के द्वारा समझाइए। इस गैस की उपस्थिति की जाँच आप कैसे करेंगे?
उत्तर:
धातु के साथ अम्ल की अभिक्रिया होने पर प्रायः हाइड्रोजन (H2) गैस निकलती है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 1
जब हम जलती हुई तीली इस गैस के पास लाते हैं तो यह फट – फट की ध्वनि के साथ जलती है।

प्रश्न 3.
कोई धातु यौगिक ‘A’ तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के साथ अभिक्रिया करता है तो बुदबुदाहट उत्पन्न होती है। इससे उत्पन्न गैस जलती मोमबत्ती को बुझा देती है। यदि उत्पन्न यौगिकों में से एक कैल्सियम क्लोराइड है, तो इस अभिक्रिया के लिए एक संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए।
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 2

प्रश्न श्रृंखला-3 # पृष्ठ संख्या 27

प्रश्न 1.
HCl, HNO3 आदि जलीय विलयन में अम्लीय अभिलक्षण क्यों प्रदर्शित करते हैं, जबकि ऐल्कोहॉल एवं ग्लूकोज जैसे यौगिकों के विलयनों में अम्लीयता के अभिलक्षण प्रदर्शित नहीं होते हैं?
उत्तर:
HCl एवं HNO3 आदि जलीय विलयन में आयनित होकर हाइड्रोजन आयन (H+) अथवा हाइड्रोनियम आयन (H3O+) बनाते हैं जिसके कारण विलयन में अम्लीयता के अभिलक्षण प्रदर्शित होते हैं, जबकि ऐल्कोहॉल एवं ग्लूकोज जैसे यौगिक आयनित नहीं होते। इसलिए उनके विलयन में अम्लीयता के अभिलक्षण प्रदर्शित नहीं होते।

प्रश्न 2.
अम्ल का जलीय विलयन क्यों विद्युत् का चालन करता है?
उत्तर:
अम्ल के जलीय विलयन में हाइड्रोजन आयन (H+) उत्पन्न होते हैं जो विद्युत् के वाहक होते हैं। इस कारण वे विद्युत् का चालन करते हैं।

प्रश्न 3.
शुष्क हाइड्रोक्लोरिक गैस शुष्क लिटमस पत्र का रंग क्यों नहीं बदलती?
उत्तर:
शुष्क हाइड्रोक्लोरिक गैस शुष्क लिटमस के साथ हाइड्रोजन आयन (H+) नहीं बनाती। इस कारण उसका रंग नहीं बदलती है।

प्रश्न 4.
अम्ल को तनुकृत करते समय यह क्यों अनुशंसित करते हैं कि अम्ल को जल में मिलाना चाहिए न कि जल को अम्ल में?
उत्तर:
अम्ल का तनुकरण एक अत्यन्त ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया है तथा इसमें अत्यधिक मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न होती है। अम्ल को जल में मिलाने पर जो ऊष्मा उत्पन्न होती जाती है वह जल द्वारा शोषित कर ली जाती है। इसलिए अम्ल को तनुकृत करने के लिए इसे जल में मिलाते हैं।

प्रश्न 5.
अम्ल के विलयन को तनुकृत करते समय हाइड्रोनियम आयन (H3O+) की सान्द्रता कैसे प्रभावित हो जाती है?
उत्तर:
अम्ल के विलयन को तनुकृत करते समय हाइड्रोनियम आयन (H3O+) की सान्द्रता प्रति इकाई आयतन कम हो जाती है।

प्रश्न 6.
जब सोडियम हाइड्रॉक्साइड विलयन में आधिक्य क्षारक मिलाते हैं तो हाइड्रॉक्साइड आयन (OH) की सान्द्रता कैसे प्रभावित होती है?
उत्तर:
जब सोडियम हाइड्रॉक्साइड विलयन में आधिक्य क्षारक मिलाते हैं तो विलयन में हाइड्रॉक्साइड आयन (OH) की सान्द्रता प्रति इकाई आयतन बढ़ जाती है।

प्रश्न शृंखला-4 # पृष्ठ संख्या 31

प्रश्न 1.
आपके पास दो विलयन ‘A’ और ‘B’ हैं। विलयन ‘A’ के pH का मान 6 है एवं विलयन ‘B’ के pH का मान 8 है। किस विलयन में हाइड्रोजन आयन की सान्द्रता अधिक है? इनमें से कौन अम्लीय है और कौन क्षारकीय?
उत्तर:
विलयन ‘A’ में हाइड्रोजन आयन (H+) की सान्द्रता अधिक होगी। विलयन ‘A’ अम्लीय विलयन है तथा विलयन ‘B’ क्षारकीय विलयन है।

प्रश्न 2.
H+(aq) आयन की सान्द्रता का विलयन की प्रकृति पर क्या प्रभाव पड़ता है?
उत्तर:
H+(aq) आयन की सान्द्रता बढ़ने पर विलयन को अम्लीय प्रकृति (अम्लीयता) बढ़ती जाती है। जबकि H+ आयन की सान्द्रता कम होने पर क्षारकीय प्रकृति बढ़ती है।

प्रश्न 3.
क्या क्षारकीय विलयन में H+(aq) आयन होते हैं? अगर हाँ तो ये क्षारकीय क्यों होते हैं?
उत्तर:
हाँ, क्षारकीय विलयनों में भी H+(aq) आयन होते हैं, लेकिन उनमें H+(aq) आयनों की अपेक्षा OH(aq) आयनों की सान्द्रता अधिक होती है। इसलिए वे क्षारकीय होते हैं।

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
कोई किसान खेत की मृदा की किस परिस्थिति में बिना बुझा हुआ चूना (कैल्सियम ऑक्साइड), बुझा हुआ चूना (कैल्सियम हाइड्रॉक्साइड) या चाक (कैल्सियम कार्बोनेट) का उपयोग करेगा?
उत्तर:
जब खेत की मृदा अधिक अम्लीय होगी तो उस स्थिति में किसान बुझा या बिना बुझा चूना या चाक का उपयोग करेगा।

प्रश्न शृंखला-5 # पृष्ठ संख्या 36

प्रश्न 1.
CaOCl2 का प्रचलित नाम क्या है?
उत्तर:
विरंजक चूर्ण (ब्लीचिंग पाउडर)।

प्रश्न 2.
उस पदार्थ का नाम बताइए जो क्लोरीन से अभिक्रिया करके विरंजक चूर्ण बनाता है।
उत्तर:
बुझा हुआ चूना (कैल्सियम हाइड्रॉक्साइड)।

प्रश्न 3.
कठोर जल को मृदु करने के लिए किस सोडियम यौगिक का उपयोग किया जाता है?
उत्तर:
सोडियम कार्बोनेट (धोने का सोडा)।

प्रश्न 4.
सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट के विलयन को गर्म करने पर क्या होगा? इस अभिक्रिया के लिए रासायनिक समीकरण लिखिए।
उत्तर:
सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट के विलयन को गर्म करने पर सोडियम कार्बोनेट का विलयन बनता है तथा कार्बन डाइऑक्साइड गैस निकलती है।
अभिक्रिया का रासायनिक समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 3

प्रश्न 5.
प्लास्टर ऑफ पेरिस की जल के साथ अभिक्रिया का समीकरण लिखिए।
उत्तर:
प्लास्टर ऑफ पेरिस की जल के साथ अभिक्रिया का समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 4

MP Board Class 10th Science Chapter 2 पाठान्त अभ्यास के प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
कोई विलयन लाल लिटमस को नीला कर देता है, इसका pH सम्भवतः क्या होगा? (2019)
(a) 1
(b) 4
(c) 5
(d) 10
उत्तर:
(d) 10

प्रश्न 2.
कोई विलयन अण्डे के पिसे हुए कवच से अभिक्रिया करके एक गैस उत्पन्न करता है, जो चने के पानी को दूधिया कर देती है। इस विलयन में क्या होगा?
(a) NaCl
(b) HCl
(c) LiCl
(d) KCl
उत्तर:
(b) HCl

प्रश्न 3.
NaOH का 10 ml विलयन HCl के 8 ml विलयन से पूर्ण उदासीन हो जाता है। यदि हम NaOH के उसी विलयन का 20 ml लें तो उसे उदासीन करने के लिए HCl के उसी विलयन की कितनी मात्रा की आवश्यकता होगी?
(a) 4 ml
(b) 8 ml
(c) 12 ml
(d) 16 ml
उत्तर:
(d) 16 ml

प्रश्न 4.
अपच का उपचार करने के लिए निम्न में से किस औषधि का उपयोग होता है?
(a) ऐण्टीबायोटिक (प्रतिजैविकी)
(b) ऐनालजेसिक (पीड़ाहारी)
(c) ऐन्टैसिड
(d) ऐन्टीसेप्टिक (प्रतिरोधी)
उत्तर:
(c) ऐन्टैसिड।

प्रश्न 5.
निम्नलिखित अभिक्रिया के लिए पहले शब्द समीकरण लिखिए तथा उसके बाद संतुलित समीकरण लिखिए –
(a) तनु सल्फ्यूरिक अम्ल दानेदार जिंक के साथ अभिक्रिया करता है।
(b) तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल मैग्नीशियम पट्टी के साथ अभिक्रिया करता है।
(c) तनु सल्फ्यूरिक अम्ल ऐलुमिनियम चूर्ण के साथ अभिक्रिया करता है।
(d) तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल लोह के चूर्ण के साथ अभिक्रिया करता है।
उत्तर:
शब्द समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 5
संतुलित समीकरण:
(a) Zn(s) + Dil. H2SO4(dil) → ZnSO4 (aq) + H2
(b) Mg(s) + 2HCl(dil) → MgCl2(aq) + H2
(c) 2Al(s) + 3H2SO4(dil) → Al2(SO4)3(aq) + 3H2
(d) Fe(s) + 2HCl (dil) → FeCl2(aq) + H2

प्रश्न 6.
ऐल्कोहॉल एवं ग्लूकोज जैसे यौगिकों में भी हाइड्रोजन होते हैं, लेकिन इनका वर्गीकरण अम्ल की तरह नहीं होता है। एक क्रियाकलाप द्वारा इसे सिद्ध कीजिए।
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 6
एक कॉर्क पर दो कीलें लगाकर संलग्न आकृति के अनुसार 100 ml के बीकर में रखकर कीलों को 6 V की एक बैटरी के दोनों टर्मिनलों के साथ एक बल्ब एवं स्विच के माध्यम से जोड़ दीजिए।

  • अब बीकर में थोड़ा तनु HCl डालकर विद्युत् धारा बीकर प्रवाहित कीजिए आप देखेंगे कि बल्ब जल जाता है।
  • अब इस प्रयोग को तनु H2SO4 डालकर दोहराइए कील तनुकृत अम्लीय तो आप देखेंगे कि बल्ब पुनः जल जाता है।
  • आप बारी – बारी से इस प्रयोग को ग्लूकोज विलयन एवं ऐल्कोहॉल विलयन के साथ भी दोहराइए। आप देखेंगे कि इनमें से किसी भी अवस्था में बल्ब नहीं जलता।

निष्कर्ष:
इससे स्पष्ट होता है कि अम्लों के विलयन विद्युत् धारा के चालक होते हैं जबकि ग्लूकोज एवं ऐल्कोहॉल के विलयन विद्युत् धारा के चालक नहीं होते और इसलिए इन्हें अम्लों की श्रेणी में विभाजित नहीं करते।

ज्ञातव्य: अम्ल नीले लिटमस को लाल कर देते हैं, लेकिन ऐल्कोहॉल एवं ग्लूकोज के विलयन नहीं करते, इससे भी सिद्ध होता है कि ऐल्कोहॉल एवं ग्लूकोज में हाइड्रोजन होते हुए भी ये अम्ल की श्रेणी में नहीं आते।।

प्रश्न 7.
आसवित जल विद्युत् का चालक क्यों नहीं होता, जबकि वर्षा का जल होता है?
उत्तर:
आसवित जल में हाइड्रोजन आयन (H+) अथवा हाइड्रॉक्साइड आयन (OH) नहीं होते जो विद्युत् के वाहक होते हैं। इसलिए आसवित जल विद्युत का चालक नहीं होता। वहीं दूसरी ओर वर्षा जल में कुछ अम्ल की मात्रा मिली होती है जो हाइड्रोजन आयन (H+) देती है, इसलिए वर्षा जल विद्युत् का चालक होता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 8.
जल की अनुपस्थिति में अम्ल का व्यवहार अम्लीय क्यों नहीं होता?
उत्तर:
जल की अनुपस्थिति में अम्ल हाइड्रोजन आयन (H+) नहीं देते जो अम्लीय व्यवहार के कारक है। इसलिए जल की अनुपस्थिति में अम्ल का व्यवहार अम्लीय नहीं होता है।

प्रश्न 9.
पाँच विलयनों A, B, C, D एवं E की जब सार्वत्रिक सूचक से जाँच की जाती है, तो pH के मान क्रमशः 4, 1, 11, 7 एवं 9 प्राप्त होते हैं, कौन – सा विलयन?
(a) उदासीन है।
(b) प्रबल क्षारीय है।
(c) प्रबल अम्लीय है।
(d) दुर्बल अम्लीय है।
(e) दुर्बल क्षारीय है।
उत्तर:
(a) विलयन ‘D’ उदसीन है। (pH = 7)
(b) विलयन ‘C’ प्रबल क्षारीय है (pH = 11)
(c) विलयन ‘B’ प्रबल अम्लीय है। (pH = 1)
(d) विलयन ‘A’ दुर्बल अम्लीय है। (pH = 4) एवं
(e) विलयन ‘E’ दुर्बल क्षारीय है। (pH = 9)
इन pH मानों को हाइड्रोजन आयनों की सान्द्रता के बढ़ते क्रम में व्यवस्थित कीजिए।

प्रश्न 10.
परखनली ‘A’ एवं ‘B’ में समान लम्बाई की मैग्नीशियम की पट्टी लीजिए। परखनली ‘A’ में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCl) तथा परखनली ‘B’ में ऐसीटिक अम्ल (CH3COOH) डालिए। दोनों अम्लों की मात्रा तथा सान्द्रता समान है। किस परखनली में अधिक तेजी से बुदबुदाहट होगी और क्यों?
उत्तर:
परखनली ‘A’ में अधिक तेजी से बुदबुदाहट होगी क्योंकि इसमें हाइड्रोक्लोरिक अम्ल है जो ऐसीटिक अम्ल से बहुत अधिक प्रबल है।

प्रश्न 11.
ताजे दूध का pH मान 6 होता है। दही बन जाने पर इसके pH के मान में क्या परिवर्तन होगा? अपना उत्तर समझाइए।
उत्तर:
दही बन जाने पर दूध का pH मान घट जाएगा, क्योंकि दही में अम्ल होता है जिससे दूध में हाइड्रोजन आयनों (H+) का सान्द्रण बढ़ जाएगा।

प्रश्न 12.
एक ग्वाला ताजे दूध में थोड़ा बेकिंग सोडा मिलाता है –

  1. ताजा दूध के pH के मान को 6 से बदलकर थोड़ा क्षारीय क्यों बना देता है?
  2. इस दूध को दही बनने में अधिक समय क्यों लगता है?

उत्तर:

  1. बेकिंग सोडा क्षारीय (क्षारकीय) होता है जिसका pH मान 7 से अधिक होता है। इसको दूध (pH मान) में मिलाने से दूध का pH मान बढ़कर 7 से अधिक हो जाता है। इससे दूध क्षारीय हो जाता है।
  2. बेकिंग सोडा मिले दूध का pH मान साधारण दूध के pH मान से अधिक होता है। इसलिए दही बनने के लिए दूध को अधिक समय लगता है।

प्रश्न 13.
प्लास्टर ऑफ पेरिस को आर्द्र – रोधी बर्तन में क्यों रखा जाना चाहिए? इसकी व्याख्या कीजिए।
उत्तर:
प्लास्टर ऑफ पेरिस आर्द्रताग्राही होता है और आर्द्रता (नमी या जलवाष्प) से क्रिया करके कठोर ठोस पदार्थ का निर्माण करता है। इसलिए प्लास्टर ऑफ पेरिस को आर्द्र – रोधी बर्तन में रखा जाना चाहिए।

प्रश्न 14.
उदासीनीकरण अभिक्रिया क्या है? दो उदाहरण दीजिए। (2019)
उत्तर:
उदासीनीकरण:
“अम्ल और क्षारक परस्पर अभिक्रिया करके एक – दूसरे को उदासीन कर देते हैं और लवण एवं जल का निर्माण करते हैं। यह प्रक्रिया उदासीनीकरण कहलाती है।”
उदाहरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 7

प्रश्न 15.
धोने का सोडा एवं बेकिंग सोडा के दो – दो प्रमुख उपयोग बताइए। (2019)
उत्तर:
धोने के सोडा के उपयोग:

  1. इसका उपयोग काँच, साबुन एवं कागज उद्योगों में होता है।
  2. इसका उपयोग घरों में साफ – सफाई के लिए होता है।

बेकिंग सोडा के उपयोग:

  1. इसका प्रमुख उपयोग बेकरी में उपयोग आने वाले बेकिंग पाउडर बनाने में होता है।
  2. इसका उपयोग सोडा – अम्ल अग्निशामक में किया जाता है।

MP Board Class 10th Science Chapter 2 परीक्षोपयोगी अतिरिक्त प्रश्नोत्तर

MP Board Class 10th Science Chapter 2 वस्तुनिष्ठ प्रश्न

बहुविकल्पीय

प्रश्न 1.
जब एक परखनली में एक अम्ल का विलयन एवं एक क्षारक का विलयन मिलाया जाता है तो क्या होता है?
(i) विलयन का तापक्रम बढ़ता है।
(ii) विलयन का तापक्रम घटता है।
(iii) विलयन का ताप अपरिवर्तित रहता है।
(iv) लवण बनता है।
(a) केवल (i)
(b) (i) एवं (ii)
(c) (ii) एवं (iii)
(d) (i) एवं (iv)
उत्तर:
(d) (i) एवं (iv)

प्रश्न 2.
एक जलीय घोल लाल लिटमस के विलयन को नीला कर देता है। निम्न में से किसे अधिकता में मिलाने पर वह रंग पुनः वापस आ जाएगा?
(a) बेकिंग पाउडर
(b) चूना
(c) अमोनियम हाइड्रॉक्साइड विलयन
(d) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल
उत्तर:
(d) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल

प्रश्न 3.
हाइड्रोजन क्लोराइड गैस बनाते समय आर्द्रता वाले दिन गैस को कैल्सियम क्लोराइड युक्त गार्ड ट्यूब में होकर प्रवाहित करते हैं। गार्ड ट्यूब में लिए गए कैल्सियम क्लोराइड का कार्य है –
(a) निकली गैस का अवशोषण करना
(b) गैस को आर्द्र बनाना
(c) गैस से आर्द्रता का अवशोषण करना
(d) प्राप्त गैस में C – आयन को अवशोषित करना।
उत्तर:
(c) गैस से आर्द्रता का अवशोषण करना

प्रश्न 4.
निम्न में कौन – सा लवण क्रिस्टलन जल युक्त नहीं है?
(a) नीला थोथा
(b) खाना सोडा
(c) धावन सोडा
(d) जिप्सम
उत्तर:
(b) खाना सोडा

प्रश्न 5.
सोडियम कार्बोनेट एक क्षारकीय लवण है, क्योंकि यह निम्न का लवण है –
(a) प्रबल अम्ल एवं प्रबल क्षारक
(b) दुर्बल अम्ल एवं दुर्बल क्षारक
(c) प्रबल अम्ल एवं दुर्बल क्षारक
(d) दुर्बल अम्ल एवं प्रबल क्षारक
उत्तर:
(d) दुर्बल अम्ल एवं प्रबल क्षारक

प्रश्न 6.
कैल्सियम फॉस्फेट दाँत के ऐनेमल में उपस्थित है, इसकी प्रकृति है –
(a) क्षारकीय
(b) अम्लीय
(c) उदासीन
(d) उभयधर्मी
उत्तर:
(a) क्षारकीय

प्रश्न 7.
एक मृदा के नमूने को जल में मिलाया गया फिर निथारने के लिए छोड़ दिया, निथरा हुआ स्वच्छ विलयन pH पत्र को पीलापन लिए नारंगी रंग में बदल देता है। निम्न में से कौन इस pH पत्र का रंग हरापन लिए नीला कर देगा?
(a) लैमन जूस
(b) सिरका
(c) नमक
(d) प्रति अम्ल
उत्तर:
(d) प्रति अम्ल

प्रश्न 8.
निम्नलिखित में से कौन अम्लीय सान्द्रता का सही बढ़ता क्रम देता है?
(a) जल < ऐसीटिक एसिड < हाइड्रोक्लोरिक एसिड
(b) जल < हाइड्रोक्लोरिक एसिड < ऐसीटिक एसिड
(c) ऐसीटिक एसिड < जल < हाइड्रोक्लोरिक एसिड
(d) हाइड्रोक्लोरिक एसिड < जल < ऐसीटिक एसिड।
उत्तर:
(a) जल < ऐसीटिक एसिड < हाइड्रोक्लोरिक एसिड

