MP Board Class 9th Social Science Solutions सामाजिक विज्ञान

MP Board Class 9th Social Science Solutions Guide Pdf Free Download सामाजिक विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium are part of MP Board Class 9th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 9 Social Science Book Solutions Samajik Vigyan Pdf.

MP Board Class 9th Social Science Book Solutions in Hindi Medium

Social Science Class 9 MP Board Book Solutions Geography भूगोल

Social Science Class 9 MP Board Guide History इतिहास

MP Board 9th Class Social Science Book Solutions Civics नागरिकशास्त्र

MP Board Social Science Book Class 9 Economics अर्थशास्त्र

MP Board Class 9th Social Science Book Solutions in English Medium

MP Board 9th Social Science Book Pdf In English Geography Solutions

MP Board Class 9th Social Science Solution History Solutions

Class 9 Social Science MP Board Civics Solutions

MP Board 9th Class Social Science Book Economics Solutions

MP Board Class 9th Social Science Syllabus

इकाई 1: पर्यावरण (8 Marks)
पर्यावरण की भारतीय अवधारणा, प्राकृतिक एवं सांस्कृतिक पर्यावरण। मानव एवं पर्यावरण का सम्बन्ध तथा प्रभाव। पर्यावरण प्रदूषण के प्रकार, प्रभाव एवं निराकरण के उपाय। भूमि के बदलते उपयोगों के कारण पारिस्थितिक तन्त्र का क्षरण, इसके लिए जिम्मेदार कारण, जैसे—जनसंख्या वृद्धि, औद्योगीकरण एवं शहरीकरण, यातायात, जलीय स्थलों पर अतिक्रमण, पर्यटन हेतु सुविधाएँ, धार्मिक तीर्थ-स्थल, मनोरंजन एवं साहसिक कार्यों हेतु भूमि उपयोग, बड़े बाँधों का निर्माण, खनन एवं युद्ध। प्राकृतिक पर्यावरण के संसाधन, दोहन एवं संरक्षण।
पर्यावरण संरक्षण सम्बन्धी सफलता की कुछ कहानियाँ, जैसे-
सी.एन.जी., चिपको आन्दोलन, साइलेण्ट वैली, वाटर हार्वेस्टिंग। पर्यावरणीय प्रभाव अध्ययन (EIA) की भूमिका।

इकाई 2: भारत-स्थिति, प्राकृतिक विभाग (4 Marks)
भारत की भौगोलिक स्थिति, प्राकृतिक विभाग

इकाई 3: जलवायु एवं अपवाह तंत्र (4 Marks)
जलवायु को प्रभावित करने वाले कारक, मानसून और उसकी विशेषताएँ, वर्षा व तापमान का वितरण। मौसम तथा जलवायु का मानव जीवन पर प्रभाव। मुख्य एवं सहायक नदियाँ, झीलें एवं समुद्र, देश की अर्थव्यवस्था में नदियों की भूमिका। नदी प्रदूषण एवं नियन्त्रण के उपाय।

इकाई 4: प्राकृतिक वनस्पति एवं वन्य जीवन (4 Marks)
वनस्पति के प्रकार, ऊँचाई के अनुसार वानस्पतिक विविधता, प्रमुख वन्य जीव प्रजातियाँ और उनका वितरण, संरक्षण की आवश्यकता और विभिन्न उपाय। मध्य प्रदेश में पाये जाने वाले जीव-जन्तु, राष्ट्रीय उद्यान एवं अभ्यारण्य।

इकाई 5: जनसंख्या (5 Marks)
वितरण, लिंगानुपात, साक्षरता तथा राष्ट्रीय जनसंख्या नीति का परिचय।

इकाई 6: मानचित्र-पठन एवं अंकन (5 Marks)

इकाई 7: प्राचीन भारत (10 Marks)
सरस्वती-सिन्धु सभ्यता, वैदिक सभ्यता, मौर्यकाल, गुप्तकाल, हर्ष एवं पूर्व मध्यकाल का संक्षिप्त राजनीतिक परिचय।

इकाई 8: मध्यकालीन भारत (10 Marks)
अरब, गजनी और गौरी के आक्रमण, दिल्ली सल्तनत एवं मुगलकाल का संक्षिप्त परिचय, विजयनगर एवं बहमनी साम्राज्य, महाराणा प्रताप, रानी दुर्गावती तथा महाराजा शिवाजी का संक्षिप्त इतिहास, मुगलों का पतन।

इकाई 9: प्रमुख सांस्कृतिक प्रवृत्तियाँ (10 Marks)
प्रारम्भिक इतिहास से लेकर मुगलों के पतन तक भारत की प्रमुख सांस्कृतिक प्रवृत्तियाँ-साहित्य, चित्रकला, वास्तुकला, मूर्तिशिल्प, नृत्य, संगीत एवं अन्य ललित कलाएँ।

इकाई 10: प्रजातन्त्र की अवधारणा (6 Marks)
अर्थ एवं परिभाषा, आधारभूत सिद्धान्त, प्रकार एवं महत्व। भारत में प्रजातन्त्र का विकास-प्राचीन भारत में प्रजातन्त्र की अवधारणा, प्रजातन्त्र के लिये संविधान की आवश्यकता एवं महत्व।

इकाई 11: निर्वाचन (7 Marks)
दलीय व्यवस्था- अर्थ एवं महत्व, भारतीय चुनाव प्रक्रिया एवं चुनाव आयोग की भूमिका, मताधिकार- अर्थ एवं परिभाषा, मताधिकार प्राप्त करने की शर्ते।

इकाई 12: नागरिकों के संवैधानिक अधिकार एवं कर्तव्य (7 Marks)
संविधान द्वारा प्रदत्त मौलिक अधिकार, मौलिक कर्त्तव्य, सूचना का अधिकार।

इकाई 13: ग्रामीण अर्थव्यवस्था का विकास (6 Marks)
प्राचीन भारत की ग्राम आधारित अर्थव्यवस्था का परिचय, आदर्श ग्राम की अवधारणा, मध्य प्रदेश के किसी ग्राम का आर्थिक अध्ययन।

इकाई 14: भारत के समक्ष आर्थिक चुनौतियाँ (8 Marks)
गरीबी-अर्थ, कारण, गरीबी निवारण के कुछ प्रमुख कार्यक्रम, विभिन्न प्रकार के ग्रामीण, लघु, मध्यम, भारी एवं आधारभूत उद्योगों की भारत में स्थिति।

इकाई 15: खाद्य सुरक्षा (6 Marks)
अनाज-भारत में अनाजों के प्रकार, खाद्य सुरक्षा क्यों? शासन एवं सहकारिता की भूमिका, लोक वितरण प्रणाली, राशन की दुकान।

MP Board Class 9th Social Science Marking Scheme

इकाई क्र. इकाई का नाम कालखण्ड अंक
1. पर्यावरण 12 08
2. भारत: स्थिति, प्राकृतिक विभाग 06 04
3. जलवायु एवं अपवाह तन्त्र 06 04
4. प्राकृतिक वनस्पति एवं वन्य जीवन 05 04
5. जनसंख्या 08 05
6. मानचित्र-पठन एवं अंकन 05 05
7. प्राचीन भारत 14 10
8. मध्यकालीन भारत 14 10
9. प्रमुख सांस्कृतिक प्रवृत्तियाँ 15 10
10. प्रजातन्त्र की अवधारणा 10 06
11. निर्वाचन 12 07
12. नागरिकों के संवैधानिक अधिकार एवं कर्तव्य 14 07
13. ग्रामीण अर्थव्यवस्था का विकास 12 06
14. भारत के समक्ष आर्थिक चुनौतियाँ 15 08
15. खाद्य सुरक्षा 12 06
पुनरावृत्ति 20
कुल योग (पूर्णांक) 100

MP Board Class 9th Social Science Syllabus in English Medium

1. Man and Environment: (08 Marks)
Meaning of environment, Elements and Importance, Natural and cultural. Man and environment relationship, types and effect of environmental pollution, corrective measures. Ecological degradation and changing patterns of land use, Factors responsible for this. Population growth, Industrialisation and Urbanisation. Transport, Encroachment on water bodies. Facilities for tourism, pilgrimage, Recreation and adventure, Construction of large dams. Mining and war, Resources of Natural environment, utilization and conservation.
Some success stories of environmental conservation e.g., C.N.G., Chipko Movement, Silent Valley, Water Harvesting. Role of Environmental Impact Assesment (EIA).

2. India: Situation, Physical Division (04 Marks)
Geographical Situation of India, Physical division.

3. Climate & Drainage Pattern (04 Marks)
Factors affecting climate, Monsoon and its Characteristic, Rainfall and Temperature Distribution, Effect of Weather and Climate on Human Life.
Rivers: Major & Minor, Lakes and Seas, Role of Rivers in Economic Development of the Country, River Pollution and measures for control.

4. Natural Vegetation and Wild Life (04 Marks)
Types of Vegetation, Altitudinal Variation Vegetation, Major wildlife species, and their distribution, need & various measures for conservation Wild Animals, National Parks and Sanctuaries of Madhya Pradesh.

5. Population (05 Marks)
Distribution, Sex Ratio, Literacy & Introduction to National Population Policy.

6. Map: Study and Depiction (05 Marks)

7. Ancient India: (10 Marks)
Indus Valley Civilization, Vedic Civilization, Mauryan Period, Gupta Period, Brief introduction to the political history of Harsha period.

8. Medieval India (10 Marks)
Invasion of the Arabs, Ghazni and Ghori. Delhi Sultanate and a brief introduction to the Mughal period. Vijayanagar and Bahamani Empires, a brief history of Maharana Pratap. Rani Durgawati and Maharaja Shivaji, fall of the Mughals

9. Major Cultural Trends (10 Marks)
From the early history to the fall of the Mughals. Literature, Painting. Architecture, Sculpture, Dance and Music etc.

10. Concept of Democracy (06 Marks)
Meaning and Definition, Basic Principles, Types and Importance. ,
Evolution of Democracy in India: Concept of Democracy in ancient India. Necessity & Importance of Constitution for democracy.

11. Election (07 Marks)
Party System: Meaning and Importance; Indian Electoral Process and the Role of Election Commission;
Voting rights: Meaning & Definition, Conditions for acquiring voting right.

12. Constitutional Rights and Duties of Citizen (07 Marks)
Fundamental Rights granted by the Constitution; Fundamental duties.

13. Development of Rural Economy (06 Marks)
An introduction to Village-based economy in ancient India. Concept of Ideal Village, A study of Village economy in Madhya Pradesh.

14. Economic Challenges Facing India (08 Marks)
Poverty: Meaning, Causes, Poverty alleviation Programme, Various Types of Heavy Medium, Small and Cottage Industries in India.

15. Food Security (06 Marks)
Varieties of food grains in India, Need of Food Security, Role of Government, Public distribution System and Fair Price Shops.

MP Board Class 9th Social Science Marking Scheme in English Medium

Unit Subject content/Lesson Marks Period
1. Man and Environment 04 06
2. Conservation of Environment 04 06
3. India: Location. Physical Division 04 06
4. Drainage System 02 02
5. Climate 02 04
6. Natural Vegetation and Wild Life 04 05
7. Population 05 08
8. Map Study and Depiction 05 05
9. Ancient India 10 14
10. Medieval India 10 14
11. Major Cultural Trends 10 15
12. Democracy 06 10
13. Election 07 12
14. Constitutional Rights and Duties of Citizens 07 14
15. Rural Economy 06 12
16. Poverty: An Economic challenge for India 04 07
17. State of Industries in India 04 08
18. Food Security 06 12
Revision 20
Total 100 180

We hope the given MP Board Class 9th Social Science Solutions Guide Pdf Free Download सामाजिक विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium will help you. If you have any query regarding Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 9 Social Science Book Solutions Samajik Vigyan Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Objective Type Questions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Objective Type Questions [Based on Textual Lessons]

Multiple Choice Questions
(बहु विकल्पीय प्रशन)

Question 1.
The real aim of Miss Beam’s school was to:
(A) Be practical
(B) Teach thought
(C) Teach thoughtfulness
(D) Increase memory.
Answer:
(C) Teach thoughtfulness

Question 2.
Those who prepare the matter for advertisements and publicity are called:
(A) Dramatists
(B) Playwrights
(C) Script writers
(D) Copywriters.
Answer:
(D) Copywriters.

Question 3.
J. C. Bose was born in:
(A) Faridabad
(B) Faridkot
(C) Firozpur
(D) Faridpur.
Answer:
(D) Faridpur.

MP Board Solutions

Question 4.
Kasturba Gandhi was married at an age of:
(A) thirteen
(B) eighteen
(C) twenty one
(D) twenty two.
Answer:
(A) thirteen

Question 5.
The poem ‘Am I a child’ is about:
(A) Child’s disputes
(B) Childhood worries
(C) An adolescent child’s situation
(D) Childhood fantasies.
Answer:
(C) An adolescent child’s situation

Question 6.
For Sudhir what mattered most was that he was:
(A) Back in the field
(B) Winner
(C) Loser
(D) In the team.
Answer:
(A) Back in the field

Question 7.
Chaturbhuj Babu had passed:
(A) M. A.
(B) B.A.
(C) Ph.D.
(D) Inter.
Answer:
(A) M. A.

Question 8.
In the opinion of the wise saint a best friend on the earth is:
(A) His own good sense
(B) His courage
(C) His physical power
(D) His smartness.
Answer:
(A) His own good sense

Question 9.
Ram Prasad Bismil was hanged on:
(A) 18th December 1927
(B) 19th December 1927
(C) 9th August 1925
(D) 19th August 1927
Answer:
(B) 19th December 1927

Question 10.
The moon walks wearing:
(A) Light shoes
(B) White shoes
(C) Silver shoes
(D) Bronze shoes.
Answer:
(C) Silver shoes

Question 11.
The tree described in the poem ‘Woodman spare that Tree’ is:
(A) A Pipal tree
(B) A Banyan Tree
(C) A Neem Tree
(D) An Oak Tree.
Answer:
(D) An Oak Tree.

Question 12.
Bose demonstrated the feelings of:
(A) Plants
(B) People
(C) Fish
(D) Animals
Answer:
(A) Plants

Question 13.
Rani Karnavati had sent Humayun:
(A) A raksha thread
(B) A gift
(C) A pearl
(D) A sword.
Answer:
(A) A raksha thread

Question 14.
Cheemi was called:
(A) Chhoti
(B) Little sparrow
(C) A bird
(D) None of these.
Answer:
(B) Little sparrow

MP Board Solutions

Fill in the Blanks
(रिक्त स्थान भरो।)

  1. Jumman became ……….. enemy.
  2. Miss Beam’s figure was comforting to a ………. child.
  3. Kasturba Gandhi led the women’s ……….. for which she was imprisoned.
  4. ………… is the pen name of Ram Prasad.
  5. King Vikramaditya was a ruler of ………..
  6. Rani Karnavati sent a message to ……….
  7. J. C. Bose was honoured with the degree of………..
  8. The most deafening place on the earth is a ……….
  9. Akbar was missing ………..
  10. ……….. motivated Sudhir.
  11. Akbar regreted ………… Birbal from the court.
  12. The child will stride into a new world of ………..
  13. Chaturbhuj Babu had brought a ……….. cat with him.
  14. Moon is wearing ……….. shoes.

Answer:

  1. Algu’s
  2. homesick
  3. Satyagraha,
  4. Bismil
  5. Ujjain
  6. Humayun
  7. Doctor of science
  8. Gold factory
  9. Birbal
  10. Baljit
  11. banishing
  12. adult life
  13. Afghan
  14. silver

State True or False
(सत्य असत्य बताइए।)

  1. Kasturba Gandhi was the daughter of a prosperous businessman.
  2. Advertisements can be termed as the backbone of the commerical world.
  3. King Vikramaditya was the ruler of Udaipur.
  4. Kakori train incident took place on 18 December 1927.
  5. In the second match Sudhir was to play in right in position.
  6. Jumman sold his bullock to Samjhu Sahu.
  7. We should do our work today.
  8. During the dumb day, a child has to use his will power.
  9. Parvati Kaki loved Cheemi.
  10. The present day babies are too soft spoken.
  11. J. C. Bose was awarded the fellowship of Royal Society in 1920.
  12. J. C. Bose was also a great writer.
  13. Examination for a royal scribe was to be held at Udaipur University.
  14. Birbal had passed a harmless comment about Akbar’s sense of humour.

Answer:

  1. True
  2. True
  3. False
  4. False
  5. True
  6. False
  7. True
  8. True
  9. False
  10. False
  11. True
  12. False
  13. False
  14. True.

MP Board Solutions

Match the Columns
(जोड़ी मिलाइए)

(I)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Objective Type Questions 1
Answer:
(1) → (ii) to accept and act according to a law
(2) → (iv) an imaginary thing
(3) → (i) an easy chance to score
(4) → (v) extremely hot
(5) → (iii) filled with air

(II)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Objective Type Questions 2
Answer:
(1) → (iii) poor orphan
(2) — (i) pen name
(3) → (v) To go from place to place to sell things
(4) → (ii) response in the living and Non-living
(5) → (iv) silver shoon

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 17 Noise

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 17 Noise

Noise Textual Exercises

Word Power

(a) Make new words from the following root words by adding the suffix-er/r/or.
(प्रत्यय जोड़कर नए शब्द बनाओ।)
Answer:
write – writer
read – reader
teach – teacher
sell – seller
supervise – supervisor
create – creator
pollute – polluter
vote – voter

(b) Look into the dictionary and find out the meanings of the words above made by adding the suffix.
(प्रत्यय जोड़कर बनाए गये शब्दों के अर्थ ढूँढ़िए।)
Answer:
Students can do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

II. Find out the words from the text which mean the following.
(अध्याय में से निम्नार्थक शब्द ढूँढ़ो।)

  1. To crush into fine powder – pulverize.
  2. One who teaches – teacher.
  3. One who goes from place to place to sell things – hawker.
  4. Someone whose job is to find out secret information about a country – spy.
  5. Bright and cheerful – festive.

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(A) Answer the following questions in one or two sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What are the things that create noise in this age?
(व्हॉट आर दि थिंग्स दैट क्रिएट नॉइज़ इन दिस एज?)
वे कौन सी चीजें हैं जो आज के युग में शोर उत्पन्न करती हैं?
Answer:
Radio, tape-recorders, television, loudspeakers, machines in the factories motor vehicles especially motorcycles, present day babies, hawkers on the streets etc. are the things that create noise.
(रेडियो, टेपरिकॉर्डर्स, टेलिविज़न, लाउडस्पीकर्स, मशीन्स इन द फैक्ट्रीज़, मोटर वेहिकल्स एस्पेश्यली मोटरसाइकिल्स, प्रेजेन्ट डे बेबीज, हॉकर्स ऑन द स्ट्रीट्स ऐटसेट्रा आर द थिंग्स दैट क्रियेट नॉइज़।)
रेडियो, टेपरिकॉर्डर, टेलीविजन, लाउडस्पीकर, कारखानों की मशीनें, मोटरगाड़ियाँ विशेषकर-मोटरसाइकिल, आज के बच्चे, फेरी वाले आदि शोर उत्पन्न करते हैं।

Question 2.
Why do we create noise?
(व्हॉय डू वी क्रिएट नॉइज़?)
हम शोर क्यों करते हैं?
Answer:
We create noise not only to show that we are in a happy and festive mood but also to canvass votes, to advertise a commodity or a point of view and also for its own sake.
(वी क्रिएट नॉइज़ नॉट ओनली टू शो दैट वी आर इन अ हैप्पी एण्ड फैस्टिव मूड बट ऑल्सो टू कैनवस वोट्स, टू एडवरटाईज़ अ कमोडिटी और अपॉइन्ट ऑफ वियू एण्ड ऑल्सो फॉर इट्स ओन सेक।)
हम अपनी खुशी जाहिर करने के लिए ही शोर उत्पन्न नहीं करते, बल्कि प्रचार द्वारा वोट प्राप्त करने, किसी वस्तु या विचार को विज्ञापित करने और इसको बनाए रखने के लिए भी शोर करते हैं।

Question 3.
Name the different kinds of noises.
(नेम द डिफ्रेन्ट काइन्ड्स ऑफ नॉइज़ेज़।)
विभिन्न प्रकार के शोर के नाम बताओ।
Answer:
Necessary noise, unnecessary noise, purposeful noise and purposeless noise are various types of noises.
(नेसेसरी नॉइज़, अननेसेसरी नॉइज़, परपजफुल नॉइज़ एण्ड परपजलेस नॉइज़ आर वेरिअस टाइप्स ऑफ नॉइज़ेज़।)
जरूरी शोर, अनावश्यक शोर, उद्देश्यपूर्ण शोर व अनुद्देश्यपूर्ण शोर विभिन्न प्रकार के शोर हैं।

Question 4.
How does a motor cyclist create agitation? How long does it last?
(हाउ डज़ अ मोटर साइक्लिस्ट क्रिएट एजिटेशन? हाउ लाँग इज इट लास्ट?)
मोटर साइकिल चालक किस प्रकार अशान्ति उत्पन्न करता है? वह कितनी देर तक रहती है?
Answer:
Motor cyclist creates agitation by starting the motor cycle and testing its engine. The agitation lasts half an hour even after the machine itself has gone out of sight.
(मोटर साइक्लिस्ट क्रिएट्स एजिटेशन बाइ स्टार्टिंग द मोटर साइकिल एण्ड टेस्टिंग इट्स एन्जिन। द एजिटेशन लास्ट्स हॉफ एन आवर ईवन आफ्टर द मशीन इटसेल्फ हैज गॉन आउट ऑफ साईट।)
मोटर साइकिल वाला मोटर साइकिल चलाकर व उसके इंजन की जाँच करके अशान्ति उत्पन्न करता है। वह अशान्ति उसके चले जाने के बाद आधे घण्टे तक भी रहती है।

Question 5.
Why did the author abandon a very comfortable house?
(व्हॉय डिड द ऑथर अबैन्डन अ वेरी कम्फर्टेबल हाऊस?)
Answer:
The author abandoned a very comfortable house because of a neighbour who switched on his radio every morning at five, long before even the gates were unlocked in any radio station.
(द ऑथर अबैन्डन्ड अवैरी कम्फर्टेबल हाऊस बिकॉज ऑफ अ नेबर हू स्विच्ड ऑन हिज रेडियो एवरी मॉर्निंग एट फाइव, लाँग बिफोर ईवन द गेट्स वर अनलॉक्ड इन एनी रेडियो स्टेशन।)
लेखक ने एक बहुत आरामदेह घर छोड़ा क्योंकि उसका पड़ोसी सुबह 5 बजे से अपने रेडियो को चालू कर देता था जबकि शायद किसी रेडियो स्टेशन के गेट भी न खुले हों।

Question 6.
Which factory did the author visit that he mentions?
(व्हिच फैक्ट्री डिड द ऑथर विज़िट दैट ही मैन्शन्स?)
लेखक किस कारखाने को देखने गया था?
Answer:
The author visited a gold factory.
(द ऑथर विज़िटिड अ गोल्ड फैक्टरी।)
लेखक स्वर्ण कारखाना देखने गया था।

Question 7.
What is that the author longs for?
(व्हॉट इज़ दैट द ऑथर लॉग्स फॉर?)
लेखक की क्या इच्छा थी?
Answer:
The author longs for a zone of silence.
(द ऑथर लांग्स फॉर अ जोन साइलेंस।)
लेखक शान्त क्षेत्र की इच्छा करता है।

(B) Answer the following questions in two or three sentences :
(निम्न प्रश्नों के उत्तर दो या तीन वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What do you mean by noise pollution? How does noise create pollution?
(व्हॉट डू यू मीन बाइ नॉइज़ पॉल्यूशन? हाउ डज़ नॉइज़ क्रियेट पॉल्यूशन?)
ध्वनि प्रदूषण से तुम क्या समझते हो? ध्वनि कैसे प्रदूषण पैदा करती है?
Answer:
Noise pollution is caused by creating unwanted sound that disturbs others. Every moment it distracts our lives. The noise in an around us is wearing us out at a terrific pace, creating pollution.
(नॉइज़ पॉल्यूशन इज़ कॉज्ड बाइ क्रिएटिंग अनवॉन्टेड साउण्ड दैट डिस्टर्ब अदर्स। एवरी मोमेन्ट इट डिस्ट्रैक्ट्स आर लाइव्स। द नॉइज़ इन एन अराउण्ड अस इज़ वियरिंग अस आउट एट अ टैरिफिक पेस, क्रियेटिंग पॉल्यूशन।)
ध्वनि प्रदूषण वह अनचाहा शोर है जो दूसरों को विचलित करता है। हर पल हमारा जीवन उससे विचलित होता है। हमारे चारों ओर का शोर हमें तेजी से थका रहा है व प्रदूषण फैला रहा है।

Question 2.
Why is the whole locality. converted into a sort of gold factory?
(व्हाय इज़ द होल लोकेलिटी कन्वर्टिड इन टू अ सॉर्ट ऑफ गोल्ड फैक्ट्री?)
हमारे चारों ओर का वातावरण किस प्रकार सोने की फैक्ट्री है?
Answer:
Whole locality around us is creating so much noise that it seems to be converted into a gold factory. A gold factory is the most deafening place on earth when the ore is pulverized before being treated with cyanide.

(होल लोकैलिटी अराऊण्ड अस इज़ क्रियेटिंग सो मच नॉइज़ दैट इट सीम्स टू बी कनवर्टिड इन्टू अ गोल्ड फैक्ट्री। अ गोल्ड फैक्ट्री इज़ द मोस्ट डैफनिंग प्लेस ऑन अर्थ व्हेन द ओर इज़ पलवरइज्ड बिफोर बीइंग ट्रीटेड विद साइनाइड।)

हमारे आस-पास के वातावरण में इतना शोर उत्पन्न होता है कि ऐसा लगता है कि वह एक सोने का कारखाना है। सोने का कारखाना इस धरती पर सबसे शोरगुल वाला स्थान होता है जब कच्ची धातु को संसाधित करने से पूर्व उसका चूरा बनाया जाता है।

Question 3.
What type of pollution does your school have and what steps do you take to keep your school pollution free?
(व्हॉट टाइप ऑफ पॉल्यूशन डज़ योर स्कूल हैव एण्ड व्हॉट स्टेप्स डू यू टेक टू कीप योर स्कूल पॉल्यूशन फ्री)
तुम्हारे विद्यालय में किस प्रकार का प्रदूषण है और तुम अपने विद्यालय को प्रदूषण रहित करने के लिए क्या कदम उठाओगे?
Answer:
Our school has noise pollution. The vehicles on the street create a lot of noise pollution and the shops in front of our school play tape recorders at high volume. We have complained the collector to stop the shopkeepers from playing music at such large volume as they did not.stop it at our request.

(अवर स्कूल हैज़ नॉइज़ पॉल्यूशन। द वेहिकल्स ऑन द स्ट्रीट क्रिएट अ लॉट ऑफ नॉइज़ पॉल्यूशन एण्ड द शॉप्स इन फ्रन्ट ऑफ अवर स्कूल प्ले टेप रिकॉर्डर्स एट हाइ वॉल्यूम। वी हैव कम्प्लेंड द कलैक्टर टू स्टॉप द शॉपकीपर्स फ्रॉम प्लेइंग म्यूज़िक एट सच लार्ज वॉल्यूम एज़ दे डिड नॉट स्टॉप इट एट अवर रिक्वेस्ट।)

हमारे विद्यालय में ध्वनि प्रदूषण है। सड़क पर वाहन ‘अत्यधिक ध्वनि प्रदूषण फैलाते हैं व हमारे विद्यालय के समक्ष जो दुकानें हैं वहाँ बहुत तेज, ध्वनि पर टेप रिकॉर्डर बजता है। हमने शहर के जिलाधिकारी को शिकायत की है कि वे दुकानदारों को तेज आवाज में संगीत बजाने से रोकें क्योंकि वे हमारे कहने पर नहीं माने।

Question 4.
Why are we surrounded by a moving loud market all the time?
(व्हाय आर वी सराउन्डेड बाइ अ मूविंग लाऊड मार्केट ऑल द टाइम?)
हम हर समय अपने को एक चलते-फिरते बाजार में घिरा क्यों पाते हैं?
Answer:
We are surrounded by a moving loud market all the time because we hear the loud sounds of different street vendors trying to sell their things, anywhere within the house. They are shouting at their highest pitch.

(वी आर सराउण्डेड बाइ अ मूविंग लाऊड मार्केट ऑल द टाइम बिकॉज़ वी हिअर द लाऊड साउण्ड्स ऑफ डिफ्रेन्ट स्ट्रीट वेन्डर्स, ट्राइंग टू सैल देयर थिंग्स, एनीव्हेयर विदिन द हाऊस। दे आर शाऊटिंग एट देयर हायेस्ट पिच।)

हम एक चलते-फिरते बाजार से घिरे हुए हैं, क्योंकि हम हर समय फेरी वालों को अपना माल बेचने के लिए जोर-जोर से चिल्लाने की आवाज सुनते हैं। वे बहुत तेज चिल्ला रहे होते हैं।

Question 5.
Every noise is not necessary. What would you consider as necessary noise?
(एवरी नॉइज़ इज़ नॉट नैसेसरी। व्हॉट वुड यू कन्सिडर एज नैसेसरी नॉइज़?)
हर आवाज आवश्यक नहीं होती। कौन-सी आवाज को तुम आवश्यक समझते हो?
Answer:
Sound that is created at a medium volume for communication purpose in the necessary noise.
(साउण्ड दैट इज़ क्रियेटिड एट अ मीडियम वॉल्यूम फॉर कम्युनिकेशन्स परपज इज़ द नैसेसरी नॉइज़।)
आवश्यक उद्देश्य से मध्यम आवाज में की गई ध्वनि आवश्यक शोर होता है।

MP Board Solutions

(C) Choose the correct option
(सही विकल्प चुनिए।)

(1) We don’t create a noise when we :
(a) canvass for votes
(b) advertise a commodity
(c) read loudly
(d) read silently.
Answer:
(d) read silently.

(2) The noisiest creatures on the earth are :
(a) animals
(b) birds
(c) insects
(d) children.
Answer:
(d) children.

(3) A moving loud market means :
(a) a market on wheels
(b) many markets selling different things
(c) a voice which fills the entire area
(d) cry loudly.
Answer:
(a) a market on wheels

(4) ‘Hawking’ means :
(a) go from place to place to sell things
(b) to call
(c) street sellers
(d) poor workers.
Answer:
(a) go from place to place to sell things

(5) Noise pollution can be controlled by :
(a) the government
(b) the police
(c) The citizens
(d) all of them.
Answer:
(c) The citizens.

Language Practice

(A) Combine the pair of sentences into one using nouns clause as an object of the verb :
(1) I think.
He has done his work.
Answer:
I think that he has done his work.

(2) He says.
He is a doctor.
Answer:
He says that he is a doctor.

(3) You assure.
You will attend the meeting.
Answer:
You assure that you will attend the meeting.

(4) They say.
The students are hard working.
Answer:
They say that the students are hard working.

(5) The teacher feels.
I am sick.
Answer:
The teacher feels that I am sick.

(B) Combine the following pair of the sentences to make a noun clause as a subject of the verb.
(निम्नलिखित वाक्य जोड़िए)

(1) He is my friend.
It is true.
Answer:
That he is my friend is true.

(2) When does he go to school?
It is not known to us.
Answer:
When he goes to school is not known to us.

(3) What do you mean by this?
It is clear to me.
Answer:
What do you mean by this is clear to me.

(4) Who do you like most?
It is still not clear.
Answer:
Whom you like most is still not clear.

(5) How are you preparing?
It is not known to me.
Answer:
How you are preparing is not known to me.

MP Board Solutions

Listening Time

I. Listen carefully to your teacher and tick the correct word given in the sentences.
(सही शब्द चिह्नित करो।)

(1) I can see myself/myshelf.
Answer:
myself.

(2) Ram had a big sock/shock.
Answer:
shock.

(3) Sow/show the dress.
Answer:
show.

(4) She went down to the seasore/seashore.
Answer:
seashore.

(5) She was a short/sort girl.
Answer:
short.

(6) The sea/see was shallow.
Answer:
sea.

II. Listen carefully to your teacher reading the passage below and underline the words in which the letter ‘a’ is pronounced as in the word ‘cart.
(A अक्षर के ‘आ’ उच्चारण वाले शब्द छाँटिए)
Answer:
In the afternoon the farmer went into his garden and cut some flowers. He put them in his cart and took them to the market. He sold the flowers and bought a duck which he put in the basket. Then he started to go home. But it , was dark and the path was hard. Suddenly a dog barked loudly and this alarmed him very much.

Speaking Time

Complete the following conversation :
(निम्न वातोलाप को पूरा करो।)
Answer:
1. Rohan : Excuse me did you drop this purse?
Lady : I beg your pardon.
Rohan : I said, ‘Did you drop this purse?’
Lady : Could you be a little bit louder?
Rohan : I’ve found this purse. Is it yours?
Lady : I’m sorry. I’m a little deaf. I couldn’t hear what you said. Any purse? Yes, that’s mine. I must have dropped it.
Lady : Thank you for your kindness.
Rohan : It’s a pleasure.

2. Mala : Excuse me I want to know the address of Mrs. Mishra
Gentleman : I beg your pardon.
Mala : May I know the address of Mrs. Mishra?
Gentleman : You walk to a short distance and turn to the right. The house in the corner is of Mr. Mishra.
Mala : Thank you sir.
Gentleman : It’s pleasure.

Writing Time

Write an article for your school magazine entitled “Living safely”.
(विद्यालय की वार्षिक पत्रिका के लिए दिए गए शीर्षक पर एक लेख लिखिए।)
Answer:
Living Safely

Safety is very necessary in our lives. There is a saying “Precaution is better than cure.’ So, one should take safety or precaution to prevent injuries and accidents that may be fatal to our lives.

We should take precautions both at home and outside. While on road we should drive carefully at slow speed, wear helmet and avoid using mobile phones. We should also obey traffic signals as it prevents accidents. Pedestrians should use overhead bridges and walk on the footpath, cross at Zebra crossing following traffic signals.

At home children most often come across accidents. Care should be taken to prevent them from accidents. Medicines should be kept out of their reach and matches and sharp objects like blade etc., should also be kept away from them. Hence, to live safely safety is essential so that one may not come across accidents.

MP Board Solutions

Things to do

How can crowded scenes on the road to school or in the market be avoided? Prepare a list of suggestions.
(स्कूल के रास्ते व बाजार से भीड़ किस प्रकार हटाई जा सकती है?)
Answer:
To prevent crowd on road and in market following steps can be taken-

  1. Parking of vehicles on the road should be avoided.
  2. Street vendors and hawkers should be prevented on busy roads and markets.
  3. Large vehicles like buses, trucks and cars should be prevented on such roads,
  4. Footpath shops should be removed from the market.
  5. Traffic signals should be followed on road.

