MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4

In this article, we share MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 Pdf, These solutions are solved by subject experts from the latest MP Board books.

MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4

प्रश्न 1.
निर्धारित कीजिए कि क्या निम्नलिखित प्रकार से परिभाषित प्रत्येक संक्रिया से एक द्विआधारी संक्रिया प्राप्त होती है या नहीं। उस दशा में जब एक द्विआधारी संक्रिया नहीं है, औचित्य भी बतलाइए।
(i) Z+ में, a * b = a – b द्वारा परिभाषित संक्रिया
(ii) Z+ में, a* b = ab द्वारा परिभाषित संक्रिया
(iii) R में, संक्रिया *, a* b = ab2 द्वारा परिभाषित
(iv) Z+ में, संक्रिया *, a* b = |a – b| द्वारा परिभाषित
(v) Z+ में, संक्रिया *, a* b = a द्वारा परिभाषित
हल:
(i) Z+ में, a* b = a – b द्वारा परिभाषित संक्रिया है
यदि a > b, a * b = a – b ϵ Z+
परन्तु यदि a < b, a * b = a – b < 0, Z+ में नहीं है।
अत:* संक्रिया द्विआधारी संक्रिया नहीं है।

(ii) Z+ पर * संक्रिया, a * b = ab द्वारा परिभाषित है।
यदि a, b ϵ Z+ ⇒ a और b दोनों धनात्मक हैं।
a * b = ab भी धनात्मक है।
ab ϵ Z+
अतः यह संक्रिया द्विआधारी है।

(iii) R पर * संक्रिया a* b = ab+ द्वारा परिभाषित है।
यदि a, b ϵ R, ab2 भी R* में है।
अतः यह संक्रिया द्विआधारी है।

(iv) Z+ पर * संक्रिया a * b = |a – b| द्वारा परिभाषित है।
यदि a, b ϵ Z+ , |a – b | ϵ Z+
अंत: यह संक्रिया द्विआधारी है।

(v) Z+ पर * संक्रिया a* b = a द्वारा परिभाषित है।
यदि a, b ϵ Z+, ∴ a * b = a ϵ Z+
अत: यह संक्रिया द्विआधारी है।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित परिभाषित प्रत्येक द्विआधारी संक्रिया के लिए निर्धारित कीजिए कि क्या द्वि आधारी क्रमविनिमेय है तथा क्या साहचर्य है।
(i) Z में, a * b = a – b द्वारा परिभाषित
(ii) Q में, a * b = ab + 1 द्वारा परिभाषित
(iii) Q में, a * b = \(\frac{a b}{2}\) द्वारा परिभाषित
(iv) Z+ में, a * b = 2ab द्वारा परिभाषित
(v) Z+ में, a* b = ab द्वारा परिभाषित
(vi) R – { – 1} में, a* b = \(\frac{a}{b+1}\) द्वारा परिभाषित
हल:
(i) Z पर संक्रिया a* b = a – b द्वारा परिभाषित है।
(a) यदि a * b = a – b और b * a = b – a
परन्तु a – b ≠ b – a ⇒ a* b + b * a
∴ यह संक्रिया क्रमविनिमेय नहीं है।

(b) यदि a * (b * c) = a * (b – c) = a * (b – c)
a – (b – c) = a – b + c
(a * b) * c = (a – b) * c = a – b – c
स्पष्ट है कि a * (b * c) (a * b) * c
∴ संक्रिया साहचर्य नहीं है। अतः संक्रिया न तो क्रमविनिमेय है और न ही साहचर्य है।

(ii) Q पर * संक्रिया, a * b = ab + 1 से परिभाषित है।
(a) a * b = ab + 1, b * a = ba + 1 = ab + 1
∴ a * b = b * a
∴ यह संक्रिया क्रमविनिमेय द्विआधारी है।

(b) यदि a * (b * c) = a * (bc + 1) = a (bc + 1) + 1
= abc + a + 1
(a * b) * c= (ab + 1) * c =(ab + 1)c + 1
= abc + c + 1
∴ (a * b) * c ≠ a + (b + c)
∴ यह संक्रिया साहचर्य द्विआधारी संक्रिया नहीं है। अतः यह संक्रिया क्रमविनिमेय है परन्तु साहचर्य नहीं है।

(iii) Q पर * संक्रिया, a * b = \(\frac{a b}{2}\) द्वारा परिभाषित है।
MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 img 1
∴ यह संक्रिया साहचर्य द्विआधारी संक्रिया है।
अतः यह संक्रिया क्रमविनिमेय और साहचर्य दोनों हैं।

(iv) Z+ पर * संक्रिया a* b = 2ab से परिभाषित है।
(a) ∴ a * b = 2ab, b * a = 2ba = 2ab
⇒ a * b = b * a
अतः संक्रिया क्रमविनिमेय संक्रिया है।

(b) a * (b * c) = a * 2bc = aa.2bc
(a * b) * c = 2ab * c = 22ab.c
∴ a * (b * c) ≠ * (a * b) *c
∴ यह संक्रिया साहचर्य द्विआधारी संक्रिया नहीं है। अतः यह संक्रिया क्रमविनिमेय है परन्तु साहचर्य नहीं है।

(v) Z+ पर * संक्रिया, a * b = ab से परिभाषित है।
(a) a * b = ab, b * a = ba
∴ a * b + b* a
अत: यह संक्रिया क्रमविनिमेय नहीं है।
(b) a * (b * c)=a * bc = a(bc)
(a * b) * c = ad * c = a(b)c = abc
∴ (a * b) * c * a * (b * c)
∴ यह संक्रिया साहचर्य द्विआधारी संक्रिया नहीं है।
अत: यह संक्रिया न तो क्रमविनिमेय है और न ही साहचर्य

(vi) R – {-1} पर * संक्रिया, a * b = \(\frac{a}{b+1}\) द्वारा परिभाषित है।
MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 img 6
∴ यह संक्रिया साहचर्य द्विआधारी संक्रिया नहीं है।
अत: यह संक्रिया क्रमविनिमेय है और न ही साहचर्य है।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
समुच्चय {1, 2, 3, 4,5} में a ^ b= निम्नतम {a, b} द्वारा परिभाषित द्विआधारी संक्रिया पर विचार कीजिए। संक्रिया के लिए संक्रिया सारणी लिखिए।
हल:
समुच्चय {1, 2, 3, 4, 5} पर संक्रिया ^ सारणी निम्न है-
MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 img 5

प्रश्न 4.
समुच्चय {1, 2, 3, 4, 5} में, निम्नलिखित संक्रिया सारणी (सारणी 1.2) द्वारा परिभाषित द्विआधारी संक्रिया पर विचार कीजिए तथा
(i) (2 * 3) * 4 तथा 2 * (3 * 4) का परिकलन कीजिए।
(ii) क्या * क्रम विनिमेय है?
(iii) (2 * 3) * (4 * 5) का परिकलन कीजिए। (संकेत : निम्न सारणी का प्रयोग कीजिए।)
MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 img 4
हल:
(i) दी गई सारणी से
(2 * 3) * 4 = 1 * 4 = 1
तथा 2 * (3 * 4) = 2 * 1 = 1

(ii) माना a, b ϵ {1, 2, 3, 4, 5}
∴ सारणी से, a * a = a (a ≠ b) तथा a, b विषम संख्या है
a * b = b * a = 1
2 * 4 = 4 * 2 = 2 जहाँ a तथा b सम संख्या तथा a ≠ b
अतः a * b = b * a
अतः द्विआधारी संक्रिया क्रम विनिमेय है।

(iii) सारणी से,
(2 * 3) * (4 * 5) = 1 *1
= 1

प्रश्न 5.
मान लीजिए कि समुच्चय {1, 2, 3, 4, 5} में एक द्विआधारी संक्रिया *’, a *’ b = a तथा b का HCF द्वारा परिभाषित है। क्या संक्रिया *’ उपर्युक्त प्रश्न 4 में परिभाषित संक्रिया * के समान है? अपने उत्तर का औचित्य भी बतलाइए।
हल:
यहाँ समुच्चय {1, 2, 3, 4, 5} संक्रिया a*’ b H.C.F. a, b द्वारा परिभाषित है।
इस संक्रिया की निम्न सारणी दी गयी है-
MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 img 3
प्रश्न 4 में दी गई सारणी और यह सारणी समान है।
अतः संक्रिया *’ तथा * समान है।

प्रश्न 6.
मान लीजिए कि N में एक द्विआधारी संक्रिया, a * b = a तथा b का LCM द्वारा परिभाषित है। निम्नलिखित ज्ञात कीजिए:
(i) 5 * 7, 20 * 16
(ii) क्या संक्रिय * क्रम विनिमेय है?
(iii) क्या * साहचार्य है?
(iv) N में * का तत्समक अवयव ज्ञात कीजिए।
(v) N के कौन-से अवयव * संक्रिया के लिए व्युत्क्रमणीय है?
हल:
द्विआधारी संक्रिया (Binary Operations) * इस प्रकार परिभाषित है कि
a * b = a तथा b का L.C.M.
(i) 5 * 7 =5 तथा 7 का L.C.M.
= 35
तथा 20 * 16 = 20 तथा 16 का L.C.M.
= 80

(ii) a * b = a तथा b का L.C.M.
= b तथा a का L.C.M
a * b = b * a
अतः द्विआधारी संक्रिया क्रम विनिमेय है।

(iii) a * (b * c) = a * (b तथा c का L.C.M.)
= a तथा (b तथा c का L.C.M.) का L.C.M.
= a, b तथा c का L.C.M.
इसी प्रकार
(a * b) * c =(a तथा b का L.C.M.) * c
=a, b, c of L.C.M.
⇒ a *(b * c) =(a * b) * c
अतः द्विआधारी संक्रिया * साहचर्य है।

(iv) N में * संक्रिया की तत्समक अवयव 1 है।
∵ 1 * a = a * 1 = a
= 1 तथा a का L.C.M.

(v) माना * : N × N → N इस प्रकार परिभाषित है कि a * b = a तथा b का L.C.M.
∴ a = 1, b = 1 के लिए,
a * b = 1 = b * a
अत: 1a* संक्रिया के लिए व्युत्क्रमणीय है।

MP Board Solutions

The step by step instructions on how to find the least common multiple of 12 and 16.

प्रश्न 7.
क्या समुच्चय {1, 2, 3, 4, 5} में a * b = a तथा b का LCM द्वारा परिभाषित * एक द्विआधारी संक्रिया है? अपने उत्तर का औचित्य भी बतलाइए।
हल:
दिया गया समुच्चय = {1, 2, 3, 4, 5} द्विआधारी संक्रिया द्वारा परिभाषित है कि a * b = a और b का LCM 2 * 6 = 6 जो कि समुच्चय {1, 2, 3, 4, 5} में नहीं है इसलिए * एक द्विआधारी संक्रिया है।

प्रश्न 8.
मान लीजिए कि N में a * b = a तथा b का HCF द्वारा परिभाषित एक द्विआधारी संक्रिया है। क्या * क्रमविनिमेय है? क्या * साहचर्य है? क्या N में इस द्विआधारी संक्रिया के तत्समक का अस्तित्व है?
हल:
यहाँ N, प्राकृत संख्याओं का समुच्चय है।
द्विआधारी संक्रिया a * b = a, b का H.C.F. द्वारा परिभाषित
(i) a, b का H.C.F. = b, a के H.C.F.
a * b = b * a
अतः संक्रिया क्रमविनिमेय है।

(ii) a * (b * c)= a * (b, c का H.C.F.)
=a व b, c का H.C.F.
= a, b, c का H.C.F.
(a * b) * c = (a, b का H.C.F.) * c
= a, b व c का H.C.F.
= a, b, c का H.C.F.
a * (b * c)= (a * b) * c (∵ संक्रिया साहचर्य है)

(iii) 1 * a = a * 1 = 1 ≠ a
अतः तत्समक अवयव का अस्तित्व नहीं है।

प्रश्न 9.
मान लीजिए कि परिमेय संख्याओं के समुच्चय में निम्नलिखित प्रकार से परिभाषित * एक द्विआधारी संक्रिया है:
(i) a * b = a – b
(ii) a * b = a2 + b2
(iii) a * b = a + ab
(iv) a * b = (a – b)2
(v) a * b = \(\frac{a b}{4}\)
(vi) a * b = ab2
ज्ञात कीजिए कि इनमें से कौन-सी संक्रियाएँ क्रमविनिमेय हैं और कौन-सी साहचर्य हैं।
हल:
यहाँ परिमेय संख्याओं का समुच्चय Q दिया है।
(i) a * b = ab – b, द्विआधारी संक्रिया है।
(a) b * a = b – a
∴ a – b ≠ b – a ⇒ a * b ≠ b * a
अत: यह संक्रिया क्रमविनिमेय नहीं है।
(b) a * (b * c) = a * (b – c) = a – (b – c) = a – b + c
(a * b) * c = (a-b)* c = a – b -c
∴ a – b + c ≠ a – b – c = a * (b * c) * (a * b) * c
अतः यह संक्रिया साहचर्य नहीं है।

(ii) (a) a * b = a2 + b2
∴ b * a = b2 + a2 = a2 + b2
⇒ a * b = b * a
अत: यह संक्रिया क्रमविनिमेय है।
(b) a * (b * c) = a * (b2 + c2) = a2 + (b2 + c2)2
(a + b) * c = (a2 + b2) * c = (a2 + b2)2 + c2
⇒ a * (b * c) ≠ (a * b) * c.
अतः यह * संक्रिया साहचर्य नहीं है।

(iii) संक्रिया a * b = a + ab द्वारा परिभाषित है।
(a) a * b = a (1 + b), b * a = b + ba = b (1 + a)
∴ a * b + b * a
अतः यह * संक्रिया क्रमविनिमेय नहीं है।
(a) a * (b * c) = a + (b + bc)= a + a (b + bc)
= a + ab + abc
(a * b) * c = (a + ab) * c = (a + ab) + (a + ab)c
= a + ab + ac + abc
∴ a * (b * c) (ab) * c
अतः यह * संक्रिया साहचर्य नहीं है।

(iv) दिया है : a * b = (a – b)2
(a) a * b = (a – b)2, b * a = (b – a)2 = (a – b)2
∴ a * b = b * a
अतः यह * संक्रिया क्रमविनिमेय है।
(b) a * (b * c) = a * (b – c) = [a – (b – c)2]2
(a * b) * c = (a – b)2 * c = [(a – b)2 – c]2
∴ a * (b * c) ≠ (a * b) * c
अतः यह * संक्रिया साहचर्य नहीं है।

(v) a * b = \(\frac{a b}{4}\)
MP Board Class 12th Maths Book Solutions Chapter 1 संबंध एवं फलन Ex 1.4 img 2
अतः यह * संक्रिया साहचर्य है।

(vi) a * b = ab2
(a) a * b = ab2, b * a = ba
∴ a * b ≠ b * a
अत: यह * संक्रिया क्रमविनिमेय नहीं है।
(b) a * (b * c) = a + bc2 = a (bc2)2 = ab2c4
(a * b) * c = ab2 * c = ab2c2 = ab2c2
∴ a + (b * c) ≠ (a * b) * c.
अतः यह * संक्रिया साहचर्य नहीं है।

प्रश्न 10.
सिद्ध कीजिए कि प्रश्न 9 में दी गई संक्रियाओं में किसी का तत्समक है, वह बतलाइए।
हल:
यहाँ (i) a * b = a – b
यदि e तत्समक अवयव हो तो
a * e = a – e, e * a = e – a
∴ a – e ≠ e – a ⇒ a * e ≠ e * a
अतः e का अस्तित्व नहीं है।

(ii) a * b = a2 + b2
∴ a * e = a2 + e2, e * a = e2 + a2
a * e = e * a ≠ a
अतः e का अस्तित्व नहीं है।

(iii) a * b = a + ab
a * e = a + ae, e * a = e + ea
∴ a * e # e * a # a
अत: e का अस्तित्व नहीं है।

(iv) a * b = (a – b)
a * e = (a – e)2 # a, e * a = (e – a)2 # a
a * e = e * a # a
अतः e का अस्तित्व नहीं है।

(v) a * b = \(\frac{a b}{4}\)
a * e = \(\frac{ae}{4}\) # a, e * a = \(\frac{ea}{4}\) # a
∴ a * e = e * a # a
अतः e का अस्तित्व नहीं है।

(vi) a * b = ab2
a * e = ae2 # a, e * a = ea2 # a
∴ a * e # e * a # a
अतः e का अस्तित्व नहीं है।

MP Board Solutions

प्रश्न 11.
मान लीजिए कि A = N × N है तथा A में (a, b) * (c, d) = (a + c, b + d)द्वारा परिभाषित एक द्विआधारी संक्रिया है। सिद्ध कीजिए कि * क्रम विनिमेय तथा साहचर्य है। A में * का तत्समक अवयव, यदि कोई है, तो ज्ञात कीजिए।
हल:
माना A = N × N
द्विआधारी संक्रिया (Binary operation) * इस प्रकार परिभाषित है कि
(a, b) * (c, d) = (a + c, b + d)
इसलिए (c, d) * (a, b) = (c + a, d + b)
=(a + c, b + d)
=(a, b) * (c, d)
अतः द्विआधारी संक्रिया * क्रम विनिमेय है
पुनः (a, b)* [(c, d) * (e, f)]
= (a, b) * (c + e, d + f)
= (a + c + e, b + d + f)
तथा [(a, b) * (c, d)] * (e, f)
= (a + c, b + d) * (e, f)
= (a + c + e, b + d + f)
= (a, b) * [(c, d) * (e, f)]
= [(a, b) * (c, d)]* (e, f)
अतः दी गई संक्रिया * साहचर्य है।
A में तत्समक अवयव का अस्तित्व नहीं है।

प्रश्न 12.
बतलाइए कि क्या निम्नलिखित कथन सत्य हैं या असत्य हैं। औचित्य भी बतलाइए।
(i) समुच्चय N में किसी भी स्वेच्छ द्विआधारी संक्रिया* के लिए a * a = a, ∀a ϵ N
(ii) यदि N में * एक क्रमविनिमेय द्विआधारी संक्रिया है तो a * (b * c)=(c * b) * a
हल:
यहाँ द्विआधारी संक्रिया समुच्चय N पर इस प्रकार परिभाषित की गयी है कि
a * a = a ∀ a ϵ N
(i) यहाँ पर * संक्रिया में केवल एक ही अवयव का प्रयोग किया गया है।
अतः यह कथन असत्य है।
(ii) वास्तविक संख्याओं में समुच्चय पर संक्रिया क्रमविनिमेय है।
b * c = c * b
= (c * b) * a = (b * c) * a = a * (b * c)
∴ a * (b * c) = (c * b) * a
अतः यह कथन सत्य है।

प्रश्न 13.
a * b = a3 + b3 प्रकार से परिभाषित N में एक द्विआधारी संक्रिया * पर विचार कीजिए। अब निम्नलिखित में से सही उत्तर का चयन कीजिए।
(A) * साहचर्य तथा क्रमविनिमेय दोनों है
(B) * क्रमविनिमेय है किन्तु साहचर्य नहीं है
(C) * साहचर्य है किन्तु क्रमविनिमेय नहीं है
(D) * न तो क्रमविनिमेय है और न साहचर्य है
हल:
यहाँ द्विआधारी संक्रिया को समुच्चय पर इस प्रकार परिभाषित किया गया है कि
a * b = a3 + b3
(a) a * b = a3 + b3, b * a = b3 + a3 = a3 * b3
∴ a * b = b * a
अत: यह संक्रिया क्रमविनिमेय है।
(b) a * (b * c) = a * (b3 + c3) = a3 + (b3 + c3)3
(a * b) * c= (a3 + b3) * c = (a3 + b3) + c3
∴ a * (b * c) ≠ (a * b) * c
अतः यह * संक्रिया साहचर्य नहीं है।
∴ संक्रिया क्रमविनिमेय परन्तु साहचर्य नहीं है।
अतः विकल्प (B) सही है।

MP Board Class 12th Physics Important Questions Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance

MP Board Class 12th Physics Important Questions Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance

Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions Objective Type Questions

Question 1.
Choose the correct answer of the following:

Question 1.
The SI unit of electrical capacitance:
(a) Stat farad
(b) Farad
(c) Coulomb
(d) Stat coulomb.
Answer:
(b) Farad

Question 2.
The potential difference between the plates of a capacitor is constant. A dielectric medium is filled instead of air in between the plates. The intensity of electric field will:
(a) Decrease
(b) Remains unchanged
(c) Become zero
(d) Increase.
Answer:
(b) Remains unchanged

Buffer capacity is the measure of a buffer’s ability to resist pH change.

Question 3.
On replacing the air by an insulating material between the plates of a capacitor its capacity:
(a) Remains unchanged
(b) Increases
(c) Decreases
(d) Nothing can be said.
Answer:
(b) Increases

Question 4.
On increasing the separation between the plates of a parallel plate capacitor its capacitance :
(a) Remains unchanged
(b) Increases
(c) Decreases
(d) Nothing can be said.
Answer:
(c) Decreases

Question 5.
When two capacitors are joined in series each capacitor will have the same :
(a) Charge
(b) Potential
(c) Charge and potential
(d) Neither charge nor potential.
Answer:
(a) Charge

MP Board Solutions

Question 6.
When two capacitors are joined in parallel each capacitor will have the same:
(a) Charge and potential
(b) Only charge
(c) Only potential
(d) Neither charge nor potential.
Answer:
(c) Only potential

Question 7.
Two capacitors of equal capacitance first connected in parallel then connected in series. What is the ratio of their capacities in both the cases:
(a) 2 : 1
(b) 1 : 2
(c) 4 : 1
(d) 1 : 4.
Answer:
(c) 4 : 1

Question 8.
The formula of capacitance of a spherical conductor is:
(a) C = \(\frac { 1 }{ 4π{ £ }_{ 0 }R } \)
(b) C = 4πt£0R
(c) C = 4πr£0R2
(d) C = 4π£0R3
Answer:
(b) C = 4πt£0R

Question 2.
Fill in the blanks:

  1. 1 farad = one coulomb/ ……………
  2. 1 farad = …………… stat farad.
  3. Dimensional formula of capacitance is ……………
  4. is a device in which with or out changing in shape or size of a conductor its capacitance can be increased ……………
  5. On increasing the distance between the plater of a parallel plate capacitor its capacity ……………
  6. Three capacitor each of 3pF are joined in series their equivalent capacitance will be ……………
  7. The dimensional formula of electric potential is ……………
  8. The potential due to a point charge q at a distance r is given as ……………
  9. The potential difference = Intensity of electric field × ……………
  10. The increase in kinetic energy of a charge q when it is accelerated by a potential difference V is ……………
  11. Due to presence of dielectric medium the potential ……………
  12. The work done in moving a charge perpendicular to the electric field is ……………
  13. The potential of earth is considered to be ……………

Answers:

  1. 1 Volt
  2. 9 × 1011
  3. [M-1L-2T4A2]
  4. Capacitor
  5.  Decreases
  6. lµF
  7. [ML2T-3 A-11]
  8. V = \(\frac { 1 }{ 4π{ £ }_{ 0 }R } \) \(\frac { q }{ r}\)
  9. Distance between the two point
  10. qV
  11. Decreases
  12. Zero
  13. Zero.

MP Board Solutions

Question 3.
Match the Column:
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 1
Answers:

  1. (c) Q/V
  2. (d) \(\frac { 1}{2}\) C/V2
  3. (e) 4π£0R
  4. (a) £0A/d
  5. (b) 4π£0ab / (b – a)

Question 4.
Write the answer in one word / sentence:

  1. What is the potential of earth. Write SI units ?
  2. What will be the electric field intensity inside a hallow sphere ?
  3. In which direction of electric dipole, electric potential is zero ?
  4. What is the net charge of a charge condenser ?
  5. What quantity remains constant when the condenser are connected in series ?
  6. What quantity remain constant when the conductor are connected in parallel ?

Answers:

  1. Zero, volt
  2. Zero
  3. Broad-side-on position
  4. Zero
  5. Charge
  6. Potential difference.

MP Board Solutions

Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions Very Short Answer Type Questions

Question 1.
What do you understand by equal potential surface ?
Answer:
The surface of the conductor where potential is in every point is called equal potential surface.

Question 2.
Write the name of the physical quantity whose SI unit in J/C. Is it a scalar or vector ?
Answer:
Electric potential, it is a vector quantity.

Question 3.
Draw a equi potential surface for a unit charge.
Answer:
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 2

Question 4.
Define farad.
Answer:
If the potential of a conductor increases by one volt when one coulomb of charges is given to it, then the capacity of the conductor is said to be one farad.

Question 5.
On going in direction of electric lines of force, electric potential decreases or increases.
Answer:
Electric potential decreases.

Question 6.
Give an example in which electric field is non-zero but potential is zero.
Answer:
At broad-side-on position of an electric dipole electric field is non-zero and potential is zero.

MP Board Solutions

Question 7.
Does electron try to go toward high potential area or low potential area ?
Answer:
Since electron is negatively charge so it tries to go toward high potential area.

Question 8.
Potential between two parallel surface are same. The distance between them is R. If a charge q is bought from one surface to another, then what will be the work I done to do this ?
Answer:
Amount of work done will be zero on both the surface are equipotential.

Question 9.
If area of a plate of a parallel plate condenser in made half. Will it behave as condenser.
Answer:
When area of the plate if a parallel plate condenser is made half. Its capacity become half. Therefore it will not act as condenser.

Question 10.
A capacitor of capacity C is charged with potential difference V. What will be the magnitude of electric flux passing through the surface of it ?
Answer:
Zero.

Question 11.
Why condenser are used in computer’s ?
Answer:
Condenser are used as memory chip in computer.

Question 12.
Write one use of capacitor ?
Answer:
To accumulate electric charge.

MP Board Solutions

Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions Short Answer Type Questions

Question 1.
What is potential ? Is it a vector or scalar quantity ?
Answer:
Work done in bringing a unit positive charge from infinity to a point in the I electric field is called potential at that point. If charge q is brought from infinity to a point and IT work is done.
∴ V = \(\frac {W}{p}\)
It is a scalar quantity.

Question 2.
Can same amount of charge be given 1 and a solid sphere of same radii, if they have same potential ?
Answer:
No, because capacities of both spheres of same radii are always equal. Therefore i both the spheres can hold same amount of charge at same potential.

Question 3.
What is meant by capacity of a conductor ? Give its unit.
Answer:
The capacity of a conductor is defined by the charge given to the conductor, which increases its potential through unity.
Capacity = \(\frac {Charge}{Potential}\)
or C = \(\frac {q}{v}\)
Its SI unit is farad.

Question 4.
The surface of any conductor is always equipotential. Why ?
Or
The potential at every point on a charged conductor is same. Why ?
Answer:
All the points of the surface of a conductor are in electrical contact with one another. If the potential is not equal then the charges will flow from higher potential to lower potential till the potential of both the points on the surface becomes same. This will give rise to electrodynamics situations. Thus, the surface of a conductor is always equipotential.

MP Board Solutions

Question 5.
What would be the work done if a point charge +q is taken from a point A to point B on the circumference of a circle with another point charge +q at the center:
Answer:
The points A and B are at same distance from the charge + q at the center, so VA = VB So, work done, W= q0 (VA – VB) = 0.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 3

Question 6.
Explain the meaning of capacity of a capacitor. What will be the effect on capacity of a parallel plate capacitor if a dielectric medium of dielectric constant k is filled in between the plates ?
Answer:
The capacity of a capacitor, is equal to charge given to one of its plates which produces unit potential difference across the plates. In this case capacity increases, it becomes k times its initial value.

Question 7.
What will be the change in the value of charge and potential difference between the plates of a parallel plate capacitor, if after charging its battery is removed and distance between its plates is reduced ?
Answer:
Charge remains same but potential difference decreases.

Question 8.
Two equipotential surface does not intersect each other, why ?
Answer:
Electric lines of forces are always perpendicular to equipotential surface. If two equipotential surface intersect each other then at the point of intersection there will be two direction of electric fields which is impossible. Therefore they does not intersect each other.

Question 9.
Why must electrostatic field be normal to the surface at every point of a charged conductor ?
Answer:
If electric field is randomly directed, then it can be resolved, into two components. The horizontal component on this surface is E sin θ.
For electrostatic situation
£ sin θ = 0
⇒ sin θ = 0
⇒ θ = 0°
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 4
So, the electric field is normal to surface.

Question 10.
The potential at any point inside the hollow conductor remains same. Why ?
Answer:
When charge is given to a hollow conductor then the distribution of charge takes place on its upper surface. Therefore the intensity of electric field inside the conductor is zero. Hence, no work is done in moving unit positive charge inside it. Therefore potential at every point inside the conductor remains same.

MP Board Solutions

Question 11.
Can the potential be zero where electric field is not zero ?
Answer:
Yes, the electric field on the equatorial line of a dipole is not zero but potential is zero.

Question 12.
What will be the effect on electric field, potential, difference, electric capacity and energy if a dielectric of dielectric constant K is filled between the plates of a capacitor ?
Answer:
The electric field will become \(\frac {1 }{ K }\)times, potential difference will become \(\frac {1 }{ K }\) times, electric field will become K time and energy will become \(\frac {1 }{ K }\) times.

Question 13.
Can 1 coulomb charge be given to a sphere of radius 1cm ?
Answer:
As we know that the formula of potential ¡s V = \(\frac { 1 }{ 4π { £ }_{ 0 } } \) \(\frac { q }{ r }\) …(1)
Given,q = lC, r = lcm = 10-2m
Putting these values in eqn. (1)
V = 9 × 109 × \(\frac{1}{10^{-2}}\) = 9 x 1011volt
Where = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}}\) =  9 × 109 in SI unit.
This value of potential is greater than barrier potential of air. Therefore IC charge cannot be given to a sphere of radius 1cm.

Question 14.
In the shown figure what will be the work done to bring a z point charge from the point X to Y to Z ?
Answer:
There the point Z and Y are situated on same equaipotential surface. Therefore work done to bring a point charge from A’to Zand from X to Z will be same.
.’. Wy= Wz.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 5

Question 15.
Derive an expression for electric potential due to a point charge. Is it scalar or vector and why ?
Answer:
Consider a point charge q placed at origin O. Potential at P has to be found out. Let the medium between charge ‘q’ and P has dielectric constant Er.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 6
Electric field at P due to charge q is
E = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0} \varepsilon_{r}} \cdot \frac{q}{r^{2}}\)
The electric field \(\vec{E}\) points away from the charge q. A force \(\vec{F}\) = -q0 \(\vec{E}\) has to be applied on the charge so that it can be brought near to q. The small work required to move the test charge q0 from P to Q through a small distance dr is given by dW = Fdr
= -q0 Edr
The total work done in moving the charge q0 from infinity to point P will be obtained by integrating the above equation as –
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 7
But electric potential is defined as work done per unit test charge.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 9
Potential at P is V = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0} \varepsilon_{r}} \cdot \frac{q}{r}\)
If medium between q and q0 is vacuum then £r = 1
Then , V =\(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}} \frac{q}{r}\)
This is the required expression.

MP Board Solutions

Question 16.
What are the factors affecting the potential of a charged
Answer:
The factors affecting the potential of a charged conductor are:
1. Amount of charge on conductor:
By the formula V = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}} \frac{q}{r}\) it is clear that
V ∝ q, hence more is the charge, more will be the potential of charged conductor.

2. Shape of conductor (Area of conductor):
If the charge is kept constant on a conductor and its surface area is decreased then the potential of conductor increases whereas on increasing the surface area its potential decreases. So the potential of a conductor is inversely proportional to the radius.

3. Presence of other conductor near the charged conductor:
If an uncharged conductor is brought near a charged conductor then the potential of the charged conductor decreases.

4. Medium surrounding the conductor:
Due to presence of insulating medium near the charged conductor its potential will decrease.

Question 17.
Define equipotential surface. Write its properties.
Answer:
Equipotential surface:
An equipotential surface is the locus of all those points at which the potential due to distribution of charge remains same.

Properties:

  • Potentials on every point are equal
  • No work is done in moving a positive charge from one point to another
  • The electrical lines of force are normal to the equipotential surface
  • Two equipotential surfaces do not intersect each other.
  • All the points on the surface of a conductor are in electric contact. If the potentials are not same then the
  • charge will flow from higher potential to lower potential till the potential of both the points become same.
  • Thus the surface of a conductor is always equipotential.

MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 10

Question 18.
Obtain a relation between electric Held intensity and potential difference.
Or
Prove that E = \(\frac { dv }{ dr }\)where symbols have their usual meanings.
Answer:
Suppose A and B are two points in the electric field of charge q. The direction of electric field is radially outwards from A to B. Suppose the distance between A and B is very small (i. e., dr) then the electrie field between A and B can be taken as uniform. As the potential is inversely proportional to distance hence potential at A is more than that of B. Let the potential at B is V then that at A is V + dV.

MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 11
Work done in bringing the test charge q0 from B to A is –
dW = q0dV …….(1)
Force acting on q0 will be
F = q0 E
Work done in bringing the test charge against the repulsion force will be
dW = -q0Edr
(Work = Force x Displacement) ………(2)
The negative sign shows that the direction of displacement and direction of force are opposite to each other.
From eqns. (1) and (2), we get,
q0dV = q0Edr
or dV = -Edr
E = – \(\frac { dv }{ dr }\)
This is required relation between intensity of electric field and potential difference.