प्रश्न 9.
एक छात्र के हाथ पर एकाएक दुर्घटना तथा सान्द्र अम्ल की कुछ बूंदें गिर जाती हैं तो क्या करना चाहिए?
(a) नमक के घोल में हाथ को धोएँगे
(b) हाथ को तुरन्त पर्याप्त जल में धोएँगे और सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट का पेस्ट लगा देंगे
(c) पर्याप्त जल से धोने के बाद हाथ पर सोडियम हाइड्रॉक्साइड का विलयन लगा देंगे
(d) किसी तीव्र क्षारक द्वारा अम्ल का उदासीनीकरण करेंगे
उत्तर:
(b) हाथ को तुरन्त पर्याप्त जल में धोएँगे और सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट का पेस्ट लगा देंगे

प्रश्न 10.
जब ऐसीटिक एसिड में सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट मिलाते हैं तो एक गैस निकलती है। उस निकलने वाली गैस के सन्दर्भ में कौन – से कथन सत्य है?
(i) यह चूने के पानी को दूधिया कर देती है।
(ii) यह जलती तीली को बुझा देती है।
(iii) यह सोडियम हाइड्रॉक्साइड के विलयन में घुल जाती है।
(iv) इसकी गंध बहुत तीखी है।
(a) (i) एवं (ii)
(b) (i), (ii) एवं (iii)
(c) (ii), (iii) एवं (iv)
(d) (i) एवं (iv)
उत्तर:
(b) (i), (ii) एवं (iii)

प्रश्न 11.
साधारण नमक का उपयोग रसोई के अतिरिक्त निम्न के निर्माण में कच्चे माल की तरह प्रयक्त होता है –
(i) धावन सोडा
(ii) विरजंन चूर्ण
(iii) खाना सोडा
(iv) बुझा चूना
(a) (i) एवं (ii)
(b) (i), (ii) एवं (iv)
(c) (i) एवं (iii)
(d) (i), (iii) एवं (iv)
उत्तर:
(c) (i) एवं (iii)

प्रश्न 12.
बेकिंग पाउडर बनाने में प्रयुक्त अवयवों में एक अवयव सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट है तो दूसरा अवयव होगा –
(a) हाइड्रोक्लोरिक एसिड
(b) टार्टरिक एसिड
(c) ऐसीटिक एसिड
(d) सल्फ्यूरिक एसिड
उत्तर:
(b) टार्टरिक एसिड

प्रश्न 13.
दंतक्षय को रोकने के लिए हमको नियमित रूप से बुश करने की सलाह दी जाती है। सामान्य – तया प्रयुक्त टूथपेस्टों की प्रकृति होगी –
(a) अम्लीय
(b) उदासीन
(c) क्षारकीय
(d) संक्षारक
उत्तर:
(c) क्षारकीय

प्रश्न 14.
एक अम्लीय विलयन एवं एक क्षारीय विलयन के सन्दर्भ में कौन – सा कथन सत्य है?
(i) उच्च pH मान प्रबल अम्ल
(ii) उच्च pH मान दुर्बल अम्ल
(iii) निम्न pH मान प्रबल क्षारक
(iv) निम्न pH मान दुर्बल क्षारक
(a) (i) एवं (iii)
(b) (ii) एवं (iii)
(c) (i) एवं (iv)
(d) (ii) एवं (iv)
उत्तर:
(d) (ii) एवं (iv)

प्रश्न 15.
पाचन के समय आमाशयिक पाचक रसों का pH मान है –
(a) 7 से कम
(b) 7 से अधिक
(c) 7 के बराबर
(d) शून्य (0)
उत्तर:
(a) 7 से कम

प्रश्न 16.
जब अम्ल की थोड़ी-सी मात्रा जल में मिलायी जाती है तब कौन – सी अभिक्रियाएँ होंगी?
(i) आयनीकरण
(ii) उदासीनीकरण
(iii) तनुकरण
(iv) लवण निर्माण
(a) (i) एवं (ii)
(b) (i) एवं (iii)
(c) (ii) एवं (iii)
(d) (ii) एवं (iv)
उत्तर:
(b) (i) एवं (iii)

प्रश्न 17.
निम्नलिखित में से कौन – सा अम्ल – क्षार सूचक दृष्टिबाधित छात्र के लिए उपयुक्त होगा?
(a) लिटमस
(b) हल्दी
(c) वनीला ऐसेन्स
(d) पिटूनिया की पत्तियाँ
उत्तर:
(c) वनीला ऐसेन्स

प्रश्न 18.
निम्नलिखित में से कौन – सा यौगिक तनु अम्ल से अभिक्रिया करके कार्बन डाइऑक्साइड गैस नहीं देगा?
(a) संगमरमर
(b) चूना पत्थर
(c) खाना सोडा
(d) चूना
उत्तर:
(d) चूना

प्रश्न 19.
निम्न में कौन प्रकृति से अम्लीय है?
(a) लाइम जूस
(b) मानव रक्त
(c) चूने का पानी
(d) प्रति अम्ल
उत्तर:
(a) लाइम जूस

प्रश्न 20.
निम्न में कौन सोने (गोल्ड) को विलेय करने के लिए प्रयुक्त होता है?
(a) हाइड्रोक्लोरिक एसिड
(b) सल्फ्यूरिक एसिड
(c) नाइट्रिक एसिड
(d) अम्लराज
उत्तर:
(d) अम्लराज

प्रश्न 21.
निम्न में कौन खनिज अम्ल नहीं है?
(a) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल
(b) साइट्रिक अम्ल
(c) सल्फ्यूरिक अम्ल
(d) नाइट्रिक अम्ल
उत्तर:
(b) साइट्रिक अम्ल

प्रश्न 22.
निम्नलिखित में कौन क्षारक नहीं है?
(a) NaOH
(b) KOH
(c) NH4OH
(d) C2H5OH
उत्तर:
(d) C2H5OH

प्रश्न 23.
निम्नलिखित में कौन हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के तनु अम्लीय विलयन में उपस्थित है?
(a) H3O+ + Cl
(b) H3O+ + OH
(c) Cl + OH
(d) अनआयनित HCl
उत्तर:
(a) H3O+ + Cl

प्रश्न 24.
कोई छात्र साबुनीकरण अभिक्रिया के अभिक्रिया मिश्रण की एक बूंद पहले नीले लिटमस पत्र पर फिर लाल लिटमस पत्र पर डालता है। वह यह प्रेक्षण करता है कि –
(a) नीले लिटमस पत्र में कोई परिवर्तन नहीं होता और लाल लिटमस पत्र सफेद हो जाता है।
(b) लाल लिटमस पत्र में कोई परिवर्तन नहीं होता और नीला लिटमस पत्र लाल हो जाता है।
(c) नीले लिटमस पत्र में कोई परिवर्तन नहीं होता और लाल लिटमस पत्र नीला हो जाता है।
(d) दोनों ही लिटमस पत्रों के रंग में कोई परिवर्तन नहीं होता है।
उत्तर:
(c) नीले लिटमस पत्र में कोई परिवर्तन नहीं होता और लाल लिटमस पत्र नीला हो जाता है।

प्रश्न 25.
आपके विद्यालय के पास – पड़ोस में प्रयोग के लिए आवश्यक कोई कठोर जल उपलब्ध नहीं है। आपके विद्यालय में उपलब्ध लवणों के नीचे दिखाए समूहों में से वह एक समूह चुनिए जिसके प्रत्येक सदस्य को आसुत जल में घोलने पर वह उसे कठोर जल बना देता है।
(a) सोडियम क्लोराइड, कैल्सियम क्लोराइड।
(b) पोटैशियम क्लोराइड, सोडियम क्लोराइड।
(c) सोडियम क्लोराइड, मैग्नीशियम क्लोराइड।
(d) कैल्सियम क्लोराइड, मैग्नीशियम क्लोराइड।
उत्तर:
(d) कैल्सियम क्लोराइड, मैग्नीशियम क्लोराइड।

प्रश्न 26.
जब आप एक परखनली में सोडियम बाइकार्बोनेट का चूर्ण लेकर उसमें ऐसीटिक अम्ल की कुछ बूंदें डालते हैं तो निम्नलिखित में से कौन – सा प्रेक्षण करते हैं?
(a) कोई अभिक्रिया नहीं होती।
(b) तीखी गंध वाली रंगहीन गैस का तीव्र बुदबुदाहट के साथ विमोचन।
(c) तीव्र बुदबुदाहट के साथ भूरे रंग की गैस का विमोचन।
(d) रंगहीन, गंधहीन गैस के बुलबुलों का बनना।
उत्तर:
(d) रंगहीन, गंधहीन गैस के बुलबुलों का बनना।

प्रश्न 27.
किसी छात्र को उसकी प्रयोगशाला में प्रयोग करने के लिए कठोर जल चाहिए जो आस – पास के क्षेत्र में उपलब्ध नहीं है। प्रयोगशाला में कुछ लवण हैं, जो आसुत जल में घोलने पर उसे कठोर जल बना सकते हैं। लवण के निम्नलिखित समूहों में से वह समूह चुनिए जिसके प्रत्येक लवण को आसुत जल में घोले जाने पर उसे कठोर जल बना देगा।
(a) सोडियम क्लोराइड, पोटैशियम क्लोराइड।
(b) सोडियम सल्फेट, पोटैशियम सल्फेट।
(c) सोडियम सल्फेट, कैल्सियम सल्फेट।
(d) कैल्सियम सल्फेट, कैल्सियम क्लोराइड।
उत्तर:
(d) कैल्सियम सल्फेट, कैल्सियम क्लोराइड।

प्रश्न 28.
जब आप ऐसीटिक अम्ल को लाल और नीले लिटमस पत्रों पर डालते हैं, तब क्या प्रेक्षण करते हैं?
(a) लाल लिटमस लाल ही रहता है और नीला लिटमस लाल हो जाता है।
(b) लाल लिटमस नीला हो जाता है और नीला लिटमस नीला ही रहता है।
(c) लाल लिटमस नीला हो जाता है और नीला लिटमस लाल हो जाता है।
(d) लाल लिटमस रंगहीन हो जाता है और नीला लिटमस नीला ही रहता है।
उत्तर:
(a) लाल लिटमस लाल ही रहता है और नीला लिटमस लाल हो जाता है।

प्रश्न 29.
कोई छात्र चार परखनलियों P, Q, R और S में प्रत्येक में लगभग 4 ml आसुत जल लेकर परखनली P में सोडियम सल्फेट, Q में पोटैशियम सल्फेट, R में कैल्सियम सल्फेट और S में मैग्नीशियम सल्फेट की समान मात्रा को प्रत्येक में घोलता है। इसके पश्चात् वह प्रत्येक परखनली में साबुन के विलयन की समान मात्रा मिलाता है। इन सभी परखनलियों को भली-भाँति हिलाने पर, वह नीचे दी गई किन परखननियों में काफी मात्रा में झाग का प्रेक्षण करता है?
(a) P और Q
(b) Q और R
(c) P, Q और S
(d) P, R और S
उत्तर:
(a) P और Q

प्रश्न 30.
निम्नलिखित में कौन – सा कथन सत्य नहीं है?
(a) सभी धातु – कार्बोनेट अम्लों से अभिक्रिया करके लवण, जल एवं कार्बन डाइऑक्साइड गैस देते हैं।
(b) सभी धातु – ऑक्साइड जल से अभिक्रिया करके लवण एवं अम्ल बनाते हैं।
(c) कुछ धातुएँ अम्लों से अभिक्रिया करके लवण एवं हाइड्रोजन गैस देते हैं।
(d) कुछ अधातु – ऑक्साइड जल से अभिक्रिया करके अम्ल बनाते हैं।
उत्तर:
(b) सभी धातु – ऑक्साइड जल से अभिक्रिया करके लवण एवं अम्ल बनाते हैं।

प्रश्न 31.
अम्लों के लिए कौन – सा कथन सत्य है?
(a) कड़वा स्वाद, लाल लिटमस को नीला कर देता है।
(b) खट्टा स्वाद, लाल लिटमस को नीला कर देता है।
(c) खट्टा स्वाद, नीले लिटमस को लाल कर देता है।
(d) खट्टा स्वाद, लाल लिटमस को नीला कर देता है।
उत्तर:
(c) खट्टा स्वाद, नीले लिटमस को लाल कर देता है।

प्रश्न 32.
जब हाइड्रोक्लोरिक गैस को जल में प्रवाहित करते हैं तो निम्न में कौन – से कथन सत्य हैं?
(i) यह सहसंयोजी यौगिक है इसलिए जल में आयनीकृत नहीं होता है।
(ii) यह विलयन में आयनीकृत हो जाता है।
(iii) यह हाइड्रोजन एवं हाइड्रॉक्सिल दोनों प्रकार के आयन देता है।
(iv) यह विलयन में हाइड्रोजन आयन के जल संयोजन के कारण हाइड्रोनियम आयन देता है।
(a) केवल (i)
(b) केवल (iii)
(c) (ii) एवं (iv)
(d) (iii) एवं (iv)
उत्तर:
(c) (ii) एवं (iv)

रिक्त स्थानों की पूर्ति

  1. धात्विक ऑक्साइड प्रायः ………….. होते हैं।
  2. अधात्विक ऑक्साइड प्रायः …………. होते हैं।
  3. जंल एक ……….. ऑक्साइड है।
  4. अम्ल नीले लिटमस पत्र को ………. कर देते हैं।
  5. क्षारक लाल लिटमस पत्र को ……….. कर देते हैं।

उत्तर:

  1. क्षारकीय
  2. अम्लीय
  3. उदासीन
  4. लाल
  5. नीला

जोड़ी बनाइए
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 8
उत्तर:

  1. → (c)
  2. → (d)
  3. → (a)
  4. → (b)

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 9
उत्तर:

  1. → (d)
  2. → (c)
  3. → (b)
  4. → (a)

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 10
उत्तर:

  1. → (b)
  2. → (c)
  3. → (d)
  4. → (a)

सत्य/असत्य कथन

  1. CH3OH एक क्षार है, चूँकि इसमें OH उपलब्ध है।
  2. मेथिल ओरेन्ज एवं फीनॉल्पथैलिन संश्लेषित अम्ल – क्षार सूचक होते हैं।
  3. NH3 एक अम्ल है, क्योंकि इसमें H उपलब्ध है।
  4. लिटमस एक प्राकृतिक अम्ल – क्षार सूचक है।
  5. CO एक अम्लीय ऑक्साइड है।

उत्तर:

  1. असत्य
  2. सत्य
  3. असत्य
  4. सत्य
  5. असत्य

एक शब्द/वाक्य में उत्तर (2019)

  1. शुद्ध जल का pH मान क्या है?
  2. अम्लों के pH मान की परिसर क्या है?
  3. क्षारों के pH मान की परिसर क्या है?
  4. प्रबल अम्ल एवं प्रबल क्षार से बने लवण की प्रकृति कैसी होगी?
  5. प्रबल अम्ल एवं दुर्बल क्षार से बने लवण की प्रकृति कैसी होगी?
  6. दुर्बल अम्ल एवं प्रबल क्षार से बने लवण की प्रकृति कैसी होगी?
  7. अम्ल एवं क्षार की अभिक्रिया से क्या बनता है?
  8. अम्ल धात्विक कार्बोनेटों से अभिक्रिया करके कौन – सी गैस निकालते हैं?
  9. प्रायः तनु अम्ल कुछ धातुओं से अभिक्रिया करके कौन – सी रंगहीन गैस निकालते हैं?
  10. अम्ल एवं क्षारों की अभिक्रिया को क्या कहते हैं?

उत्तर:

  1. 7
  2. 7 से कम
  3. 7 से अधिक
  4. उदासीन
  5. अम्लीय
  6. क्षारीय
  7. लवण एवं जल
  8. कार्बन डाइऑक्साइड गैस (CO2)
  9. हाइड्रोजन गैस (H2)
  10. उदासीनीकरण

MP Board Class 10th Science Chapter 2 अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
अम्ल किन्हें कहते हैं?
उत्तर:
अम्ल: “वे पदार्थ जो स्वाद में खट्टे होते हैं तथा नीले लिटमस पत्र को लाल कर देते हैं, अम्ल कहलाते हैं।”

प्रश्न 2.
क्षारक किन्हें कहते हैं?
उत्तर:
क्षारक: “वे पदार्थ जो स्वाद में तीखे या कड़वे या कसैले होते हैं तथा लाल लिटमस पत्र को नीला कर देते हैं, क्षारक कहलाते हैं।”

प्रश्न 3.
क्षार किन्हें कहते हैं?
उत्तर:
क्षार: “जल में विलेय क्षारक क्षार कहलाते हैं।”

प्रश्न 4.
अम्ल – क्षार सूचक किन्हें कहते हैं?
उत्तर:
अम्ल – क्षार सूचक:
“वे प्राकृतिक या संश्लेषित रसायन जो अम्ल एवं क्षार की उपस्थिति को सूचित करते हैं, अम्ल – क्षार सूचक कहलाते हैं।”

प्रश्न 5.
तनुकरण से क्या समझते हो?
उत्तर:
तनुकरण:
“जल में अम्ल या क्षारक मिलाने से विलयन में HO+ अथवा OH आयन की सान्द्रता कम हो जाती है। इस प्रक्रिया को तनुकरण कहते हैं।”

MP Board Solutions

प्रश्न 6.
गंधीय सूचक किन्हें कहते हैं? इसकी क्या उपयोगिता है?
उत्तर:
गंधीय सूचक:
“कुछ पदार्थ ऐसे होते हैं जिनकी गंध अम्लीय या क्षारकीय माध्यम में बदलने पर बदल जाती है, ऐसे पदार्थ गंधीय सूचक कहलाते हैं।” ये सूचक दृष्टिबाधित छात्रों को अम्ल-क्षारों की पहचान में सहायक होते हैं।

प्रश्न 7.
pH स्केल किसे कहते हैं?
उत्तर:
pH स्केल:
“किसी विलयन में उपस्थित हाइड्रोजन आयन की सान्द्रता ज्ञात करने के लिए एक स्केल विकसित किया गया जिसे pH स्केल कहते हैं।”

प्रश्न 8.
अम्लीय वर्षा से क्या समझते हो?
उत्तर:
अम्लीय वर्षा:
“वर्षा के जल का pH मान जब 5 – 6 से कम हो जाता है, तो वह अम्लीय वर्षा कहलाती है।”

प्रश्न 9.
क्लोर – क्षार अभिक्रिया से क्या समझते हो?
उत्तर:
क्लोर – क्षार अभिक्रिया:
“जब सोडियम क्लोराइड के जलीय विलयन में विद्युत् धारा प्रवाहित की जाती है तो यह वियोजित होकर क्लोरीन गैस एवं सोडियम हाइड्रॉक्साइड (क्षार) उत्पादित करते हैं। इस प्रक्रिया को क्लोर – क्षार प्रक्रिया या क्लोर-क्षार अभिक्रिया कहते हैं।”

प्रश्न 10.
क्रिस्टलीकरण से क्या समझते हो?
उत्तर:
क्रिस्टलीकरण:
“कुछ लवण शुद्ध अवस्था में विशिष्ट ज्यामितीय ठोस आकार के एक समान एवं चमकदार कण के रूप में होते हैं, जिन्हें क्रिस्टल कहते हैं तथा क्रिस्टल बनाने की प्रक्रिया क्रिस्टलीकरण कहलाती है।”

प्रश्न 11.
क्रिस्टलन जल क्या होता है?
उत्तर:
क्रिस्टलन जल: “लवण के एक सूत्र इकाई में जल के निश्चित अणुओं की संख्या को क्रिस्टलन जल कहते हैं।”

प्रश्न 12.
एक चींटी के डंक में उपस्थित अम्ल का नाम एवं रासायनिक सूत्र लिखिए तथा इसके उपचार का उपाय बताइए।
उत्तर:
चींटी के डंक में मेथेनॉइक अम्ल (फॉर्मिक अम्ल) होता है। इसका रासायनिक सूत्र HCOOH होता है। इसके उपचार के लिए कोई उपलब्ध क्षारकीय लवण जैसे खाने वाला सोडा लगाना चाहिए।

प्रश्न 13.
जब अण्डे के ऊपर नाइट्रिक अम्ल डाला जाता है तो क्या होता है?
उत्तर:
अण्डे के खोल में कैल्सियम कार्बोनेट होता है। जब हम नाइट्रिक अम्ल डालते हैं तो यह कार्बन डाइऑक्साइड गैस देता है। रासायनिक समीकरण निम्नलिखित है –
CaCO3 + 2HNO3 → Ca(NO3)2 + H2O + CO2

प्रश्न 14.
एक छात्रा ने दो अलग – अलग परखनलियों में विलयन बनाए –

  1. में एक अम्ल
  2. में एक क्षार लेकिन वह लेबल लगाना भूल गई। दोनों ही विलयन रंगहीन एवं गंधहीन थे तथा लिटमस पत्र उपलब्ध नहीं था। ऐसी स्थिति में वह कैसे पहचान करेगी?