Noise Difficult Word Meanings

canvass (केनवास)-to ask somebody to support a particular person, political party etc. किसी चीज के लिए समर्थन माँगना, चुनाव प्रचार; peculiar (पिक्युलिअर)-strange or unusual विशेष, खास; elegant (एलिगेन्ट)graceful and attractive भव्य व आकर्षक; hawk (हॉक)-to try to sell things going from place to place asking people to buy them जगह-जगह जाकर चीजें बेचना; anguish (एनिवश)-severe pain तीव्र वेदना; abandon (अबैन्डन)-to leave a thing or place स्थान त्यागना; skewer (स्कवर)-to push a thing or object through something किसी तीखी वस्तु को किसी में घुसाना।

Noise Summary, Pronunciation & Translation

[1] This age will probably be known as the noisiest in human history. We create a lot of noise not only to show that we are in a happy, festive mood, to canvass votes, to advertise a commodity or a point of view, but also for its own sake. Noise is the greatest bane of modern life. Every moment of our lives we are being distracted by it, necessary noise, unnecessary noise, purposeful noise and the purposeless, enough to weaken our nerves and madden us. The noise in and around us is wearing us out at a terrific pace.

(दिस ऐज़ विल प्राबेब्ली बी नोन एज़ द नॉइजिएस्ट इन ह्यूमन हिस्ट्री। वी क्रीएट अ लॉट ऑफ नॉइज़ नॉट ओनली टु शो दैट वी आर इन अ हैप्पी, फेस्टिव मूर्ड, टु केनवास बोट्स, टु एडवरटाइज़ं अ कमोडिटी और अ पॉइन्ट ऑफ विउ, बट ओल्सो फोर इट्स ओन सेक। नॉइज़ इज़ द ग्रेटेस्ट बेन ऑफ मॉडर्न लाइफ। एवी मॉमेन्ट ऑफ अवर लाइब्ज वी आर बीईंग डिस्ट्रेक्टेड बाय इट, नेसेसरी नॉइज़, अननेसेसरी नॉइज़, पर्पजफुल नॉइज़ एण्ड द परपज़लेस, इनफ टु वीकन अवर नज एण्ड मेडन अस। द नॉइज़ इन एण्ड अराउण्ड अस इज़ वीअरिंग अस आउट एट यू टेरिफिक पेस।)

हिन्दी अनुवाद :
यह युग सम्भवतः मानव इतिहास में सबसे ज्यादा शोरगुल वाला युग जाना जाएगा। हम बहुत शोरगुल केवल यह बताने के लिए नहीं करते हैं कि हम खुशी में हैं, उत्सवी मड में हैं, वोट माँगने के लिये या किसी वस्तु अथवा दृष्टिकोण के प्रचार के लिए अपितु केवल शोर करने के लिए शोर करते हैं। शोरगुल आधुनिक जीवन का अभिशाप है। हमारे जीवन का प्रत्येक क्षण इसके द्वारा भटकाया जाता है। आवश्यक शोरगुल, अनावश्यक शोरगुल, उद्देश्यपूर्ण व अनुद्देश्यपूर्ण शोरगुल हमारी मस्तिष्क की नसों को कमजोर बनाने के लिए व हमें पागल बनाने के लिये पर्याप्त है। हमारे घर और बाहर शोरगुल हमें शीघ्रता से नष्ट कर रहा है।

[2] Someone noted recently that present-day babies are peculiarly loud-throated. They look elegant and sweet, no doubt, but the moment they open their mouths they let out a shattering volume of sound. School teachers do their best from the beginning by ordering every few seconds in the classroom, ‘silence, silence’. But it does not appear to have any effect on children. They remain the noisiest creatures on the earth. I think there will be an all-round benefit if a period of absolute silence is introduced in every class time table with a prize at the end of the year for the softest spoken person in the school.

(समवन नोटेड रिसेन्टली दैट प्रेजेन्ट डे बेबीज़ आर पिक्युलरली लाउड थ्रोटेडा दें लुक इलेजान्ट एण्ड स्वीट, नो डाउट, बट द मोमेन्ट दे ओपन देअर माउथ्स दे लेट आउट अ शेटरिंग वॉल्यूम ऑफ साउन्ड। स्कूल टीचर्स डू देअर बेस्ट फ्रॉम द बिगनिंग बाय ऑर्डरिंग एव्री फिउ सेकण्ड्स इन द क्लास रूम, ‘साइलेन्स, साइलेन्स।’ बट इट डज़ नॉट अपीयर टु हैव. एनी इफेक्ट ऑन चिल्ड्रन। दे रिमेन द नॉइजिएस्ट क्रीएचर्स ऑन द अर्थ। आई थिंक देअर विल वी एन ऑल राउण्ड बेनीफिट इफ अपीरियड ऑफ अब्सोल्यूट ‘साइलेन्स’ इज़ इन्ट्रोड्यूस्ड इन एव्री क्लास टाइम टेबल विद अ प्राइज़ एट द एन्ड ऑफ द यीअर योर द सॉफ्टेस्ट स्पोकन पर्सन इन द स्कूल।)

हिन्दी अनुवाद :
किसी ने अभी-अभी यह नोट किया कि आजकल के बच्चे खासकर जोर से बोलने वाले गले वाले हैं। वे बेशक, बहुत आकर्षक और मीठे दिखते हैं, पर जिस क्षण वे अपने मुँह खोलते हैं वे बहुत कानफाड़ ध्वनि का शोर करते हैं। स्कूल के शिक्षक कक्षा में निरन्तर “शान्ति शान्ति” का आदेश देने का भरसक प्रयास करते हैं। परन्तु इसका बच्चों पर कोई प्रभाव नहीं दिखता। वे इस पृथ्वी पर सबसे ज्यादा शोरगुल मचाने वाले प्राणी हैं। मैं सोचता हूँ कि हमें सब तरह से लाभ होगा यदि प्रत्येक कक्षा के टाइमटेबल में एक वादन “पूर्णतः शान्ति” का हो तथा प्रत्येक वर्ष के अन्त में “सबसे कोमल ध्वनि” वाले व्यक्ति के लिए स्कूल में एक इनाम रखा जाए।

MP Board Solutions

[3] Hawking in the streets has, of late, become a little too much. It seems impossible to concentrate on any study.or writing at home,particularly if one’s window looks over’a street. Even if one retires to the back of the house, one may not be saved, since the hawker seems to set the pitch of his voice on the basis that you should be searched out and pierced through and through, even if you are hiding in the innermost recess of the house.

(हॉकिंग इन द स्ट्रीट्स हेज़, ऑफ लेट, बिकम ए लिटिल टू मच। इट सीम्स इम्पॉसिबल टु कन्सेन्ट्रेट ऑन एनी स्टडी और राइटिंग एट होम, पर्टिक्युलरली इफ वन्स विन्डो लुक्स ओवर अ स्ट्रीट। इवन इफ वन रिटायर्स टु द बैक ऑफ द हाउस, वन मे नॉट बी सेव्ड, सिन्स द हॉकर सीम्स टू सैट द पिच ऑफ हिज़ वॉयस ऑन द बेसिस दैट यू शुड बी सर्ल्ड आउट एण्ड पीअर्ल्ड श्रू एण्ड थू, इवन इफ यू आर हाइडिंग इन द इनरमोस्ट रिसेस ऑफदा हालस।)

हिन्दी अनुवाद :
गर्मियों में जोर-जोर से आवाज लगाकर फेरी लगाना (सामान बेचना) कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है। घर पर अध्ययन करना या लिखना भी असम्भव प्रतीत होता है, विशेष रूप से यदि खिड़की गली या सड़क पर खुलती हो। यदि कोई अपने पीछे के कमरे में विश्राम भी कर रहा है तो, भी बच नहीं सकता क्योंकि फेरीवाला अपनी आवाज को इतनी ऊँची कर देता है कि वह आवाज आपको खोज ले और आपको पूरी तरह बेच दे, चाहे आप घर के सबसे अन्दरूनी कोने में ही क्यों न छिपे हों।

[14] At the moment I am writing this I see and hear two plantain-sellers coming on each other’s heels, almost trying to bark each other out of existence. I fear that ‘Grow More Food’ campaign has brought in only more plantains since I notice two more hawkers coming in with the same commodity. Now for a variation, I suppose, a seeker of old paper and empty bottles is expressing his wish in a rich, space-filling voice, a knife-grinder is employing an anguished cry like one caught in a trap and many others follow; all that we understand is that they are shouting something, it may be anything from gingerly oil-cake to lotus flowers, brinjals and bangles. We are surrounding by a moving loud market all the time.

(एट द मोमेन्ट आई एम राइटिंग दिस आई सी एण्ड हीअर टू प्लेनटेन सेलर्स कमिंग ऑन ईच अदर्स हील्स, अलमोस्ट ट्राइंग टु बार्क ईच अदर आउट ऑफ एक्ज़िस्टन्स। आई फिअर दैट – “ग्रो मोर फूड” केम्पेन हेज़ ब्रॉट इन ओनली मोर प्लेनटेन्स सिंस आई नोटिस टू मोर हॉकर्स कमिंग इन विद द सेम कमोडिटी। नाउ फोर ए वेरिएशन, आई सपोज़, ए सीकर ऑफ ओल्ड पेपर एण्ड एम्प्टी बॉटल्स इज़ एक्सप्रेसिंग हिज़ विश इन अ रिच, स्पेस फिलिंग वॉइस, अ नाइफ ग्राइन्डर इज़ इम्प्लॉइंग एन एंग्विश्ड क्राय लाइक वन कॉट इन अ ट्रेप, एण्ड मेनी अदर्स फॉलो; ऑल दैट वी अन्डरस्टेण्ड इज़ दैट दे आर शाउटिंग समथिंग, इट मे बी एनीथिंग फ्रॉम जिन्जरली ऑइल केक, टु लोट्स फ्लावर्स, ब्रिन्जाल्स एण्ड बेंगल्स। वी आर सराउन्डिंग बाय ए मूविंग लाउड मार्केट ऑल द टाइम।)

हिन्दी अनुवाद :
जिस क्षण मैं यह लिख रहा हूँ, मैं देखता व सुनता हूँ दो केले विक्रेताओं का बिल्कुल एक के पीछे एक, वें इतनी जोर से चिल्लाते हैं मानो वे एक-दूसरे का अस्तित्व ही खत्म कर देंगे। मुझे डर है कि अधिक अन्न उपजाओ’ आन्दोलन केवल अधिक केलों को उपजाया है क्योंकि मैंने महसूस किया कि दो और हॉकर्स इसी माल को लेकर आ रहे हैं। अब थोड़े परिवर्तन के लिए, मैं अनुमान करता हूँ कि, एक रद्दी पेपर व खाली बोतलों को पाने वाला अपनी भरपूर आवाज से उस स्थान को गुंजाता है, एक चाकू तेज करने वाला एक वेदनापूर्ण आवाज करता है जैसे कि कोई किसी जाल में फंस गया हो, और अन्य भी आ रहे हैं, सभी जैसा कि हम समझते हैं वे किसी चीज के लिए आवाज कर रहे हैं वो कुछ भी हो सकता है अदरक के तेल वाली केक से लेकर कमल के फूल, बैंगन और चूड़ियाँ। हम हर समय चलते-फिरते शोर भरे मार्केट से सदैव घिरे रहते हैं।

[5] I have dread of living next to a man owning a motor cycle. When a motor cyclist starts out, the agitation he creates lasts half-an-hour, even after the machine itself has gone out of sight. On Sundays this enthusiast tests and touches up his engine, whereupon the whole locality is converted into a sort of gold factory. I say gold factory because, in my experience, it is the most deafening place on earth when the ore is pulverized before being treated with cyanide. This was all I could catch of the whole process when I visited a gold-mine some years ago. My guide was explaining everything to me in great detail, but I could only see his lips move, there was such a clatter all around. It has been the same experience for me in any factory.

(आई हैव अ ड्रेड ऑफ लिविंग नेक्स्ट टु अ मैन ओनिंग अ मोटर साइकिल। व्हेन अ मोटर साइक्लिस्ट स्टार्ट्स आउट द एजिटेशन ही क्रीएट्स लास्टस हॉफ-एन-अवर, ईवन ऑफ्टर द मशीन इटसेल्फ हैज गोन आउट ऑफ साइट। ऑन सन्डेज दिस एन्थूजियास्ट टेस्ट्स एण्ड टचेस अप हिज़ इंजिन, व्हेअर अपॉन द होल लोकेलिटी इज़ कनवर्टेड इन टू ए सॉर्ट ऑफ गोल्ड फेक्ट्री। आई से गोल्ड फेक्ट्री बिकॉज़, इन माय एक्सपीरियन्स, इट इज़ द मोस्ट डीफनिंग प्लेस ऑन अर्थ व्हेन द ओर इज़ पल्वेराईज्ड बिफोर बीईंग ट्रीटेड विद सायनाइड। दिस वॉज़ आल आई कुड केच ऑफ द होल प्रोसेस व्हेन आई विज़िटेड अ गोल्ड-माइन सम यीअर्स एगो। माय गाइड वॉज़ एक्सप्लेनिंग एवरीथिंग टु मी इन ग्रेट डिटेल, बट आई कुड ओनली सी हिज़ लिप्स मूव, देयर वॉज़ अक्लेटर ऑल अराउन्ड। इट हेज बीन द सेम एक्सपीरियन्स फोर मी इन एनी फेक्ट्री।)

हिन्दी अनुवाद :
मुझे पड़ोस में रहने वाले व्यक्ति जिसके पास एक मोटर बाइक है, के लिए डर रहता है। जब कोई बाइक चलाने वाला व्यक्ति अपनी गाड़ी चलाना आरम्भ करता है उससे उत्पन्न परेशानी व कष्ट कम से कम आधे घंटे तक रहता है जब तक कि वह मशीन आँखों के सामने से ओझल न हो जाए। रविवार के दिन जब अपनी मशीन पर वह यह जोश भरे परीक्षण करता है तो पूरा क्षेत्र एक सोने का कारखाना बन जाता है। मैं इसे सोने का कारखाना कह रहा हूँ क्योंकि मेरा अनुभव यह है कि जब सायनाइड के साथ खनिज का प्रयोग होने से पहले धातु अथवा खनिज छोटे-छोटे टुकड़ों में बदलता है तब यह पृथ्वी का सबसे अधिक वधिर (बहरा) कर देने वाला स्थान हो जाता है। यह पूरी विधि मैंने देखी क्योंकि कुछ वर्ष पूर्व मैं एक सोने की खदान में भ्रमण करने गया था। मेरा गाइड (पथप्रदर्शक) मुझे सब कुछ विस्तारपूर्वक बता रहा था, परन्तु मैंने केवल उसके होंठ हिलते ही देखे क्योंकि चारों तरफ इतना कोलाहल (खड़खड़ाहट) था। मेरे लिए वह अनुभव ऐसा था जैसे कि मैं किसी कारखाने में हूँ।

MP Board Solutions

[6] I have often been taken around many types of factories, but as my guides move their lips. I give up all attempts at knowing how cotton or silk is converted into yarn and fabric. The noise of machinery is always at a higher scale than the voice of the guide, a fact which is generally overlooked by those who take people around factories. While all the explanation is going on, my mind keeps feasting on visions of a zone of silence.

(आई हैव ऑफन बीन टेकन अराउन्ड मेनी टाइप्स ऑफ फेक्ट्रीज़, बट एज़ माय गाइड्स मूव देअर लिप्स, आई गिव अप ऑल अटेम्पट्स एट नोइंग हाउ कॉटन और सिल्क इज़ कनवर्टेड इन्टू यार्न एण्ड फेब्रिक। द नॉइज ऑफ मशीनरी इज़ आलवेज़ एट द हायर स्केल देन द वॉयस ऑफ द गाइड, अ फेक्ट विच इज़ जनरली ओवरलुक्ड बाय दोज़ हू टेक पीपुल अराउन्ड फेक्ट्रीज़। व्हाइल ऑल द एक्सप्लेनेशन इज गोइंग ऑन, माय माइन्ड कीप्स फेयस्टिंग ऑन विजन ऑफ अ जोन ऑफ साइलेन्स।)

हिन्दी अनुवाद :
मुझे कई प्रकार की फैक्ट्रियों में ले जाया गया परन्तु मेरे गाइड केवल अपने होठों को ही हिलाते थे। मैं कपास या रेशम को किस तरह सूत और कपड़े में बदला जाता है इसे समझने के सभी प्रयास त्याग देता हूँ। मशीनरी का शोरगुल गाइड की आवाज से बहुत तीव्र होता है, यह तथ्य उन लोगों द्वारा उपेक्षित कर दिया जाता है जो लोगों को फैक्ट्रियों में ले जाते हैं। जबकि सारा वर्णन चलता रहता है, मेरा मस्तिष्क किसी शान्ति क्षेत्र के मानसिक दृश्यों में विचरण करता रहता है।

[7] I abandoned a very comfortable house once because of a neighbour who switched on his radio every morning at five, long before even the gates were unlocked in any radio station. The result of such an early switching on was that the radio (the neighbour’s) kept up a sort of humming, a most harassing accompaniment, unbroken like the humming of a thousand bees. I fear that this simile may mislead my readers by its poetic association, but, far from it, this humming was like the skewering of one’s brain by many instruments of torture, something like a pneumatic drill operating at one’s temples.

(आई अबैन्डन्ड अ वेरी कम्फर्टेबल हाउस वन्स बिकॉज़ ऑफ अ नेबर हू स्विच्ड ऑन हिज़ रेडियो एवी मॉर्निंग एट फाइव, लॉग बिफोर इवन द गेट्स वर अनलॉक्ड इन एनी रेडियो स्टेशन। द रिज़ल्ट ऑफ सच एन अर्ली स्विचिंग ऑन वॉज़ दैट द रेडियो (दे नेबर्स) केप्ट अप अ सॉर्ट ऑफ यूमिंग, अ मोस्ट हेरासिंग अकम्पनीमेंट अनब्रोकन लाइक द यूमिंग ऑफ अ थाउजन्ड बीज। आई फियर दैट दिस सिमिल मे मिस्लीड माय रीडर्स बाय इट्स पोएटिक असोसिएशन बट फार फ्रॉम इट, दिस यूमिंग वॉज़ लाइक द स्कीविरंग ऑफ वन्स ब्रेन बाय मेनी इंन्स्ट्रमेंटस ऑफ टॉरचर, समथिंग लाइक अ न्यूमेटिक ड्रिल ऑपरेटिंग एट वन्स टेम्पल्स।)

हिन्दी अनुवाद :
मैंने एक बहुत ही आरामदेह घर को त्याग दिया क्योंकि एक पड़ोसी था जो अपने रेडियो को प्रात: 5 बजे चालू कर देता था, किसी रेडियो स्टेशन के गेट के ताले खुलने से बहुत पहले। परिणाम था कि पड़ोसी का रेडियो एक प्रकार की गुनगुनाहट करता रहता था, जो कि एक प्रकार पीड़ादायी साथी था, बिना रुके हजारों मधुमक्खियों की गुनगुनाहट के समान था। मुझे डर है कि वह उपमा मेरे पाठकों को उसके कविता के साथ जुड़े होने से गलतफहमी पैदा करेगी किन्तु इससे दूर तक, यह गुनगुनाहट किसी व्यक्ति के कानों में कई यन्त्रों द्वारा किसी व्यक्ति के मस्तिष्क भेदन के समान लगती थी। एक प्रकार की वायु चलित बरमें के द्वारा खोपड़ी में भेदन करने के समान।

[8] Why my neighbour should have queued up so early in the day in order to receive a radio programme was a thing I could never understand. Its only effect was to make me get up early since I did not like to lie in bed wallowing in uncheritable neighbourly thoughts the first thing in the day. Moreover I was not without hope since a friend who knows all about radios told me that my neighbour’s habit of switching on the radio when the transmitter was still cold was the surest way of destroying the valves, if not the radio itself ………. But nothing occurred along those happy lines, and I had to move on.

(व्हॉय माय नेबर शुड हैव क्यूउड अप सो अर्ली इन द डे इन ऑर्डर टु रिसीव अ रेडियो प्रोग्राम वॉज़ अ थिंग आई कुड नेवर अण्डरस्टैण्ड्। इट्स ओनली इफेक्ट वॉज़ टु मेक मी गेट अप अर्ली सिन्स आई डिड नॉट लाइक टू लाइ इन बेड वेलोइंग इन अनचेरिटेबल नेबरली थॉट्स द फर्स्ट थिंग्स इन द डे। मोरओवर आई वॉज़ नॉट विदाउट होप सिन्स अ फ्रेन्ड हू नोज ऑल अबाउट रेडियोज टोल्ड मी दैट माय नेबर्स हैबिट ऑफ स्विचिंग ऑन द रेडियो व्हेन द ट्रांसमिटरं वॉज़ स्टिल कोल्ड वॉज़ द स्युअरेस्ट वे ऑफ डिस्ट्रॉइंग वाल्व्ज, इफ नॉट द रेडियो इट सेल्फ …….. बट नथिंग आकर्ड एलांग दोज हैप्पी लाइन्स, एण्ड आई हैड टू मूव ऑन।)

हिन्दी अनुवाद :
मेरा पड़ोसी इतनी जल्दी दिन में रेडियो कार्यक्रम को प्राप्त करने में लाइन में लग जाता है मैं कभी समझ नहीं पाया। इसका मुझ पर इतना ही प्रभाव मेरे ऊपर हुआ कि मुझे भी जल्दी उठ जाना पड़ता था क्योंकि मैं इतनी देर तक बिस्तर में पड़ा पड़ोसी के प्रति द्वेषपूर्ण विचारों में सुबह-सुबह लिपटा नहीं रहना चाहता था और मैं इस उम्मीद में नहीं था क्योंकि मेरे एक मित्र ने जो कि रेडियो के बारे में सब कुछ जानता था कहा कि रेडियो जो ट्रांसमिटर के ठंडे बने रहने के वक्त रेडियो को ऑन करना यदि रेडियो को नहीं तो उसके वॉल्ब्ज को नष्ट करना है …….. किन्तु कुछ भी नहीं हुआ और मुझे वहाँ से चले जाना पड़ा।

MP Board Solutions

[9] I sometimes feel that God, who constructed the human body with so much forethought seems to have become weary when he came to the ears, and left them as the most vulnerable portion of a human being. The result is that we spend all our hours longing for something that we cannot attain, namely silence.

(आई समटाइम्स फील दैट गौड, हू कन्स्ट्रक्टेड द ह्यूमन बॉडी विद सो मच फोरथॉट सीम्स टू हैव बिकम वीअरी वेन ही केम टु द इअर्स, एण्ड लेफ्ट देम-एज द मोस्ट वलनरेवल पोर्स ऑफ ए ह्यूमन बीइंग। द रिजल्ट इज दैट वी स्पेन्ड ऑल अवर आवर्स लाँगिंग फॉर समथिंग दैट वी कैननॉट एटेन, नेमली साइलेन्स।)

हिन्दी अनुवाद :
कभी-कभी मैं सोचता हूँ कि ईश्वर जिन्होंने मानव संरचना इतने सोच विचार के पश्चात् की है, भी परेशान व चिन्तित हो गये होंगे जब ईश्वर ने कानों के विषय में सोचा होगा और फिर उसे मानव का सर्वाधिक आघात करने योग्य वाला भाग समझकर छोड़ दिया। परिणामस्वरूप हम अपना सारा समय कुछ पाने की इच्छा में, जिसे हम प्राप्त नहीं कर सकते में बिता देते हैं और जो है शान्ति।

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 16 Cheemi: The Brave Girl

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 16 Cheemi: The Brave Girl

Cheemi: The Brave Girl Textual Exercises

Word Power

(1) Arrange the jumbled letters to make meaningful words
(अक्षरों को उचित क्रम में लगाकर अर्थपूर्ण शब्द बनओ।)
Answer:

  1. hanpro – orphan
  2. lifra – frail
  3. odors – doors
  4. bubyhc – chubby
  5. tandisce – distance
  6. torfacies – factories

(2) Rewrite the following words using appropriate prefixes given below.
(उचित उपसर्ग लगाइए।)
(dis, un, in, im)
Answer:

  1. educated – uneducated
  2. correct – incorrect
  3. cover – uncover
  4. possible – impossible
  5. position – disposition.

(3) Arrange the words in alphabetic order
(शब्दों को वर्णमाला के क्रम में लगाओ।)
Answer:

  1. babies
  2. centuries
  3. discarded
  4. fetch
  5. floor
  6. garden
  7. humanity,
  8. lady
  9. Safety
  10. style
  11. vegetable
  12. wooden.

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(A) Answer the following questions in one or two sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
Why did people call Cheemi the little sparrow?
(व्हाय डिड पीपल कॉल चीमी द लिट्ल स्पैरो?)
लोग चीमी को एक छोटी चिड़िया क्यों कहते थे?
Answer:
People called Cheemi the little sparrow because she was a frail little girl.
(पीपल कॉल्ड चीमी द लिटल स्पैरो बिकॉज़ शी वॉज़ अ फ्रेल लिट्ल गर्ल।)
लोग चीमी को छोटी चिड़िया कहते थे क्योंकि वह दुबली पतली व कमजोर लड़की थी।

Question 2.
Who were said to be Parvati Kaki’s ancestors?
(हू वर सेड टू बी पार्वती कॉकीज़ एन्सेस्टर्स?)
पार्वती काकी के पूर्वज कौन थे?
Answer:
Parvati Kaki’s ancestors were related to the great Peshwas who had ruled Maharashtra during the 18th and 19th centuries.
(पार्वती काकीज़ एन्सेस्टर्स वर रिलेटिड टू द ग्रेट पेश्वाज़ हू हैड रूल्ड महाराष्ट्र ड्यूरिंग द एटीन्थ एण्ड नाइन्टीन्थ सेन्चुरीज़।)
पार्वती काकी के पूर्वज महाराष्ट्र के 18वीं व 19वीं सदी के शासक महान पेशवा थे।

Question 3.
Cheemi had to be satisfied with cooing to Chhotu at a distance. Why?
(चीमी हैड टू बी सैटिस्फाइड विद कूइंग टू छोटू एट अ डिस्टेन्स। व्हाय?)
चीमी को छोटू को दूर से ही पुचकार कर सन्तोष करना पड़ता था। क्यों?
Answer:
Since Parvati Kaki kept vigil like a watch dog and never allowed Cheemi to touch Chhotu therefore she had to be satisfied with cooing to Chhotu at a distance.
(सिन्स पार्वती कांकी कैप्ट विजिल लाइफ अवॉच डॉग एण्ड नेवर अलाउड चीमी टू टच छोटू देयरफोर शी हैड ट्र बी सैटिस्फाइड विद कुइंग टू छोट्र एट अ डिस्टेन्स।)
चूँकि पार्वती काकी छोटू पर नजर रखती थी व छोटू को उसके पास नहीं जाने देती थी इसलिए चीमी को छोटू को दूर से ही पुचकार कर सन्तोष करना पड़ता था।

Question 4.
What was the incident that caused flood in Shanwar Peth where Cheemi lived?
(व्हॉट वॉज़ द इन्सीडेन्ट दैट कॉज़्ड् फ्लड इन शॉवर पेठ व्हेयर चीमी लिव्ड?)
कौन-सी घटना के कारण चीमी के निवास के पास शाँवर पेठ में बाढ़ आ गई थी?
Answer:
There was flood in Shanwar Peth because the Panshet Dam at Mutha river had given way and the river water entered the city.
(देयर वॉज़ फ्लड इन शॉवर पेठ बिकॉज़ द पानशेट डैम एट मुठा रिवर हैड गिवन वे एण्ड द रिवर वॉटर एन्टर्ड द सिटी।)
शाँवर पेठ में बाढ़ आ गई थी क्योंकि मुठा नदी पर जो पानशेत बाँध था वह टूट गया था व नदी का पानी शहर में आ गया था।

Question 5.
Vinayak, Parvati Kaki’s son was not at home at the time of flood. Where was he?
(विनायक, पार्वती काकीज़ सन वॉज़ नॉट एट होम एट द टाइम ऑफ फ्लड। व्हेयर वॉज़ ही?)
बाढ़ के समय पार्वती काकी का बेटा विनायक घर पर नहीं था। वह कहाँ था?
Answer:
Parvati Kaki’s son, Vinayak had gone to Mumbai on business when there was flood.
(पार्वती काकीज़ सन, विनायक हैड गॉन टु मुम्बई ऑन बिज़नेस व्हेन देयर वॉज़ फ्लड।)
पार्वती काकी का बेटा, विनायक बाढ़ के समय व्यापार के लिए मुम्बई गया था।

(B) Answer the following questions in three or four sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर तीन या चार वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What was the source of Cheemi’s food and clothes?
(व्हॉट वॉज़ द सोर्स ऑफ चीमीज़ फूड एण्ड क्लोद्स?)
चीमी के भोजन व वस्त्रों का स्रोत क्या था?
Answer:
Cheemi lived on leftovers that she got from the women in the neighbourhood and wore the discarded clothes that the girls of her age gave her.
(चीमी लिव्ड ऑन लेफ्टओवर्स दैट शी गॉट फ्रॉम द विमेन इन द नेबरहुड एण्ड वोर द डिस्कार्डेड क्लोद्स दैट द गर्ल्स ऑफ हर एज़ गेव हर।)
चीमी पड़ोस की औरतों द्वारा दिए गए बचे हुए भोजन पर निर्वाह करती थी व अपने ही उम्र की लड़कियों द्वारा दिये गये उतरे हुए कपड़े पहनती थी।

Question 2.
What change took place in Parvati Kaki’s attitude after Cheemi had brought Chhotu to safety?
(व्हॉट चेन्ज टुक प्लेस इन पार्वती काकीज़ एटीट्यूड आफ्टर चीमी हैड ब्रॉट छोटू टू सेफ्टी?)
छोटू को सुरक्षित आने के बाद चीमी के प्रति पार्वती काकी के व्यवहार में क्या परिवर्तन आया?
Answer:
Parvati Kaki hugged her, addressed her as Cheemi” and then allowed her to play with Chhotu.
(पार्वती काकी हग्ड हर, अड्रेस्ड हर एज़ “डॉटर चीमी” एण्ड देन अलाउड हर टू प्ले विद छोटू।)
पार्वती काकी ने चीमी को गले से लगाया, उसे “चीमी बेटी” कहकर पुकारा और उसे छोटू के साथ खेलने की अनुमति दे दी।

Question 3.
What clues do you find in the lesson that, show that the police were active in the flooded village. Describe in brief.
(व्हॉट क्लूज़ डू यू फाइन्ड इन द लैसन दैट शो दैट द पुलिस वर् एक्टिव इन द फ्लडेड विलेज। डिस्क्राइब इन ब्रीफ।)
पाठ में तुम्हें क्या संकेत मिलते हैं कि पुलिस बाढ़ वाले गाँव में सक्रिय रही। संक्षेप में वर्णन करो।
Answer:
Police was active in the flooded village as the police only discovered that one of the bedroom’s window was open to take out Chhotu. It was the policeman who lowered Cheemi to the window and Cheemi handed the child to the policeman only.

(पुलिस वॉज़ एक्टिव इन द फ्लडेड विलेज एज़ द पुलिस ओनली डिसकवर्ड दैट वन ऑफ द बेडरूम्स विन्डो वॉज़ ओपन टु टेक आउट छोटू। इट वॉज़ द पुलिस मैन हू लोअर्ड चीमी टू द विन्डो एण्ड चीमी हैन्डिड द चाइल्ड टू द पुलिसमैन ओनली।)

बाढ़ वाले गाँव में पुलिस सक्रिय थी क्योंकि पुलिस ने ही ढूँढ़ा कि शयनकक्ष की एक खिड़की खुली है जिससे छोटू को निकाला जा सकता है। पुलिस वाले ने ही चीमी को खिड़की से अन्दर उतारा व चीमी ने बालक को पुलिस वाले को ही दिया।

Question 4.
What did the police inspector offer Cheemi when life became normal in Pune?
(व्हॉट डिड द पुलिस इंस्पेक्टर ऑफर चीमी व्हेन लाइफ बिकेम नॉर्मल इन पुणे?)
पुलिस इंस्पेक्टर ने पुणे में जीवन सामान्य होने पर चीमी को क्या प्रस्तावित किया?
Answer:
The Police Inspector asked her what reward she would like to have for her bravery.
(द पुलिस इन्स्पेक्टर आस्कड हर व्हॉट रिवॉर्ड शी वुड लाइक टू हैव फॉर हर ब्रेवरी।)
पुलिस इंस्पेक्टर ने चीमी को उसकी बहादुरी के लिए इनाम माँगने को कहा।

Question 5.
“I have already got the reward,” said Cheemi. What was the reward that she had got?
(“आइ हैव ऑलरेडी गॉट द रिवॉर्ड” सेड चीमी। व्हॉट वॉज़ द रिवॉर्ड दैट शी हैड गॉट?)
मुझे इनाम मिल चुका है? चीमी ने कहा। वह इनाम क्या था जो उसे मिला था?
Answer:
The reward was an opportunity to play with Chhotu.
(द रिवॉर्ड वॉज़ एन अपॉयूँनिटी टू प्ले विद छोटू।)
छोटू के साथ खेलने का मौका।

MP Board Solutions

(C) Who said these words to whom?
(किसने किससे कहा?)

Question 1.
“Let me help, I can easily crawl in and get Chhotu out.”
(“लेट मी हैल्प! आइ कैन ईज़ली क्रॉल इन एण्ड गेट छोटू आउट?”)
Answer:
Cheemi to the policemen.
(चीमी टू द पुलिसमैन।)

Question 2.
“We’ll drop you a rope ladder through the window.”
(“वी विल ड्रॉप यू अरोप लैडर श्रू द विण्डो।”)
Answer:
Policemen said to Cheemi.
(पुलिसमैन सेड टु चीमी।)

Question 3.
“Come here, Cheemi”…………”Daughter Cheemi.”
(“कम हेअर, चीमी”……..”डॉटर चीमी।”)
Answer:
Parvati Kaki to Cheemi.
(पार्वती काकी टू चीमी।)

Question 4.
“I should like to go to school if you can help me.”
(“आइ शुड लाइक टू गो टू स्कूल इफ यू कैन हैल्प मी।”)
Answer:
Cheemi to the police inspector.
(चीमी टू द पुलिस इंस्पेक्टर।)

Question 5.
“We’ll bear the expenses of Cheemi’s schooling.”
(“वी विल वीअर द एक्सपेंसेस ऑफ चीमीज़
Answer:
Vinayak to the Police Inspector.
(विनायक दू द पुलिस इंस्पेक्टर।)

Language Practice

Change the following sentences into passive voice.
(निम्नलिखित वाक्यों को ‘passive voice’ में बदलो।)

(i) The servant will clean the floor.
Answer:
The floor will be cleaned (by the servant).