Question 19.
Prove that capacity of an isolated spherical conductor is directly proportional to its radius.
Or
Derive an expression for the capacity of a spherical conductor.
Answer:
The capacity of a conductor is its ability to store electrical energy and it is equal
to that charge which increases its potential by unity.
∴ Capacity = \(\frac { Charge }{ Potential }\)

MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 12
Capacity of an isolated spherical conductor:
Let us consider about a spherical conductor of radius r. The charge + Q is given to it. The charge will be distributed on its surface uni- formly. Therefore the lines of force will be emitted normally to the surface seem to becoming from its center. Hence, we can suppose that all the charges are kept at the centre.
∴ Potential on the surface V = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}} \frac{Q}{r}\)
But capacity C = \(\frac { Q }{ V }\)
Putting the value of V, we get
C = \(\frac{Q}{\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}} \frac{Q}{r}}\)
C = 4πE0r
C ∝ r.
Thus, the capacity is proportional to the radius of the spherical conductor.

MP Board Solutions

Question 20.
What do you mean by a capacitor ? Explain its principle.
Answer:
The capacitor is a device by which the capacitance of a conductor is increased without changing its size or volume. Actually it stores electrical energy.
Principle of capacitor:
Let A be a charged conducting plate. Another uncharged conductor plate B is brought near to A, therefore due to induction negative charges will be induced on the front surface and positive charges on the other side of plate B.
Now, the negative charge reduces the potential while the positive charge increases.

MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 13
As the negative charge is nearer therefore the potential of plate A decreases. Now, the plate B is earthed then the free positive charge will go to earth and hence the potential of A decreases by more value.
C = \(\frac { Q }{V}\)
As V decreases, C will increase. This arrangement is called capacitor or condenser.

Question 21.
Derive an expression for parallel plate capacitor.
Answer;
Let A and B be two plates of a parallel plate capacitor separated by a distance d apart. Area of each plate is A and dielectric constant of the medium between them is Er Now, plate A is given + Q charge. Therefore, – Q charge will be induced on the nearer surface of the plate B and + Q charge on the other side. As B is connected to earth, + Q charge of B will go to earth. Let the charge density of A is cr, therefore that of B will be -σ.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 14
Now, σ = \(\frac { Q }{A}\)
Intensity between the plates will be given by
E = \(\frac{\sigma}{\varepsilon_{0} \varepsilon_{\mathrm{r}}}\)
E = \(\frac{Q}{A \varepsilon_{0} \varepsilon_{r}}\)
But, potential difference between the plates A and B is
V = Electric field intensity ×
Distance between to plates = Ed
V = \(\frac{Q}{A \varepsilon_{0} \varepsilon_{s}} \cdot d\)
But, C = \(\frac{Q}{V}=\frac{Q}{\frac{Q d}{A \varepsilon_{0} \varepsilon_{r}}}\)
C = \(\frac{\varepsilon_{r} \varepsilon_{0} A}{d}\)
This is the required relation.
For air or vacuum, Er = 1
C = \(\frac{\varepsilon_{0} A}{d}\)

Question 22.
Three capacitors of capacitance’s C1 C2 and C3 are connected in series. Derive an expression for the equivalent capacitance.
Answer:
The given figure shows three capacitors of capacitances C1 C2 and C3 con – nected in series. A potential difference of V is applied across the combination, charges of + Q and – Q are developed on the plates of the capacitor.
Potential difference across the individual capacitors will be
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 15
V1 = \(\frac{Q}{C_{1}}\) , V2 = \(\frac{Q}{C_{2}}\), V3 = \(\frac{Q}{C_{3}}\) …….(1)
The sum of these must be equal to the applied potential difference V.
V = V1 + V2 + V3 ………(2)
Let C be the equivalent capacitance of the series combination
∴ C = \(\frac { Q }{ V }\) or V = \(\frac { Q }{ C }\) ………..(3)
V1 + V2 + V3 = \(\frac { Q }{ C }\) [from equ..(2)]
\(\frac{Q}{C_{1}}\) + \(\frac{Q}{C_{2}}\) + \(\frac{Q}{C_{3}}\) = \(\frac{Q}{C}\) [from equ..(1)]
Q(\(\frac{1}{C_{1}}\) + \(\frac{1}{C_{2}}\) + \(\frac{1}{C_{3}}\)) = \(\frac{Q}{C}\)
\(\frac { 1 }{ c }\) = \(\frac{1}{C_{1}}\) + \(\frac{1}{C_{2}}\) + \(\frac{1}{C_{3}}\)
This is the required expression.

MP Board Solutions

Question 23.
Three capacitors of capacitance’s C1 C2 and C3 are connected in parallel. Derive an expression for the equivalent capacitance C.
Answer:
Consider three capacitor of capacitance’s C1 C2 and C3 connected in parallel. A potential difference V is applied across the combination. Charges set up in the individual capacitor will be.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 16
Q1 = C1V, Q2 = C2V,Q3 = C3V …(1)
Total charge stored in the parallel combination is
Q = Q1 + Q2 + Q3 ……….(2)
If C is the equivalent capacitance of the combination
Then, C = \(\frac { Q }{ V }\) Q = CV …………(3)
Q1 + Q2 + Q3 = CV [from eq. (2)]
C1V + C2V + C3V = CV [from eq. (1)]
V(C1 + C2 + C3) = CV
C = C1 + C2 + C3
This is the required expression.

Question 24.
Derive an expression for the energy of a charged conductor.
Or
Prove that energy of a charge conductor is directly proportional to its square of potential.
Answer:
The work done in charging a conductor is stored as energy in it. This energy is called electrostatic potential of conductor.

Formula derivation:
Let us consider about a conductor of capacity C which is given charge +Q due to which its potential becomes V. As the charge increases work done also increases. Let at any instant the potential of conductor be V due to charge q.
∴ C = \(\frac { q }{ v}\)
or v = \(\frac { q }{ C}\)
Now, at potential Kthe work done in giving the charge dq will be dW
∴ dw = Vdq
or dw = \(\frac { q }{ C}\)dq
Work done in charging the conductor from 0 to Q
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 17
This work done is stored as potential energy on the conductor. Energy of a charge conductor
U = \(\frac{1}{2} \frac{Q^{2}}{C}\)
But Q = CV
∴ U = \(\frac{1}{2} \frac{C^{2} V^{2}}{C}\)
or U = \(\frac{1}{2} C V^{2}\)
∴ U ∝ V2 because C is constant

MP Board Solutions

Question 25.
Prove that on connecting two charged conductors, charges distribute on them according to their capacities.
Answer:
When two isolated charged conductors A and B are connected by a thin wire, charge flows from the conductors at high potential to the conductor at low potential till the potential of both A and B became equal. The phenomenon involved is called distribution of charges and the total charge of the entire system remains conserved. Let the capacitance of A and B be C1 and C2, the charges be Q1 and Q2 respectively. Then the potentials are V1 and V2 respectively.
∴ Initially, Q1 = C1V1 and Q2 = C2V2
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 18
The conductors are joined by a wire of negligible capacitance, the charges flow from- the conductor at higher potential to the conductor at lower potential till the potentials on each conductor become equal.
The net charge on the system,
Q = Q1 + Q2
The common potential, V = \(\frac { Total charge }{ Total capacitance }\)
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 19
After the potential becomes equal let the charge on A 1 be Q1 and charge on A2 be Q2.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 20
Dividing eqn. (2) by eqn. (3), we get
MP BoardMP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 21 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 21
When the conductors are joined, then the charges get distributed in the ratio of their capacities.

Question 26.
Obtain an expression for potential due to a group of point charges.
Or
Derive the expression for potential energy.
Answer:
Consider a group of point charges q1,q2,q3……..qn which are situated at a dis-tance of r1, r2, r3…….. nn respectively from the point P. The potential due to these point charges is to be obtained at P. Now potential at P due to q1 is
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 22
potential due to q2,q3, ……… qnetc
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 24
Total potential at P will be V = V1 + V2 + V3 + ……….. + Vn
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 25
This is the required expression.

Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions Long Answer Type Questions

Question 1.
Derive the expression for the capacity of a parallel plate capacitor, when the medium between the plates is partially filled by a dielectric medium.
Answer:
Let A and B are parallel plates of a capacitor. The distance between the plates is d and plate of thickness t and dielectric constant Er is introduced.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 26
Now, plate A is given charge +Q.
Let the charge density be σ.
∴ σ = \(\frac { Q}{ A}\)
Intensity of field in air ,
E_{0}=\(\frac{\sigma}{\varepsilon_{0}}=\frac{Q}{\varepsilon_{0} A}\)
If the intensity of field inside the dielectric medium be E, then
Dielectric constant = \(\frac {Electric field in vacuum}{ Electric field in medium}\)
or \(\varepsilon_{r}=\frac{E_{0}}{E}\)
or E = \(\frac{E_{0}}{\varepsilon_{r}}=\frac{Q}{\varepsilon_{0} \varepsilon_{r} A}\)
Now, potential difference between A and B,
V=E0 (d – t) + Et, [(d – t) is vacuum distance]
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 27
This is the required expression.
Metal is a conductor. When metal is used in place of the dielectric, it will conduct electricity and the potential difference will become zero. So, capacitor will not work.

Question 2.
Calculate the loss of energy, when two charged conductors are connected.
Or
The capacities of two conductors are C1 and C2, Q1 and Q2 charges are given to them so that their potentials become V1 and V2 respectively. If they are connected by a wire, then calculate the following:

  • Common potential
  • Loss of energy.

or
prove that when two charged conductors are connected, there will be a loss of energy
Or
In redistribution of charges, is there a loss of energy ? Deduce an expression to confirm the answer.
Answer:
Let A and B be two conductors of capacities C1 and C2 respectively. When charges Q1 and Q2 are given separately the potentials become V1 and V2 respectively.Total charges, Q = Q1 + Q2 ………..(1)
But, Q1 = C1V1 and Q2 = C2V2
By eqn. (1), we get
Q = C1V1 + C2V2
Total capacity, C = C1 + C2
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 28
(1) Common potential:
Let the conductors are connected by a wire and the common potential becomes-V.
Q1 + Q2 = (C1 + C2)V
V = \(\frac{Q_{1}+Q_{2}}{C_{1} + C_{2}}\)
V = \(\frac{C_{1} V_{1}+C_{2} V_{2}}{C_{1}+C_{2}}\) ……..(2)
This is the expression for the common potential.

(2) Loss of energy: Total energy of the conductors before connection:
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 29
and total energy after connection,
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 30
Putting the value of V from eqn. (2) in eqn. (4), we get
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 31
Hence, difference of energy’,
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 32
(V1 – V2)2 is positive, hence (V1 – V2) is positive. Hence, during redistribution, there will be always loss of energy.
i.e., U1 – U2>0 ⇒ U1>U2
i.e., energy before joining is greater than energy after joining.
The loss in energy,
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 34

Question 3.
Explain the construction and working of Van de Graaff generator. Write its uses.
Answer:
Van de Graaff generator is a machine which produces electricity of about 107 V or more potential difference.
Construction:
It consists of a large metallic sphere S of diameter 5 m, mounted on high insulating support PP about 15 m high. An endless insulating belt made up of rubber passes over the pulleys p1 and P2. A motor rotates p1 C1 and C2 are two metallic combs called spray comb and collecting comb respectively. C1 is connected to S. To prevent the leakage of charge, the generator is put inside a large enclosure filled with gas at 15 atm. pressure. This iron enclosure is connected to earth.

MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 35
Working:
The comb C1 is connected to the positive terminal of the battery, therefore the surface density of the points becomes very high which causes the wind present nearby it to get charged. Thus, the spray comb sprays the charge on the belt. Now, the electric wind moves up to the collector comb C2 When it reaches in front of the collector comb C2 opposite charge induces on the tip to neutralize the same type of charge. The negative charge wind of C2, cancels the positive charge of the belt. Thus, by the repeated actions more and more positive charge is induced on sphere, hence its potential increases to about 107volts or more.

Uses:

  • To generate high potential.
  • To accelerate the positive particles such as protons, Deuteronomy, are particle etc. and used in nuclear disintegration.

MP Board Solutions

Question 4.
When Anil opened the cap of the tap, then he found no water in coming out of it. Then he opened the cap of the water tank and found no water in the tank. To fill up water in the water tank he switch on the switch of the motor and found motor is not starting. Then he called the electric technician. The technician said him on checking that the condenser of the motor is not functioning. On replacing capacitor, the motor start working.

Answer the following questions:

  1. What values does Anil exhibits ?
  2. What is the function of condenser ?
  3. What is total charge on a charged condenser ?
  4. The capacity of a capacitor is 3pF. If it is charged up to 100 V potential difference, then what will be charged stored in it ?

Answer:

  1. Anil exhibited his presence of mind.
  2. It accumulate charge and hence it conserved energy.
  3. Net charge on a condenser is zero.
  4. C = 3µF = 3 × l0-6 F, V = 100V

∴ By formula Q = CV = 3 × l0-6 × l00
or Q = 3 × 10-4C.

Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions Numerical Questions

Question 1.
Can 1 coulomb charge be given to a sphere of radius 1cm ?
Answer:
No.
As we know that the formula of potential is V = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}} \frac{q}{r}\) …(1)
Given, q = 1C, r = 1cm = 10-2m
Putting these values in eqn. (1)
V = 9 × 109 x \(\frac{1}{10^{-2}}\) = 9 × 1011volt
Where = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}}\) = 9 × 109 in SI unit.
This value of potential is greater than barrier potential of air. Therefore lC charge cannot be given to a sphere of radius 1cm.

Question 2.
You are given three capacitor of 4pF each. How they will be combined to obtain resultant capacity of 6pF ?
Solution:
Given : Q = C2 = C3 = 4µF
When two capacitor is joined in series and third capacitor joined parallel with them, then resultant capacity is obtained as 6µF.

MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 36
C1 ,C2 is in series, its resultant (C’) is
\(\frac { 1 }{ c}\) = \(\frac{1}{C_{1}}+\frac{1}{C_{2}}\)
or \(\frac { 1 }{ c}\) = \(\frac { 1 }{ 4}\) + \(\frac { 1 }{ 4}\) = \(\frac { 2 }{ 4}\)
or C = \(\frac { 4 }{ 2}\) = 2µF.
C and C3 is in parallel combination,
Its resultant C is C = C + C3
C = 2 + 4 or C = 6µF.

MP Board Solutions

Question 3.
A hollow metallic sphere of radius 0-1 m is given 6pC. Calculate its potential:

  1. At the surface of sphere
  2. At the center.

Solution
Given, r = 01 m, q = 6µC = 6 x 10-6 C
Formula: V = \(\frac{1}{4 \pi \varepsilon_{0}} \frac{q}{r}\)

1. Potential at the surface:
V = 9 × 109 × \(\frac{6 \times 10^{-6}}{0 \cdot 1}\)
V = 54 × 104
V- 5.4 × 105 volt.

2. At the center:
Inside the sphere the potential remains same and equal to that on the surface hence V = 5 . 4 x 105volt.

Question 4.
A test charge is moved from A to B, B to C and A to C in an electric field E as shown in the figure :
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 37
Find (1) Potential difference between A and C
(2) At which point electric potential will be high and why ?
Solution:
1. In right angled ∆ABC
AB2 = AC2 – BC2 = 52 – 32
∴ AB = 4 = dr
BC is perpendicular to electric field, therefore potential will be same at B and C.
VA – VC = VA – VB = -Edr = -4E
2. Therefore potential at point C will be more than potential of point A.

MP Board Solutions

Question 5.
Identical water droplets, having equal charge on each are combined to form a big drop. Compare the capacity of bigger drop with that of a small drop.
Solution:
Let radius of small droplet = r
Radius of the big drop = R
Volume of big drop = Volume of 27 droplets
\(\frac { 4 }{ 3 }\) πR3 = 27 × \(\frac { 4 }{ 3 }\) πR3
or R3 = 27r3
or R3 = (3r)3
or R = 3r
or \(\frac { R }{ r }\) = \(\frac { 3}{ 1 }\)
Since, C ∝ radius
or \(\frac{C_{1}}{C_{2}}=\frac{r_{1}}{r_{2}}\)
or \(\frac{C_{1}}{C_{2}}\) = \(\frac { 3}{ 1}\) = 3
or C1 = 3C2
The capacity of bigger drop is three times that of smaller one.

Question 6.
How three capacitor of 3pF each can be combined such that their resultant capacity is :

  1. 9pF,
  2. 4.5pF.

Solution:
1. When the three capacitor is joined in parallel, then
C = C1 + C2 + C3
= 3 + 3 + 3 = 9µF.

2. When two capacitor are joint in series, then resultant C’ is
\(\frac { 1 }{ c}\) = \(\frac{1}{C_{1}}+\frac{1}{C_{2}}\)
= \(\frac { 1 }{ 3}\) + \(\frac { 1 }{ 3}\) = \(\frac { 2 }{ 3}\)
C = \(\frac { 3 }{2}\) = 1.5 µF
Now C is joined in parallel with C3
C = C + C3 = 1.5 + 3 = 4.5µF.

Question 7.
The potential difference between two points is 10V. How much work is required to move a charge 100 pC from a point to the other ?
Solution:
Given, V= 10 volt, q = l00µC = l00 × l0-6C
Formula : w = qV
= 100 × 10-6 × 10
= 10-3 joule.

MP Board Solutions

Question 8.
Find the area of the plate of a 2F parallel plate capacitor, if the separation between the plates is 0.5 cm ?
Solution:
As C = \(\frac{\varepsilon_{0} A}{d}\)
A = \(\frac{C d}{\varepsilon_{0}}\)
Here, C = 2F, d= 0.5cm = 0.5 x 10-2m
A = \(\frac{2 \times 0 \cdot 5 \times 10^{-2}}{8.85 \times 10^{-12}}\)
= 1.13 × 109 m2 = 1130Km2

Question 9.
Two charges 5 x 10-8C and -3 x 10-8C are located 16 cm apart At what point, on the line joining the two charges, is the electric potential zero ? Take the potential at infinity to be zero. (NCERT)
Solution:
Case I.
Let electric potential be zero at point C lying at distance x from the positive charge.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 38
Given, q1 = 5 × 10-8 C;
q2 = -3 × l0-8 C
AC = x cm : CB = (16 – x) cm
Now, Potential at C is zero i. e.,
V1 + V2 = 0
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 39
-8x + 80 = 0
8x = 80
x = 19 cm
i.e., electric potential at a distance of 10 cm from positive charge will be zero.

Case II.
The other possibility is that the point C may also lie on produced AB.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 40
Now, V1 + V2 = 0
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 41
5(x – 16) – 3x = 0
5x – 80 – 3x = 0
2x – 80 = 0
x = 40 cm from the positive charge

Question 10.
Determine the equivalent capacitance between A and B in the following circuits:
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 42
Solution:
(i). Mark the junctions as C and D.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 43
(But C will be A and D will be B)
Draw the equivalent network, which is given below
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 44
Equivalent capacitance,
C = C1 + C2 + C3
or C = 1 + 1 + 1 = 3µF

(ii). To move from A to B, there are two paths P -1 and P – II.
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 45
(As A and B, the path is dislocated temporarily)
The capacitors in P -II are in series. So, the equivalent becomes
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 46
The resultant capacity of series combination is
\(\frac { 1 }{ C’ }\) = \(\frac { 1}{ 3 }\) + \(\frac { 1 }{ 3}\) + \(\frac { 1 }{3 }\)
= \(\frac { 3 }{ 3 }\) = 1µF = C’ = 1µF
The equivalent further becomes
MP Board 12th Physics Chapter 2 Electrostatic Potential and Capacitance Important Questions - 47
Total capacity C = 3 +1 = 4µF.

MP Board Class 12th Physics Important Questions

MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions

MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions

Solutions Important Questions

Very Short Answer Type Questions

Question 1.
Write formula of van’t Hoff factor ‘i’
Answer:
van’t Hoff factor, i = \(\frac {Observed value of colligative property}{Calculated value of colligative property}\)

Question 2.
Write down van’t Hoff equation. Give formula used for calculating molecular mass with its help.
Answer:
van’t Hoff equation, πV = nRT
or π = \(\frac { nRT}{V}\)
or π = \(\frac { WRT}{MV}\)
or π = \(\frac { WRT}{πV}\)
Where, W is mass of solute, R is Solution constant, T is temperature, n is osmotic pressure and V is volume of Solution.

The normality formula of a solution is the gram equivalent weight of a solute per liter of solution.

Question 3.
Define Normality.
Answer:
Number of gram equivalent of solute present in one litre of Solution: is called normality. It is represented by N.
Normality (N) = \(\frac {Number of gram equivalent of solute}{Volume of Solution: in litres}\)
or N = \(\frac {Mass of solute in grams }{Equivalent mass of solute}\) x \(\frac { 1000}{ Volume of Solution: in ml }\)
∵ [No. of gram equivalent =\(\frac {Mass of solute in grams}{Equivalent mass of solute}\)]
Normality of a Solution changes with temperature as it is based on mass – volume relationship and volume changes with change in temperature.

MP Board Solutions

Question 4.
Differentiate between Molarity and Molality.
Answer:
Differences between Molarity and Molality :
Molarity (M):

  • Molarity involves the total volume of Solution.
  • In molarity, gram moles of solute are dissolved in 1 litre of Solution:.
  • Molarity changes with temperature because volume changes with temperature.

Molality (m):

  • Molality involves the mass of solvent.
  • In molality, gram moles of solute are dissolved in 1 kg of solvent. Here volume of Solution is not considered.
  • Molality is independent of temperature as it takes mass into consideration.

Question 5.
Explain the following term : Parts per million.
Answer:
Parts per million:
When a solute is present in very minute amounts (in traces), the concentration is expressed in parts per million abbreviated as ppm. The parts may be of mass or volume. It is the parts of a component per million parts of the Solution.
i.e., ppm = \(\frac {Mass of component A}{Total mass of Solution:}\) x 106
or ppm = \(\frac {Volume of component A}{Total volume of Solution:}\) x 106
Where, ppm. is the concentration of component A in parts per million.

Question 6.
What role does the molecular interaction play in a Solution: of alcohol and water? (NCERT)
Answer:
Alcohols dissolve in water due to formation of inter – molecular H – bonding with water.

Question 7.
Why do gases always tend to be less soluble in liquids as the temperature is raised? (NCERT)
Answer:
Gas + Liquid ⇌ Dissolved gas   ∆ H = – ve
The dissolution of a gas in a liquid is exothermic process. Therefore in accordance with Le – Chatelier’s principle with increase in temperature, the equilibrium shifts in back-ward direction. Therefore, the solubility of gas in Solution decreases with the rise in temperature.

Question 8.
State Henry’s. (NCERT)
Answer:
Henry’s law:
According to this law, ‘The mass of a gas dissolved per unit volume of a solvent at constant temperature, is proportional to the pressure of the gas with which the solvent is in equilibrium’. Let in unit volume of solvent, mass of the gas dissolved is m and equilibrium pressure be P, then m ∝P or m = KP, where K is a constant.

Question 9.
What are colligative properties?
Answer:
The physical properties of Solution which depend on the number of total particles present in Solution and the ratio of number of particles of solute not on the nature of solute particles are known as colligative properties.

Question 10.
Give an example of Solution: of solid in solid.
Answer:
Mixture of copper and gold is an example of solid in solid.

Question 11.
On dissolving ethanoic acid in benzene, experimental molecular mass of ethanoic acid is generally found to be double. Why?
Answer:
On dissolving ethanoic acid in benzene, it dimerizes due to the formation of hydrogen bond. Thus, its experimental value is generally found to be double.

Question 12.
What is vapour pressure? What is the effect of temperature on it?
Answer:
Pressure exerted by the vapours on the surface of a liquid at the state of equilibrium is known as vapour pressure. On increasing the temperature vapour pressure increases.

Question 13.
What type of deviation is represented by acetone and CS2 Solution?
Answer:
Positive deviation.

MP Board Solutions

Question 14.
Why is CaCl2 used for clearing off snow from the roads?
Answer:
On adding CaCl2, freezing point of water decreases. Therefore, CaCl2 is used for clearing off snow from the roads.

Question 15.
Based on solute – solvent interactions, arrange the following in order of increasing solubility in n – octane and explain :
Cyclohexane, KCl, CH3OH, CH3CN.
Answer:
For solubility we know Tike dissolves like’, n – octane is a non – polar solvent, hence non-polar compounds will be more soluble.
KCl < CH3OH < CH3CN < Cyclohexane.

Question 16.
What is transition temperature?
Answer:
The temperature at which the nature of solubility changes (i.e., first it increases, then decreases) is known as transition temperature. Solubility of sodium sulphate in water increases upto 32.4, then it starts decreasing. Thus, 32.4°C is the transition temperature of sodium sulphate.

Question 17.
Define molarity and molality. (NCERT)
Answer:
Molarity “is defined as number pf gram mole§ of solute dissolved in a litre of Solution. It is denoted by M.
Molality (M) = \(\frac {Mass of solute in gram per litre}{ Molecular mass of solute}\)

Molality is defined as number of moles of solute present in a kilogram (1000 gram) of solvent. It is denoted by m.
Molality (m) = \(\frac {Mass of solute in kg of solvent}{Gram molecular mass of solute}\)

Solutions Short Answer Type Questions

Question 1.
Write down Raoult’s law.
Answer:
The vapour pressure of a solution containing non – volatile solute is directly pro – portional to the mole fraction of the solute.
Mathematically,
\(\frac { { X }_{ A } }{ { X }_{ A }+{ X }_{ B } } \) = \(\frac { P{ A }^{ 0 } }{ { P }_{ A }+{ P }_{ B } } \)
Where, P0A = Vapour pressure of pure solvent, PA = Vapour pressure of solvent in solution, XB = Mole fraction of solute.

Question 2.
What is Azeotropic mixture? They are of how many types? (MP 2018)
Answer:
Azeotropic mixture is the mixture of liquids which boil at one temperature with-out any change in composition. For example, at the composition of 95 6% alcohol and 4.4% water. It form an azeotropic mixture which boils at 78.13°C. Components of this mixture cannot be separated fully by fractional distillation.

They are of two types :
1. Low boiling azeotropic mixture:
Such Solutions which represent positive deviation towards Raoulfs law i.e. their vapour pressure is high thus their boiling point is low are known as low boiling azeotropic mixture.

Example:

  • CS2 + Acetone
  • C2 H5 OH + n – hexane.

2. High boiling azeotropic mixture:
Such Solutions which represent negative deviation towards Raoult’s law i.e. their vapour pressure is low thus their boiling point is high are known as high boiling azeotropic mixture.

Example:

  • Acetone + Chloroform
  • Ether + Chloroform.

Question 3.
What are ideal and non – ideal Solutions? Explain with example.
Answer:
Ideal Solutions:
Ideal Solutions are those Solutions in which Raoult’s law can be applied completely for all concentrations of the Solutions and at all temperatures.

Condition for ideal Solutions are following :

  1. PA = PA0 X A and PB= P0B X B
  2. ∆Vmixing = 0 and
  3. ∆Hmixing = 0 and

Example:
C2H5Br + C2H5Cl, C6H6 + C6H5CH3, CCl4 + SiCl4etc.

Non – ideal Solutions:
Solutions in which Raoult’s law cannot be applied completely for all concentrations and temperatures are called non – ideal Solutions.
For these Solutions:

  1. PA ≠ P0A XA and pB ≠ P0BX
  2. ∆Vmixing ≠ 0 and
  3. ∆Hmixing ≠ 0 and

Example:
Benzene + Acetone, CHCl3 + HNO3 etc.

MP Board Solutions

Question 4.
Establish van’t Hoff Solution: equation. (MP 2018)
Answer:
Osmotic pressure of dilute Solution of a non – volatile solute is proportional to absolute temperature of the Solution at constant concentration. This is known as van’t Hoff law.
π ∝ T .. (1)
Derivation : Osmotic pressure n of a Solution: is directly proportional to a molar concentration.
π ∝ C
By eqn.(l) and eqn.(2) π ∝ C (T is constant) .. (2)
or π = RCT .. (3)
Where, R = Gas constant
or
C = \(\frac {1}{V}\)
π = \(\frac {RT}{V}\) .. (4)
πV = RT .. (5)
This is known as van’t Hoff Ideal Solution equation.

Question 5.
Define the following:

  1. Molal elevation boiling point constant.
  2. Molal freezing point depression constant. (MP 2018)

Answer:
1. Molal elevation boiling point constant : Molal elevation constant can be defined as “The elevation in boiling point of the Solution in which 1 gm of solute is dissolved in 1000 gm of solvent.”
∴ Elevation in boiling point
∆ Tb ∝ m
∆ Tb = Kbm
m= 1, ∆ Tb = Kb
Where Kb = Molal boiling point elevation constant.

2. Molal freezing point depression constant : Molal depression constant may be defined as “The depression in freezing point for 1 molal Solution: i.e., Solution: in which 1gm mole of solute is dissolved in 1000 gm of solvent.”
∴ Depression in freezing point
∆ Tf ∝ m
∆ Tf = kf
If m = 1, ∆ Tf = kf
Where Kf = Molal freezing point depression constant.

Question 6.
What is Raoult’s law? Establish its mathematical expression.
Or,
What is Raoult’s law? How can molar mass of a non – volatile solute be determined with its help?
Answer:
Raoult’s law:
For a Solution in which solute is non – volatile, the Raoulf s law may be stated as following :
“At any constant temperature, vapour pressure of solvent collected above the Solution of non – volatile solute, is directly proportional to the mole fraction of solute.” If a non – volatile solute is added to a volatile solvent, the vapour pressure of the solvent decreases. The vapour pressure of the solvent is directly proportional to its mole fraction. As the solute is non – volatile, the vapour pressure of the Solution (P) will be equal to the vapour pressure of the solvent (PA).
P = PA ∝ XA
or PA=KXA .. (1)
Where, K = Proportionality constant.
Apply eqn. (1) for pure solvent if XA= 1 and PA = P0A
Then, P0A = K x 1 .. (2)
Where, p0A= Vapour pressure of pure solvent.
Putting the value of K from eqn. (2) in eqn. (1),
PA=P0AXA .. (3)
Where, XA is the mole fraction of the solvent in the Solution.
The mole fraction of solute is represented as XB.
So, XA+XB=1
or XA= 1 – XB .. (4)
From eqns. (3) and (4),
PA= P0A(1-XB) = P0 – P0AXB
XB = \(\frac { { P }_{ A\quad }^{ 0 }-\quad { P }_{ A } }{ { P }_{ A }^{ 0 } } \)
P0A is lowering in vapour pressure and \(\frac { { P }_{ A\quad }^{ 0 }-\quad { P }_{ A } }{ { P }_{ A }^{ 0 } } \) is relative lowering in vapour pressure.

On the basis of equation (5) Raoult’s law can be defined as “The relative lowering in vapour pressure of a Solution containing non – volatile solute is equal to mole fraction of solute”.

MP Board Solutions

Question 7.
Give relation between elevation in boiling point and molecular mass of solute.
Answer:
Relation between elevation in boiling point and molecular mass of solute:
Suppose, WB gram of non – volatile solute dissolve in WA gram of solvent and the molecular mass of non – volatile solute is MB gram. Then, molality, m will be
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 1

Question 8.
What is van’t Hoff factor? How does it equation?
Answer:
van’t Hoff Equation : van’t Hoff equation
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 2

Question 9.
What are constant boiling mixture? Write three differences in Ideal solution and Non – ideal Solutions. (MP 2011,15,16)
Answer:
Constant boiling mixtures or azeotropic mixture. A Solution which distils with out change in composition is called azeotropic mixture.
Differences between Ideal and Non – ideal Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 3

Question 10.
Define the following :

  1. Reverse osmosis
  2. Isotonic Solution
  3. Semi – permeable membrane.

Answer:
1. Reverse osmosis:
It may be noted that if a pressure higher than the osmotic pressure is applied on the Solution the solvent will flow from the Solution into the pure solvent through the SPM. The process is called reverse osmosis.

2. Isotonic Solutions:
The Solution:s which have same osmotic pressure are called as isotonic Solution:s. For example, 0.91% Solution of NaCl called as saline water is isotonic with human blood corpuscles. That is why medicines are mixed with saline water before intravenous injections.

Osmotic pressure is a colligative property and depends on the number of solute particles in a Solution So, the isotonic Solution:s must have same number of solute particles in a given volume of Solution Consequently, the isotonic Solution:s are those which have same molality, if that the solute neither associate nor dissociate in the Solution.

3. Semipermeable membrane:
These are the membrane which allow the movement of the solvent molecules through them. The membrane appear to be continuous sheets or films. But they have very tiny holes or pores which are semimicro in nature. Through the holes, only the molecules of solvent can pass while those of bigger solute molecules cannot pass through.

Solutions Long Answer Type Questions

Question 1.
Write five differences in Solution: having Positive deviation and Negative deviation.
Answer:
Differences between Positive deviation and Negative deviation :
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 4

Question 2.
Explain in brief Berkeley and Hartley’s method of osmotic pressure measurement and state its uses.
Answer:
Berkeley and Hartley’s method:
In this method, pressure is applied over the Solution to stop the flow of solvent. This pressure is equivalent to osmotic pressure.
In this method, the apparatus consists of a strong vessel made up of steel in which porous pot is fitted. In the porous pot, copper ferrocyanide semipermeable membrane is deposited. The porous pot is fitted with a capillary tube on one side and a water reservoir on the other side. A piston and pressure gauge are fitted to the steel vessel.
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 5
The porous pot and steel vessel are filled with water and Solution respectively. Osmosis takes place and water moves into the steel vessel from the porous pot through the semipermeable membrane. This is shown by fall in water level in the capillary tube. This flow of water is stopped by applying external pressure on the Solution with the help of piston.