उत्तर:
वह संश्लेषित रासायनिक सूचक फीनॉल्पथेलिन या मेथिल ऑरेन्ज अथवा प्राकृतिक सूचक हल्दी या चाइनारोज (गुड़हल) का प्रयोग कर सकती है।

प्रश्न 15.
जब जिंक धातु की किसी तनु प्रबल अम्ल से अभिक्रिया कराई जाती है तो एक गैस उत्पन्न होती है, जो तेलों के हाइड्रोजनीकरण में प्रयुक्त होती है। इस गैस का नाम एवं सूत्र लिखिए तथा अभिक्रिया का समीकरण दीजिए। इसका परीक्षण कैसे करेंगे?
उत्तर:
हाइड्रोजन गैस (H2):
Zn + 2HCl → ZnCl2 + H2
जब इस गैस के पास जलती हुई तीली लाते हैं तो यह गैस फक की आवाज के साथ जलती है।

प्रश्न 16.
निम्नलिखित के रासायनिक सूत्र लिखिए –

  1. विरंजक चूर्ण।
  2. प्लास्टर ऑफ पेरिस।

उत्तर:

  1. विरंजक चूर्ण: CaOCl2
  2. प्लास्टर ऑफ पेरिस: CaSO4. \(\frac { 1 }{ 2 } \) H2O

MP Board Class 10th Science Chapter 2 लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्न पदार्थों की लिटमस पत्र पर क्या क्रिया होगी? शुष्क HCl गैस, आर्द्र NH3 गैस, लैमन जूस, कार्बोनेटेड सॉफ्ट ड्रिंक, दही, साबुन का विलयन।
उत्तर:
दिए हुए पदार्थों का लिटमस पत्र पर प्रभाव –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 11

प्रश्न 2.
बेकिंग पाउडर एवं धावन सोडा को गर्म करके कैसे अन्तर करेंगे?
उत्तर:
बेकिंग पाउडर सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट (NaHCO3) होता है, जबकि धावन सोडा सोडियम कार्बोनेट (Na2CO3.10H2O) होता है। गर्म करने पर बेकिंग पाउडर (NaHCO3) कार्बन डाइऑक्साइड गैस देता है जो चूने के पानी को दूधिया कर देता है। जबकि धावन सोडा (Na2CO3.10H2O) ऐसी कोई गैस नहीं देता बल्कि उसका क्रिस्टलन जल निकल जाता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 12

प्रश्न 3.
सॉल्ट ‘A’ का प्रयोग सामान्यतः बेकरी उत्पाद बनाने में होता है। यह गर्म करने पर दूसरे सॉल्ट ‘B’ में परिवर्तित हो जाता है जो स्वयं जल की कठोरता दूर करने में प्रयुक्त होता है और एक गैस ‘C’ निकलती है। जब यह गैस चूने के पानी में प्रवाहित की जाती है, तो उसे दूधिया कर देती है। A, B और C की पहचान कीजिए।
उत्तर:
साल्ट ‘A’ बेकिंग पाउडर (NaHCO3) है जो सामान्यतः बेकरी उत्पादों में प्रयुक्त होता है। गर्म करने पर यह सोडियम कार्बोनेट (Na2CO3) साल्ट ‘B’ एवं कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) गैस ‘C’ बनाता है। सोडियम कार्बोनेट कठोर जल की कठोरता दूर करने में प्रयुक्त होता है तथा कार्बन डाइऑक्साइड गैस चूने के पानी को दूधिया कर देती है।
अत: A – NaHCO3, B – Na2CO3 एवं C – CO2 गैस है।
समीकरण – 2NaHCO3 अमा, Na2CO3 + H2O + CO2

प्रश्न 4.
सोडियम हाइड्रॉक्साइड के निर्माण में प्रयुक्त एक औद्योगिक प्रक्रिया एक गैस ‘X’ उप – उत्पाद के रूप में उत्पन्न होती है गैस ‘X’ चूने के पानी से अभिक्रिया करके यौगिक ‘Y’ देती है जो कि विरंजक चूर्ण की तरह प्रयुक्त होता है। ‘X’ एवं ‘Y’ की पहचान कीजिए तथा होने वाली अभिक्रियाओं के समीकरण दीजिए।
उत्तर:
सोडियम हाइड्रॉक्साइड के उत्पादन में हाइड्रोजन गैस एवं क्लोरीन गैस (‘X’) उप – उत्पाद के रूप में उत्पन्न होती है जब क्लोरीन गैस (‘X’) चूने के पानी से अभिक्रिया करती है तो यह कैल्सियम ऑक्सीक्लोराइड (‘Y’) का निर्माण करती है जोकि विरंजक चूर्ण की तरह प्रयुक्त होता है।
रासायनिक समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 13

प्रश्न 5.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 14
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 15

प्रश्न 6.
‘प्रबल अम्ल’ एवं ‘दुर्बल अम्लों’ से क्या समझते हो? निम्न में से प्रबल अम्ल एवं दुर्बल अम्ल छाँटिए हाइड्रोक्लोरिक अम्ल, साइट्रिक अम्ल, ऐसीटिक अम्ल, नाइट्रिक अम्ल, फॉर्मिक अम्ल एवं सल्फ्यूरिक अम्ल।
उत्तर:

  • प्रबल अम्ल: “विलयन में अधिक संख्या में H+ आयन या H3O+ आयन उत्पन्न करने वाले अम्ल प्रबल अम्ल कहलाते हैं।”
  • दुर्बल अम्ल: “विलयन में कम संख्या में H+ आयन या H3O+ आयन उत्पन्न करने वाले अम्ल दुर्बल अम्ल कहलाते हैं।
  • प्रबल अम्ल: हाइड्रोक्लोरिक अम्ल, नाइट्रिक अम्ल एवं सल्फ्यूरिक अम्ल।
  • दुर्बल अम्ल: साइट्रिक अम्ल, ऐसीटिक अम्ल एवं फॉर्मिक अम्ल।

प्रश्न 7.
एक सामान्य क्षारक B की शुष्क गोलियाँ जब खुली हवा में रख दी जाती हैं तो चिपचिपी हो जाती हैं। यह क्षारक क्लोर-ऐल्कली प्रक्रिया का एक उप – उत्पाद है। B की पहचान कीजिए। जब B की क्रिया किसी अम्लीय ऑक्साइड से होती है तो किस प्रकार की अभिक्रिया होती है ? रासायनिक अभिक्रिया का एक संतुलित समीकरण लिखिए।
उत्तर:
क्षारक B सोडियम हाइड्रॉक्साइड है जो वायु में खुला रखने पर वायु की नमी को सोख लेता है चूँकि यह आर्द्रताग्राही है इसलिए यह चिपचिपा हो जाता है। यह क्लोर – ऐल्कली प्रक्रिया का उप – उत्पाद है। जब इसकी अम्लीय ऑक्साइड CO2 से अभिक्रिया होती है तो लवण Na2CO3 तथा जल बनाता है।
2NaOH + CO2 → Na2CO3 + H2O

MP Board Class 10th Science Chapter 2 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
प्रयोगशाला में हाइड्रोजन गैस बनाते समय एक परखनली में दानेदार जिंक लेकर उसमें तनु सल्फ्यूरिक अम्ल डाला जाता है तो हाइड्रोजन गैस बुलबुलों के साथ निकलती है। निम्न परिवर्तन करने पर क्या होगा?

  1. दानेदार जिंक के स्थान पर जिंक पाउडर लिया जाए।
  2. तनु सल्फ्यूरिक अम्ल की जगह तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल लिया जाए।
  3. जिंक के स्थान पर ताँबे की छीलन ली जाए।
  4. तनु सल्फ्यूरिक अम्ल के स्थान पर सोडियम हाइड्रॉक्साइड लेकर परखनली को गर्म किया जाए।

उत्तर:

  1. दानेदार जिंक के स्थान पर जिंक पाउडर लेने से पाउडर दानों की अपेक्षा अधिक तेजी से अभिक्रिया करेगा इससे अधिक तेजी से हाइड्रोजन गैस बनेगी।
  2. तनु सल्फ्यूरिक अम्ल के स्थान पर तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल लेने पर अभिक्रिया पूर्ववत् रहेगी तथा समान मात्रा में हाइड्रोजन गैस बनेगी।
  3. कॉपर की छीलन तनु सल्फ्यूरिक अम्ल से अभिक्रिया करके हाइड्रोजन विस्थापित नहीं करेगा। इस कारण इस अवस्था में हाइड्रोजन गैस नहीं बनेगी।
  4. जब तनु सल्फ्यूरिक अम्ल के स्थान पर सोडियम हाइड्रॉक्साइड लेकर गर्म किया जाता है तो वह जिंक से अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस देता है इसलिए हाइड्रोजन गैस निकलेगी।
    MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 16

प्रश्न 2.
केक बनाने के लिए बेकिंग पाउडर का प्रयोग किया जाता है। यदि घर पर आपकी माता जी केक बनाने के लिए बेकिंग सोडा का प्रयोग करें, तो –

  1. यह केक के स्वाद को किस प्रकार प्रभावित करेगा और क्यों?
  2. बेकिंग सोडा को किस प्रकार बेकिंग पाउडर में परिवर्तित किया जा सकता है?
  3. टार्टरिक अम्ल का बेकिंग सोडा में मिलाने का क्या महत्व है?

उत्तर:

  1. गर्म करने पर बेकिंग सोडा धावन सोडा में परिवर्तित हो जाता है जिसका स्वाद कड़वा होता है। इसलिए केक में कड़वापन आ जाता है।
  2. बेकिंग सोडा में उपयुक्त मात्रा में टार्टरिक अम्ल मिलाने से बेकिंग सोडा बेकिंग पाउडर में परिवर्तित हो जाता है।
  3. टार्टरिक एसिड बेकिंग के समय बेकिंग सोडा के गर्म होने पर बने धावन सोडा से अभिक्रिया करके उसे उदासीन कर देता है। इस कारण केक का स्वाद कड़वा नहीं होता।

प्रश्न 3.
एक धातु का कार्बोनेट X एक अम्ल से अभिक्रिया करके एक गैस निकालता है जिसे एक विलयन Y में प्रवाहित करने पर पुनः धातु कार्बोनेट बनाता है। दूसरी तरफ एक गैस G जो नमक के विलयन के विद्युत् अपघटन के समय धनाग्र पर प्राप्त होती है, को यदि शुष्क Y पर प्रवाहित करते हैं तो एक यौगिक Z बनता है जिसका उपयोग पीने की पानी को कीटाणु रहित बनाने के काम आता है। X, Y,G एवं Z की पहचान कीजिए।
उत्तर:
नमक के विलयन के विद्युत् अपघटन के समय धनाग्र पर प्राप्त गैस क्लोरीन होती है अतः G क्लोरीन गैस (Cl2) है। जब क्लोरीन गैस को शुष्क Ca(OH)2 अर्थात् (Y) में प्रवाहित करने पर ब्लीचिंग पाउडर (CaOCl2) बनता है अत: Y बुझा चूना [Ca(OH)2] है तथा Z ब्लीचिंग पाउडर (CaOCl2) है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 17
चूँकि Y एवं Z कैल्सियम लवण हैं इसलिए X भी कैल्सियम लवण होगा। अतः X कैल्सियम कार्बोनेट [CaCO3] है, चूँकि
CaCO3 + 2HCl → CaCl2 + CO2 + H2O
Ca(OH)2 + CO2 → CaCO3 + H2O

प्रश्न 4.
आवर्त तालिका के समूह – दो के एक तत्व का सल्फेट लवण एक सफेद एवं मुलायम पदार्थ है। इसकी लोई (लुग्दी) बनाकर इसे किसी भी आकार में ढाला जा सकता है। यदि इस यौगिक को कुछ समय के लिए वायु में खुला छोड़ दिया जाता है तो यह एक ठोस पदार्थ बनाता है जिसे ढालने के उद्देश्य से प्रयुक्त नहीं किया जा सकता। इस सल्फेट लवण की पहचान कीजिए और बताइए कि वह ऐसा व्यवहार क्यों करता है? सम्बन्धित अभिक्रियाओं के समीकरण भी दीजिए।
उत्तर:
वह पदार्थ जो विभिन्न आकार की वस्तुएँ बनाने के काम आता है, वह प्लास्टर ऑफ पेरिस है। इसका रासायनिक नाम कैल्सियम सल्फेट हेमीहाइड्रेट [CaSO4. \(\frac { 1 }{ 2 } \) H2O] है अर्थात् CaSO4 के दो सूत्र मात्रक एक अणु जल से युक्त होते हैं। अर्थात् [2CaSO4.H2O]. इसलिए परिणामस्वरूप यह मुलायम होता है।
जब यह पदार्थ हवा में कुछ समय के लिए छोड़ दिया जाता है तो यह वायुमण्डल से नमी (आर्द्रता) का अवशोषण करके जलयोजित होकर एक कठोर ठोस पदार्थ जिप्सम बनाता है जिसका उपयोग ढालने के उद्देश्य से नहीं किया जा सकता।
अभिक्रिया का समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 18

प्रश्न 5.
निम्न अभिक्रियाओं के आधार पर यौगिक X की पहचान कीजिए। साथ ही A, B एवं C के नाम एवं रासायनिक सूत्र भी लिखिए –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 2 अम्ल, क्षारक एवं लवण 19उत्तर:
X = सोडियम हाइड्रॉक्साइड [NaOH]
A = सोडियम जिंकेट [Na2ZnO2]
B = सोडियम क्लोराइड [NaCl]
C = सोडियम ऐसीटेट [CH3COONa]

MP Board Class 10th Science Solutions

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु

MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु

MP Board Class 10th Science Chapter 3 पाठान्तर्गत प्रश्नोत्तर

प्रश्न श्रृंखला-1 # पृष्ठ संख्या 45

प्रश्न 1.
ऐसी धातु का उदाहरण दीजिए जो –
(i) कमरे के ताप पर द्रव होती है।
(ii) चाकू से आसानी से काटी जा सकती है।
(iii) ऊष्मा की सबसे अच्छी चालक होती है।
(iv) ऊष्मा की कुचालक होती है।
उत्तर:
(i) पारद (मर्करी)
(ii) सोडियम
(ii) सिल्वर एवं कॉपर
(iv) लेड एवं मर्करी

प्रश्न 2.
‘आघातवर्थ्य’ तथा ‘तन्य’ का अर्थ बताइए।
उत्तर:
आघातवर्ध्य: “वे धातुएँ जो पीटने पर पतली चादर की तरह फैल जाती हैं, आघातवर्ध्य कहलाती हैं।
तन्य: वे धातुएँ जिनके तार खींचे जा सकते हैं, तन्य कहलाती हैं।

प्रश्न श्रृंखला-2 # पृष्ठ संख्या 51

प्रश्न 1.
सोडियम को कैरोसीन में डुबोकर क्यों रखा जाता है?
उत्तर:
सोडियम धातु वायुमण्डल की नमी (आर्द्रता) के प्रति अतिक्रियाशील होती है। इसलिए इसे कैरोसीन में डुबोकर रखा जाता है, ताकि यह नमी के सम्पर्क में न आए।

प्रश्न 2.
निम्न अभिक्रियाओं के लिए समीकरण लिखिए –

  1. भाप के साथ आयरन।
  2. जल के साथ कैल्सियम तथा पोटैशियम।

उत्तर:
1. 3Fe + 4H2O → Fe3O4 + 4H2
2. Ca + 2H2O → Ca(OH)2 + H2
2K + 2H2O → 2KOH + H2

प्रश्न 3.
A, B, C एवं D चार धातुओं के नमूनों को लेकर एक – एक करके निम्न विलयन में डाला गया। इसमें प्राप्त परिणाम को निम्न प्रकार से सारणीबद्ध किया गया है –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 1
इस सारणी का उपयोग करके धातु A, B, C एवं D के सम्बन्ध में निम्न प्रश्नों के उत्तर दीजिए –

  1. सबसे अधिक अभिक्रियाशील धातु कौन – सी है?
  2. धातु B को कॉपर (II) सल्फेट के विलयन में डाला जाए तो क्या होगा?
  3. धातु A, B, C एवं D को क्रियाशीलता के घटते हुए क्रम में लिखिए।

उत्तर:

  1. सबसे अधिक क्रियाशील धातु: ‘B’ है।
  2. जब धातु B को कॉपर (II) सल्फेट के नीले विलयन में डाला जाता है तो विलयन का रंग उड़ जाता है तथा धातु ‘B’ पर एक भूरे रंग की कॉपर की परत चढ़ जाती है तथा BSO4 का रंगहीन विलयन प्राप्त होता है।
  3. क्रियाशीलता के घटते क्रम में: B > A > C > D

प्रश्न 4.
अभिक्रियाशील धातु को तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल में डाला जाता है, तो कौन – सी गैस निकलती है? आयरन के साथ तनु H2SO4 की रासायनिक अभिक्रिया लिखिए।
उत्तर:
जब अभिक्रियाशील धातु को तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल में डाला जाता है तो हाइड्रोजन गैस निकलती है।

आयरन के साथ तनु H2SO4 की अभिक्रिया:
जब आयरन के साथ तनु H2SO4 की अभिक्रिया करायी जाती है तो आयरन सल्फेट (फेरस सल्फेट) का हरा विलयन प्राप्त होता है और हाइड्रोजन गैस निकलती है।
Fe + dil. H2SO4 → FeSO4 + H2

MP Board Solutions

प्रश्न 5.
जिंक को आयरन (II) सल्फेट के विलयन में डालने से क्या होता है? इसकी रासायनिक अभिक्रिया लिखिए।
उत्तर:
आयरन (II) सल्फेट विलयन का रंग उड़ जाता है तथा रंगहीन जिंक सल्फेट का विलयन बनता है तथा जिंक पर आयरन की परत चढ़ जाती है।
Zn + FeSO4 → ZnSO4 + Fe

प्रश्न शृंखला-3 # पृष्ठ संख्या 54

प्रश्न 1.

  1. सोडियम, ऑक्सीजन एवं मैग्नीशियम के लिए इलेक्ट्रॉन बिन्दु संरचना लिखिए।
  2. इलेक्ट्रॉन के स्थानान्तरण के द्वारा Na2O एवं MgO का निर्माण दर्शाइए।
  3. इन यौगिकों में कौन – से आयन उपस्थित हैं?

उत्तर:
1. सोडियम, ऑक्सीजन एवं मैग्नीशियम की इलेक्ट्रॉन बिन्दु संरचना:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 2
2.
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 3
3. Na2O में 2Na+ आयन एवं एक O2- आयन है।
MgO में एक Mg2+ आयन एवं एक O2- आयन है।

प्रश्न 2.
आयनिक यौगिकों के उच्च गलनांक क्यों होते हैं? (2019)
उत्तर:
चूँकि प्रबल अन्तर:
आयनिक आकर्षण को तोड़ने के लिए ऊर्जा की पर्याप्त मात्रा की आवश्यकता होती है। इसलिए आयनिक यौगिकों के उच्च गलनांक होते हैं।

प्रश्न शृंखला-4 # पृष्ठ संख्या 59

प्रश्न 1.
निम्न पदों की परिभाषा दीजिए –

  1. खनिज।
  2. अयस्क (2019)।
  3. गेंग (2019)।

उत्तर:

  1. खनिज: “पृथ्वी से प्राप्त वे प्राकृतिक पदार्थ, जिनमें धातुएँ या उनके यौगिक किसी न किसी रूप में समाहित होते हैं, खनिज कहलाते हैं।”
  2. अयस्क: “ऐसे खनिज जिनसे धातुओं का आसानी से तथा लाभदायक तरीके से निष्कर्षण किया जा सकता है, अयस्क कहलाते हैं।”
  3. गेंग: “अयस्क में उपस्थित व्यर्थ पदार्थ (रेत, मिट्टी आदि) गेंग कहलाते हैं”।

प्रश्न 2.
दो धातुओं के नाम बताइए जो प्रकृति में मुक्त अवस्था में पाई जाती हैं।
उत्तर:

  1. सोना।
  2. चाँदी।

प्रश्न 3.
धातु को उसके ऑक्साइड से प्राप्त करने के लिए किस रासायनिक प्रक्रम का उपयोग किया जाता है?
उत्तर:
अपचयन का।

प्रश्न शृंखला-5 # पृष्ठ संख्या 61

प्रश्न 1.
जिंक, मैग्नीशियम एवं कॉपर के धात्विक ऑक्साइडों को अग्र धातुओं के साथ गर्म किया गया –

धातु धातु जिंक मैग्नीशियम कॉपर
जिंक ऑक्साइड
मैग्नीशियम ऑक्साइड
कॉपर ऑक्साइड

किस स्थिति में विस्थापन अभिक्रिया घटित होगी?
उत्तर:
जब कॉपर ऑक्साइड मैग्नीशियम के साथ गर्म किया जाता है तो विस्थापन होगा।

प्रश्न 2.
कौन – सी धातु आसानी से संक्षारित नहीं होती है?
उत्तर:
गोल्ड (सोना)।

प्रश्न 3.
मिश्रातु क्या होते हैं?
उत्तर:
मिश्रातु:
“दो या दो से अधिक धातुओं के समांगी मिश्रण को मिश्रातु कहते हैं।”

MP Board Class 10th Science Chapter 3 पाठान्त अभ्यास के प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
निम्नलिखित में कौन – सा युगल विस्थापन अभिक्रिया प्रदर्शित करता है?
(a) NaCl विलयन एवं कॉपर धातु।
(b) MgCl2 विलयन एवं ऐलुमिनियम धातु।
(c) FeSO4 विलयन एवं सिल्वर धातु।
(d) AgNO3 विलयन एवं कॉपर धातु।
उत्तर:
(d) AgNO3 विलयन एवं कॉपर धातु।

प्रश्न 2.
लोहे के फ्राइंग पैन (Frying pan) को जंग से बचाने के लिए निम्नलिखित में से कौन – सी विधि उपयुक्त है?
(a) ग्रीस लगाकर।
(b) पेंट लगाकर।
(c) जिंक की परत चढ़ाकर।
(d) ये सभी।
उत्तर:
(c) जिंक की परत चढ़ाकर।