(ii) I have finished my work.
Answer:
My work has been finished (by me).

(iii) Mother is cooking lunch for us.
Answer:
Lunch is being cooked for us (by mother).

(iv) Sarla called Arun in the kitchen.
Answer:
Arun was called in the kitchen (by Sarla).

(v) They are playing football all over the world.
Answer:
Football is being played all over the world (by them).

MP Board Solutions

Writing Time

(1) Write a paragraph on how Cheemi saved Chhotu.
(चीमी ने छोटू को कैसे बचाया इस पर एक गद्यांश लिखो।)
Answer:
The window of the bedroom is which Chhotu was sleeping was open but it was too small for an adult to crawl. But Cheemi was small so she easily jumped into the room through the window with the help of the policeman. She picked up Chhotu who was sleeping soundly, put him on her back and tied him tight to herself with a bed-sheet. Then she climbed slowly up the ladder lowered by the policeman and peeped through the window. Carefully she undid the bed-sheet and handed it with Chhotu to the policeman. Then she herself crawled out of the window.

(2) Describe Cheemi in your own words.
(चीमी का अपने शब्दों में वर्णन करो।)
Answer:
Cheemi was a poor girl. She was an orphan. She was physically weak and thin and hence was called little sparrow. She did small works of the women in the neighbourhood like fetching vegetables from the corner shop, looking after babies, cleaning home and vessels and in return she got food to eat and clothes to wear. She was satisfied with what she had. She loved children as she always wanted to play with Chhotu. She had made a place in heart of everybody except Parvati Kaki and there was an urge within her to be loved by her too. She was a brave girl as without caring about herself she stepped into the flooded room to save Chhotu. She also had a desire to study and get educated. She had a wish to have a home for her which was also finally fulfilled due to her courageous and caring attitude for everyone.

Things To Do

(i) Visit a river-side area and discuss with the peasants about the problems they face in the rainy season and prepare a list.
(नदी किनारे जाकर किसानों से बरसात के मौसम में उनको होने वाली समस्याओं के बारे में बात करो व उसकी सूची बनाओ।)

(ii) Discuss among your friends the ways of helping flood victims of your area. Make a list of the things you would need.
(अपने मित्रों से बाढ़ पीड़ितों की मदद करने के विषय में चर्चा करो।)
Answer:
Students can do themselves.
(छात्र स्वयं करें।

Cheemi: The Brave Girl Difficult Word Meaning

orphan (ऑर्फन)-a child whose parents are dead अनाथ; frail (फ्रेल)-physically weak and thin (दुबली-पतली); maid (मेड) a female servant in a house नौकरानी; vessels (वैसल्स)-utensils and cups and bowls etc. घर के बर्तन; left-overs (लैफ्ट ओवर्स) food that has not been eaten at the end of a meal बचा-खुचा भोजन; mansion ( मैंशन)-a large impressive house हवेली; chandelier (शैन्डलियर)-objects for ceiling fitted with small pieces of glass for light decoration छत से लटकने वाले झाड़-फानूस; zari (जरी) brocade जरी; curtain (कर्टेन)-a piece of cloth that is hung to cover a window or door परदा; ancestors (एन्सेस्टर्स)-one’s forefathers पूर्वज; chubby (चबी) slightly fat in an attractive way गोल-मटोल; vigil (विजिल)-to be very closely watching somebody or something सतर्क; cooing (कुइंग)-imitating the sound of a dove चिड़िया की आवाज निकालना; danger (GR)-risk or possibility of ill-happening, खतरा; storeyed (स्टोरीड)-a multilevelled building बहुमंजिला इमारत; confusion (कन्फ्यू जन)-a state of uncertainty असमंजस; persuade (परस्युएड)-to give good reasons for doing something आग्रह करना; panicky (पैनिकी) anxious about something चिंतातुर; wail (वेल)-to make a long loud cry विलाप करना; crawl (क्राल)-to move forward on self hands and knees; emerge (इमर्ज)-to come suddenly and unexpectedly from somewhere उभरकर आना; fondle (फॉन्डल)-to touch and move hand gently over someone दुलारना; recede (रिसीड)-to move gradually down उतरनाl

MP Board Solutions

Cheemi: The Brave Girl Summary, Pronunciation & Translation

[1] Cheemi was a poor orphan. Nobody knew where she had come from yet everyone accepted the frail little girl and named her Cheemi’ the little sparrow. She fetched vegetables from the corner shop or looked after babies when their mothers went shopping. If the maid didn’t turn up, Cheemi was there to help, cleaning vessels, sweeping the floor and so on.

(चीमी वॉज़ अ पुअर ऑफैन। नो बडी निउ व्हेअर शी हैड कम फ्रॉम यट एव्रीवन एक्सेप्टेड द फ्रेल लिटिल गर्ल एण्ड नेम्ड, हर चीमी, द लिटिल स्पेरो। शी फेच्ड वेजीटेबल्स फ्रॉम द कॉर्नर शॉप और लुक्ड आफ्टर बेबीज़ व्हेन देअर मदर्स वेन्ट शॉपिंग। इफ द मेड डिडन्ट टर्न अप, चीमी वॉज़ देअर टु हैल्प, क्लीनिंग वेसल्स, स्वीपिंग द फ्लोर सो ऑन।)

हिन्दी अनुवाद :
चीमी एक गरीब अनाथ थी। कोई नहीं जानता था कि वह कहाँ से आई तो भी हर व्यक्ति उस दुबली-पतली नन्हीं बालिका को चाहता था और उसका नाम चीमी, छोटी चिड़िया रखा गया था। वह कोने की दुकान से सब्जियाँ लाती, माताएँ जब खरीदारी के लिए जाती तो बच्चों की देखभाल करती थी। यदि घर की नौकरानी नहीं आती, तो चीमी उनकी सहायता के लिए तैयार रहती थी, वह बर्तन साफ करती, झाडू लगाती और भी अन्य काम करती थी।

[2] Cheemi lived on leftovers women in the neighbourhood gave her. The girls of her age gave her their discarded clothes. Everybody liked Cheemi, except Parvati Kaki. She had a big house with a beautiful garden full of jasmines and roses. But nobody was ever allowed in. The flowers were meant for puja.

(चीमी लिव्ड ऑन लेफ्टओवर्स वुमन इन द नेबरहुड गेव हर। द गर्ल्स ऑफ हर एज़ गेव हर देअर डिस्कार्डेड क्लोथ्स। एवीबडी लाइक्ड चीमी, एक्ससेप्ट पार्वती काकी। शी हैड अ बिग हाउस विद अ ब्यूटीफुल गार्डन फुल ऑफ जेस्मीन्स एण्ड रोजेज। बट नोबडी वॉज़ एवर अलाउड इन। द फ्लावर्स वर मेन्ट फोर पूजा।)

हिन्दी अनुवाद :
चीमी आस-पड़ोस की महिलाओं द्वारा दिए गए बचे हुए खाने तथा कपड़ों पर जीवित थी। उसकी उम्र की लड़कियाँ अपने पहने हुए वस्त्र उसे दे देती थीं। हरेक व्यक्ति पार्वती काकी को छोड़कर चीमी को पसन्द करता था। उनका बहुत बड़ा मकान था और उसमें जैस्मिन व गुलाबों से भरा एक बगीचा था। किसी को भी अन्दर आने की इजाजत नहीं थी। बगीचे के फूल केवल पूजा के लिए थे।

[3] Parvati Kaki’s house was almost like a mansion built in traditional style with big wooden carved doors, huge halls and chandeliers. Surprisingly, ‘ the windows, especially of the rooms, were very small. They were decorated with beads and zari curtains and hangings. It was said that Parvati Kaki’s ancestors were related to the great Peshwas who had ruled Maharashtra during the 18th and 19th centuries.

(पार्वती काकीज़ हाउस वॉज़ अलमोस्ट लाइक ए मेन्सन बिल्ट इन ट्रेडिशनल स्टाइल विद बिग वुडन कार्ड डोअर्स, ह्यूज हॉल्स एण्ड चेन्डलियर्स। सरप्राइजिंगली, द विन्डोज़, स्पेशल ऑफ द रूम्स, वर वेरी स्माल। दे वर डेकोरेटेड विद बीड्स एण्ड जरी कन्स एन्ड हेगिंग्स। इट वॉज़ सेड दैट पार्वती काकीज .एनसेस्टर्स वर रिलेटेड टु द ग्रेट पेशवाज हू हैड रूल्ड महाराष्ट्र ड्यूरिंग द 18th (एट्टीन्थ) एण्ड 19th (नाइन्टीन्थ) सेन्चुरीज।)

हिन्दी अनुवाद :
पार्वती काकी का घर एक विशाल भवन था जो कि बड़े लकड़ी के नक्काशीदार दरवाजों, बड़े हॉलों और काँच की कारीगरी से परम्परागत स्टाइल में बना हुआ था। अद्भुत बात यह थी कि खिड़कियाँ विशेषकर कमरों की बहुत छोटी-छोटी थीं। उन्हें लकड़ी की बीडिंग जरी के पर्दो से और झालरों से सजाया गया था। यह कहा जाता था कि पार्वती काकी के पूर्वज महान पेशवाओं से सम्बन्धित थे जो कि 18वीं व 19वीं सदी में महाराष्ट्र के शासक थे।

MP Board Solutions

[4] In the big house Parvati Kaki lived with her son Vinayak, his wife Gauri and her chubby little grandson, Chhotu. Chhotu was a great favourite with the girls. Gauri Bhabhi, as Chhotu’s mother was called, was a very nice, educated lady and didn’t mind Chhotu being carried by others. Parvati Kaki, however, kept vigil like a watchdog and never allowed Cheemi to touch Chootu. Cheemi had to be satisfied with cooing to Chhotu from a distance. How she wished she could play with him.

(इन द बिग हाउस पार्वती काकी लिव्ड विद हर सन विनायक, हिज़ वाइफ गौरी एण्ड हर चबी लिटिल ग्रैंडसन, छोटू। छोटू वॉज़ अ ग्रेट फेवरिट विद द गर्ल्स। गौरी भाभी, एज़ छोटूज़ मदर वॉज़ काल्ड, वॉज़ अ वेरी नाइस, एजुकेटेड लेडी एण्ड डिडन्ट माइण्ड छोटू बीइंग करिड बाय अदर्स। पार्वती काकी हाउएवर, केप्ट विजिल लाइक अ वाच डॉग एण्ड नेवर अलाउड चीमी टु टच छोटू। चीमी हैड टु बी सेटिसफाइड विद कूइंग टु छोटू फ्रॉम अडिस्टन्स। हाउ शी विश्ड शी कुड प्ले विद हिम।)

हिन्दी अनुवाद :
उस बड़े घर में पार्वती काकी अपने बेटे विनायक, उसकी पत्नी गौरी और उसके गोलमटोल छोटे पोते छोटू के साथ रहती थी। छोटू लड़कियों के बीच बहुत प्रिय था। गौरी भाभी, जो छोटू की माँ थी, एक बहुत उम्दा शिक्षित महिला थी और छोटू को किसी के द्वारा ले जाने पर एतराज नहीं करती थी। हालांकि पार्वती काकी उस पर सुरक्षा करने वाले कुत्ते के समान नजर रखती थी, और उसने कभी भी छोटू को चीमी द्वारा कभी छूने की इजाजत नहीं दी थी। चीमी को दूर से ही डोव की तरह कूऽऽ आवाज करने से ही सन्तुष्ट रहना पड़ता था। वह कितना चाहती थी कि वह उसके साथ खेले।

[5] Every year when, during the monsoons, the river Mutha, near Pune, gets flooded, people gather to watch the flood waters. That year, when the level of the water rose, no one bothered. Suddenly, the news came that Panshet Dam had given way and the waters of Mutha river had entered the city. Children were asked to rush home from school. Shanwar Peth, where Cheemi and her friends lived, and other areas on the river banks were in danger of being flooded.

(एवी यीअर व्हेन, ड्यूरिंग मानसून्स, द रिवर मुथा, नीअर पुणे, गेट्स फ्लडेड, पीपुल गेट टुगेदर टू वाच द फ्लड वाटर्स। दैट यीअर, व्हेन द लेवल ऑफ वाटर रोज़, नो वन बॉदर्ड। सडनली, द न्यूज केम दैट पानशेट डैम हैड गिवन वे एण्ड वाटर्स ऑफ मुथा रिवर हैड इन्टर्ड द सिटी। चिल्डरन वर आस्क्ड टु रश होम फ्रॉम स्कूल। शांवर पेठ, व्हेयर चीमी एण्ड हर फ्रेन्ड्स लिव्ड एण्ड अदर एरियाज़ ऑन द रिवर बैंक्स वर इन डेन्जर ऑफ बीईंग फ्लडेड।)

हिन्दी अनुवाद :
प्रतिवर्ष जब मानसून के दिनों में पुणे के पास मुथा नदी में बाढ़ आती थी तो लोग बाढ़ के पानी को देखने इकट्ठे हो जाते थे। उस वर्ष जब पानी का स्तर बढ़ा, किसी ने कोई चिन्ता नहीं की। अचानक, यह खबर आई कि पानशेत बाँध ने मुथा नदी के पानी को रास्ता दे दिया है, मुथा नदी के पानी ने शहर में प्रवेश किया। बच्चों को कहा गया कि वे स्कूल से तेजी से घर चले जाएँ परन्तु शांवर पैठ एवं दूसरे क्षेत्र जहाँ चीमी और उसके साथी रहते थे, बाढ़ के खतरे में थे।

[6] At first the water was just knee-deep, but it rose fast. People living on the ground floors were shifted to places of safety. Those who lived in two or three storeyed flats climbed to the top. There was confusion everywhere.

(एट फर्स्ट द वाटर वॉज़ जस्ट नी डीप, बट इट रोज़ फास्ट। पीपुल लिविंग ऑन द ग्राउण्ड फ्लोर वर शिफ्टेड टु प्लेसेस ऑफ सेफ्टी। दोज़ हू लिव्ड इन टू और थ्री स्टोरिड फ्लैट्स क्लाइम्ड टु द टॉप देअर वॉज़ कन्फ्यूजन एव्रीव्हेअर।)

हिन्दी अनुवाद-पहले तो पानी घुटने-घुटने तक था किन्तु वह तेजी से बढ़ा। लोग जो जमीनी तल पर रहते थे उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया गया। दूसरे या तीसरे माले के फ्लैट में रहने वाली सबसे ऊँचे तल पर चढ़ गए। चारों ओर असमंजस की स्थिति थी।

[7] Vinayak, Parvati Kaki’s son, had gone to Mumbai on business. Parvati Kaki and Gauri Bhabhi were on the ground floor. When water entered their house. Parvati Kaki was in the puja room and Gauri Bhabhi in the kitchen Within seconds the water rose. The police persuaded Parvati Kaki and Gauri Bhabhi to climb to the top floor. In the hurry and confusion, they forgot that Chhotu was sleeping on the first floor.

(विनायक, पार्वती काकीज़ सन, हैड गोन टू मुम्बई ऑन बिज़नेस। पार्वती काकी एण्ड गौरी भाभी वर ऑन द ग्राउण्ड फ्लोर। व्हेन वाटर इन्टर्ड देअर हाउस। पार्वती काकी वॉज़ इन द पूजा रूम एण्ड गौरी भाभी इन द किचन। विदिन सेकन्ड्स द वाटर रोज। द पोलिस परस्यूएडेड पार्वती काकी एण्ड गौरी भाभी टु क्लाइम्ब टु द टॉप फ्लोर। इन द हरी एण्ड कन्फ्यूजन, दे फारगॉट दैट छोटू वॉज़ स्लीपिंग ऑन द फर्स्ट फ्लोर।)

हिन्दी अनुवाद ;
विनायक, पार्वती काकी का बेटा व्यापार के सिलसिले में मुम्बई गया हुआ था। पार्वती काकी व गौरी भाभी अपने घर के जमीनी तल पर थे। जब पानी घर में घुसा तब पार्वती काकी पूजा कक्ष में व गौरी भाभी रसोईघर में थीं। कुछ ही सेकण्डों में पानी बढ़ा। पुलिस ने पार्वती काकी व गौरी भाभी से सबसे ऊपरी मंजिल पर जाने को कहा। जल्दबाजी व असमंजस में वे भूल गईं कि छोटू प्रथम तल पर सो रहा है।

MP Board Solutions

[8] The staircases were flooded. It was impossible to get to the bedroom on the first floor. Though the door to the room was closed, it was not bolted. Any moment the water could rush in. The women were panicky. “Chhotu” They wailed “What’ll happen to our Chhotu!”

Suddenly the police discovered that one of the bedroom windows was open, but it was too small for an adult to crawl in. Only a child could. But no one was willing to let their children take the risk. Out of nowhere, Cheemi emerged. “Let me help. I can easily crawl in and get Chhotu out,” she offered.

There was no time to waste. The policemen lowered Cheemi to the window. “Jump”, they told her. “We will drop you a rope ladder through the window.”

(द स्टेअरकेसेस वर फ्लडेड। इट वॉज़ इम्पॉसिबल टु गेट टु द बैडरूम ऑन द फर्स्ट फ्लोर। दो द डोर टु द रूम वॉज़ क्लोज्ड, इट वाज नॉट बोल्टेड। एनी मॉमेन्ट द वाटर कुड रश इन। द वूमैन वर पेनिकी। “छोटू” दे वेल्ड “व्हाट विल हैपन टु अवर छोटू!”

सडनली द पोलिस डिस्कवर्ड दैट वन ऑफ द बैडरूम विन्डोज वॉज़ ओपन, बट इट वॉज़ टू स्माल फोर एन एडल्ट टु क्रॉल इन। ओनली ए चाइल्ड कुड। बट नो वन वॉज़ विलिंग टु लेट देअर चिल्ड्रन टेक द रिस्क। आउट ऑफ नोव्हेअर, चीमी इमर्ड। “लेट मी हैल्प, आई केन इजीली क्रॉल इन एण्ड गेट छोटू आउट” शी ऑफर्ड।

देअर वॉज नो टाइम टु वेस्ट। द पोलिसमैन लोअर्ड चीमी टु द विन्डो। “जम्प” दे होल्ड हर। वी विले ड्रॉप यू अ रोप लैडर श्रू विन्डो।”)

हिन्दी अनुवाद :
सीढ़ियाँ पानी में डूब गई थीं। प्रथम तल के शयनकक्ष तक पहुँचना असम्भव था। यद्यपि शयनकक्ष का दरवाजा बन्द था पर उसकी चिटखनी नहीं लगी थी। किसी भी क्षण पानी तेजी से चढ़ता जाएगा। “छोटू” दोनों स्त्रियाँ विलाप कर उठीं, “हमारे छोटू का क्या होगा”?

अचानक पुलिस ने देखा कि शयनकक्ष की एक खिड़की खुली हुई है। किन्तु वह इतनी छोटी है कि कोई भी वयस्क अन्दर नहीं जा सकता था। केवल कोई बालक जा सकता था। किन्तु कोई भी अपने बच्चे के लिए खतरा मोल लेने को तैयार नहीं था। अचानक कहीं से चीमी प्रकट हुई। “मुझे मदद करने दो। मैं आसानी से रेंगकर अन्दर जा सकती हूँ और छोटू को बाहर ला सकती हूँ।” उसने कहा।

समय नष्ट करने का वक्त न था। पुलिसवालों ने चीमी को खिड़की में नीचे उतारा। “कूद जाओ” उन्होंने कहा, “हम तुम्हें रस्से की सीढ़ी से खिड़की से बाहर निकाल लेंगे।”

[9] Without a moment’s hesitation. Cheemi jumped through the window. Chhotu was sleeping soundly. Picking him up, Cheemi put him on her back and tied him tight to herself with a bedsheet.

Slowly she climbed up the ladder and peeped through the window. Carefully she undid the bedsheet and handed it, with the child to a policeman. Then she crawled out of the window.

(विदाउट अ मॉमेन्ट्स हेजिटेशन चीमी जम्प्ड थू द विन्डो। छोटू वॉज़ स्लीपिंग साउण्डली। पिकिंग हिम अप, चीमी पुट हिम ऑन हर बेक एण्ड टाइड हिम टाइट टु हरसेल्फ विद अ बैडशीट।

स्लोली शी क्लाइम्ड अप द लेडर एण्ड पीप्ड शू द विन्डो। केअरफुल्ली शी. अनडिड द बैडशीट एण्ड हेण्डेड इट, विद द चाइल्ड टु अ पोलिसमैन दैन शी क्रॉल्ड आउट ऑफ द विन्डो।)

हिन्दी अनुवाद ;
बिना किसी हिचकिचाहट के चीमी खिड़की से कूद गई। छोटू गहरी नींद में सो रहा था। उसे उठाकर चीमी ने उसे अपनी पीठ पर लिया और एक चादर से उसे अपने से बाँध लिया।

धीरे-धीरे वह सीढ़ी पर चढ़ी और खिड़की से झाँक कर देखा। सावधानी से उसने चादर को खोला और उसे बालक सहित एक पुलिस वाले को सौंप दिया। फिर वह भी खिड़की से रेंगकर बाहर आ गई।

[10] Both Cheemi and Chhotu were taken to the second floor where Parvati Kaki, Gauri Bhabhi and others were watching. Chhotu, who woke up by now, saw so many people around him and burst out crying. Cheers greeted Cheemi.

Gauri Bhabhi hugged Cheemi while Parvati Kaki fondled her grandson. Cheemi did not know what the fuss was all about.

(बोथ चीमी एण्ड छोटू वर टेकन टु द सेकण्ड फ्लोर व्हेअर पार्वती काकी, गौरी भाभी एण्ड अदर्स वर वॉचिंग। छोटू, हू वोक अप बाय नाउ, सो मेनी पिपुल अराउन्ड हिम एण्ड बर्स्ट आउट क्राइंग। चीअर्स ग्रीटेड चीमी।

गौरी भाभी हग्ड चीमी व्हाइल पार्वती काकी फॉन्डल्ड हर ग्रेन्ड सन। चीमी डिड नाट नो व्हाट द फस वॉज़ ऑल अबाउट।)

हिन्दी अनुवाद :
चीमी और छोटू दोनों को द्वितीय तल पर ले जाया गया। जहाँ पार्वती काकी व गौरी भाभी और अन्य लोग यह दृश्य देख रहे थे। छोटू, जो अब जग गया था इतने सारे लोगों को देखकर चीख पड़ा व रोने लगा।

खुशी से चीमी का स्वागत हुआ। ‘ गौरी भाभी ने उसे गले से लगा लिया जबकि पार्वती काकी अपने पोते को सहला रही थी। चीमी को यह समझ में नहीं आया कि माजरा क्या है?

MP Board Solutions

[11] “Come here, Cheemi”, Parvati Kaki called her. Cheemi hesitated. But Parvati Kaki almost dragged Cheemi to her and hugged her. “Daughter Cheemi” she said, “You have shown that it is courage and humanity that counts, not your caste or position.”

After two days the flood water began to recede. As soon as life returned to normal in Pune, the police inspector of the locality met Cheemi and asked her what reward she would like to have for her bravery.

(“कम हिअर, चीमी”, पार्वती काकी कॉल्ड हर। चीमी हेजिटेटेड। बट पार्वती काकी अलमोस्ट ड्रेग्ड चीमी टु हर एण्ड हग्ड हर। “डॉटर चीमी”, शी सेड, “यू हैव शोन दैट इट इज़ करेज़ एण्ड ह्यूमेनिटी दैट काउण्ट्स, नाट युअर कास्ट और पोजिशन।”

आफ्टर टू डेज़ द फ्लड वाटर बिगेन टु रिसीड। एज़ सून एज़ लाइफ रिटर्ड टु नॉर्मल इन पुणे, द पोलिस इंस्पेक्टर ऑफ द लोकेलिटी मैट चीमी एण्ड आस्कड हर व्हाट रिवार्ड शी वुड लाइक टु हेव फोर हर ब्रेवरी।)

हिन्दी अनुवाद :
“चीमी इधर आओ” पार्वती काकी ने कहा। चीमी हिचक रही थी। किन्तु पार्वती काकी ने उसे पास खींचा और उसको गले लगाया। “बेटी चीमी” उसने कहा, “तुमने यह दिखा दिया कि वह साहस और मानवता है जो मायने रखती है जाति या वर्ग नहीं।”

दो दिन बाद बाढ़ का पानी उतरा। जैसे ही पूना में जीवन सामान्य हुआ स्थानीय पुलिस इंस्पेक्टर चीमी से मिले और पूछा कि तुम अपनी बहादुरी के लिए कौन-सा इनाम चाहती हो।

[12] The entire neighbourhood was there. To everyone’s surprise, Cheemi said, “I have already got the reward-an opportunity to play with Chhotu.” She paused for a while and added. “I should like to go to school if you can help me.” The Inspector was helpless. But Vinayak Bhai came forward and said, “We’ll bear the expenses of Cheemi’s schooling. She can stay with us as long as she wants.”

Cheemi was delighted. At last she had a place to stay and little Chhotu to play with.

(दी इन्टायर नेबरहुड वॉज़ देअर। टु एव्रीवन्स सरप्राइज़, चीमी सेड “आई हैव आलरेडी गाट द रिवार्ड-एन अपॉर्चुनिटी टु प्ले विद छोटू”, शी पॉज्ड, फोर ए व्हाइल एण्ड एडेड। “आई शुड लाइक टु गो टू स्कूल इफ यू केन हैल्प मी।” द इंस्पेक्टर वॉज़ हैल्पलेस। बट विनायक भाई केम फॉर्वर्ड एण्ड सैड, “वी’, इल बीयर द एक्सपेन्सेस ऑफ चीमीज स्कूलिंग। शी केन स्टे विद अस एज लांग एज़ शी वान्ट्स।”

चीमी वॉज़ डिलाइटेड। एट लास्ट शी हैड अ प्लेस टु स्टे एण्ड लिटिल छोटू टु प्ले विद।)

हिन्दी अनुवाद :
सारा आस-पड़ोस हाजिर था। हरेक को आश्चर्य हुआ जब चीमी ने कहा, “मुझे अपना इनाम मिल चुका है-छोटू के साथ खेलने का मौका।” वह रुकी और कहा-“मैं स्कूल जाना चाहती हूँ यदि आप मेरी सहायता कर सकें।” इंस्पेक्टर लाचार था। किन्तु विनायक भाई आगे आये और कहा-“हम चीमी की पढ़ाई का खर्च उठायेंगे। चीमी जब तक चाहे हमारे यहाँ रह सकती है।”

चीमी की प्रसन्नता का ठिकाना नहीं रहा। अंतत: उसे छोटू के साथ रहने और खेलने का स्थान जो मिल गया था।

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 15 J.C. Bose

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 15 J.C. Bose

J.C. Bose Textual Exercises

Word Power

(1) Match the words in column ‘A’ with their meanings in column ‘B’
(सुमेलित कीजिए)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 15 J.C. Bose 1
Answer:
(1) → (b)
(2) → (a)
(3) → (d)
(4) → (e)
(5) → (C)

(2) Make five words using the prefix-re and five other words using the suffix-ion.
(Re उपसर्ग या ion प्रत्यय लगाकर पँच – पाँच शब्द बनाइए)
Answer:
re – reappear, replace, regain, remove, retake.
ion – admiration, infection, communication, confession, suggestion.

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(A) Answer these questions in one or two sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
Who was admitted to St. Xavier’s School, Calcutta?
(हू वॉज़ एडमिटिड टू सेन्ट जेविअर्स स्कूल, कैलकटा?)
सन्त जेविअर स्कूल, कलकत्ता में किसका दाखिला हुआ?
Answer:
A little boy, Jagdish Chandra Bose was admitted to St. Xavier’s School, Calcutta.
(अ लिट्ल बॉय, जगदीश चन्द्र बोस वॉज़ एडमिटिड टू सेन्ट जेविअर्स स्कूल, कैलकटा।)
एक नन्हे बालक, जगदीश चन्द्र बोस को सन्त जेविअर्स स्कूल, कलकत्ता में दाखिल किया गया।

Question 2.
Where did the scientists gather?
(व्हेअर डिड द साइन्टिस्ट्स गैदर?)
वैज्ञानिक कहाँ इकट्ठे हुए?
Answer:
The scientists gathered in the hall of the Royal Society of London.
(द साइन्टिस्ट्स् गैदर्ड इन द हॉल ऑफ द रॉयल सोसाइटी ऑफ लन्डन।)
वैज्ञानिक लन्दन की रॉयल सोसाइटी के विशाल हॉल में इकट्ठे हुए।

Question 3.
Who was J. C. Bose’s father?
(हू वॉज़ जे. सी. बोस्स फादर?)
जे. सी. बोस के पिता कौन थे?
Answer:
Bhagwan Chandra Bose was J. C. Bose’s father.
(भगवान चन्द्र बोस वॉज़ जे. सी. बोसेज़ फादर।)
भगवान चन्द्र बोस जे. सी. बोस के पिता थे।

Question 4.
Where is Faridpur?
(व्हेयर इज़ फरीदपुर?)
फरीदपुर कहाँ है?
Answer:
Faridpur is in Dhaca district (now in Bangladesh.)
(फरीदपुर इज़ इन ढाका डिस्ट्रिक्ट (नाउ इन बांग्लादेश)।)
फरीदपुर ढाका जिले में (अब बांग्लादेश में) है।

Question 5.
How did Bose win the respect and admiration of the other boys in the school?
(हाउ डिड बोस विन द रिस्पेक्ट एण्ड एडमिरेशन ऑफ द अदर बॉयज़ इन द स्कूल?)
बोस ने विद्यालय के अन्य छात्रों से सम्मान व प्रशंसा कैसे प्राप्त की?
Answer:
One day, when the other boys were making fun of Bose, he suddenly jumped at one of his attackers and emerged as a brave boy, winning the respect and admiration of the other boys.
(वन डे, व्हेन द अदर बॉयज़ वर मेकिंग फन ऑफ बोस, ही सडनली जम्प्ड एट वन ऑफ हिज़ अटैकर्स एण्ड इमर्जड् एज़ अ ब्रेव बॉय, विनिंग द रिस्पेक्ट एण्ड एडमिरेशन ऑफ द अदर बॉयज़।)
एक दिन जब अन्य लड़के बोस का मजाक उड़ा रहे थे वह अचानक एक लड़के पर टूट पड़ा व एक बहादुर लड़का साबित होकर उसने अन्य लड़कों से इज्जत व प्रशंसा पाई।

(B) Answer these questions in two or three sentences.
(निम्न प्रश्नों के उत्तर दो या तीन वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What did J. C. Bose prove and how?
(व्हॉट डिड जे. सी. बोस प्रव एण्ड हाउ?)
जे. सी. बोस ने क्या प्रमाणित किया व कैसे?
Answer:
J.C.Bose proved that plants also have feelings and they can feel pain. He demonstrated this by injecting poison in a plant and showing its feelings with the help of an instrument.
(जे. सी. बोस प्रूव्ड दैट प्लान्ट्स ऑल्सो हैव फीलिंग्स एण्ड दे कैन फील पेन। ही डिमॉन्स्ट्रेटिड दिस बाइ इन्जेक्टिंग पॉइज़न इन अ प्लान्ट एण्ड शोइंग इट्स फीलिंग्स विद द हैल्प ऑफ एन इनस्ट्रमेन्ट।)
जे. सी. बोस ने यह सिद्ध किया कि पौधों में भी संवेदनाएँ होती हैं व वे भी हमारी तरह दर्द महसूस करते हैं। उन्होंने एक पौधे को विष देकर उसकी भावनाओं को एक यन्त्र की सहायता से प्रदर्शित किया।

Question 2.
Why didn’t the succeed in the first attempt?
(व्हाय डिन्ट ही सक्सीड इन द फर्स्ट अटेम्प्ट?)
वह प्रथम प्रयास में सफल क्यों नहीं हुए?
Answer:
He did not succeed in the first attempt because a man had replaced the poison with similar coloured water.
(ही डिड नॉट सक्सीड इन द फर्स्ट अटेम्प्ट बिकॉज़ अ मैन हैड रिप्लेस्ड द पॉइजन विद सिमिलर कलर्ड वॉटर।)
वे प्रथम प्रयास में सफल नहीं हुए क्योंकि एक व्यक्ति ने विष की जगह रंगीन पानी रख दिया था।

Question 3.
What was the article about? Did it bring anything to Bose?
(व्हॉट वॉज़ द आर्टिकल अबाऊट? डिड इट ब्रिग एनीथिंग टू बोस?)
लेख किसके बारे में था? क्या उसने बोस को कुछ दिया?
Answer:
The article was about the ‘Response in the living and Non-living’. The article brought him the fellowship of the Royal Society.
(द ऑर्टिकल वॉज़ अबाऊट द ‘रिस्पॉन्स इन द लिविंग एण्ड नॉन लिविंग’। द आर्टिकल ब्रॉट हिम द फैलोशिप ऑफ रॉयल सोसाइटी।)
लेख’सजीव व निर्जीव वस्तुओं की प्रतिक्रिया के बारे में था।’ लेख ने उन्हें रॉयल सोसाइटी की फैलोशिप प्रदान करवाई।

Question 4.
What honours were given to J. C. Bose?
(व्हॉट ऑनर्स वर गिवन टू जे. सी. बोस?)
जे. सी. बोस को कौन-से सम्मान प्रदान किए गए?
Answer:
J. C. Bose was honoured with the degree of Doctor of Science by the Royal Society of England.
(जे. सी. बोस वॉज़ ऑनर्ड विद द डिग्री ऑफ डॉक्टर ऑफ साइन्स बाइ.द रॉयल सोसाइटी ऑफ इंग्लैण्ड।)
इंग्लैण्ड की रॉयल सोसाइटी ने जे. सी. बोस को डॉक्टर ऑफ साइंस’ उपाधि से सम्मानित किया।

Question 5.
Describe briefly the other inventions and contributions of J. C. Bose to science.
(डिस्क्राइब ब्रीफली द अदर इन्वेन्शन्स एण्ड कॉन्ट्रीब्यूशन्स ऑफ जे. सी. बोस टू साइन्स।)
जे. सी. बोस के अन्य आविष्कारों एवं विज्ञान को उनके योगदान का संक्षिप्त विवरण दो।
Answer:
Bose demonstrated the functioning of wireless telegraphy in public much before Marconi. He was the first to fabricate the device that generated radio wavelength. He discovered some important principles on which a radar works. Hence, he is called the inventor of radar.