This method has the following advantages :

  1. It takes comparatively lesser time to determine osmotic pressure.
  2. Concentration of Solution: does not change, hence better results are obtained.
  3. As high pressure is not exerted over semipermeable membrane, it does not break.
  4. High osmotic pressure can be measured.

Question 3.
What is molal freezing point depression constant? Derive the formula to establish relation between molal freezing point depression constant and molecular mass of solute.
Or,
What is molal freezing point depression constant? Show that depression in freezing point is a colligative property. How can molecular mass of solute be determined from depression in freezing point?
Answer:
Molal freezing point depression constant is equal to depression in freezing point of the Solution when 1 gm mole is dissolved in 1000 gm of solvent. It is represented by i.e.,
Kf = \(\frac {depression in freezing point}{Number of moles}\)
or ∆ Tf = Kf x m
As Kf is molal freezing point depression constant, then
∆ Tf ∝m
Where, m = Number of moles dissolved in 1000 gm solvent.
Thus, depression in freezing point is proportional to molality of Solution. Molality is directly proportional to number or molecules of solute substance. Therefore, depression in freezing point is a colligative property.
Calculation of molecular mass of solute:
By determination of depression in freezing point, the Molecular mass of non – volatile solute can be determined.
For a Solution: of non – volatile solute,
∆Tf = Kf x m .. (1)
Let WB gram non – volatile solute is dissolved in wA gram solvent and molecular mass of solute is MB.
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 6

Question 4.
What is elevation in boiling points? How addition of a non – volatile solute elevates the boiling point of a solvent? Explain it with the help of graph diagram.
Answer:
The vapour pressure of the Solution:
containing a non – volatile solute is always less than that of pure solvent. Therefore, the Solution has to be heated to higher temperature so that its vapour pressure become equal to the atmospheric pressure. Thus, the boiling point of Solution (Tb)is always higher than the boiling point of solvent (Tb0). The difference Tb – Tb0 is called elevation in boiling point.
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 7
If we plot graph between temperature and vapour pressure of a pure solvent and its Solution, then following curve is obtained. Curve AB gives the vapour pressure for the pure solvent and the curve CD gives the vapour pressure of the Solution: at different temperature. At temperature Tb0 the vapour pressure of the solvent becomes equal to the atmospheric pressure hence it boils at Tb0.

Now, by the addition of non – volatile solute, lowering of vapour pressure of the Solution takes place. And to increase the vapour pressure of the Solution to become equal to atmospheric pressure, the temperature rises. Hence, at Tb the Solution boils. Thus, the boiling point is now elevated from Tb0 to Tb. The rise in temperature that results by the addition of a non – volatile solute in a solvent is termed as elevation in boiling point. It is represented by ∆Tb.
So, elevation in boiling point (∆Tb) = Tb – Tb0.

Question 5.
What are Non – Ideal Solution? How many types of are they? Explain with giving examples.
Answer:
Non – ideal Solutions:
Solutions in which Raoult’s law cannot be applied completely for all concentrations and temperatures are called non – ideal Solutions.
For these Solutions:

  1. PA ≠ P0A XA and pB ≠ P0BXB,
  2. ∆Vmixmg ≠ 0 and
  3. ∆Hmixmg ≠ 0 and

Non – ideal Solution are of two types :

1. Solutions showing positive deviations:
For such Solutions the total vapour pressure will be greater than the corresponding vapour pressure according to the Raoult’s law. The boiling point of such Solutions are lowered. Because interactions between the mol-ecules of Solution: is less than the interactions between pure solvents and solutes. Thus the vapour pressure greater than expected. In these type of Solution formed enthalpy and volume increases.
Characteristics:

  • PA > P0A XA and PB > P0B XB
  • ∆Vmixlng > 0
  • ∆Hmixlng > 0

Example:
Solution of Cyclohexane and Ethanol:
In Ethanol, its molecules are held together by hydrogen bond
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 8
On adding cyclohexane, the molecules tend to occupy the space between ethyl alcohol molecules. As a result the attractive forces between alcohol molecules becomes less. Thus, formation of such Solution: is slight increase in vapour pressure, endothermic and an increase in volume.

2. Solutions showing negative deviations:
For such Solutions the total vapour pressure becomes less than expected according to the Raoult’s law. Because interaction between molecules of Solution is greater than interaction between the pure solvent or solute molecules. Thus the vapour pressure of Solution is less. In these type of Solutions formed enthalpy and volume decreases.
Characteristics:

  • PA < P0A XA and PB < P0B XB
  • ∆Vmixlng < 0
  • ∆Hmixlng < 0

Example:
Solution of Acetone and Chloroform:
When acetone and chloroform are mixed, there are new attractive forces due to intermolecular hydrogen bonding. These force become stronger. Thus the formation of such Solution:s is an exothermic and the vapour pressure of Solution is less and decrease in volume.
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 9

Solutions Numerical Questions

Question 1.
Calculate the mass of urea (NH2 CONH2 ) required in making 2.5 kg of 0.25 molal aqueous Solution. (NCERT)
Solution:
0.25 molal aqueous Solution means that
Moles of urea = 0.25 mole
Mass of solvent (water) = 1 kg = 1000 g
Molar mass of urea = 14+ 2 +12+ 16 +14+ 2 = 60 g mol-1
∴ 0 .25 mole of urea = 60 x 0.25 mole = 15 g
Total mass of the Solution = 1000 + 15 g
= 1015 g = 1.015 g
∵ 1.015 kg of Solution contain urea = 15 g
∴ 2.5 kg of Solution will require urea = \(\frac {1.5}{1.015}\) x 2.5 kg = 37 g.

Question 2.
Henry’s law constant for CO2 in water is 1.67 x 108 Pa at 298 K. Calculate the quantity of CO2 in 500 ml of soda water when packed under 2.5 atm CO2 pressure at 298 K. (NCERT)
Solution:
According to Henry’s law,
P = KHX .. (1)
P = 2.5 atm = 2.5 x 101325 Pa, KH= 1.67 x 108 Pa
Putting these values in equation (1), we get
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 10

Question 3.
Calculate the mass of ascorbic acid (Vitamin C, C6H8O6) to be dissolved in 75 g of acetic acid to lower its melting point by 1.5°C. KfK kg mol-1. (NCERT)
Solution:
We know that ∆Tf = Kf x \(\frac{\mathrm{W}_{\mathrm{B}} \times 1000}{\mathrm{M}_{\mathrm{B}} \times \mathrm{W}_{\mathrm{A}}}\) .. (1)
Given ∆Tf = 1.5, Kf = 3.9 K kg mol-1, WA = 75g, MB (ascorbic acid, C6H8O6)
= 6 x 12 + 8 x l + 16 x 6 = 176
Putting, these values in equation (1),
1.5 = 3.9 x \(\frac{\mathrm{W}_{\mathrm{B}} \times 1000}{176 \times 75}\)
WB = 5.077g.

MP Board Solutions

Question 4.
Calculate the osmotic pressure in pascals exerted by a Solution prepared by dissolving 1.0 g of polymer of molar mass 1,85,000 in 450 ml of water at 37°C. (NCERT)
Solution:
π = CRT
= \(\frac {n}{V}\) RT
Here, number of moles of solute dissolved (n)
= \(\frac {1.0}{185,000}\) mol-1
= \(\frac {1}{185,000}\) g mol-1
v = 450mL = 0.450 L
T = 37°C = 37 + 273 = 310 K
R = 8.314 K Pa LK-1 mol-1
= 8.314 x 103 Pa LK-1 mol-1
Substituting these values we get,
MP Board Class 12th Chemistry Important Questions Chapter 2 Solutions 11

Question 5.
Concentrated nitric acid used in laboratory work is 68% nitric acid by mass in aqueous Solution. What should be the molarity of such a sample of the acid if the density of the Solution is 1.504 g ml-1? (NCERT)
Solution:
68% nitric acid by mass means that
Mass of nitric acid = 68 g
Mass of Solution = 100 g
Molar mass of HNO3 = 63 g mol-1
∴ 68 g HNO3 = \(\frac {68}{63}\) mole = 1.079 mole
Density of solution = 1.504 g mL-1
∴ Volume of solution = \(\frac {100}{1.504}\)mL = 66.5 mL = 0 0665 L
Molarity of the solution = \(\frac {Moles of the solute}{Volume of Solution in L}\)
= \(\frac {1.079}{0.0665}\) M = 16.23 M.

Question 6.
Vapour pressure of water at 293 K is 17.535 mm Hg. Calculate the vapour pressure of water at 293K when 25g of glucose is dissolved in 450g of water. (NCERT)
Solution:
\(\frac { { p }^{ 0 }-{ p }^{ 0 } }{ { p }^{ 0 } } \) = X2 = \(\frac { { W }_{ B }{ M }_{ A } }{ { M }_{ B }{ W }_{ A } } \)
or \(\frac { 17.535-{ P }_{ s } }{ 17.535 }\) = \(\frac { 25×18 }{ 180×450 }\)
or \(\frac { 17.535-{ P }_{ s } }{ 17.535 }\) = 5.56×10-3
17.535 – ps = 0.0975
Ps = 17.438 mm Hg.

Question 7.
Henry’s law constant for the molality of methane in benzene at 298 K is 4.27 x 105mm Hg. Calculate the solubility of methane in benzene at 298K under 760 mm Hg. (NCERT)
Solution:
Here, KH = 4.27 x 105 mm, P = 760 mm
Applying Hemy’s law, P = KHX
\(\mathrm{X}=\frac{\mathrm{P}}{\mathrm{K}_{\mathrm{H}}}=\frac{760}{4 \cdot 27 \times 10^{5}}\) =1.78 x 10-3
∴ Mole fraction of methane in benzene = 1.78 x 10-3

MP Board Solutions

Question 8.
Benzene and toluene form ideal solution over the entire range of composition. The vapour pressure of pure benzene and toluene at 300K are 50.71 mm Hg and 32.06 mm Hg respectively. Calculate the mole fraction of benzene in vapour phase if 80 g of benzene is mixed with 100 g of toluene. (NCERT)
Solution:
A → Benzene (C6H6); B —> Toluene (C7H8)
Number of moles of benzene nA = \(\frac {80}{78}\)
Number of moles of toluene = nB = \(\frac {100}{92}\)
XA = \(\frac { { n }_{ A } }{ { n }_{ A }+{ n }_{ B } } \quad\) = \(\frac {1.026}{1.026+1.087}\) = 0.486
XB = 1 – XA = 1 – 0.486 = 0.514
Given P°A = 50.71 mm Hg and P°B = 32.06 mm Hg
We know, P = PA + PB
= P°AXA + P°AXB
= (50.71 x 0.486) + (32.06 x 0.514)
= 24.65+ 16.48 = 41-13
Mole fraction of components in vapour phase may be calculated by using Dalton’s law,
PA = yA x P
yA = \(\frac { { P }_{ A } }{ p } \quad \) = \(\frac {24.65}{41.13}\) = 0.60

Question 9.
Determine the osmotic pressure of 5% glucose Solution at 25°C. Molecular mass of glucose = 180, R = 0.0821 litre atmosphere. (MP 2013,16)
Solution:
∴5 gm glucose is dissolved in 100 ml.
∴ 180 gm glucose will be dissolved in \(\frac {100}{5}\) x 180
= 3600 ml = 3.6 litre.
We know that,
PV = RT
P x 3.6 = 0.0821 x (25 + 273) = 298
or P = \(\frac {0.52×12.5×1000}{0.63×170}\)
= 6.80 atmospheres.

MP Board Solutions

Question 10.
12.5 gm of urea dissolved in 170 gm of water. The elevation in boiling point was found to be 0.63 K. If KA for water = 0.52 Km1, calculate the molecular mass of urea. (MP 2010)
Solution:
Formula: MB\(\frac { { K }_{ b }x{ W }_{ B }x1000 }{ ∆{ T }_{ b }x{ W }_{ A } }\)
Given: WA = 170gm,WB= 12.5gm, ∆TB=0.63K, Kb=0.52Km-1
MB = \(\frac {0.52×12.5×1000}{0.63×170}\)
MB = 60.7 gm mol-1

Question 11.
If 6.84 gram sucrose is dissolved in 100 ml. Solution then what will be its osmotic pressure at 20°C? (R = 0.082 litre atmosphere K-1mol-1) (Molecular mass of sucrose MB = 342)
Solution:
Given : Weight of solute (WB) = 6.84 gm
Molecular mass of solute (MB) = 342
Volume of Solution: (V) =\(\frac {100}{1000}\) =0.1 litre
Temperature (T) = 20° C = 273 + 20 = 293 K
Solution constant R = 0.082 litre atmosphere K-1 mol-1
Osmotic pressure π = \(\frac { { W }_{ B }RT }{ { M }_{ B }V } \)
= \(\frac {6.84×0.082×293}{342×0.1}\)
= 4.8 atmosphere.

MP Board Class 12th Chemistry Important Questions

MP Board Class 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei

MP Board Class 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei

Nuclei Important Questions 

Nuclei Objective Type Questions

Question 1.
Choose the correct answer of the following:

Half-life formula is the time required for the amount of something to fall to half its initial value.

Question 1.
The relation between half life time Tm and decay constant of a radioactive material is:
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 1
Answer:
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 2

Question 2.
The decayed part of a radioactive sample in two half lives will be :
(a) One fourth
(b) Half
(c) Three fourth
(d) Full part
Answer:
(c) Three fourth

Question 3.
The α – particle is a :
(a) Hydrogen nucleus
(b) Deuterium nucleus
(c) Helium nucleus
(d) Tritium.
Answer:
(c) Helium nucleus

MP Board Solutions

Question 4.
The value of A and Z in the nuclear reaction \(_{ 238 }^{ 92 }{ U }\) → \(_{ A }^{ Z }{ Th }\) + \(_{ 4 }^{ 2}{ He }\) will be :
(a) 234,94
(b) 234,90
(c) 238,94
(d) 238,90.
Answer:
(b) 234,90

Question 5.
The source of energy in the sun is :
(a) Nuclear fission
(b) Nuclear fusion
(c) Chemical reaction
(d) Photo electric reaction.
Answer:
(b) Nuclear fusion

Question 6.
For the nuclear fusion which of the following is suitable :
(a) Heavy nucleus
(b) Lighter nucleus
(c) Atom bomb
(d) Radio active decay.
Answer:
(b) Lighter nucleus

Question 7.
In the symbol of nucleus \(_{ Z }^{ A }{ X }\) there are :
(a) Z – neutrons, (A – Z) protons
(b) Z – protons, (A – Z) neutrons
(c) Z – protons, A neutrons
(d) A protons. Z neutrons.
Answer:
(b) Z – protons, (A – Z) neutrons

Question 8.
In the gamma ray emission of a nucleus :
(a) Only proton number varies
(b) Number of neutrons and protons both varies
(c) There is no change in number of protons and neutrons
(d) Only number of neutrons varies.
Answer:
(c) There is no change in number of protons and neutrons

Question 2.
Fill in the blanks :

  1. In the controlled chain reaction the fast moving neutrons are slowed down by using moderator. These neutrons are called …………..
  2. The Einstein’s mass energy equivalence relation is …………..
  3. The unstable nucleus obtained by artificial radioactivity is called …………..
  4. The mass of neutrons in a nucleus is nearly equal to mass of …………..
  5. In the process of ………….. the lighter nuclei together makes a heavy nucleus.
  6. In nuclear reactor the heavy water is used as …………..
  7. The SI unit of radio activity is …………..
  8. In the range mass number A = 30 to A = 170 the value of ………….. is nearly constant.

Answer:

  1. Thermal neutrons
  2. E = me2
  3. Radio active isotopes
  4. Protons
  5. Fusion
  6. Moderator
  7. Becquerel (Bq)
  8. Per nucleon binding energy.

Question 3.
Match the columns :
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 3
Answer:

  1. (d)
  2. (e)
  3. (a)
  4. (c)
  5. (b)

Question 4.
Write the answer in one word/sentence :

  1. Write the equation showing the decay of free neutron.
  2. The energy distribution of P – rays is continuous. Why?
  3. In the α and β particles, which one has more ionization power?
  4. The ionization power of α – particles is high. Why?
  5. The penetrating power of γ(gamma) – rays is very high. Why?
  6. Write an equation showing nuclear fusion.
  7. Which part of the electromagnetic spectrum has highest penetrating power?
  8. What is order of size of nucleus?
  9. Does the density of all nuclei remain same? If yes then write its order.
  10. How is nuclear radius related to atomic mass?

Answer:

  1. 0n11H1 + -1B0 + \(\overline { ν }\)
  2. Because during the β – decay anti – neutrino is emitted
  3. α – particles
  4. Because α – particles have large mass and large size and their velocity is low
  5. Because their velocity is very high and they do not have any charge,
  6. 1H2 + 1H22He4 + Q
  7. γ – rays
  8. 10-15 m
  9. Yes, 1017 per cubic metre
  10. R = R0 A1/3

Nuclei Very Short Answer Type Questions

Question 1.
What will be the ratio of radii of two nucleus of mass number A1 and A2?
Solution:
From the formula
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 4

Question 2.
What will be the energy equivalent to 10 milligram?
Solution:
E = mc2
= 10 x 10-6 x (3 x 108)2
= 9 x 109 joule.

Question 3.
What are thermal neutrons?
Answer:
In the process of controlled nuclear fission, the fast moving neutrons are slowed down with the help of moderation. These slow stray neutrons are called as thermal neutrons.

Question 4.
Does the ratio of neutron and proton after emission of α – particle in a nucleus increase, decrease or remain constant?
Answer:
The ratio can increase, decrease or can remain same. It depends upon the nature of nucleus.

MP Board Solutions

Question 5.
Nuclear fusion is not possible in laboratory. Why?
Answer:
For nuclear fusion very high temperature (≈ 107K) and very high pressure is required which is not possible in laboratory.

Question 6.
Is a free neutron a stable particle?
Answer:
No, free neutron is decayed in a proton, an electron and an antineutrino (\(\overline { ν }\)).
0n11P1 + -1e0 + \(\overline { ν }\)

Question 7.
In heavy nucleus the number of neutrons is more than number of protons. Explain why?
Answer:
In a nucleus there is a coulomb’s repulsive force between protons in addition to a strong attraction nuclear force. On the other hand in case of neutrons, within the nucleus, there is only a short range attractive nuclear force. For heavy nuclei to be stable the repulsive force must be less. This is possible only if the number of neutrons is more than number of protons.

Question 8.
If a radioactive substance that is capable to emit a, p and y rays is kept on a piece of paper, then which rays has the maximum possibility to be stoped?
Answer:
As the mass of α – particles is more and its penetrating power is least, so it will be stopped.

Question 9.
Why is heavy water used as moderator in a nuclear reactor?
Answer:
Heavy water contains protons (of mass nearly equal to the mass of neutrons). Fast moving neutrons undergo elastic collision with these slow moving neutrons and thus get slowed down. Hence heavy water is used as moderator.

MP Board Solutions

Question 10.
An atom expressed by YXA emits n α – particles. How many proton will remain in it? What will be the new atomic number of new atom?
Answer:
In an α – particles there are 2 protons. If n α – particles are emitted then 2n proton will be reduced.
∴ No. of remaining protons = Z – 2n
Atomic number = Y – 2n.

Question 11.
Penetrating power of β – particles is more than that of α – particles but its penetrating power is less. Why?
Answer:
β – particles have small size and high velocity so its penetrating power is more than α – particles. Due to small size and high velocity the probability of collision with gas molecules decreases and hence ionization power becomes less.

Question 12.
The nuclear fusion could not be used as an experimental and controlled source of energy till now. Why?
Answer:
The nuclear fusion takes place at very high temperature. Due to such very high temperature it is not possible to control it.

Question 13.
Why is a neutron preferred as a bombarding particle in nuclear fission?
Answer:
Neutron is a neutral particle i.e., it has no charge. So it is neither repelled nor attracted by the nucleus and hence can penetrate deep into the nucleus to cause a nuclear reaction.

Question 14.
β – rays are emitted from nucleus. They are made of fast moving electron though there are no electrons in the nucleus. Why it is so?
Answer:
Nucleus has no electron in it. Actually due to decay of neutron into proton and electron, the β – rays (particle) are produced.
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 5

Question 15.
Justify that gamma rays have more penetrating power and α – particles have more ionizing power.
Answer:
Gamma rays are electromagnetic waves. Its speed is equal to the speed of light. So they can penetrate deeply into the matter i.e., their penetrating power is high, α – particles has high mass and posses greater kinetic energy. So when they collide with any atom, it transfer its energy to orbital electrons and they are ejected. Hence α – particles has high ionizing power.

MP Board Solutions

Question 16.
The mass number of two nucleus are 1 : 2. What is the ratio of their nuclear density?
Answer:
1 : 1 because nuclear density does not depend on mass number.

Question 17.
What is effect of temperature and pressure or radio activity?
Answer:
No, effect.

Question 18.
Due to the emission of α – particles does the ratio of neutron to proton decrease, increase or remains the same?
Answer:
The ratio \(\frac {n}{p}\) increases, because number of protons decreases by 2.

Nuclei Short Answer Type Questions

Question 1.
Which particles remains inside the nucleus? What will be the number of neutrons in the nucleus zXA?
Answer:
The neutrons and protons remains inside the nucleus. In the nucleus zXA number of neutrons be A – Z.

Question 2.
Define decay constant and mean life of a radioactive substance write their units.
Answer:
Decay Constant:
The decay constant is defined as the reciprocal of that time interval during which the number of active nuclei in a given sample of a radioactive substance reduces to times of the initial value of number of nuclei.
If T is half life time and X is decay constant then
T = \(\frac {0.6931}{λ}\)
Its unit is “per second”.

Mean life:
The reciprocal of decay constant is called mean life, its unit is ‘second’.

MP Board Solutions

Question 3.
What is radioactivity? Write the names of the rays emitted from radio – active substances.
Answer:
Radioactivity is that property by virtue of which the nucleus of a heavy element disintegrates itself with the emission of radiation without being forced by any external agent to do so.

Following rays are emitted from a radioactive substance :

  1. α – rays
  2. β – rays
  3. γ – rays.

Question 4.
A radioactive nucleus decays as given below :
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 6
If the mass number of A2 is 176 and atomic number is x then what is the atomic number and mass number of A1 and A? Are they isotopes or isobars?
Answer:
The mass number of A2 = 176,
atomic number of A2 = 71.
Due to decay of α – particle mass number decreases by 4 and atomic number decreases by 2.
∴ Mass number of A1 = 176 + 4 = 180 and
its atomic number = 71 + 2 = 73
Similarly
The mass number of A = 180 + 1 = 181 and
atomic number of A = 73 + 0 = 73
Since, the atomic number of A and A1 are same so they are isotopes.

Question 5.
Define decay constant of a radioactive substance. Write its relation with half life?
Answer:
The decay constant is defined as the reciprocal of that time interval during which the number of active nuclei in a given sample of a radioactive substance reduces to times of the initial value of number of nuclei.
If T is half life time and X is decay constant then
T = \(\frac {0.6931}{λ}\).

MP Board Solutions

Question 6.
What is nuclear fission? Give an example.
Answer:
When a heavier nucleus is bombarded with neutrons then it get splitted into two lighter nuclei. This process is called as nuclear fission.
A huge amount of energy is released in this process.
92U235 + 0n156Ba141 + 36kr92 + 3 0n1 + 200 MeV.

Question 7.
What is nuclear fusion? Give an example.
Answer:
When two lighter nuclei fused together to form a heavier nucleus then a huge amount of energy is released in this process. This process is called nuclear fusion.
1H2 + 1H22He4+ 24MeV.

Question 8.
A radioactive element with mass number 218 and atomic number 84 emits a β – particle. What would be the mass number and atomic number after decay?
Answer:
Since, after the emission of β – particle there is no change in the mass number of element but its atomic number is increased by 1.
Therefore the mass number will be 218 and atomic number will be 84 + 1 = 85.

Question 9.
The ratio of radii of two nuclei are 1 : 2. Find out the ratio of their mass number.
Solution:
Radius of nucleus
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 7

Question 10.
The nuclear fusion process is difficult as compared to nuclear fission. Why?
Answer:
For nuclear fusion a high temperature (≈ 107 K) is required. It is very difficult to achieve this temperature, so nuclear fusion is difficult.

Question 11.
Write the important properties of nuclear forces.
Answer:

  1. Nuclear forces are attraction force
  2. These forces does not depend on charge
  3. These forces are short range forces
  4. They are strong forces
  5. The nuclear forces are not central forces.

Question 12.
Write properties of nuclear forces. Prove that the density of nucleus is independent of mass number.
Answer:
Properties of nuclear forces :

  1. Nuclear forces are attraction force
  2. These forces does not depend on charge
  3. These forces are short range forces
  4. They are strong forces
  5. The nuclear forces are not central forces.

Let the mass number of a nucleus is A and radius is r then volume of nucleus be
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 8
Thus, it is clear that material density of a nucleus is independent of its mass number.

MP Board Solutions

Question 13.
Write difference between nuclear fusion and nuclear fission.
Answer:
Difference between nuclear fusion and nuclear fission :
Nuclear fission:

  • In this prosses a heavy nucleus splitted into two lighter nuclei.
  • This process is possible at normal temperature.
  • Per fission released energy is very high (200 MeV)

Nuclear fusion:

  • In this process two lighter nuclei fused together to form a heavy nucleus.
  • This process is possible at very high temperature.
  • Per fusion released energy is comparatively less (24 MeV).

Nuclei Long Answer Type Questions

Question 1.
Define ‘electron volt’ and ‘Atomic mass unit”. Find out the energy equivalent to mass of a proton in joule.
Answer:
Electron volt:
The energy acquired by an electron when it is being accelerated by a potential difference of 1 volt is called ‘electron volt’.
1 electron volt = 1.6 x 10-19J.

Atomic mass unit:
An atomic mass unit is defined as (\(\frac {1}{12}\)) of the mass of 1 atom of carbon – 12.
1 atomic mass unit = 1.66 x 10-27kg
(1 a.m.u. or only 1u)
The mass of proton = 1.673 x 10-27 x (3 x 108 )2
= 15.05 x 10-11J
= 1.505 x 10-10J
∴ The energy equivalent mass of 1 proton is 1.505 x 10-10J

MP Board Solutions

Question 2.
Draw the graph showing the variation of binding energy per nucleon with the mass number. Write important conclusions drawn from it. (CBSE 1994)
Or
Draw the graph showing the variation of binding energy per nucleon with mass number. Highlight the region where the nuclei are more stable. (CBSE 1996)
Or
Draw the graph showing the variation of binding energy per nucleon with the mass number. Highlight the region where the nuclear fusion takes place. (CBSE 1996)
Answer:
From the binding energy curve, it follows that:

1. The average binding energy/ nucleon for nearly all elements is 8 MeV

2. The maximum value of binding energy per nucleon is 8.79 MeV and it is for Fe. This explains the large abundance of Fe in nature

3. Since for nuclei of intermediate mass numbers, the value of the binding energy per nucleon is around the maximum value, these nuclei are the most stable

4. The binding energy/ nucleon decreases for nuclei of mass number more than 56 and its least value is 7.6 MeV.
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 9

5. Below mass number 28, there are peaks in the curve corresponding to those nuclei whose mass numbers are multiples of four. These nuclei contain an equal number of protons and neutrons. Though peaks occur corresponding to \(_{ 4 }^{ 2 }{ He}\), \(_{ 8 }^{ 4 }{ Be }\), \(_{ 12 }^{ 6 }{ C }\), \(_{ 16 }^{ 8 }{ O }\) and \(_{ 20}^{ 10 }{ Ne }\), we have shown only the first peak corresponding to \(_{ 4 }^{ 2 }{ He }\) Obviously, these nuclei have more binding energy per nucleon than their neighbours. This explains the stability of an α – particle (\(_{ 4 }^{ 2 }{ U }\))

6. The smallest value of the binding energy per nucleon is in the case of a deuteron (\(_{ 2 }^{ 1 }{ U }\)) and its value (2.2 MeV)/2 = 1.1 MeV. This is confirmed by the fact that a photon whose energy is 2.2 MeV or more, can split a deuteron into a free neutron and a free proton. This phenomenon is called the photodisintegration of a deuteron.

Question 3.
Calculate binding energy per nucleon of 26Fe56.
Given : m(\(_{ 26 }^{ 56 }{ Fe }\)) = 55.934939 a.m.u., m (proton ) = 1.007825 a.m.u., m (neutron) = 1.008665 a.m.u. (CBSE 1993,95, 2000 Supp.)
Solution:
Number of protons in = \(_{ 26 }^{ 56 }{ He }\) is 26 and number of neutrons is 56 – 26 = 30.
∴ Mass of 26 protons = 1 0077825 x 26
= 26.202345 a.m.u.
Mass of 30 neutrons = 1.008665 x 30
= 30.25995 a.m.u.
Total mass of nucleons = 26.202345 + 30.25995
= 56.4623 a.m.u.
Mass of 26Fe56 = 55.934939.a.m.u.,
∴ Mass defect ∆m = 56.4623 – 55.934939
= 0.527361 a. m. u.
∴ Binding energy of 26Fe56 = 0.527361 x 931
= 490.973091 MeV
Binding energy per nucleon = \(\frac {490.973091}{56}\)
= 8.7674 MeV.

MP Board Solutions

Question 4.
Define the term half-life period and decay constant of a radioactive sample. Derive a relation between these terms.
Answer:
The half – life of a radioactive substance is the time it takes half of a given number of radioactive nuclei to decay. (CBSE 1995, 2001)
The SI unit of Tm is second (s).
Example:
Half life of radium is 1600 years. It means that if 1 gm of radium is taken then after 1600 years \(\frac {1}{2}\) gm of radium will decay.
Let us assume that at time t = 0, the number of radioactive nuclei present is N0 and after time t, the number of radioactive nucleus remaining is N, then according to law of radioactive decay,
N = N0e-λt
Where, λ is decay constant.
If the half – life of radioactive sample is T1/2, then at t = T1/2
N = \(\frac { { N }_{ 0 } }{ 2 }\)
Substituting in equation (1), we get ,
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 10
From equation (2), it is clear that half life of a radioactive sample is inversely proportional to decay constant.

Question 5.
State law of radioactive decay and derive the following formula :
N = N0 e-λt, where symbols have their usual meaning.
Answer:
According to the radioactive decay law :
The rate at which a particular decay process occurs in a radioactive sample is proportional to the number of radioactive nuclei present (that is, those nuclei that have not yet decayed).
Let N0 = Total number of radioactive nuclei present originally at time t = 0,
(t = 0 refers to the time when the radioactive element is freshly separated from its by products), and N = Total number of radioactive nuclei present at any time t.
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 11
According to the radioactive decay law,
– \(\frac {dN}{dt}\) ∝ N
(- ve sign indicated that the number of radioactive nuclei decreases with time).
Thus, – \(\frac {dN}{dt}\) = λN
Where A is a constant of proportionality and is called the disintegration constant or decay constant.
Equation (1) can be written as
\(\frac {dN}{dt}\) = – λdt
When t = 0, N = N0 and when t = t,N = N.
Integrating equation (2) within proper limits,
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei
From equation (3) it is clear that (i) the radioactive decay is an exponential process i.e., the decay is fast initially and later on it becomes slow.

Nuclei Numerical Questions

Question 1.
An imaginary fission reaction is given below :
\(_{ 92 }^{ 236 }{ X }\) → \(_{ a}^{ 141 }{ Y }\) + \(_{ 36 }^{ b }{ Z }\) + 3\(_{ 0 }^{ 1 }{ n }\)
Find out value of a and b.
Solution:
a + 36 + 0 = 92
a = 56.
and 141 + b + 3 = 236
b = 92.

MP Board Solutions

Question 2.
The half life of a radioactive substance is 30 days. What will be the number of radioactive atoms after 90 days?
Solution:
Given : T = 30 days, t = 90 days
n = \(\frac {t}{T}\) = \(\frac {90}{30}\) = 3
Formula : N = N0
= N0(\(\frac {1}{2}\))n
= N0(\(\frac {1}{2}\))3
= \(\frac { { N }_{ 0 } }{ 8 }\)
Thus, the number of radioactive atoms be \(\frac {1}{8}\) times of their initial value.

Question 3.
How many fission per second takes place if its half life for α – decay is 1.42 x 1017sec?
Solution:
MP Board 12th Physics Important Questions Chapter 13 Nuclei 13

MP Board Class 12th Physics Important Questions

MP Board Class 12th Maths Solutions गणित

MP Board Class 12th Maths Solutions Guide Pdf Free Download गणित in both Hindi Medium and English Medium are part of MP Board Class 12th Solutions. Here we have given NCERT Solutions of Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 12 Maths Book Solutions Ganit Pdf.