प्रश्न 3.
कोई धातु ऑक्सीजन के साथ अभिक्रिया कर उच्च गलनांक वाला यौगिक निर्मित करती है। यह यौगिक जल में विलेय है। यह तत्व क्या हो सकता है?
(a) कैल्सियम।
(b) कार्बन।
(c) सिलिकन।
(d) लोहा।
उत्तर:
(a) कैल्सियम।

प्रश्न 4.
खाद्य पदार्थों के डिब्बों पर जिंक के बजाय टिन का लेप होता है, क्योंकि?
(a) टिन की अपेक्षा जिंक महँगा है।
(b) टिन की अपेक्षा जिंक का गलनांक अधिक है।
(c) टिन की अपेक्षा जिंक अधिक अभिक्रियाशील है।
(d) टिन की अपेक्षा जिंक कम अभिक्रियाशील है।
उत्तर:
(c) टिन की अपेक्षा जिंक अधिक अभिक्रियाशील है।

प्रश्न 5.
आपको एक हथौड़ा, बैटरी, बल्ब, तार एवं स्विच दिया गया है –
(a) इनका उपयोग कर धातुओं एवं अधातुओं के नमूनों के बीच आप विभेद कैसे कर सकते हैं?
(b) धातुओं और अधातुओं में विभेदन के लिए इन परीक्षणों की उपयोगिताओं का आकलन कीजिए।
उत्तर:
(a) (i) हम दिए गए हथौड़े से दिए हुए नमूनों पर प्रहार करेंगे अगर वे टुकड़े – टुकड़े होकर बिखर गए तो अधातु तथा यदि चादर की तरह फैल गए तो धातु है।
(ii) बैटरी, बल्ब, स्विच को तार के माध्यम से श्रेणीक्रम में जोड़कर दोनों नमूनों में होकर विद्युत् धारा प्रवाहित करेंगे। विद्युत् धारा जिस नमूने में होकर प्रवाहित हो जाती है अर्थात् बल्ब जल जाता है वह धातु है अन्यथा अधातु।
(b) उपर्युक्त परीक्षण एकदम विश्वस्त नहीं है, क्योंकि कुछ धातुएँ भंगुर होती हैं तथा ग्रेफाइट अधातु होते हुए भी विद्युत् धारा की सुचालक होती है।

MP Board Solutions

प्रश्न 6.
उभयधर्मी ऑक्साइड क्या होते हैं? दो उभयधर्मी ऑक्साइडों का उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
उभयधर्मी ऑक्साइड:
“जो ऑक्साइड अम्लीय एवं क्षारकीय दोनों गुणों को प्रदर्शित करते हैं, वे उभयधर्मी ऑक्साइड कहलाते हैं।”
अथवा
“जो ऑक्साइड अम्लों एवं क्षारों, दोनों से अभिक्रिया करके लवण एवं जल बनाते हैं, वे उभयधर्मी ऑक्साइड कहलाते हैं।”
उदाहरण:

  1. ऐलुमिनियम ऑक्साइड (Al2O3)।
  2. जिंक ऑक्साइड (ZnO)।

प्रश्न 7.
दो धातुओं के नाम बताइए जो तनु अम्ल से हाइड्रोजन को विस्थापित कर देंगी तथा दो धातुएँ जो ऐसा नहीं कर सकतीं।
उत्तर:
तनु अम्लों से हाइड्रोजन विस्थापित करने वाली धातुएँ –

  1. मैग्नीशियम (Mg)।
  2. जिंक (Zn)।

तनु अम्लों से हाइड्रोजन विस्थापित नहीं कर सकने वाली धातुएँ –

  1. कॉपर (Cu)।
  2. सिल्वर (Ag)।

प्रश्न 8.
किसी धातु M के विद्युत् अपघटनी परिष्करण में आप ऐनोड, कैथोड एवं विद्युत् अपघटन किसे बनाएँगे?
उत्तर:
कैथोड – शुद्ध M धातु, ऐनोड – अशुद्ध M धातु एवं विद्युत् अपघट्य – धातु M के किसी विलेय यौगिक का जलीय विलयन।

प्रश्न 9.
प्रत्यूष ने सल्फर चूर्ण को स्पैचुला में लेकर गर्म किया। संलग्न आकृति के अनुसार एक परखनली को उल्टा करके उसने उत्सर्जित गैस को एकत्रित किया
(a) गैस की क्रिया क्या होगी?
(i) सूखे लिटमस पत्र पर? सल्फर पाउडर
(ii) आदें लिटमस पत्र पर?
(b) ऊपर की अभिक्रियाओं के लिए संतुलित रासायनिक अभिक्रिया लिखिए।
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 4
(a)
(i) सूखे लिटमस पत्र पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।
(ii) आर्द्र नीले लिटमस को लाल कर देती है, क्योंकि एकत्रित गैस सल्फर डाइऑक्साइड है जो पानी से क्रिया करके सल्फ्यूरिक अम्ल बनाती है।
(b)
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 5

प्रश्न 10.
लोहे को जंग से बचाने के लिए दो तरीके बताइए। (2019)
उत्तर:
लोहे को जंग से बचाने के दो तरीके:

  1. यशदलेपन – लोहे पर जस्ते की परत चढ़ा देते हैं।
  2. क्रोमियम लेपन – लोहे पर क्रोमियम की परत चढ़ा देते हैं।

प्रश्न 11.
ऑक्सीजन के साथ संयुक्त होकर अधातुएँ कैसा ऑक्साइड बनाती हैं? (2019)
उत्तर:
ऑक्सीजन अधातुओं से संयुक्त होकर प्रायः अम्लीय ऑक्साइड बनाती हैं, लेकिन कुछ ऑक्साइड उदासीन भी होते हैं।

प्रश्न 12.
कारण बताइए –

  1. प्लेटिनम, सोना एवं चाँदी का उपयोग आभूषण बनाने के लिए किया जाता है। (2019)
  2. सोडियम, पोटैशियम एवं लीथियम को तेल के अन्दर संग्रहीत किया जाता है।
  3. ऐलुमिनियम अत्यन्त अभिक्रियाशील धातु है, फिर भी इसका उपयोगखाना बनाने में किया जाता है।
  4. निष्कर्षण प्रक्रम में कार्बोनेट एवं सल्फाइड अयस्क को ऑक्साइड में परिवर्तित किया जाता है।

उत्तर:

  1. प्लेटिनम, सोना एवं चाँदी अत्यन्त ही क्षीण क्रियाशील होती हैं तथा इनका संक्षारण नहीं होता इसलिए इनका उपयोग आभूषण बनाने के लिए किया जाता है।
  2. सोडियम, पोटैशियम एवं लीथियम अतिक्रियाशील धातुएँ हैं और वायुमण्डल की आर्द्रता (नमी) से भी क्रिया कर सकती हैं। इसलिए इन्हें बचाने के लिए इनको तेल के अन्दर संग्रहीत किया जाता है ताकि ये नमी के सम्पर्क में न आएँ।
  3. ऐलुमिनियम ऊष्मा की अच्छी चालक है तथा इसका गलनांक उच्च होता है। यह खौलते जल से भी अभिक्रिया नहीं करती तथा हल्के अम्लों से भी नहीं। इनकी क्रियाशीलता क्षारों के प्रति अधिक होती है जो खाना बनाने में प्रयुक्त नहीं होते। इसलिए अत्यन्त अभिक्रियाशील होते हुए भी इनका उपयोग खाना बनाने वाले बर्तनों को बनाने में किया जाता है।
  4. कार्बोनेट एवं सल्फाइड अयस्कों को निष्कर्षण प्रक्रम में ऑक्साइड में परिवर्तित किया जाता है क्योंकि ऑक्साइडों का अपचयन करके धातु आसानी से निष्कर्षित की जा सकती है।

प्रश्न 13.
आपने ताँबे के मलीन बर्तनों को नींबू या इमली के रस से साफ करते अवश्य देखा होगा। यह खट्टे पदार्थ बर्तन को साफ करने में क्यों प्रभावी हैं?
उत्तर:
ताँबे के बर्तनों के ऊपर क्षारकीय ऑक्साइडों की परत जम जाने के कारण वे मलीन हो जाते हैं। नींबू, इमली या अन्य खट्टे पदार्थों में हल्का अम्ल होता है जो क्षारकीय परत से अभिक्रिया करके उसे उदासीन कर देता है और हटा देता है जिससे ताँबे के बर्तन चमकने लगते हैं। इसलिए खट्टे पदार्थ बर्तन को साफ करने में प्रभावी हैं।

प्रश्न 14.
रासायनिक गुणधर्म के आधार पर धातुओं एवं अधातुओं में विभेद कीजिए। (2019)
उत्तर:
रासायनिक गुणधर्मों के आधार पर धातुओं एवं अधातुओं में विभेद –
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 6

प्रश्न 15.
एक व्यक्ति प्रत्येक घर में सुनार बनकर जाता है। उसने पुराने एवं मलीन सोने के आभूषणों में पहले जैसी चमक पैदा करने का ढोंग रचाया। कोई संदेह किए बिना ही एक महिला अपने सोने के कंगन उसे देती है, जिसे वह एक विशेष विलयन में डाल देता है। कंगन नए की तरह चमकने लगते हैं, लेकिन उनका वजन अत्यन्त कम हो जाता है। वह महिला बहुत दुखी होती है तथा तर्क-वितर्क के पश्चात् उस व्यक्ति को झुकना पड़ता है। एक जासूस की तरह क्या आप उस विलयन की प्रकृति के बारे में बता सकते हैं?
उत्तर:
हाँ, बता सकते हैं। वह विलयन एक तीव्र विलायक है जो सोने को अपने अन्दर घोल लेता है। इसका नाम अम्लराज (ऐक्वा रेजिया) कहलाता है।

प्रश्न 16.
गर्म जल का टैंक बनाने में ताँबे का उपयोग होता है, परन्तु इस्पात (लोहे की मिश्रातु) का नहीं। इसका कारण बताइए।
उत्तर:
ताँबा इस्पात (लोहे की एक मिश्रातु) से कहीं अधिक ऊष्मा का चालक होता है। इसलिए गर्म पानी का टैंक बनाने में ताँबे का उपयोग होता है, परन्तु इस्पात (लोहे का एक मिश्रातु) का नहीं।

MP Board Class 10th Science Chapter 3 परीक्षोपयोगी अतिरिक्त प्रश्नोत्तर

MP Board Class 10th Science Chapter 3 वस्तुनिष्ठ प्रश्न

बहुविकल्पीय प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्न में कौन – सा गुण प्रायः धातुओं द्वारा प्रदर्शित नहीं किया जाता?
(a) विद्युत् संचालन।
(b) ध्वानिक प्रकृति।
(c) चमकहीनता।
(d) तन्यता।
उत्तर:
(c) चमकहीनता।
प्रश्न 2.
पतले तारों में धातुओं के खींचे जा सकने की क्षमता कहलाती है –
(a) तन्यता।
(b) आघातवर्ध्यता।
(c) ध्वानिकता।
(d) चालकता।
उत्तर:
(a) तन्यता।

प्रश्न 3.
ऐलुमिनियम का प्रयोग खाना बनाने के बर्तन बनाने में होता है। ऐलुमिनियम का निम्न में से कौन – सा गुण इसके उपयुक्त है?
(i) ऊष्मा की प्रचालकता।
(ii) विद्युत् की सुचालकता।
(iii) तन्यता।
(iv) उच्च गलनांक।
(a) (i) एवं (ii)।
(b) (i) एवं (iii)।
(c) (ii) एवं (iii)।
(d) (i) एवं (iv)।
उत्तर:
(d) (i) एवं (iv)।

प्रश्न 4.
निम्नलिखित में से कौन – सी धातु ठंडे एवं गर्म जल में अभिक्रिया नहीं करती है?
(a) Na
(b) Ca
(c) Mg
(d) Fe
उत्तर:
(d) Fe

प्रश्न 5.
निम्नलिखित में से आयरन के कौन से ऑक्साइड आयरन का स्टीम के साथ लम्बी अभिक्रिया के फलस्वरूप प्राप्त होंगे?
(a) FeO
(b) Fe2O3
(c) Fe3O4
(d) Fe2O3 ta Fe3O4
उत्तर:
(c) Fe3O4

प्रश्न 6.
जब कैल्सियम की अभिक्रिया जल में होती है तो क्या होता है?
(i) यह जल से अभिक्रिया नहीं करती।
(ii) यह जल से तीव्रता से अभिक्रिया करती है।
(iii) यह जल से कम तीव्रता से अभिक्रिया करती है।
(iv) हाइड्रोजन के बनने वाले बुलबुले कैल्सियम की सतह पर चिपक जाते हैं।
(a) (i) एवं (iv)।
(b) (ii) एवं (iii)।
(c) (i) एवं (ii)।
(d) (iii) एवं (iv)।
उत्तर:
(d) (iii) एवं (iv)।

प्रश्न 7.
सामान्यतः धातुएँ अम्लों से अभिक्रिया करके लवण एवं हाइड्रोजन गैस देती हैं। निम्नलिखित में से कौन – सा अम्ल धातुओं से अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस नहीं देता (Mn एवं Mg को छोड़कर) –
(a) H2SO4
(b) HCl
(c) HNO3
(d) ये सभी।
उत्तर:
(c) HNO3

प्रश्न 8.
अम्लराज (ऐक्वा रेजिया) का संघटन है?
(a) तनु HCl: सान्द्र HNO3 = 3 : 1
(b) सान्द्र HCl: तनु HNO3 = 3 : 1
(c) सान्द्र HCl: सान्द्र HNO3 = 3 : 1
(d) तनु HCl: तनु HNO3 = 3 : 1
उत्तर:
(c) सान्द्र HCl: सान्द्र HNO3 = 3 : 1

प्रश्न 9.
निम्न में कौन आयनिक यौगिक नहीं है?
(i) KCl
(ii) HCl
(iii) CCl4
(iv) NaCl
(a) (i) एवं (ii)।
(b) (ii) एवं (iii)।
(c) (iii) एवं (iv)।
(d) (i) एवं (iii)।
उत्तर:
(b) (ii) एवं (iii)

प्रश्न 10.
निम्न में से किस गुण का प्रदर्शन सामान्यतः आयनिक यौगिकों द्वारा नहीं किया जाता है?
(a) जल में विलेयता।
(b) ठोस अवस्था में विद्युत् चालकता।
(c) उच्च गलनांक एवं क्वथनांक।
(d) पिघली अवस्था में विद्युत् चालकता।
उत्तर:
(b) ठोस अवस्था में विद्युत् चालकता

प्रश्न 11.
निम्नलिखित में कौन-सी धातु प्रकृति में स्वतन्त्र अवस्था में मिलती है?
(i) Cu
(ii) Au
(iii) Zn
(iv) Ag
(a) (i) एवं (ii)।
(b) (ii) एवं (iii)।
(c) (ii) एवं (iv)।
(d) (iii) एवं (iv)।
उत्तर:
(c) (ii) एवं (iv)।

प्रश्न 12.
धातुओं का निष्कर्षण अनेक विधियों से होता है। निम्न में से किन धातुओं का निष्कर्षण विद्युत् निष्कर्षण से होता है?
(i) Au
(ii) Cu
(iii) Na
(iv) K
(a) (i) एवं (ii)
(b) (i) एवं (iii)
(c) (ii) एवं (iii)
(d) (iii) एवं (iv)
उत्तर:
(a) (i) एवं (ii)

प्रश्न 13.
वायु में अधिक समय तक खुला छोड़ देने पर चाँदी की वस्तुएँ काली पड़ जाती हैं। यह निम्न बनने के कारण होता है –
(a) Ag3N
(b) Ag2O
(c) Ag2S
(d) Ag3N
उत्तर:
(c) Ag2S

प्रश्न 14.
यशदलेपन, लोहे को जंग लगने से बचाने के लिए उस पर निम्न की परत चढ़ाने की प्रक्रिया है।
(a) गेलियम।
(b) ऐलुमिनियम।
(c) जिंक।
(d) चाँदी।
उत्तर:
(c) जिंक।

प्रश्न 15.
स्टेनलेस स्टील हमारे जीवन के लिए अत्यन्त उपयोगी है। स्टेनलेस स्टील में आयरन के साथ मिला होता है –
(a) Ni एवं Cr
(b) Cu एवं Cr
(c) Ni एवं Cu
(d) Cu एवं Au
उत्तर:
(a) Ni एवं Cr

प्रश्न 16.
यदि कॉपर को वायु में खुला छोड़ दिया जाता है तो धीरे – धीरे यह अपनी ब्राउन चमकीली सतह को खोता जाता है और उस पर एक हरी परत जमती जाती है जो निम्न के बनने के कारण होती है –
(a) CuSO4
(b) CuCO3
(c) Cu(NO3)2
(d) CuO
उत्तर:
(b) CuCO3

प्रश्न 17.
प्रायः धातुएँ ठोस होती हैं। निम्न में कौन धातु कमरे के ताप पर दव अवस्था में पायी जाती है?
(a) Na
(b) Fe
(c) Cr
(d) Hg
उत्तर:
(d) Hg

प्रश्न 18.
निम्न में कौन – सी धातुएँ उनके क्लोराइडों के पिघली अवस्था में विद्युत् अपघटन से प्राप्त होती है?
(i) Na
(ii) Ca
(iii) Fe
(iv) Cu
(a) (i) एवं (iv)।
(b) (iii) एवं (iv)।
(c) (i) एवं (iii)।
(d) (i) एवं (ii)।
उत्तर:
(d) (i) एवं (ii)।

प्रश्न 19.
सामान्यतः अधातुएँ चमकहीन होती हैं, लेकिन निम्नलिखित में से कौन – सी अधातु में चमक
होती है?
(a) सल्फर।
(b) ऑक्सीजन।
(c) नाइट्रोजन।
(d) आयोडीन।
उत्तर:
(d) आयोडीन।

प्रश्न 20.
निम्नलिखित चार धातुओं में से कौन – सी धातु अपने विलयन में से अन्य तीन धातुओं से विस्थापित होगी?
(a) Mg
(b) Ag
(c) Zn
(d) Cu
उत्तर:
(b) Ag

प्रश्न 21.
सान्द्र HCl, सान्द्र HNO3 एवं सान्द्र HCl तथा सान्द्र HNO3 के 3:1 के अनुपात वाले मिश्रण में से प्रत्येक से 2 ml लेकर तीन अलग – अलग परखनलियों क्रमश: A, B एवं C में डाला फिर एक धातु का टुकड़ा प्रत्येक परखनली में डाला तो हम देखते हैं कि परखनली A एवं परखनली B में कोई परिवर्तन नहीं हुआ लेकिन धातु परखनली C में घुल गई तो वह धातु हो सकती है –
(a) Al
(b) Au
(c) Cu
(d) Pt
उत्तर:
(b) Au

प्रश्न 22.
एक मिश्रातु है –
(a) एक तत्व।
(b) एक यौगिक।
(c) एक समांग मिश्रण।
(d) एक विषमांग मिश्रण।
उत्तर:
(c) एक समांग मिश्रण

प्रश्न 23.
एक इलेक्ट्रोलाइटिक सेल में होता है –
(a) धनावेशित कैथोड।
(b) ऋणावेशित एनोड।
(c) धनावेशित ऐनोड।
(d) ऋणावेशित कैथोड।
उत्तर:
(b) ऋणावेशित एनोड

प्रश्न 24.
जिंक के इलेक्ट्रोलाइटिक शोधन में यह होता है –
(a) कैथोड पर एकत्रित
(b) ऐनोड पर एकत्रित
(c) कैथोड एवं ऐनोड दोनों पर एकत्रित
(d) विलयन में रहता है।
उत्तर:
(a) कैथोड पर एकत्रित

प्रश्न 25.
एक तत्व A मुलायम है और चाकू से काटा जा सकता है। यह वायु के प्रति अतिक्रियाशील है और यह हवा में खुला नहीं रखा जा सकता। यह जल से बहुत तीव्र अभिक्रिया करता है। निम्नलिखित में से उस तत्व A की पहचान कीजिए –
(a) Mg
(b) Na
(c) P
(d) Ca
उत्तर:
(b) Na

प्रश्न 26.
मिश्रातु एक धातु एवं दूसरी धातु अथवा अधातु के समांगी मिश्रण होते हैं। निम्न में कौन मिश्रातु में एक अधातु अवयव होता है?
(a) पीतल।
(b) कॉपर।
(c) अमलगम।
(d) स्टील।
उत्तर:
(d) स्टील।

प्रश्न 27.
मैग्नीशियम धातु के लिए निम्न में कौन – सा कथन असत्य है?
(a) यह ऑक्सीजन में चमकदार सफेद ज्वाला के साथ जलता है।
(b) यह ठंडे जल के साथ क्रिया करके मैग्नीशियम ऑक्साइड बनाता है और हाइड्रोजन गैस निकालता है।
(c) यह गर्म जल के साथ अभिक्रिया करके मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड बनाता है और हाइड्रोजन गैस देता है।
(d) यह जलवाष्प से अभिक्रिया करके मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड बनाता है और हाइड्रोजन गैस देता है।
उत्तर:
(b) यह ठंडे जल के साथ क्रिया करके मैग्नीशियम ऑक्साइड बनाता है और हाइड्रोजन गैस निकालता है।