(बोस डिमॉन्स्ट्रेटिड द फंक्शनिंग ऑफ वायरलेस टैलीग्राफी इन पब्लिक मच बिफोर मार्कोनी। ही वॉज़ द फर्स्ट टू फैब्रीकेट द डिवाईस दैट जैनरेटिड रेडियो वेवलेन्थ। ही डिस्कवई सम इम्पॉर्टेन्ट प्रिन्सिपल्स ऑन व्हिच अ राडार वर्क्स। हेन्स ही इज़ कॉल्ड द इन्वेन्टर ऑफ राडार।)

बोस ने वायरलेस की कार्य प्रणाली का सार्वजनिक प्रदर्शन मार्कोनी से बहुत पहले कर दिया था। वे पहले व्यक्ति थे जिसने रेडियो तरंग उत्पन्न करने वाला यन्त्र बनाया था। उन्होंने कुछ महत्त्वपूर्ण सिद्धान्तों की खोज की जिन पर एक रडार काम करता है। उन्हें रडार का आविष्कारकर्ता कहा जाता है।

MP Board Solutions

(C) Choose the correct alternative
(सही विकल्प चुनिए)

Question 1.
J. C. Bose was admitted in St. Xavier’s
(a) Mumbai.
(b) Calcutta
(c) Decca
(d) Delhi.
Answer:
(b) Calcutta

Question 2.
The scientists had gathered in
(a) Delhi
(b) Mumbai
(c) London
(d) Calcutta.
Answer:
(c) London

Question 3.
Bose demonstrated the feelings of
(a) plants
(b) people
(c) fish
(d) animals.
Answer:
(a) plants

Question 4.
The Royal Society of London awarded its fellowship to J. C. Bose in the year
(a) 1922
(b) 1912
(c) 1920
(d) 1918.
Answer:
(c) 1920

Question 5.
J. C. Bose was born in
(a) Faridkott
(b) Faridabad
(c) Firozpur
(d) Faridpur.
Answer:
(d) Faridpur.

Language Practice

(A) Fill up the blanks with ‘can’ or ‘could’.
(रिक्त स्थान भरो।)
Answer:

  1. Shyam can swim across the river.
  2. When he was young, he could run 20 miles per hour.
  3. This is the way through which you can to achieve your goals.
  4. Yesterday she lost her ring but she could find it again.
  5. As there was nobody at home, the thief could steal without trouble.

Listening Time

Make true or false
(सही तथा गलत बताओ।)
Answer:

  1. Snails do not eat grass. [True)
  2. Snails have no eyes. [False]
  3. People eat snails. [True]
  4. Snails can fly. [False]
  5. All the snails look ugly. [False]
  6. Snails never sleep. [False)]
  7. Snails have strong bones. [False]

MP Board Solutions

Writing Time

Raju and Ranu are friends. Raju believes that telephone is very useful while Ranu does not. She believes that T.V. is more useful. Write the dialogue that takes place between them.
(राजू तथा रानू के मध्य वार्तालाप पूर्ण करें।)
Answer:
Raju : Telephone is very useful.
Ranu : Telephone is useful but I think T.V. is more useful.
Raju : You can talk to a person anytime through telephone.
Ranu : But by T.V. we get information about the whole world, get entertainment.
Raju : But you cannot talk through T.V.
Ranu : We can see pictures in T.V. and not through telephone.

Things to do

Collect the names of some other great scientists and their inventions. Fill it in the table given below.
Answer:
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 15 J.C. Bose 2

J.C. Bose Difficult Word Meanings

amuse (अम्यूज़)-to make somebody laugh or smile आनन्दित करना; emerge (इमर्ज)-to become known उभरकर आमा; curious (क्यूरियस)-having a strong desire to know something उत्सुक; strike (स्ट्राइक)-to refuse to continue working because of an argument with an employer about working conditions हड़ताल; eminent (एमिनेन्ट)-famous and respected in a particular profession or field किसी खास व्यवसाय या क्षेत्र में प्रसिद्ध होना; gather (गैदर)-to come together एकत्र होना; adamant (एडमेन्ट)-determined not to change your mind about something ; horror (हॉरर)-a feeling.of great shock, fear or disgust भय, आतंक; appear (अपीयर)-to give the impression of being or doing something प्रतीत होना; confess (कन्फेस)-to admit something कबूल करना; inventor (इन्वेन्टर)-to produce a design that has not existed before आविष्कारक; demonstrate (डिमॉन्स्ट्रेट)-to show something clearly by giving proof or evidence सप्रमाण प्रदर्शन; patent (पेटेन्ट)–an official right to be the only person to make use or sell a product or invention पेटेण्ट करना; fabricate (फैब्रिकेट)-to make or produce goods, equipments etc. निर्माण; radar (रडार)-a system that uses radio waves to find the position and movements of objects रेडियो तरंगों द्वारा किसी वस्तु की स्थिति व गति नापने का यन्त्र। dedicate (डेडिकेट)-to give a lot of your time and effort to a particular activity or purpose किसी कार्य या उद्देश्य के लिए अपना बहुत सारा समय तथा प्रयास अर्पित करना; accept (ऐक्सेप्ट)-to take willingly something that is offered स्वीकार करना।

J.C. Bose Summary, Pronunciation & Translation

[1] A little boy was admitted to St. Xavier’s School in Calcutta (now Kolkata). The boys at the school were much amused to have in their company a ‘new boy who could hardly converse in English. One day, when the other boys were making fun of this new boy, he suddenly jumped at one of his attackers and surprisingly emerged as a brave boy and won the respect and admiration of the other boys. This boy learnt a great lesson that day. “Success doesn’t fall into one’s lap. It is to be earned through great pains and struggle.’

(अ लिटिल बॉय वॉज़ एडमिटेड टु सेन्ट जैवियर्स स्कूल इन कलकत्ता (नाउ कोलकाता)। द बॉयज़ एट द स्कूल वर मच अम्यूज्ड टु हैव इन देअर कम्पनी अ न्यू बॉय हू कुड हार्डली कनवर्स इन इंग्लिश। वन डे, व्हेन द अदर बॉयज़ वर मेकिंग फन ऑफ दिस न्यू बॉय, ही सडनली जम्प्ड एट वन ऑफ हिज़ अटैकर्स एण्ड सरप्राइजिंगली इमर्ल्ड एज़ अ ब्रेव बॉय एण्ड वॉन द रेसपैक्ट एण्ड एडमायरेशन ऑफ द अदर बॉयज़। दिस बॉय लर्ट ग्रेट लेसन दैट डे। सक्सेस डज़न्ट फाल इन टू वन्स लैप। इट इज़ टु बी अर्ल्ड श्रू ग्रेट पेन्स एण्ड स्ट्रगल।”

हिन्दी अनुवाद :
कलकत्ता (अब कोलकाता) के सेंट जेवियर स्कूल में एक नए बालक ने प्रवेश लिया। विद्यालय के अन्य बालक अपनी संगत में एक नये लड़के को जो बमुश्किल अंग्रेजी में बातचीत कर सकता था, पाकर प्रसन्न हुए। एक दिन जब दूसरे लड़के इस नए लड़के का मजाक उड़ा रहे थे वह अचानक अपने एक आक्रमणकारी पर कूद पड़ा और आश्चर्यजनक रूप से एक बहादुर बालक बनकर उभरा और उसने अन्य छात्रों का आदर और प्रशंसा प्राप्त की। इस बालक को एक बड़ा पाठ उस दिन सीखने को मिला-“सफलता किसी की गोद में आकर नहीं गिरती। उसे बड़े कष्ट और संघर्ष से अर्जित करना होता है।”

[2] This boy was Jagadish Chandra Bose, who was born on the 30th of November 1858 in Faridpur district Decca (now in Bangladesh). Things around him made him curious. Why does the wind blow? Why does the water flow? Why are plants green? etc. were the questions that often struck his mind. Seeing his curiosity, his father Bhagwan Chandra Bose, admitted him to the St. Xavier’s Calcutta at the age of nine. Later he emerged as a great Indian scientist.

(दिस बॉय वॉज़ जंगदीश चन्द्र बोस, हू वॉज़ बॉर्न आन द 30th (थर्टियेथ) ऑफ नवेम्बर 1858 (एट्टीन फिफ्टी एट) इन फरीदपुर डिस्ट्रिक्ट ढाका (नाउ इन बंग्लादेश) थिंग्स अराउन्ड हिम मेड हिम क्यूरियस। व्हाय डज़ द विन्ड ब्लो? व्हाय डज़द वाटर फ्लो? व्हाय आर प्लाण्ट्स ग्रीन? एटसेट्रा वर द क्वेश्चन्स दैट ऑफटन स्ट्रक हिज़ माइन्ड। सीईंग हिज़ क्यूरियोसिटी हिज फादर भगवान चन्द्र बोस, एडमिटेड हिम टु द सेन्ट जेवियर्स केलकेट्टा एट द एज ऑफ नाइन। लेटर ही इमर्ड एज़ अ ग्रेट इंडियन साइंटिस्ट।)

हिन्दी अनुवाद :
यह बालक जगदीश चन्द्र बोस थे, जिनका जन्म 30 नवम्बर, 1858 को ढाका (अब बंग्लादेश में) जिले के फरीदकोट में हुआ था। उनके आसपास की चीजों ने उन्हें जिज्ञासु बनाया था। हवा क्यों बहती है ? पानी क्यों बहता है? पौधे हरे क्यों होते हैं ? इत्यादि वे प्रश्न थे जो उनके मस्तिष्क से टकराया करते थे। उनकी इस उत्सुकता को देखकर उनके पिता भगवान चन्द्र बोस ने उन्हें कलकत्ता के सेंट जेवियर स्कूल में नौ वर्ष की उम्र में भरती कराया था। बाद में वे एक महान भारतीय वैज्ञानिक के रूप में उभरे।

MP Board Solutions

[3] It was the 10th of May, 1901, and some eminent scientists had gathered in the great hall of the Royal Society in London. Jagdish Chandra Bose was going to demonstrate that plants have feelings like we have. He claimed that plants can feel pain. Most of the scientists present could not believe it, as they had doubts. Bose was adamant about it, so he injected a poison into a plant. According to his claim, the plant would soon show signs of death. But nothing happened. However, Bose calmly announced, “The poison has failed to affect the plant. So I believe it would not hurt me either.” As the audience looked on in horror, he injected the poison into himself. Suddenly a man appeared on the scene and confessed that he had replaced the poison with similar coloured water.

(इट वॉज़ द 10th (टेन्थ) ऑफ मे, 1901 एण्ड सम इमिनेण्ट साइन्टिस्ट्स हैड गेदर्ड इनर ग्रेट हॉल ऑफ द सोसायटी इन लंडन। जगदीश चन्द्र बोस वॉज़ गोइंग टु डिमॉन्स्ट्रेट दैट प्लान्ट्स हैव फीलिंग लाइक की हैव। ही क्लेम्ड दैट प्लान्ट्स केन फील पेन । मोस्ट ऑफ द साइन्टिस्ट्स प्रेजेन्ट कुड नॉट बिलीव इट, एज़ दे हैड डाउट्स। बोस वाज़ एडामेन्ट अबाउट इट, सो ही इजेक्टेड ए पॉयज़न इन टू अ प्लान्ट। एकार्डिंग टु हिज़ क्लेम, द प्लान्ट वुड सून शो साइन्स ऑफ डेथ। बट नथिंग हैपन्ड। हाउ एवर बोस कामली एनाउन्स्ड, “द पॉयजन हैज़ फेल टु अफेक्ट द प्लान्ट। सो आई बिलीव इट वुड नॉट हर्ट मी आयदर।” एज़ द आडियेन्स लुक्ड ऑन इन हॉरर ही इंजेक्टेड द पॉयज़न टु हिम सेल्फ। सडनली अ मैन अपीअर्ड ऑन द सीन एण्ड कन्फेस्ड दैट ही हैड रिप्लेस्ड द पॉयजन विद सिमिलर कलर्ड वाटर।)

हिन्दी अनुवाद :
10 मई, 1901 की तारीख थी, कुछ प्रसिद्ध व प्रतिष्ठित वैज्ञानिक लन्दन की रॉयल सोसायटी के विशाल हॉल में उपस्थित थे। जगदीश चन्द्र बोस इस तथ्य का प्रदर्शन करने वाले थे कि पौधे भी हमारे समान भावना रखते हैं। उन्होंने दावा किया कि पौधे भी दर्द का अनुभव करते हैं। अधिकांश उपस्थित वैज्ञानिकों ने इस पर विश्वास नहीं किया क्योंकि उन्हें शंकाएँ थीं। बोस इस बात पर दृढ़ता से अड़े थे, अतः उन्होंने एक पौधे को जहर का इंजेक्शन दिया। उनके दावे के अनुसार, पौधा शीघ्र ही मृत्यु के चिन्ह दिखाएगा। किन्तु कुछ नहीं हुआ। अतः बोस ने शान्ति से यह घोषित किया कि, “पौधे पर जहर का असर नहीं हुआ है। इसलिए वह मेरे पर भी नुकसान नहीं करेगा। उन्होंने अपने को जहर का इंजेक्शन दिया जबकि सभी डर से देखते रहे, इसी समय एक व्यक्ति वहाँ पर उपस्थित हुआ और उसने स्वीकार किया कि उसने ही जहर को रंगीन पानी से बदल दिया था।

[4] Bose, repeated the experiment with a real poison. This time the plant’s pulse beat showed movement on the screen of an instrument and it ultimately died. However the Royal Society was not convinced and was not ready to accept the result. But Bose would not give up easily. So he took up the challenge and after years of rigorous research he published an article, ‘Response in the Living and Non-Living’. This article convinced the Royal Society. Consequently Bose was awarded the fellowship of the Royal Society in 1920.

(बोस रिपीटेड द एक्सपेरिमेंट। विद अरियल पॉयज़न। दिस टाइम द प्लान्ट्स पल्स बीट शोड मूवमेंट ऑन द स्क्रीन ऑफ एन इन्स्ट्रमेण्ट एण्ड इट अल्टीमेटली डाइड। हाउएवर द रॉयल सोसाइटी वॉज़ नाट कन्विन्स्ड एण्ड वॉज़ नाट रेडी टु एक्सेप्ट द रिज़ल्ट । बट बोस वुड नॉट गिव अप इजीली। सो ही टुक अप द चेलेंज एण्ड ऑफ्टर यीअर्स ऑफ रिंगरस रिसर्च ही पब्लिश्ड एन आर्टीकल। ‘रेस्पॉन्स इन द लिविंग एण्ड नन लिविंग’। दिस आर्टीकल कन्विन्स्ड द रॉयल सोसाइटी। कॉन्सीक्वेन्टली बोस वॉज़ एवार्डेड द फेलोशिप ऑफ द रॉयल सोसाइटी इन 1920 (नाइन्टीन ट्वेन्टी)।)

हिन्दी अनुवाद :
बोस ने वास्तविक जहर से प्रयोग को दुहराया। इस बार एक यन्त्र के परदे पर पौधे की नाड़ी ने गति प्रदर्शित की और वह अंततः मर गया। तो भी रॉयल सोसाइटी ने उसकी सत्यता को नहीं माना और परिणाम को स्वीकार नहीं किया। लेकिन बोस आसानी से हिम्मत हारने वाले नहीं थे। इसलिए उन्होंने इसे एक चुनौती के रूप में लिया और कई वर्षों के अनुसन्धान के अथक प्रयासों के बाद उन्होंने “सजीव एवं निर्जीव की प्रतिक्रिया” शीर्षक से एक पत्र प्रकाशित किया। इस निबन्ध को रॉयल सोसाइटी ने स्वीकार किया। परिणामस्वरूप बोस को रॉयल सोसाइटी ने 1920 में फेलोशिप प्रदान की।

[5] Although more famous as a biologist, Bose was a great physicist as well. He can rightly be called the inventor of wireless telegraphy. Though Marconi invented the wireless. Bose had already demonstrated its functioning in public in the year 1895, a year before Marconi’s patent for the telegraph. This impressed the Royal Society of England and he was honoured with the degree of ‘Doctor of Science’. In fact, Bose was a pioneer in multimedia communication. He was the first to fabricate the device that generated radio wave-length.

(अल्दो मोर फेमस एज अ बायोलॉजिस्ट, बोस वॉज़ अ ग्रेट फिजिसिस्ट एज़ वैल। ही केन राइटली बी कॉल्ड द इन्वेण्टर ऑफ वायरलेस टेलिग्राफी। दो मारकोनी इन्वेण्टेड द वायरलेस। बोस हैड आलरेडी डिमोंस्ट्रेटेड इट्स फंक्शनिंग इन पब्लिक इन द यीअर 1895, अ यीअर बिफोर मारकोनी पेटेन्ट फोर टेलिग्राफ। दिस इम्प्रेस्ड द रॉयल सोसाइटी ऑफ इंग्लैण्ड एण्ड ही वॉज़ आनर्ड विद द डिग्री ऑफ ‘डॉक्टर ऑफ साइन्स’। इन फैक्ट, बोस वॉज़ अपायोनियर इन मल्टीमीडिया कम्प्यूनिकेशन। ही वॉज़ द फर्स्ट टु फेब्रिकेट द डिवाइस दैट जनरेटेड रेडियो वेव-लेन्थ।)

हिन्दी अनुवाद :
यद्यपि जीवशास्त्री के रूप में बोस प्रसिद्ध थे, साथ ही वे एक महान् भौतिक शास्त्री भी थे। उन्हें बेतार की टेलिग्राफी का आविष्कारक भी कहना सही है। यद्यपि मारकोनी ने बेतार की टेलिग्राफी का आविष्कार किया परन्तु बोस 1895 में इसके क्रियाकलाप को सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित कर चुके थे। यह उन्होंने मारकोनी के आविष्कार के पेटेन्ट से एक वर्ष पूर्व किया था। इस बात से इंग्लैण्ड की रॉयल सोसाइटी बहुत . प्रभावित हुई थी और उन्होंने बोस को डॉक्टर ऑफ साइन्स की पदवी से विभूषित किया। वास्तव में बोस मल्टी मीडिया संचार के अग्रदूत थे। वे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने एक यंत्र को तैयार किया था जो रेडियो तरंगों को उत्पन्न करता था।

MP Board Solutions

[6] Another example of Bose’s greatness is revealed in the invention of the radar. Bose worked out some details of very great importance which are used in the working of the radar. Jagadish Chandra Bose has a permanent place in the world of science, especially in botany.

(अनादर एक्जाम्पल ऑफ बोस’स ग्रेटनैस इज़ रिवील्ड इन द इन्वेन्शन ऑफ द रडार। बोस वर्ल्ड आउट सम डिटेल्स ऑफ वेरी ग्रेट इम्पोर्टेन्स विच आर यूस्ड इन द वर्किंग ऑफ द रडार। जगदीश चन्द्र बोस हैज़ अ परमानेन्ट प्लेस इन द वर्ल्ड ऑफ साइन्स स्पेशली इन बोटेनी।)

हिन्दी अनुवाद :
बोस की महानता का दूसरा उदाहरण ‘रडार’ के आविष्कारक के रूप में प्रदर्शित हुआ। बोस ने रडार के काम में आने वाली कुछ महत्त्वपूर्ण विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की। जगदीश चन्द्र बोस का स्थान विज्ञान के क्षेत्र में विशेष कर वनस्पति शास्त्र में स्थायी रूप से बना हुआ है।

[7] He began the age of Modern Science in India and deserves honour for this. He was a great scientist, who selflessly dedicated his findings to the further development of science. An inventor can make lakhs ‘ of rupees by just one or two inventions. Bose has invented many instruments. They have since been used by many industries. When he was offered money for these he did not accept it. He felt that knowledge was not anybody’s personal property. He permitted anyone and everyone to use the fruits of his work.

(ही बिगेन द एज ऑफ मॉडर्न साइंस इन इन्डिया एण्ड डिज़र्स ऑनर फोर दिस। ही वॉज़ अ ग्रेट साइंटिस्ट, हू सेल्फलेसली डेडिकेटेड हिज़ फाइडिंग्स टु द फर्दर डेवलेपमेंट ऑफ साइंस। एन इन्वेन्टर केन मेक लेख्स ऑफ रूपीज़ बाय जस्ट वन और टू इन्वेन्शन्स। बोस हेज़ इन्वेन्टेड मैनी इंस्ट्रमेंटस। दे हैव सिन्स बीन यूस्ड बाय मैनी इंडस्ट्रीज़। व्हेन ही वॉज़ ऑफर्ड मनी फोर दीज़ ही डिड नॉट एक्सेप्ट इट। ही फेल्ट दैट नॉलेज वॉज़ नाट एनी बडीज पर्सनल प्रॉपर्टी। ही परमिटेड एनीवन एण्ड एवीवन टु यूस द फ्रूट्स ऑफ हिज़ वर्क।)

हिन्दी अनुवाद :
उन्होंने भारत में आधुनिक विज्ञान के नये युग की शुरूआत की और उसके लिए वे विशेष सम्मान के पात्र हैं। वे एक महान वैज्ञानिक थे जो विज्ञान के भावी विकास के लिए अपनी वैज्ञानिक खोजों के प्रति पूर्णरूप से समर्पित थे। एक आविष्कारक एक या दो आविष्कारों द्वारा लाखों रुपये कमा सकता है। बोस ने कई नये आविष्कार किये थे। उनको कई उद्योगों द्वारा उपयोग में लाया गया। जब उन्हें धन देने की पेशकश की गई तो उन्होंने उसे स्वीकार नहीं किया। उन्होंने यह महसूस किया कि ज्ञान किसी व्यक्ति की निजी सम्पत्ति नहीं है। उन्होंने प्रत्येक व्यक्ति को उनके कार्यों के फलों को उपयोग करने की अनुमति दे दी।

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 14 Woodman, Spare that Tree

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 14 Woodman, Spare that Tree

Woodman, Spare that Tree Textual Exercises

Word Power

(1) Find out the words from text for the meanings given below
(अध्याय में से वे शब्द ढूंढ़िए जिनके अर्थ दिए गए हैं।)
Answer:

  1. A large branch of a tree – bough.
  2. A special cause for pride, respect or plea sure – glory.
  3. Extremely tall or high and therefore impressive – towering.
  4. A person (especially a man) who you are descended from, especially one who lived a long time ago – forefather.
  5. Feeling or showing thanks because somebody has done something kind for you – grateful.

(2) Find the rhyming words for the following words from the poem.
(तुकान्त शब्द ढूंढ़िए।)
Answer:

  1. tree – me.
  2. bough – now
  3. cot – not
  4. ties – skies
  5. shade – played
  6. hand – stand

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

Question 1.
Who do you think had planted the tree?
(हू डू यू थिंक हैड प्लान्टेड द ट्री?)
पेड़ को किसने रोपा था?
Answer:
Poet’s forefather had planted the tree.
(पोएट्स फोरफादर हैड प्लान्टेड द ट्री।)
कवि के प्रपितामह ने पेड़ को रोपा था।

Question 2.
Why does the poet want to protect the old oak from the woodman?
(व्हॉय डज द पोएट वॉन्ट टू प्रोटेक्ट द ओल्ड ओक फ्रॉम द वुडमैन?)
कवि बलूत के वृक्ष की लकड़हारे से रक्षा क्यों करना चाहता है?
Answer:
The poet wants to protect the old oak tree from the woodman because it had given him shade and his sisters played under the tree. Also he has childhood memories of the tree.
(द पोएट वॉन्ट्स टू प्रोटेक्ट द ओल्ड ओक ट्री फ्रॉम द वुडमैन बिकॉज़ इट हैड गिवन हिम शेड एण्ड हिज़ सिस्टर्स प्लेड अण्डर द ट्री। ऑल्सो ही हैज़ चाइल्डहुड मैमोरीज़ ऑफ द ट्री।)
कवि बलूत के वृक्ष की रक्षा करना चाहता है क्योंकि वृक्ष ने उसे छाया दी व उसकी बहनें वहाँ खेली। उसकी वृक्ष के साथ बचपन की यादें जुड़ी हैं।

Question 3.
Which line or lines suggest the tree mentioned in the poem is an oak tree?
(व्हिच लाइन और लाइन्स सजेस्ट द ट्री मैन्शन्ड इन द पोएम इज़ एन ओक ट्री?)
कविता में कौन-सी पंक्ति अथवा पंक्तियाँ बताती हैं कि वह एक बलूत वृक्ष है?
Answer:

  1. Oh, spare that aged oak.
  2. But let that oak stand.

Question 4.
What memories does the poet have of the old oak tree?
(व्हॉट मैमोरीज़ डज़ द पोएट हैव ऑफ द ओल्ड ओक ट्री?)
कवि की उस बलूत के वृक्ष से जुड़ी कौन-सी स्मृतियाँ हैं?
Answer:
The memories that the poet has are that when he was an idle boy, the tree used to provide its graceful shade for him to rest, his sisters used to play under the tree, his mother kissed him there and his father pressed his hands with affection under the same tree.

(द मैमोरीज़ दैट द पोएट हैज़ आर दैट व्हेन ही वॉज़ एन आइडल बॉय, द ट्री यूज्ड टू प्रोवाइड इट्स ग्रेसफुल शेड फॉर हिम टू रेस्ट, हिज़ सिस्टर्स यूज्ड टू प्ले अण्डर द ट्री, हिज़ मदर किस्ड हिम देअर एण्ड हिज़ फादर प्रेस्ड हिज़ हैण्ड्स विद अफेक्शन अण्डर द सेम ट्री।)

जब वह एक आलसी बालक था, तो उस पेड़ ने उसे सुस्ताने के लिए अपनी शीतल छाया प्रदान की, उसकी बहनें वहीं खेलती थीं, उसकी माँ ने उसे वहीं चूमा था तथा उसके पिताजी ने वहीं उसके हाथों को प्यार से दबाया था।

Question 5.
Explain the lines:
My heart-strings round thee cling Close as thy bark, old friend!
(एक्सप्लेन द लाइन्स:
माइ हार्ट स्ट्रिंग्स राउण्ड.दी क्लिंग
क्लोज़ एज़ दाइ बार्क, ओल्ड फ्रेन्ड।)
दी गई पंक्तियों को समझाओ।
Answer:
The poet means that he has great affection for the tree and his heart is attached to it as its bark. He loves the tree from the core of his heart and he considers it his friend. He is grateful for the services rendered by the trees.
(द पोएट मीन्स दैट ही हैज ग्रेट अफैक्शन फॉर द ट्री एण्ड हिज़ हार्ट इज़ अटैच्ड टू इट एज़ इट्स बार्क। ही लव्स द ट्री फ्रॉम द कोर ऑफ हिज़ हार्ट एण्ड ही कन्सिडर्स इट हिज़ फ्रेन्ड। ही इज़ ग्रेटफुल फॉर द सर्विसेज़ रेन्डर्ड बाइ द ट्री।)
कवि को पेड़ से स्नेह है व उसका हृदय पेड़ से उसी तरह जुड़ा है जैसे कि उसकी छाल। वह पेड़ को दिल से चाहता है व उसे अपना मित्र समझता है। वह पेड़ द्वारा दी गई सेवाओं के लिए उसका आभारी है।

Question 6.
Pick out the adjectives used in the poem.
(कविता में से विशेषण छाँटिए।)
Answer:
Old familiar, aged, idle, grateful, gushing, foolish, old, brave, close.

MP Board Solutions

Listening Time

Listen to the poem ‘Woodman Spare that Tree’ read by your teacher and complete the following lines of the poem .
Answer:
Woodman, Spare that Tree!
Touch not a single bough!
In youth it sheltered me;
And I’ll protect it now.
‘T’ was my fore father’s hand
That placed it near his cot.
There, woodman, let it stand,
The axe shall harm it not.

Writing Time

Write a paragraph on ‘usefulness of plants/ trees in our day to day life.’
(पेड़ों/पौधों की उपयोगिता पर एक गद्यांश लिखिए।)
Answer:
Trees are very useful to us. They give us shade. They give us oxygen to breathe and take in carbon dioxide. They also cause rainfall and prevent soil erosion and thus balance the ecosystem. They provide food to the herbivorous animals. The wood of a tree is used to make furniture and paper is made from its pulp. We get fruits and vegetables from the trees. The leaves of some trees like neem and tulsi are used as medicine. The juice of the rubber tree is used in making rubber. Life without trees is not possible.

Things to Do

In this poem you have come across an ‘Oak Tree’. Go out into a park or big garden and find out the correct names of the trees you see there. Make a list of trees and compare your list with the ones that your friends have made.
Answer:
Students can do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

Woodman, Spare that Tree Central Idea of the Poem

This poem is a plea to save trees from destruction and their felling without considering the result. Trees serve human beings and also other living creatures in a number of ways. The poet warns the woodman not to cut even a single branch of tree. The oak tree was planted by his forefather and he has fond memories of the good times passed under the tree. The poet says that he will protect the tree with all his might.

Woodman, Spare that Tree Difficult Word Meanings

spare (स्पेअर)-refrain from hunting चोट करने से बचाना; bough (बो)-branch शाखा; shelter (शैल्टर)condition of being kept safe आश्रय दिया; hew (हिउ)cut काटना (कुल्हाड़ी से); gushing (गशिंग)-flowing बहता हुआ।

MP Board Solutions

Woodman, Spare that Tree Summary, Pronunciation & Translation

[1] Woodman, spare that tree!
Touch not a single bough!
In youth it sheltered me,
And I’ll protect it now.

(वुडमैन, स्पेअर दैट ट्री!
टच नॉट अ सिंगल बो!
इन यूथ इट शेल्टर्ड मी,
एण्ड आई’ इल प्रोटेक्ट इट नाउ।)

हिन्दी अनुवाद :
लकड़हारे, उस पेड़ को छोड़ दो
‘एक भी डाल को मत छूना
जवानी में इसने मुझे आश्रय दिया
और अब मैं उसकी सुरक्षा करूँगा।

[2] ‘Twas my forefather’s hand
That placed it near his cot;
There, woodman, let it stand,
Thy axe shall harm it not.

(टवाज़ माय फोर फादर्स हैण्ड दैट
प्लेस्ड इट नियर हिज़ कोट;
देअर, वुडमैन, लेट इट स्टैण्ड,
दाय एक्स विल हार्म इट नॉट।)

हिन्दी अनुवाद :
वे मेरे पितामह का हाथ था
जिसने उसे अपने खाट के पास बोया था
वहीं, लकड़हारे उसे खड़ा रहने दो
तुम्हारी कुल्हाड़ी उसे नुकसान नहीं पहुँचाएगी।

MP Board Solutions

(3] That old familiar tree,
Whose glory and renown
Are spread o’er land and sea
And wouldst thou hew it down?

(दैट ओल्ड फेमिलियर ट्री
हज़ ग्लोरी एण्ड रिनाउन
आर स्प्रेड ओवर लैंड एण्ड सी
एन्ड वुडस्ट दाउ हिउ इट डाउन?)

हिन्दी अनुवाद :
वह पुराना सुपरिचित वृक्ष
जिसकी कीर्ति एवं प्रसिद्धि
दूर-दूर तक मैदान व समुद्र तक फैली है।
क्या तुम इसे कुल्हाड़ी से काट दोगे?

[4] Woodman, forbear thy stroke!
Cut not its earth-bound ties;
Oh, spare that aged oak
Now towering to the skies!

(वुडमैन, फोरबीअर दाय’ स्ट्रोक!
कट नॉट इट्स अर्थ-बाउण्ड टाइज़;
ओह, स्पेयर दैट एजेड ओक
नाउ टावरिंग टु द स्काइज।)

हिन्दी अनुवाद :
लकड़हारे, अपने वार को रोको।
उसकी जमीन से बँधे बन्धन को मत काटो,
ओह, उस वृद्ध ओक को छोड़ दो
जो अब आसमान तक ऊँचा हो गया है।

[5] When but an idle boy,
I sought its grateful shade;
in all their gushing joy
Here, too, my sisters played.

(व्हेन बट एन आयडल बॉय,
आई सॉट इट्स ग्रेटफुल शेड;
इन ऑल देअर गशिंग जॉय
हिअर, टू, माय सिस्टर प्लेड।)

हिन्दी अनुवाद :
जब मैं एक फुर्सती बालक था
मैं उसकी उदारता की छाया खोजता था;
अपने उमड़ते आनन्द में
यहाँ मेरी बहनें भी खेला करती थीं।

MP Board Solutions

[6] My mother kissed me here;
My father pressed my hand
Forgive this foolish tear,
But let that old oak stand.

(माय मदर किस्ड मी हिअर;
माय फादर प्रेस्ड माय हैन्ड
फॉरगिव दिस फुलिश टीअर,
बट लेट दैट ओल्ड ओक स्टैण्ड।)

हिन्दी अनुवाद :
मेरी माँ ने वहाँ मेरा चुम्बन किया;
यहाँ मेरे पिता ने मेरा हाथ पकड़ा
इन मूर्खता पूर्ण आँसुओं को क्षमा कर देना
पर इस ओक को यहीं खड़ा रहने दो।

[7] My heart-strings round thee cling,
Close as thy bark, old friend!
Here shall the wild-bird sing,
And still thy branches bend.

(माय हार्ट-स्ट्रिंग्स राउण्ड दी क्लिंग,
क्लोज़ एज़ दाय बार्क, ओल्ड फ्रेंड।
हिअर शैल द वाइल्ड बर्ड सिंग,
एण्ड स्टिल दाय ब्रांचेस बैण्ड।)

हिन्दी अनुवाद :
मेरे हृदय के तार तेरे चारों ओर लिपटे हैं,
जैसे तेरी छाल तुझसे लिपटी है पुराने मित्र!
यहीं पर वन्य पक्षी गाना गायेंगे
और तब भी तेरी शाखाएँ झुकी रहेंगी।

[8] Old tree! the storm still brave!
And woodman, leave the spot;
While I’ve a hand to save,
Thy axe shall harm it not. – George Pope Morris

(ओल्ड ट्री! द स्टार्म स्टिल ब्रेव!
एण्ड वुडमैन, लीव द स्पॉट;
व्हाइल आई ‘ए हैण्ड टु सेव,
दाय एक्स शैल हार्म इट नाट।)

हिन्दी अनुवाद :
प्राचीन वृक्ष तूफानों के लिए अभी भी बहादुर हैं
और लकड़हारे यहाँ से चले जाओ
जब तक मेरे हाथ वृक्ष को बचाने को हैं,
तुम्हारी कुल्हाड़ी उसे हानि नहीं पहुँचा सकती।

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 13 Bond of Love

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 13 Bond of Love

Bond of Love Textual Exercises

Word Power

(1) Find out the words from the text whose meanings are given below :
(अध्याय में से वे शब्द ढूंढ़िए जिनके अर्थ नीचे दिए गए 1)
Answer:

  1. readiness to give things to others. – gene rosity
  2. an address of honour used for a king – your majesty
  3. tie – bond
  4. like very much – appreciate
  5. valuable – precious

(2) Fill in the blanks with the given words.
(रिक्त स्थान भरे।)

auspicius, bond, dynasty, Her Excellency, hesitation
Answer:
You may request Her Excellency without any hesitation because today is a very auspicious occasion for her. Her brother is coming for Rakshabandhan. It is a bond of love between a brother and a sister. He is from the Parmar dynasty.