Students can also download MP Board 12th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 12th Maths Book Solutions in Hindi Medium

MP Board Class 12th Maths Chapter 1 संबंध एवं फलन

MP Board Class 12th Maths Chapter 2 प्रतिलोम त्रिकोणमितीय फलन

MP Board Class 12th Maths Chapter 3 आव्यूह

MP Board Class 12th Maths Chapter 4 सारणिक

MP Board Class 12th Maths Chapter 5 सांतत्य तथा अवकलनीयता

MP Board Class 12th Maths Chapter 6 अवकलज के अनुप्रयोग

MP Board Class 12th Maths Chapter 7 समाकलन

MP Board Class 12th Maths Chapter 8 समाकलनों के अनुप्रयोग

MP Board Class 12th Maths Chapter 9 अवकल समीकरण

MP Board Class 12th Maths Chapter 10 सदिश बीजगणित

MP Board Class 12th Maths Chapter 11 त्रि-विमीय ज्यामिति

MP Board Class 12th Maths Chapter 12 रैखिक प्रोग्रामन

MP Board Class 12th Maths Chapter 13 प्रायिकता

MP Board Class 12th Maths Book Solutions in English Medium

MP Board Class 12th Maths Chapter 1 Relations and Functions

  • Chapter 1 Relations and Functions Ex 1.1
  • Chapter 1 Relations and Functions Ex 1.2
  • Chapter 1 Relations and Functions Ex 1.3
  • Chapter 1 Relations and Functions Ex 1.4
  • Chapter 1 Relations and Functions Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 2 Inverse Trigonometric Functions

  • Chapter 2 Inverse Trigonometric Functions Ex 2.1
  • Chapter 2 Inverse Trigonometric Functions Ex 2.2
  • Chapter 2 Inverse Trigonometric Functions Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 3 Matrices

  • Chapter 3 Matrices Ex 3.1
  • Chapter 3 Matrices Ex 3.2
  • Chapter 3 Matrices Ex 3.3
  • Chapter 3 Matrices Ex 3.4
  • Chapter 3 Matrices Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 4 Determinants

  • Chapter 4 Determinants Ex 4.1
  • Chapter 4 Determinants Ex 4.2
  • Chapter 4 Determinants Ex 4.3
  • Chapter 4 Determinants Ex 4.4
  • Chapter 4 Determinants Ex 4.5
  • Chapter 4 Determinants Ex 4.6
  • Chapter 4 Determinants Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 5 Continuity and Differentiability

  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.1
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.2
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.3
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.4
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.5
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.6
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.7
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Ex 5.8
  • Chapter 5 Continuity and Differentiability Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 6 Application of Derivatives

  • Chapter 6 Application of Derivatives Ex 6.1
  • Chapter 6 Application of Derivatives Ex 6.2
  • Chapter 6 Application of Derivatives Ex 6.3
  • Chapter 6 Application of Derivatives Ex 6.4
  • Chapter 6 Application of Derivatives Ex 6.5
  • Chapter 6 Application of Derivatives Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 7 Integrals

  • Chapter 7 Integrals Ex 7.1
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.2
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.3
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.4
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.5
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.6
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.7
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.8
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.9
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.10
  • Chapter 7 Integrals Ex 7.11
  • Chapter 7 Integrals Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 8 Application of Integrals

  • Chapter 8 Application of Integrals Ex 8.1
  • Chapter 8 Application of Integrals Ex 8.2
  • Chapter 8 Application of Integrals Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 9 Differential Equations

  • Chapter 9 Differential Equations Ex 9.1
  • Chapter 9 Differential Equations Ex 9.2
  • Chapter 9 Differential Equations Ex 9.3
  • Chapter 9 Differential Equations Ex 9.4
  • Chapter 9 Differential Equations Ex 9.5
  • Chapter 9 Differential Equations Ex 9.6
  • Chapter 9 Differential Equations Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 10 Vector Algebra

  • Chapter 10 Vector Algebra Ex 10.1
  • Chapter 10 Vector Algebra Ex 10.2
  • Chapter 10 Vector Algebra Ex 10.3
  • Chapter 10 Vector Algebra Ex 10.4
  • Chapter 10 Vector Algebra Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 11 Three Dimensional Geometry

  • Chapter 11 Three Dimensional Geometry Ex 11.1
  • Chapter 11 Three Dimensional Geometry Ex 11.2
  • Chapter 11 Three Dimensional Geometry Ex 11.3
  • Chapter 11 Three Dimensional Geometry Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 12 Linear Programming

  • Chapter 12 Linear Programming Ex 12.1
  • Chapter 12 Linear Programming Ex 12.2
  • Chapter 12 Linear Programming Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Chapter 13 Probability

  • Chapter 13 Probability Ex 13.1
  • Chapter 13 Probability Ex 13.2
  • Chapter 13 Probability Ex 13.3
  • Chapter 13 Probability Ex 13.4
  • Chapter 13 Probability Ex 13.5
  • Chapter 13 Probability Miscellaneous Exercise

MP Board Class 12th Maths Syllabus and Marking Scheme

Latest Syllabus and Marks Distribution Maths Class XII for the academic year 2019 – 2020 Year Examination.

Maths
Class XII

Time : 3 Hours.
Maximum Marks: 100

Unit Wise Division of Marks

Unit Topics Periods Marks
I. Relations and Functions 30 10
II. Algebra 50 13
III. Calculus 80 44
IV. Vectors and Three-dimensional Geometry 30 17
V. Linear Programming 20 06
VI. Probability ‘ 30 10
Total 240 100

Unit I: Relations and Functions

1. Relations and Functions
Types of relations: reflexive, symmetric, transitive and equivalence relations. One to one and onto functions, composite functions, inverse of a function. Binary operations.

2. Inverse Trigonometric Functions
Definition, range, domain, principal value branch. Graphs of inverse trigonometric functions. Elementary properties of inverse trigonometric functions.

Unit II: Algebra

3. Matrices
Concept, notation, order, equality, types of matrices, zero and identity matrix, transpose of a matrix, symmetric and skew symmetric matrices. Operation on matrices: Addition and multiplication and multiplication with a scalar. Simple properties of addition, multiplication and scalar multiplication. Noncommutativity of multiplication of matrices and existence of non-zero matrices whose product is the zero matrix (restrict to square matrices of order 2). Concept of elementary row and column operations. Invertible matrices and proof of the uniqueness of inverse, if it exists; (Here all matrices will have real entries).

4. Determinants
Determinant of a square matrix (up to 3 x 3 matrices), properties of determinants, minors, co-factors and applications of determinants in finding the area of a triangle. Adjoint and inverse of a square matrix. Consistency, inconsistency and number of solutions of system of linear equations by examples, solving system of linear equations in two or three variables (having unique solution) using inverse of a matrix.

Unit III: Calculus

5. Continuity and Differentiability
Continuity and differentiability, derivative of composite functions, chain rule, derivatives of inverse trigonometric functions, derivative of implicit functions. Concept of exponential and logarithmic functions.
Derivatives of logarithmic and exponential functions. Logarithmic differentiation, derivative of functions expressed in parametric forms. Second order derivatives. Rolle’s and Lagrange’s Mean Value Theorems (without proof) and their geometric interpretation.

6. Applications of Derivatives
Applications of derivatives: rate of change of bodies, increasing/decreasing functions, tangents and normals, use of derivatives in approximation, maxima and minima (first derivative test motivated geometrically and second derivative test given as a provable tool). Simple problems (that illustrate basic principles and understanding of the subject as well as real-life situations).

7. Integrals
Integration as inverse process of differentiation.Integration of a variety of functions by substitution, by partial fractions and by parts, Evaluation of simple integrals of the following types and problems based on them.
Definite integrals as a limit of a sum, Fundamental Theorem of Calculus (without proof). Basic properties of definite integrals and evaluation of definite integrals.

8. Applications of the Integrals
Applications in finding the area under simple curves, especially lines, circles/parabolas/ellipses (in standard form only), Area between any of the two above said curves (the region should be clearly identifiable).

9. Differential Equations
Definition, order and degree, general and particular solutions of a differential equation.Formation of differential equation whose general solution is given. Solution of differential equations by method of separation of variables solutions of homogeneous differential equations of first order and first degree. Solutions of linear differential equation of the type:
dy/dx + py = q, where p and q are functions of x or constants.
dx/dy + px = q, where p and q are functions of y or constants.

Unit IV: Vectors and Three-Dimensional Geometry

10. Vectors
Vectors and scalars, magnitude and direction of a vector.Direction cosines and direction ratios of a vector. Types of vectors (equal, unit, zero, parallel and collinear vectors), position vector of a point, negative of a vector, components of a vector, addition of vectors, multiplication of a vector by a scalar, position vector of a point dividing a line segment in a given ratio. Definition, Geometrical Interpretation, properties and application of scalar (dot) product of vectors, vector (cross) product of vectors, scalar triple product of vectors.

11. Three – dimensional Geometry
Direction cosines and direction ratios of a line joining two points.Cartesian equation and vector equation of a line, coplanar and skew lines, shortest distance between two lines.Cartesian and vector equation of a plane. Angle between (i) two lines, (ii) two planes, (iii) a line and a plane. Distance of a point from a plane.

Unit V: Linear Programming

12. Linear Programming
Introduction, related terminology such as constraints, objective function, optimization, different types of linear programming (L.P.) problems, mathematical formulation of L.P. problems, graphical method of solution for problems in two variables, feasible and infeasible regions (bounded and unbounded), feasible and infeasible solutions, optimal feasible solutions (up to three non-trivial constraints).

Unit VI: Probability

13. Probability
Conditional probability, multiplication theorem on probability. independent events, total probability, Baye’s theorem, Random variable and its probability distribution, mean and variance of random variable. Repeated independent (Bernoulli) trials and Binomial distribution.

We hope the given MP Board Class 12th Maths Solutions Guide Pdf Free Download गणित in both Hindi Medium and English Medium will help you. If you have any queries regarding NCERT Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 12 Maths Book Solutions Ganit Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 12th Chemistry Solutions रसायन विज्ञान

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Guide Pdf Free Download रसायन विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium are part of MP Board Class 12th Solutions. Here we have given Madhya Pradesh Syllabus NCERT Solutions for Class 12 Chemistry Book Solutions Rasayan Vigyan Pdf.

Students can also download MP Board 12th Model Papers to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.

MP Board Class 12th Chemistry Book Solutions in Hindi Medium

MP Board Class 12th Chemistry Book Solutions in English Medium

MP Board Class 12th Chemistry Syllabus and Marking Scheme

Latest Syllabus and Marks Distribution Chemistry Class XII for the academic year 2019 – 2020 Year Examination.

Chemistry
Class XII

Time : 3 Hours.
Maximum Marks: 70

Unit Wise Division of Marks

MP Board Class 12th Chemistry Syllabus and Marking Scheme

MP Board Class 12th Chemistry Syllabus and Marking Scheme

1. Solid State
Classification of solids based on different binding forces : Molecular, ionic, covalent and metallic solids, amorphous and crystalline solids (elementary idea). Unit cell in two-dimensional and three-dimensional lattices, calculation of density of unit cell, packing in solids, packing efficiency, voids, number of atoms per unit cell in a cubic unit cell, point defects, electrical and magnetic properties. Band theory of metals, conductors, semiconductors and insulators and n and p type semiconductors.

2. Solutions
Types of solutions, expression of concentration of solutions of solids in liquids, solubility of gases in liquids, solid solutions, colligative properties : Relative lowering of vapour pressure, Raoult’s law, elevation in boiling point, depression in freezing point, osmotic pressure, determination of molecular masses using colligative properties, abnormal molecular mass, van’t Hoff factor.

3. Electrochemistry
Redox reactions, conductance in electrolytic solutions, specific and molar con-ductivity, variations of conductivity with concentration, Kohlrausch’s law, elec-trolysis and law of electrolysis (elementary idea), dry cell- electrolytic cells and Galvanic cells; lead accumulator, EMF of a cell, standard electrode potential, Nemst equation and its application to chemical cells, Relation between Gibbs energy change and EMF of a cell, fuel cells, corrosion.

4. Chemical Kinetics
Rate of a reaction (Average and instantaneous), factors affecting rate of reaction : concentration, temperature, catalyst; order and molecularity of a reaction, rate law and specific rate constant, integrated rate equations and half-life (only for zero and first order reactions); concept of collision theory (elementary idea, no mathematical treatment). Activation energy, Arrhenius equation. Surface Chemistry

5. Adsorption : Physisorption and chemisorption, factors affecting adsorption of gases on solids.
Catalysis: Homogeneous and heterogeneous, activity and selectivity; enzyme catalysis.
Colloidal state : Distinction between true solutions, colloids and suspension; lyophilic, lyophobic, multimolecular and macromolecular colloids; properties of colloids; Tyndall effect, Brownian movement, electrophoresis, coagulation. Emulsion : Types of emulsions.

6. General Principles and Processes of Isolation of Elements
Principle and methods of extraction; concentration, oxidation, reduction, elec-trolytic method and refining, occurrence and principles of extraction of aluminium, copper, zinc and iron.

7. p-block Elements
Group-15 elements : General indroduction, electronic configuration, occurrence, oxidation states, trends in physical and chemical properties; Nitrogen : Preparation, properties and uses; compounds of nitrogen, preparation and properties of ammonia and nitric acid, oxides of nitrogen (structure only); Phosphorus : Allotropic forms; compounds of phosphorus preparation and properties of phosphine, halides (PC13, PC15) and oxo-acids (elementary idea only).
Group-16 elements : General introduction, electronic configuration, oxidation states, occurrence, trends in physical and chemical properties; Dioxygen; preparation, properties and uses; classification of oxides; ozone, Sulphur: allotropic forms; compounds of sulphur; preparation, properties and uses of sulphur dioxide; sulphuric acid, industrial process of manufacture, properties and uses, oxo-acids of sulphur (structures only).
Group-17 elements : General introduction, electronic configuration, oxidation states, occurrence, trends in physical and chemical properties; compounds of halogens; preparation, properties and uses of chlorine, hydrochloric acid and interhalogen compounds, oxo-acids of halogens (structures only). Group-18 elements : General introduction, electronic configuration, occurrence, trends in physical ahd chemical properties, uses.

8. d- and f-block Elements
General introduction, electronic configuration, occurrence and characteristics of transition metals, general trends in properties of the first row transition metals : metallic character, ionization enthalpy, oxidation states, ionic radii, colour, catalytic property, magnetic properties, interstitial compounds, alloy formation, preparation and properties of K2Cr207 and KMn04.
Lanthanoids : Electronic configuration, oxidation states, chemical reactivity and lanthanoid contraction and its consequences.
Actinoids : Electronic configuration, oxidation states and comparison with lanthanoids.

9. Co-ordination Compounds
Co-ordination compounds : Introduction, ligands, co-ordination number, colour, magnetic properties and shapes. IUPAC nomenclature of mononuclear co-ordination compounds. Bonding; Werner’s theory, VBT and CFT structure and stereo-isomerism, importance of co-ordination compounds (in qualitative inclusion, extraction of metals and biological system).

10. Haloalkanes and Haloarenes
Haloalkanes : Nomenclature, nature of C—X bond, physical and chemical properties, mechanism of substitution reactions, optical rotation.
Haloarenes : Nature of C—X bond, substitution reactions (Directive influence of halogen in monosubstituted compounds only). Uses and environmental effects of dichloromethane, trichloromethane, tetrachloromethane, iodoform, freons, DDT.

11. Alcohols, Phenols and Ethers
Alcohols: Nomenclature, methods of preparation, physical and chemical prop-erties of (primary alcohols only); identification of primary, secondary and tertiary alcohols; mechanism of dehydration, uses with special reference to methanol and ethanol.
Phenols : Nomenclature; methods of preparation, physical and chemical prop-erties, acidic nature of phenol, electrophilic substitution reactions, uses of phenols.
Ethers : Nomenclature; methods of preparation, physical and chemical properties, uses.

12. Aldehydes, Ketones and Carboxylic Acids
Aldehydes and Ketones : Nomenclature, nature of carbonyl group, methods of preparation, physical and chemical properties, mechanism of nucleophilic ad-dition, reactivity of alpha hydrogen in aldehydes; uses.
Carboxylic acids: Nomenclature, acidic nature, methods of preparation, physical and chemical properties; uses.

13. Organic Compounds Containing Nitrogen.
Amines: Nomenclature, classification, structure, methods of preparation, physical and chemical properties, uses, identification of primary, secondary and tertiary amines.
Cyanides and isocyanides : will be mentioned at relevant places in context. Diazonium salts: Preparation, chemical reactions and importance in synthetic organic chemistry.

14. Bio-molecules
Carbohydrates : Classification (aldoses and ketoses), monosaccharides (glucose and fructose), D-L configuration, oligosaccharides (sucrose, lactose, maltose), polysaccharides (starch, cellulose, glycogen); importance.
Proteins : Elementary idea of -amino acids, peptide bond, polypeptides, proteins, structure of proteins : primary, secondary, tertiary and quaternary structures (qualitative idea only), denaturation of proteins, enzymes. Hormones : elementary idea excluding structure.
Vitamins : Classification and functions.
Nucleic acids : DNA and RNA.

15. Polymers
Classification : Natural and synthetic, methods of polymerization (addition and condensation), copolymerization, some important polymers : Natural and synthetic like polythene, nylon, polyesters, bakelite, rubber. Biodegradable and non-biodegradable polymers.

16. Chemistry in Everyday Life
Chemicals in medjcines : Analgesics, tranquilizers, antiseptics, disinfectants, antimicrobials, antifertility drugs, antibiotics, antacids, antihistamines. Chemicals in food : Preservatives, artificial sweetening agents, elementaiy idea of antioxidants.
Cleansing agents : Soaps and detergents, cleansing action.

We hope the given MP Board Class 12th Chemistry Solutions Guide Pdf Free Download रसायन विज्ञान in both Hindi Medium and English Medium will help you. If you have any query regarding Madhya Pradesh Syllabus MP Board Class 12 Chemistry Book Solutions Rasayan Vigyan Pdf, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry

Electrochemistry NCERT Intext Exercises

Electrochemistry Class 12 NCERT Solutions help to score more marks.

Question 1.
How would you determine the standard electrode potential of the system Mg2+ | Mg ?
Answer:
The standard electrode potential of the system Mg2+/ Mg can be determined as explained below. Prepare Mg2+/ Mg system by dipping Mg rod in a solution of Mg2+ ions and connect it to standard hydrogen electrode.
Mg | Mg2+ || H+(aq) | H2(g); Pt
When magnesium is connected with SHE, oxidation takes place at the Mg electrode. Hence, the potential of the magnesium electrode is taken as – ve The emf of the cell, determined potentiometrically, is equal to the potential of the magnesium electrode because the potential of SHE is taken as zero.

Question 2.
Can you store copper sulphate solutions in a zinc pot?
Answer:
No, it is not possible. The E° values of the copper and zinc electrodes are as follows :
Zn2+(aq) + 2e– → Zn(s) ; E° = – 0·76 V
Cu2+(aq) + 2e– → Cu(s) ; E° = + 0·34 V
This shows that zinc is a stronger reducing agent than copper. It will lose electrons to Cu2+ ions and a redox reaction will immediately set in.
Zn(s) + Cu2+ (aq) → Zn2+(aq) + Cu(s)
Thus, copper sulphate solution cannot be stored in zinc pot.

Question 3.
Consult the table of standard electrode potentials and suggest three substances that can oxidise ferrous ions under suitable conditions.
Answer:
Substances having higher E° values than Fe2+ ions can oxidise ferrous ions. Thus, Ag+, Hg2+, Br2, Cl2, F2 etc. can oxidise Fe2+ ions to Fe3+ ions.

Question 4.
Calculate the potential of the hydrogen electrode in contact with a solution whose pH is 10.
Solution:
For hydrogen electrode, H+ + e– → 1/2H2
Applying Nernst equation,
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 2

Question 5.
Calculate the emf of the cell in which the following reaction takes place :
Ni(s) + 2Ag+ (0.002 M) → Ni2+ (0.160 M) + 2Ag(s) Given that Ecell = 1.05 V.
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 3

Question 6.
The cell in which the following reactions occurs :
2Fe3+(aq) + 2I(aq) → 2Fe2+(aq) + I2(s) has Ecell = 0-236 V at 298 K.
Calculate the standard Gibbs energy and the equilibrium constant of the cell reaction.
Solution:
The two half reactions are :
2Fe3+ + 2e → 2Fe2+ and 2I → I2 + 2e
For the above reaction, n = 2
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 4

Question 7.
Why does the conductivity of a solution decrease with dilution?
Answer:
The number of ions per unit volume that carry the current in a solution decreases on dilution. Therefore the conductivity of a solution decreases with dilution.

Question 8.
Suggest a way to determine the \(\wedge_{m}^{0}\) value of water.
Answer:
Conductance of weak electrolytes can be determined by kohlraush’s law. Thus, molar conductance of water of infinite dilution can be determined by the molar conductances of NaOH, HCl and NaCl at infinite dilution.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 5

Question 9.
The molar conductivity of 0.025 mol L-1 methanoic acid is 46.1 S cm2 mol-1 Calculate its degree of dissociation and dissociation constant Given \(\lambda_{\left(\mathbf{H}^{+}\right)}^{\circ}\) = 349.6 S cm2 mol-1 and \(\lambda_{\left(\mathrm{H} \mathrm{COO}^{-}\right)}^{\circ}\) = 54.6 S cm2 mol.
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 6

Question 10.
If a current of 0.5 ampere flows through a metallic wire for 2 hours, then how many electrons would flow through the wire ?
Solution:
Q (coulomb) = 1 (ampere) × t (sec)
Q = 0.5 ampere × 2 × 60 × 60
= 3600 C
A flow of IF, i.e. 96500 C is equivalent to flow of 1 mole of electrons
i. e., = 6.023 × 1023 electrons
3600 C is equivalent to flow of electrons
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 7

Question 11.
Suggest a list of metals that are extracted electrolytically.
Answer:
Li, Na, Mg, Ba, Ca, Al

Question 12.
What is the quantity of electricity in coulombs needed to reduce 1 mol of Cr2O-27 ? Consider the reaction :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 8
Answer:
1 mole Cr2O-27 requires 6 moles electrons for reduction.
∴ Required charge = 6F
= 6 × 96500 coulomb.
= 579000 coulomb.

Question 13.
Write the chemistry of recharging the lead storage battery, highlighting all the materials that are involved during recharging.
Answer:
Lead storage battery : It is a secondary cell i.e., a cell which is rechargeable because the products of cell reaction sticks to the electrode. It is also called as lead storage cells. It consists of six cells connected in series. Each cell consist of spongy lead anode and a grid of lead packed with lead dioxide (PbO2) acts as cathode. An aqueous solution of H2SO4 (38% by mass) acts as electrolyte. The reactions which takes place at electrodes can be represented as:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 9
Concentration of H2SO4 decreases as sulphate ions are consumed to form PbSO4 during the working of the cell. As a result of this the density of solution also decreases.

Recharging the cell / battery: Lead storage battery can be recharged by connecting it to an external source of direct current. This reverses the flow of electron with the deposition of Pb on the anode and PbO2 on the cathode. That is, during recharging operation the cell behaves as electrolytic cell. Following reaction occurs during recharging.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 10

Question 14.
Suggest two materials other than hydrogen that can be used as fuels in fuel cells.
Answer:
Methanol (CH3OH), propane (C3H8)

Question 15.
Explain how rusting of iron is envisaged as setting up of an electrochemical cell.
Answer:
Formation of carbonic acid takes place on the surface of iron
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 11
In presence of H+ ion, oxidation of iron takes place
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 12
The electrons are used at other spot where reduction takes place.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 13
Overall reaction,
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 14

MP Board Solutions

Electrochemistry NCERT Textbook Exercises

Question 1.
Arrange the following metals in the order in which they displace each other from the solution of their salts. Al, Cu, Fe, Mg and Zn.
Answer:
A metal with lesser standard potential (more reactive) can displace the other metal from solution of its salts.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 15

Question 2.
Given the standard electrode potentials, K+/K = -2.93V, Ag+/Ag = 0.80V, Hg2+/Hg = 0.79V, Mg2+/Mg = -2.37 V, Cr3+/Cr = -0.74V. Arrange these metals in their increasing order of reducing power.
Answer:
The lower the reduction potential, the higher is the reducing power. Hence, the reducing power of the given metals increases in the following order.
Ag < Hg < Cr < Mg < K.

Question 3.
Depict the galvanic cell in which the reaction Zn(s) + 2Ag+(aq) → Zn2+(aq)+ 2Ag(s) takes place. Further show :
(i) Which of the electrode is negatively charged?
(ii) The carriers of the current in the cell.
(iii) Individual reaction at each electrode.
Answer:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 16
(i) Anode i.e., Zn electrode is negatively charged.
(ii) Electrons are current carriers.

Question 4.
Calculate the standard cell potentials of galvanic cells in which the following reactions take place:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 17
Calculate the ∆rG°, and equilibrium constant of the reactions.
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 18

Question 5.
Write the Nernst equation and emf of the following cells at 298 K :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 19
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 20
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 21
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 22

Question 6.
In the button cells widely used in watches and other devices the following reaction takes place:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 23
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 24

Question 7.
Define conductivity and molar conductivity for the solution of an electrolyte. Discuss their variation with concentration.
Answer:
Conductivity: The conductivity of a solution is defined as the conductance of a solution of 1 cm length and having 1 sq. cm as the area of cross-section.

Molar conductivity: Molar conductivity of a solution at a dilution (V) is the conductance of all the ions produced from one mole of the electrolyte dissolved in V cm3 of the solution when the electrodes are one cm apart and the area of cross-section of the electrodes is so large that the whole of the solution is contained between them. It is usually represented by Λm.

Variation with concentration: The conductivity of a solution (Both for strong and weak electrolytes) decreases with a decrease in the concentration of the electrolyte i.e., on dilution. This is due to the decrease in the number of ions per unit volume of the solution on dilution. The molar conductivity of a solution increase in the decrease in the concentration of the electrolyte i.e., on dilution. This is due to the decrease in the number of ions per unit volume of the solution on dilution. The molar conductivity of a solution increases with decrease in the concentration of the electrolyte. This is because both the number of ions, as well as mobility of ions, increases with dilution. When concentration approaches zero, the molar conductivity is known as limiting molar conductivity.

Question 8.
The conductivity of 0.20 M solution of KCI at 298 K is 0.0248 Scm-1. Calculate its molar conductivity.
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 25

Question 9.
The resistance of a conductivity cell containing 0.001M KCl solution at 298 K is 1500Ω What is the cell constant if the conductivity of 0.001M KCl solution at 298 K is 0.146 × 10-3 S cm-1.
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 26

Question 10.
The conductivity of sodium chloride at 298 K has been determined at different concentrations and the results are given below :
Concentration/M 0.001 0.010 0.020 0.050 0.100 102 × kSm-1 1.237 11.85 23.15 55.53 106.74 for all concentrations and draw a plot between Λm and C1/2 Find the value calculate Λm and C1/2 Find the value calculate Λm of Λ0m.
Answer:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 27
Λ0m = intercept on Λm axis = 124-0 S cm2 mol-1 (on extrapolation to zero concentration)
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 28

MP Board Solutions

Question 11.
The conductivity of 0.00241 M acetic acid is 7.896 × 10-5 S cm-1. Calculate its molar conductivity and if Λ0m for acetic acid is 390.5 S cm2 mol-1, what is its dissociation constant?
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 29

Question 12.
How much charge is required for the following reductions :
(i) 1 mol of Al3+ to Al.
(ii) 1 mol of Cu2+ to Cu.
(iii) 1 mol of MnO4 to Mn2+.
Solution:
(i) The electrode reaction is :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 30
(ii) The electrode reaction is :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 31
(iii) The electrode reaction is :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 32

Question 13.
How much electricity in terms of Faraday is required to produce
(i) 20.0 g of Ca from molten CaCl2.
(ii) 40.0 g of Al from molten Al2O3.
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 33

Question 14.
How much electricity is required in coulomb for the oxidation of
1. 1 mole of H2O to O2
2. 1 mole of FeO to Fe2O3.
Answer:
1. 2H2O → 4H+ + O2 + 4e
2F of electricity is required for the oxidation of 1 mol of H2O

2. Fe2+ → Fe3+ + e
1F of electricity is required for the oxidation of 1 mole of FeO

Question 15.
A solution of Ni(NO3)2 is electrolyzed between platinum electrodes using a current of 5 amperes for 20 minutes. What mass of Ni is deposited at the cathode?
Answer:
According to Faraday’s first law:
W = ZIr [z = \(\frac { M }{ nF } \)]
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 34

Question 16.
Three electrolytic cells A, B, C containing solutions of ZnSO4, AgNO3, and CuSO4, respectively are connected in series. A steady current of 1.5 amperes was passed through them until 1.45 g of silver deposited at the cathode of cell B. How long did the current flow? What mass of copper and zinc were deposited?
Solution:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 35

Question 17.
Using the standard electrode potentials given in Table 3.1, predict if the reaction between the following is feasible :
(i) Fe3+(aq) and I(aq)
(ii) Ag+(aq) and Cu(s)
(iii) Fe3+(aq) and Br(aq)
(iv) Ag(s) and Fe3+(aq)
(v) Br2(aq) and Fe2+(aq)
Answer:
A reaction is feasible if EMF of the cell is +ve.
Cathode : At which reduction occurs.
Anode : At which oxidation occurs.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 36
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 37

MP Board Solutions

Question 18.
Predict the products of electrolysis in each of the following:
(a) An aqueous solution of AgNO3 with silver electrodes.
(b) An aqueous solution of AgNO3 with platinum electrodes.
(c) A dilute solution of H2SO4 with platinum electrodes.
(d) An aqueous solution of CuCl2 with platinum electrodes.
Answer:
(i) At cathode:
The following reduction reactions compete to take place at the cathode
Ag+(aq) + e → Ag(s); Eθ = 0.80 V
H+ (aq) + e → \(\frac { 1 }{ 2 }\) H2 (g); Eθ = 0.00V
The reaction with a higher value of Eθ takes place of the cathode. Therefore, deposition of silver will take place at the cathode.

At anode:
The Ag anode is attacked by NO3 ions. Therefore, the silver electrode at the anode dissolves in the solution to from Ag+.

(ii) At cathode: Same as above
At anode: Anode is not attackable and hence OH ions have lower discharge potential than NO3 ions and OH ions react to give O2
OH → OH + e
4OH → 2H2O + O2 (g)
(iii) H2SO4 → 2H+ + SO2-4
HO2 ⇌ H+ + OH

At cathode:
2H++ 2e → H2
At anode: 4OH → 2H2O + O2 + 4e
i. e., H2 will be liberated at cathode and O2 at the anode.

(iv) CuCl2 → Cu2++2Cl
2nd PUC Chemistry Question Bank Chapter 3 Electrochemistry - 18
At Cathode: Cu2+ ions will be reduced in preference to H+ ions
Cu2+ + 2e → Cu
At anode: Cl’ ions will be oxidised in preference to OH ions.
2Cl → Cl2 + 2e
i.e., Cu will be deposited on the cathode and Cl2 will be liberated at the anode.

MP Board Solutions

Electrochemistry Other Important Questions and Answers

Electrochemistry Objective Type Questions

Question 1.
Choose the correct answer:

Question 1.
If specific conductance = K, R = Resistance, l = distance between the electrodes A = Cross-sectional area of a conductor Cm = mol L-1, Ceq = g.eq L-1 then specific resistance of electrolyte will be equal to :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 38

Question 2.
K is equal to :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 39

Question 3.
Molar conductivity Λm is equal to :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 40

Question 4.
Cell constant is :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 41

Question 5.
For electrolyte (v+ = v = 1) like NaCI:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 42

Question 6.
Which among the following is not a conductor of electricity :
(a) NaCl(aq)
(b) NaCl(s)
(c) NaCl(mol)
(d) Ag.

Question 7.
By which of the following the resistance of the solution is multiplied to obtain cell constant:
(a) Specific conductance (K)
(b) Molar conductance (Λm)
(c) Equivalent conductance (Λeq)
(d) None of these.

Question 8.
Increase in equivalent conductance of the solution of an electrolyte by dilution is due to:
(a) Increase in ionic attraction
(b) Increase in molecular attraction
(c) Increase in association of electrolyte
(d) Increase in ionization of electrolyte.

Question 9.
If the specific conductance and observed conductance of an electrolyte is same then its cell constant will be :
(a) 1
(b) 0
(c) 10
(d) 1000

Question 10.
Unit of cell constant is :
(a) ohm-1 cm-1
(b) cm
(c) ohm cm
(d) cm-1.

Question 11.
Unit of specific conductance is :
(a) ohm-1
(b) ohm-1 cm-1
(c) ohm-2 cm-1 equivalent-1
(d) ohm-1 cm-2.

Question 12.
If the concentration of any solution is C gram equivalent/ litre and specific resistance is A, its equivalent conductance will be :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 43

Question 13.
The coating of layer of zinc on iron to prevent it from corrosion is called :
(a) Galvanization
(b) Cathodic protection
(c) Electrolysis
(d) Photoelectrolysis.

Question 14.
A saturated solution of KNO3 is used for salt bridge because :
(a) Speed of K+ is more than NO3
(b) Speed of NO3 is more than K+
(c) Speed of both is nearly same
(d) Solubility of KNO3 is high in water.

Question 15.
Acts as dipolar in dry cells :
(a) NH4Cl
(b) Na2CO3
(c) pbSO4
(d) MnO2

Question 16.
Reduction is known as :
(a) Electronation
(b) De-electronation
(c) Protonation
(d) De-protonation.

Question 17.
What is the path of electric current in a Daniel cell when Zn and Cu electrodes are connected:
(a) From Cu to Zn inside the cell
(b) From Cu to Zn outside the cell
(c) From Zn to Cu inside the cell
(d) From Zn to Cu outside the cell.

Question 18.
In a cell containing Zn electrode and normal hydrogen electrode (NHE), Zn acts like:
(a) Anode
(b) Cathode
(c) Neither cathode nor anode
(d) Both anode and cathode.

Question 19.
If salt bridge is removed from half cells then voltage :
(a) Reduces and becomes zero
(b) Increases
(c) Immediately increases
(d) Does not change.