प्रश्न 28.
निम्न मिश्रातुओं में से किसमें मरकरी (पारा) एक अवयव की तरह होता है?
(a) स्टेनलेस स्टील।
(b) एल्नीको।
(c) सोल्डर।
(d) जिंक अमलगम।
उत्तर:
(d) जिंक अमलगम।

प्रश्न 29.
X एवं Y के मध्य अभिक्रिया के फलस्वरूप एक यौगिक Z बनता है। X इलेक्ट्रॉन खोता है तथा Y इलेक्ट्रॉन ग्रहण करता है। निम्नलिखित में कौन – सा गुण Z प्रदर्शित नहीं करता है?
(a) उच्च गलनांक।
(b) निम्न गलनांक।
(c) गलित अवस्था में विद्युत् चालन।
(d) ठोस अवस्था में प्राप्ति।
उत्तर:
(b) निम्न गलनांक।

प्रश्न 30.
तीन तत्वों X, Y एवं 2 के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास निम्न हैं – X → 2, 8, Y → 2, 8, 7 एवं Z → 2, 8, 2. निम्न में कौन – सा कथन सत्य है?
(a) X एक धातु है।
(b) Y एक धातु है।
(c) Z एक अधातु है।
(d) Y अधातु तथा Z धातु है।
उत्तर:
(d) Y अधातु तथा Z धातु है।

प्रश्न 31.
यद्यपि धातुएँ क्षारकीय ऑक्साइड बनाती हैं, लेकिन निम्नलिखित में कौन-सी धातु उभयधर्मी ऑक्साइड बनाती है?
(a) Na
(b) Ca
(c) Al
(d) Cu
उत्तर:
(c) Al

प्रश्न 32.
सामान्यतः अधातुएँ विद्युत् की अचालक होती हैं, लेकिन निम्नलिखित में कौन विद्युत् की सुचालक है?
(a) हीरा।
(b) ग्रेफाइट।
(c) सल्फर।
(d) फुलैरिन।
उत्तर:
(b) ग्रेफाइट।

प्रश्न 33.
विद्युत् तारों पर एक अचालक पदार्थ की परत चढ़ी होती है। सामान्यतः इसके लिए प्रयुक्त पदार्थ होता है –
(a) सल्फर।
(b) ग्रेफाइट।
(c) PVC।
(d) इनमें से कोई नहीं।
उत्तर:
(c) PVC।

प्रश्न 34.
निम्न में से कौन अधातु द्रव होती है?
(a) कार्बन।
(b) ब्रोमीन।
(c) फॉस्फोरस।
(d) सल्फर।
उत्तर:
(b) ब्रोमीन।

प्रश्न 35.
निम्न में से कौन रासायनिक अभिक्रिया करेगा?
(a) MgSO4 + Fe
(b) ZnSO4 + Fe
(c) MgSO4 + Pb
(d) CuSO4 + Fe
उत्तर:
(d) CuSO4 + Fe

रिक्त स्थानों की पूर्ति

  1. धातुएँ प्रायः ऊष्मा एवं विद्युत की …………. होती हैं।
  2. आघातवर्ध्यनीयता एवं तन्यता ………….. का प्रमुख गुण है।
  3. भंगुरता प्रायः …….. का प्रमुख गुण है।
  4. अधातुएँ प्रायः विद्युत् की ………….. होती हैं।
  5. …… का उपयोग थर्मामीटर एवं बैरोमीटर में किया जाता है।

उत्तर:

  1. सुचालक।
  2. धातुओं।
  3. अधातुओं।
  4. अचालक।
  5. पारा (मर्करी)।

जोड़ी बनाइए
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 7
उत्तर:

  1. → (c)
  2. → (d)
  3. → (e)
  4. → (a)
  5. → (b)

सत्य/असत्य कथन

  1. सोडियम अतिक्रियाशील धातु है।
  2. दो अधातुओं के समांग मिश्रण को मिश्रातु कहते हैं।
  3. धातुओं के ऑक्साइड प्रायः क्षारकीय प्रकृति के होते हैं।
  4. स्टैनलैस स्टील में ताँबा मिला होता है।
  5. अधातुओं के ऑक्साइड प्रायः अम्लीय प्रकृति के होते हैं।

उत्तर:

  1. सत्य।
  2. असत्य।
  3. सत्य।
  4. असत्य।
  5. सत्य।

एक शब्द/वाक्य में उत्तर

  1. जो धातुएँ कठोर सतह से टकराने पर ध्वनि उत्पन्न करती हैं, उन्हें क्या कहते हैं?
  2. धातुओं की सतह चमकदार होती है, यह गुण क्या कहलाता है?
  3. पारे की मिश्रातु क्या कहलाती है?
  4. अयस्कों में उपस्थित मिट्टी एवं रेत की अशुद्धियाँ क्या कहलाती हैं?
  5. जब कोई तत्व प्रकृति में विभिन्न रूपों में पाया जाता है तो इस गुण को क्या कहते हैं?

उत्तर:

  1. ध्वानिक (सोनोरस)।
  2. धात्विक चमक।
  3. अमलगम।
  4. गेंग।
  5. अपररूपता।

MP Board Class 10th Science Chapter 3 अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
ध्वानिक (सोनोरस) किन्हें कहते हैं? उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
ध्वानिक (सोनोरस):”वे धातुएँ किसी कठोर सतह से टकराती हैं, तो वे ध्वनि करती हैं। उन धातुओं को ध्वानिक (सोनोरस) कहते हैं।
उदाहरण: मंदिर के घंटों एवं स्कूल की घंटी का धातु।

प्रश्न 2.
‘भर्जन’ से क्या समझते हो?
उत्तर:
भर्जन:
“सल्फाइड अयस्क को वायु की उपस्थिति में अधिक ताप पर गर्म करने से वह सम्बन्धित धातु के ऑक्साइड में परिवर्तित हो जाती है। इस प्रक्रिया को भर्जन कहते हैं”।

प्रश्न 3.
‘निस्तापन’ में क्या समझते हो?
उत्तर:
निस्तापन:
“कार्बोनेट अयस्कों को वायु की सीमित मात्रा में उच्च ताप पर गर्म करने पर वह सम्बन्धित धातु के ऑक्साइड में परिवर्तित हो जाता है। इस प्रक्रिया को निस्तापन कहते हैं”।

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
‘ऐनोड पंक’ किसे कहते हैं?
उत्तर:
ऐनोड पंक:
“जब धातुओं का विद्युत् अपघटनी परिष्करण (शोधन) किया जाता है तो अशुद्ध ऐनोड विद्युत् अपघटय में घुल जाता है तथा उसमें उपस्थित अविलेय अशुद्धियाँ ऐनोड की तली में एकत्रित हो जाती हैं, जिसे ऐनोड पंक कहते हैं।”

प्रश्न 5.
‘सक्रियता श्रेणी’ से क्या समझते हो?
उत्तर:
सक्रियता श्रेणी:
“वह सूची जिसमें धातुओं को उनकी क्रियाशीलता के अवरोही क्रम में व्यवस्थित किया जाता है, सक्रियता श्रेणी कहलाती है।”

प्रश्न 6.
अपररूपता से क्या समझते हो? कार्बन के दो प्रमुख अपररूपों के नाम लिखिए।
उत्तर:
अपररूपता:
“जब कोई तत्व प्रकृति में विभिन्न रूपों में मिलता है जिनके भौतिक गुणों में भिन्नता होती है, लेकिन रासायनिक गुण समान होते हैं, तो उनको उस तत्व के अपररूप एवं उनके इस गुण को अपररूपता कहते हैं”।

कार्बन के प्रमुख अपररूप:

  1. ग्रेफाइट।
  2. डायमण्ड (हीरा)।

प्रश्न 7.
यशदलेपन से क्या समझते हो?
उत्तर:
यशदलेपन:
“लोहा एवं इस्पात को जंग लगने (संक्षारण) से बचाने के लिए उस पर जिंक (जस्ते) की परत चढ़ा दी जाती है। इस प्रक्रिया को यशदलेपन कहते हैं”।

प्रश्न 8.
अमंलगम क्या होता है?
उत्तर:
अमलगम:
“जब किसी धातु जैसे जस्ता आदि पर पारे का लेप कर दिया जाता है तो वह धातु पारे से मिलकर पारे की मिश्रातु बनाती है, जिसे अमलगम कहते हैं।”

प्रश्न 9.
थर्मिट अभिक्रिया किन्हें कहते हैं?
उत्तर:
थर्मिट अभिक्रियाएँ:
“वे धातु विस्थापन अभिक्रियाएँ जिनमें अत्यधिक ऊष्मा उत्पन्न होती है जिससे विस्थापित धातु गलित अवस्था में प्राप्त होती है, थर्मिट अभिक्रियाएँ कहलाती हैं”।

प्रश्न 10.
अयस्कों से धातुओं के निष्कर्षण की प्रक्रिया में उनके सल्फाइड एवं कार्बोनेट अयस्कों को धातुओं के ऑक्साइड में क्यों परिवर्तित करना चाहिए?
उत्तर:
धातुओं के सल्फाइड एवं कार्बोनेटों की अपेक्षा उनके ऑक्साइड से धातुएँ अपचयन द्वारा प्राप्त करना अधिक आसान है।

प्रश्न 11.
सामान्यतः जब धातुएँ खनिज अम्लों से अभिक्रिया करती हैं तो हाइड्रोजन गैस निकलती है, लेकिन Mn एवं Mg को छोड़कर अन्य धातुएँ जब NHO3 से अभिक्रिया करती हैं तो हाइड्रोजन गैस उत्पन्न क्यों नहीं होती है?
उत्तर:
चूँकि HNO3 एक प्रबल ऑक्सीकारक है। इसलिए यह हाइड्रोजन गैस को जल में उपचयित कर देता है और इस कारण वह Mn एवं Mg को छोड़कर अन्य किसी धातु से अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस नहीं देता।

MP Board Solutions

प्रश्न 12.
एक अधातु तत्व X दो रूपों Y एवं Z में प्राप्त होती है। इनमें Y कठोरतम तत्व है और Z एक विद्युत् का सुचालक है। X, Y एवं Z की पहचान कीजिए।
उत्तर:
X → कार्बन, Y = हीरा (डायमण्ड) एवं Z → ग्रेफाइट है।

प्रश्न 13.
सोल्डर मिश्रातु के अवयव (घटक) कौन – कौन से हैं? सोल्डर का कौन – सा गुण इसे बिजली के तारों की वेल्डिंग करने के योग्य बनाता है?
उत्तर:
सोल्डर मिश्रातु के घटक लेड एवं टिन हैं। सोल्डर मिश्रातु का निम्न गलनांक इसे इलेक्ट्रिक तार की वेल्डिंग के योग्य बनाता है।

प्रश्न 14.
एक तत्व A, A2O3 ऑक्साइड बनाता है जोकि स्वभाव (प्रकृति) से अम्लीय है। A की पहचान धातु एवं अधातु के रूप में कीजिए।
उत्तर:
चूँकि तत्व A का ऑक्साइड प्रकृति से अम्लीय है। इसलिए तत्व A एक अधातु तत्व होगा।

प्रश्न 15.
जब ऐलुमिनियम पाउडर MnO2 के साथ गर्म किया जाता है तो निम्न अभिक्रिया होती है –
3MnO2(s) + 3Al(s) → 3Mn(l) + 2Al2O3(l) + ऊष्मा

  1. क्या ऐलुमिनियम का अपचयन हो रहा है?
  2. क्या MnO2 का उपचयन हो रहा है?

उत्तर:

  1. नहीं, ऐलुमिनियम का उपचयन हो रहा है, क्योंकि ऑक्सीजन संयुक्त हो रही है।
  2. नहीं, MnO2 का अपचयन हो रहा है, क्योंकि ऑक्सीजन की हानि हो रही है।

प्रश्न 16.
ऊष्मा की सुचालक एवं कुचालक प्रत्येक प्रकार की धातुओं के दो – दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर:
ऊष्मा की सुचालक धातुएँ: Ag एवं Cu.
ऊष्मा की कुचालक धातुएँ: Pb एवं Hg.

MP Board Class 10th Science Chapter 3 लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
इकबाल ने एक चमकीले द्विसंयोजी तत्व M की सोडियम हाइड्रॉक्साइड के साथ अभिक्रिया करायी, उसने अभिकारक मिश्रण में अभिक्रिया के समय बुलबुले उठते प्रेक्षित किए। उसने जब इस तत्व की अभिक्रिया हाइड्रोक्लोरिक अम्ल से करायी, तब भी वह प्रेक्षित किया जो पहले किया। उत्पन्न गैस की वह पहचान कैसे करें ? बताइए। दोनों अभिक्रियाओं के लिए रासायनिक समीकरण भी लिखिए।
उत्तर:
वह गैस हाइड्रोजन हो सकती है जिसकी पहचान के लिए जब जलती तीली उसके पास लाते हैं तो वह फक-फक की ध्वनि के साथ जलती है।
M + 2NaOH → Na2MO2 + H2(g)
M + 2HCl → MCl + H2(g) वह तत्व M एक धातु तत्व है।

प्रश्न 2.
धातु निष्कर्षण की प्रक्रिया के समय शुद्ध धातु प्राप्त करने के लिए इलेक्ट्रोलाइटिक शोधन की प्रक्रिया को अपनाया जाता है –

  1. सिल्वर धातु के शोधन में ऐनोड एवं कैथोड किस पदार्थ के बने होते हैं?
  2. एक उपयुक्त इलेक्ट्रोलाइट (विद्युत् अपघट्य) बताइए।
  3. इस इलेक्ट्रोलाइटिक सेल में विद्युत् धारा प्रवाहित करने पर हमको शुद्ध सिल्वर कहाँ प्राप्त होगी?

उत्तर:

  1. ऐनोड – अशुद्ध सिल्वर, कैथोड – शुद्ध सिल्वर।
  2. विद्युत् अपघट्य – किसी सिल्वर लवण का विलयन; जैसे – AgNO3 एवं AgCl2 इत्यादि।
  3. हम कैथोड पर शुद्ध सिल्वर धातु प्राप्त करेंगे।

प्रश्न 3.
एक यौगिक X एवं ऐलुमिनियम का प्रयोग रेल लाइनों को जोड़ने के काम में लाया जाता है।

  1. यौगिक X की पहचान कीजिए।
  2. इस अभिक्रिया का नाम लिखिए।
  3. इस अभिक्रिया का रासायनिक समीकरण लिखिए।

उत्तर:

  1. यौगिक X है – आयरन (III) ऑक्साइड, Fe2O3
  2. अभिक्रिया का नाम हैं – थर्मिट अभिक्रिया
  3. Fe2O3 + 2Al → 2Fe + Al2O3

प्रश्न 4.
जब कोई धातु X ठण्डे जल से अभिक्रिया करती है तो यह एक क्षारकीय लवण Y देता है जिसका अणुसूत्र XOH (अणु द्रव्यमान = 40) एवं एक गैस Z निकालता है जो आसानी से आग को पकड़ लेती है। X, Yएवं Z की पहचान कीजिए तथा होने वाली अभिक्रियाओं के रासायनिक समीकरण भी लिखिए।
उत्तर:
X → Na, Y → NaOH एवं Z → H2
2Na + 2H2O → 2NaOH + H2 + ऊष्मा

प्रश्न 5.
एक धातु A जो थर्मिट प्रक्रिया में प्रयुक्त होती है, जब ऑक्सीजन के साथ गर्म की जाती है तो एक ऑक्साइड B बनाती है जो उभयधर्मी प्रकृति का है। A एवं B की पहचान कीजिए। ऑक्साइड B की HCl एवं NaOH के साथ अभिक्रियाओं के रासायनिक समीकरण भी लिखिए।
उत्तर:
A → ऐलुमिनियम (Al)
B → ऐलुमिनियम ऑक्साइड (Al2O3) है।
Al2O3 + 6HCl → 2AlCl3 + 2H2O
Al2O3 + 2NaOH → 2NaAlO2 + H2O

MP Board Solutions

प्रश्न 6.
एक धातु जो कमरे के ताप पर द्रव अवस्था में रहती है, इसके सल्फाइड को ऑक्सीजन की उपस्थिति में गर्म करके प्राप्त की जाती है। इस धातु एवं इसके अयस्क की पहचान कीजिए तथा होने वाली अभिक्रिया का रासायनिक समीकरण लिखिए।
उत्तर:
सक्रियता श्रेणी में निम्न सक्रियता वाली धातुओं को उनके ऑक्साइड एवं सल्फाइड अयस्कों को गर्म करके प्राप्त की जा सकती है और केवल एक ही धातु मरकरी (Hg) कमरे ताप पर द्रव अवस्था में होती है। अतः अभीष्ट धातु मरकरी (Hg) है। यह अयस्क सिनेबार (HgS) को ऑक्सीजन की उपस्थिति में गर्म करके प्राप्त की जा सकती है।
रासायनिक अभिक्रिया का समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 8

प्रश्न 7.
निम्नलिखित जोड़ों के संयोजन से बनने वाले यौगिकों के अणु सूत्र लिखिए –

  1. Mg एवं N2
  2. Li एवं O2
  3. AI एवं Cl2
  4. K एवं O2

उत्तर:

  1. Mg3N2
  2. Li2O
  3. AlCl3
  4. K2O

प्रश्न 8.
क्या होता है, जबकि –
(a) ZnCO3 को ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में गर्म किया जाता है।
(b) Cu2O एवं Cu2S के एक मिश्रण को गर्म किया जाता है। रासायनिक समीकरण भी लिखिए।
उत्तर:
(a) जब ZnCO3 को ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में गर्म किया जाता है तो निस्तापन की प्रक्रिया द्वारा ZnO बनता है और CO2 गैस निकल जाती है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 9
(b) जब Cu2O एवं Cu2S के मिश्रण को गर्म किया जाता है तो SO2 गैस निकल जाती है तथा कॉपर धातु (Cu) प्राप्त होती है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 10

प्रश्न 9.
एक अधातु तत्व A हमारे भोजन का एक महत्वपूर्ण अवयव (घटक) है। यह दो ऑक्साइड B एवं C बनाता है। ऑक्साइड B विषाक्त है तथा C वैश्विक ऊष्मता का कारक है –
(a) A, B एवं C की पहचान कीजिए।
(b) अधातु A आवर्त तालिका के किस समूह का तत्व है?
उत्तर-हमारे भोजन का महत्वपूर्ण घटक अधातु तत्व कार्बन (C) होता है तथा कार्बन दो ऑक्साइड CO एवं CO2 बनाता है जिनमें CO विषाक्त एवं CO2 वैश्विक ऊष्मता का कारक होता है। अतः
(a) A → कार्बन (C)
B → कार्बन मोनोक्साइड (CO)
C → कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) है।

(b) कार्बन अधातु तत्व आवर्त तालिका (सारणी) के समूह 14 का तत्व है।

प्रश्न 10.
कमरे के ताप पर द्रव अवस्था में रहने वाली एक धातु एवं एक अधातु का नाम लिखिए तथा ऐसी दो धातुओं के भी नाम लिखिए जिनका गलनांक 310 K (37°C) से कम है।
उत्तर:
द्रव धातु – मरकरी (Hg)।
द्रव अधातु – ब्रोमीन (Br)।
310 K (37°C) से कम गलनांक वाली दो धातुएँ हैं –

  1. सीजियम (Cs)।
  2. गैलियम (Ga)।

प्रश्न 11.
एक तत्व A जल से अभिक्रिया करके एक यौगिक B बनाता है जोकि सफेदी करने के काम आता है। यौगिक B गर्म करने पर एक ऑक्साइड C बनाता है जो पानी से अभिक्रिया करके पुनः B बनाता है। A, B एवं C की पहचान कीजिए एवं अभिक्रियाओं के रासायनिक समीकरण लिखिए।
उत्तर:
चूँकि B सफेदी करने के काम आता है और सफेदी करने में बुझा चूना [Ca(OH2)] प्रयुक्त होता है अत: B बुझा चूना [Ca(OH)2] है चूँकि तत्व कैल्सियम की जल से अभिक्रिया के फलस्वरूप हमको बुझा चूना मिलता है अतः तत्व A कैल्सियम धातु (Ca) है।
चूँकि B बुझा चूना [Ca(OH)2] गर्म करने पर कैल्सियम ऑक्साइड [CaO] देता है अत: C कैल्सियम ऑक्साइड [CaO] है, जो पानी से अभिक्रिया करके पुनः B बुझा चूना [Ca(OH)2] बनाता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 11

प्रश्न 12.
एक क्षारीय धातु A जल में अभिक्रिया करके एक यौगिक B (अणु – द्रव्यमान = 40) देती है जब यौगिक B की अभिक्रिया ऐलुमिनियम ऑक्साइड के साथ होती है तो विलेय यौगिक C बनता है। A, B एवं C की पहचान कीजिए एवं अभिक्रियाओं के समीकरण दीजिए।
उत्तर:
क्षारीय धातु A सोडियम (Na) हो सकता है जो जल में अभिक्रिया करके सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) यौगिक B बनाता है जिसका अणु – द्रव्यमान 40 है जब सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) ऐलुमिनियम ऑक्साइड (Al2O3) से अभिक्रिया करता है तो विलेय लवण C सोडियम ऐलुमिनेट (NaAlO2) बनाता है। इस प्रकार –
A → सोडियम (Na), B → सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) एवं C → सोडियम ऐलुमिनेट (NaAlO2) है।
2Na + 2H2O → 2NaOH + H2(g)
Al2O3 + 2NaOH → 2NaAlO2 + H2O