(3) Choose five words to describe Humayun.
(हुमायूँ का वर्णन करने वाले शब्द चुनो।)
Answer:
Brave, sympathetic, large-hearted, hospitable, generous.

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(I) Answer the following questions in one or two sentences.
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
Where had the messenger come from?
(व्हेयर हैड द मैसेन्जर कम फ्रॉम?)
दूत कहाँ से आया था?
Answer:
The messenger had come from Udaipur.
(द मैसेन्जर हैड कम फ्रॉम उदयपुर।)
दूत उदयपुर से आया था।

Question 2.
Name the kingdom to which Udaipur belongs.
(नेम द किंगडम टू व्हिच उदयपुर बिलांग्स।)
उदयपुर के शासकों का नाम बताओ।
Answer:
Udaipur belongs to the Rajput kingdom.
(उदयपुर बिलॉग्स टू द राजपूत किंगडम।)
उदयपुर के शासक राजपूत थे।

Question 3.
Who had sent the messenger?
(हू हैड सेन्ट द मैसेन्ज़र?)
दूत को किसने भेजा था?
Answer:
Queen Karnawati had sent the messenger.
(क्वीन कर्नावती हैड सैन्ट द मैसेन्ज़र।)
दूत को रानी कर्नावती ने भेजा था।

(II) Answer the following questions in two or three sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर दो या तीन वाक्यों में दो।)

Question 1.
Why was Humayun surprised to find a messenger from Udaipur?
(व्हॉय वॉज़ हुमायूँ सरप्राइज्ड टू फाइन्ड अ मैसेन्जर फ्रॉम उदयपुर?)
उदयपुर से दूत आया जान हुमायूँ को आश्चर्य क्यों हुआ?
Answer:
Humayun was surprised to find a messenger from Udaipur because there was no connection of Udaipur with his kingdom. He was not able to predict the reason of his coming.
(हुमायूँ वॉज़ सरप्राइज्ड टू फाइन्ड अ मैसेन्जर फ्रॉम उदयपुरं बिकॉज़ देयर वॉज़ नो कनेक्शन ऑफ उदयपुर विद हिज़ किंगडम। ही वॉज़ नॉट एबल टू प्रिडिक्ट द रीज़न ऑफ हिज़ कमिंग।)
हुमायूँ उदयपुर से दूत आया देख आश्चर्यचकित था क्योंकि उदयपुर व उसके राज्य के बीच कोई सम्बन्ध नहीं था। वह उसके आने के कारण का अन्दाजा नहीं लगा पा रहा था।

Question 2.
What was Karnawati’s message to Humayun?
(व्हॉट वॉज़ कर्नावतीज़ मैसेज़ टु हुमायूँ?)
कर्नावती का हुमायूँ को क्या सन्देश था?
Answer:
The message was that Rani Karnawati had requested Humayun as her brother to help her in protecting Udaipur and her people.
(द मैसेज़ वॉज़ दैट रानी कविती हैड रिक्वैस्टेड हुमायूँ एज़ हर ब्रदर टू हैल्प हर इन प्रोटेक्टिंग उदयपुर एण्ड हर पीपल।)
रानी कर्नावती ने सन्देश में हुमायूँ से एक भाई की तरह उदयपुर व उसके वासियों की रक्षा करने में उनकी सहायता करने का निवेदन किया था।

Question 3.
Why did Humayun call the ‘Red thread’ a big thing?
(व्हाय डिड हुमायूँ कॉल द ‘रेड थ्रेड अ बिग थिंग’?)
हुमायूँ ने लाल धागे को एक बड़ी चीज़ क्यों कहा?
Answer:
Humayun called the ‘Red thread’ a big thing because it was a bond of love and affection between a brother and a sister.
(हुमायूँ कॉल्ड द ‘रेड थ्रेड’ अ बिग थिंग बिकॉज़ इट वॉज़ अ ब्रॉन्ड ऑफ लव एण्ड अफैक्शन बिटवीन अ ब्रदर एण्ड अ सिस्टर।)
हुमायूँ ने लाल धागे को एक बड़ी वस्तु कहा क्योंकि वह भाई व बहन के बीच स्नेह का बन्धन था।

Question 4.
What message did Humayun send to Rani Karnawati?
(व्हॉट मैसेज़ डिड हुमायूँ सेन्ड टू रानी कर्नावती?)
हुमायूँ ने रानी कर्नावती को क्या सन्देश भेजा?
Answer:
Humayun sent the message to Karnawati that from that moment onwards, Humayun, the Moghul Emperor was her brother. He was going to help his dear sister. It was a great honour for him to have a sister like her.
(हुमायूँ सैन्ट द मैसेज़ टू कविती दैट फ्रॉम दैट मोमेन्ट ऑनवर्ड्स, हुमायूँ द मुगल एम्परर वॉज़ हर ब्रदर। ही वॉज़ गोइंग टू हैल्प हिज़ डियर सिस्टर। इट वॉज़ इ ग्रेट ऑनर फॉर हिम टू हैव अ सिस्टर लाइक हर।)
हुमायूँ ने कर्नावती को सन्देश भेजा कि उसी क्षण से मुगल सम्राट हुमायूँ उनके भाई हैं। वे अपनी प्रिय बहन की मदद करेंगे। वे उनके समान बहन पाकर अति सम्मानित महसूस कर रहे हैं।

Question 5.
What did Humayun decide to do to help Rani Karnawati?
(व्हॉट डिड हुमायूँ डिसाइड टू डू टु हैल्प रानी कर्नावती?)
हुमायूँ ने रानी कर्नावती की मदद करने के लिए क्या फैसला किया?
Answer:
Humayun decided to prepare his army for the march and lead it himself to Udaipur.
(हुमायूँ डिसाइडिड टू प्रिपेअर हिज़ आर्मी फॉर द मार्च एण्ड लीड इट हिमसेल्फ टू उदयपुर।)
हुमायूँ ने सेना तैयार करने व उसका स्वयं नेतृत्व करने का फैसला किया।

MP Board Solutions

(III) Who said to whom :
(किसने किससे कहा?)

Question 1.
“What is all this?”
(“व्हॉट इज ऑल दिस?)
Answer:
Humayun to the messenger.
(हुमायूँ टू द मैसेन्जर।)

Question 2.
“Love of a sister goes beyond human boundaries of class, creed and religion.”
(“लव ऑफ अ सिस्टर गोज़ बियॉन्ड ह्यूमन बाउन्डरीज़ ऑफ क्लास, क्रीड एण्ड रिलीजिअन।)
Answer:
Messenger to Humayun.
(मैसेन्जर टू हुमायूँ।)

Question 3.
“………. and duty does not think of gain or loss.”
(“…… एण्ड ड्यूटी डज़ नॉट थिंक ऑफ गेन और लॉस?)
Answer:
Messenger to Humayun.
(मैसेन्जर टू हुमायूँ।)

Question 4.
“I shall myself lead the army to Udaipur.”
(“आइ शैल माइसेल्फ लीड द आर्मी टू उदयपुर।”)
Answer:
Humayun to Karamat Ali.
(हुमायूँ टू करामत अली।)

Language Practice

(1) Fill in the blanks using the words given and the right form of ‘self’ and the verb
(रिक्त स्थान भरो।)
Answer:

  1. Have you noticed? Meena often looks (look) at herself in the mirror.
  2. Monti fell down and hurt (hurt) himself on the stairs.
  3. Who’s Ramu talking to? I guess he’s talking (talk) to himself
  4. They are organizing (organize) program themselves.
  5. We are helping (help) ourselves.

(II) Frame suitable sentences using the following words:
(सही वाक्य बनाओ।)
Answer:
see – I see an orange.
show – I show what I am.
eat – I eat fruits.
feed – I feed my dog.
sit – I sit on a chair.
seat – There’s a seat vacant.
lie – I lie down on my bed.
lay – I lay down my books on the shell below.

(III) Complete the following sentences using must/should have to
Answer:

  1. You must finish this work otherwise I’ll punish you.
  2. I think you should go now.
  3. We must invite Vineet in our party, as he has helped us a lot.
  4. You should exercise to live a healthy life.
  5. I have to work hard to score good marks.

MP Board Solutions

Speaking Time

(a) Some topics are given. Students are asked to speak out on these topics one by one.
Topics :

  1. Importance of forest
  2. Wild life protection
  3. Importance of tree.

Answer:
Students should do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

Writing Time

(1) Rewrite the story ‘Bond of Love’ in your own words.
(कहानी को अपने शब्दों में लिखो।)
Answer:
Once a messenger from Udaipur visits Moghul emperor Humayun’s court. Rani Karnavati had sent him with a ‘raksha sutra’ (a thread tied by a sister on brother’s wrist on the rakshabandhan day). She had requested him to. help her in protecting Udaipur and its people as the kingdom was in trouble. Humayun accepts it and becomes ready to save Udaipur and perform the duty of a brother.

(2) Give a character sketch of Humayun.
(हुमायूँ का परित्र चित्रण कीजिए।)
Answer:
Humayun was a kind and brave ruler. He is hospitable too. He understands Rani Karnawati’s feelings of love and affection and her need. He exhibits his affectionate nature by accepting the “raksha sutra’ sent by her and his large heartedness by getting ready to save Udaipur just by a message of Karnawati. He is also sympathetic and caring as he understands the trouble of people in Udaipur.

Things to do

Collect some information about Humayun and discuss it with your friends.
Answer:
Students can collect the information from books etc. and discuss with their friends.
(छात्र स्वयं करें।)

Bond of Love Difficult Word Meanings

generosity (जेनेरॉसिटी)-the fact of being generous उदारता; page (पेज)-a boy servant बाल परिचर; bow (बो)-to move head down झुककर; hesitation (हेजिटेशन)-to be in doubt हिचकिचाहट; submission (सबमिरान)-the act of accepting orders of the others समर्पण; auspicious (ऑस्पिशस) showing signs that is likely to be successful in the future शुभ शकुन, bond (बॉन्ड)-tie बंधन; dynasty (डाथनेस्टी)-a series of rulers of a country who all belong to the same family राजवंश; ponder (पॉडर)-to think सोचना।

Bond of Love Summary, Pronunciation & Translation

[1] This short play is a well-known event of Indian history. Humayun was a kind and brave Moghul Emperor. Once Rani Karnavati of Udaipur sent him ‘Raksha’ a thread tied by a sister on her brother’ wrist. Humayun accepted this symbol of affection and honoured the request of Rani Karnavati. he behaved like a real brother, who is always ready to help and protect his sister, whenever she is in difficulty or in need.
Humayun : Moghul emperor
Karamat : his commander
Page : Humayun’s servant.
Messenger : Rani Karnavati’s messenger
(When the curtain opens, Humayun is seated on the Throne. Karamat Ali is standing near him.)

(दिस शॉर्ट प्ले इज़ अ वैल नोन इवेण्ट ऑफ इंडियन हिस्ट्री। हुमायूँ वाज़ अ काइन्ड एण्ड ब्रेव मुगल एम्परर। वन्स रानी कर्णावती ऑफ उदयपुर सेन्ट हिम रक्षा अ थ्रेड टाइड बीय अ सिस्टर ऑन हर ब्रदर्स रिस्ट। हुमायूं एक्सेप्टेड दिसे सिम्बोल ऑफ अफेक्शन एण्ड ऑनर्ड द रिक्वेस्ट ऑफ रानी कर्णावती। ही. बिहेव्ड लाइक अ रिअल ब्रदर, हू इज़ आलवेज रेडी टु हेल्प एण्ड प्रोटेक्ट. हिज़ सिस्टर, व्हेनएवर शी इज़ इन डिफिकल्टी और इन नीड।
हुमायूँ : मुगल एम्परर
करामात : हिज़ कमान्डर
पेज : हुमायूँज सर्वेण्ट
मेसेन्जर : रानी कर्णावतीज मेसेन्जर।
(व्हेन द कर्टेन ऑपन्स। हुमायूं इज़ सीटेड ऑन थ्रोन। करामत अली इज स्टैण्डिंग नियर हिम।)

हिन्दी अनुवाद :
यह लघु नाटक भारतीय इतिहास की प्रसिद्ध घटना है। हुमायूँ एक उदार और बहादुर मुगल सम्राट था। एक बार उदयपुर की रानी कर्णावती ने उसे “रक्षा (राखी)” का एक धागा जो कि एक बहन एक भाई के हाथों में बाँधती है भेजी। हुमायूँ ने इसे प्रेम के प्रतीक के रूप में स्वीकार कर रानी कर्णावती के सम्मान की रक्षा की। उसने एक सगे भाई की तरह व्यवहार किया और सदा अपनी बहन की सुरक्षा एवं सहायता के लिए तत्पर रहा जब भी वह कभी किसी कठिनाई में होती या उसे कोई आवश्यकता होती।

हुमायूँ : मुगल सम्राट।
करामात : उसका सेनापति।
पेज : हुमायूँ का नौकर।
दूत : रानी कर्णावती का दूत।
(जब पर्दा खुलता है तब हुमायूँ अपने तख्त पर बैठा है। करामात अली उसके पास खड़ा है।)

MP Board Solutions

[2] Humayun : It seems our efforts have succeeded and we have peace in our kingdom.
Karamat Ali : True, my Lord, People are happy due to your kindness, generosity and feeling for humanity.
(The page enters)
Page : Long Live, your Majesty!
Humayun : What’s the matter?
Page : A messenger has come from Udaipur.
Humayun : From Udaipur?
Page : Yes, my Lord!
Karamat : You mean that Rajput kingdom?
Page : Yes, your Majesty!
Humayun : I wonder what it could be. Let him in immediately with all due respect.

(हुमायूं : इट सीम्स अवर एफर्ट्स हैव सक्सीडेड एण्ड वी हैव पीस इन अवर किंगडम।
करामात अली : ट्र माइ लार्ड, पीपुल आर हैप्पी ड्यू टु युअर काइन्डनेस, जनरोसिटी एण्ड फीलिंग फोर ह्यमेनिटी।
(द पेज़ इन्टर्स)
पेज : लांग लिव युअर मेजेस्टी!
हुमायूं : व्हाट्स द मैटर?
पेज : अ मेसेन्जर हैज़ कम फ्राम उदयपुर।
हुमायूं : फ्राम उदयपुर?
पेज : यस माई लार्ड!
करामात : यू मीन दैट राजपूत किंगडम?
पेज : यस युअर मेजेस्टी।
हुमायूं : आई वॉण्डर व्हाट इट कुड मी। लेट हिम इन इमिडिएटली विद आल ड्यू रेसपेक्ट।)

हिन्दी अनुवाद :
हुमायूँ : ऐसा लगता है कि हमारे प्रयास सफल रहे हैं और हम अपने राज्य में शान्ति रख पाये हैं।
करामात अली : सही है, श्रीमान्, लोग आपकी दयालुता उदारता से और मानवता के प्रति आपकी सद्भावना.से खुश हैं।
(पेज प्रवेश करता है)
पेज : बादशाह सलामत, अमर रहें।
हुमायूँ : क्या बात है?
पेज : उदयपुर से एकदूत आया है।
हुमायूँ : उदयपुर से। पेज-जी, हुजूर।
करामत : तुम्हारा मतलब, उस राजपूत राज्य से।
पेज : बादशाह सलामत।
हुमायूँ : मुझे हैरानी है, क्या ऐसा हो सकता है। जाओ, उसे फौरन पूरी इज्जत के साथ अन्दर लाओ।

[3] Page : As you order, Your Majesty!
(The page leaves and return in a while, with the messenger in the dress of a Rajput from Mewar.)
Messenger : (bowing low) May your Majesty live long!
Humayun : I’m glad, Udaipur has remembered us. What’s the message?
Messenger : There’s a special message, your Lordship!
Karamat : You may give your message without any hesitation. His Majesty is really large-hearted.
Messenger : And because of that only Rani Karnavati has sent me.
Humayun : (With a bit of surprise) The queen of Udaipur! It’s really surprising that Her Excellency has remembered met! What’s her message?
(The messenger presents a highly decorated red thread and a chit.)

(पेज : एज युअर आर्डर युअर मेजेस्टी!
(द पेज लीव्ज़ एण्ड रिटर्न्स इन अ व्हाइल-विद द मेसेन्जर इन द ड्रेस ऑफ अ राजपूत ऑन मेवार)
मेसेन्जर : (बोइंग लो) मे योर मेजेस्टी लिव लांग।
हुमायूं : आई एम ग्लेड। उदयपुर हैज़ रिमेम्बर्ड अस। व्हाट्स द मेसेज़?
मेसेन्जर : देअर इज़ अ स्पेशल मेसेज, यूअर लार्डशिप।
करामत : यू मे गिव युवर मेसेज विदाउट एनी हेजीटेशन। हिज़ मेज़ेस्टी इज़ रीअली लार्ज-हार्टेड।
मेसेन्जर : एण्ड बिकॉज़ ऑफ दैट ओनली रानी कर्णावती हेज़ सेन्ट मी।
हुमायूं : विद अ बिट ऑफ सरप्राइज) द क्वीन ऑफ उदयपर। इट्स रीअली सरप्राइजिंग दैट हर एक्सीलेंसी हेज़ रिमेम्बर्ड मी। व्हाट्स हर मेसेज़?
(द मेसेन्जर प्रेजेन्ट्स अ हाईली डेकोरेटेड रेड थ्रेड एण्ड अ चिट)

हिन्दी अनुवाद :
पेज : जो हुक्म, मेरे आका।
(पेज जाता है और थोड़ी ही देर में सन्देशवाहक को मेवाड़ के राजपूत की वेशभूषा में साथ लाता है।
संदेशवाहक (दूत) : (झुककर) महामहिम दीर्घायु हो।
हुमायूँ : हमें प्रसन्नता हुई। उदयपुर ने हमें याद किया है। क्या सन्देश है?
संदेशवाहक : एक विशेष सन्देश है, महामहिम।
करामात : तुम अपना सन्देश बेहिचक पेश कर सकते हो। महामहिम विशाल हृदय वाले हैं।
सन्देशवाहक : और इसीलिए रानी कर्णावती ने केवल मुझे भेजा है।
हुमायूँ : (थोड़े चकित होकर) उदयपुर की महारानी। यह मेरे लिए एक अचम्भा है कि महारानी ने मुझे याद किया। क्या सन्देश है?
(सन्देशवाहक दूत एक लाल रंग का सजा-सजाया धागा और एक पत्र प्रस्तुत करता है?)

[4] Humayun : What’s all this. (Raising his voice) You are standing free the Mughal Emperor. Do you realise that?
Messenger : (In humble tone) Your Majesty! Be pleased to listen to my submission.
Humayun : What do you mean?
Karamat : This red thread is a very precious thing. It is a sign of love and affection.
Humayun : How strange! Go on.
Messenger : Your Majesty! Rani Karnavati has sent you these things.
Humayun : Why! I can’t follow, Karamat, can you explain to me what this messenger is trying to say?
Karamat : Yes, your Majesty! Today is an auspicious day for the Hindus. It is the ‘Rakshabandhan’ day. This red thread is the ‘Raksha.’

(हुमायूं : व्हाट्स ऑल दिस (रेजिंग हिज़ वाइस) यू आर स्टेडिंग बिफोर द मुगल एम्परर, डू यू रिअलाइज दैट?
मेसेन्जर : (इन अ हम्बल टोन) यूअर मेजेस्टी! बी प्लीज्ड टु लिसन टु माय सबमिशन।)
हुमायूं : व्हाट डू यू मीन?
करामात : द रेड थ्रेड इज अ प्रेशियस थिंग इट्स अ साइन ऑफ लव एण्ड अफेक्शन।
हुमायूं : हाउ स्टेन्ज? गो ऑन।
मेसेन्जर : युअर मेजेस्टी! रानी कर्णावती हैज़ सेन्ट यू दीज़ थिंग्स।
हुमायूं : व्हाय! आई कान्ट फालो। करामात! केन यू एक्सप्लेन टु मी व्हाट दिस मेसेन्जर इज़ ट्राइंग टु से?
करामत : यस युअर मेजेस्टी। टुडे इन एन ऑस्पीशियस डे फॉर द हिन्दूज़। इट इस द “रक्षाबन्धन” डे। दिस रेड थ्रेड इज़ “रक्षा”)

हिन्दी अनुवाद :
हुमायूँ : ये सब क्या है (अपनी आवाज ऊँची करके) तुम सम्राट के सामने खड़े हो। क्या तुम यह जानते हो?
दूत : (नम्र स्वर में) महामहिम! मेरे निवेदन को ध्यान से सुनिए।
हुमायूँ : क्या मतलब है तुम्हारा?
करामात : यह लाल धागा एक बहुमूल्य वस्तु है। यह प्यार मोहब्बत की निशानी है।
हुमायूँ : कैसी विचित्र बात है। आगे बोलो।
दूत : महामहिम! रानी कर्णावती ने यह चीजें आपके लिए भेजी हैं।
हुमायूँ : क्यों! मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा है। करामात, क्या तुम मुझे बता सकते हो कि यह दूत क्या कहना चाहता है?
करामात : हाँ, महामहिम! आज हिन्दुओं के लिये एक बहुत ही शुभ दिवस है। यह रक्षाबन्धन का दिवस है। यह लाल धागा “रक्षा” है।

MP Board Solutions

[5] Humayun : What does it stand for?
Karamat : A woman blesses her brother by tying this Raksha on the brother’s wrist. It’s a bond of love and affection.
Messenger : And the brother returns the love by promising to protect his sister and help her in every way possible throughout life.
Humayun : Is that so? Then it is really a big thing. Does it mean that Rani Karnavati wants me to be her brother?
Messenger : Yes, your Majesty!
Humayun : But how can that be? She is a Hindu and we belong to the Great Moghul dynasty.
Messenger: Love of a sister goes beyond human boundaries of class, creed and religion. Once a person accepts to be a brother he always shows affection towards the sister.

(हुमायूं : व्हाट डज़ इट स्टैण्ड फोर?
करामात : अ वुमन ब्लेंसेस हर ब्रदर बाय टाइंग दिस रक्षा ऑन द ब्रदर्स रिस्ट। इट्स अ बॉन्ड ऑफ लव एण्ड अफेक्शन।
मेसेन्जर : एण्ड द ब्रदर रिटर्न्स द लव बाय प्रामिसिंग टु प्रोटेक्ट हिज़ सिस्टर एण्ड हैल्प इन एव्री वे पॉसिबल श्रू आउट लाइफ।
हुमायूं : इज़ दैट सो? देन इट इज़ रियली बिग थिंग। डज़ इट मीन दैट रानी कर्णावती वान्ट्स मी टु बी हर ब्रदर?
मेसेन्जर : यस युअर मेजेस्टी।
हुमायूं : बट हाउ केन दैट बी? शी इज अ हिन्दू एण्ड मी बिलांग टु द ग्रेट मुगल डायनेस्टी।
मेसेन्जर : लव ऑफ अ सिस्टर गोज़ बियोन्ड ह्यूमैन बाउन्ड्रीज़ ऑफ क्लास, क्रीड एण्ड रिलीजन। वन्स अ पर्सन एस्पेक्ट्स टु बी अ ब्रदर ही आलवेज़ शोज अफेक्शन टुवर्ड्स द सिस्टर।)

हिन्दी अनुवाद :
हुमायूँ : यह किस चीज़ का प्रतीक है?
करामात : एक स्त्री अपने भाई को उसकी कलाई पर यह रक्षा बाँधकर उसे आशीर्वाद देती है। यह प्यार और स्नेह का बन्धन है।
दूत : और इसके बदले में भाई यह वचन देता है कि वह आजीवन अपनी बहन की हर सम्भव सहायता करेगा।
हुमायूँ : ऐसी बात है? तो यह वास्तव में बहुत बड़ी बात है। तो क्या उसका मतलब यह है कि रानी कर्णावती मुझे अपना भाई बनाना चाहती है?
दूत : हाँ, महामहिम।
हुमायूँ : पर ऐसा कैसे हो सकता है? वह हिन्दू है और हम महान् मुगल चंगेज खान के कुल से हैं।
दूत : बहन का प्रेम वर्ग, धर्म और समुदाय की मानवीय सीमाओं के पार जाता है। एक बार जब कोई व्यक्ति उसका भाई होना स्वीकार कर लेता है तो वह सदैव अपना स्नेह उसके प्रति दिखाता है।

[6] Humayun : (With eyes closed, pondering). I see! This is really a great idea. (After a pause) Messenger, We definitely appreciate this. What’s the message? Karamat, read this chit.
(The messenger ties the ‘Raksha’ on Humayun’s wrist and hands over the chit to Karamat who reads it and tells the message.)
Karamat : Rani Karnavati requests you as her brother to help her in protecting Udaipur and her people.
Humayun : I know Udaipur is in trouble. But why should we get involved in this quarrel? What do we get out of it?
Messenger : You get the love of a sister, your Majesty! The love of a sister calls for duty and duty does not think of gain or loss.
Karamat : He is right, my Lord ! Here is a chance for your Majesty to win the hearts of these brave Rajputs.
Humayun : (Rising from his seat) Well, then, we behave as a true brother.

हुमायूं : (विद आइज क्लोज्ड पोडरिंग) आई सी दिस इज़ रियली अ ग्रेट आइडिया। (आफ्टर अ पाज) मेसेन्जर, वी डेफिनेटली एप्रीशिएट दिस। व्हाट्स द मेसेज? करामात, रीड दिस चिट।
(द मेसेन्जर टाइज द ‘रक्षा’ ऑन हुमायूँज़ रिस्ट एण्ड हैण्ड्स ओवर द चिट टु करामात हू रीड्स इट एण्ड टेल्स द मेसेज)
करामात : रानी कर्णावती रिक्वेस्ट्स यू एज़ अ ब्रदर टु हैल्प हर इन प्रोटेक्टिंग उदयपुर एण्ड हर पीपुल।
हुमायूं : आई नो उदयपुर इज़ इन ट्रबल। बट व्हाय शुड वी गेट इन्वाल्वड इन दिस क्वारल? व्हाट डू वी गेट आउट ऑफ इट?
मेसेन्जर : यू गेट द लव ऑफ अ सिस्टर, युअर मेज़ेस्टी। द लव ऑफ अ सिस्टर काल्स फोर ड्यूटी एण्ड ड्यूटी इज़ नाट थिंक ऑफ गेन और लॉस।
करामात : ही इज़ राइट, माई लार्ड, हिअर इज़ अ चान्स फोर युअर मेजेस्टी टु विन द हार्टज़ ऑफ दीज़ ब्रेव राजपूत्स।
हुमायूं : (राइजिंग फ्रॉम हिम सीट) वेल देन बी बिहेव एज़ अ टू ब्रदर।)

हिन्दी अनुवाद :
हुमायूँ : (आँखें बन्द कर गहराई से सोचते. हुए।) हूँ मुझे भी पता है कि यह वास्तव में एक महान विचार है। (थोड़ी देर रुककर) दूत, हम निश्चित रूप से इस बात को पसन्द करते हैं। सन्देश क्या है? करामात इस कागज को पढ़ो।
(दूत रक्षा को हुमायूँ की कलाई पर बाँधता है और कागज करामात को दे देता है जो उसे पढ़ता है और सन्देश बताता है।)
करामात : रानी कर्णावती आपको एक भाई के रूप में उदयपुर व उसकी प्रजा की सुरक्षा प्रदान करने की प्रार्थना करती
हुमायूँ : मैं जानता हूँ कि उदयपुर कष्ट में है। किन्तु हम क्यों इस झगड़े में पड़ें? हमें इससे क्या मिलेगा।
दूत : आपको एक बहिन का प्रेम मिलेगा, महामहिम! बहिन का प्रेम आपको अपने कर्तव्य के लिए पुकारता है और कर्तव्य लाभ-हानि के बारे में नहीं सोचता।
करामात : यह बात सत्य है, स्वामी। यह महामहिम के लिए इन बहादुर राजपूतों के हृदय जीतने का एक अच्छा अवसर है।
हुमायूँ : (गद्दी से उठते हुए) तो फिर ठीक है। हम एक सगे भाई की तरह व्यवहार करेंगे।

MP Board Solutions

[7] Messenger, go and convey my message to Rani Karnavati. Tell her that from this moment onwards, Humayun, the Moghul Emperor, is her brother. He is coming to help his dear sister. We consider it a great honour to have a sister like her.

Messenger : You are very noble, kind and large hearted, your Majesty! Rani Karnavati will always be grateful for this help in her hour of need.
Humayun : Karamat, be quick and prepare our army for the march. I shall myself lead the army to Udaipur.
Messenger : Long live your Majesty!
Humayun : Karamat, give some gift to this messenger and send some precious gift for our sister Rani Karnavati. Also, make available to him all things needed for a quick return.
Karamat : As your Majesty commands! (The curtain falls)

(मेसेन्जर, गो एण्ड कन्वे माई मेसेज़ टु रानी कर्णावती। टेल हर दैट फ्राम दिस मोमेन्ट ऑनवर्डस, हुमायूं द मुगल एम्परर, इज़ हर ब्रदर। ही इज़ कमिंग टू हेल्प हिज डीयर सिस्टर। वी कन्सीडर इट अ ग्रेट आनर टु ए सिस्टर लाइक हर।

मेसेन्जर : यू आर वेरी नोबल, काइन्ड एण्ड लार्ज हार्टेड, युअर मेजेस्टी! रानी कर्णावती विल आलवेज़ बी ग्रेटफुल योर दिस हैल्प इन हर अवर ऑफ नीड।
हुमायूं : करामात, बी क्विक एण्ड प्रिपेअर अवर आर्मी फोर द मार्च। आई शैल माइसेल्फ लीड द आर्मी टु उदयपुर।
मेसेन्जर : लांग लीव युअर मेजेस्टी।
हुमायूं : करामात, गिव सम गिफ्ट टु दिस मेसेन्जर एण्ड सम प्रेशियस गिफ्ट फोर अवर सिस्टर रानी कर्णावती। अल्सो मेक अवेलेबल टु हिम ऑल थिंग्स नीडेउ फोर अ क्विक रिटर्न।
करामात : एज युअर मेजेस्टी कमान्ड्स! (द कर्टेन फाल्स)

हिन्दी अनुवाद :
दूत, जाओ और हमारा सन्देश रानी कर्णावती तक पहुँचाओ। उनसे कहो कि इस क्षण से हुमायूँ, मुगल बादशाह उनका भाई है। वह अपनी प्यारी बहन की मदद करने के लिए आ रहा है। उनके समान बहिन को पाकर हम सम्मानित महसूस करते हैं।

दूत : आप महान्, दयालु और विशाल हृदय वाले हैं, महामहिम! रानी कर्णावती आवश्यकता की इस घड़ी में आपकी सहायता के लिए सदैव आपकी आभारी रहेंगी।
हुमायूँ : करामात, हमारी सेना को जंग के लिये शीघ्र तैयार करो। हम स्वयं इस सेना का नेतृत्व उदयपुर के लिये करेंगे।
दूत : महामहिम दीर्घायु हों!
हुमायूँ : करामात इस दूत को कुछ भेंट दो और हमारी बहन रानी कर्णावती के लिए कुछ बहुमूल्य सौगात दो। इस दूत के शीघ्र प्रस्थान के लिए तमाम आवश्यक चीजों को उपलब्ध कराओ।
करामात : जैसी महामहिम की आज्ञा है। (पर्दा गिरता है।)

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 12 King Vikram in Disguise

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 12 King Vikram in Disguise

King Vikram in Disguise Textual Exercises

Word Power

(1) Match these words in column ‘A’ with their meanings in column ‘B’
(सुमेलित करो।)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 12 King Vikram in Disguise 1
Answer:
(1) → (d)
(2) → (c)
(3) → (e)
(4) → (a)
(5) → (b)

(2) Use the letters of the given word, in any order, to derive five new words.
(दिए गए शब्दों से पाँच नए शब्द बनाइए।)
Answer:

  1. accompanied – pain, panic, come, coined, maid.
  2. administrative – trait, minister, sad, man, name.
  3. persuasion – super, son, sun, person, run
  4. graciously – rag, lag, soil, coil, soul
  5. subjects – set, but, sect, tub, best
  6. consequent – use, consent, quote, sent, count.

(3) Find words from the lesson which mean the following
(अध्याय में से वे शब्द ढूँढ़िए जिनके अर्थ निम्नवत् हों।)
Answer:

  1. to behave in a particular way to make other people believe something that is not true – pretend.
  2. a person whose job was to walk through a town shouting news, official announcements, etc. – town crier.
  3. sadness that one shows and feels because somebody had died – mourning.
  4. the act of persuading somebody to do something or to believe something. – persuasion
  5. to impress somebody a lot with you beauty or skill – perfect presentation.