Question 20.
When lead storage battery is discharged :
(a) SO2 is released
(b) Pb is manufactured
(c) PbSO4 is used
(d) H2SO4 is used.

Question 21.
Process of Rusting of iron is :
(a) Oxidation
(b) Reduction
(c) Corrosion
(d) Polymerisation.

Question 22.
Value of standard potential of hydrogen electrode is :
(a) Positive
(b) Negative
(c) Zero
(d) No definite value.

Answers:
1. (b), 2. (c), 3. (d), 4. (b), 5. (a), 6 (b), 7. (a), 8. (d), 9. (a), 10. (d), 11. (b), 12. (a), 13. (a), 14. (c), 15. (d), 16. (a), 17. (d), 18. (a), 19. (a), 20. (d), 21. (c), 22. (c).

Question 2.
Fill in the blanks :

  1. Acetic acid is a ………………… electrolyte.
  2. Conductance of electrolyte ………………… with the increase in temperature.
  3. On increasing dilution the value of specific conductance of a solution …………………
  4. ………………… decreases with increase in size of ion.
  5. Unit of specific resistance is …………………
  6. Primary cells cannot be ………………… again.
  7. Device which converts chemical energy into electrical energy is known as ………………… cell.
  8. Amount of electric current which produces one gram equivalent of a substance is known as …………………
  9. In metallic conduction ………………… property remains unchanged.
  10. Reciprocal of resistance is known as …………………
  11. Conductance of 1 cm cube of a conductor is called …………………
  12. 1 Faraday is equal to ………………… coulomb.
  13. Rusting of iron is an example of …………………
  14. Potential of standard hydrogen is assumed to be …………………

Answers:

  1. Weak
  2. Increases
  3. Decreases
  4. Conductance
  5. ohm cm
  6. Charged
  7. Electrochemical
  8. Faraday
  9. Chemical property
  10. Conductance
  11. Specific conductance
  12. 96500 coulomb
  13. Corrosion process
  14. 0.0 volt
  15. Electrochemical cell.

Question 3.
Match the following :

I.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 44
Answers:

  1. (e)
  2. (c)
  3. (d)
  4. (b)
  5. (a).

II.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 45
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 46
Answer:

  1. (c)
  2. (d)
  3. (b)
  4. (a)
  5. (e)
  6. (f).

Question 4.
Answer in one word / sentence :

1. Give two examples of strong electrolyte.
2. Give two examples of weak electrolytes.
3. What is the effect of temperature on electrolytic conductivity ?
4. Write the formula of Kohlrausch’s law.
5. Write the formula of equivalent conductance.
6. Write the formula of molar conductance.
7. Device which converts electrical energy into chemical energy.
8. What is the potential of both the electrodes of the cell due to which electric current flows in the cell ?
9. What is the potential produced due to redox reaction between a metal electrode and its ions called ?
10. What is the unit of potential difference ?
11. Write the formula of cell constant.
12. Cell which can be recharged are known as.
13. State the unit of Equivalent conductance.
14. What is the chemical composition of rust ?
15. Write the relation between Electromotive force and Equilibrium constant of a cell.
16. What is the name of the reaction in which oxidation and reduction occur simultaneously ?
Answers:
1. Strong electrolyte : HCl, NaOH, NaCl
2. Weak electrolyte : CH3COOH, H2CO3,
3. Conductivity increases
4.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 47
5. Equivalent conductance
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 48
6.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 49
7. Electrolytic cell
8. Electromotive force
9. Electrode potential
10. Volt
11. Cell constant = \(\frac { l }{ A } \)
12. Secondary cell
13. Ohm cm2 gm eq-1
14. Fe2O3 . xH2O
15.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 50
16. Redox reaction.

MP Board Solutions

Electrochemistry Very Short Answer Type Questions

Question 1.
Write the definition of Electrochemical cell.
Answer:
System in which chemical energy is converted to electrical energy by oxidation reduction is known as electrochemical cell or voltaic cell.

Question 2.
What is an Electrolytic cell ?
Ans.
The container or system in which electrical energy is passed by which chemical reaction takes place thus, electrical energy is converted to chemical energy is known as electrolytic cell.

Question 3.
What is Electrode potential ?
Answer:
The potential difference developed between the electrodes and electrolyte of an Electrolytic cell is known as Electrode potential.

Question 4.
What is a strong electrolyte ? Write two examples.
Answer:
Electrolyte which completely dissociate in aqueous solution are known as strong electrolyte.
Example : NaCl, KCl, NH4Cl etc.

Question 5.
What is a weak Electrolyte ? Write two examples.
Answer:
Electrolyte which dissociate partially in aqueous solution are known as weak electrolyte.
Example : NH4OH, CH3COOH, HCN etc.

Question 6.
What is meant by standard electrode potential ?
Answer:
Standard electrode potential (E°) of a half cell is the potential difference when one electrode is dipped in molar solution of its ion at 298 K. If electrode is gaseous the pressure of gas must be one atmosphere.

In IUPAC system, reduction potential are known as standard electrode potential.

Question 7.
Write Ohm’s law.
Answer:
According to Ohm’s law “It states that potential difference across the conductor is directly proportional to the current (I) flowing through it” i.e.,
Mathematically, it can be written as :
I α V
V = IR (R = Resistance, unit = ohm, Ω)

Question 8.
What is cell constant ?
Answer:
For a conductivity cell, the ratio of distance between two electrodes (l) and area of cross-section of electrode (A) is called as cell constant.
∴ Cell constant = \(\frac { l }{ A } \) or x = \(\frac { l }{ A } \)
Unit of cell constant = cm-1.

Question 9.
What is galvanization ? Explain.
Answer:
Iron is coated with the layer of zinc to protect it from rusting. This process is known as galvanization. The galvanized iron articles keep their lustre due to the coating of invisible protective layer of basic zinc carbonate, ZnCO3.Zn(OH)2.

Question 10.
What is Electrochemical Equivalent ?
Answer:
Electrochemical equivalent of a substance is that mass of substance released or deposited on an electrode when a current of one ampere is passed for one second.

MP Board Solutions

Electrochemistry Short Answer Type Questions

Question 1.
What is salt bridge ? Write its two functions.
Answer:
‘U’ shaped tube filled with KCl or KNO3 in Agar-Agar solution or gelatin, is known as salt bridge. It connects the two half cell.
Functions : (i) It allows the flow of current by completing the circuit.
(ii) It maintains the electrical neutrality.

Question 2.
Derive relation between standard electromotive force and equilibrium constant
Answer:
Relation between standard electromotive force and equilibrium constant can be derived using van’t Hoff isochore. For any given reaction equilibrium constant IQ is equal to the ratio of rate constant of forward reaction and rate constant of backward reaction.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 51
Value of equilibrium constant Kc can be calculated using standard free energy change (∆G°) because
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 52

Question 3.
What do you understand by oxidation-reduction reactions ?
Answer:
Oxidation-Reduction reactions: Chemical reactions in which valency of elements changes are known as oxidation-reduction reactions. In this process both oxidation and reduction reactions occur simultaneously, in which one of the substance is oxidized and the other substance is reduced. Like
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 53
In this reaction FeCl3 is reduced to FeCl2 and SnCl2 is oxidized to SnCl4. In the reaction valency of Fe decreases and valency of Sn increases.

Question 4.
Write difference between Metallic conduction and Electrolytic conduction.
Answer:
Differences between Metallic conduction and Electrolytic conduction :

Metallic conduction:

  1. Metallic conduction takes place by movement of electrons.
  2. There is no chemical change.
  3. There is no transfer of matter.
  4. In metallic conduction conductivity decreases with increase in temperature.

Electrolytic conduction

  1. Electrolytic conduction takes place by movement of ions.
  2. Due to chemical change decomposition of electrolyte takes place.
  3. Transfer of matter takes place as ions.
  4. In electrolytic conduction conductivity increases with increase in temperature.

Question 5.
What are the difference between emf (Cell potential) and potential difference
Answer:
Difference between EMF and Potential difference :

EMF / Cell potential:

  1. It is the potential difference between the two terminals of the cell when no current is flowing in the circuit, i.e., in an open circuit.
  2. It is the maximum voltage which can be obtained from a cell.
  3. It can be measured by potentiaometrie method.
  4. Work performed by electromotive force is the maximum work done by a cell.
  5. It is responsible for continuous flow of current in electric circuit.

Potential difference:

  1. It is the difference of the electrodes potentials of the two electrodes when the cell is sending current through the circuit.
  2. It is the less than the maximum voltage as it is the difference of electrode potential.
  3. It can be measured by simple voltmeter also.
  4. Work performed by potential difference is less than the maximum work done by a cell.
  5. It is not responsible for the continuous flow of current in circuit.

Question 6.
What is specific conductance ? Give its unit.
Answer:
Specific conductivity: The reciprocal of resistivity is called specific conductiv¬ity. It is defined as the conductance between the opposite faces of one centimeter cube of a conductor. It is denoted by K (kappa).
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 54
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 55
The specific conductivity of a solution at a given dilution is the conductance of one cm cube of the solution. It is represented by K (kappa).
Note : The specific conductivity of a solu¬tion of electrolyte depends upon the dilution or molar concentration of the solution.

Question 7.
What is resistivity of any solution ?
Answer:
Resistivity : When current flow in the solution through two electrodes the resistance is proportional to length and inversely proportional to cross-sectional area A.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 56
The constant p (rho) is called resistivity or specific resistance.
Unit: If l is expressed in cm, A in cm2 and R in ohm, the unit of resistivity will be
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 57
or Resistivity of any solution is the resistance of 1 cm cube.

Question 8.
Differentiate between Electrochemical cell (Galvanic cell) and Electrolytic cell.
Answer:
Differences between Electrochemical and Electrolytic cells :

Electrochemical cell or Galvanic cell:

  1. It is a device to convert chemical energy into electrical energy.
  2. It consists of two electrodes in different compartments joined by a salt bridge.
  3. Redox reactions occurring in the cell are spontaneous.
  4. Free energy decreases with operation of cell, i.e., ∆G < 0.
  5. Useful work is obtained from the cell.
  6. Anode works as negative and cathode as positive electrodes.
  7. Electrons released by oxidation process at anode go into external circuit and pass to cathode.
  8. To set-up this cell, a salt bridge/porous pot is used.

Electrolytic cell:

  1. It is a device to convert electrical energy into chemical energy.
  2. Both the electrodes are in same solution.
  3. Redox reactions occurring in the cell are non-spontaneous.
  4. Free energy increases with operation of cell, i.e., ∆G > 0.
  5. Work is done on the system.
  6. Anode is positive and cathode is negative.
  7. Electrons enter into cathode electrode from external source and leave the cell at anode.
  8. No salt bridge is used in this cell.

Question 9.
What is equivalent conductance ?
Answer:
Equivalent conductance:
“Conductance of total ion produced by one gram equivalent of electrolyte in the solution is called equivalent conductance.” It is denoted by Λeq.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 58

Question 10.
What is molar conductance ?
Answer:
Molar Conductivity : The molar conductivity of a solution at definite concentration (or dilution) and temperature is the conductivity of that volume which contains one mole of the solute and is placed between two parallel electrodes 1 cm apart and having sufficient area to hold whole of the solution. It is denoted by Λm.
Mathematically,
Λm = K × V …(1)
Where V is the volume in ml in which one gram mole of substance is dissolved.
If M is molarity or m moles are dissolved in 1000 ml.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 59
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 60

Question 11.
Define cell constant Develop a relation between specific conductance and cell constant.
Answer:
Cell constant: In any conductive cell, the distance between two electrodes and surface area of electrode A are constant. The ratio of l and a is called cell constant i.e.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 61
Unit of cell constant is cm1 and it is generally expressed by x.
Relation between specific conductance and cell constant : For a conductor, the resistance R is directly proportional to length R and inversely proportional to area of cross – section of electrolyte.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 62

Question 12.
What are the factors which influence the electrical conductance of electrolytes ?
Answer:
Factor which influence electrical conductivity of electrolytes :

The main factor which influence the electrical conductivity are following:

1. Temperature: It influence following interactions.
(a) Interionic attractions: It depends upon the solute-solute interactions. Which is found between the ions of solute.
(b) Solvation of ions: It depends upon solute-solvent interactions. It is relation between ions of solute and solvent molecules.
(c) Viscosity of solvent: It depends upon solvent-solvent interactions. Solvent molecules are related with each other.
With increase in temperature all these three effects decrease and average kinetic energy of ions increases. Thus, with increase of temperature, resistance of solution decreases and hence conductance increases.

2. Nature of electrolyte : The conductance of solution depends upon the nature of electrolyte. On the basis of conductance measurement electrolytes are classified as strong electrolyte and weak electrolyte. Strong electrolytes have high value of conductance even at higher concentration also.

3. Dilution or concentration : It is main factor which influence electrical conductance. Effect of dilution or concentration can be studied indivisually in equivalent conductance, specific conductance and molar conductance. But for a general concept of electrical conductance of solution as the concentration is lowered or dilution increases, electrical conductance of whole solution increases.

Question 13.
On what factors does the various conductivities of an electrolytic solution depend ?
Answer:
Conductivities of electrolytic solution depend on the following factors :

  1. Dilution : On increasing dilution, value of specific conductance of a solution decreases, value of equivalent conductance and molar conductance increases.
  2. Nature of solvent: A solvent with high dielectric constant has high conductivity and with low dielectric constant has low conductivity.
  3. Number of ions present in solution: Conductivity of strong electrolytes is higher than the conductivity of weak electrolytes.
  4. Size of ion : In aqueous solution, small ions are heavily hydrated due to which their conductivity decreases.
  5. Effect of Temperature: With the increase in temperature conductivity increases.

Question 14.
With the increase in dilution how do specific conductance, Equivalent conductance and molar conductance change ?
Answer:
With the increase in dilution, specific conductance decreases. This is because by the increase in dilution number of ions present in 1 cm cube of solution decreases.
But, Equivalent conductance Λeq = K × V
and Molar conductance Λm = K × V
Equivalent conductance and molar conductance are the product of specific conductance and dilution. By the increase in dilution (or decrease in concentration) magnitude of K decreases but that of V increases.
Increase in magnitude of V is comparatively much more than the decrease in magnitude of K. Thus, by the combined effect of both, by the increase in dilution Λeq and Λm increases.

MP Board Solutions

Question 15.
What is an Electrolytic cell and how does it work ?
Answer:
Electrolytic cells : In these cells electric current is supplied through an external source, as a result of which chemical reactions take place which is called electrolysis like : Electrolysis of water, NaCl, Al2O3 etc. For example in Solvay trough cell electrode is immersed in sodium chloride solution and electric current is passed due to which NaCl electrolyses.

At mercury cathode sodium is released and at anode chlorine is released. Sodium forms amalgam with mercury and is taken out of the cell.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 63

Question 16.
What is meant by electromotive force of an electrochemical cell ?
Answer:
The difference in electrode potentials of the two electrodes of an electro- chemical cell is known as electromotive force or cell potential. It is expressed in volt.

Due to difference in potential electric current flows from an electrode of lower potential to an electrode of higher potential. EMF of the cell can be expressed in terms of reduction potential as :

Cell potential = Standard electrode potential – Standard electrode potential
of R.H.S. electrode of L.H.S electrode
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 64
EMF of a cell is measured by connecting the voltmeter between the two electrodes of a cell. EMF of a cell depend on the concentration of solutions of both half cells and nature of the two electrodes. For example, In Daniel cell, concentration of CuSO4 and ZnSO4 solutions in the two half cells is 1M and at 298 K EMF of the cell is 1.10 volt.

MP Board Solutions

Electrochemistry Long Answer Type Questions

Question 1.
What is standard hydrogen electrode ? How is it prepared ?
Answer:
Standard hydrogen electrode : This consists of gas at 1 atmospheric pressure bubbling over a platinum electrode immersed in 1 M HC1 at 25°C (298 K) as shown in figure. The platinum electrode is coated with platinum black to increase its surface. The hydrogen electrode thus con¬structed forms a half cell which on coupling with any other half cell begins to work on the principle of oxidation or reduction. Electrode depending upon the circumstances works both as anode or cathode.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 65

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 66
Standard hydrogen electrode (SHE) is arbitrarily assigned a potential of zero.

Question 2.
Derive Nernst Equation for single electrode potential.
Answer:
Value of standard electrode potential given in electrochemical series is applicable only when the concentration of electrolyte is 1M and temperature is 298 K. But in electrochemical cells the concentration of electrolyte is not definite and electrode potential depends on concentration and temperature. In such condition single electrode potential can be expressed by Nernst equation.
For a reduction half reaction, Nernst equation can be expressed as follows :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 67
Where E = Reduction electrode potential
E° = Standard electrode potential (Mn+ concentration 1M and at 298 K)
R = Gas constant = 8.31 JK-1 mol-1 = Temperature (in kelvin) = 298 K
n = Valency of metal ion, F = 1 Faraday (96,500 coulomb)
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 68
Equation (2) is Nernst equation for single electrode potential.

Question 3.
Write the Faraday’s laws of electrolysis.
Answer:
Faraday’s first law of electrolysis : The law states that, “The mass of any substance deposited or liberated at any electrode is directly proportional to the quantity of electricity passed.”
Thus, if W gm of the substance is deposited on passing Q coulomb of electricity, then
W α Q or W = ZQ
Where, Z is a constant of proportionality and is called electrochemical equivalent of the substance deposited. If a current of I ampere is passed for t second, then Q = I × t. So that,
W = Z × Q = Z × I × t
Thus, if Q = 1 coulomb, I = 1 ampere and t = 1 second, then W = Z. Hence, electrochemical equivalent of a substance may be defined as, “The mass of the substance deposited when a current of one ampere is passed for one second.”
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 69
As one faraday (96500 C) deposits one gram equivalent of the substance, hence electrochemical equivalent can be calculated from the equivalent mass.
Faraday’s second law of electrolysis : It states that, “When the same quantity of electricity is passed through solutions of different electrolytes connected in series, the weight of the substances produced at the electrodes are directly proportional to their equivalent mass.”

For example, for CuSO4 solution and AgNO3 solution connected in series, if the same quantity of electricity is passed, then
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 70

Question 4.
What is rusting of iron ? Describe Electrochemical theory of rusting.
Answer:
Corrosion: Process by which the layers of undesirable compounds are formed on the surface of a metal on its exposure to atmospheric condition are called corrosion. Rusting of iron is an example of corrosion, chemically it is Fe2O3xH2O.

Electrochemical theory of rusting :
Anode reaction : On one spot of iron sheet, oxidation takes place and this spot behaves as an anode.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 71
The electrons which are released at this spot travel through the metal and reach another spot on the metal which acts as cathode. These electrons cause the reduction of oxygen in the presence of hydrogen ions (H+). H+ ions are formed due to decomposition of carbonic acid formed by dissolution of CO2 in H2O.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 72
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 73

Question 5.
What is corrosion ? Write three factors affecting it and any three methods to prevent it.
Answer:
Corrosion : Process by which the layers of undesirable compounds are formed on the surface of a metal on its exposure to atmospheric conditions are called corrosion.

Factors affecting corrosion :

  1. Nature of metal: Reactive metal corrodes readily.
  2. Impurities in metal: Impure metal corrodes quickly to a greater extent.
  3. Environment: If environment around metal contains oxygens, carbon dioxide, moisture, salts and acidic gases like CO2, SO2, SO3 etc. then corrosion occurs quickly.

Methods to prevent corrosion :

1. Barrier protection : In this method, the surface of the metal is coated with paint, oil or grease. Due to this the surface of the metal remain unexposed to atmospheric conditions and hence corrosion is prevented. Surface of the metal can also be protected by :
(i) Coating metal surface with non-corroding metals like nickel and chromium is called electroplating.
(ii) Dipping iron article in molten metal like zinc. This process is called galvanization.

2. Sacrificial protection : The rusting of iron can be prevented by covering the iron with more electropositive metals like zinc. Zinc metal has more tendency to get oxidized as compared to iron. So, iron articles will not be harmed till the layer of zinc present on its surface hence zinc metal is called the sacrificial metal.

3. Antirust solution : The alkaline antirust solution are employed to prevent rusting, alkaline solution prevent the availability of H+ ions.

In this method, iron articles are dipped in alkaline sodium phosphate or chromate solution. Due to this an insoluble sticking film of iron phosphate is formed on the surface which prevents rusting.

MP Board Solutions

Question 6.
Describe dry cell with labelled diagram.
Answer:
Dry cell: It is a primary cell based on Leclanche cell invented by G. Leclanche in 1868. In a primary cell, the electrode reactions cannot be reversed by an external source of electrical energy. In this cell, the cell reaction takes place only once i.e., this cell is not rechargeable.

It is generally used in torches, transistors, radios, calculators, tape recorders, etc. It consists of a hollow zinc cylinder which is filled with a paste of NH4Cl and a little ZnCl2. This paste is made with the help of water. The zinc cylinder acts as anode while cathode is a graphite rod (Carbon). The carbon rod is surrounded by a black paste of MnO2 and carbon powder. The zinc cylinder has an outer insulation of cardboard case.

Dry cells are sealed with wax or other material to protect the moisture from evaporation. When the electrodes are connected, the cell operates.

The electrode reactions are complex. Metallic Zn is oxidized to Zn2+ and the electrons liberated are left on the container. The reactions which take place at electrodes can be represented as :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 74

This reaction prevents polarization due to formation of ammonia. It also prevents the substantiaL increase of concentration of Zn2+ ions which would decrease the cell potential. This potential of dry cell is approximately 1.5 V.

Defect: Due to acidic nature of NH4Cl zinc container corrodes due to which holes develop through which the chemicals come out.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 75
Nowadays, the cells are made leakage resistant. In it KOH is used in place of NH4Cl by which zinc does not corrode.

Question 7.
What is Kohlrausch law ? Give its two applications.
Answer:
Kohlrausch in 1875 gave a generalisation known as Kohlrausch’s law, “At infinite dilution when the dissociation of the electrolyte is complete, each ion makes a definite contribution towards molar conductance of the electrolyte irrespective of the nature of the other ion with which it is associated.”
Or
“The value of molar conductance at infinite dilution is given by the sum of the contributions of ions (cation and anion).”
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 76
Where, λ+ and λ are ionic contributions or ionic conductances of cation and anion while v+ and v are the number of cations and anions in the formula unit of electrolyte.

Applications of Kohlrausch’s law :

(i) Calculation of molar conductance at infinite dilution for weak electrolytes :

Molar conductance or equivalent conductance of weak electrolytes cannot be obtained graphically by extrapolation method, since these are feebly ionized. Kohlrausch’s law enables indirect evaluation in such cases. For example, molar conductances of acetic acid can be obtained from the knowledge of molar conductances at infinite dilution of HCl, CH3COONa and NaCl which are strong electrolytes.

From Kohlrausch’s law, it is clear that
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 77
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 78

(ii) Determination of degree of dissociation :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 79

Question 8.
Draw a labelled diagram of Daniel cell and explain cell reaction.
Or,
Draw a labelled diagram of electrochemical cell and write cell reaction.
Answer:
Electrochemical cell: In the redox reactions, the transfer of electrons between oxidizing and reducing agents occurs through wire and thus chemical energy changes into electrical energy. The device on which chemical energy changes into electrical energy is called electro chemical cell. These are also known as galvanic or voltaic cells. Working of these cells can be understood with the example of Daniel cell.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 80
Daniel cell : In this cell, Zn rod is dipped in ZnSO4 solution and Cu rod in copper sulphate solution. Both solutions are connected through KC1 salt bridge. When Zn and Cu electrodes are connected by wire and galvanometer, flow of electrons from Zn to Cu occurs. Zinc atoms change into Zn2+ and electrons reach at Cu electrode, where Cu2+ changes into Cu metal and this copper deposits on electrode.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 81

MP Board Solutions

Electrochemistry Numerical Questions

Question 1.
On passing 5 ampere electric current for 30 minute through a container filled with AgNO3 10.07 gram silver is deposited, then determine the chemical equivalent of silver. If electrochemical equivalent of hydrogen is 0-00001036 then calculate the equivalent mass of Silver.
Solution:
Given : W = 10-07 gm, i = 5 ampere, t = 30 × 60 second
According to Faraday’s first law W = Zit
∴ 10.7 = Z × 30 × 60
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 82

Question 2.
What are weak electrolytes ? Give one example. Find out molar conductivity of LiBr aqueous solution infinite dilution when joint conductance of Li+ ion and Br ion are 38.7 Scm2 mol-1 and 78.40 Scm2 mol-1 respectively.
Solution:
Weak electrolytes : These are the substances which dissociate only to a small extent.
Examples: CH3COOH,NH4OH
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 83

Question 3.
What are strong electrolytes ? Find out the molar conductivity of aqueous solution of BaCl2 at infinite dilution when ionic conductance of Ba+2 ion and Cl ion are 127.30 Scm2 mol-1 and 76.34 Scm2 mol-1 respectively.
Solution:
Strong electrolytes : These are substances which dissociate almost completely into ions under all dilutions.
Examples: NaCl, HCl,CH3COONa
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 84

Question 4.
Calculate the molar conductance of Al2(SO4)3 if
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 85
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 86
Solution:
By the ionisation of Al2(SO4)3 solution
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 87
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 88

Question 5.
Molar conductivity of \(\frac { M }{ 30 } \) CH3COOH is 9.625 mho and molar conductance of CH3COOH at infinite dilution (Λm) is 385 mho. Calculate the percentage of dissociation of \(\frac { M }{ 30 } \) CH3COOH.
Solution:
Degree of dissociation
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 89

Question 6.
Calculate molar conductance of acetic acid at infinite dilution from following values:
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 90
Solution:
From Kohlrausch’s law,
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 3 Electrochemistry 91

MP Board Class 12th Chemistry Solutions

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व

In this article, we will share MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व

d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व NCERT पाठ्यनिहित प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
आद्य अवस्था में सिल्वर परमाणु में पूर्ण भरे d-कक्षक (4d10) होते हैं। इसे आप कैसे कह सकते हैं कि यह संक्रमण तत्व है?
उत्तर
सिल्वर +2 ऑक्सीकरण अवस्था रखता है। 4d-उपकक्ष में नौ इलेक्ट्रॉन होते हैं, जैसे 4dकक्षकों का एक कक्ष आंशिक भरा होता है। अतः इसे संक्रमण तत्व नहीं मान सकते।

प्रश्न 2.
श्रेणी Sc(Z = 21) से Zn(Z = 30) में, Zn की परमाणुकरण की एन्थैल्पी कम होती है, 126 kJmol-1 क्यों?
उत्तर
जिंक में 3d-इलेक्ट्रॉन धात्विक बन्ध में भाग नहीं लेते क्योंकि d10 विन्यास होता है। दुर्बल धात्विक बंध के कारण जिंक की परमाणुकरण की एन्थैल्पी निम्न होती है।

प्रश्न 3.
संक्रमण धातुओं की 3d श्रेणी में किसकी अधिकतम संख्या में ऑक्सीकरण अवस्था होती है एवं क्यों ?
उत्तर
Mn(Z = 25) अधिक संख्या में ऑक्सीकरण अवस्थायें रखते हैं, क्योंकि इसमें अधिकतम संख्या में अयुग्मित इलेक्ट्रॉन होते हैं। अत: यह +2 से +7 तक ऑक्सीकरण अवस्थायें दर्शाता है।

प्रश्न 4.
E°(M2+/M) का मान कॉपर के लिए धनात्मक (+034V) है। इसका संभावित कारण क्या है ? (संकेत : इसकी उच्च ΔaH एवं निम्न ΔhydH मानने पर) –
उत्तर
किसी धातु की E° (M2+/M) पूर्ण परमाणुकरण की एन्थैल्पी, आयनन एन्थैल्पी एवं जलयोजन एन्थैल्पी पर निर्भर होती है। कॉपर की उच्च परमाणुकरण एन्थैल्पी एवं निम्न आयनन एन्थैल्पी होती है। अतः E° (Cu2+ /Cu) धनात्मक है।

MP Board Solutions

प्रशन 5.
संक्रमण तत्वों की प्रथम श्रेणी में (प्रथम एवं द्वितीय) आयनन एन्थैल्पियों में अनियमित क्रमिकता को किस प्रकार देखते हो? ।
उत्तर
आयनन एन्थैल्पी में अनियमित क्रम (प्रथम एवं द्वितीय) का कारण मुख्यतः विभिन्न 3dविन्यासों के भिन्न स्थायित्व की मात्रा के कारण होता है। d0, d5 एवं d10 विन्यास अतिरिक्त स्थायित्व रखता है एवं ऐसे प्रकरणों में आयनन एन्थैल्पी के मान सामान्यत: उच्च होते हैं। उदाहरण, Cr के प्रथम आयनन एन्थैल्पी के नाम निम्न होते हैं, क्योंकि 4s- कक्षक से इलेक्ट्रॉन को निकाला जा सकता है, किन्तु द्वितीय आयनन एन्थैल्पी अति उच्च होती है, अत: Cr+ में स्थायी d5 विन्यास होता है। Zn की प्रथम आयनन एन्थैल्पी अति उच्च होती है, क्योंकि स्थायी विन्यास 3d10,4s2 से इलेक्ट्रॉन हटाया जाता है।

प्रश्न 6.
धातु अपने उच्चतम ऑक्सीकरण अवस्था में केवल ऑक्साइड अथवा फ्लोराइड में रहते हैं, क्यों?
उत्तर
क्योंकि ऑक्सीजन एवं फ्लुओरीन का आकार छोटा एवं ऋण-विद्युतता उच्च होती है, इस प्रकार ये सरलता से धातु को उसकी उच्च ऑक्सीकरण अवस्था में ऑक्सीकृत करता है।

प्रश्न 7.
Cr2+ अथवा Fe2+ में से कौन-सा प्रबल अपचायक अभिकर्मक है एवं क्यों ?
उत्तर
Fe2+ से Cr2+ प्रबल अपचायक अभिकर्मक है। इसका कारण है कि Cr2+ का विन्यास d4 ‘से d3 एवं d3 विन्यास में परिवर्तित होता है, जो स्थायी t32(g)(138) अर्द्धपूर्ण t2) स्तर है।

प्रश्न 8.
M2+(aq) आयन (Z = 27) के लिए ‘चक्रण खेल’ चुम्बकीय आघूर्ण की गणना कीजिए।
उत्तर
M2+(aq) आयन (Z = 27) का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास है :
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 1
इस प्रकार तीन अयुग्मित इलेक्ट्रॉन हैं। ‘चक्रण केवल’ चुम्बकीय आघूर्ण
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 2

प्रश्न 9.
Cu+ आयन जलीय विलयनों में क्यों स्थायी नहीं हैं, समझाइये?
उत्तर
Cu+(aq) जलीय विलयन में स्थायी नहीं है, क्योंकि इसकी Cu+(aq) की तुलना में निम्न ऋणात्मक जलयोजन एन्थैल्पी है।

MP Board Solutions

प्रश्न 10.
लैन्थेनॉइड संकुचन की तुलना में तत्वों से तत्वों में एक्टीनॉइड संकुचन अधिक है, क्यों ?
उत्तर
लैन्थेनॉयड के 4f इलेक्ट्रॉनों की तुलना में एक्टीनॉयड्स में 5f इलेक्ट्रॉनों का कमजोर परिरक्षण प्रभाव के कारण होता है।

d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व NCERT पाठ्य-पुस्तक प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए –
(i) Cr3+
(ii) Cu+
(i) CO2+
(iv) Mn2+
(v) Pm3+
(vi) Ce4+
(vii) Lu2+
(viii) Th4+
उत्तर
(i) Cr+3 : [Ar]3d3
(ii) Cu+1 : [Ar]3d10
(iii) CO+2 : [Ar]3d7
(iv) Mn+2 : [Ar]3d5
(v) Pm+3 : [Xe]4f4
(vi) Ce+4 : [Xe]54 .
(vii) Lu+2 : [Xe]4 f145d1
(vii) Th+4: [Rn].