प्रश्न 13.
जिंक को उसके अयस्क से निष्कर्षण में होने वाली अभिक्रियाओं के समीकरण लिखिए –
(a) जब जिंक अयस्क का भर्जन किया जाता है।
(b) जब जिंक अयस्क का निस्तापन किया जाता है।
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 12

प्रश्न 14.
एक धातु M अम्लों से अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस नहीं देती है, लेकिन ऑक्सीजन से अभिक्रिया करके काला पदार्थ बनाती है। उस धातु M की एवं उस काले उत्पाद की पहचान कीजिए एवं ऑक्सीजन के साथ उस धातु की अभिक्रिया को समझाइए।
उत्तर:
चूँकि कॉपर अम्लों से अभिक्रिया करके कभी भी हाइड्रोजन गैस नहीं देती तथा ऑक्सीजन से अभिक्रिया करके काला पदार्थ कॉपर ऑक्साइड (CuO) बनाती है अतः
M= कॉपर धातु (Cu) है तथा काला पदार्थ कॉपर ऑक्साइड (CuO) है।
अभिक्रिया का समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 13

प्रश्न 15.
कॉपर सल्फेट (CuSO4) का एक विलयन लोहे के बर्तन में रखा गया। कुछ दिन बाद लोहे के बर्तन में अनेक छेद पाए गए। सक्रियता के आधार पर इसके कारण की व्याख्या कीजिए तथा अभिक्रिया का रासायनिक समीकरण लिखिए।
उत्तर:
चूँकि सक्रियता श्रेणी में लोहे (आयरन), ताँबे के ऊपर आता है अर्थात् लोहे की सक्रियता ताँबे से अधिक है। इसलिए लोहा (आयरन Fe) कॉपर सल्फेट के विलयन से कॉपर को विस्थापित करके आयरन सल्फेट बनाता है जो विलेय है। इसलिए विलयन में घुल जाता है और बर्तन में छेद हो जाते हैं। अभिक्रिया का समीकरण
Fe(s) + CuSO4(aq) → FeSO4(aq) + Cu(s)

प्रश्न 16.
तीन धातुओं X, Y एवं Z में से X ठण्डे पानी से अभिक्रिया करती है। Y गर्म पानी के साथ तथा Z केवल जलवाष्प के साथ अभिक्रिया करती है। X, Y एवंz की पहचान कीजिए एवं उनको बढ़ती हुई सक्रियता के क्रम में व्यवस्थित कीजिए।
उत्तर:
चूँकि X ठण्डे पानी से अभिक्रिया करती है। इसलिए X कोई क्षार धातु Na या K है। चूंकि Y गर्म पानी के साथ अभिक्रिया करती है। इसलिए Y कोई क्षारीय मृदा धातु Mg या Ca है।
चूँकि Z जलवाष्प से अभिक्रिया करती है अत: Z = आयरन (Fe) है।
सक्रियता के आरोही क्रम में –
Z < Y < X अर्थात् Fe < Mg या Ca < Na या K

MP Board Class 10th Science Chapter 3 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
एक अधातु A जो वायुमण्डल का सबसे बड़ा घटक है, जब यह हाइड्रोजन (H2) के साथ 1 : 3 के अनुपात में Fe उत्प्रेरक की उपस्थिति में गर्म किया जाता है तो गैस B बनाता है। जब इसे ऑक्सीजन के साथ गर्म करने पर यह एक ऑक्साइड C देता है। यदि यह ऑक्साइड जल में हवा की उपस्थिति में प्रवाहित किया जाता है तो यह एक अम्ल D बनाता है जो एक प्रबल ऑक्सीकारक की तरह कार्य करता है।
(a) A, B, C एवं D की पहचान कीजिए।
(b) यह अधातु आवर्त तालिका के किस समूह का तत्व है?
उत्तर:
चूँकि वायुमण्डल का सबसे बड़ा घटक नाइट्रोजन (N) है जो एक अधातु A है और यह आयरन (Fe) उत्प्रेरक की उपस्थिति में हाइड्रोजन के साथ 1 : 3 के अनुपात में गर्म करने पर एक गैस (B) देता है, जो अमोनिया (NH3) है। नाइट्रोजन गैस ऑक्सीजन के साथ गर्म करने पर एक ऑक्साइड (C) देती है जो नाइट्रिक ऑक्साइड (NO) है। यह ऑक्साइड हवा की उपस्थिति में जल में प्रवाहित किया जाता है तो यह एक प्रबल ऑक्सीकारक (उपचायक) अम्ल (D) देती है जो नाइट्रिक अम्ल (HNO3) है, अतः
(a) A → (N2), B → (NH3), C → (NO), D → (HNO3)
(b) अधातु तत्व A अर्थात् नाइट्रोजन (N) आवर्त सारणी के समूह-15 का तत्व है।

प्रश्न 2.
निम्न एवं मध्यम सक्रियता वाली धातुओं को उनके सम्बन्धित सल्फाइड अयस्कों से निष्कर्षण की प्रक्रिया के चरण लिखिए।
उत्तर:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 14

प्रश्न 3.
निम्नलिखित की व्याख्या कीजिए –

  1. ऐलुमिनियम (Al) की सक्रियता घटती जाती है यदि इसको HNO3 में डुबाया जाता है।
  2. कार्बन, सोडियम या मैग्नीशियम के ऑक्साइड को अपचयित नहीं कर सकता।
  3. सोडियम क्लोराइड NaCl ठोस अवस्था में विद्युत् का सुचालक नहीं होता, जबकि गलित अवस्था में अथवा जलीय विलयन में यह विद्युत् प्रवाहित करता है।
  4. आयरन की वस्तुएँ यशदीकृत की जाती हैं।
  5. धातुएँ जैसे Na, K, Ca एवं Mg कभी भी प्रकृति में स्वतन्त्र अवस्था में प्राप्त नहीं होती हैं।

उत्तर:

  1. HNO3 एक उपचायक (ऑक्सीकारक) है जब इसमें ऐलुमिनियम को डुबाया जाता है तो ऐलुमिनियम ऑक्साइड बनता है जिसकी परत ऐलुमिनियम पर चढ़ जाती है और इसके कारण ऐलुमिनियम की सक्रियता घटती जाती है।
  2. सोडियम (Na) या मैग्नीशियम (Mg) कार्बन (C) की अपेक्षा अधिक क्रियाशील है। इसलिए कार्बन सोडियम या मैग्नीशियम के ऑक्साइड को अपचयित नहीं कर पाता।
  3. ठोस अवस्था में सोडियम क्लोराइड आयनित नहीं होता, जबकि गलित अवस्था में अथवा जलीय विलयन में Na+ एवं Cl आयनों में आयनित हो जाता है। इन आयनों की उपस्थिति के कारण यह विद्युत् धारा को प्रवाहित कर देता है, जबकि ठोस अवस्था में नहीं कर पाता।
  4. आयरन अपने सम्पर्क में आने वाली वायु, नमी (आर्द्रता) एवं अम्लों से संक्षारित हो जाता है। इस कारण इसकी बनी वस्तुओं पर यशदीकरण द्वारा जिंक की परत चढ़ा दी जाती है जो इसे संक्षारित होने से रोकता है।
  5. चूँकि धातुएँ जैसे Na, K, Ca एवं Mg अत्यधिक क्रियाशील होती हैं। इसलिए ये प्रकृति में स्वतन्त्र अवस्था में प्राप्त नहीं होती हैं।

प्रश्न 4.
(1) कॉपर को उसके अयस्क से निष्कर्षण के निम्न चरण दिए गए हैं इनकी अभिक्रियाएँ लिखिए –
(a) कॉपर (I) सल्फाइड का भर्जन।
(b) कॉपर (I) ऑक्साइड का कॉपर (I) सल्फाइड के साथ अपचयन।
(c) विद्युत् अपघटनी शोधन।
(2) एक स्वच्छ नामांकित चित्र कॉपर के विद्युत् अपघटनी शोधन का बनाइए।
उत्तर:
(1) विभिन्न चरणों की रासायनिक अभिक्रियाएँ:
(a) कॉपर के सल्फाइड (Cu2S) अयस्क के भर्जन से SO2 गैस निकल जाती है तथा Cu2O प्राप्त होता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 15
(b) Cu2O का Cu2S के साथ गर्म करके अपचयन द्वारा कॉपर (Cu) प्राप्त होता है तथा SO2 गैस निकलती है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 16
(c) विद्युत् अपघटनी शोधन में हमको कैथोड पर शुद्ध कॉपर धातु (Cu) प्राप्त होता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 17
(2) विद्युत् अपघटनी शोधन का चित्र:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 19

प्रश्न 5.
एक तत्व (A) सुनहरी पीली ज्वाला के साथ वायु में जलता है। यह दूसरे तत्व (B) से जिसका परमाणु क्रमांक 17 है, अभिक्रिया करता है और उत्पाद C बनाता है। उत्पाद C का जलीय विलयन विद्युत् अपघटन की अभिक्रिया में यौगिक D देता है तथा हाइड्रोजन गैस निकालता है। A, B, C, एवं D की पहचान कीजिए। अभिक्रियाओं के रासायनिक समीकरण भी लिखिए।
उत्तर:
धातु सोडियम सुनहरी पीली ज्वाला के साथ जलता है अतः (A) सोडियम (Na) है। परमाणु क्रमांक 17 वाला तत्व (B) क्लोरीन (Cl) है। सोडियम (Na) एवं क्लोरीन (Cl) परस्पर अभिक्रिया करके उत्पाद सोडियम क्लोराइड (NaCl) बनाता है। अतः (C) सोडियम क्लोराइड (NaCl) है। NaCl का जलीय विलयन विद्युत् अपघटन के फलस्वरूप यौगिक सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) बनाता है। अतः (D) सोडियम हाइड्रॉक्साइड (NaOH) है।
अतः (A) → (Na), (B) → (Cl), (C) → (NaCl) एवं (D) → (NaOH)
रासायनिक समीकरण:
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 19

प्रश्न 6.
दो अयस्क (A) एवं (B) लिए गए। गर्म करने पर अयस्क (A) कार्बन डाइऑक्साइड (CO) देता है, जबकि अयस्क (B) सल्फर डाइऑक्साइड (SO2) देता है। आप उनको धातुओं में बदलने के लिए क्या चरण अपनाएंगे?
उत्तर:
चूँकि अयस्क (A) गर्म करने पर कार्बन डाइऑक्साइड गैस (CO2) देता है अत: यह धातु का कार्बोनेट अयस्क (MCO3) है। अयस्क MCO3 जिसका निस्तापन करने पर ऑक्साइड MO देता है तथा कार्बन डाइऑक्साइड गैस (CO2) निकलती है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 20
धातु ऑक्साइड (MO) कार्बन के साथ अपचयित होकर धातु (M) देता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 21
इस प्रकार अयस्क (A) से धातु (M) प्राप्त हो जाती है।
चूँकि अयस्क (B) गर्म करने पर सल्फर डाइऑक्साइड (SO2) गैस देता है अतः यह धातु का सल्फाइड अयस्क (MS) है जो ऑक्सीजन की उपस्थिति में भर्जन करने पर ऑक्साइड (MO) देता है तथा सल्फर डाइऑक्साइड गैस (SO2) निकलती है –
2MS + 3O2 → 2MO + 2SO2
धातु ऑक्साइड (MO) कार्बन (C) के साथ गर्म करने पर अपचयित होकर धातु (M) देता है।
MP Board Class 10th Science Solutions Chapter 3 धातु एवं अधातु 22
इस प्रकार अयस्क (B) से धातु (M) प्राप्त होती है।

MP Board Class 10th Science Solutions

MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2

In this article, we will share MP Board Class 10th Maths Book Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2

Question 1.
In figures (i) and (ii), DE || SC. Find EC in (i) and AD in (ii).
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 1
Solution:
(i) Since DE || BC [Given]
∴ Using the Basic proportionality theorem,
We have \(\frac{A D}{D B}=\frac{A E}{E C}\)
Since, AD = 1.5 cm, DB = 3 cm and AE = 1 cm,
∴ \(\frac{1.5 \mathrm{cm}}{3 \mathrm{cm}}=\frac{1 \mathrm{cm}}{E C}\)
By cross-multiplication, we have
EC × 1.5 = 1 × 3
⇒ EC = \(\frac{1 \times 3}{1.5}=\frac{1 \times 3 \times 10}{15}\)
EC = 2 cm
(ii) In ∆ABC, DE || BC
Using the Basic proportionality theorem,
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 2
∴ AD = 2.4 cm.

Question 2.
E and F are points on the sides PQ and PR respectively of a ∆PQR. For each of the following cases, state whether EF || QR;
(i) PE = 3.9 cm, EQ = 3 cm, PF = 3.6 cm and FR = 2.4 cm
(ii) PE = 4 cm, QE = 4.5 cm, PF = 8 cm and RF = 9cm
(iii) PQ = 1.28 cm, PR = 2.56 cm, PE = 0.18 cm and PF = 0.36 cm
Solution:
(i) We have, PE = 3.9 cm, EQ = 3 cm, PF = 3.6 cm and FR = 2.4 cm
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 3
⇒ EF is not parallel to QR.
(ii) We have, PE = 4 cm, QE = 4.5 cm PF = 8 cm and RF = 9 cm
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 4
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 5
⇒ EF is parallel to QR.

MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2

Question 3.
In the figure, if LM || CB and LN || CD, prove that \(\frac{A M}{A B}=\frac{A N}{A D}\)
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 6
Solution:
In ∆ABC, LM || CB [given]
∴ Using the Basic proportionality theorem, we have
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 7
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 8

Question 4.
In the figure, DE || ACand DF || AE.
Prove that \(\frac{B F}{F E}=\frac{B E}{E C}\)
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 9
Solution:
In ∆ABC
∵ DE || AC [given]
Using the basic proportionality theorem, we have
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 10

Question 5.
In the figure, DE || OQ and DF || OR. Show that EF || QR.
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 11
Solution:
In ∆PQO,
∵ DE || OQ [given]
∴ Using the Basic proportionality theorem, we have
\(\frac{P E}{E Q}=\frac{P D}{D O}\) …………… (1)
Again, in ∆POR, DF || OR [given]
∴ Using the Basic proportionality theorem, we have
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 12
Now, in ∆PQR,
∵ E and F are two distinct points on PQ and PR respectively and \(\frac{P E}{E Q}=\frac{P F}{F R}\),
i.e., E and F divide the two sides PQ and PR of ∆PQR in the same ratio.
∴ By converse of Basic proportionality theorem, EF || QR.

Question 6.
In the figure A, B and C are points on OP, OQ and OR respectively such that AB || PQ and AC || PR. Show that BC || QR.
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 13
Solution:
In ∆PQR, O is a point and OP, OQ and OR are joined. We have points A, B and C on OP, OQ and OR respectively such that AB || PQ and AC || PR.
Now, in ∆OPQ,
∵ AB || PQ [Given]
Using the Basic proportionality theorem, we have
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 14
i.e., B and C divide the sides OQ and OR of ∆OQR in the same ratio.
By converse of Basic proportionality theorem, BC || QR.

MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2

Question 7.
Using Basic proportionality theorem, prove that a line drawn through the mid-point of one side of a triangle parallel to another side bisects the third side. A
Solution:
We have ∆ABC, in which D is the midpoint of AB and E is a point on AC such that DE || BC.
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 15
∵ DE || BC [given]
∴ Using the Basic proportionality theorem, we get
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 16
⇒ E is the mid point of AC. Hence, it is proved that a line through the midpoint of one side of a triangle parallel to another side bisects the third side.

Question 8.
Using converse of basic proportionality theorem, prove that the line joining the mid-points of any two sides of a triangle is parallel to the third side.
Solution:
We have ∆ABC, in which D and E are the mid-points of sides AB and AC respectively.
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 17
∴ AD = DB ……………. (1)
and AE = EC ………….. (2)
From (1) and (2), we have
\(\frac{A D}{D B}\) = 1 and \(\frac{A E}{E C}\) = 1
⇒ \(\frac{A D}{D B}=\frac{A E}{E C}\)
⇒ DE || BC (By converse proportionality theorem).

MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2

Question 9.
ABCD is a trapezium in which AB || DC and its diagonals intersect each other at the point O. Show that \(\frac{A O}{B O}=\frac{C O}{D O}\).
Solution:
We have, a trapezium ABCD such that AB || DC. The diagonals AC and BD intersect each other at O.
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 18
Let us draw OE parallel to either AB or DC.
In ∆ADC
OE || DC [By construction]
∴ Using the Basic proportionality theorem, we get
\(\frac{A E}{E D}=\frac{A O}{C O}\) …………. (1)
In ∆ABD
OE || AB [By construction]
∴ Using the Basic proportionality theorem, we get
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 19

Question 10.
The diagonals of a quadrilateral ABCD intersect each other at the point O such that \(\frac{A O}{B O}=\frac{C O}{D O}\). Show that ABCD is a trapezium.
Solution:
It is given that \(\frac{A O}{B O}=\frac{C O}{D O}\)
From \(\frac{A O}{B O}=\frac{C O}{D O}\), we have \(\frac{A O}{C O}=\frac{B O}{D O}\)
Let us draw OE such that OE || BA
In ∆ADB, OE || AB [By construction]
MP Board Class 10th Maths Solutions Chapter 6 Triangles Ex 6.2 20
i.e., the points O and E divide the sides AC and AD of ∆ADC respectively in the same ratio.
∴ Using the converse of Basic proportionality theorem, we get OE || DC and OE || AB
⇒ AB || DC
⇒ ABCD is a trapezium.

MP Board Class 10th Sanskrit Book Solutions दूर्वा

MP Board Class 10th Sanskrit Solutions Guide Pdf Free Download संस्कृत दूर्वा are part of MP Board Class 10th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus MP Board Durva Sanskrit Book Class 10 Solutions Pdf.

Students can also download MP Board 10th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 10 Science Solutions

MP Board Class 10th Sanskrit Book Solutions Durva

Durva Sanskrit Book Class 10 Solutions

MP Board Class 10th Sanskrit व्याकरणखण्डः

MP Board Class 10th Sanskrit Syllabus

‘क’ खण्डः (अपठितअवबोधनम्)
(सरल-गद्यांश-आधारितं कार्य-गद्यांशद्वयम्)

1. 40-50 शब्दपरिमितः गद्यांशः (एकसरलगद्यांशः)

  • एकपदेन पूर्णवाक्येन च प्रश्नोत्तारिण।
  • भाषिक-कार्यम्।

2. 80-130 शब्दपरिमितः गद्यांशः (एकसरलगद्यांशः) (सरलकथा-घटनावर्णनं वा)

  • एकपदेन पूर्णवाक्येन च प्रश्नोत्तराणि।
  • समुचितशीर्षकप्रदानम्।
  • व्युत्क्रमेण कथालेखनमपि।

भाषिक-कार्यम्

  • वाक्ये क्रियापदचयनम्।
  • विशेषण-विशेष्य-अन्टितिः।
  • अनुच्छेदे प्रदत्तानां पर्याय-विलोमपदचयनम्।
  • विशेषाः विशेष्य, कर्ता-क्रिया, अन्विति, पर्यायवाचिनः विलोमशब्दाः संज्ञास्थाने, सर्वनाम-प्रयोगः।
  • कर्तृक्रिया अन्वितिः।
  • संज्ञास्थाने सर्वनामप्रयोग अथवा सर्वनामस्थाने संज्ञाप्रयोगः।

‘ख’ खण्डः (अनुप्रयुक्तव्याकरणम्)
(प्रस्तावितपाठ्यपुस्तकाधारितम्)

  1. सङ्केताधारितम् आनौपचारिकपत्रम्।
  2. सङ्केताधारितं संवादलेखनम्।
  3. चित्राधारितं वर्णनम्।

‘ग’ खण्डः (अनुप्रयुक्तव्याकरणम्)
(प्रस्तावितपाठ्यपुस्तकाधारितम्)

1. संधिकार्यम

  • स्वरसन्धिः – दीर्घः, गुणः, वृद्धिः, यण, अयादि, पूर्वरूपम्।
  • व्यञ्जनसन्धिः – परसवर्णः, छत्वः, तुक्, आगमः, अनुस्वरः, वर्गीयप्रथमाक्षराणां तृतीयवणे परिवर्तनम्, प्रथमवर्णस्य पञ्चं वर्णे परिवर्तनम्।
  • विसर्गसन्धिः – विसर्गस्य उत्वं. रत्वं, लोपः विसर्गस्थाने स, श।

2. समास: (वाक्येषु समस्तपदानां विग्रहः विग्रहपदानां च समासः)

  • तत्पुरुषः (विभक्तिः नन्, उपपदः)।
  • कर्मधारयः (विशेषणम्-विशेष्यम्, उपमान-उपमेयम्)।
  • द्विग:
  • द्वन्द्वः (इतरेतर, समाहारः एकशेषः)।
  • बहुव्रीहिः (समानाधिकरणम्)
  • अव्ययीभावः (अनु, उप, स, निर, प्रति, यथा।)