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(1) Answer these questions in one or two sentences.
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दो।)

Question 1.
Who was king Vikramaditya?
(हू वॉज़ किंग विक्रमादित्य?)
राजा विक्रमादित्य कौन थे?
Answer:
King Vikramaditya was a just and fair ruler of the kingdom of Ujjain.
(किंग विक्रमादित्य वॉज़ अ जस्ट एण्ड फेयर रुलर ऑफ द किंगडम ऑफ उज्जैन।)
राजा विक्रमादित्य उज्जैन राज्य के न्यायप्रिय शासक थे।

Question 2.
What did the king see through the crack in the wall of the hut?
(व्हॉट डिड द किंग सी श्रू द क्रैक इन द वॉल ऑफ द हट?)
राजा ने झोंपड़ी की दरारों में से क्या देखा?
Answer:
The king saw a weeping old man in a corner, a head shaven women dancing and a young man who appeared to be in mourning singing.
(द किंग सॉ अ वीपिंग ओल्ड मैन इन अ कॉर्नर, अ हैड शेवन वुमन डान्सिंग एण्ड अ यंग मैन हू अपीयर्ड टू बी इन मोर्निंग सिंगिंग।)
राजा ने एक बूढ़े आदमी को एक कोने में रोते देखा एक मुंडे बाल वाली स्त्री को नाचते व एक शोकाकुल नवयुवक को गाते देखा।

Question 3.
Why was the young man mourning?
(व्हाय वॉज़ द यंग मैन मोर्निग?)
नौजवान मातम क्यों मना रहा था?
Answer: The young man was mourning because his father had spent all his money on educating him so that he could get a job of a scribe in the court but no post was available. So he was jobless and they were hand to mouth.
(द यंग मैन वॉज़ मोर्निग बिकॉज हिज़ फादर हैड स्पैन्ट ऑल हिज़ मनी ऑन एजुकेटिंग हिम सो दैट ही कुड गेट अ जॉब ऑफ अ स्क्राइब इन द कोर्ट बट नो पोस्ट वॉज़ अवेलेबल। सो ही वॉज़ जॉबलेस एण्ड दे वर हैण्ड टू माऊथ।)
नौजवान मातम मना रहा था क्योंकि उसके पिता ने अपना सारा धन उसकी शिक्षा पर खर्च कर दिया था ताकि वह दरबार में नकलनवीस का पद पा सके। परन्तु कोई पद खाली न था। इसलिए वह बेकार था और वे भूखे मर रहे थे।

Question 4.
Who were the members of the young man’s family?
(हू वर द मेम्बर्स ऑफ द यंग मैन्स फैमिली?)
Answer:
The members of the young man’s family were his father and a wife.
(द मैम्बर्स ऑफ द यंग फैमिली वर हिज़ फादर एण्ड अ वाईफ।)
नौजवान के परिवार में उसके पिता व एक पत्नी थी।

Question 5.
What was the topic given by the king for the examination?
(व्हॉट वॉज़ द टॉपिक गिवन बाइ द किंग फॉर द इग्जैमिनेशन?)
परीक्षा के लिए राजा द्वारा कौन-सा शीर्षक दिया गया था?
Answer:
The topic was ‘a young widow dancing to the time of merry songs sung by a young man in mourning while an old man wept.’
(द टॉपिक वॉज़ ‘अ यंग विडो डान्सिंग टू द ट्यून ऑफ मैरी साँग्स संग बाइ अ यंग मैन इन मोर्निंग एन ओल्ड मैन वेप्ट।)
शीर्षक था ‘एक नौजवान विधवा एक शोकाकुल नौजवान द्वारा गाये गए गीतों पर नाच रही है व एक बूढ़ा रो रहा है।

(II) Answer these questions in three or four sentences
(निम्न प्रश्नों के उत्तर तीन या चार वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
What did the king hear that night? What did he do then?
(व्हॉट डिड द किंग हिअर दैट नाईट? व्हॉट डिड ही डू देन?)
राजा ने उस रात क्या सुना? उसने फिर क्या किया?
Answer:
The king heard a strange music from a hut in a poor locality. He reached the cottage and peeped in through a crack.
(द किंग हर्ड अस्ट्रेन्ज म्यूजिक फ्राम अ इट इन अ पूअर लोकैलिटी। ही रीच्ड द कॉर्टेज एण्ड पीप्ड् इन श्रू अ क्रैक।)
‘राजा ने एक गरीब मोहल्ले में एक झोंपड़ी से आते संगीत को सुना। वे उस झोंपड़ी के पास गए व दरारों से अन्दर झाँका।

Question 2.
What did the king pretend to be? Why?
(व्हाट डिड द किंग प्रिटेन्ड टू बी? व्हाय?)
राजा ने क्या होने का नाटक किया? क्यों?
Answer:
The king pretended himself to be a traveller from Java. He wanted to know the reason of all what he saw.
(द किंग प्रिटेन्डिड हिमसेल्फ टू बी अ ट्रैवलर फ्रॉम जावा। ही वॉन्टेड टू नो द रीजन ऑफ ऑल व्हॉट ही सॉ।)
राजा ने अपने आपको जावा से आया यात्री बताया ताकि उसने जो कुछ देखा था उसका कारण जान सके।

Question 3.
In your opinion why did the king announce the examination for a royal scribe immediately?
(इन योर ओपिनियन व्हाय डिड द किंग एनाउन्स द इग्जैमिनेशन फॉर अ रॉयल स्क्राइब इमीडिएटली?)
आपकी राय में राजा ने शाही नकलनवीस के लिए तत्काल परीक्षा लेने की घोषणा क्यों की?
Answer:
The king was moved by the plight of the family and especially the young man. He wanted to help him, so he immediately announced the examination for a royal scribe.
(द किंग वॉज़ मूव्ड बाइ द.प्लाईट ऑफ द फैमिली एण्ड इस्पैशली द यंग मैन। ही वॉन्टेड टू हैल्प हिम, सो ही इमीडिएटली एनाउन्सड द इग्जैमिनेशन फॉर अ रॉयल स्क्राईब।)
राजा उस परिवार के दुःख से द्रवित हो गये थे और वे उस नवयुवक की सहायता करना चाहते थे। अतएव उन्होंने तुरन्त ही शाही नकलनवीस के लिए परीक्षा की घोषणा की।

Question 4.
What was the old man’s dream? Was it fulfilled? How?
(व्हॉट वॉज़ द ओल्ड मैन्स ड्रीम? वॉज़ इट फुलफिल्ड? हाउ?)
बूढ़े आदमी का स्वप्न क्या था? क्या वह पूरा हुआ? कैसे?
Answer:
The old man’s dream was that the royalty was going to visit them at night. Yes, it was fulfilled. The king had visited them in disguise.
(द ओल्ड मैन्स ड्रीम वॉज़ दैट द रॉयलटी वॉज़ गोइंग टू विजिट देम एट नाईट। यस, इट वॉज़ फुलफिल्ड। द किंग हैड विजिटिड देम इन डिस्गाईज़।)
बूढ़े का स्वप्न था कि शाही परिवार का कोई सदस्य रात को उनके घर आयेगा। यह स्वप्न सच हुआ.क्योंकि राजा छद्मवेश में वहाँ गये।

Question 5.
Why did the young woman sell her tresses?
(व्हॉय डिड द यंग वुमन सैल हर ट्रेसेस?)
युवा महिला ने अपने बाल क्यों बेच दिए?
Answer:
The old man wanted that when royalty visited them, they should present him a silver bowl. They had no money for this. So the young woman sold her tresses.
(द ओल्ड मैन वॉन्टेड दैट व्हेन रॉयलेल्टी विजिटिड़ देम, दे शुड प्रेजेन्ट हिम अ सिल्वर बाउल। दे हैड नो मनी फॉर दिस। सो द यंग वुमन सोल्ड हर ट्रेसेस।)
बूढ़ा आदमी चाहता था कि जब शाही परिवार का सदस्य आये तो उसे चाँदी का कटोरा दिया जाय। उनके पास इसके लिए धन नहीं था। इसलिए युवा महिला ने अपने बाल बेच दिए।

MP Board Solutions

(III). Choose the correct alternative
(सही विकल्प चुनो।)

(i) Vikramaditya-was the king of ……
(a) Indore
(b) Ujjain
(c) Bhopal
(d) Dhar
Answer:
(b) Ujjain

(ii) The king went out in disguise because he wanted to check on his
(a) subjects
(b) neighbours
(c) ministers
(d) princess.
Answer:
(a) subjects

(iii) The young man wanted to become the king’s
(a) friend
(b) scribe
(c) minister
(d) town-crier.
Answer:
(b) scribe

(iv) The topic for the examination was selected by
(a) the king
(b) the minister of education
(c) the competitors
(d) the health minister.
Answer:
(a) the king

(v) The king and his servant pretended to be the travellers from
(a) Sri Lanka
(b) Surinam
(c) Java
(d) Sumatra.
Answer:
(c) Java

(IV) Arrange the following sentences in the order they occurred in the story
(निम्नलिखित वाक्यों को सही क्रम में लगाओ।)

  1. They were hand to mouth.
  2. The young man came out asked them what they wanted.
  3. King Vikramaditya was a just and fair ruler of the kingdom of Ujjain.
  4. At midnight they set out for ‘Baragaza’ via the west gate.
  5. King Vikramaditya was deeply moved by the young man’s plight.

Answer:

  1. King Vikramaditya was a just and fair ruler of the kingdom of Ujjain.
  2. At midnight they set out for ‘Bargaza’ via the west gate.
  3. The young man came out and asked them what they wanted.
  4. They were hand to mouth.
  5. King Vikramaditya was deeply moved by the young man’s plight.”

Language Practices

Make meaningful sentences from the given table.
Use Passive Voice.
( तालिका से सही वाक्य बनाओ।)
Answer:

  1. The children were taken to the zoo.
  2. A cricket match was organised at the stadium.
  3. The injured was rushed to the hospital.
  4. The advertisement was published in a newspaper.
  5. My uniform was stitched by the tailor.
  6. The toys were sold at the shop.

MP Board Solutions

Listening Time

Answer the questions based on the given passage.
(दिए गए गद्यांश पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दो।)

Question 1.
Is the Kashi Express running late?
Answer:
Yes, Kashi Express is running late by three hours.

Question 2.
What time is the train expected to arrive?
Answer:
The train is expected to arrive at 17 hours.

Question 3.
What is the number of the train?
Answer:
The number of the train is 3075.

Question 4.
Which platform will it come at?
Answer:
It will come on platform number two.

Speaking Time

With the help of given flow chart, tell how to get reservation.
(दिए गए चार्ट की मदद से बताओ कि आरक्षण कैसे कराते हैं।)
Answer:
To get the reservation of a berth for the journey in a train, firstly go to the reservation office at the railway station. Take the reservation form or application form from there and fill it completely giving all the information about the date of travelling, train’s name and number, class in which you want to travel, name, age, sex etc. Handover this form to the booking clerk. If the berths are available on the given date, reservation is given otherwise the status is told. If the berths are available pay the desired sum. The clerk will then hand over the reservation ticket to you.

Writing Time

Frame a story based on the picture in the book with the help of the given clues.
(कहानी बनाओ।)
Answer:
One day a woodcutter was cutting wood in the forest. Suddenly he found a bag of gold coins there. He was an honest person. He immediately took the bag to the king. The king was very pleased to see his honesty. He returned the bag to him only.

Things to do

Question 1.
Find the kingdoms and the rulers of Central India.
(मध्य भारत के राज्य व शासकों के नाम लिखिए।)
Answer:
Student should do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

Question 2.
Find out any famous and interesting story related to any of the above king or queen.
(उपरोक्त दिए गए राजा या रानी से जुड़ी कोई कहानी लिखो।)
Answer:
Students should do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

Question 3.
Draw a picture of the throne of Vikramaditya and colour it properly.
(राजा विक्रमादित्य के सिंहासन का चित्र बनाओ व उसमें रंग भरो।)
Answer:
Students can draw and colour themselves.
(छात्र स्वयं बनाएँ।)

King Vikram in Disguise Difficult Word Meanings 

fair (फेअर)-acceptable and appropriate in a particular situation उचित; subject (सब्जेक्ट)-a person who has the right to a particular country esp. one with a king or a queen ऋण; set out (सैट आउट)-leave a place and begin a journey यात्रा पर रवाना होना; pretend (प्रिटेन्ड)-to behave in a particular way, in order to hide truth सब छुपाने के लिए एक खास ढंग से व्यवहार करना, ढोंग करना; mourning (मोनिंग)- sadness that you show and feel because somebody has died family करना; persuasion (परस्युएशन)-the act of persuading somebody to do something or to believe something आग्रह करना; scribe (स्क्राइब)-a.person who made copies of written documents before printing was invented नकलनवीस; royalty (रॉयल्टी)-one or more members of a royal family शाही परिवार के सदस्य; bowl (बोल)-a deep round dish with a wide open top प्याला, कटोरा; plight (प्लाइट)-a difficult and sad situation एक कठिन स्थिति; merry (मेरी)-happy and cheerful प्रसन्न; consequently (कॉन्सिक्वेंटली)-as a result परिणामस्वरूप; tresses (ट्रैसिस)-woman’s long hair बालों की लट; unresolved (अनरिजॉल्वड)-notresolved जिसका समाधान नहीं हुआ।

MP Board Solutions

King Vikram in Disguise Summary, Pronunciation & Translation

[1] King Vikramaditya was a just and fair ruler of the kingdom of Ujjain. Besides his administrative duties he would also go in disguise to check on his citizens.

One day he said to his servant, “Be ready tonight. I would like to see for myself whether my subjects are safe or not. I wish to inspect areas outside the walls of the city.” It was decided by the king that he himself would play the role of a servant. Only one servant was, allowed to accompany the king. This servant would play the role of the king.

(किंग विक्रमादित्य वाज़ अजस्ट एण्ड फेअर रूलर ऑफ द किंगडम ऑफ उज्जैन। बिसाइड्स हिज़ एडमिनिस्ट्रेटिव ड्यूटीज़ ही वुड अल्सो गो इन डिस्माइज टु चैक ऑन हिज़ सिटीजन्स।

वन डे ही सेड टु हिज़ सर्वेण्ट, “बी रैडी टु नाइट। आई वुड लाइक टु सी माईसेल्फ वेदर माय सब्जेक्ट्स आर सेफ और नाट। आई विश टु इंस्पेक्ट एरियाज आउट साइड द वाल्स ऑफ द सिटी। इट वाज़ डिसाइडेड बाय द किंग दैट ही हिमसेल्फ वुड प्ले द रोल ऑफ अ सर्वेण्ट ओनली वन सर्वेण्ट वाज़ अलाउड टु ‘एकम्पनी द किंग। दिस सर्वेण्ट वुड प्ले द रोल ऑफ द किंग।)

हिन्दी अनुवाद :
राजा विक्रमादित्य उज्जैन राज्य के एक न्यायप्रिय व अच्छे राजा थे। अपनी शासकीय दायित्वों के अलावा वे अपने नागरिकों का हाल जानने के लिए भेष बदलकर जाया करते थे।

एक दिन उन्होंने अपने नौकर को कहा-“आज रात तैयार रहना। मैं स्वयं देखना चाहता हूँ कि मेरी प्रजा सुरक्षित है या नहीं। मैं शहर की दीवारों के बाहर निरीक्षण करना चाहता हूँ।” यह निश्चित हुआ कि राजा खुद नौकर की भूमिका निभायेंगे। केवल एक नौकर को ही राजा के साथ रहने की अनुमति होगी। यह नौकर राजा की भूमिका निभायेगा।

[2] At midnight they set out for Baragaza via the west gate. They pretended to be travellers from Java. There was silence everywhere except the occasional dog’s bark or an owl’s hoot. All of a sudden strange music was listened by the king. It was coming out from a hut in a poor locality. He thought why anyone so poor would be entertaining himself at that hour in the night.

(एट मिड नाइट दे सैट आउट फोर बरगाजा वाया द वेस्ट गेट। दे प्रिटेण्डेड टु बी ट्रेवेलर्स फ्राम- जावा। देअर वाज़ साइलेन्स एव्रीव्हेअर एक्सेप्ट द आकेजनल डाग्स बार्क और एन आउल्स हूट। ऑल ऑफ ए सडन स्टेन्ज म्यूजिक वाज़ लिसन्ड बाय द किंग। इट वाज़ कमिंग आउट फ्राम अ हट इन अ पुअर लोकलिटी। ही थाट व्हाय एनीवन सो पुअर वुड बी इन्टरटेनिंग हिमसेल्फ एट दैट अवर इन द नाइट।)

हिन्दी अनुवाद :
अर्द्ध रात्रि होने पर वे पश्चिमी दरवाजे से होते हुए बरगाजा रवाना हुए। उन्होंने जावा से आये यात्रियों का स्वांग किया। किसी कुत्ते के भौंकने या किसी उल्लू की आवाज के सिवाय चारों तरफ सन्नाटा छाया था। अचानक राजा के द्वारा अजीब तरह का संगीत सुना गया। वह आवाज एक गरीब इलाके. की एक झोंपड़ी से आ रही थी। उसने सोचा कि रात्रि के उस पहर में कोई निर्धन व्यक्ति अपने आपका मनोरंजन क्यों कर रहा होगा।

[3] When the king reached near the hut he was surprised to see a broken hut where someone was singing merrily. Out of curiosity the king peeped into the hut through a crack. He saw a weeping old man in a corner. There was a woman who seemed to be a widow as her head was shaven, was dancing and a young man who appeared to be in a mourning was singing. The servant was, then, asked by the king to peep inside. The servant was of the opinion that it was these people’s idea of fun, and they should not intrude there. But the king was bent upon an explanation so he called out to the owner of the house.

(व्हेन द किंग रीच्ड नियर द हट ही वाज़ सरप्राइज्ड टु सी अ ब्रोकन हट व्हेअर, समवन वाज़ सिमिंग मेरिली। आउट ऑफ क्यूरिओसिटी द किंग पीप्ड इन टू द हट श्रू अ क्रेक। ही सा अ वीपिंग ओल्ड मैन इन अ कॉर्नर । देअर वाज़ अ वोमन हू सीम्ड टु बी अ विंडो एज़ हर हैड वाज़ शेवन, वाज़ डांसिंग एण्ड अ यंग मैन, हू अपीअर्ड टू बी इन अ मोर्निंग वाज़ सिंगिंग। द सर्वेट वाज़ देन, आस्कंड बाइ वाय किंग टु पीप इनसाइड। द सर्वेण्ट वाज़ ऑफ द ओपिनियन दैट इट वाज़ दीज़ पीपुल्स आइडिया ऑफ फन, एण्ड दे शुड नाट इन्ट्रड देअर बट द किंग वाज़ बेण्ट अपॉज़ एन एक्सप्लेनेशन सो ही काल्ड आउट टू द ओनर ऑफ द हाउस।)

हिन्दी अनुवाद :
जब राजा झोंपड़ी के पास पहुँचा तो उसे एक टूटी-फूटी झोंपड़ी को देखकर आश्चर्य हुआ जहाँ कोई मजे से गा रहा था। उत्सुकतावश राजा ने एक छेद से झोंपड़ी में झाँका। उसने एक कोने में एक बूढ़े आदमी को रोते देखा। एक औरत थी जो कि उसके सिर मूड़े हुए होने से विधवा लग रही थी, नाच रही थी और एक नौजवान जो कि बहुत विलाप करता लग रहा था, गा रहा था। फिर राजा ने नौकर को अन्दर झाँकने को कहा। नौकर की राय थी कि यह इन लोगों के मनोरंजन का तरीका था और उन्हें वहाँ दखल नहीं देना चाहिए। किन्तु राजा उसका खुलासा चाहता था अतः उसने घर के बाहर से घर के मालिक को बाहर बुलाया।

MP Board Solutions

[4] The young man came out and asked them what they wanted. The servant said, “We are travellers from Java. We are looking for an inn to rest.” The young man replied that there was no inn because it was a poor locality and they couldn’t stay in his home because his house was in mourning. The king asked him, “Why are you mourning ?” After long persuasion the reason was disclosed by the young man. He said that his father had spent all his money on educating him so that he could get the job of a scribe in the court.

(द यंग मैन केम आउट एण्ड आस्क्ड दैम व्हाट दे वांटेड। द सर्वेण्ट सैड, “वी आर ट्रेवेलर्स फ्राम जावा। वी आर लुकिंग फोर एन इन टु रेस्ट।” द यंग मैन रिप्लाइड दैट देअर वाज़ नो इन बिकॉज़ इट वाज़ अ पुअर लोकेलिटी एण्ड दे कुडण्ट स्टे इन हिज़ होम बिकॉज हिज हाउस वेज़ इन मोर्निंग। द किंग आस्कड हिम, “व्हाय आर यू मोर्निंग?” ऑफ्टर लांग परस्युएशन द रीज़न वाज़ डिस्क्लोज्ड, बाय द यंग मैन। ही सैड दैट हिज फादर हैड स्पेण्ट ऑल हिज़ मनी ऑन एजुकेटिंग हिम सो दैट ही कुड गेट द जॉब ऑफ अ स्क्राइब इन द कोर्ट।)

हिन्दी अनुवाद :
नौजवान बाहर आया और उसने पूछा कि वे क्या चाहते हैं। नौकर ने कहा कि हम यात्री जावा से आये हैं। हम यहाँ आराम करने के लिए एक सराय खोज रहे हैं। नौजवान ने उत्तर दिया कि वहाँ कोई सराय नहीं है क्योंकि वह एक गरीब इलाका है और वे उसके घर में नहीं रह सकते क्योंकि उसका घर मातम में है। राजा ने पूछा, “तुम मातम क्यों मना रहे हो?” काफी आग्रह के बाद नौजवान ने इसका कारण बताया। उसने कहा कि उसके पिता ने उसकी लिखाई-पढ़ाई पर सारी रकम खर्च कर दी ताकि वह दरबार में एक लिपिक की नौकरी कर सके।

[5] No examination had been held for a long time, since no post was available. Now they were hand to mouth. On that day his father had a dream that the royalty was going to visit them at night. So his father asked his daughter-in-law to get a silver bowl from the market. But the night was almost over and none had come to visit them. His father was crying because his foolish dream had made the young man’s wife look like a widow. Now she was dancing and he himself was singing to make the old man feel better but he still wept.

(“नो इक्जामिनेशन हैड बीन हैल्ड फोर अ लांग टाइम, सिन्स नो पोस्ट वाज़ अवेलेबल। नाउ दे वर हैण्ड टु माउथ। ऑन दैट डे हिज़ फादर हैड अ ड्रीम दैट द रॉयल्टी वाज गोइंग टु विजिट देम एट नाइट। सो हिज़ फादर आस्क्ड हिज़ डाटर इन लॉ टु गेट अ सिल्वर बाउल फ्राम द मार्केट। बट द नाइट वाज़ अल्मोस्ट ओवर एण्ड नन हैड कम टु विजिट देम। हिज़ फादर बाज़ क्राइंग बिकाज़ हिज फुलिश ड्रीम एण्ड हैड मेड द यंग मेन्स वाइफ लाइक अ विंडो। नाउ सी वाज़ डांसिंग एण्ड ही हिमसेल्फ वाज़ सिंगिंग टु मेक ओल्ड मैन फील बेटर बट ही स्टिल वेप्ट।)

हिन्दी अनुवाद :
काफी लम्बे समय से कोई परीक्षा नहीं हुई है क्योंकि कोई भी पद उपलब्ध नहीं था। अब वे बड़ी मुश्किल से गुजारा कर रहे हैं। उस दिन उसके पिता ने स्वप्न देखा कि रात को कोई शाही मेहमान उनके यहाँ आ रहा है। इसलिए उसने अपनी बहू को शाही मेहमान को भेंट देने के लिए एक चाँदी का प्याला लाने को कहा। किन्तु रात लगभग समाप्ति पर है और कोई नहीं आया। उसके पिता रो रहे हैं क्योंकि उस मूर्खतापूर्ण स्वप्न के कारण उन्होंने अपनी बहू को विधवा का स्वरूप दिया। अब बहू नाच रही है और वह स्वयं गा रहा है ताकि उसके पिता अच्छा महसूस कर सकें पर वे रोये जा रहे हैं।

[6] King Vikram was deeply moved by the young man’s plight. The family was admired by the king. Then the king informed them that there was going to be a court examination next morning. The young man was surprised to know this and was equally happy to have an opportunity to prove his worth. He bade his unusual visitors farewell after thanking them sincerely for their useful information.

(किंग विक्रम वाज़ डीपली मूव्ड बाय द यंग मेन्स म्लाइट। द फैमिली वाज़ एडमायर्ड बाय द किंग। देन द किंग इन्फार्ड देम दैट देअर वाज़ गोइंग टु बी अ कोर्ट इक्जामिनेशन नेक्स्ट मार्निंग। द यंग मैन वाज़ सरप्राइज्ड टु नो दिस एण्ड वाज़ इक्वली हैप्पी टु हैव एन अपोर्चुनिटी टु यूव हिज़ वर्थ। ही वेड हिज़ अनयुज्वल विजिटर्स फेअर वैल आफ्टर थेकिंग दैम सिन्सिअरली फोर देअर यूजफुल इन्फार्मेशन।)

हिन्दी अनुवाद :
राजा विक्रम नौजवान के भारी दु:ख को देखकर गहराई से द्रवित हो गए। उस परिवार के प्रति राजा का मन सम्मान से भर उठा। फिर राजा ने उन्हें सूचित किया कि अगली सुबह दरबार में एक परीक्षा होने वाली है। नौजवान को यह जानकर आश्चर्य हुआ और उसे अपनी योग्यता को सिद्ध करने का एक अवसर मान कर हर्ष हुआ। उसने अपने असाधारण मेहमानों को इस उपयोगी सूचना के लिये हृदय से धन्यवाद देकर विदा किया।

[7] The king returned to the palace. The first order that was issued by the king was to the towncriers. They were to announce the time of the court examination for a royal scribe to be held that very day. The town crier’s call was heard by the young man. He immediately made his way to the great hall of the Ujjain University where the examination was to be held. The competitors had to write an essay on a given topic. The strange topic was chosen by the king himself. The topic was a young widow dancing to the tune merry songs sung by a young man in mourning while an old man wept.

(द किंग रिटर्ड टु द पेलेस। द फर्स्ट ऑर्डर दैट वाज़ इस्यूड बाय द किंग वाज़ टु द टाउन-क्रायर्स। दे वर टु अनाउन्स द टाइम ऑफ द कोर्ट इक्जामिनेशन फोर अ रॉयल स्क्राइब टु बी हैल्ड दैट वेरी डे। द टाउन क्रायर्स काल वाज़ हर्ड बाय द यंग मैन। ही इमिजिएटली मेड हिज़ वे टु द ग्रेट हाल ऑफ उज्जैन यूनिवर्सिटी व्हेअर द इक्जामिनेशन वाज़ टु बी हैल्ड। द काम्पिटिटर्स हैड टु राइट एन एसे ऑन अ गिवन टॉपिक। द स्ट्रेन्ज टॉपिक वाज़ चोज़न बाय द किंग हिमसेल्फ। द टॉपिक वाज़ ‘अ यंग विडो डान्सिंग टु द ट्यून ऑफ मेरी सांग्ज बाय अ यंग मैन इन मोर्निंग व्हाइल एज़ ओल्ड मैन वेप्ट।)

हिन्दी अनुवाद :
राजा महल की ओर लौट गया। राजा के हाथ पहला आदेश शहर के दीन-दुखी लोगों के लिए जारी किया गया। उन्होंने उसी दिन दरबार के लिए शाही लिपिक के लिए परीक्षा की उद्घोषणा की। नवयुवक ने शहर के दीन-दुखियों के आमंत्रण को सुना। वह तुरन्त ही उज्जैन विश्वविद्यालय के बड़े हॉल की ओर चल दिया जहाँ परीक्षा आयोजित होनी थी। प्रतियोगियों को दिये गये विषय पर एक निबन्ध लिखना था। अद्भुत विषय का चुनाव स्वयं राजा द्वारा किया गया था। विषय था-एक युवा विधवा एक युवक के दुख भरे गीत के ऊपर प्रसन्नचित्त होकर नृत्य कर रही है जबकि एक वृद्ध व्यक्ति रो रहा था।”

MP Board Solutions

[8] Everyone was confused about the odd topic but the young man made a perfect presentation. Consequently, he was awarded the first place by the examiners. He was duly appointed as the royal scribe. Then he was taken to the king. The king smiled graciously. He was totally unrecognizable from the way he had looked the previous night in the faded clothes of a humble servant. He congratulated the young man on being awarded the high office and told him he could now afford to buy his wife’s tresses back. Later recounting the dazzle of the court of Ujjain to his happy wife, the young man wondered aloud, “How did king Vikram know about your shaven head?”

To him the mystery remained unresolved. He did not know that his father’s dream of having royal visitors the previous night had actually come true.

(एवीवन वाज कन्फ्यूज्ड अबाउट द ऑर्ड टापिक बट द यंग मैन मेड अ परफेक्ट प्रेजेन्टेशन। कानसिक्वेन्टली ही वाज़ अवार्डेड द फर्स्ट, प्लेस बाय द इक्जामिनर्स। ही वाज़ ड्यूली अपाइन्टेड एज़ द रॉयल स्क्राइब। इन ही वाज़ टेकन टु द किंग। द किंग स्माइल्ड ग्रेशियसली। ही वाज़ टोटली अनरिकानिंजबल फ्राम द वे ही हैड लुक्ड द प्रीवियस नाइट इन द फेडेड क्लॉथ्स ऑफ अ हम्बल सर्वेन्ट। ही कांग्रेचुलेटेड द यंग मैन ऑन बीईग अवार्डोड द हाई ऑफीस एण्ड टोल्ड हिम ही कुछ नाउ अफोर्ड टु बाब हिज़ बाइफ्स ट्रेसेस बैक लैटर रिकाउटिंग द डेजल आफ द कोर्ट ऑफ उज्जैन टु हिज़ हैप्पी वाइफ, द यंग मैन वॉन्डर्ड अलाउड, “हाउ डिड किंग विक्रम नो अबाउट युअर शेवन हैड।”

टु हिम द मिस्ट्री रिमेन्ड अनसालव्ड। ही डिड नाट नो दैट हिज़ फादर्स ड्रीम ऑफ रॉयल विजिटर्स द प्रिवीयस नाइट हैड एक्चुअली कम टू।)

हिन्दी अनुवाद :
प्रत्येक व्यक्ति उस विचित्र विषय के बारे में भ्रमित था किन्तु उस नवयुवक ने एक यथार्थ चित्रण प्रस्तुत किया। परिणामस्वरूप उसे परीक्षा के द्वारा प्रथम स्थान से सम्मानित किया गया। उसे शाही लिपिक के पद पर नियुक्ति दी गई। फिर उसे राजा के पास ले जाया गया। राजा कृपा पूर्वक मुस्कराया। पिछली रात्रि से वह पूर्णतः भिन्न (न पहचानने योग्य) लग रहा था जब उसने एक नौकर के फीके हो चुके कपड़ों को पहन रखा था। उसने उच्च पद पर सम्मानित होने के लिए बधाई दी और कहा कि वह अपनी पत्नी के लम्बे बालों को फिर से खरीदने की योग्यता रखता है। बाद में उज्जैन दरबार की भव्यता में अपनी प्रसन्न पत्नी को नवयुवक ने अवाक् होकर कहा, “राजा विक्रम को तुम्हारे गंजे सिर के होने की बात कैसे पता है?” उसके लिए यह रहस्य ही रह गया। वह नहीं जानता था कि उसके पिता का पिछले रात को देखा गया शाही मेहमान का सपना वास्तव में सच हो चुका है।

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 11 Ram Prasad ‘Bismil’ – The Great Martyr

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 11 Ram Prasad ‘Bismil’ – The Great Martyr

Ram Prasad ‘Bismil’ – The Great Martyr Textual Exercises

Word Power

(A) Rearrange the jumbled letters into meaningful words and write the words in alphabetical order.
(सार्थक शब्द बनाओ व उन्हें क्रम से लिखो।)
Answer:

  1. nylo – only
  2. renve – never
  3. vocie – voice
  4. ollgasw – gallows
  5. talra – altar.

The words is alphabetical order are altar, gallows, never, only, voice

(B) Supply the synonyms for the words given below.
(दिये गये शब्दों के पर्यायवाची दीजिए)
Answer:

  1. anxiety – distress
  2. call – cry
  3. brave – courageous
  4. motherland – nation
  5. grief – sorrow.