प्रश्न 2.
+3 अवस्था में Mn+2 यौगिक Fe+2 से ऑक्सीकरण में अधिक स्थायी है, क्यों?
उत्तर
Mn+2 का स्थायी इलेक्ट्रॉनिक विन्यास [Ar]4s0,3d5 होता हैं एवं यह सरलता से Mn+3 में परिवर्तित नहीं होता, Fe+2[Ar] 4s0,3d6 ऑक्सीकरण पर Fe+3[Ar] 4s0,3d5 बनाता है जो अधिक स्थायी विन्यास है।

प्रश्न 3.
परमाणु क्रमांक में वृद्धि से संक्रमण तत्वों के प्रथम श्रेणी के पहले आधे की +2 अवस्था अधिक एवं अधिक स्थायी होती हैं, विस्तृत विवेचना कीजिए।
उत्तर
स्कैण्डियम (जो +3 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाता है) को छोड़कर, प्रथम श्रेणी के सभी संक्रमण तत्व +2 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाते हैं । यह 4s के दो इलेक्ट्रॉनों के त्यागने के कारण होता है। प्रथम चरण में, जब हम Ti+2 से Mn+2 की तरफ चलते हैं, तो इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 3d2 से 3d5 में परिवर्तित होता है, जिसका अर्थ है अधिक-से-अधिक d-कक्षकों का अर्द्धपूर्ण भरना है, जो +2 अवस्था को अधिक स्थायित्व प्रदान करते हैं।

प्रश्न 4.
संक्रमण तत्वों की प्रथम श्रेणी में ऑक्सीकरण अवस्थाओं के स्थायित्व का निर्धारण इलेक्ट्रॉनिक विन्यासों से कितना किया जा सकता है ? अपने उत्तर को उदाहरण सहित समझाइए।
उत्तर
संक्रमण श्रेणी में, ऑक्सीकरण अवस्थायें अर्द्धपूर्ण अथवा पूर्ण भरे हुए d-कक्षक अधिक स्थायी है। उदाहरण के लिए, Fe(Z = 26) का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास [Ar]3d64s2 है। यह दर्शाता है कि विभिन्न ऑक्सीकरण अवस्थाओं में Fe(III) अधिक स्थायी है, क्योंकि यह विन्यास [Ar]3d5 रखता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 5.
संक्रमण तत्व के स्थायी ऑक्सीकरण अवस्था, आद्य अवस्था में इनके परमाणुओं के d इलेक्ट्रॉन विन्यासों : 3d3,3d5,3d8 एवं 3d4 में से क्या होगी? ।
उत्तर
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 3
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 4
3d4 आद्य अवस्था में कोई d4 विन्यास नहीं होता।

प्रश्न 6.
प्रथम श्रेणी के संक्रमण धातुओं के ऑक्सो धातु ऋणायनों के नाम बताइये, जिसमें धातु की ऑक्सीकरण अवस्था समूह संख्या के बराबर होती है।
उत्तर
CrO2-7 एवं CrO2-4 (समूह संख्या = Cr की ऑक्सीकरण अवस्था = 6) MnO4 (समूह संख्या = Mn की ऑक्सीकरण अवस्था = 7)

प्रश्न 7.
लैन्थेनॉयड संकुचन क्या है ? लैन्थेनॉयड संकुचन के प्रभाव क्या होंगे?
उत्तर
लैन्थेनाइड संकुचन-लैन्थेनाइडों के परमाणु क्रमांक बढ़ने के साथ-साथ उनके परमाणुओं एवं आयनों के आकार में कमी होती है, इसे लैन्थेनाइड संकुचन कहते हैं।।
कारण-लैन्थेनाइडों में आने वाला नया इलेक्ट्रॉन बाह्यतम कक्ष में न जाकर (n-2)f- उपकोश में प्रवेश करता है, फलतः इलेक्ट्रॉन और नाभिक के मध्य आकर्षण बल में वृद्धि होती है, जिससे परमाणु अथवा आयन संकुचित हो जाता है।

लैन्थेनाइड संकुचन का प्रभाव :
(i) लैन्थेनाइडों के गुणों में परिवर्तन-लैन्थेनाइड संकुचन के कारण इनके रासायनिक गुणों में बहुत कम परिवर्तन होता है। अतः इन्हें शुद्ध अवस्था में प्राप्त करना अत्यन्त कठिन होता है।
(ii) अन्य तत्वों के गुणों पर प्रभाव-लैन्थेनाइड संकुचन का लैन्थेनाइडों से पूर्व आने वाले तथा इनके बाद आने वाले तत्वों के आपेक्षिक गुणों पर बहुत महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। उदाहरण के लिए, Ti और Zr के गुणों में भिन्नता होती है, जबकि Zr और Hf गुणों में काफी समानता रखते हैं।

प्रश्न 8.
संक्रमण तत्वों के अभिलक्षण क्या हैं एवं इन्हें संक्रमण तत्व क्यों कहते हैं ? कौन से dब्लॉक तत्वों को संक्रमण तत्व नहीं माना जा सकता?
उत्तर
संक्रमण तत्व वे तत्व हैं जिसके अणुओं में (स्थायी ऑक्सीकरण अवस्था में) आंशिक रूप से पूर्ण d-ऑर्बिटल विद्यमान होते हैं। इन तत्वों को d-ब्लॉक के तत्व भी कहते हैं, ये 5-ब्लॉक तथा p-ब्लॉक के तत्वों के गुणों में संक्रमण प्रदर्शित करते हैं। इसलिए इन्हें संक्रमण तत्व कहा जाता है। Zn, Cd एवं Hg जैसे तत्वों को संक्रमण तत्वों की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता क्योंकि इनमें पूर्ण पूरित d-उपकक्षक पाये जाते हैं।

MP Board Solutions

प्रश्न 9.
नॉन-संक्रमण तत्वों से संक्रमण तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास किस प्रकार भिन्न हैं ?
उत्तर
संक्रमण तत्वों में d-कक्षकों को भरते हैं, जबकि प्रतिनिधि तत्वों में 5-एवं p-कक्षकों को भरते हैं। संक्रमण तत्वों के सामान्य इलेक्ट्रॉनिक विन्यास (n-1)d1-10ns1-2 है, जबकि प्रतिनिधि तत्वों का सामान्य इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ns1-2 अथवा ns2np1-6 होता है। प्रतिनिधि तत्वों में केवल अंतिम कक्ष अपूर्ण होता है जबकि संक्रमण तत्वों में उपात्य कक्ष अपूर्ण होता है।

प्रश्न 10.
लैन्थेनॉयड्स कौन-सी विभिन्न ऑक्सीकरण अवस्थायें रखते हैं ?
उत्तर
लैन्थेनॉयड्स का मुख्य ऑक्सीकरण अवस्था + 3 है। इसके अतिरिक्त ये + 2 एवं + 4 ऑक्सीकरण अवस्थायें रखते हैं।

प्रश्न 11.
कारण सहित समझाइए-
(i) संक्रमण धातुओं एवं इनके अनेक यौगिक अनुचुम्बकीय व्यवहार दर्शाते हैं।
(ii) संक्रमण धातुओं के परमाण्वीयकरण की एन्थैल्पी उच्च होती है।
(iii) संक्रमण धातुएँ सामान्यतः रंगीन यौगिक बनाते हैं।
(iv) संक्रमण धातुएँ एवं इसके अनेक यौगिक अच्छे उत्प्रेरक होते हैं।
उत्तर
(i) जब किसी यौगिक को चुम्बकीय क्षेत्र में रखा जाता है तो यौगिक के भीतर का चुम्बकत्व बाहरी चुम्बकीय क्षेत्र से प्रभावित होता है। यदि भीतर का चुम्बकत्व बाहरी चुम्बकीय क्षेत्र का साथ देता है तो उसे अनुचुम्बकीय गुण कहते हैं। यदि यौगिक में अयुग्मित इलेक्ट्रॉन हो तो अनुचुम्बकत्व प्रबल हो जाता है अर्थात् किसी यौगिक के अनुचुम्बकत्व की मात्रा उसमें उपस्थित अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों पर निर्भर होती है। संक्रमण तत्वों में अयुग्मित इलेक्ट्रॉन होते हैं, अतः वे अनुचुम्बकीय होते हैं। .

(ii) संक्रमण धातुओं में उच्च प्रभावी न्यूक्लियर आवेश तथा संयोजी इलेक्ट्रॉनों की अधिक संख्या होती है इसलिए ये बहुत मजबूत धात्विक बंध बनाते हैं। परिणामस्वरूप संक्रमण धातुओं के परमाण्विकरण की एन्थैल्पी उच्च होती है।

(iii) संक्रमण धातु आयनों का रंग अपूर्ण रूप से भरे हुए (n-1)d कक्षकों के कारण होता है। संक्रमण धातु आयनों में जिनमें अयुग्मित d-इलेक्ट्रॉन हैं, इस इलेक्ट्रॉन का एक d-कक्षक से दूसरे d-कक्षक में संक्रमण होता है। इस संक्रमण के समय वे दृश्य प्रकाश के कुछ विकिरणों का अवशोषण करते हैं तथा शेष विकिरणों को रंगीन प्रकाश के रूप में उत्सर्जित कर देते हैं। अत: आयन का रंग उसके द्वारा अवशोषित रंग का पूरक (Complementary) होता है। उदाहरणार्थ, [Cu(H2O)6]+2 आयन नीला दिखता है, क्योंकि यह दृश्य प्रकाश के लाल रंग को इलेक्ट्रॉन के उत्तेजना के लिए अवशोषित करता है तथा उसके पूरक (नीले) रंग को उत्सर्जित कर देता है।

कुछ आयनों के रंग –
Cr4+ नीला : Cr3+ बैंगनी
Mn2+ बैंगनी : Mn3+ गुलाबी
Fe2+ हरा : Fe3+ पीला

(iv) संक्रमण तत्व परिवर्ती संयोजकता प्रदर्शित करते हैं, क्योंकि (n-1)d-कक्षक तथा ns-कक्षक के इलेक्ट्रॉनों की ऊर्जा में बहुत अधिक अन्तर नहीं होता है, जिससे d-कक्षक के इलेक्ट्रॉन भी संयोजी इलेक्ट्रॉन का कार्य करते हैं। इन तत्वों में Mn अधिकतम परिवर्ती संयोजकता प्रदर्शित करता है।

प्रश्न 12.
अन्तराकाशी यौगिक क्या है ? संक्रमण धातुओं के ऐसे यौगिक क्यों ज्ञात हैं ?
उत्तर
अधिकांश संक्रमण तत्व उच्च ताप पर अधात्विक तत्वों के परमाणुओं जैसे-H, B,C, Ni, Si आदि के साथ अन्तराकाशी यौगिक बनाते हैं। संक्रमण धातु के क्रिस्टल जालक के अन्तराकाशी रिक्तियों में ये अधात्विक तत्वों के छोटे परमाणु ठीक-ठीक फिट हो जाते हैं। ये अन्तराकाशी यौगिक कहलाते हैं।

MP Board Solutions

प्रश्न 13.
नॉन-संक्रमण धातुओं से संक्रमण धातुओं की परिवर्ती ऑक्सीकरण अवस्थायें भिन्न कैसे होती हैं ? उदाहरण देकर समझाइए।
उत्तर
संक्रमण तत्वों में उत्तरोत्तर ऑक्सीकरण अवस्थाओं में इकाई का अन्तर आता है। उदाहरण के लिए, Mn सभी ऑक्सीकरण अवस्थायें +2 से +7 दर्शाता है। जबकि नॉन-संक्रमण धातुएँ परिवर्ती ऑक्सीकरण अवस्थाएँ रखती हैं, जिनमें दो इकाई का अन्तर होता है, उदाहरण के लिए Pb(II), Pb(IV), Sn(II), Sn(IV).

प्रश्न 14.
आयरन क्रोमाइट अयस्क से पोटैशियम डाइक्रोमेट के बनाने की विधि का वर्णन कीजिए। पोटैशियम डाइक्रोमेट विलयन की pH बढ़ाने पर क्या प्रभाव होगा?
उत्तर
बनाने की विधि-

बनाने की विधि-K2Cr2O7 को क्रोमाइट अयस्क (Fe2Cr2O4) या क्रोम आयरन (FeO.Cr203) से बनाया जाता है, जो निम्नलिखित पदों में होते हैं।

(1) क्रोमाइट अयस्क का सोडियम क्रोमेट में परिवर्तन-क्रोमाइट अयस्क को NaOH या Na2CO3 के साथ वायु की उपस्थिति में एक परावर्तनी भट्टी में गर्म करने पर सोडियम क्रोमेट (पीला रंग) बनता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 5

पदार्थ को छिद्रमय रखने हेतु कुछ मात्रा में शुष्क चूने को मिलाते हैं । जल के साथ निष्कर्षण करने पर Na2Cr2O3 विलयन में चला जाता है। जबकि Fe2O3 रह जाता है जिसे छानकर पृथक् कर लेते हैं।

(2) सोडियम क्रोमेट (Na2CrO4) का सोडियम डाइक्रोमेट (Na2Cr2O7) में परिवर्तन-सोडियम क्रोमेट विलयन सान्द्र H2SO4 के साथ अपचयित करके सोडियम डाइक्रोमेट बनाते हैं।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 6
2Na2CrO4 कम विलेय होता है जिसका वाष्पन करने पर Na2SO410H2O के रूप में क्रिस्टलीकृत हो जाता है जिसे पृथक् कर लिया जाता है।

(3) Na2Cr2O7 का K2Cr2O7 में परिवर्तन-सोडियम डाइक्रोमेट के जलीय विलयन का उपचार KCI के साथ किये जाने पर पोटैशियम डाइ क्रोमेट प्राप्त होता है। K2Cr2O7 के अल्प विलेय प्रकृति के कारण इसके क्रिस्टल ठण्डे में प्राप्त किये जाते हैं।

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 7

K2Cr2O7 की निम्न के साथ होने वाली रासायनिक अभिक्रिया –

(1) अम्लीय फेरस सल्फेट के साथ-K2Cr207 अम्लीय माध्यम में यह फेरस सल्फेट को फेरिक सल्फेट में ऑक्सीकृत कर देता है। K2Cr2O7 पहले H2SO4 से क्रिया करके नवजात ऑक्सीजन का तीन परमाणु देता है जो Fe2+ को Fe3+ आयन में ऑक्सीकृत कर देता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 8

pH बढ़ाने पर प्रभाव-पोटैशियम क्लोराइड सोडियम क्लोराइड से कम विलेयशील होता है। ये ऑरेंज क्रिस्टल के रूप में प्राप्त होते है तथा इन्हें फिल्ट्रेशन से हटाया जा सकता है। pH 4 पर डाइक्रोमेट आयन (CrO72-) क्रोमेट आयन CrO4 2-के रूप में उपस्थित होते हैं । ये pH के मान में परिवर्तन के अनुसार एक-दूसरे में परिवर्तनशील होते हैं।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 9

MP Board Solutions

प्रश्न 15.
पोटैशियम डाइक्रोमेट की ऑक्सीकरण क्रियायें समझाइये एवं इनकी निम्न के साथ आयनिक अभिक्रियायें लिखिए
(i) आयोडाइड, (ii) आयरन (II) विलयन एवं (ii) H2S.
उत्तर
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न 2 (K2Cr2O7 की निम्न के साथ होने वाली रासायनिक अभिक्रिया) देखें।

प्रश्न 16.
पोटैशियम परमैंगनेट के बनाने की विधि का वर्णन कीजिए।अम्लीकृत परमैंगनेट विलयन निम्न से कैसे क्रिया करता है
(i) आयरन (II) आयनों से, (ii) SO2 एवं (ii) ऑक्सेलिक अम्ल ? अभिक्रियाओं की आयनिक समीकरणों को लिखिए।
उत्तर
KMnO4, पायरोलुसाइट से बनाया जा सकता है, अयस्क को KOH के साथ वायुमण्डलीय ऑक्सीजन या ऑक्सीकृत एजेन्ट जैसे- KNO3 या KClO4 की उपस्थिति में क्रिया कराकर K2MnO4 प्राप्त किया जाता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 10
प्राप्त 2K2MnO4 (ग्रीन) को जल द्वारा छाना जा सकता है। फिर विद्युत्-अपघटन या क्लोरीन/ओजोन को विलयन मे प्रवाहित कर ऑक्सीकृत किया जाता है।

विद्युत्-अपघटनी ऑक्सीकरण –
2K2MnO4 ⇌ 2K+ + MnO42-
H2O → H+ + OH
एनोड में मैंग्नेट आयन, पर मैंग्नेट आयन में ऑक्सीकृत होता है।
MnO42- → MnO4 + e

क्लोरीन द्वारा ऑक्सीकरण –
2K2MnO4 + Cl2 → 2KMnO4 + 2KCl
2MnO42- + Cl2 → 2MnO4 + 2Cl

ओजोन द्वारा ऑक्सीकरण –
2K2MnO4 + O3 + H4O → 2KMnO4 + 2KOH + O2
2MnO42- + O3 +H2O → 2MnO42- + 2OH + O2
अम्लीकृत KMnO4 विलयन Fe(II) आयन को Fe(III) आयन में ऑक्सीकृत करना है अर्थात् फेरस आयन से फेरिक आयन
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 11

अम्लीकृत पोटैशियम परमैंग्नेट SO2 को H2SO4 में ऑक्सीकृत करता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 12

अम्लीकृत पोटैशियम परमैंग्नेट ऑक्सेलिक अम्ल को कार्बन डाइ-ऑक्साइड में ऑक्सीकृत करता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 13

प्रश्न 17.
M22+M एवं M3+/M2+ तंत्रों के लिए कुछ धातुओं के E° मान निम्न है –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 14
उपर्युक्त आँकड़ों का उपयोग कर निम्न पर टिप्पणी कीजिए –
(i) Cr3+ अथवा Mn3+ की तुलना में Fe3+ का अम्लीय विलयन में स्थायित्व एवं
(ii) वो कौन-सी स्थितियाँ हैं, जहाँ आयरन, समान विधियों में क्रोमियम अथवा मैंगनीज धातु की तुलना में ऑक्सीकृत होता है।
उत्तर
(i) जैसे- \(\mathrm{E}_{\mathrm{Cr}}^{\circ} / \mathrm{Cr}^{+2}\) ऋणात्मक (-04V) है, जिसका अर्थ है cr+3 आयन विलयन में सरलता से Cr+2 में अपचयित नहीं होता, अत: Cr+3 आयन अधिक स्थायी है। इसी प्रकार \(\mathrm{E}^{\circ}_{\mathrm{Mn}^{+} 3} / \mathrm{Mn}^{+2}\) धनात्मक (+1:5V) है, Mn+3 आयन सरलता से Mn+2 आयन में Fe+3 आयन की तुलना में अपचयित होता है अत: इन आयनों की आपेक्षिक स्थायित्व निम्न है –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 15

(ii) दिए गए जोड़ों का ऑक्सीकरण विभव +09V, +1-2V एवं 0-4V है। अत: इनके ऑक्सीकरण का क्रम निम्न है –

Mn>Cr>Fe

MP Board Solutions

प्रश्न 18.
पहचानिए, निम्न में कौन जलीय विलयन में रंग देते हैं? Ti3+,V3+, Cu+,Sc3+,Mn2+, Fe3+ एवं CO2+ प्रत्येक का कारण दीजिए।
उत्तर
ऐसे आयन जिनमें एक या अधिक अयुग्मित इलेक्ट्रॉन होते हैं, जलीय विलयन में d – d संक्रमण के कारण रंगीन होते हैं।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 16

प्रश्न 19.
प्रथम संक्रमण श्रेणी के तत्वों की +2 ऑक्सीकरण अवस्था को स्थायित्व की तुलना कीजिए।
उत्तर
Mn एवं Zn को छोड़कर + 2 अवस्था का स्थायित्व बायें से दायें चलने पर घटता है। मानव अपचयन विभव के ऋणात्मक मान के घटने के कारण दाँयी तरफ स्थायित्व घटता है। कुल ∆1H1 + ∆1H2 (प्रथम एवं द्वितीय आयनन एन्थैल्पी में वृद्धि के कारण E° के ऋणात्मक मान कम होते हैं।)

प्रश्न 20.
निम्न को ध्यान में रखकर एक्टीनॉयड्स के रसायन की तुलना लैन्थेनॉयड्स के साथ कीजिए
(i) इलेक्ट्रॉनिक विन्यास
(ii) परमाणु एवं आयनिक आकार एवं
(iii) ऑक्सीकरण अवस्था
(iv) रासायनिक क्रियाशीलता।
उत्तर
लैंथेनाइडों एवं एक्टिनाइडों के मध्य भिन्नताएँ
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 17

प्रश्न 21.
निम्न से क्या समझते हो –
(i) d4 श्रेणी में, Cr2+ प्रबल अपचायक है जबकि मैंगनीज (III) प्रबल ऑक्सीकारक है।
(ii) कोबाल्ट (II) जलीय विलयन में स्थायी है, जबकि जटिल अभिकर्मकों की उपस्थिति में यह आसानी से ऑक्सीकृत हो जाता है।
(iii) आयनों में d विन्यास अत्यधिक अस्थायी है।
उत्तर
(i) Cr2+ अपचायक प्रकृति का है, इसका विन्यास d4 से d3 (अर्द्धपूर्ण t.कक्षकों का स्थायी विन्यास) परिवर्तन होता है। अन्य शब्दों में Mn3+ ऑक्सीकारक प्रकृति का है, जिसका विन्यास d4 से d5 (अर्द्धपूर्ण t2g से 2g कक्षकों के स्थायी विन्यास) में परिवर्तन होता है।
(ii) प्रबल लिगेण्ड कोबाल्ट (II) को बल द्वारा 3d- उपकक्ष से एक अथवा अधिक इलेक्ट्रॉन को हटाता है, जिससे d2sp3 संकरण होता है।
(iii) d1-विन्यास वाला आयन प्रयास करता है कि d-उपकक्ष से एक इलेक्ट्रॉन निकालकर स्थायी अकिय गैस विन्यास प्राप्त कर लेवें।।

प्रश्न 22.
विषमसमानुपाती से क्या तात्पर्य है ? जलीय विलयन में विषमसमानुपाती अभिक्रिया के दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर
विषमसमानुपाती अभिक्रियायें वे होती हैं, जिनमें समान पदार्थ ऑक्सीकृत एवं अपचयित होता है। उदाहरण के लिए –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 18

प्रश्न 23.
संक्रमण धातुओं की प्रथम श्रेणी की कौन-सी धातु सामान्य +1 ऑक्सीकरण अवस्था रखते हैं एवं क्यों ?
उत्तर
कॉपर का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास [Ar]3d104s1 है। जो एक इलेक्ट्रॉन (4s1) सरलता से त्याग कर स्थायी विन्यास 3d10 देता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 24.
निम्न गैसीय आयनों में अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों की गणना कीजिए- Mn3+, Cr3+,v3+ एवं Ti3+ इनमें से कोई एक जलीय विलयन में अधिक स्थायी है ?
उत्तर
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 19
Cr2+ अत्यधिक स्थायी है, इसमें अर्द्धपूर्ण t2gस्तर होते हैं।

प्रश्न 25.
संक्रमण धातु रसायन के निम्न के उदाहरण एवं कारणों को दीजिए –
(i) संक्रमण धातु के निम्न ऑक्साइड क्षारीय हैं, उच्च उभयधर्मी/अम्लीय हैं।
(ii) संक्रमण धातु ऑक्साइडों एवं फ्लुओराइडों में उच्च ऑक्सीकरण अवस्था रखते हैं।
(iii) धातु ऑक्सो ऋणायनों में उच्च ऑक्सीकरण अवस्था होती है।
उत्तर
(i) संक्रमण तत्व के निम्न ऑक्साइड क्षारीय होते हैं, क्योंकि धातु परमाणुओं की निम्न
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 20

धातु की निम्न ऑक्सीकरण अवस्था में, धातु परमाणु के कुछ संयोजी इलेक्ट्रॉन बन्धन में भाग नहीं लेते। अत: ये इलेक्ट्रॉन को दानकर क्षार की भाँति व्यवहार करते हैं। उच्च ऑक्सीकरण अवस्था में, संयोजी इलेक्ट्रॉन बन्धन में भाग लेते हैं एवं जो उपलब्ध नहीं होते। इसके अतिरिक्त प्रभावी नाभिकीय आवेश अधिक होने पर यह इलेक्ट्रॉन स्वीकार करता है एवं अम्ल की भाँति व्यवहार दर्शाते हैं।

(ii) संक्रमण धातु ऑक्साइडों एवं फ्लुओराइडों में उच्च ऑक्सीकरण अवस्थायें रखते हैं, क्योंकि ऑक्सीजन एवं फ्लुओरीन का आकार छोटा एवं उच्च ऋणविद्युतता है एवं ये धातुओं को सरलता से ऑक्सीकृत करते हैं। उदाहरण के लिए- O5F6 [O5(VI)],V2O5 [v(v)] .

(iii) धातुओं के ऑक्सो ऋणायन उच्च ऑक्सीकरण अवस्थायें रखते हैं। उदाहरण के लिए, Cr2O72- में Cr की ऑक्सी-करण अवस्था + 6 है, जबकि MnO4 में Mn की ऑक्सी-करण अवस्था +7 है। क्योंकि ऑक्सीजन की उच्च ऋणविद्युतता एवं उच्च ऑक्सीकारक गुण है।

प्रश्न 26.
बनाने के पदों को दर्शाइये –
(i) क्रोमाइट अयस्क से K2Cr2O7
(ii) पायरोलुसाइट अयस्क से KMnO4.
उत्तर
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न क्र. 2 एवं 4 देखें।

MP Board Solutions

प्रश्न 27.
मिश्रधातुएँ क्या हैं ? प्रमुख मिश्रधातु के नाम लिखते हुए उसके उपयोग लिखिए, जिनमें कुछ लैन्थेनॉयड्स धातुएँ होती हैं।
उत्तर
दो अथवा अधिक धातुओं अथवा धातुओं एवं अधातुओं के समांगी मिश्रण मिश्रधातु है । प्रमुख मिश्रधातु जिसमें लैन्थेनॉयड होता है, मिश्रधातु है, जिसमें 95% लैन्थेनॉयड धातुएँ एवं 5% आयरन के साथ थोड़ी मात्रा में S, C, Ca एवं Al होते हैं । इसका उपयोग Mg-आधारित मिश्रधातु में करते हैं। जो गोली के आवरण एवं लाइटर में उपयोग होती है।

प्रश्न 28.
अन्तर संक्रमण तत्व क्या हैं ? दिए गए निम्न परमाणु संख्याओं में से अन्तर संक्रमण तत्वों की परमाणु संख्याओं का निर्धारण कीजिए- 29,59, 74, 95, 102, 104.
उत्तर
f-ब्लॉक तत्वों में, अन्तिम इलेक्ट्रॉन अन्तर उपात्यकक्ष – उपकक्ष में प्रवेश करते हैं, अतः इन्हें अन्तर संक्रमण तत्व कहते हैं। इनमें लैन्थेनॉयड्स (58-71) एवं एक्टीनॉयड्स (90-103) होते हैं । अतः परमाणु क्रमांक 59, 95 एवं 102 वाले तत्व अन्तर संक्रमण तत्व हैं।

प्रश्न 29.
लैन्थेनॉयड्स की तुलना में एक्टीनॉयड्स तत्वों का रसायन अधिक सरल नहीं है। इस वाक्य को इन तत्वों की ऑक्सीकरण अवस्था के कुछ उदाहरणों द्वारा न्यायोचित सिद्ध कीजिए।
उतर
लैन्थेनॉयड्स निश्चित संख्या में ऑक्सीकरण अवस्थायें दर्शाते हैं, जैसे +2, +3 एवं +4 (+3 मुख्य ऑक्सीकरण अवस्था है)। क्योंकि 5d एवं 4f उपकक्षों के मध्य अधिक ऊर्जा अन्तर होता है। एक्टीनॉयड्स भी प्रमुख ऑक्सीकरण अवस्था +3 दर्शाते हैं, किन्तु अन्य ऑक्सीकरण अवस्था भी दर्शाते हैं । उदाहरण के लिए, यूरेनियम (Z= 92) +3, +4, +5, +6 ऑक्सीकरण अवस्थायें रखता है, एवं नेप्चूनियम (Z= 94) +3, +4, +5, +6 एवं +7 ऑक्सीकरण अवस्थायें दर्शाता है। क्योंकि 4f एवं 6d कक्षकों के मध्य ऊर्जा अन्तर कम होता है।

प्रश्न 30.
एक्टीनॉयड्स श्रेणी का अंतिम तत्व कौन-सा है ? इस तत्व का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए। इस तत्व की संभावित ऑक्सीकरण अवस्था पर टिप्पणी कीजिए।
उत्तर
एक्टीनॉयड श्रेणी का अंतिम तत्व= लॉरेन्सियम (Z = 103)
इलेक्ट्रॉनिक विन्यास = [Rn]5f146d17s2
संभावित ऑक्सीकरण अवस्था = +3

MP Board Solutions

प्रश्न 31.
हुण्ड नियम का उपयोग करते हुए Ce* आयन का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए एवं ‘चक्रण केवल’ सूत्र के आधार पर इसके चुम्बकीय आघूर्ण की गणना कीजिए।
उत्तर
सीरियम का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास = [Xe] 4f15d16s2
Ce3+ 344 = [Xe]4f1
जिसका अर्थ है कि एक अयुग्मित इलेक्ट्रॉन उपस्थित है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 21

प्रश्न 32.
लैन्थेनॉयड श्रेणी के उन सदस्यों के नाम दीजिए, जो +4 ऑक्सीकरण अवस्था में एवं +2 ऑक्सीकरण अवस्थायें रखते हैं। इस प्रकार के व्यवहार को इन तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यासों से संबंध स्थापित कीजिए।
उत्तर
+4= 58Ce, 59Pr, 60Nd, 65Tb, 66Dy
+2 = 60Nd, 62Sm, 63Eu, 69Tm, 70Yb
+4 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाती है, जब विन्यास बाँयी तरफ के समीप 4f° (अर्थात् 4f04f14f2) अथवा 4f7 के समीप (अर्थात् 4f7 अथवा 4f8) होता है।
+2 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाती है, जब विन्यास 5d0 6s2 है तथा दो इलेक्ट्रॉन सरलता से त्याग देता है।

प्रश्न 33.
निम्न के सापेक्ष एक्टीनॉयड्स एवं लैन्थेनॉयड्स के रसायन की तुलना कीजिए –
(i) इलेक्ट्रॉनिक विन्यास
(ii) ऑक्सीकरण अवस्थाएँ
(iii) आयनन एन्थैल्पी एवं
(iv) परमाण्विक आकार।
उत्तर
लैंथेनाइडों एवं एक्टिनाइडों के मध्य भिन्नताएँ
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 22

MP Board Solutions

प्रश्न 34.
परमाणु क्रमांक 61,91, 101 एवं 109 वाले तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए।
(i) z = 61: [Xe]4f5f506s2
(ii) Z = 91: [Rn]5f26d17s2
(iii) Z = 101: [Rn]5f136d07s2
(iv) Z = 109: [Rn]5f146d7s2

प्रश्न 35.
ऊर्ध्वाधर कॉलम के सापेक्ष प्रथम संक्रमण धातुओं की श्रेणी के सामान्य गुणों की तुलना द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी के धातुओं से कीजिए। निम्न बिन्दुओं को विशिष्टता प्रदान कीजिए –
(i) इलेक्ट्रॉनिक विन्यास,
(ii) ऑक्सीकरण अवस्थायें
(iii) आयनन एन्थैल्पी एवं
(iv) परमाण्विक आकार।
उत्तर
प्रथम संक्रमण धातुओं की श्रेणी के सामान्य गुणों की तुलना –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 23

प्रश्न 36.
निम्न आयनों में प्रत्येक के 3d इलेक्ट्रॉनों की संख्या लिखिए –
Ti2+,v2+, Cr3+,Mn2+, Fe2+, Fe3+,Co2+,Ni2+ एवं Cu2+ दर्शाइये कि पाँच 31 कक्षकों को इन हाइड्रेट आयनों (अष्टफलकीय) द्वारा भरा जा सकता है।
उत्तर
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 24

प्रश्न 37.
इस वाक्य पर टिप्पणी कीजिए कि प्रथम संक्रमण श्रेणी के तत्वों में अनेक गुण भारी संक्रमण तत्वों से भिन्न होते हैं।
उत्तर
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 25

प्रश्न 38.
निम्न संकुल स्पीशीज के चुम्बकीय आघूर्ण के मानों से क्या दर्शाया जाता है ?
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 26
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 27
उत्तर
K4[Mn(CN)6]
Mn+2 . 3d5 , चुम्बकीय आघूर्ण 2.2 दर्शाता है कि इसमें एक अयुग्मित इलेक्ट्रॉन है एवं अन्तर कक्षक संकुल अथवा निम्न चक्रण संकुल बनाता है। इसका विन्यास है –
t22g[Fe(H2 O)6 ]2+

Fe+2: 3d6 चुम्बकीय आघूर्ण का मान 4 अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों के समीप है, अत: यह बाह्य कक्षक संकुल अथवा उच्च चक्रण संकुल बनाता है। इसका विन्यास है  – t42g e2g K2[MnCl4]

Mn+2 : 3d5 चुम्बकीय आघूर्ण का मान 5 अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों के सापेक्ष है। d-कक्षक प्रभावित नहीं होते। अतः यह चतुष्फलकीय संकुल बनाता है। इसका विन्यास है – t32g e2g

d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व वस्तुनिष्ठ प्रश्न

1. सही विकल्प चुनकर लिखिए-

प्रश्न 1.
मैंगनीज किसमें उच्चतम ऑक्सीकरण अवस्था प्रदर्शित करता है
(a) K2MnO4
(b) KMnO4
(c) MnO2
(d) MngO4
उत्तर
(b) KMnO4
MP Board Solutions

प्रश्न 2.
कौन अन्तराली यौगिक बनाता है
(a) Fe
(b) Ca
(c) Ni
(d) सभी।
उत्तर
(b) Ca

प्रश्न 3.
जब KMnO4 को उदासीन माध्यम में प्रयुक्त करते हैं, तब उनका तुल्यांक भार होगा –
(a) M
(b) M/2
(c) M/3
(d) M/5.
उत्तर
(c) M/3

प्रश्न 4.
कौन-सी लैन्थेनाइड सर्वाधिक प्रयुक्त की जाती है –
(a) लैन्थेनम
(b) नोबेलियम
(c) थोरियम
(d) सीरियम।
उत्तर
(d) सीरियम।

प्रश्न 5.
गैडोलिनियम का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास है –
(a) [Xc]4f65d9,6s2
(b) [Xe]4f7,5d1,6s2
(C) [Xe] f3,5d5,6s2
(d) [Xe]4f6,5d2,6s2.
उत्तर
(b) [Xe]4f7,5d1,6s2

प्रश्न 6.
लैन्थेनाइड संकुचन निम्न कारक के लिए उत्तरदायी होता है –
(a) Zr एवं Y की त्रिज्या लगभग समान होती है
(b) Zr एवं Nb की ऑक्सीकरण अवस्था समान होती है
(c) Zr एवं Hf की त्रिज्या लगभग समान होती है
(d)zr एवं Zn की ऑक्सीकरण अवस्था समान होती है।
उत्तर
(c) Zr एवं Hf की त्रिज्या लगभग समान होती है

प्रश्न 7.
3d श्रेणी में उच्चतम ऑक्सीकरण अवस्था किसके द्वारा प्रदर्शित की जाती है –
(a) Mn
(b) Fe2+
(c) Ni
(d) Cr
उत्तर
(a) Mn

प्रश्न 8.
कौन-सा संक्रमण धातु आयन रंगीन है –
(a) Cu+
(b) v2+
(c) Sc+3
(d) Ti+4
उत्तर
(b) v2+

प्रश्न 9.
एक संक्रमण धातु जो +3 ऑक्सीकरण अवस्था में हरा किन्तु +6 ऑक्सीकरण अवस्था में नारंगी होता है –
(a) Mn.
(b) Cr
(c) Os
(d) Fe.
उत्तर
(b) Cr

MP Board Solutions

प्रश्न 10.
लैन्थेनाइड श्रेणी में, लैन्थेनाइड हाइड्रॉक्साइडों की क्षारकता –
(a) बढ़ती है
(b) घटती है
(c) पहले बढ़ती है फिर घटती है
(d) पहले घटती है और फिर बढ़ती है।
उत्तर
(b) घटती है

प्रश्न 11.
Fe, Co, Ni किस प्रकार के चुम्बकीय पदार्थ हैं –
(a) अनुचुम्बकीय
(b) लौह चुम्बकीय
(c) प्रति चुम्बकीय
(d) प्रति लौह चुम्बकीय।
उत्तर
(b) लौह चुम्बकीय

प्रश्न 12.
Fe+2 आयन के अयुग्मित इलेक्ट्रॉन की संख्या है –
(a) 0
(b) 4
(c) 6
(d) 3.
उत्तर
(b) 4

MP Board Solutions

2. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए – 

  1. Fe, Co, Ni धातुओं को …………. कहते हैं।
  2. परमाणु क्रमांक में वृद्धि के साथ त्रिसंयोजी धनायनों का आकार क्रमशः….,.. जाता है।
  3. निम्नतर ऑक्सीकरण अवस्था प्रदर्शित करने वाले संक्रमण धातु …….. प्रकृति के होते हैं।
  4. K2Cr207 एक प्रबल ……….. है जो केवल अम्लीय माध्यम में नवजात ऑक्सीजन का ……… परमाणु मुक्त करता है।
  5. Zn केवल …………. ऑक्सीकरण अवस्था प्रदर्शित करता है।
  6. f-ब्लॉक तत्व …………. तत्व कहलाते हैं।
  7. संक्रमण तत्व और उनके यौगिक ……….. का कार्य करते हैं।
  8. अंतः संक्रमण तत्वों का सामान्य इलेक्ट्रॉनिक विन्यास …………..
  9. पोटैशियम मैंगनेट का रासायनिक सूत्र ……….. है।
  10. d-ब्लॉक तत्वों को …………. भी कहा जाता है।

उत्तर

  1. फेरस धातुएँ
  2.  घटता
  3. क्षारीय
  4. ऑक्सीकारक, तीन
  5. +2
  6. आन्तर संक्रमण
  7. उत्प्रेरक
  8. (n-2)f1-14, (n-1)d1-2,ns2
  9. K2MnO4,
  10. संक्रमण तत्व।

3. सत्य/असत्य बताइए –

  1. पारा द्रव अवस्था में होता है तथा इसकी ऑक्सीकरण अवस्था +1 व + 2 होती है।
  2. संक्रमण धातुओं की उच्चतम ऑक्सीकरण अवस्था अम्लीय प्रकृति की होती है।
  3. लैन्थेनाइड और एक्टीनाइड दोनों संक्रमण तत्व कहलाते हैं।
  4. सभी संक्रमण तत्वों में +2 ऑक्सीकरण अवस्था सामान्यत: अधिक पायी जाती है अथवा सामान्य होती है।
  5. Zn, Cd एवं Hg परिवर्ती संयोजकता प्रदर्शित करती है।
  6. Cu+2 आयन रंगहीन और प्रतिचुम्बकीय होता है।
  7. प्लूटोनियम का उपयोग परमाणु बम बनाने में तथा परमाणु रियेक्टर में ईंधन के रूप में किया जाता है।
  8. संक्रमण तत्व अन्तराली यौगिक बनाते हैं।

उत्तर

  1. सत्य,
  2. सत्य,
  3. असत्य,
  4. सत्य,
  5. असत्य,
  6. असत्य,
  7. सत्य,
  8. सत्य।

4. उचित संबंध जोडिए –
I.
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 28
उत्तर
1. (1), 2. (g), 3. (e), 4. (c), 5. (b), 6, (d), 7. (a).