3. कारकाणां प्रयोगः (सोदाहरणम्)।

4. प्रत्ययाः अधोलिखितप्रत्यययोगैः वाक्यसंयोजनं रिक्तस्थानपूर्तिः।

  • कृदन्ताः – तव्यत्, अनीयर्, शतृ, शानच्, क्त, क्तवतु, क्त्वा, ल्यप्, तुमुन्, क्तिन्।
  • तद्धिता – मतुप, इन्, ठक्, त्व, त्रल्।
  • स्त्रीप्रत्ययाः – टाप, डीए, ङीप्, ङीन्।

5. अन्यपदानि (कथयाम् अनुच्छेदे संवादे वा अव्यानां प्रयोगः)।
अपि, इस, मा, इतस्ततः, यत्-तत्, अत्र-तत्र-तत्र, यदा-कदा, यथा-तथा, यावत्-तावत्, शनै।

6. घाटिका-चित्र- अङ्गानां स्थाने समयनेखम् (सामान्य, संपाद, मार्थ, पादोन)

7. सङ्ख्या एकतः पञ्चपर्यन्तं वाक्यप्रयोगः, एकतः शत्पर्यन्तम् सङ्ख्याज्ञानम्।

8. वचन-लिङ्ग-पुरुष-लकार-दृष्टया संशोधनम्।

9. उपपदविभक्तिनां प्रयोगः।

  • द्वितीय: अभितः, परितः, उभयतः, समया, निकषा, प्रति, धिक्, विना।
  • तृतीया: विना, अलम्, सह, हीनः।
  • चतुर्थी: नमः, स्वस्ति, स्वाहा, स्वधा, अलम्, रुच, दा, क्रुध, स्पृह, असूय।

10. प्रादयः द्वाविंशतिः उपसर्गाः।

11. शब्दरूपाणि

  • अजन्त: राम, रमा, कवि, साधु, पितृ।
  • हलन्त: नामन्, भवत्, राजन्।
  • सर्वनाम: अस्मद्, युष्मद्, तत्, एतत्, किम्, लिङ्ग त्रये।

12. धातुरूपाणि

  • पञ्चलकाराः लट्, लोट्, लङ्, विधिलिङ्, लुट च।
  • भ्वादिगणीयः (प्रथमगणः) धातवः।
  • परस्मैपदी-भू (भव), गम् (गच्छ्), दृश् (पश्य), पच्, पा (पिब्)।
  • आत्मनेपदी-लभ, सेव्, वृध, वृत्।
  • उभयपदी-नी, ह, याच्।

‘घ’ खण्डः (पठितअवबोधनम्)

1. पठित-सामग्रीम् आधृत्य अवबोधनकार्यम्

  • गद्यांशः
  • पद्यांशः
  • नाट्यांशः
  • प्रति-अंशम् आधारितम् अवबोधनकार्यम् (एकपदेन पूर्णवाक्येन च प्रश्नोत्तराणि, रिवतस्थानपूर्तिः)।
  • भाषिक-कार्यम्।
    (अ) वाक्ये क्रियापदचयनम्।
    (ब) कर्तृक्रिया-अन्वितिः
    (स) विशेषण-विशेष्य-अन्वितिः।
    (द) संज्ञास्थाने सर्वनाम-प्रयोगः अथवा सर्वनाम स्थाने संज्ञाप्रयोगः।
    (ङ) अनुच्छेदे प्रदत्तानां पर्याय-विलोम-पदचयनम्।

2. भावावबोधनम् (अंशद्वयम्)
(रिक्तस्थानपूर्ति द्वारा, विकल्पचयनेन, शुद्ध-अशुद्धमाध्येन, सूक्तिमाध्यमे च)।
3. अन्वये रिक्तस्थानपूर्तिः।
4. प्रश्ननिर्माणम्
5. क्रमरहित कथाक्रमसंयोजनं कथापूर्तिः वा।
6. सन्दर्भशब्दानां प्रयोगः शब्दार्थ-मेलनम् च (उत्तराणि केवलं संस्कतेन लेखितव्यानि)।

उद्देश्यः अंक कालखण्डाः
ज्ञानम् 35 65
अवबोधः 50 90
अनुप्रयोगकौशलञ्च 15 25
योगः 100 170

We hope the given MP Board Class 10th Sanskrit Solutions Guide Pdf Free Download संस्कृत दूर्वा will help you. If you have any query regarding Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10th Sanskrit Book Solutions Durva Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 10th Hindi Book Solutions वासंती, नवनीत

MP Board Class 10th Hindi Solutions Guide Pdf Free Download of हिंदी वासंती, नवनीत are part of MP Board Class 10th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 Hindi Book Solutions Vasanti, Navneet Pdf Special and General.

Students can also download MP Board 10th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

mp board class 10th maths solution

MP Board Class 10th Hindi Book Solutions Vasanti

Here we have given MP Board Class 10 General Hindi Vasanti Solutions Hindi Samanya Kaksha 10 (वासंती हिंदी सामान्य कक्षा 10).

Vasanti Hindi Book Class 10 Solutions

MP Board Class 10 General Hindi व्याकरण

MP Board Class 10th Hindi Book Solutions Navneet

Here we have given MP Board Class 10 Special Hindi Navneet Solutions Hindi Vishisht Kaksha 10 (नवनीत हिंदी विशिष्ट कक्षा 10).

Navneet Hindi Book Class 10 Solutions

पद्य खण्ड

गद्य खण्ड

MP Board Class 10 Special Hindi सहायक वाचन Solutions

MP Board Class 10 Special Hindi व्याकरण

MP Board Class 10 General Hindi Syllabus & Marking Scheme

समय : 3 घण्टे
पूर्णांक : 100

क्रम विषय सामग्री अंक कालखण्ड
1. पद्य खण्ड-
एक पद्यांश की व्याख्या
सौंदर्य-बोध पर आधारित प्रश्न
विषय-वस्तु पर आधारित प्रश्न
25 40
2. गद्य खण्ड-
अर्थ ग्रहण संबंधी प्रश्न
विषय-वस्तु पर आधारित बोध प्रश्न
25 40
3. गद्य की विद्याएँ
प्रमुख विधाओं का सामान्य परिचय
05 10
4. व्याकरण-
संधि-भेद
समास-भेद
तत्सम, तद्भव, देशज एवं आगत शब्द
पर्यायवाची शब्द
वाक्य के प्रकार-रचना, अर्थ के आधार पर
वाक्य शुद्ध करना
विराम चिह्न
मुहावरे लोकोक्तियाँ
20 30
5. अपठित बोध-
गद्यांश, पद्यांश-शीर्षक सारांश एवं प्रश्न
10 15
6. पत्र लेखन 05 10
7. निबंध लेखन 10 15
पुनरावृत्ति 20
योग 100 180

पाठ्य पुस्तक-वासंती (गद्य-पद्य संकलन)

पद्य खण्ड (25 Marks)

  • पद्य पाठों पर आधारित एक पद्यांश की सप्रसंग व्याख्या (5 Marks)
    (कविता का नाम, कवि का नाम, अर्थ)
  • काव्य-सौंदर्य पर आधारित प्रश्न (10 Marks)
  • विषय-वस्तु पर आधारित बोध-प्रश्न (10 Marks)

गद्य खण्ड (25 Marks)

  • गद्य पाठों पर आधारित अर्थग्रहण संबंधी प्रश्न (10 Marks)
  • विषय-वस्तु पर आधारित प्रश्न (15 Marks)

गद्य की विधाएँ (5 Marks)

  • प्रमुख विधाओं के सामान्य परिचय पर प्रश्न (5 Marks)

भाषा-बोध (20 Marks)

  • संधि-भेद, परिभाषा, उदाहरण आदि पर प्रश्न (2 Marks)
  • समास-भेद, परिभाषा, उदाहरण आदि पर प्रश्न (2 Marks)
  • तत्सम, तद्भव, देशज तथा आगत शब्द पर प्रश्न (2 Marks)
  • पर्यायवाची शब्द पर प्रश्न (2 Marks)
  • विलोम शब्द पर प्रश्न (2 Marks)
  • वाक्यांशों के लिए एक शब्द पर प्रश्न (2 Marks)
  • वाक्य के प्रकार (रचना और अर्थ के आधार पर) प्रश्न (2 Marks)
  • विराम चिह्न पर प्रश्न (2 Marks)
  • वाक्य शुद्ध करना पर प्रश्न (2 Marks)
  • मुहावरे/लोकोक्तियाँ पर प्रश्न (2 Marks)

अपठित बोध (10 Marks)

  • गद्यांश-शीर्षक, सारांश/प्रश्न (5 Marks)
  • पद्यांश-शीर्षक, सारांश प्रश्न (5 Marks)

पत्र लेखन (5 Marks)

  • अनौपचारिक पत्र, औपचारिक पत्र, निमंत्रण पत्र, पारिवारिक पत्र (5 Marks)

निबंध लेखन (10 Marks)

  • वर्णनात्मक विचारात्मक एवं समसामयिक विषयों पर निबंध लेखन (10 Marks)

प्रायोजना कार्य-

  1. क्षेत्रीय बोली-पहेलियाँ, चुटकुले, लोक गीत, लोक कथाओं का परिचय तथा खड़ी बोली में उनका अनुवाद।
  2. दूरदर्शन/आकाशवाणी के कार्यक्रम पर प्रतिक्रियाएँ/विश्लेषण।
  3. हिन्दी साहित्य का स्वतन्त्र पठन/टिप्पणी एवं प्रेरणाएँ।
  4. हस्तलिखित पत्रिका तैयार करना।
  5. म.प्र. से प्रकाशित होने वाली हिन्दी भाषा की पत्र-पत्रिकाओं की जानकारी।

टिप्पणी-
प्रायोजना कार्य से संबंधित विषय-वस्तु पर (अंक आवंटित न होने के कारण) परीक्षा में प्रश्न पूछे जाना अपेक्षित नहीं है।
निर्धारित पाठय-पुस्तक-वासंती (गद्य-पद्य संकलन)
मध्यप्रदेश राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा संकलित एवं निर्मित तथा मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा प्रकाशित।

MP Board Class 10 Special Hindi Syllabus & Marking Scheme

समय : 3 घण्टा
पूर्णांक : 100

क्रम विषय सामग्री अंक कालखण्ड
1. पद्य खण्ड –
पद्य साहित्य का विकास
कवि परिचय, व्याख्या, सौन्दर्य बोध एवं भाव तथा विषय-वस्तु पर आधारित प्रश्न
4 + 23 = 27 40
2. गद्य खण्ड –
गद्य की विधाएँ
लेखक परिचय, व्याख्या, विषय-वस्तु एवं विचार बोध पर प्रश्न
4 + 19 = 23 35
3. सहायक वाचन –
विविध पाठों पर आधारित प्रश्न
आंचलिक भाषा के पाठों में से प्रश्न
6 + 4 = 10 15
4. भाषा बोध –
सन्धि, समास-भेद सहित
वाक्य के प्रकार (अर्थ के आधार पर), वाक्य परिवर्तन
अनेक शब्दों के लिए एक शब्द
10 15
5. काव्य बोध –
काव्य की परिभाषा
भेद-मुक्तक काव्य, प्रबन्ध काव्य (महाकाव्य, खण्डकाव्य)
रस-परिभाषा, अंग, भेद, उदाहरण
अलंकार-वक्रोक्ति, अतिश्योक्ति, अन्योक्ति
छन्द-गीतिका, हरिगीतिका, उल्लाला, रोला
10 15
6. अपठित बोध 05 10
7. पत्र-लेखन 05 10
8. निबंध-लेखन 10 20
पुनरावृत्ति 20
सम्पूर्ण योग (पूर्णांक) 100 180

पाठ्य पुस्तक-नवनीत

पद्य खण्ड (27 Marks)

  • पद्य साहित्य का विकास-रीतिकाल तथा आधुनिक
    काल का सामान्य परिचय पर दो प्रश्न (2 + 2 = 4 Marks)
  • पद्य पाठों पर आधारित कवि का संक्षिप्त परिचय-रचनाएँ, काव्यगत विशेषताओं पर एक प्रश्न (5 Marks)
  • दो पद्यांश में से एक की सप्रसंग व्याख्या पर एक प्रश्न (5 Marks)
  • सौन्दर्य बोध पर आधारित दो प्रश्न (4 + 3 = 7 Marks)
  • भाव एवं विषय-वस्तुं पर आधारित दो प्रश्न (3 + 3 = 6 Marks)

गद्य खण्ड (23 Marks)

  • गद्य की विधाओं के विकास क्रम पर आधारित एक प्रश्न (4 Marks)
  • लेखक का संक्षिप्त परिचय, (रचनाएँ, भाषा-शैली) पर एक प्रश्न (5 Marks)
  • दो गद्यांश में से एक की सप्रसंग व्याख्या पर एक प्रश्न (5 Marks)
  • विचार बोध पर आधारित दो प्रश्न (3 + 2 = 5 Marks)
  • विषय बोध पर आधारित एक प्रश्न (4 Marks)

सहायक वाचन (10 Marks)

  • पाठों की विषय-वस्तु पर आधारित दो प्रश्न (3 + 3 = 6 Marks)
  • आंचलिक भाषा के पाठों पर आधारित दो प्रश्न (2 + 2 = 4 Marks)

भाषा बोध (10 Marks)

  • सन्धि भेद पर एक प्रश्न (2 Marks)
  • समास भेद पर एक प्रश्न (2 Marks)
  • वाक्य के प्रकार (अर्थ के आधार पर) पर एक प्रश्न (2 Marks)
  • वाक्य परिवर्तन पर एक प्रश्न (2 Marks)
  • अनेक शब्दों के लिए एक शब्द पर एक प्रश्न (2 Marks)

काव्य बोध (10 Marks)

  • काव्य की परिभाषा-भेद, मुक्तक काव्य, प्रबन्ध काव्य (महाकाव्य, खण्डकाव्य) पर एक प्रश्न (4 Marks)
  • रस-परिभाषा, अंग, भेद और उदाहरण पर एक प्रश्न (2 Marks)
  • अलंकार-वक्रोक्ति, अतिश्योक्ति, अन्योक्ति पर एक प्रश्न (2 Marks)
  • छन्द-गीतिका, हरिगीतिका, उल्लाला, रोला पर एक प्रश्न (2 Marks)

अपठित बोध (5 Marks)

  • गद्यांश/पद्यांश पर एक प्रश्न
  • शीर्षक, सारांश/प्रश्न पर एक प्रश्न

पत्र-लेखन (5 Marks)

  • पारिवारिक, विद्यालयीन एवं कार्यालयीन पत्र पर एक प्रश्न

निबन्ध-लेखन (10 Marks)

  • वर्णनात्मक, विचारात्मक, सामाजिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, वैज्ञानिक एवं समसामयिक विषयों पर निबन्ध-लेखन पर एक प्रश्न

प्रायोजना कार्य

  1. क्षेत्रीय बोली—पहेलियाँ, चुटकुले, लोकगीत, लोक कथाओं का परिचय तथा खड़ी बोली में उनका अनुवाद।
  2. दूरदर्शन/आकाशवाणी के कार्यक्रम पर प्रतिक्रियाएँ/विश्लेषण।
  3. हिन्दी साहित्य का स्वतन्त्र पठन/टिप्पणी एवं प्रेरणाएँ।
  4. हस्तलिखित पत्रिका तैयार करना।
  5. म. प्र. से प्रकाशित होने वाले हिन्दी भाषा के पत्र-पत्रिकाओं की जानकारी।

टिप्पणी- प्रायोजना कार्य से सम्बन्धित विषय-वस्तु पर (अंक आबण्टित न होने के कारण) परीक्षा में प्रश्न पूछे जाना अपेक्षित नहीं है।

MP Board Class 10 General Hindi Blue Print of Question Paper

You can download MP Board Class 10th Hindi Blueprint and Marking Scheme 2019-2020 in Hindi and English medium.

MP Board Class 10 Hindi Blue Print of Question Paper 1

MP Board Class 10 Special Hindi Blue Print of Question Paper

MP Board Class 10 Hindi Blue Print of Question Paper 2

We hope the given MP Board Class 10th Hindi Solutions Guide Pdf Free Download of हिंदी वासंती, नवनीत will help you. If you have any query regarding Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 Hindi Book Solutions Vasanti, Navneet Pdf Special and General, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 10th English Book Solutions The Rainbow, The Spring Blossom

MP Board 10th English book Solutions Guide Pdf Free Download of Text Books The Rainbow, The Spring Blossom Questions and Answers, Notes, Summary are part of MP Board Class 10th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 English Book Solutions Pdf of The Rainbow, The Spring Blossom Textbook Workbook Special, and General English Class 10th Solutions.

Students can also download MP Board 10th Model Papers and MP Board Class 10th English Important Questions to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 10th English Book Solutions

FREE downloadable MP Board Class 10th Special English The Rainbow Text Book, Workbook Solutions and MP Board Class 10th General English The Spring Blossom Text Book, Workbook Solutions and Answers Guide Pdf download.

The Rainbow Textbook Special English Class 10th Solutions

You can download MP Board The Rainbow Textbook (Special English) Class 10 Solutions, Questions and Answers, Notes, Summary, Lessons: Pronunciation, Translation, Word Meanings, Textual Exercises.

The Rainbow Workbook Special English Class 10th Solutions

You can download MP Board The Rainbow Workbook(Special English) Class 10 Solutions and Answers.

MP Board Class 10th Special English Reading Skills

MP Board Class 10th Special English Reading Unseen Passages

MP Board Class 10th Special English Writing Skills

Short Composition

Long Composition

MP Board Class 10th Special English Grammar

The Spring Blossom Textbook General English Class 10th Solutions

You can download MP Board The Spring Blossom Textbook General English Class 10th Solutions, Questions and Answers, Notes, Summary, Lessons: Pronunciation, Translation, Word Meanings, Textual Exercises.

MP Board Class 10th General English Reading Skills

MP Board Class 10th General English Reading Unseen Passages

MP Board Class 10th General English Writing Skills

MP Board Class 10th General English Grammar

MP Board Class 10th General English Syllabus & Marking Scheme

Time: 3.00 Hours
Maximum Marks: 100

Unitwise Weightage

Section Topics Marks
A Reading Skills
Reading Unseen Passages
15
B Writing Skills 20
C Grammar 20
D Prescribed Text Book 45
Total 100

Section A
Reading (15 Marks, 27 Periods)

A1, A2 & A3 Three unseen passages of total 450 words with a variety of questions including 3 marks for vocabulary.
The prose passage will be
Factual passage, e.g. instruction, description, report etc.
Discursive passage e.g. argumentative, interpretative, persuasive etc and
Literary passage, e.g. fiction, poetry, interview, biography etc in nature.
About 150 words in length (5 Marks)
About 150 words in length (5 Marks)
About 150 words in length (5 Marks)
There will be questions for local comprehension besides questions on vocabulary and comprehension of higher-level skills such as drawing inferences and conclusions.

Section B
Writing (20 Marks, 36 Periods)

B1 – Letter writing: One letter based on provided verbal stimulus and context. (6 Marks)
Types of Letter: informal: personal – such as to family and friends
Formal: letters of complaints, enquiries, requests, applications.

B2 – Note making and summarising: 6 Marks
(a) Students will be asked to make notes on the passage given (100 words). (3 Marks)
(b) The students will be asked to prepare a summary looking at the given notes. (3 Marks)

B3 – Composition: A short writing task based on a verbal and/or visual stimulus (diagram, picture, graph, map, chart, table, flow chart etc) (80 words) (8 Marks)
OR
an essay in about 200 words on topics of day to day life.
After given an example practice to a student to write an original composition for two or three years, the option of ‘Essay’ may be eliminated.

Section C
Grammar and Translation (20 Marks, 36 Periods)

A variety of short questions involving the use of particular structures within a context. Test Types used will include cloze, gap-filling, sentence completion, sentence- re-ordering, editing, dialogue-completion and sentence transformation. The grammar syllabus for this class will include the following areas for teaching:

  1. Use of non-finite
  2. Sentence connectives: as, since, while, then, just because, just until
  3. Clauses with what, where and how
  4. Past Tense
  5. Modals: can, could, may, must, might
  6. Translation (from Hindi to Eng) (05 marks)

Note: All other areas covered in Class IX will be tested in Class X as this is an integrated course for this area of learning.

Section D
Text Books (45 Marks, 81 Periods)

Prose (20 Marks)
D1 and D2 – Two extracts from different prose lessons included in the textbook (approximately 100 words each) (5 × 2 = 10 marks)
These extracts chosen from different lessons will be literary and discursive in nature. Each extract will be of 5 marks. One mark in each extract will be for vocabulary. 4 marks in each passage will be used for testing local and global comprehension besides a question on interpretation.

D3 – One out of two questions: extrapolative in nature based on any one of the prose lessons from the textbook to be answered in about 50 to 80 words. (6 Marks)

D4 – One out of two questions on drama text (local and global comprehension questions) (25-30 words) (4 Marks)

Poetry (10 Marks)
D5 – One out of two extracts from different poems from the prescribed reader, each followed by two or three questions to test the local and global comprehension of the set text. (3 Marks)

D6 – One out of two short answer type questions on the interpretation of themes and ideas contained in the poems to be answered in about 20-25 words each. (3 Marks)

D7 and D8 – Two out of three short answer type questions on the appreciation of the poems. (4 Marks) (15 Marks)

D9 – One out of two questions from supplementary Materials to interpret, evaluate and analyse character, the plot or situations occurring in the lessons to be answered in about 100 words. (7 Marks)

D10 & D11 – Two out of three short answer type questions of interpretative and evaluative nature based on lessons (2 × 2 = 4 Marks)

D12 & D13 – Two out of three short answer type questions based on factual aspects of the lessons. (2 × 2 = 4 Marks)

Book Prescribed:

  1. Text Book – The Spring Blossom
  2. WorkBook – The Spring Blossom

Compiled by M.P. Rajya Shiksha Kendra and Published by M.P. Text Book Corporation.