(C) Match the words in column ‘A’ with the meanings in column B.
(सुमेलित करो।)
MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 11 Ram Prasad Bismil - The Great Martyr 1
Answer:
(i) → (c)
(ii) → (e)
(iii) → (d)
(iv) → (a)
(v) → (b)

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(A) Answer the following questions.
(निम्न प्रश्नों के उत्तर दो।)

Question 1.
Ram Prasad ‘Bismil’ was a great patriot. you find any other quality in him? Describe.
(राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ वॉज़ अ ग्रेट पेट्रिअट। डू यू फाइन्ड एनी अदर क्वॉलिटी इन हिम? डिस्क्राइब।)
राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ एक महान देश भक्त थे। क्या उनके अन्दर इसके अतिरिक्त कोई और भी गुण था? वर्णन करें।
Answer:
Yes, Ram Prasad ‘Bismil’ was a great poet also. He has written several inspiring verses. At the end of his autobiography, he has written some selected poems which are full of patriotic fervour.
(यस, रामप्रसाद ‘बिस्मिल’ वॉज़ इ ग्रेट पोएट ऑल्सो। ही हैज़ रिटन सैवरल इन्सपाइरिंग वर्सेस। एट द ऍन्ड ऑफ हिज़ ऑटोबायोग्राफी, ही हैज़ रिटन सम सिलेक्टिड पोएम्स व्हिच आर फुल ऑफ पेट्रिऑटिक फर्वर।)
हाँ, राम प्रसाद बिस्मिल’ एक महान कवि भी थे। उन्होंने कई प्रेरणादायक कविताएँ लिखी हैं। अपनी आत्मकथा के अन्त में उन्होंने कुछ कविताएँ लिखी हैं जो देशभक्ति की भावना से परिपूर्ण हैं।

Question 2.
‘Bismil’ joined the band of martyrs. What do you understand by the phrase “the band of martyrs?”
(‘बिस्मिल’ जॉइण्ड द बैण्ड ऑफ मार्टियर्स व्हॉट ड्र यू अण्डरस्टैण्ड बाइ द फ्रेज़ “द बैण्ड ऑफ मार्टियर्स”?)
‘बिस्मिल,’ शहीदों की टोली में सम्मिलित हो गये। शहीदों की टोली से आप क्या समझते हो?
Answer:
In the freedom movement of India, several persons became fighters against the British rule. These persons did not care for their lives even. These persons were called the “band of martyrs”
(इन द फ्रीडम मूवमेण्ट ऑफ इण्डिया सैवरल पर्सन्स बिकेम फाईटर्स अगेन्स्ट द ब्रिटिश रूल। दीज़ पर्सन्स डिड नॉट केयर फॉर देयर लाइव्स ईवन। दीज़ पर्सन्स वर कॉल्ड “द बैण्ड ऑफ मार्टियर्स”।)
भारत की आजादी के आन्दोलन में, ब्रिटिश शासन के खिलाफ कई व्यक्ति योद्धा बने थे। ये लोग अपनी जान की भी परवाह नहीं करते थे। इन्हीं को “शहीदों की टोली’ कहा गया।

Question 3.
‘Bismil’ along with other stalwarts helped revolutionaries in many other ways. Do you agree with the statement? Explain in brief.
(‘बिस्मिल’ अलाँग विद अदर स्टॉलवर्ट्स हैल्पड रिवॉल्यूशनरीज इन मैनी वेज़। डू यू एग्री विद द स्टेटमेण्ट? एक्सप्लेन इन ब्रीफ।)
‘बिस्मिल’ ने अपने अन्य विश्वस्त साथियों के साथ क्रान्तिकारियों की कई अन्य प्रकार से मदद की। व्याख्या करो।
Answer:
Yes, the stalwarts provided shelter to revolutionaries, printed literature and made hand bombs.
(यस, द स्टॉलवर्ट्स प्रोवाइडिड शेल्टर ट्र रिवॉल्यूशनरीज प्रिन्टेड लिट्रेचर एण्ड मेड हैण्ड बॉम्बस्।)
हाँ, क्रान्ति के समर्थक क्रान्तिकारियों को शरण देते थे, साहित्य छपवाते थे व हाथ से फेंके जाने वाला बम बनाते थे।

Question 4.
What incidents made ‘Bismil’ and his followers inmortal figures of India? Give some references from the text.
(व्हाट इन्सीडेन्ट्स मेड ‘बिस्मिल’ एण्ड हिज़ फॉलोअर्स इमॉर्टल फिगर्स ऑफ इण्डिया? गिव सम रेफ्रेन्सेस फ्रॉम द टेक्स्ट।)
कौन-सी घटनाओं ने ‘बिस्मिल’ और उनके साथियों को भारत की अमर विभूतियाँ बना दिया? पाठ के आधार पर कारण दो।
Answer:
Ram Prasad Bismil’ was a brave revolutionary, who gave up his life smilingly for the sake of motherland. The Kakori train incident made him and his followers immortal figures of India.
(राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ वॉज़ अ ब्रेव रिवॉल्यूश्नरी, हू गेव अप हिज लाइफ स्माइलिंग्ली फॉर द सेक ऑफ मदरलैण्ड। द काकोरी ट्रेन इन्सिडेण्ट मेड हिम एण्ड हिज़ फॉलोअर्स इमॉर्टल फिगर्स ऑफ इण्डिया।)
राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ एक बहादुर क्रान्तिकारी थे जिन्होंने मातृभूमि के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। वे व उनके साथी काकोरी ट्रेन काण्ड के कारण भारत की अमर विभूतियाँ बन गए।

Question 5.
Every line of ‘Bismil’s poems throbs with poetic fervour. How far do you agree with the remark? Explain in brief.
(एवरी लाइन ऑफ ‘बिस्मिल’ पोएम्स थ्रॉब्स विद पोएटिक फर्वर। हाउ फार डू यू एग्री विद द रिमार्क? एक्सप्लेन इन ब्रीफ।)
‘बिस्मिल’ की कविताओं की प्रत्येक पंक्ति काव्यात्मक उत्साह एवं जोश से परिपूर्ण है। आप इस बात से कहाँ तक सहमत हैं? संक्षिप्त में व्याख्या करिए।
Answer:
It is true that Bismil’s poems throb with poetic fervor. In one of the poem he prays, “Even if I have to face death a thousand times for the sake of my motherland, it shall not sadden me.”
(इट इज़ टू दैट ‘बिस्मिल्स’ पोएम्स थ्रॉब विद पोएटिक फरवर। इन वन ऑफ द पोएम ही प्रेज़, “ईवन इफ आइ हैव टू फेस डैथ अ थाउजण्ड टाइम्स फॉर द सेक ऑफ माइ मदरलैण्ड। इट शैल नॉट सैडन मी।”)
यह सत्य है कि बिस्मिल की कविताएँ काव्यात्मक उत्साह एवं जोश से परिपूर्ण हैं। एक कविता में उन्होंने कहा है कि यदि मातृभूमि के लिए उन्हें हज़ार बार मरना पड़े तब भी उन्हें दुःख नहीं होगा।

Question 6.
What was Bismil’s contribution in the Kakori train incident?
(व्हॉट वॉज़ बिस्मिल्स कॉन्ट्रीब्यूशन इन द काकोरी ट्रेन इन्सिडेण्ट?)
काकोरी ट्रेन काण्ड में बिस्मिल का क्या योगदान था?
Answer:
Bismil was the brave leader of the Kakori train incident.
(बिस्मिल वॉज़ द ब्रेव लीडर ऑफ द काकोरी ट्रेन इन्सिडेण्ट।)
बिस्मिल काकोरी ट्रेन काण्ड के बहादुर नायक थे।

Question 7.
How did the Kakori train incident affect the British in India?
(हाउ डिड द काकोरी ट्रेन इन्सिडेण्ट अफैक्ट द्र ब्रिटिश इन इण्डिया?)
काकोरी ट्रेन काण्ड ने भारत में अंग्रेजों को किस प्रकार प्रभावित किया?
Answer:
This extremely well-planned incident jolted the British government.
(दिस एक्स्ट्रीमली वेल प्लैन्ड इन्सीडेण्ट जोल्टेड द ब्रिटिश गर्वनमेण्टं।)
इस अत्यन्त सुनियोजित काण्ड ने अंग्रेज सरकार की चूलें हिला दी।

Question 8.
Describe the qualities of Bismil’s mother that astounded the officials of the prison.
(डिस्क्राइब द क्वॉलिटीज ऑफ बिस्मिल्स मदर दैट एस्टाउण्डेड द ऑफिशियल्स ऑफ द प्रिजन।)
बिस्मिल की माँ के उन गुणों का वर्णन करो जिसने जेल के अधिकारियों को भौंचक्का कर दिया।
Answer:
Bismil’s mother was a brave lady. She was proud of her son. She went to the prison to meet her son who had to face death, the next day. When Bismil saw his mother he thought it was the last time he could see and talk to her. Tears came in the eyes of Bismil. His mother thought that Bismil was afraid of his death. So she rebuked him. The officials were astounded at the firmness of his mother.

(बिस्मिल्स मदर वॉज़ अ ब्रेव लेडी। शी वॉज़ प्राऊड ऑफ हर सन। शी वेन्ट टू द प्रिजन टू मीट हर सन हू हैड टू फेस डैथ द नेक्स्ट डे। व्हेन बिस्मिल सॉ हिज़ मदर ही थॉट इट वॉज द लास्ट टाइम ही कुड सी एण्ड टॉक टू हर। टीयर्स केम इन द आईज ऑफ बिस्मिल। हिज़ मदर थॉट दैट बिस्मिल वॉज़ अफ्रेड ऑफ डैथ। सो शी रिब्यूक्ड हिम। द ऑफिशियल्स वर एस्टाउण्डेड एट द फर्मनेस ऑफ हिज़ मदर।)

बिस्मिल की माँ एक बहादुर स्त्री थीं। उन्हें अपने पुत्र पर गर्व था। फाँसी के एक दिन पूर्व वह उनसे मिलने जेल गईं। जब बिस्मिल ने उन्हें देखा तो यह सोचकर कि वे अन्तिम बार अपनी माँ को देख रहे हैं, उनकी आँखों से अश्रु छलक आए। माँ ने सोचा कि उनका पुत्र मृत्यु से डर रहा है। इस पर माँ ने उन्हें झिड़क दिया। उनकी माँ की इस दृढ़ता पर जेल अधिकारी भौंचक्के रह गये।।

MP Board Solutions

(B) Who said these words to whom
(किसने, किससे कहा।)

Question 1.
“Even if I have to face death a thousand times for the sake of my motherland it shall not sadden me.”
(ईवन इफ़ आइ हैव टू फेस डैथ अ थाउजन्ड टाइम्स फॉर द सेक ऑफ माइ मदरलैण्ड इट शैल नॉट सैडन “मी।)
Answer:
Ram Prasad Bismil to.God.
(राम प्रसाद बिस्मिल टू गॉड।)

Question 2.
“Who are you?”
(“हू आर यू?”)
Answer:
The guard to the young man.
(द गार्ड ढू द यंग मैन।)

Question 3.
“Permit him also, brother.”
(परमिट हिम ऑल्सो ब्रढ़र।)
Answer:
Bismil’s mother to the guard.
(बिस्मिल्स मदर दू द गार्ड।)

Question 4.
“Why did you take up such activities?”
(“व्हाइय डिड यू टेक अप सच एक्टिविटीज?”)
Answer:
Bismil’s mother to Bismil.
(बिस्मिल्स मदर दू बिस्मिल्स)

Question 5.
“These are not tears of fear the fear of death.”
(“दीज़ आर नॉट टीयर्स ऑफ फिअर-द फिअर ऑफ
Answer:
Bismil to his mother.
(“बिस्मिल्स दू हिज़ मदर”)

Language Practice

Combine the given pairs of sentences.
(दिए गए वाक्य युग्मों को जोड़िए)

(i) (a) My sister is wearing a new frock.
(b) The frock is pink.
Answer:
My sister is wearing a frock which is pink.

(ii) (a) She is my teacher.
(b) She teaches English.
Answer:
She is my teacher who teaches English.

(iii) (a) I never touch these things.
(b) The things are prohibited.
Answer:
I never touch things which are prohibited.

(iv) (a) I am looking for Sharda.
(b) Her book is with me.
Answer:
I am looking for Sharda whose book is with me.

MP Board Solutions

Listening Time

Here is a conversation between a girl Shreya and her teacher. Talk in pairs. One student will play the role of the teacher and the other one of the students.
(दिए गए वर्तालाप को बोलिए।)
Answer:
Students can do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

Speaking Time

(A) Read aloud with correct pronunciation each pair of words twice.
(दिए गए शब्दों को पढ़ो।)
Answer:
live, leave – लिव, लीव
hill, heel – हिलं, हील
lip, leap – लिप, लीप
this, these – दिस, दीज़
bit, beat – बिट, बीट
bid, bead – बिड, बीड
sick, seek – सिक, सीक

(B) Now read these pairs of sentences aloud.
(दिए गए वाक्यों को पढ़ो।)
Answer:
We are giving the pronunciation of the given sentences.
(1) Will you fill it, please?
विल यू फिल इट, प्लीज़?
Will you feel it, please?
विल यू फील इट, प्लीज़?

(2) We’re going to live here.
वी ओर गोइंग टू लिव हिअर।
We’re going to leave this place.
वी ओर गोइंग टू लीव दिस प्लेस।

(3) Can you see the ship?
कैन यू सी द शिप?
Can you see the sheep?
कैन यू सी द शीप?

(4) That’s a high hill.
दैट्स अ हाइ हिल।
That’s a high heel.
दैट्स अ हाइ हील।

(5) Would you like to have this?
वुड यू लाइक टू हैव दिस?
Would you like to have these?
वुड यू लाइक टू हैव दीज़?

Read the given sentences twice.
(दिए गये वाक्यों को दो बार पढ़ो।)
Answer:
We are giving the pronunciation of the given sentences :
(1) If you eat that piece of meat you’ll feel sick.
इफ यू ईट दैट पीस ऑफ मीट यू विल फील सिक।

(2) On the peak, the leaves are green in winter.
ऑन द पीक, द लीव्स आर ग्रीन इन विन्टर।

(3) Don’t drink from the cup the : cup is chipped.
डोन्ट ड्रिंक फ्रॉम द कप : द कप इज़ चिप्ड।

(4) The ship sprang a leak as it was leaving harbour.
द शिप स्प्रंग अ लीक एज़ इट वाज़ लीविंग हार्बर।

(5) I don’t think we’ll have a picnic this week.
आइ डोन्ट थिंक वी विल हैव अ पिकनिक दिस वीक।

Writing Time

Write a composition on any one of the freedom fighters you admire the most.
(अपने प्रिय क्रान्तिकारी के विषय में लिखो।)
Answer:
Students can write about the freedom fighter whom they admire themselves.
(छात्र अपने प्रिय क्रान्तिकारी के विषय में स्वयं लिखें।)

MP Board Solutions

Things to do

Collect different types of pictures showing freedom fighters. Discuss in your class about their contribution in achieving freedom and write a paragraph about 5 freedom fighters.
(विभिन्न क्रान्तिकारियों की तस्वीरें इकट्ठी करो। उनके आजादी में योगदान की चर्चा करो व उन परं एक गद्यांश लिखो।)
Answer:
Students can collect the pictures of various freedom fighters like Bhagat Singh, Chandra Shekhar Azad, Mahatma Gandhi, Subhash Chandra Bose etc., themselves and write about them.

Ram Prasad ‘Bismil’ – The Great Martyr Difficult word Meanings

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 11 Ram Prasad Bismil - The Great Martyr 2

Ram Prasad ‘Bismil’ – The Great Martyr Summary, Pronunciation & Translation

[1] Ram Prasad ‘Bismil’ was one of the great Indian freedom fighters who also participated in the Kakori train incident. He was also a great poet and had written several inspiring verses. He was prosecuted by the British Government in India. Ram Prasad ‘Bismil’ joined the band of martyrs who dreamt of a free India and made the supreme sacrifice. ‘Bismil’, along with stalwarts like Ashfaqullah Khan, Chandra Shekhar Azad, Bhagwati Charan, Raj Guru and others organised several upheavals against the British; they printed literature, provided shelter to revolutionaries, made hand bombs and were a constant source of worry to the British Government. They are most remembered for the Kakori train incident and the bombing of the Punjab assembly.

(रामप्रसाद बिस्मिल वाज़ वन ऑफ द ग्रेट इंडियन फ्रीडम फाइटर्स हू अल्सो पार्टिसिपेटेड इन द काकोरी ट्रेन इन्सिडेन्ट। ही वाज़ अल्सों अग्रेट पोएट एण्ड हैड रिटन सेवेरल इंसपायरिंग वर्सेस। ही वाज प्रासीक्यूटेड बाय द ब्रिटिश गवर्नमेंट इन इंडिया। राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ जाइन्ड द बैंड ऑफ मारटिर्स हू ड्रीम्ट ऑफ अ फ्री इंडिया एण्ड मेड दं सुप्रीम सेक्रिफाइस। ‘बिस्मिल’ अलांग विद स्टालवा लाइक अशफाक उल्ला खान, चन्द्रशेखर आजाद, भगवतीचरण, राजगुरू एण्ड आदर्स आर्गेनाइज्ड सेवेरल अप हीवल्स अगेन्स्ट द ब्रिटिश; दे प्रिन्टेड लिटरेचर, प्रोवाइडेड शेल्टर टु, रिवाल्यूशनरीज़, मेड हैंड बाम्ब्स एण्ड वर अ कान्सन्ट सॉर्स ऑफ वरी टु द ब्रिटिश गवर्नमेंट। दे आर मोस्ट रिमेम्बर्ड फोर द काकोरी ट्रेन इन्सिडेन्ट एण्ड द बॉम्बिंग ऑफ द पंजाब असेम्बली।)

हिन्दी अनुवाद :
रामप्रसाद बिस्मिल भारत के महान् स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों में से एक थे जिन्होंने काकोरी रेल घटना में भाग लिया था। वे एक महान कवि भी थे और उन्होंने कई प्रेरणादायक कविताएँ लिखी थीं। उन पर भारत में ब्रिटिश सरकार ने मुकदमा चलाया था। रामप्रसाद बिस्मिल शहीदों के ऐसे दल से जुड़ गये जो भारत को स्वतन्त्र कराने के सपने देखते थे और अपना सर्वस्व न्योछावर करने के लिए तैयार रहते थे। रामप्रसाद बिस्मिल ने अशफाक उल्ला खान, चन्द्रशेखर आजाद, भगवतीचरण, राजगुरू जैसे दृढ़ निश्चयी व्यक्तियों के साथ ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध कई संगठित आन्दोलन किये। ये साहित्य छपते थे, स्वतन्त्रता सेनानियों को शरण देते थे, हस्त निर्मित बम बनाते थे और ब्रिटिश सरकार के लिये निरन्तर चिन्ता के स्रोत थे। वे काकोरी ट्रेन घटना व पंजाब विधानसभा में बम फोड़ने के लिए सदैव याद किये जाते हैं।

[2] ‘Bismil’ is the pen-name of Ram Prasad. As ‘Bismil’ he is well-known as a great revolutionary poet in Hindi. At the end of his autobiography, he has reproduced some selected poems. Every line of his poems throbs with patriotic fervour. In one poem, he prays, “Even it I have to face death a thousand times for the sake of my Motherland, it shall not sadden me. Oh Lord! Grant me a hundred births in Bharat. But grant me this, too, that each time I may give up my life in the service of the Motherland.”

(बिस्मिल इज़ द पेन नेम ऑफ रामप्रसाद। एज़ ‘बिस्मिल’ ही इज वेल नोन एज़ अ ग्रेट रिवोल्यूशनरी पोएट इन हिन्दी। एट द एण्ड ऑफ हिज़ ऑटोबायोग्राफी, ही हेज़ रिप्रोड्यूस्ड सम सेलेक्टेड पोएम्स। एवी लाइन ऑफ हिज़ पोएम्स थ्राब्स विद पेट्रियॉटिक फर्वर। इन वन पोएम, ही प्रेज, “इवन इफ आई हैव टु फेस डेथ अ थाउज़न्ड टाइम्स फोर द सेक ऑफ माय मदरलेण्ड, इट शैलं नाट सेडन मी। ओह लार्ड। ग्रांट मी अ हण्ड्रेड बर्थस इन भारत बट ग्रांट मी दिस, टू दैट ईच टाइम आइ मे गिव अप माई लाइफ इन द सर्विस ऑफ द मदरलैण्ड।)

हिन्दी अनुवाद :
‘बिस्मिल’ रामप्रसाद का लेखकीय उपनाम था। ‘बिस्मिल’ नाम से वे हिन्दी में एक महान क्रान्तिकारी कवि थे। अपनी आत्मकथा के अन्त में उन्होंने कुछ चुनिन्दा (खास) कविताएँ लिखी हैं। उनकी कविताओं की प्रत्येक पंक्ति देशभक्ति की भावना से ओतप्रोत हैं। “यदि मुझे अपनी मातृभूमि के लिए सौ बार भी मृत्यु का सामना करना पड़े तो मैं दु:खी नहीं होंऊँगा। हे ईश्वर! मुझे सैकड़ों जन्म भारत में देना। किन्तु यह भी वरदान देना कि मैं हर बार मातृभूमि की सेवा में अपने प्राण त्याग दूं।”

[3] In a poem written just before going to the gallows, he prays, “Oh Lord! Your will be done. You are unique. Neither my tears nor I will endure. Grant me this boon, that to my last breath and the last drop of my blood, I may think of you and be immersed in your work.”

(इन अ पोएम रिटन जस्ट बिफोर गोइंग टु द गेलोज, ही प्रेज़, “ओह, लार्ड! युअर विल बी डन। यू आर यूनिक। नाइदर. माई टीअर्स नार आई विल इन्ड्युअर। ग्रान्ट मी दिस बून, दैट टु माई लास्ट ब्रेथ एण्ड द लास्ट ड्रॉप ऑफ माई ब्लड, आई मे थिंक ऑफ यू एण्ड बी इम्मर्सड इन युअर वर्क।”)

हिन्दी अनुवाद :
एक कविता में जिसे फाँसी के लिये जाते हुए उन्होंने लिखी थी, वे प्रार्थना करते हैं, हे भगवान! आपकी इच्छा पूरी हो, आप अद्वितीय हो। न तो मेरे आँसू न ही मैं किसी कष्ट का अनुभव करते हैं। मुझे यह वरदान देना कि अपनी अन्तिम साँस तथा अपने रक्त की अन्तिम बूंद तक मैं आपके बारे में सोचूं एवं आपके कार्य में समाहित हो जाऊँ।

MP Board Solutions

[4] Ram Prasad ‘Bismil’ was a brave revolutionary, who gave up his life smilingly for the sake of the Motherland. He was persecuted by an enraged foreign government, hunted by the police and betrayed by some fellow workers. He was the brave leader of the Kakori train incident. His poetry is also a lamp lighted at the altar of the Motherland. Kakori is a village near Lucknow. It became famous, because the attack on the train took place near Lucknow.

(रामप्रसाद ‘बिस्मिल’ वाज़ अ ब्रेव रिवोल्यूशनरी, हू गेव अप हिज़ लाइफ स्माइलिंगली फोर द सेक ऑफ द मदरलैण्ड। ही वाज़ प्रासिक्यूटेड बाय एन इनरेज्ड फॉरेन गवर्नमेंट, हण्टेड बाय द पोलिस एण्ड बिट्रेड बाय सम फेलो वर्कर्स। ही वाज़ द ब्रेव लीडर ऑफ द काकोरी ट्रेन इनसिडेंट। हिज़ पोएट्री इज़ अल्सो अ लैम्प लाइटेड एट द अल्टार ऑफ द मदरलैण्ड। काकोरी इज़ अ विलेज नियर लखनऊ। इट बिकेम फेमस, बिकाज़ द अटैक ऑन द ट्रेन टुक प्लेस नियर लखनऊ।)

हिन्दी अनुवाद :
रामप्रसाद बिस्मिल एक बहादुर स्वतन्त्रता सेनानी थे जिन्होंने अपनी मातृभूमि के लिये हँसते-हँसते अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। उन पर एक क्रोधित विदेशी सरकार ने मुकदमा चलाया, पुलिस उनके पीछे पड़ी थी और कुछ साथी कार्यकर्ताओं ने उनके साथ गद्दारी की थी। फिर भी उन्होंने गुलामी से मुक्त होने के लिए आजादी की लौ को जलाये रखा। काकोरी रेल घटना के वे बहादुर नेता थे। उनकी कविताओं ने भी मातृभूमि की वेदी पर एक दीया जलाया था। लखनऊ के पास काकोरी गाँव है जो इसलिए प्रसिद्ध हुआ क्योंकि ट्रेन पर आक्रमण लखनऊ के पास इस स्थान पर हुआ था।

[5] It was the evening of the 9th of August 1925; the number eight down train was passing near Kakori. Ram Prasad and his nine revolutionary followers pulled the chain and stopped it. They took under their control the money belonging to the government deposited in the guard’s carriage. Excepting that one passenger was killed by an accidental shot, there was no bloodshed. This extremely well-planned incident jolted the government.

(इट वाज़ दी इवनिंग ऑफ द नाइन्थ ऑफ ऑगस्ट 1925; द नम्बर एट डाउन ट्रेन वाज़ पासिंग नियर काकोरी। रामप्रसाद एण्ड हिज़ नाइन रिवोल्यूशनरी फालोअर्स पुल्ड द चेन एण्ड स्टाप्ड इट। दे टुक अण्डर देअर कण्ट्रोल द मनी बिलांगिंग टु द गवर्नमेन्ट, डिपाजिटेड इन द गार्डज केरिज। एक्सेप्टिंग दैट वन पैसेन्जर वाज किल्ड बाय एन एक्सीडेण्टल शॉट, देअर वाज़ नो ब्लडशेड। दिस एक्स्ट्रीमली वेल प्लान्ड इन्सिडेंट जोल्टेड द गवर्नमेंट।)

हिन्दी अनुवाद :
9 अगस्त, 1925 की शाम थी; 8 नम्बर की डाउन ट्रेन काकोरी के पास से गुजर रही थी। रामप्रसाद और उसके 9 क्रान्तिकारी अनुयायियों ने ट्रेन को चेन खींच कर रोक दिया। उन्होंने ब्रिटिश शासन के खजाने को अपने कब्जे में कर गार्ड के डिब्बे में रख लिया। केवल एक व्यक्ति जो एक घटनावश चली बन्दूक की गोली से मारा गया उसको छोड़कर जरा भी खून खराबा नहीं हुआ। इस सुनियोजित घटना ने ब्रिटिश शासन की चूल हिला दी।

[6] After a month of detailed preliminary inquiries and elaborate preparations, the government cast its net wide for the revolutionaries. Arrest warrants were issued not only against the ten participants but also against other leaders of the Hindustan Republic Association. With the lone exception of Chandra Shekhar Azad, all participants were caught. The case went on for over a year and a half. Ram Prasad, Ashfaqullah, Roshan Singh and Rajendra Lahiri, all four were sentenced to death. A strong campaign was organised throughout India to save the lives of these revolutionary heroes. Many of the leaders appealed to the British Government to show mercy to the condemned men. But the government was unyielding.

(आफ्टर अ मंथ ऑफ डिटेल्ड प्रिलिमिनरी इन्क्वायरीज़ एण्ड इलेबोरेट प्रिपरेशन्स, द गवर्नमेण्ट कास्ट इट्स नेट वाइड फोर द रिवोल्यूशनरीज। अरेस्ट वारंट्स वर इश्यूड नाट ओनली अगेन्स्ट द टेन पार्टीसिपेण्ट्स बट अल्सो अगेन्स्ट आदर लीडर्स ऑफ द हिन्दुस्तान रिपब्लिकन असोसिएशन। विद द लोन एक्सपेप्शन ऑफ चन्द्रशेखर आजाद, ऑल पार्टीसिपेण्ट्स वर काट। द केस वेण्ट ऑन फोर ओवर अं यीअर एण्ड अ हाफ। रामप्रसाद, अश्फाक उल्ला, रोशन सिंह एण्ड राजेन्द्र लाहिड़ी, ऑल फोर वर सेण्टेन्स्ड टु डेथ अस्ट्रांग केम्पेन वाज़ आर्गेनाइज्ड श्रू आउट इंडिया टु सेव द लाइब्ज ऑफ दीज़ रिवोल्यूशनरी हीरोज। मैनी ऑफ द लीडर्स अपील्ड टु द ब्रिटिश गवर्नमेंट टु शो मर्सी टु द कंडेम्ड मेन। बट द गवर्नमेंट वाज़ अनयील्डिंग।

‘हिन्दी अनुवाद :
एक महीने तक विस्तृत प्रारम्भिक पूछताछ व लम्बी चौड़ी तैयारी के बाद शासन ने क्रान्तिकारियों के लिए व्यापक जाल बुना। गिरफ्तारी के वारण्ट न केवल दस प्रतिभागियों के विरुद्ध बल्कि हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसियेशन के अन्य नेताओं के लिये जारी किए गए। केवल चन्द्रशेखर आजाद को छोड़कर सभी सहभागी पकड़े गए। मामला डेढ़ साल से ऊपर चला। रामप्रसाद, अशफाक उल्ला, रोशन सिंह और राजेन्द्र लाहिड़ी को मौत की सजा सुनाई गई। इन क्रान्तिकारी नायकों के लिए एक राष्ट्रव्यापी आन्दोलन आयोजित किया गया। कई नेताओं ने ब्रिटिश सरकार को इन विजित व्यक्तियों के प्रति दया दिखाने की अपील भी की। पर शासन टस से मस नहीं हुआ।

MP Board Solutions

[7] It was the 18th of December 1927. A middle-aged lady was waiting at the main gate of the Gorukhpur Central Jail. She was eagerly waiting to be called into the prison. By that time, her husband also arrived there. He was surprised that his wife was already there before him. He also sat down to wait for the call. A young man came there. He was not related to them. He knew that the couple would be permitted to enter the prison. But how should be manage to enter the prison? This was his problem. The officials of the prison called in the husband and the wife. The young man followed them. The guard stopped him and rudely asked, “Who are you?” “Permit him also, brother. He is my sister’s son.” the lady said in an entreating voice. The guard relented.

(इट वाज़ द एट्टीन्थ ऑफ दिसेम्बर 1927 (नाइन्टीन ट्वेन्टी सेवन) अ मिडिल एजेड लेडी वाज़ वेटिंग एट द मैन गेट ऑफ द गोरखपुर सेंट्रल जेल। शी वाज़ ईगरली वेटिंग टु बी काल्ड इन टू द प्रिजन। बाय दैट टाइम हर हसबैण्ड अल्सो अराइब्ड देअर ही वाज़ सरप्राइज़्ड दैट हिज़ वाइफ वाज़ अलरेडी देयर बिफोर हिम। ही आल्सो सेट डाउन टु वेट फॉर द काल। अ यंग मेन केम देअर। ही वाज़ नाट रिलेटेड टु देम। ही निउ दैट द कपल वुड बी परमिटेड टु इंटर द प्रिज़न? बट हाऊ सुड ही मैनेज टू एन्टर द प्रिज़न। दिस वाज हिज़ प्रॉब्लेम। द आफीशियल्स ऑफ द प्रिज़न काल्ड इन द हसबैण्ड एण्ड वाइफ। द यंग मैन फालोड देम। द गार्ड स्टाप्ड हिम एण्ड रूडली आस्क्ड “हू आर यू?” “परमिट हिम अल्सो, ब्रदर। ही इज माय सिस्टर्स सन”, |द लेडी सेड इन एन इंट्रीटिंग वाईस। द गार्ड रिलेन्टेड।।

हिन्दी अनुवाद :
18 दिसम्बर, 1927 का दिन था। एक मध्यम आयु की महिला गोरखपुर सेण्ट्रल जेल के मुख्य दरवाजे के सामने इन्तजार कर रही थी। वह अत्यन्त अधीरता से जेल में बुलावे का इन्तजार कर रही थी। उस समय उसके पति भी वहाँ आये। वे अपनी पत्नी के अपने से पहले आ जाने से आश्चर्य में थे। वे भी बैठकर बुलाने का इन्तजार करने लगे। एक नौजवान वहाँ आया जिसका उन दोनों से कोई सम्बन्ध नहीं था। वह जानता था कि पति-पत्नी को जेल में प्रवेश करने की अनुमति मिल जायेगी किन्तु वह जेल में कैसे प्रवेश करेगा। यह उसकी समस्या थी। जेल के अधिकारियों ने पति-पत्नी को बुलाया। नवयुवक भी उनके पीछे चला। गार्ड ने उसे रोका और बेरुखी से पूछा, “तुम कौन हो ?” “भैया उसे भी आने दो वह मेरी बहन का पुत्र है।” उसने प्रार्थनात्मक आवाज में कहा। गार्ड ने उसे जाने दिया।

[8] At the three entered the prison to visit a freedom fighter who was to face his death on the morrow’. The freedom fighter was brought there in chains. They were like ornaments on him. This was the last time that he could see his mother, the last time he could address her as ‘mother’. At this thought grief welled up in him. He stood speechless and tears rolled down his cheeks.

(ऑल द थ्री इन्टई द प्रिजन टु विज़िट अ फ्रीडम फाइटर हू वाज़ टु फेस हिज़ डेथ ऑन द मारो। द फ्रीडम फाइटर वाज़ ब्राट देअर इन चेन्स। दे वर लाइक आर्नामेंटस ऑन हिम। दिस वाज़ द लास्ट टाइम दैट ही कुड सी हिज़ मदर, द लास्ट टाइम ही कुड एड्रेस हर एज़ ‘मदर’। एट दिस थॉट ग्रीफ वेल्ड अप इन हिम। ही स्टुड स्पीचलैस एण्ड टीअर्स रॉल्ड डाउन हिज़ चीक्स।)

हिन्दी अनुवाद :
तीनों जेल में एक स्वतन्त्रता सेनानी से जिसे अगले दिन मौत का सामना करना था, मिलने हेतु प्रविष्ट हुए। स्वतन्त्रता सेनानी को जंजीरों से बँधा हुआ लाया गया। वे जंजीर उसके लिए आभूषणों के समान थी। यह अन्तिम बार था जब वह अपनी माँ को देख सकता था, अन्तिम बार वह उसे ‘माँ’ कहकर बुला सकता था। इस विचार से उसका मन दुःख से भर उठा। निर्वाक होकर वह खड़ा हो गया और उसके गालों पर आँसू बह निकले।

[9] In a firm voice the mother said, “What is this, my son? I had thought of my son as a great hero. I was thinking that the British Government would shiver at the very mention of his name. I never thought that my son would be afraid of death. If you can die only in this way, weeping, why did you take up such activities?”

The officials were astounded at the firmness of the mother. The freedom fighter replied, “Mother, dear, these are not tears of fear the fear of death. These are tears of joy-joy at beholding so brave a “mother!”

(इन अ फर्म वाईस द मदर सेड, “व्हाट इज़ दिस, माई सन, आई हैड थॉट ऑफ माय सन एज अ ग्रेट हीरो। आई वाज़ थिंकिंग दैट द ब्रिटिश गवर्नमेंट वुड शिवर एट द वेरी मेन्शन ऑफ हिज़ नेम। आई नेवर थॉट दैट माय सन वुड बी अफ्रेड ऑफ डेथ। इफ यू केन डाई ओनली इन दिस वे, वीपिंग, व्हाय डिड यू टेक अप सच एक्टीविटिज़?”

द आफिशियल्स वर अस्टाउन्डेड एट द फर्मनेस ऑफ द मदर। द फ्रीडम फाइटर रिप्लाईड, “मदर, डियर, दीज़ आर नाट टीअर्स ऑफ फीयर, द फीयर ऑफ डैथ। दीज़ आर टीअर्स ऑफ जाय-जाय एट बिहोल्डिंग सो ब्रेव अ मदर।”)

हिन्दी अनुवाद :
एक दृढ़ आवाज में माँ ने कहा, “मेरे बेटे, यह क्या है? मैंने अपने पुत्र को एक वीर नायक के रूप में सोचा था। मैं सोच रही थी कि मेरे पुत्र के नाम को सुनते ही ब्रिटिश सरकार काँप उठेगी। मैंने कभी यह नहीं सोचा था कि मेरा पुत्र भयभीत हो जायेगा-मृत्यु के डर से। अगर तुम इसी तरह रोते हुए मरना चाहते हो तो तुमने इस प्रकार का कार्य ही क्यों किया?”

माँ की इस दृढ़ता पर जेल के अधिकारी आश्चर्यचकित रह गए। स्वतन्त्रता सेनानी ने उत्तर दिया, “ये आँसू मृत्यु के भय के नहीं है। ये तो आनन्द के आँसू हैं-आनन्द एक ऐसी बहादुर माँ को पाकर।”

MP Board Solutions

[10] The brave son of that brave mother was Ram Prasad Bismil. He was the leader of the famous Kakori train incident. The last meeting ended. Next morning Ram Prasad got up earlier than usual, bathed and said his morning prayers. He wrote his last letter to his mother. Then he sat down with calm mind awaiting his death.

(द ब्रेव सन ऑफ दैट ब्रेव मदर वाज़ रामप्रसाद बिस्मिल। ही वाज़ द लीडर ऑफ द फेमस काकोरी ट्रेन इन्सिडेण्ट। द लास्ट मीटिंग एन्डेड़। नेक्स्ट मार्निंग राम प्रसाद गॉट अप अर्लियर देन युज्वल, बाथ्ट एण्ड सेड हिज़ मार्निंग प्रेयर्स। ही रोट हिज़ लास्ट लेटर टु हिज़ मदर। दैन ही सैट डाउन विथ कॉम माइन्ड अवेटिंग हिज़ डेथ।)

हिन्दी अनुवाद :
उस बहादुर माँ का बहादुर बेटा था-रामप्रसाद बिस्मिल। वह प्रसिद्ध काकोरी ट्रेन घटना का नायक था। अन्तिम मिलन समाप्त हुआ। अगले दिन रामप्रसाद नियमति रूप के बजाय बल्कि जल्दी उठे, उसने स्नान किया और प्रात:कालीन प्रार्थना की। उसने अपनी माँ को अन्तिम पत्र लिखा। फिर वह शान्त भाव से मृत्यु की प्रतीक्षा करने लगे।

[11] The officials came and removed his chains. They look him from the prison-cell towards his death. He was completely untroubled and walked like a hero. The officials were amazed. As he moved to the gallows, he joyfully chanted ‘Vande Matram’ and ‘Bharat Mata Ki Jai’.At the top of his voice, he shouted, “Down with the British Empire’. Then he calmly recited prayers and embraced death.