5. एक शब्द/वाक्य में उत्तर दीजिए – 

  1. Cu+ तथा Cu2+ में कौन-सा आयन रंगहीन है ?
  2. एक अभिक्रिया में KMnO4 को K2MnO4 में परिवर्तित किया जाता है तो Mn की ऑक्सी
    करण संख्या में कितना परिवर्तन होगा?
  3. लैन्थेनाइड और एक्टीनाइड में कौन-सी श्रेणी उच्च ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाती है ?
  4. लैन्थेनम की कौन-सी ऑक्सीकरण अवस्था अधिक स्थायी होती है ?
  5. K3Cr3O7 का अम्लीय विलयन में तुल्यांकी भार कितना होता है ?
  6. Fe+3 में अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों की अधिकतम संख्या होती है।
  7. क्रोमिलं क्लोराइड परीक्षण में प्रयुक्त ऑक्सीकरण का नाम लिखिए।
  8. d- ब्लॉक के तत्वों में Zn परिवर्तित संयोजकता प्रदर्शित नहीं करता, क्योंकि।
  9. Cu की सर्वाधिक महत्वपूर्ण ऑक्सीकरण अवस्था है।
  10. f- ब्लॉक के तत्वों को कितने श्रेणी में बाँटा गया है ?
  11. लूनर कॉस्टिक किसे कहते हैं ?
  12. d-ब्लॉक के तत्वों में Zn परिवर्ती ऑक्सीकरण संख्या नहीं दर्शाता है, क्यों ?
  13. HgCl2 तथा KI का क्षारीय विलयन क्या कहलाता है ?

उत्तर-

  1. Cu+
  2. 1,
  3. एक्टीनाइड,
  4. +3,
  5. 49,
  6. 5,
  7. K2Cr2O7,
  8. पूर्ण-पूरित d-कक्षक,
  9. +2,
  10. दो,
  11. AgNO3,
  12. d-कक्षक के पूर्ण भरे होने की वजह से,
  13. नेसलर अभिकर्मक।

d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
सिल्वर परमाणु की मूल अवस्था में पूर्ण-पूरित d-कक्षक है।आप कैसे कह सकते हैं कि यह एक संक्रमण तत्व है ?
उत्तर
सिल्वर +1 ऑक्सीकरण अवस्था में 4d10 5s0 इलेक्ट्रॉनिक विन्यास दर्शाता है। परन्तु कुछ यौगिकों में यह +2 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाता है। इस अवस्था में यह 4d95s0 इलेक्ट्रॉनिक विन्यास दर्शाता है। अतः 4d- से कक्षक के अपूर्ण होने के कारण इसे संक्रमण तत्व माना गया है।

प्रश्न 2.
संक्रमण तत्व किसे कहते हैं ? इनका इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए। ये धात्विक गुण प्रदर्शित करते हैं, क्यों?
उत्तर
वे तत्व, जिनके परमाणु अथवा साधारण आयनों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास में भीतरी d-कक्षक अपूर्ण रूप से भरे होते हैं, संक्रमण तत्व कहलाते हैं । ये समूह 2 और 13 के मध्य स्थित होते हैं।
उदाहरण-Fe, Ni, Co आदि। इलेक्ट्रॉनिक विन्यास-(n-1)1-10,ns1-2 है।
किसी तत्व द्वारा अपने परमाणु में से एक अथवा अधिक इलेक्ट्रॉन त्यागकर धनायन बनाने की क्षमता पर उसका धात्विक गुण निर्भर करता है, सभी संक्रमण तत्व धातुएँ हैं, क्योंकि इनकी बाह्यतम कक्षा में एक या दो इलेक्ट्रॉन होते हैं, जो कि आसानी से त्यागे जा सकते हैं, क्योंकि इनकी आयनन ऊर्जा निम्न होती है। अतः ये धात्विक प्रकृति के होते हैं।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
संक्रमण तत्व परिवर्ती संयोजकता प्रदर्शित करते हैं, क्यों?
उत्तर-
संक्रमण तत्व परिवर्ती संयोजकता प्रदर्शित करते हैं, क्योंकि (n-1)d-कक्षक तथा ns-कक्षक के इलेक्ट्रॉनों की ऊर्जा में बहुत अधिक अन्तर नहीं होता है, जिससे d-कक्षक के इलेक्ट्रॉन भी संयोजी इलेक्ट्रॉन का कार्य करते हैं । इन तत्वों में Mn अधिकतम परिवर्ती संयोजकता प्रदर्शित करता है।

प्रश्न 4.
संक्रमण धातुएँ आसानी से मिश्र धातुएँ क्यों बना लेती हैं ?
उत्तर
संक्रमण धातुएँ पिघली हुई अवस्था में एक-दूसरे में मिश्रणीय हैं तथा विभिन्न संक्रमण धातुओं के मिश्रण को ठण्डा करने पर मिश्र धातुएँ बनती हैं । संक्रमण धातुओं का आकार लगभग समान होता है, अतः क्रिस्टल जालक में एक धातु परमाणु को दूसरे धातु परमाणु से आसानी से विस्थापित किया जा सकता है, इस प्रकार मिश्रधातुएँ बनती हैं । जैसे-Cr को Ni में विलेय कर Cr-Ni मिश्रधातु बनाया जाता है। मिश्र धातुएँ अपनी जनक धातुओं की तुलना में अधिक कठोर, उच्च गलनांक वाली तथा अधिक संक्षारण प्रतिरोधी होती हैं।

प्रश्न 5.
संक्रमण धातुओं के चुम्बकीय गुणों को उसके इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के आधार पर बताइए।
अथवा, अनुचुम्बकत्व और प्रतिचुम्बकत्व को समझाइए।
उत्तर
चुम्बकीय गुण-संक्रमण धातुएँ चुम्बकीय गुण प्रदर्शित करती हैं।
(a) प्रतिचुम्बकत्व-जब किसी पदार्थ में उपस्थित सभी इलेक्ट्रॉन युग्मित हों तो वह प्रतिचुम्बकत्व दर्शाता है। Zn एक प्रतिचुम्बकीय धातु है।
(b) अनुचुम्बकत्व-यह गुण पदार्थ में उपस्थित अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों की संख्या पर निर्भर करता है। अयुग्मित इलेक्ट्रॉन युक्त पदार्थ अनुचुम्बकीय होता है । अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों की संख्या बढ़ने से चुम्बकीय गुण भी बढ़ता है।
Fe, Co तथा Ni फेरोचुम्बकीय होते हैं, क्योंकि इन्हें चुम्बकित भी किया जा सकता है । अनुचुम्बकत्व को निम्न सूत्र से दर्शाते हैं –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 29
जिसमें μ = चुम्बकीय आघूर्ण, n = अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों की संख्या।

प्रश्न 6.
संक्रमण तत्वों की प्रवृत्ति अक्रिय होती है, क्यों? उत्तर
संक्रमण तत्वों की अक्रिय प्रवृत्ति या कम क्रियाशीलता निम्नलिखित कारणों से होती हैं –

(i) इनके मानक इलेक्ट्रोड विभव का मान कम होता है ।
(ii) इनकी आयनन ऊर्जा उच्च होती है ।
(iii) इनकी वाष्पन या कणिकरण ऊर्जा (Sublimation of Atomization energy) का मान उच्च होता है।
(iv) इनके आयनों की जल योजन ऊर्जा का मान कम होता है ।

MP Board Solutions

प्रश्न 7.
संक्रमण तत्वों की विशेषताएँ लिखिए।
उत्तर
संक्रमण तत्वों की विशेषताएँ-

  • इनकी प्रकृति धात्विक होती है जिनका धन विद्युतीय गुण सीमित (Ti) से उत्कृष्ट (Cu) तक होता है।
  • ये कठोर होते हैं तथा ऊष्मा और विद्युत् के सुचालक हैं।
  • इनके b.p. तथा m.p. उच्च होते हैं ।
  • ये परिवर्ती ऑक्सीकरण अवस्था प्रदर्शित करते हैं ।
  • ये रंगीन आयन बनाते हैं ।
  • ये समन्वयन यौगिक बनाते हैं।
  • ये सामान्यत: अनुचुम्बकीय होते हैं ।
  • ये अच्छे उत्प्रेरक होते हैं।
  • ये मिश्रधातु बनाते हैं।
  • ये अधातुओं के साथ अन्तराकाशीय यौगिक बनाते हैं।
  • इनमें कार्बधात्विक यौगिक, समाकृतिक यौगिक तथा नॉन-स्टॉइकियोमीट्रिक यौगिक भी पाये जाते हैं। __

प्रश्न 8.
d और f-ब्लॉक तत्वों में कोई पाँच प्रमुख अन्तर दीजिए।
उत्तर
d और ब्लिॉक तत्वों में अन्तर –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 30
प्रश्न 9.
आन्तरिक संक्रमण तत्व क्या होते हैं ?
उत्तर
वे तत्व जिनमें तीनों बाह्यतम कोश अपूर्ण भरे होते हैं अन्तर संक्रमण तत्व कहलाते हैं। संक्रमण तत्वों के भीतर वर्ग 3 व 4 के मध्य 14-14 तत्व f-ब्लॉक में आते हैं। अतः संक्रमण तत्वों के मध्य स्थित होने के कारण इन्हें अन्तर संक्रमण तत्व कहते हैं। चूँकि इनमें अंतिम इलेक्ट्रॉन बाह्यतम कोश से दो अन्दर के कोश उपउपान्त्य कोश अर्थात् (n-2)f-ऑर्बिटल में प्रवेश करते हैं। अत: इन तत्वों को f-ब्लॉक तत्व भी कहते हैं। (n-2)f1-14(n-12)d1-10ns2 इन्हें दो श्रेणियों में बाँटा गया है –

(1) लैन्थेनाइड श्रेणी-लैन्थेनम के बाद (La57) आने वाले 14 तत्व (Ce58-Lu71) लैन्थेनाइड कहलाते हैं।
(2) ऐक्टिनाइड श्रेणी-ऐक्टिनम के बाद आने वाले 14 तत्व ऐक्टिनाइड्स कहलाते हैं।

प्रश्न 10.
समूह- 12 के सदस्यों के नाम लिखिए। वे सामान्यतः संक्रमण तत्व क्यों नहीं माने जाते हैं ?
उत्तर
समूह- 12 के सदस्यों के नाम Zn, Cd, Hg हैं जिन्हें संक्रमण तत्वों में शामिल नहीं किया गया है, क्योंकि इनकी परमाणु अवस्था तथा द्विसंयोजी आयन अवस्था दोनों में इलेक्ट्रॉनिक संरचना (n-1)d10 होती है अर्थात् इनके d- कक्षक पूर्णतः भरे होते हैं। इस कारण इन्हें संक्रमण तत्व नहीं माना जाता।

MP Board Solutions

प्रश्न 11.
लैन्थेनाइडों की पाँच विशेषताएँ लिखिए। उत्तर-लैन्थेनाइडों की विशेषताएँ –
(a) ये f-ब्लॉक के तत्व हैं ।
(b) ये चाँदी के समान चमकदार धातुएँ हैं ।
(c) ये ऊष्मा तथा विद्युत् के अच्छे चालक हैं ।
(d) इनका गलनांक तथा घनत्व उच्च होता है ।
(e) La से Lu तक इनकी परमाणु त्रिज्या में लगातार कमी होती है, इसे लैन्थेनाइड संकुचन कहते हैं ।

प्रश्न 12.
क्या कारण है कि 5d श्रेणी के तत्वों की आयनन ऊर्जा का मान 4d श्रेणी से अधिक होता है?
उत्तर
किसी समूह में ऊपर से नीचे जाने पर आयनन ऊर्जा का मान घटता है, लेकिन अपेक्षा के विरुद्ध 5d श्रेणी के संक्रमण तत्वों की आयनन ऊर्जा का मान 4d श्रेणी के तत्वों के मान से अधिक होता है, जिसका कारण इन दोनों श्रेणियों के बीच आने वाले 14 लैन्थेनाइड तत्वों का रहना तथा उनके आकार में अपेक्षित वृद्धि नहीं हो पाना है। अतः नाभिक का आकर्षण बल बाह्यतम कक्षा के इलेक्ट्रॉन के लिए अधिक हो जाता है यही उनके अधिक आयनन विभव का कारण है।

प्रश्न 13.
(i) संक्रमण धातुओं में संकुल यौगिक बनाने की प्रवृत्ति होती है। समझाइए।
(ii) Zn, Cd एवं Hg संक्रमण तत्व का गुण व्यक्त क्यों नहीं करते हैं ?
(iii) Ti को आश्चर्यजनक धातु क्यों कहते हैं ?
उत्तर
(i) संक्रमण तत्वों के संकुल यौगिक बन्गने के कारण –
1. इन तत्वों के आयनों का आकार कम तथा नाभिकीय आवेश उच्च होता है, जिसके कारण ये आयन या अणु (लिगण्ड) को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।
2. लिगैण्ड द्वारा दिये जाने वाले इलेक्ट्रॉन युग्म को ग्रहण करने के लिए इन तत्वों के आयनों में रिक्त ऑर्बिटल होते हैं।

(ii) ऐसे तत्व जिनमें (n-1)d- उपकोश आंशिक (Partially) रूप से भरे रहते हैं, उन्हें संक्रपण तत्व कहते हैं।
जबकि Zn में [3d104s2], Cd में [4d10 5s2] एवं Hg में [5d10s2] अवस्था पायी जाती है। इसलिए इन्हें संक्रमण तत्व नहीं मानते हैं।
(iii) Ti को आश्चर्यजनक धातु कहते हैं क्योंकि – (1) यह कठोर व उच्च गलनांक वाली धातु है। (2) यह ऊष्मा व विद्युत् की सुचालक होती है। (3) संक्षारण प्रतिरोधी होती है।(4) इसका उपयोग टैंक, तोप, बन्दूक व रक्षात्मक कवच बनाने में किया जाता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 14.
Fe2+ आयन की त्रिज्या Mn2+ आयन की त्रिज्या से कम होती है, क्यों?
उत्तर
Fe का परमाणु क्रमांक (26) Mn के परमाणु क्रमांक (25) से अधिक है। अधिक परमाणुक्रमांक होने से नाभिक में प्रोटॉन की संख्या अधिक होती है, फलतः नाभिक और बाह्य कोश के इलेक्ट्रॉन के बीच कार्य करने वाला आकर्षण बल उतना ही प्रबल होता है। प्रबल आकर्षण बल इलेक्ट्रॉन बल इलेक्ट्रान मेघ को भीतर की ओर खींचता है, जिससे आकार में कमी होती है, इसीलिए Fe+ आयन की त्रिज्या Mn2+ आयन से कम होती है।

प्रश्न 15.
लैन्थेनाइड समूह को पृथक् करना क्यों कठिन है ? समझाइए।
उत्तर
लैन्थेनाइड समूह (Ce58 से – 71Lu) तक तत्वों में लैन्थेनाइड संकुचन के कारण रासायनिक गुणों में अत्यधिक समानता होती है। अत: इन्हें शुद्ध अवस्था में प्राप्त करना अत्यधिक कठिन होता है। इन्हें आयन विनिमय विधि द्वारा पृथक् किया जाता है।

प्रश्न 16.
(i) TiO2 श्वेत है, जबकि TiCl3 बैंगनी है। क्यों?
(ii) संक्रमण धातुओं की प्रथम पंक्ति में Cr तक अनुचुम्बकत्व बढ़ता है और फिर घटने लगता है, क्यों?
उत्तर
(i) TiO2 में Ti4+ अवस्था में है जिसका इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 3d0 है अतःd-इलेक्ट्रॉन के अभाव में d-d संक्रमण नहीं हो पाने के कारण TiO2 श्वेत है। जबकि TiCl3 में Ti3+ अवस्था में है जिसका विन्यास 3d1 है। अतः अयुग्मित d-इलेक्ट्रॉन की उपस्थिति के कारण TiCl3 बैंगनी रंग का होता है।
(ii) संक्रमण धातुओं की प्रथम पंक्ति में Cr (3d5) तक अयुग्मित d-इलेक्ट्रॉनों के संख्या में वृद्धि होती है तथा फिर युग्मन प्रारम्भ होने के कारण इनकी संख्या घटती जाती है। अत: इसी के अनुसार पहले Cr तक अनुचुम्बकत्व बढ़ता है और फिर घटने लगता है।

प्रश्न 17.
किन्हीं पाँच बिन्दुओं पर लैन्थेनाइड और ऐक्टिनाइड की तुलना कीजिए।
उत्तर-लैन्थेनाइडों एवं ऐक्टिनाइडों की तुलना –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 31

MP Board Solutions

प्रश्न 18.
क्रोमिल क्लोराइड परीक्षण समीकरण सहित लिखिए।
उत्तर
जब किसी धातु क्लोराइड को ठोस पोटैशियम डाइक्रोमेट एवं सांद्र H,SO के साथ गर्म किया जाता है तब क्रोमिल क्लोराइड का नारंगी वाष्प बनता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 32
प्राप्त वाष्प को NaOH विलयन में प्रवाहित करने पर सोडियम क्रोमेट का पीले रंग का विलयन प्राप्त होता है, जो CH3COOH की उपस्थिति में लेड ऐसीटेट मिलाने पर, लेड क्रोमेट का पीला अवक्षेप देता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 33

प्रश्न 19.
प्रथम संक्रमण श्रेणी में उपस्थित तत्वों के नाम, संकेत तथा इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए।
उत्तर
प्रथम संक्रमण श्रेणी में उपस्थित तत्वों के नाम, संकेत तथा इलेक्ट्रॉनिक विन्यास –
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 34

प्रश्न 20.
f-ब्लॉक तत्वों का सामान्य इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए। लैन्थेमाइड्स के कोई दो उपयोग लिखिए। ऐक्टिनाइड्स के कोई तीन उपयोग लिखिए।
उत्तर
ब्लॉक तत्वों का सामान्य विन्यास –
(n-2)f1-14, (n-1) s2p6 d0-1,ns2 होता है।
लैन्थेनाइड्स के दो उपयोग –

(i) ज्वलनशील मिश्रधातु बनाने में
(ii) धूप के चश्मों में
(iii) रंगीन काँच व फिल्टर बनाने में।

ऐक्टिनाइड्स के उपयोग –

(i) नाभिकीय रिएक्टर में
(ii) कैंसर के उपचार में थोरियम का उपयोग
(iii) प्लूटोनियम का उपयोग परमाणु बम, परमाणु भट्ठी में होता है।

MP Board Solutions

प्रश्न 21.
K2Cr2O7 एवं KMnO4 के उपयोग बताइए। .
उत्तर
K2Cr2O7 के उपयोग- (i) ऑक्सीकारक के रूप में, (ii) रंगाई व छपाई में, (iii) आयतनमितीय विश्लेषण में, (iv) क्रोमेटेजिंग में।
KMnO4 के उपयोग-(i) ऑक्सीकारक के रूप में, (ii) आयतनात्मक विश्लेषण में, (iii) कार्बनिक यौगिकों के निर्माण में, (iv) संक्रमणरोधी के रूप में।

प्रश्न 22.
अप्रारूपी संक्रमण तत्व एवं प्रारूपी संक्रमण तत्व किसे कहते हैं ?
उत्तर
Zn, Cd तथा Hg के परमाणुओं में (n-1)d उपकक्ष पूर्ण होते है। अत: इन तत्वों को d- समुदाय तत्व नहीं मानना चाहिए। इसी प्रकार ये तत्व d- समुदाय के तत्वों से गुणों के आधार पर बहुत कम समानता रखते हैं। परन्तु फिर भी ये तत्व d- समुदाय के तत्व कहलाते हैं । अत: Zn, Cd तथा Hg को अप्रारूपी संक्रमण तत्व कहा जाता है। जबकि अन्य संक्रमण तत्वों को प्रारूपी संक्रमण तत्व कहा जाता है।

प्रश्न 23.
Cu+ रंगहीन है परन्तु Cu2+ रंगीन होता है, क्यों?
उत्तर
Cu+ का उपकोश पूर्ण भरा होता है। इस प्रकार इनका d – d संक्रमण नहीं होता और वह सफेद अथवा रंगहीन रहता है। जबकि Cu2+ में अयुग्मित 3d इलेक्ट्रॉन होने के कारण एवं d-d संक्रमण सम्भव होने के कारण वह रंगीन होता है।

प्रश्न 24.
संक्रमण तत्व क्या है ? इन्हें कितनी श्रेणियों में विभाजित किया गया है ?
उत्तर
वे तत्व जिनमें परमाण्विक अवस्था में d-कक्षक आंशिक रूप से भरे हुए हों, संक्रमण तत्व कहलाते हैं, इन्हें 4 श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है –

1. प्रथम संक्रमण श्रेणी (3d- Series)- इसमें चतुर्थ आवर्त के Sc21 स्कैंडियम से जिंक (Zn = 30) तक 10 तत्व हैं।
2. द्वितीय संक्रमण श्रेणी (4d- Series)- इसमें पंचम आवर्त के इट्रियम Y39 से कैडमियम Cd48 तक 10 तत्व हैं।
3. तृतीय संक्रमण श्रेणी (5d- Series)- इसमें छठे आवर्त के लैन्थेनम (La = 57) तथा (Hf =72) से मर्करी (Hg = 80) तक के 10 तत्व हैं।
4. चतुर्थ संक्रमण श्रेणी(6d- Series)- इसमें सातवें आवर्त ऐक्टीनियम (Ac=89) तथा रदरफोर्डियम (Rf =72) तथा हाड्रियम (Ha = 105) हैं ये श्रेणी अभी अपूर्ण है।

MP Board Solutions

प्रश्न 25.
संक्षेप में स्पष्ट कीजिए कि प्रथम संक्रमण श्रेणी के प्रथम अर्द्धभाग में बढ़ते हुए परमाणु क्रमांक के साथ +2 ऑक्सीकरण अवस्था कैसे अधिक स्थायी होती जाती है?
उत्तर
(IE1 + IE2) आयनन ऊर्जा का मान बढ़ता है। परिमाणस्वरुप मानक अपचयन विभव E0 कम होता जाता है। अत: M+2 आयन बनने की क्षमता घटती है। Mn+2 के लिए उच्च क्षमता अर्द्धपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के कारण है। इसलिए प्रथम सदस्य के लिए इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 3d14s2 है, जिनमें तीन इलेक्ट्रॉन दान करने की क्षमता होती है। अतः +2 ऑक्सीकरण अवस्था की तुलना में +3 ऑक्सीकरण अवस्था की प्रबलता अधिक है।

d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
लैन्थेनाइड का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास देते हुए इसके ऑक्सीकरण अवस्था को समझाइए।
उत्तर
अन्तर संक्रमण तत्त्वों की दो श्रेणियों में एक है लैन्थेनाइड या 4fश्रेणी । इस श्रेणी के तत्त्वों में 4fकक्षक में क्रमशः इलेक्ट्रॉन भरते हैं । इनका सामान्य इलेक्ट्रॉनिक विन्यास [Xe] 4f1-145d1-26s2 होता है। इनकी कुल संख्या 14 है जो सीरियम (परमाणु क्रमांक 58) से प्रारम्भ होकर ल्यूटीशियम (परमाणु क्रमांक 71) पर समाप्त होती है ।

ऑक्सीकरण अवस्था – लैन्थेनाइड तत्त्वों की सर्वाधिक ऑक्सीकरण अवस्था (+3) होती है। यह लैन्थेनम से दो और एक d-कक्षक के इलेक्ट्रॉन के खोने से बनती है। La3+ का विन्यास जेनॉन (Xe = 54) जैसा होता है जो कि अत्यधिक स्थायी होता है। कुछ तत्व (+ 2) और (+4) ऑक्सीकरण भी प्रदर्शित करते हैं क्योंकि ये तत्व 2 या 4 इलेक्ट्रॉन खोने के बाद स्थायी f7 या f14 विन्यास प्राप्त करते हैं।

उदाहरणार्थ – Ce4+(4f°), Tb+ (4f7),Eu2+ (4f7), Yb2+ (4f14), परन्तु Sm2+, Tm2+ इसके अपवाद हैं।
सामान्यतः लैन्थेनाइड में +4 ऑक्सीकरण अवस्था प्रबल ऑक्सीकरण का कार्य करती है, जैसे Ce+4 आयन जलीय विलयन का अच्छा ऑक्सीकरक है जो +4 से +3 में परिवर्तित हो जाता है तथा दूसरी ओर लैन्थेनाइड में +2 ऑक्सीकरण अवस्था प्रबल अपचायक की तरह कार्य करती है। जैसे-Sm+2, Eu+2 और Yb+2 आयन अच्छा अपचायक है जो जलीय विलयन में +2 से +3 में ऑक्सीकृत हो जाता है।

प्रश्न 2.
क्रोमाइट अयस्क से K2Cr2O7 बनाने की विधि लिखिए तथा K2Cr2O7 की अम्लीय FeSO4 KI एवं H2S के मध्य अभिक्रिया के लिए संतुलित समीकरण लिखिए।
उत्तर
बनाने की विधि-K2Cr2O7 को क्रोमाइट अयस्क (Fe2Cr2O4) या क्रोम आयरन (FeO.Cr203) से बनाया जाता है, जो निम्नलिखित पदों में होते हैं।

(1) क्रोमाइट अयस्क का सोडियम क्रोमेट में परिवर्तन-क्रोमाइट अयस्क को NaOH या Na2CO3 के साथ वायु की उपस्थिति में एक परावर्तनी भट्टी में गर्म करने पर सोडियम क्रोमेट (पीला रंग) बनता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 35

पदार्थ को छिद्रमय रखने हेतु कुछ मात्रा में शुष्क चूने को मिलाते हैं । जल के साथ निष्कर्षण करने पर Na2Cr2O3 विलयन में चला जाता है। जबकि Fe2O3 रह जाता है जिसे छानकर पृथक् कर लेते हैं।

(2) सोडियम क्रोमेट (Na2CrO4) का सोडियम डाइक्रोमेट (Na2Cr2O7) में परिवर्तन-सोडियम क्रोमेट विलयन सान्द्र H2SO4 के साथ अपचयित करके सोडियम डाइक्रोमेट बनाते हैं।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 36
2Na2CrO4 कम विलेय होता है जिसका वाष्पन करने पर Na2SO410H2O के रूप में क्रिस्टलीकृत हो जाता है जिसे पृथक् कर लिया जाता है।

(3) Na2Cr2O7 का K2Cr2O7 में परिवर्तन-सोडियम डाइक्रोमेट के जलीय विलयन का उपचार KCI के साथ किये जाने पर पोटैशियम डाइ क्रोमेट प्राप्त होता है। K2Cr207 के अल्प विलेय प्रकृति के कारण इसके क्रिस्टल ठण्डे में प्राप्त किये जाते हैं।

MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 37

K2Cr2O7 की निम्न के साथ होने वाली रासायनिक अभिक्रिया –

(1) अम्लीय फेरस सल्फेट के साथ-K2Cr207 अम्लीय माध्यम में यह फेरस सल्फेट को फेरिक सल्फेट में ऑक्सीकृत कर देता है। K2Cr2O7 पहले H2SO4 से क्रिया करके नवजात ऑक्सीजन का तीन परमाणु देता है जो Fe2+ को Fe3+ आयन में ऑक्सीकृत कर देता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 38

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
अम्लीय, क्षारीय तथा उदासीन माध्यम में KMnO के ऑक्सीकारक गुण को दो-दो उदाहरण द्वारा समझाइए।
अथवा, पोटैशियम परमैंगनेट के अम्लीय माध्यम में कोई ऑक्सीकारक गुणों को समीकरण द्वारा समझाइए।
उत्तर
KMnO4 का विलयन उदासीन हो, क्षारीय हो या अम्लीय हो, प्रत्येक परिस्थिति में यह तीव्र ऑक्सीकारक का कार्य करता है।
(1) अम्लीय माध्यम में-तनु H2SO4 की उपस्थिति में KMnO4 अपचयित हो जाता है तथा इसके दो अणुओं से ऑक्सीजन के पाँच परमाणु प्राप्त होते हैं।
2KMnO4 + 3H2SO4→K2SO4 + 2MnSO4 + 3H2O + 5[0]

उदाहरण – (i) फेरस लवण का फेरिक लवण में ऑक्सीकरण –
अम्लीय KMnO4 से प्राप्त नवजात ऑक्सीजन फेरस लवण को फेरिक लवण में ऑक्सीकृत करता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 39