MP Board Class 10th Special English Syllabus & Marking Scheme

Time: 3.00 Hours
Maximum Marks: 100

Unitwise Weightage

Section Topics Marks
A Reading Skills (Reading Unseen Passages) 30
B Writing Skills 30
C Grammar 15
D Prescribed TextBook 25
Total 100

Section A: Reading (30 Marks)

Three unseen passages with a variety of comprehension questions, including 5 marks for word attack skills such as word formation and inferring meaning: (54 Periods)

  1. About 150 words in length (8 marks)
  2. About 200 words in length (8 marks)
  3. About 300 words in length (14 marks)

The total of the passages will be about 650 words. The passage will include one each of the following types:
Factual passage, e.g., instruction, description, report.
Discursive passage involving opinion, e.g., argumentative, persuasive or interpretative text.
Literary passage, e.g., extract from fiction, drama, poetry essay or biography.
In the case of a poetry extract, the text may be shorter than 150 words.

Section B: Writing (30 Marks)

Four writing tasks as indicated below: (54 Periods)

  1. A linguistically controlled task, where a student builds up a composition with guidance (5 marks)
  2. Short composition of not more than 50 words, e.g., a note or notice, message, telegram, short postcard.
  3. Composition based on a verbal and/or visual stimuli such as an advertisement; notice, newspaper cutting, table, diary extracts, notes, letter or other forms of correspondence (10 marks)
  4. Composition based on a verbal and/or visual stimuli such as a diagram, picture, graph, map, cartoon, or flow chart. (10 marks)

One of the longer (10 marks) compositions will draw on the thematic content of the Main Course Book…
At least one task will involve the production of a form of correspondence, e.g., a letter, postcard, note or notice.
One task will involve the production of discursive text in which the student is required to express his/her point of view on the topic given.

Section C: Grammar (15 Marks)

A variety of short questions involving the use of particular structures within a context (i.e., not in isolated sentences). Test types will include, for example., cloze (gap filling exercise with blanks at regular interval), sentences-completion, sentence-recording, editing, dialogue. Completion and sentence transformation. (27 Periods)
The grammar syllabus will be sampled each year, with marks allotted for different areas of the content of the syllabus prescribed for class IX as well as X as detailed below:
By the end of the course, students should be able to use the following accurately and appropriately in context.

1. Verbs forms
Tenses: Present/Past forms, Simple/Continuous forms, Perfect forms, Future time reference, Modals, Active and Passive Voice, Subject-Verb agreement, Non-finite verb forms (infinitive and participles)

2. Sentence Structure
Connectors, Types of Sentences: affirmative/interrogative sentences, negation exclamations, Types of phrases and clauses, Finite and non-finite clauses, noun clauses and phrases, adjective clauses and phrases, adverb and phrases, Indirect Speech, Comparison, Nominalisation

3. Other Areas
Determiners, Pronouns, Prepositions.

  1. Two extracts from different poems from the prescribed readers, each followed by two or three questions to test local and global comprehension of the set text. Each extract will carry four marks. (8 marks)
  2. One or two questions based on one of the drama texts from the prescribed reader to test local and global comprehension of the set text. An extract may or may not be used. (5 marks)
  3. One questions based on one of the prose text from the prescribed reader to test global comprehension and extrapolation beyond the set text. (4 marks)
  4. One extended questions based on one of the prose texts from the prescribed reader to test global comprehension and extrapolation beyond the set text. (8 marks)

Questions will test comprehension at different levels; literal inferential and evaluative.
At the end of class X, the Board’s three-hour examination will test reading and writing skills specified in the teaching/testing objectives together with representative samples of the literature and grammar objectives. The structure of the class X examination paper will be in accordance with the sample paper given in Grammar WorkBook.

Book Prescribed:

  1. Textbook – The Rainbow
  2. Workbook – The Rainbow

Compiled by M.P. Rajya Shiksha Kendra and Published by M.P. Text Book Corporation. Bhopal.

MP Board Class 10 Special English Blue Print of Question Paper

You can download MP Board Class 10th English Blueprint and Marking Scheme 2019-2020 in Hindi and English medium.

MP Board Class 10 English Blue Print of Question Paper 2

MP Board Class 10 General English Blue Print of Question Paper

MP Board Class 10 English Blue Print of Question Paper 1

MP Board Class 10 Special English Format of Question Paper Design

MP Board Class 10 English Format of Question Paper 2

MP Board Class 10 General English Format of Question Paper Design

MP Board Class 10 English Format of Question Paper 1

We hope the given MP Board Class 10th English Solutions Guide Pdf Free Download of Books The Rainbow, The Spring Blossom Solutions, Questions and Answers, Notes, Summary will help you. If you have any queries regarding Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 English Book Solutions Pdf of The Rainbow, The Spring Blossom Textbook Workbook Special and General English Class 10th Solutions, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 10th Social Science Book Solutions सामाजिक विज्ञान in Hindi & English Medium

MP Board Class 10th Social Science Solutions Guide Pdf Free Download सामाजिक विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium are part of MP Board Class 10th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 Social Science Book Solutions Samajik Vigyan Pdf, Important questions for class 10 social science MP Board.

MP Board 10th Maths Solution

Students can also download MP Board 10th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 10th Social Science Book Solutions in Hindi Medium

सामाजिक विज्ञान कक्षा 10 MP Board 2020 Book Solutions in Hindi Medium

MP Board 10th Class Social Science Book Solutions Geography भूगोल

Social Science Class 10 MP Board Solutions History इतिहास

MP Board Social Science Book Class 10 Civics नागरिकशास्त्र

MP Board Class 10 Social Science Book Solution Economics अर्थशास्त्र

MP Board Class 10th Social Science Book Solutions in English Medium

MP Board 10th Class Social Science Book Geography Solutions

Social Science Class 10 MP Board History Solutions

Class 10 Social Science MP Board Civics Solutions

MP Board Social Science Book Class 10 Solutions Economics Solutions

MP Board Class 10th Social Science Syllabus

इकाई 1: भारत में संसाधन : प्रकार (10 Marks)
प्राकृतिक संसाधन-मृदा, बनावट, प्रकार, वितरण और संरक्षण।
वन एवं वन्य प्राणी-वनों के प्रकार एवं उपयोगिता, वनस्पति, वन्य प्राणी एवं उनकी सुरक्षा, समाप्त हो रहे वन्य प्राणी।
कृषि-मुख्य फसलें, कृषि का राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में योगदान, औषधीय उद्यान विधि, उसकी उपयोगिता एवं सुरक्षा।
जल संसाधन-प्रकार, स्रोत, वितरण एवं उपयोगिता एवं जल सुरक्षा।
खनिज संसाधन-प्रकार, वितरण, उपयोग, संरक्षा एवं आर्थिक महत्व।
शक्ति के साधन-प्रकार, पारम्परिक एवं गैर-पारम्परिक साधन, वितरण, उपयोग एवं संरक्षण।

इकाई 2: उद्योग – प्रकार, विशिष्ट उद्योगों का विवरण, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में योगदान, औद्योगिक प्रदूषण एवं उसके नियन्त्रण के उपाय। (5 Marks)

इकाई 3: परिवहन, संचार एवं विदेशी व्यापार (5 Marks)
परिवहन-उपयोगिता एवं साधन : रेलमार्ग, सड़कमार्ग, वायुमार्ग, जलमार्ग, पाइप, पोत और पोताश्रय।
संचार-आधुनिक युग में संचार के साधनों की महत्ता, प्रमुख संचार के साधन, विदेशी व्यापार का आर्थिक विकास में योगदान, आयात एवं निर्यात।

इकाई 4: आपदा प्रबन्धन (5 Marks)
प्राकृतिक आपदाएँ – सूखा, बाढ़, भूकम्प, भूस्खलन, सुनामी।
मानवकृत आपदाएँ – आण्विक, जैविक एवं रासायनिक, बम विस्फोट।
सामान्य आपदाएँ – सावधानी एवं सुरक्षा।

इकाई 5: मानचित्र-पठन एवं अंकन (5 Marks)

इकाई 6: प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम एवं उसके पश्चात् (10 Marks)
1857 का प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम एवं प्रमुख क्रान्तिकारियों का परिचय, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का जन्म-उदारवाद एवं अनुदारवाद।

इकाई 7: स्वतन्त्रता आन्दोलन से सम्बन्धित घटनाएँ (10 Marks)
भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम की महत्वपूर्ण घटनाएँ, जैसे-बंगभंग विरोधी आन्दोलन, 1947 में भारत विभाजन एवं प्रमुख विशेषताएँ।
स्वतन्त्रता संग्राम में मध्यप्रदेश का योगदान।

इकाई 8: स्वातन्त्र्योत्तर भारत की प्रमुख घटनाएँ (10 Marks)
कश्मीर समस्या, भारत के सीमावर्ती राष्ट्रों से सम्बन्ध, 1962 का चीन युद्ध, 1965 एवं 1971 के भारत-पाक युद्ध, बांग्लादेश का उदय, भारत में आपातकाल, भारत का आण्विक शक्ति के रूप में उदय।

इकाई 9: भारतीय संविधान (6 Marks)
संविधान सभा का गठन-प्रारूप समिति, भारतीय संविधान की विशेषताएँ।

इकाई 10: भारतीय प्रजातन्त्र की कार्यप्रणाली (7 Marks)
प्रशासनिक व्यवस्था संघात्मक शासन, प्रशासनिक शक्तियों का केन्द्र व राज्य सरकार के मध्य विभाजन, सरकार का स्वरूप व्यवस्थापिका, कार्यपालिका, न्यायपालिका, स्थानीय प्रशासन।

इकाई 11: प्रजातन्त्र के समक्ष प्रमुख चुनौतियाँ (7 Marks)
जनसंख्या विस्फोट, बेरोजगारी, साम्प्रदायिकता, आतंकवाद, मादक पदार्थों का सेवन, प्रजातन्त्र की सफलता में बाधक तत्व एवं उनको दूर करने के उपाय।

इकाई 12: आर्थिक विकास की कहानी (5 Marks)
आर्थिक विकास की प्राचीन एवं अर्वाचीन अवधारणा। राष्ट्रीय एवं प्रति व्यक्ति आय।
मानव विकास के संकेतक भौतिक-अभौतिक उदाहरण सहित, विकसित एवं विकासशील राज्य उदाहरण सहित, भारत में आर्थिक नियोजन, ग्रामीण विकास एवं रोजगार गारण्टी योजना।
मुद्रा एवं वित्तीय प्रणाली-प्राचीन मुद्रा का परिचय, वित्तीय प्रणाली, वित्त संस्थाएँ, जैसे-साहूकार, जमींदार, स्वसहायता समूह, चिट फण्ड, निजी वित्तीय संस्थाएँ एवं विभिन्न बैंक।

इकाई 13: सेवा क्षेत्र (5 Marks)
सेवा क्षेत्र-अर्थ एवं महत्व-आय के घटक के रूप में।
अधोसंरचना-आर्थिक एवं सामाजिक संस्थागत क्षेत्र में भारतीय सेवाओं का विश्व में योगदान।

इकाई 14: उपभोक्ता जागरूकता (5 Marks)
उपभोक्ता जागरूकता-आवश्यकता एवं महत्व-उपभोक्ता शोषण-कारण एवं निदान, वस्तुओं का मानकीकरण, शासन की भूमिका।

इकाई 15: आर्थिक प्रणाली एवं वैश्वीकरण (5 Marks)
आर्थिक प्रणाली-अर्थ, पूँजीवाद, समाजवाद एवं मिश्रित अर्थव्यवस्था के लक्षण, गुण एवं दोष। वैश्वीकरण-अर्थ, आवश्यकता, 1991 से पूर्व विकास एवं 1991 से वर्तमान तक सुधार, वैश्वीकरण के प्रभाव।

MP Board Class 10th Social Science Marking Scheme

इकाई क्र. इकाई का नाम कालखण्ड अंक
1. भारत में संसाधन 20 10
2. उद्योग 07 05
3. परिवहन, संचार एवं विदेशी व्यापार 06 05
4. आपदा प्रबन्धन 05 05
5. मानचित्र-पठन एवं अंकन 05 05
6. प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम एवं उसके पश्चात् 15 10
7. स्वतन्त्रता आन्दोलन से सम्बन्धित घटनाएँ 15 10
8. स्वातंत्र्योत्तर भारत की प्रमुख घटनाएँ 15 10
9. भारतीय संविधान 12 06
10. भारतीय प्रजातन्त्र की कार्यप्रणाली 12 07
11. प्रजातन्त्र के समक्ष प्रमुख चुनौतियाँ 12 07
12. आर्थिक विकास की कहानी 10 05
13. सेवा क्षेत्र 08 05
14. उपभोक्ता जागरूकता 08 05
15. आर्थिक प्रणाली और वैश्वीकरण 10 05
पुनरावृत्ति 20
कुल योग (पूर्णांक) 100

MP Board Class 10th Social Science Syllabus in English Medium

सामाजिक विज्ञान कक्षा 10 MP Board

1. Indian Resources:
Types of Resources: Natural resources – Soil Formation types and distribution, soil conservation.
Forest and Wild Life: Forest types, Utility, Wild animals and their conservation Endangered animals.
Agriculture – Main crops. Contribution and Agriculture of National Economy, Flerbal Farms & their utility.
Water Resources – Types, Sources, Distribution of Agriculture, to National Economy Herbal Farms & their utility.
Water Resources – Types, Sources, Distribution, Use, Protection & Conservation.
Mineral Resources – Types, Distribution, Use, Conservation and Economic importance.
Power Resource – Types, Conventional & Non-Conventional, Distribution, Utilisation & Conservation.

2. Industry:
Types, Description of’ Special Industrial, Contribution of Industries to National Economy, Industrial Pollution and efforts for a solution.

3. Transport, Communication and Foreign Trade:
Transport – Utility and types – Railways, Roadways, Airways, Waterways, Pipeline Ports & Harbours.
Communication, Importance of Communication in modern days, Means of Communication. Contribution of foreign Trade to Indian Economy, Imports and Exports.

4. Disaster Management:
Natural Calamities – Drought, Flood, Earthquake, Landslides, Tsunami.
Man-Made Calamities – Nucleic, Biotic and Chemical, Bomb Blast.
General Calamities – Precautions and Security.

5. Maps – Reading and Marking

6. First Struggle of Freedom and after:
The first struggle for Freedom of 1857. Introduction to important revolutionaries, the birth of India National Congress, Moderates and Extremes.

7. Events related to the Independence Revolution
Important events of the Indian struggle for Independence, Revolution of Bange Bhang Partition of India in 1947 and its silent features, Contribution of Madhya Pradesh to the Freedom Struggle.

8. Major events of the Post-Independence period:
Kashmir Problem India’s relation with neighbouring countries, Chinese were with India in 1962, India-Pakistan war of 1965 and 1971, the birth of Bangladesh, emergency in India, Rise of India as atomic power.

9. Indian Constitution:
The organisation of Constitution Draft Committee, Salient Features of Indian Constitution.

10. Working of Indian Democracy:
Federal System, Division of Administrative Power between Centre and States, Organs of Government: Legislature, Executive and Judiciary, Local Administration.

11. Major Challenges before Democracy:
Increase in Population, Unemployment, Communalism, Terrorists, drug addiction;
Major Hindrance in Success of Democracy and measures for removal.

12. Story of Economic Development:
Ancient and modem concept of economic development. National Income & Per-capital Income, Indicators of human development, developing States with examples, Economic Planning in India, physical and non-physical with examples.
Money and Financial System: An Introduction to money in ancient time, Financial Institutions such as money lenders, Zamindars, Self helps groups, chit funds, private financial institutions and different types of banks.

13. Service Sector:
Service Sector – Meaning and Importance as a Component in Income, Infrastructure-Economic and Social Contribution of India’s Service sector in the World.

14. Consumer Awareness:
Consumer Awareness – Need and Importance, Consumer Exploitation, Causes and Remedies, Stadarlisation of Commodities, Government Role.

15. Economic System and Globalisation:
Economic System – Meaning, Capitalism, Socialism and Mixed Economy Characteristics, Merits and Demerties.
Globalisation – Meaning, Needs, Development Earlier to 1991 and Modern Reforms, Impact of Globalisation.

MP Board Class 10th Social Science Marking Scheme in English Medium

Unit Subject content/Lesson Marks Period
1. Resources of India (I) 05 10
Resources of India (II) 05 10
2. Industries in India 05 07
3. Transport Communication and Foreign Trade 05 06
4. Map Reading and Depiction 05 05
5. Disaster Management 05 05
6. The First Freedom Struggle of 1857 05 08
National Awakening and establishment of political organization in India 05 07
7. Freedom Movement and related Events 06 10
Contribution of Madhya Pradesh in Freedom Struggle 04 05
8. Important Events of the Post Independent India 10 15
9. Indian Constitution 06 12
10. The functioning of Indian Democracy 07 12
11. Main Challenges before Democracy 07 12
12. Economic Development & Planning 03 05
Money and Finance System 02 05
13. Economy: Service sector and infrastructure 05 08
14. Consumers Awareness 05 08
15. Economic System 03 06
Globalisation 02 04
Revision 20
Total 100 180

We hope the given MP Board Class 10th Social Science Solutions Guide Pdf Free Download सामाजिक विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium will help you. If you have any query regarding Madhya Pradesh MP Board Syllabus Class 10 Social Science Book Solutions Samajik Vigyan Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 10th Science Solutions विज्ञान

MP Board Class 10th Science Solutions Guide Pdf Free Download विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium are part of MP Board Class 10th Solutions. Here we have given NCERT Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 Science Book Solutions Vigyan Pdf.

Students can also download MP Board 10th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 10th Science Solutions विज्ञान
MP Board Class 10th Science Solutions विज्ञान

MP Board Class 10th Science Book Solutions in Hindi Medium

MP Board Class 10th Science Book Solutions in English Medium

We hope the given MP Board Class 10th Science Solutions Guide Pdf Free Download विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium will help you. If you have any query regarding NCERT Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 Science Book Solutions Vigyan Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 10th Maths Book Solutions गणित

MP Board Class 10th Maths Solutions Guide Pdf Free Download गणित in both Hindi Medium and English Medium are part of MP Board Class 10th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus NCERT Solutions for Class 10 Maths Book Ganit Pdf.

Students can also download MP Board 10th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 10th Maths Solutions गणित
MP Board Class 10th Maths Solutions गणित

MP Board Class 10th Maths Book Solutions in Hindi Medium

MP Board Class 10th Maths Chapter 1 वास्तविक संख्याएँ

MP Board Class 10th Maths Chapter 2 बहुपद

MP Board Class 10th Maths Chapter 3 दो चरों वाले रैखिक समीकरण युग्म

MP Board Class 10th Maths Chapter 4 द्विघात समीकरण

MP Board Class 10th Maths Chapter 5 समांतर श्रेढ़ियाँ

MP Board Class 10th Maths Chapter 6 त्रिभुज

MP Board Class 10th Maths Chapter 7 निर्देशांक ज्यामिति

MP Board Class 10th Maths Chapter 8 त्रिकोणमिति का परिचय

MP Board Class 10th Maths Chapter 9 त्रिकोणमिति के कुछ अनुप्रयोग

MP Board Class 10th Maths Chapter 10 वृत्त

MP Board Class 10th Maths Chapter 11 रचनाएँ

MP Board Class 10th Maths Chapter 12 वृतों से संबंधित क्षेत्रफल

MP Board Class 10th Maths Chapter 13 पृष्ठीय क्षेत्रफल एवं आयतन

MP Board Class 10th Maths Chapter 14 सांख्यिकी

MP Board Class 10th Maths Chapter 15 प्रायिकता

MP Board Class 10th Maths Book Solutions in English Medium

MP Board Class 10th Maths Chapter 1 Real Numbers

MP Board Class 10th Maths Chapter 2 Polynomials

MP Board Class 10th Maths Chapter 3 Pair of Linear Equations in Two Variables

MP Board Class 10th Maths Chapter 4 Quadratic Equations

MP Board Class 10th Maths Chapter 5 Arithmetic Progressions

MP Board Class 10th Maths Chapter 6 Triangles

MP Board Class 10th Maths Chapter 7 Coordinate Geometry

MP Board Class 10th Maths Chapter 8 Introduction to Trigonometry

MP Board Class 10th Maths Chapter 9 Some Applications of Trigonometry

MP Board Class 10th Maths Chapter 10 Circles

MP Board Class 10th Maths Chapter 10 Chapter 11 Constructions

MP Board Class 10th Maths Chapter 12 Areas Related to Circles

MP Board Class 10th Maths Chapter 13 Surface Areas and Volumes

MP Board Class 10th Maths Chapter 14 Statistics

MP Board Class 10th Maths Chapter 15 Probability

We hope the given MP Board Class 10th Maths Solutions Guide Pdf Free Download गणित in both Hindi Medium and English Medium will help you. If you have any query regarding NCERT Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 10 Maths Book Solutions Ganit Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.