(द आफीशियल्स केम एण्ड रिमूव्ड हिज़ चेन्स। दे टुक हिम फ्राम द प्रिज़न-सेल टुवर्ड्स हिज़ डेथ। ही वाज़ कम्पलीटली अनट्रब्लड एण्ड वाक्ड लाईक अ हीरो। द आफीशियल्स वर अमेज्ड। एज़ ही मूव्ड टु द गेलोज, ही जायफुल्ली चान्टेड “वन्दे मातरम्” एण्ड “भारत माता की जय”। एट द टॉप ऑफ हिज़ वॉइस ही शाउटेड “डाउन विद द ब्रिटिश एम्पायर।” देन ही कामली रिसाइटेड प्रेयर्स एण्ड इम्ब्रेस्ड डेथ।)

हिन्दी अनुवाद :
अधिकारी आये और उसकी हथकड़ियाँ हटा दी। वे उसे जेल की कोठरी से मौत की ओर ले गये। वे पूर्णतः अविचलित थे और एक नायक की तरह चल रहे थे। अधिकारी भौंचक्के थे, जब वे फाँसी के तख्ते की ओर जाने लगे तो वे खुशी से चिल्लाये, “वन्दे मातरम्” और “भारत माता की जय”। अपनी पूरी आवाज से जोर से बोले, “ब्रिटिश साम्राज्य का नाश हो।” फिर उन्होंने शान्ति से प्रार्थना की और मृत्यु को , गले लगा लिया।

[12] As he was being executed, there was a strong guard around the prison. When he was dead, the officials brought out the dead body. Not only his parents but also hundreds of his countrymen were waiting outside in tears. The people of Gorakhpur decorated the body of the brave son of Bharat as befitted a hero and carried it in a procession. Flowers were showered on the body and the last rites were performed.

(एज ही वाज़ बीइंग एक्जीक्यूटेड, देअर वाज़ अ स्ट्रांग गार्ड अराउन्ड द प्रिज़न। व्हेन ही वाज़ डेड, द आफीशियल्स ब्राट आउट द डैड बॉडी। नाट ओनली हिज़ पेरेन्ट्स बट अल्सो हन्ड्रेड्स ऑफ हिज कन्ट्रीमैन वर वेटिंग आउट साइड इन टीअर्स। द पीपुल ऑफ गोरखपुर डेकोरेटेड द बॉडी ऑफ द ब्रेव सन ऑफ भारत एज बिफिटेड अ हीरो एण्ड केरिड इट इन अ प्रोसेशन। फ्लावर्स वर शॉवर्ड ऑन द बॉडी एण्ड द लास्ट राइट्स वर परफार्ड।)

हिन्दी अनुवाद :
जब उन्हें फाँसी पर चढ़ाया जा रहा था जेल के चारों ओर सुरक्षा के पुख्ता इन्तजाम थे। जब वह मृत हो गए, अधिकारीगण उनके मृत शरीर को बाहर लाये। न केवल उनके माता-पिता बल्कि सैकड़ों देशवासी जेल के बाहर अश्रुपूर्ण नेत्रों से उनका इन्तजार कर रहे थे। गोरखपुर निवासियों ने भारत के बहादुर पुत्र के शरीर को एक नायक की भाँति सजाकर जुलूस निकाला। उनके शरीर पर पुष्प वर्षा की गई और अन्तिम श्रद्धांजलि दी गई।

MP Board Class 9th English Solutions

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 10 Akbar and Birbal – Reunion

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 10 Akbar and Birbal – Reunion

Akbar and Birbal – Reunion Textual Exercises

Word Power

(1) Rearrange the letters to make meaningful words occurring in the text.
(अक्षरों को व्यवस्थित कर अर्थपूर्ण शब्द बनाइए।)
Answer:

  1. marciles – miracles
  2. sestscup – suspect
  3. flou – foul
  4. terchn – trench
  5. eegar – eager

(II) Write down antonyms of the following words:
(विलोम शब्द लिखो।)
Answer:

  1. wisdom – foolishness
  2. terrible – attractive
  3. ignorance – awareness
  4. suspect – believe
  5. best – worst

(III) Make new words from those given.
(नये शब्द बनाओ।)
Answer:
(a) manifest – fest, man, ant, nest, fit, mist, ten, net, set, fat, fan, sin, tin, sit, fin, mat, fine, mine, fast, main, mane, mate, met, safe, fame, tame, same, time, sane, tan.
(b) gravest – grave, rave, rest, get, rat, are, sat, set, vest, at, stare, stag, grate, tear, tag, great, ear, stear, save, gave.
(c) regret – great, tree, get.
(d) embrace – race, brace, beer, beam, cream. came, care, bare, ream, mare, bear.

(IV) Find out the words from the text which mean the following:
(पाठ में से निम्न अर्थ के शब्द ढूँढ़ो।)
Answer:

  1. to cut off someone’s head – behead
  2. follower – disciple
  3. pleasant to listen to – melodious
  4. very unpleasant – foul
  5. curious to know – eager
  6. shining – sparkling
  7. a long deep hole dog in the ground – trench
  8. very serious and important – gravest

MP Board Solutions

How Much Have I Understood?

(a) Choose the correct option
(सही विकल्प चुनो।)

(1) Akbar regretted-
(a) banishing Birbal from the court
(b) meeting Birbal in the court
(c) banishing Tansen from the palace
(d) seeing Tansen in the court.
Answer:
(a) banishing Birbal from the court

(2) The eyes of the saint were-
(a) sparkling
(b) dull
(c) full of tears
(d) dry.
Answer:
(a) sparkling

(3) In the opinion of the wise saint a best friend on the earth is –
(a) his own good sense
(b) his courage
(c) his physical power
(d) his smartness.
Answer:
(a) his own good sense

(4) Akbar was ……….. to meet Birbal again.
(a) happy
(b) sad
(c) angry
(d) disappointed.
Answer:
(a) happy.

(b) Answer the following questions in one or two sentences.
(निम्न प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
Who was Birbal?
(हू वॉज़ बीरबल?)
बीरबल कौन था?
Answer:
Birbal was court jester, friend and confidant of Akbar.
(बीरबल वॉज़ कोर्ट जेस्टर, फ्रेन्ड एण्ड कॉन्फिडेन्ट ऑफ अकबर।)
बीरबल अकबर का दरबारी विदूषक, मित्र व विश्वासपात्र था।

Question 2.
What was the question asked by Abdul Fazal?
(व्हॉट वॉज़ द क्वेश्चन आस्क्ड बाइ अब्दुल फज़ल?)
अब्दुल फज़ल ने क्या प्रश्न पूछा?
Answer:
Abdul Fazal asked what was the deepest trench in the world?
(अब्दुल फज़ल आस्कड व्हॉट वॉज़ द डीपेस्ट ट्रेन्च इन द वर्ल्ड?)
अब्दुल फज़ल ने पूछा कि संसार की सबसे गहरी खाई कौन-सी है?

Question 3.
Which question do you like the most?
(व्हिच क्वैश्चन डू यू लाइक द मोस्ट?)
तुम्हें कौन-सा प्रश्न सबसे ज्यादा पसन्द आया?
Answer:
The question that I liked is “Which is the topmost thing on the earth?”
(द क्वैश्चन दैट आइ लाइक्ड इज़- “व्हिच इज़ द टॉपमोस्ट थिंग ऑन द अर्थ?”)
प्रश्न जो मुझे पसन्द आया-“पृथ्वी पर सबसे ऊँची वस्तु कौन-सी है?”

Question 4.
Who was the wise saint?
(हू वॉज़ द वाईज सेन्ट?)
बुद्धिमान साधू कौन था?
Answer:
The wise saint was Birbal.
(द वाईज सेन्ट वॉज़ बीरबल।)
बुद्धिमान साधू बीरबल था।

MP Board Solutions

(c) Answer the following questions in three to four sentences.
(निम्न प्रश्नों का उत्तर तीन या चार वाक्यों में दीजिए।)

Question 1.
Why did Akbar order Birbal to leave the city of Agra?
(व्हाय डिड अकबर ऑर्डर बीरबल टू लीव द सिटी ऑफ आगरा?)
अकबर ने बीरबल को आगरा छोड़ने का आदेश क्यों दिया?
Answer:
One day Birbal happened to pass a harmless comment about Akbar’s sense of humour. But emperor Akbar was in a foul mood and took great offense to this remark. So he asked Birbal to leave Agra.
(वन डे बीरबल हैपन्ड टू पास अ हार्मलेस कमेन्ट अबाउट अकबर्स सेन्स ऑफ हूमर बट एम्परर अकबर वॉज़ इन अ फाउल मूड एण्ड टुक ग्रेट ऑफेन्स टू दिस रिमार्क। सो ही आस्कड् बीरबल टू लीव आगरा।)
एक दिन बीरबल ने अकबर के हास्य बोध पर एक टिप्पणी की। अकबर ने उसे अपना अपमान समझा व उसे आगरा छोड़ने का आदेश दिया।

Question 2.
Why did Akbar want to appoint a wise man in his court?
(व्हाय डिड अकबर वॉन्ट टू एपॉइन्ट अ वाइज मैन इन हिज़ कोर्ट?)
अकबर एक बुद्धिमान व्यक्ति को दरबार में नियुक्त क्यों करना चाहते थे?
Answer:
Akbar had banished Birbal from his court in anger. But after some time he repented his ded and began to miss him. So he wanted to appoint a wise man in his court to keep him company.
(अकबर हैड बैनिश्ड बीरबल फ्रॉम हिज़ कोर्ट इन एंगर। बट आफ्टर सम टाइम ही रिपेन्टिड हिज़ डीड एण्ड बिगैन टू मिस हिम। सो ही वॉन्टेड टू एपॉइन्ट अ वाईज़ मैन इन हिज़ कोर्ट ट्र कीप हिम कम्पनी।)
अकबर ने बीरबल को गुस्से में निष्कासित कर दिया था। मगर कुछ समय बाद उसे अफसोस होने लगा और उसे बीरबल की कमी खलने लगी। इसीलिए वह एक बुद्धिमान व्यक्ति को नियुक्त करना चाहता था जो उसकी कमी को पूरा कर सके।

Question 3.
What was the condition put forth before the saint?
(व्हॉट वॉज़ द कन्डीशन पुट फोर्थ बिफोर द सेन्ट?)
सन्त के सामने क्या शर्त रखी गई?
Answer:
The condition that was put forth before the saint was that all the ministers would ask him a question and if his answers were satisfactory he would be made a minister. But if he could not he would be beheaded.
(द कन्डीशन दैट वॉज़ पुट फोर्थ बिफोर द सेन्ट वॉज़ दैट ऑल द मिनिस्टर्स वुड आस्क हिम अक्वैश्चन एण्ड इफ हिज़ आन्सर्स वर सैटिस्फैक्ट्री ही वुड बी मेड अ मिनिस्टर। बट इफ ही कुड नॉट ही वुड बी बिहेडेड।)
सन्त के सामने यह शर्त रखी गई कि सभी मन्त्री उससे प्रश्न पूछेगे। सभी प्रश्नों का सन्तोषजनक उत्तर देने पर उसे मन्त्री बनाया जायेगा, यदि नहीं तो उसका सिर काट दिया जायेगा।

Question 4.
What was the questions asked by Tansen?
(व्हॉट वाज़ द क्वैश्चन्स आस्कड बाइ तानसेन?)
तानसेन ने कौन-सा प्रश्न पूछा?
Answer:
Tansen asked-What is undying in music? What is the sweatest and most melodious voice at night time?
(तानसेन आस्क्ड-व्हॉट इज अनडाइंग इन म्यूजिक? व्हॉट इज़ द स्वीटेस्ट एण्ड मोस्ट मेलोडिअस वॉइस एट नाईट टाइम?)
तानसेन ने पूछा-संगीत में अमर क्या है? रात्रि में सबसे मधुर ध्वनि कौन-सी होती है?

Question 5.
Which miracle was performed by the wise saint?
(व्हिच मिरेकल वॉज़ परफॉर्ड बाइ द वाईज़ सेन्ट?)
बुद्धिमान सन्त ने क्या चमत्कार किया?
Answer:
The miracle performed by the wise saint was that he presented Birbal before the emperor that is, the person he wanted to meet.
(द मिरैकल परफॉर्ड बाइ द वाईज़ सेन्ट वॉज़ दैट ही प्रेजेन्टिड बीरबल बिफोर द एम्परर दैट इज़, द पर्सन ही वॉन्टेड टू मीट।)
चमत्कार यह था कि सन्त ने बीरबल को सम्राट के समक्ष पेश कर दिया जिससे वे मिलना चाहते थे।

Language Practice

Rewrite the following as reported questions
(निम्न प्रश्नों को रिपोर्टेड प्रश्न के रूप में लिखिए।)

Question 1.
He said to me, “Will you take part in the debate?”
Answer:
He asked me if I would take part in the debate.

Question 2.
Leela said to Dinesh, “Can I borrow your book for a day?”
Answer:
Leela asked Dinesh if she could borrow his book for a day.

Question 3.
He asked me, “When do you intend to go to Mumbai?”
Answer:
He asked me when I intended to go to Mumbai.

Question 4.
The guest asked me, “When did you purchase the hosue?”
Answer:
The guest asked me when I purchased the house.

MP Board Solutions

Rewrite the given sentences in indirect speech.
(अप्रत्यक्ष कथन लिखो।)

Question 1.
The doctor said to the patient, “Don’t eat too much sweet.”
Answer:
The doctor told the patient not to eat too much sweet.

Question 2.
The teacher said to the students, “Work word if you want to score good marks”.
Answer:
The teacher told the students to work hard if they wanted to score good marks.

Question 3.
The stranger said to me, “Please give me a lift in your car.”
Answer:
The stranger requested me to give him a lift in my car.

Question 4.
The officer said to his soldiers, “Capture that hill at any cost.”
Answer:
The officer ordered his soldiers to capture the hill at any cost.

Write the given interview in reported speech.
(साक्षात्कार को रिपोर्टेड कथन में लिखो।)
Answer:

  1. The interviewer asked Devanshi what her qualifications were.
  2. She replied that she was M.A., B.Ed.
  3. The interviewer asked her which school had she taught in.
  4. She replied that she had taught in Model School and Kendriya Vidyalaya.
  5. The interviewer, asked her why she wanted to leave a secure job of Kendriya Vidyalaya.
  6. She replied that it was a transferable job and she wanted to settle there with her family.
  7. The interviewer asked her what her present salary was.
  8. She replied that she was getting Rs. 7,000 per month.

Convert the given queries into indirect speech.
(दिए गए प्रश्नों को अप्रत्यक्ष कथन में लिखो।)
Answer:

  1. She wants to know what the most interesting sights are.
  2. He wants to know if we’ve got a town map.
  3. He wants to know how could he find out about the area.
  4. He wants to know where they can stay.
  5. She wants to know what shows are on there.

Listening Time

Listen to your teacher carefully and tick the number of words which do not rhyme with others.
(उन शब्दों को चिह्नित करो जो दूसरे शब्दों से तुकान्त न हों।)
Answer:
Students should do themselves with the help of their teacher.
(छात्र शिक्षक की मदद से स्वयं करें।)

Speaking Time

Imagine that you are a coach who coaches some players. You hear about Atul’s behaviour. You call him and advise him about the nasty way in which he treated Mukul. Complete this dialogue between the two.
(अतुल ब मुकुल के बीच वार्तालाप पूरा करो।)
Answer:
Coach : I have heard that you insulted Mukul.
Atul : Where did you hear about this, sir?
Coach : Is that true or not?
Atul : Yes, sir, it’s true.
Coach : You should not hurt anybody.
Atul : I did not mean to hurt him. I just felt that a sixth standard boy did not deserve a place in the team.
Coach: But you have done a wrong deed and you should realize it.
Atul : I realize I was wrong.
Coach : There should be team spirit in sports.
Atul : Yes, sir I have understood the importance of team spirit in sports.

MP Board Solutions

Writing Time

Write a letter to your friend telling him/her how Akbar and Birbal were reunited.
(अपने मित्र को अकबर व बीरबल का पुनर्मिलन कैसे हुआ यह बताते हुए पत्र लिखो।)
Answer:
52, Ravindra Nagar
Ujjain (M. P.)
12 July 20….

Dear Sanjay,

Hope you are fine there, I am also fine here. Today I am writing to you to tell you about a very interesting story of Akbar and Birbal that I have read in my text book.

The story was about the reunion of Akbar and Birbal. Once Akbar got annoyed with Birbal as he gave a harmless remark on Akbar’s sense of humour. But Akbar took it seriously and banished Birbal from his kingdom. But after a few days he began to miss him and regret his decision. Then one day a wise saint came to his court. Since, Akbar was missing a wise person in his court he thought to keep the saint in his court if his wisdom is proved.

He asks the saint that his courtiers would ask him certain questions if he is able to answer them properly he would keep him as his courtier, otherwise he would be beheaded. The saint answers all the questions wisely. Then Akbar asks him if he can do some magic. The saint said that he can present any person before him. Akbar asks him to present Birbal. The saint removes his beard and moustaches as he himself was Birbal. Akbar becomes very happy and in this way they get reunited.

I hope you had liked the story as I also liked it very much. Now I am stopping to write. More in next. Rest is fine.

Yours truely
Mahesh

Things to do

(1) Read any other play story on Akbar and Birbal, then enact it in your classroom with your classmates.
(अकबर और बीरबल का कोई और नाट्य पढ़ो व उसको अपनी कक्षा में अभिनीत करो।)
Answer:
Students can do themselves.
(छात्र स्वयं करें।)

Akbar and Birbal – Reunion Difficult Word-Meanings

MP Board Class 9th General English The Spring Blossom Solutions Chapter 10 Akbar and Birbal - Reunion 1

MP Board Solutions

Akbar and Birbal – Reunion Summary, Pronunciation & Translation

[1] One day, when Akbar and Birbal were in discussion, Birbal happened to pass a harmless comment about Akbar’s sense of humour. But Emperor Akbar was in a foul mood and took great offense to this remark. He asked Birbal, his court jester, friend and confidant to not only leave the palace but also to leave the walls of the city of Agra. Birbal was terribly hurt at being banished.

(वन डे, व्हेन अकबर एण्ड बीरबल वर इन डिस्कशन, बीरबल, हैपन्ड टु पास ए हार्मलेस कमेन्ट अबाउट अकबर्स सेन्स ऑफ ह्यूमर बट एम्परर अकबर वाज़ इन अ फाउल मूड एण्ड टुक ग्रेट आफेन्स टु दिस रिमार्क। ही आस्क्ड बीरबल, हिज़ कोर्ट जेस्टर, फ्रेंड एण्ड कान्फिडेन्ट टु नाट ओनली लीव द पेलेस बट अल्सो टु लीव द वाल्स ऑफ द सिटी ऑफ आगरा। बीरबल वाज़ टेरिबली हर्ट एट बीइंग बेनिश्ड।)

हिन्दी अनुवाद :
एक दिन जब अकबर व बीरबल बातचीत कर रहे थे तो बीरबल ने उनकी विनोदप्रियता पर एक हानिरहित टिप्पणी कर दी। किन्तु सम्राट अकबर जरा बुरे मूड में थे और उनकी टिप्पणी का बहुत बुरा माना। उन्होंने बीरबल, उनके दरबार के विदूषक, परम मित्र एवं विश्वास पात्र को न केवल राजमहल से बल्कि आगरा शहर की सीमा से निकल जाने को कहा। बीरबल उनके निकाले जाने पर बहुत ही दुःखी हुए।

[2] A couple of days later. Akbar began to miss his best friend. He regretted his earlier decision of banishing him from the courts. He just could not do without Birbal and so sent out a search party to look for him. But Birbal had left town without lefting anybody know of his destination. The soldiers searched high and low but were unable to find him anywhere.

(अ. कपल ऑफ डेज़ लेटर, अकबर विगेन टु मिस हिज बेस्ट फ्रेंड। ही रिग्रेटेड हिज अलियर डिसिजन ऑफ बेनिशिंग हिम फ्राम द कोर्टस। ही जस्ट कुड नाट डू विदाउट बीरबल एण्ड सो सेन्ट आउट अ सर्च पार्टी टु लुक फोर हिम। बट बीरबल हैड लेफ्ट टाउन विदाउट लेफ्टिंग एनीबडी नो ऑफ हिज़ डेस्टिनेशन। द सोल्जर्स सर्ल्ड हाय एण्ड लो बट वर अनेबल टु फाइन्ड हिम एनीव्हेयर।)

हिन्दी अनुवाद :
दो दिन बाद ही अकबर को अपने परम मित्र की याद आने लगी। अकबर को उसे दरबार से निकाले जाने के अपने निर्णय पर पछतावा होने लगा। वह बिना बीरबल के रह ही नहीं सकता और इसीलिए उसने उसे ढूँढ़ने के लिये एक खोजी पार्टी भेजी। किन्तु बीरबल किसी को अपना पता बताये बिना शहर छोड़कर जा चुका था। सिपाहियों ने उसे यहाँ वहाँ सब जगह ढूँढ़ा पर वे उसे कहीं भी मिले नहीं।

[3] Then, one day a wise saint came to visit the palace accompanied by two of his disciples. The disciples claimed that their teacher was the wisest man to walk the earth. Since Akbar was missing Birbal terribly, he thought it would be a good idea to have a wise man that could keep him company. But he decided that he would first test the holy man’s wisdom.

The saint had bright sparkling eyes, a thick beard and long hair. The next day, then they came to visit the court.Akbar informed the holy man that, since he was. the wisest man on the earth, he would like to test him.

(देन वन डे अ वाइज़ सेण्ट केम टु विजिट द पेलेस एकम्पनीड बाय टू ऑफ हिज डिसाइपल्स। द डिसाइपल्स क्लेम्ड दैट देयर टीचर वाज़ द वाइजेस्ट मैन टु वाक द अर्थ सिन्स अकबर वाज़ मिसिंग बीरबल टेरिबली, ही थाट इट वुड बी अ गुड आइडिया टु हैव अ वाइज़मैन दैट कुड कीप हिम कम्पनी। बट ही डिसाइडेड दैट ही वुड फर्स्ट टेस्ट द होलीमेन्स विसडम।

द सेण्ट हैड ब्राइट स्पार्कलिंग आइज़, अथिक बीअर्ड एण्ड लांग हेअर द नेक्स्ट डे व्हेन दे केम टु विजिट द कोर्ट। अकबर इन्फार्ड द होली मैन दैट, सिन्स ही वाज़ द वाइजेस्टमैन आन अर्थ, ही वुड लाइक टू टेस्ट हिम।)

हिन्दी अनुवाद :
फिर, एक दिन एक बुद्धिमान सन्त अपने दो शिष्यों के साथ राजमहल की सैर करने आया। शिष्यों ने दावा किया कि उनके गुरु दुनिया के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति हैं। चूंकि अकबर बुरी तरह से बीरबल की गैर हाजिरी से परेशान था, उसने सोचा कि ऐसे बुद्धिमान व्यक्ति को पाना एक अच्छा काम होगा, जो उसे संगति दे। किन्तु पहले उसे उस साधु की बुद्धिमत्ता की परीक्षा लेनी होगी।

साधु की चमकीली आँखें, घनी दाढ़ी व लम्बे बाल थे। अगले दिन जब वे दरबार में आये तो अकबर ने उस साधु को सूचित किया कि चूंकि वह धरती पर सबसे बुद्धिमान व्यक्ति है। वह उनकी परीक्षा लेना चाहता है।

MP Board Solutions

[4] All his ministers would put forward questions and if his answers were satisfactory he would be made a minister. But if he could not, then he would be beheaded. The saint answered that he had never claimed to be the wisest man on the earth, even though other people seemed to think so, nor was he eager to display his cleverness, but as he enjoyed answering questions, he was ready for the test.

(ऑल हिज़ मिनिस्टर वुड पुट फारवर्ड कवेश्चन्स एण्ड इफ हिज़ आन्सर्स वर सेटिसफेक्टरी ही वुड बी मेड अ मिनिस्टर। बट इफ ही कुड नाट, देन ही वुड बी बिहेडेड। द सेण्ट आन्सर्स दैट ही हेड नेवर क्लेम्ड टु बी द वाइज़ेस्ट मैन ऑन अर्थ, इवन दो आदर पीपुल सीम्ड टु थिंक सो, नॉर बाज़ ही ईगर टु डिस्प्ले हिज़ क्लेवरनैस, बट एज़ ही इन्जॉइड आन्सरिंग क्वेश्चन्स, ही वाज रेडी फोर द टेस्ट।)

हिन्दी अनुवाद :
उसके सभी मंत्री उससे प्रश्न पूछेगे और यदि, उसके उत्तर सन्तोषजनक हुए तो उसे एक मंत्री बना दिया जायेगा। परन्तु यदि वह ऐसा नहीं कर सका तो उसका सिर कलम कर दिया जाएगा। सन्त ने उत्तर दिया कि वह इस धरती पर सबसे बुद्धिमान होने का दावा नहीं करता, ये अलग बात है कि दूसरे व्यक्ति ऐसा सोचते होंगे, न ही वह अपनी चतुराई का प्रदर्शन करना चाहता था पर चूँकि उसे प्रश्नों के उत्तर देने में मजा आता है, इसलिये वह इस परीक्षा के लिए तैयार है।

[5] One of the ministers, Raja Todarmal, began the round of questioning.
He asked : Who is man’s best friend on the earth?
The saint replied : His own good sense.
Fazal asked : Which is the topmost thing on the earth?
The saint answered : Knowledge,
Abdul Fazal : Which is the deepest trench in the world?
The saint answered : A woman’s heart.
Another courtier questioned : What is that which can not be regained after it is lost?
The saint answered : Life.
The court musician Tansen asked : What is undying in music?
The saint replied : Notes.
And then he asked : Which is the sweetest and most melodious voice at night time?
The saint answered : The voice that prays to God.

(वन ऑफ द मिनिस्टर्स, राजा टोडरमल बिगेन द राउण्ड ऑफ क्वेश्चनिंग
ही आस्क्ड : हू इज मेन्स बेस्ट फ्रैंड ऑन अर्थ?
द सेन्ट रिप्लाईड : हिज़ ओन गुड सेन्स। फैजी
आस्कड : विच इज़ द टापमोस्ट थिंग ऑन द अर्थ?
द सेंट आनई : नॉलेज।।
अब्दुल फैजल : विच इज़ द डीपेस्ट ट्रेन्च इन द वर्ल्ड?
द सेंट आन्सर्ड : अ वुमेन्स हार्ट।
अनादर कोर्टियर क्वेश्चन्ड : व्हॉट इज़ दैट विच केन नाट रिगेन्डआफ्टर इट इज़ लॉस्ट?
सेंट आन्सर्ड : लाइफ।
द कोर्ट म्यूजिशियन तानसेन आस्कड : व्हाट इज़ अन डाईंग इन म्यूजिक?
द सेंट रिप्लाईड : नोट्स।
एण्ड देन ही आस्क्ड : विच इज़ द स्वीटेस्ट एण्ड मोस्ट मेलोडियस वाईस एट नाइट टाइम।
द सेंट आन्सर्ड : दे वाईस दैट प्रेज टू गॉड।)

हिन्दी अनुवाद :
मंत्रियों में से एक राजा टोडरमल ने प्रश्नों को पूछना शुरू किया
उन्होंने पूछा : धरती पर मनुष्य का सबसे अच्छा मित्र कौन है?
सन्त ने उत्तर दिया : उसकी खुद की समझदारी। फैजी ने पूछा-दुनिया में सबसे ऊँची वस्तु क्या है?
सन्त का उत्तर था : ज्ञान।।
अब्दुल फजल : दुनिया में सबसे गहरी खाई क्या है?
सन्त ने उत्तर दिया : किसी स्त्री का हृदय।
दूसरे दरबारी ने पूछा : कौन सी ऐसी वस्तु है जो खो जाने के बाद नहीं मिलती?
सन्त ने उत्तर दिया : जीवन।
दरबारी संगीतज्ञ तानसेन ने पूछा : संगीत में कौन सी चीज अमर है?
सन्त ने कहा : सुर (आवाज)
फिर उसने पूछा : रात्रि के समय अत्यन्त मधुर व संगीतमय आवाज कौन-सी है?
सन्त ने जवाब दिया-वह आवाज़ जो ईश्वर की प्रार्थना करती है।

[6] Maharaj Man Singh of Jaipur, a guest at the palace, asked : What travels more speedily than wind?
The saint replied : It is man’s thought.
He then asked : Which is the sweetest thing on the earth?
The saint said : It is a baby’s smile.
The Emperor Akbar and all his courtiers were very impressed with his answers but wanted to test the saint himself.
Firstly, he asked : What are the necessary requirements to rule over a kingdom?
The saint answered : Cleverness.
Then he asked : What is the gravest enemy of a king?
The saint replied : It is selfishness

(महाराज मानसिंह ऑफ जयपुर, अ गेस्ट एट द पैलेस आस्कड-व्हाट ट्रेवेल्स मोर. स्पीडिली देन विन्ड?
द सेण्ट रिप्लाइड : इट इज मेन्स थॉट। ही देन आस्कड-व्हिच इज द स्वीटेस्ट थिंग ऑन अर्थ?
द सेण्ट सेड : इट इज़ अ बेबीज स्माइल।
द एम्परर अकबर एण्ड ऑल हिज कोर्टियर्स वर वेरी इम्प्रेस्ड विद हिज़ आन्सर्स बट वान्टेड टु टेस्ट द सेंट हिमसेल्फ।
‘फर्स्टली, ही आस्क्ड : व्हाट आर नेसेसरी रिक्वायरमेण्ट टु रूल ओवर अ किंगडम?
द सेंट आन्सर्ड : क्लेवरनेस।
देन ही आस्कड : व्हाट इज द ग्रेवेस्ट एनिमी ऑफ ए किंग?
द सेंट रिप्लाइड : इट इज़ सेलिफिशनेस।)

हिन्दी अनुवाद :
जयपुर के महाराज मानसिंह, जो कि राजमहल में एक मेहमान थे, ने पूछ-हवा से तेज कौन सी चीज़ चलती है?
सन्त ने उत्तर दिया : मनुष्य का मन। उन्होंने फिर पूछा-धरती पर सबसे मधुर चीज कौन सी है?
सन्त ने उत्तर दिया : एक शिशु (बालक) की मुस्कान।
सम्राट अकबर और उनके दरबारी सन्त के उत्तरों से बहुत प्रभावित हुए। पर अकबर सन्त की खुद परीक्षा लेना चाहते थे।
सबसे पहले उन्होंने पूछा : एक राज्य पर शासन करने के लिए राजा के लिए कौन-सी आवश्यक चीजें हैं?
सन्त ने उत्तर दिया : चतुराई।
फिर उन्होंने पूछा : किसी राजा का भयंकर शत्रु कौन है?
सन्त ने उत्तर दिया : स्वार्थ।

MP Board Solutions

[7] The emperor was so pleased that he offered the saint a seat of honour and asked him whether he could perform any miracles. The saint said that he could produce any person the king wished to meet. Akbar was thrilled and immediately asked to meet .his minister and best friend Birbal.

(द एम्परर वाज़ सो प्लीज्ड दैट ही आफर्ड द सेन्ट अ सीट ऑफ हॉनर एण्ड आस्कड हिम वेदर ही कुड परफार्म एनी मिरेकल्स। द सेन्ट सैड दैट ही कुड प्रोड्यूस एनी पर्सन द किंग विश्ड टु मीट। अकबर वाज़ थ्रिल्ड एण्ड इमीजिएटली आस्कड टु मीट द मिनिस्टर एण्ड बेस्ट फ्रेन्ड बीरबल।)

हिन्दी अनुवाद :
सम्राट इतना प्रसन्न हुआ कि उसने सन्त को अपने दरबार में एक सम्मानीय पद देने की पेशकश की और उससे पूछा कि क्या सन्त कोई चमत्कार कर सकता है? सन्त ने कहा कि वह ऐसे किसी व्यक्ति को पेश कर सकता है जिससे राजा मिलने की इच्छा रखता हो। अकबर रोमांचित हुआ और उसने अपने परम मित्र बीरबल से मिलने की इच्छा जताई।

[8] The saint simply pulled off his artificial beard urprise of the other courtiers. Akbar was stunned and could not believe his eyes. He stepped down to embrace the saint because he was none other than Birbal.

Akbar had tears in his eyes as he told Birbal that he had suspected it to be him and had therefore asked him whether he could perform miralces. He showered Birbal with many valuable gifts to show him how happy he was at his return.

(द सेण्ट सिम्पली पुल्ड ऑफ हिज़ आर्टिफिशियल बीयर्ड एण्ड हेयर टु द सरप्राइज़ ऑफ द आदर कोर्टियर्स। अकबर वाज़ स्टन्ड एण्ड कुड नॉट विलीव हिज़ आईज। ही स्टेप्ड डाउन टु इम्ब्रेस द सेंट बिकाज़ ही वाज़ नन आदर देन बीरबल।

अकबर हैड टीअर्स इन हिज़ आईज़ एज़ ही टोल्ड बीरबल दैट ही हैंड सस्पेक्टेड इट टु बी हिम एण्ड हैड देअरफोर आस्कड हिम वेदर ही कुड परफार्म मिरेकल्स। ही शावर्ड बीरबल विद मेनी वेल्युएबल गिफ्ट्स टु शो हिज हाउ हैप्पी ही वाज़ एट हिज़ रिटर्न।)

हिन्दी अनुवाद :
सन्त ने सहजता से अपनी नकली दाढ़ी एवं बाल खोल लिये। सारे दरबारी अचम्भित थे। अकबर उसे देखकर स्तब्ध था और अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हो रहा था। सिंहासन से नीचे उतरकर उसने सन्त को गले से लगा लिया क्योंकि वह सन्त और कोई नहीं बल्कि बीरबल था।

अकबर की आँखों में यह कहते हुए आँसू आ गये कि वह उसके प्रति शंकालु था और इसलिए उसने कहा कि क्या वह कोई चमत्कार कर सकता है। उसने बीरबल पर कई कीमती उपहारों की बौछार कर दी और यह बताया कि उसकी वापसी से वह कितना खुश था।

MP Board Class 9th English Solutions