(ii) ऑक्जेलिक अम्ल का ऑक्सीकरण-अम्लीय माध्यम में KMnO4 ऑक्जेलिक अम्ल को CO2 में ऑक्सीकृत कर देता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 40

(iii) आयोडाइड आयन का आयोडीन में परिवर्तन
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 41

(iv) नाइट्राइट का नाइट्रेट में ऑक्सीकरण
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 42

(2) क्षारीय माध्यम में-क्षारीय माध्यम में KMnOa, MnO, में अपचयित होता है तथा 3 नवजात ऑक्सीजन देता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 43
उदाहरण-(i) आयोडाइड का आयोडेट में ऑक्सीकरणक्षारीय माध्यम में KI का आयोडेट में ऑक्सीकरण होता है।
2KMnO4 + H2O +KI→KIO3 +2MnO2 + 2KOH

(ii) एथिलीन का ग्लाइकॉल में ऑक्सीकरण –
क्षारीय KMnO4 एथिलीन का एथिलीन ग्लाइकॉल में ऑक्सीकरण करता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 44

(3) उदासीन माध्यम में-उदासीन माध्यम में भी KMnO4 ऑक्सीकारक की तरह कार्य करता है। अभिक्रिया में बना KOH विलयन को क्षारीय बना देता है। KMnO4, MnO2 में अपचयित हो जाता है एवं 2 मोल KMnO4 से 2 मोल नवजात ऑक्सीजन मुक्त होते हैं।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 45

प्रश्न 4.
पायरोलुसाइट से KMnO4 बनाने की विधि लिखिए तथा KMnO4 की अम्लीय, क्षारीय तथा उदासीन माध्यम में ऑक्सीकारक गुणों को एक-एक उदाहरण देकर समझाइए।
उत्तर
पायरोलुसाइट से KMnO4 का निर्माण
1. पायरोलुसाइट का KMnO4 (हरे पदार्थ) में परिवर्तन-पायरोलुसाइट को वायुमण्डलीय O2 में KOH या K2CO3 के साथ गलित करने पर पोटैशियम मैंगनेट का हरा पदार्थ बनता है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 46

MP Board Solutions

2. K2MnO4 का KMnO4 में परिवर्तन-K2MnO4 के हरे पदार्थ को जल के साथ निष्कासित करके रासायनिक ऑक्सीकरण या विद्युत्-अपघटनी ऑक्सीकरण द्वारा KMnO4 में ऑक्सीकृत करते हैं।
(a) रासायनिक ऑक्सीकरण-KMnO4 के हरे विलयन का उपचार Cl2, O2 या CO2 की धारा में प्रवाहित करके KMnO में ऑक्सीकृत किया गया है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 47

(b) विद्युत्-अपघटनी ऑक्सीकरण-इस विधि में आयरन कैथोड एवं निकिल ऐनोड के मध्य K2MnO4 विलयन का विद्युत्-अपघटन किया जाता है, तो मैंगनेट आयन का ऐनोड पर परमैंगनेट आयन (MnO4) में ऑक्सीकरण हो जाता है तथा कैथोड पर H, मुक्त होती है।
MP Board Class 12th Chemistry Solutions Chapter 8 d एवं f-ब्लॉक के तत्त्व - 49
अम्लीय, क्षारीय तथा उदासीन माध्यम में ऑक्सीकारक गुणों के उदाहरण-दीर्घ उत्तरीय प्रश्न क्र. 3 देखिए।

MP Board Class 12th General Hindi निबंध साहित्य का इतिहास

In this article, we will share MP Board Class 12th Hindi Solutions निबंध साहित्य का इतिहास Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 12th General Hindi निबंध साहित्य का इतिहास

निबंध का उदय

आधुनिक युग को गद्य की प्रतिस्थापना का श्रेय जाता है। जिस विश्वास, भावना और आस्था पर हमारे युग की बुनियाद टिकी थी उसमें कहीं न कहीं अनास्था, तर्क और विचार ने अपनी सेंध लगाई। कदाचित् यह सेंध अपने युग की माँग थी जिसका मुख्य साधन गद्य बना। यही कारण है, कवियों ने गद्य साहित्य में भी अपनी प्रतिभा का परिचय दिया।

हिंदी गद्य का आरम्भ भारतेंदु हरिश्चंद्र से माना जाता है। वह कविता के क्षेत्र में चाहे परम्परावादी थे पर गद्य के क्षेत्र में नवीन विचारधारा के पोषक थे। उनका व्यक्तित्व इतना समर्थ था कि उनके इर्द-गिर्द लेखकों का एक मण्डल ही बन गया था। यह वह मण्डल था जो हिंदी गद्य के विकास में महत्त्वपूर्ण स्थान रखते हैं। हिंदी गद्य के विकास में दशा और दिशा की आधारशिला रखने वालों में इस मण्डल का अपूर्व योगदान है। इन लेखकों ने अपनी बात कहने के लिए निबंध विधा को चुना।

निबंध की व्युत्पत्ति, स्वरूप एवं परिभाषा

निबंध की व्युत्पत्ति पर विचार करने पर पता चलता है कि ‘नि’ उपसर्ग, ‘बन्ध’ धातु और ‘धर्म प्रत्यय से यह शब्द बना है। इसका अर्थ है बाँधना। निबंध शब्द के पर्याय के रूप में लेख, संदर्भ, रचना, शोध प्रबंध आदि को स्वीकार किया जाता है। निबंध को हिंदी में अंग्रेजी के एसे और फ्रेंच के एसाई के अर्थ में ग्रहण किया जाता है जिसका सामान्य अर्थ प्रयत्न, प्रयोग या परीक्षण कहा गया है।

निबंध की भारतीय व पाश्चात्य परिभाषाएँ कोशीय अर्थ।

‘मानक हिंदी कोश’ में निबंध के संबंध में यह मत प्रकट किया गया है-“वह विचारपूर्ण विवरणात्मक और विस्तृत लेख, जिसमें किसी विषय के सब अंगों का मौलिक और स्वतंत्र रूप से विवेचन किया गया हो।”

हिंदी शब्द सागर’ में निबंध शब्द का यह अर्थ दिया गया है- ‘बन्धन वह व्याख्या है जिसमें अनेक मतों का संग्रह हो।”

पाश्चात्य विचारकों का मत

निबंध शब्द का सबसे पहले प्रयोग फ्रेंच के मांतेन ने किया था, और वह भी एक विशिष्ट काव्य विधा के लिए। इन्हें ही निबंध का जनक माना जाता है। उनकी रचनाएँ आत्मनिष्ठ हैं। उनका मानना था कि “I am myself the subject of my essays because I am the only person whom I know best.”

MP Board Solutions

अंग्रेजी में सबसे पहले एस्से शब्द का प्रयोग बेकन ने किया था। वह लैटिन । भाषा का ज्ञाता था और उसने इस भाषा में अनेक निबंध लिखे। उसने निबंध कोबिखरावमुक्त चिन्तन कहा है।

सैमुअल जॉनसन ने लिखा, “A loose sally of the mind, an irregular, .. undigested place is not a regular and orderly composition.” “निबंध मानसिक जगत् की विशृंखल विचार तरंग एक असंगठित-अपरिपक्व और अनियमित विचार खण्ड है। निबंध की समस्त विशेषताएँ हमें आक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी में दी गई इस परिभाषा में मिल जाती है, “सीमित आकार की एक ऐसी रचना जो किसी विषय विशेष या उसकी किसी शाखा पर लिखी गई हो, जिसे शुरू में परिष्कारहीन अनियमित, अपरिपक्व खंड माना जाता था, किंतु अब उससे न्यूनाधिक शैली में लिखित छोटी आकार की संबद्ध रचना का बोध होता है।”

भारतीय विचारकों का मत

आचार्य रामचंद्र शक्ल-आचार्य रामचंद्र शक्ल ने निबंध को व्यवस्थित और मर्यादित प्रधान गद्य रचना माना है जिसमें शैली की विशिष्टता होनी चाहिए, लेखक का निजी चिंतन होना चाहिए और अनुभव की विशेषता होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त लेखक के अपने व्यक्तित्व की विशिष्टता भी निबंध में रहती है। हिंदी साहित्य के इतिहास में आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने निबंध की परिभाषा देते हुए लिखा, “आधुनिक पाश्चात्य लेखकों के अनुसार निबंध उसी को कहना चाहिए जिसमें व्यक्तित्व अर्थात् व्यक्तिगत विशेषता है। बात तो ठीक है यदि ठीक तरह से समझी जाय। व्यक्तिगत विशेषता का यह मतलब नहीं कि उसके प्रदर्शन के लिए विचारकों की श्रृंखला रखी ही न जाए या जान-बूझकर जगह-जगह से तोड़ दी जाए जो उनकी अनुमति के प्रकृत या लोक सामान्य स्वरूप से कोई संबंध ही न रखे अथवा भाषा से सरकस वालों की सी कसरतें या हठयोगियों के से आसन कराये जाएँ, जिनका लक्ष्य तमाशा दिखाने के सिवाय और कुछ न हो।”

बाबू गुलाब राय-बाबू गुलाबराय ने भी निबंध में व्यक्तित्व और विचार दोनों को आवश्यक माना है। वे लिखते हैं- “निबंध उस गद्य रचना को कहते हैं जिसमें एक सीमित आकार के भीतर किसी विषय का वर्णन या प्रतिपादन एक विशेष निजीपन, स्वच्छंदता, सौष्ठव, सजीवता तथा अनावश्यक संगति और संबद्धता के साथ किया गया हो।”

निबंध की परिभाषाओं का अध्ययन करने पर हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि निबंध एक गद्य रचना है। इसका प्रमुख उद्देश्य अपनी वैयक्तिक अनुभूति, भावना या आदर्श को प्रकट करना है। यह एक छोटी-सी रचना है और किसी एक विषय पर लिखी गई क्रमबद्ध रचना है। इसमें विषय की एकरूपता होनी चाहिए और साथ ही तारतम्यता भी। यह गद्य काव्य की ऐसी विधा है जिसमें लेखक सीमित आकार में अपनी भावात्मकता और प्रतिक्रियाओं को प्रकट करता है।

निबंध के तत्त्व

प्राचीन काल से आज तक साहित्य विधाओं में अनेक बदलाव आए हैं। साधारणतः निबंध में निम्नलिखित तत्त्वों का होना अनिवार्य माना गया है
1. उपयुक्त विषय का चुनाव-लेखक जिस विषय पर निबंध लिखना चाहता है उसे सबसे पहले उपयुक्त विषय का चुनाव करना चाहिए। इसके लिए उसे पर्याप्त सोच-विचार करना चाहिए। निबंध का विषय सामाजिक, वैज्ञानिक, दार्शनिक आर्थिक, ऐतिहासिक, धार्मिक, साहित्यिक, वस्तु, प्रकृति-वर्णन, चरित्र, संस्मरण, भाव, घटना आदि में से किसी भी विषय पर हो सकता है, किंतु विषय ऐसा होना चाहिए कि जिसमें लेखक अपना निश्चित पक्ष व दृष्टिकोण भली-भाँति व्यक्त कर सके।

2. व्यक्तित्व की अभिव्यक्ति-निबंध में निबंधकार के व्यक्तित्व की अभिव्यक्ति दिखनी चाहिए। मोन्तेन ने निबंधों पर निजी चर्चा करते हुए लिखा है, “ये मेरी भावनाएँ हैं, इनके द्वारा मैं स्वयं को पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करता हूँ।” भारतीय और पाश्चात्य दोनों ही विचारकों ने निबंध लेखक के व्यक्तित्व के महत्त्व को स्वीकार किया है। निबंध लेखक की आत्मीयता और वैयक्तिकता के कारण ही विषय के सम्बन्ध में निबंधकार के विचारों, भावों और अनुभूति के आधार पर पाठक उनके साथ संबद्ध कर पाता है। इस प्रकार निबंधकार के व्यक्तित्व को निबंध का केंद्रीय गुण कहा जाता है।

3. एकसूत्रता-निबंध बँधी हुई एक कलात्मक रचना है। इसमें विषयान्तर की संभावना नहीं होती, इसलिए निबंध के लिए आवश्यक है कि निबंधकार अपने विचारों को एकसूत्रता के गुण से संबद्ध करके प्रस्तुत करता है। निबंध के विषय के मुख्य भाव या विचार पर अपनी दृष्टि डालते हुए निबंधकार तथ्यों को उसके तर्क के रूप में प्रस्तुत करता है। इन तर्कों को प्रस्तुत करते हुए निबंधकार को यह ध्यान रखना पड़ता है कि तथ्यों और तर्कों के बीच अन्विति क्रम बना रहे। कई निबंधकार निबंध लिखते समय अपनी भाव-तरंगों पर नियन्त्रण नहीं रख पाते, ऐसे में वह विषय अलग हो जाता है। वस्तुतः लेखक का कर्तव्य है कि वह विषयान्तर न हो। अगर विषयान्तर हो भी गया तो उसे इधर-उधर विचरण कर पुनः अपने विषय पर आना ही पड़ेगा। निबंधकार को अपने अभिप्रेत का अंत तक बनाए रखना चाहिए।

4. मर्यादित आकार-निबंध आकार की दृष्टि से छोटी रचना है। इस संदर्भ में हर्बट रीड ने कहा है कि निबंध 3500 से 5000 शब्दों तक सीमित किया जाना चाहिए। वास्तव में निबंध के आकार के निर्धारण की कोई आवश्यकता नहीं है। निबंध विषय के अनुरूप और सटीक तर्कों द्वारा लिखा जाता है। लेखक अपने विचार भावावेश के क्षणों में व्यक्त करता है। ऐसे में वह उसके आकार के विषय में सोचकर नहीं चलता। आवेश के क्षण बहुत थोड़ी अवधि के लिए होते हैं, इसलिए निश्चित रूप से निबंध का आकार स्वतः ही लघु हो जाता है। इसमें अनावश्यक सूचनाओं को कोई स्थान नहीं मिलता।

5. स्वतःपूर्णता-निबंध का एक गुण या विशेषता है कि यह अपने-आप में पूर्ण होना चाहिए। निबंधकार का दायित्व पाठकों को निबंध में चुने हुए विषय की समस्त जानकारी देना है। यही कारण है कि उसे विषय के पक्ष और विपक्ष दोनों पर पूर्णतः विचार करना चाहिए। विषय से संबंधित कोई ज्ञान अधूरा नहीं रहना चाहिए। जिस भाव या विचार या बिंदु को लेकर निबंधकार निबंध लिखता है, निबंध के अंत तक पाठक के मन में संतुष्टि का भाव जागृत होना चाहिए। अगर पाठक के मन में किसी तरह का जिज्ञासा भाव रह जाता है तो उस निबंध को अपूर्ण माना जाता है और इसे निबंध के अवगुण के रूप में शुमार कर लिया जाएगा।

6. रोचकता-निबंध क्योंकि एक साहित्यिक विधा है इसलिए इसमें रोचकता का तत्त्व निश्चित रूप से होना चाहिए। यह अलग बात है कि निबंध का सीधा संबंध बुद्धि तत्त्व से रहता है। फिर इसे ज्ञान की विधा न कहकर रस की विधा कहा जाता है, इसलिए इसमें रोचकता होनी चाहिए, ललितता होनी चाहिए और आकर्षण होना चाहिए। निबंध के विषय प्रायः शुष्क होते हैं, गंभीर होते हैं या बौद्धिक होते हैं।

अगर निबंधकार इन विषयों को रोचक रूप में पाठक तक पहुँचाने में समर्थ हो जाता है तो इसे निबंध की पूर्णता और सफलता कहा जाएगा।

निबंध के भेद

निबंध के भेद, इसके लिए अध्ययन किए गए हैं। विषयों की विविधता से देखा जाए तो इन्हें सीमा में नहीं बाँधा जा सकता। अतः निबंध लेखन का विषय दुनिया के किसी भी कोने का हो सकता है। विद्वानों ने निबंधों का वर्गीकरण तो अवश्य किया है पर यह वर्गीकरण या तो वर्णनीय विषय के आधार पर किया है या फिर उसकी शैली के आधार पर। निबंध का सबसे अधिक प्रचलित वर्गीकरण यह है

1. वर्णनात्मक-वर्णनात्मक निबंध वे कहलाते हैं जिनमें प्रायः भूगोल, यात्रा, ऋतु, तीर्थ, दर्शनीय स्थान, पर्व-त्योहार, सभा- सम्मेलन आदि विषयों का वर्णन किया जाता है। इनमें दृश्यों व स्थानों का वर्णन करते हुए रचनाकार कल्पना का आश्रय लेता है। ऐसे में उसकी भाषा सरल और सुगम हो जाती है। इसमें लेखक निबंध को रोचक बनाने में पूरी कोशिश करता है।

MP Board Solutions

2. विवरणात्मक-इस प्रकार के निबंधों का विषय स्थिर नहीं रहता अपितु गतिशील रहता है। शिकार वर्णन, पर्वतारोहण, दुर्गम प्रदेश की यात्रा आदि का वर्णन जब कलात्मक रूप से किया जाता है तो वे निबंध विवरणात्मक निबंधों की शैली में स्थान पाते हैं। विवरणात्मक निबंधों में विशेष रूप से घटनाओं का विवरण अधिक होता है।

3. विचारात्मक-इस प्रकार के निबंधों में बौद्धिक चिन्तन होता है। इनमें दर्शन, अध्यात्म, मनोविज्ञान आदि विषयगत पक्षों का विवेचन किया जाता है। लेखक अपने अध्ययन व चिन्तन के अनुरूप तर्क-शितर्क और खण्डन का आश्रय लेते हुए विषय का प्रभावशाली विवेचन करता है। इनमें बौद्धिकता तो होती ही है साथ ही भावना और कला कल्पना का समन्वय भी होता है। ऐसे निबंधों में लेखक आमतौर पर तत्सम शैली अपनाता है। समासिकता की प्रधानता भी होती है।

4. भावात्मक-इस श्रेणी में उन निबंधों को स्थान मिलता है जो भावात्मक विषयों पर लिखे जाते हैं। इन निबंधों का निस्सरण हृदय से होता है। इनमें रागात्मकता होती है इसलिए लेखक कवित्व का भी प्रयोग कर लेता है। अनुभूतियाँ और उनके उद्घाटन की रसमय क्षमता इस प्रकार के निबंध लेखकों की संपत्ति मानी जाती हैं। वस्तुतः कल्पना के साथ काव्यात्मकता का पुट इन निबंधों में दृश्यमान होता है।

वर्गीकरण अनावश्यक

गौर से देखा जाए तो इन चारों भेदों की कोई ज़रूरत नहीं है क्योंकि ये निबंध लेखन की शैली हैं। इन्हें वर्गीकरण नहीं कहा जाना चाहिए। अगर कोई कहता है कि वर्णनात्मक निबंध है या दूसरा कोई कहता है कि विवरणात्मक निबंध है तो यह शैली नहीं है तो और क्या है?

वस्तुतः इन्हें विचारात्मक निबंध की श्रेणी में रखा जा सकता है। विचारात्मक निबंधों का विषय मानव जीवन का व्यापक कार्य क्षेत्र है और असीम चिंतन लोक है। इसमें धर्म, दर्शन, मनोविज्ञान आदि विषयों का गंभीर विश्लेषण होता है। इसे निबंध का आदर्श भी कहा जा सकता है। इसमें निबंधकार के गहन चिंतन, मनन, सूक्ष्म अन्तर्दृष्टि और विशद ज्ञान का स्पष्ट रूप देखने को मिलता है। इस संबंध में आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने कहा है, “शुद्ध विचारात्मक निबंधों का वहाँ चरम उत्कर्ष नहीं कहा जा सकता है जहाँ एक-एक पैराग्राफ में विचार दबा-दबाकर.टूंसे गए हों, और एक-एक वाक्य किसी विचार खण्ड को लिए हुए हो।’

आचार्य शुक्ल ने अपने निबंधों में स्वयं इस शैली का बखूबी प्रयोग किया है। इसके अतिरिक्त आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी ने भी इस प्रकार के अनेक निबंध लिखे हैं जिनमें उनके मन की मुक्त उड़ान को अनुभव किया जा सकता है। इन निबंधों में उनकी व्यक्तिगत रुचि और अरुचि का प्रकाशन है। नित्य प्रति के सामान्य शब्दों को अपनाते हुए बड़ी-बड़ी बातें कह देना द्विवेदीजी की अपनी विशेषता है। व्यक्तिगत निबंध जब लेखक लिखता है तो उसका संबंध उसके संपूर्ण निबंध से होता है। आचार्यजी के इसी प्रकार के निबंध ललित निबंध कहलाते रहे हैं। आचार्यजी ने स्वयं कहा है, “व्यक्तिगत निबंधों का लेखन किसी एक विषय को छेड़ता है किंतु जिस प्रकार वीणा के एक तार को छेड़ने से बाकी सभी तार झंकृत हो उठते हैं उसी प्रकार उस एक विषय को छुते ही लेखक की चित्तभूमि पर बँधे सैकड़ों विचार बज उठते हैं।”

आचार्य रामचंद्र शुक्ल व्यक्तित्व व्यंजना को निबंधों का आवश्यक गुण मानते हैं। उन्होंने वैचारिक गंभीरता और क्रमबद्धता का समर्थन किया है। आज हिंदी में दो ही प्रकार के प्रमुख निबंध लिखे जा रहे हैं, “व्यक्तिनिष्ठ और वस्तुनिष्ठ। यों निबंध का कोई भी विषय हो सकता है। साहित्यिक भी हो सकता है और सांस्कृतिक भी। सामाजिक भी और ऐतिहासिक आदि भी। वस्तुतः कोई भी निबंध केवल वस्तुनिष्ठ नहीं हो सकता और न ही व्यक्तिनिष्ठ हो सकता है। निबंध में कभी चिंतन की प्रधानता होती है और कभी लेखक का व्यक्तित्व उभर आता है।”

निबंध शैली

वस्तुतः निबंध शैली को अलग रूप में देखने की परम्परा-सी चल निकली है अन्यथा निबंधों का व करण निबंध शैली ही है। लेखक की रचना ही उसकी सबसे बड़ी शक्ति होती है। शैली ही उसके व्यक्तित्व की पहचान होती है। एक आलोचक ने शैली के बारे में कहा है कि जितने निबंध हैं, उतनी शैलियाँ हैं। इससे यह स्पष्ट होता है कि निबंध लेखन में लेखक के निजीपन का पूरा असर पड़ता है। निबंध की शैली से ही किसी निबंधकार की पहचान होती है क्योंकि एक निबंधकार की शैली दूसरे निबंधकार से भिन्न होती हैं।

मुख्य रूप से निबंध की निम्न शैलियाँ कही जाती हैं-
1. समास शैली-इस निबंध शैली में निबंधकार कम से कम शब्दों में अधिक-से-अधिक विषय का प्रतिपादन करता है। उसके वाक्य सुगठित और कसे हुए होते हैं। गंभीर विषयों के लिए इस शैली का प्रयोग किया जाता है।

2. व्यास शैली-इस तरह के निबंधों में लेखक तथ्यों को खोलता हुआ चला जाता है। उन्हें विभिन्न तर्कों और उदाहरणों के ज़रिए व्याख्यायित करता चला जाता है। वर्णनात्मक, विवरणात्मक और तुलनात्मक निबंधों में निबंधकार इसी प्रकार की शैली का प्रयोग करता है।

3. तरंग या विक्षेप शैली-इस शैली में निबंधकार में एकान्विति का अभाव रहता है। इसमें निबंधकार अपने मन की मौज़,में आकर बात कहता हुआ चलता है पर विषय पर केंद्रित अवश्य रहता है।

4. विवेचन शैली-इंस निबंध शैली में लेखक तर्क-वितर्क के माध्यम से प्रमाण पुष्टि और व्याख्या के माध्यम से, निर्णय आदि के माध्यम से अपने विषय को बढ़ाता हुआ चलता है। इस शैली में लेखक गहन चिंतन के आधार पर अपना कथ्य प्रस्तुत करता चला जाता है। विचारात्मक निबंधों में लेखक इस शैली का प्रयोग करता है। आचार्य रामचंद्र शुक्ल के निबंध इसी प्रकार की शैली के अन्तर्गत माने जाते हैं।

5. व्यंग्य शैली-इस शैली में निबंधकार व्यंग्य के माध्यम से अपने विषयों का प्रतिपादन करता चलता है। इसमें उसके विषय धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक आदि भी हो सकते हैं। इसमें रचनाकार किंचित हास्य का पुट देकर विषय को पठनीय बना देता है। शब्द चयन और अर्थ के चमत्कार की दृष्टि से इस शैली का निबंधकारों में विशेष प्रचलन है। व्यंग्यात्मक निबंध इसी शैली में लिखे जाते हैं।

MP Board Solutions

6. निगमन और आगमन शैली-निबंधकार अपने विषय का प्रतिपादन करने । की दृष्टि से निगमन शैली और आगमन शैली का प्रयोग करता है। इस प्रकार की शैली में लेखक पहले विचारों को सूत्र रूप में प्रस्तुत करता है। तद्उपरांत उस सूत्र के अन्तर्गत पहले अपने विचारों की विस्तार के साथ व्याख्या करता है। बाद में सूत्र रूप में सार लिख देता है। आगमन शैली निनन शैली के विपरीत होती है। इसके अतिरिक्त निबंध की अन्य कई शैलियों को देखा जा सकता है, जैसे प्रलय शैली। इस प्रकार की शैली में निबंधकार कुछ बहके-बहके भावों की अभिव्यंजना करता है। कुछ लेखकों के निबंधों में इस शैली को देखा जा सकता है। भावात्मक निबंधों के लिए कुछ निबंधकार विक्षेप शैली अपनाते हैं। धारा शैली में भी कुछ निबंधकार निबंध लिखते हैं। इसी प्रकार कुछ निबंधकारों ने अलंकरण, चित्रात्मक, सूक्तिपरक, धाराप्रवाह शैली का भी प्रयोग किया है। महादेवी वर्मा की निबंध शैली अलंकरण शैली है।

हिंदी निबंध : विकास की दिशाएँ
हिंदी गद्य का अभाव तो भारतेंदुजी से पूर्व भी नहीं था, पर कुछ अपवादों तक सीमित था। उसकी न तो कोई निश्चित परंपरा थी और न ही प्रधानता। सन् 1850 के बाद गद्य की निश्चित परंपरा स्थापित हुई, महत्त्व भी बढ़ा। पाश्चात्य सभ्यता के संपर्क में आने पर हिंदी साहित्य भी निबंध की ओर उन्मुख हुआ। इसीलिए कहा जाता है कि भारतेंदु युग में सबसे अधिक सफलता निबंध लेखन में मिली। हिंदी निंबध साहित्य को निम्नलिखित भागों में विभाजित किया जा सकता है

  • भारतेंदुयुगीन निबंध,
  • द्विवेदीयुगीन निबंध,
  • शुक्लयुगीन निबंध
  • शुक्लयुगोत्तर निबंध एवं
  • सामयिक निबंध-1940 से अब तक।

भारतेंदुयुगीन निबंध-भारतेंदु युग में सबसे अधिक सफलता निबंध में प्राप्त हुई। इस युग के लेखकों ने विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं के माध्यम से निबंध साहित्य को संपन्न किया! भारतेंदु हरिश्चंद्र से हिंदी निबंध का आरंभ माना जाना चाहिए। बालकृष्ण भट्ट और प्रतापनारायण मिश्र ने इस गद्य विधा को विकसित एवं समृद्ध किया। आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने इन दोनों लेखकों को स्टील और एडीसन कहा है। ये दोनों हिंदी के आत्म-व्यंजक निबंधकार थे। इस युग के प्रमुख निबंधकार हैं-भारतेंदु हरिश्चंद्र, प्रतापनारायण मिश्र, बालकृष्ण भट्ट, बदरीनारायण चौधरी ‘प्रेमघन’, लाला श्री निवासदास, राधाचरण गोस्वामी, काशीनाथ खत्री आदि। इन सभी निबंधकारों का संबंध किसी-न-किसी पत्र-पत्रिका से था। भारतेंदु ने पुरातत्त्व, इतिहास, धर्म, कला, समाज-सुधार, जीवनी, यात्रा-वृत्तांत, भाषा तथा साहित्य आदि अनेक विषयों पर निबंध लिखे। प्रतापनारायण मिश्र के लिए तो विषय की कोई सीमा ही नहीं थी। ‘धोखा’, ‘खुशामद’, ‘आप’, ‘दाँत’, ‘बात’ आदि पर उन्होंने अत्यंत रोचक निबंध लिखे। बालकृष्ण भट्ट भारतेंदु युग के सर्वाधिक समर्थ निबंधकार हैं। उन्होंने सामयिक विषय जैसे ‘बाल-विवाह’, ‘स्त्रियाँ और उनकी शिक्षा’ पर उपयोगी निबंध लिखे। ‘प्रेमघन’ के निबंध भी सामयिक विषयों पर टिप्पणी के रूप में हैं। अन्य निबंधकारों का महत्त्व इसी में है कि उन्होंने भारतेंदु, बालकृष्ण भट्ट और प्रतापनारायण मिश्र के मार्ग का अनुसरण किया।

द्विवेदीयुगीन निबंध-भारतेंदु युग में निबंध साहित्य की पूर्णतः स्थापना हो गई थी, लेकिन निबंधों का विषय अधिकांशतः व्यक्तिव्यंजक था। द्विवेदीयुगीन निबंधों में व्यक्तिव्यंजक निबंध कम लिखे गए। इस युग के श्रेष्ठ निबंधकारों में महावीर प्रसाद द्विवेदी (1864-1938), गोविंदनारायण मिश्र (1859-1926), बालमुकुंद गुप्त (1865-1907), माधव प्रसाद मिश्र (1871-1907), मिश्र बंधु-श्याम बिहारी मिश्र (1873-1947) और शुकदेव बिहारी मिश्र (1878-1951), सरदार पूर्णसिंह (1881-1939), चंद्रधर शर्मा गुलेरी (1883-1920), जगन्नाथ प्रसाद चतुर्वेदी (1875-1939), श्यामसुंदर दास (1875-1945), पद्मसिंह शर्मा ‘कमलेश’ (1876-1932), रामचंद्र शुक्ल (1884-1940), कृष्ण बिहारी मिश्र (1890-1963) आदि उल्लेखनीय हैं। महावीर प्रसाद द्विवेदी के निबंध परिचयात्मक या आलोचनात्मक हैं। उनमें आत्मव्यंजन तत्त्व नहीं है। गोंविद नारायण मिश्र के निबंध पांडित्यपूर्ण तथा संस्कृतनिष्ठ गद्यशैली के लिए प्रसिद्ध हैं। बालमुकुंद गुप्त ‘शिवशंभु के चिट्टे’ के लिए विख्यात हैं।

ये चिट्ठे “भारत मित्र’ में छपे थे। माधव प्रसाद मिश्र के निबंध ‘सुदर्शन’ में प्रकाशित हुए। उनके निबंधों का संग्रह ‘माधव मिश्र निबंध माला’ के नाम से प्रकाशित है। सरदार पूर्णसिंह भी इस युग के निबंधकार हैं। इनके निबंध नैतिक विषयों पर हैं। कहीं-कहीं इनकी शैली व्याख्यानात्मक हो गई हैं। चंद्रधर शर्मा गलेरी ने कहानी के अतिरिक्त निबंध भी लिखे। उनके निबंधों में मार्मिक व्यंग्य है। जगन्नाथ प्रसाद चतुर्वेदी के निबंध ‘गद्यमाला’ (1909) और ‘निबंध-निलय’ में प्रकाशित हैं। पद्मसिंह शर्मा कमलेश तुलनात्मक आलोचना के लिए विख्यात हैं। उनकी शैली प्रशंसात्मक और प्रभावपूर्ण है। श्यामसुंदरदास तथा कृष्ण बिहारी मिश्र मूलतः आलोचक थे। इनकी शैली सहज और परिमार्जित है। आचार्य रामचंद्र शुक्ल के प्रारंभिक निबंधों में भाषा संबंधी प्रश्नों और कुछ ऐतिहासिक व्यक्तियों के संबंध में विचार व्यक्त किए गए हैं। उन्होंने कुछ अंग्रेजी निबंधों का अनुवाद भी किया।

इस युग में गणेशशंकर विद्यार्थी, मन्नन द्विवेदी आदि ने भी पाठकों का ध्यान आकर्षित किया। शुक्लयुगीन निबंध-इस युग के प्रमुख निबंधकार आचार्य रामचंद्र शुक्ल हैं आचार्य शुक्ल के निबंध ‘चिंतामणि’ के दोनों खंडों में संकलित हैं। अभी हाल में चिंतामणि का तीसरा खंड प्रकाशित हुआ है। इसका संपादन डॉ. नामवर सिंह ने किया है। इसी युग के निबंधकारों में बाबू गुलाबराय (1888-1963) का उल्लेखनीय स्थान है। ‘ठलुआ क्लब’, ‘फिर निराश क्यों’, ‘मेरी असफलताएँ’ आदि संग्रहों में उनके श्रेष्ठ निबंध संकलित हैं। ल पुन्नालाल बख्शी’ ने कई अच्छे निबंध लिखे। इनके निबंध ‘पंचपात्र’ में संगृहीत हैं। अन्य निबंधकारों में शांति प्रेत द्विवेदी, शिवपूजन सहाय, पांडेय बेचन शर्मा ‘उग्र’, रधुवीर सिंह, माखनलाल चतुर्वेदी आदि मुख्य हैं। इस युग में निबंध तो लिखे गए, पर ललित निबंध कम ही हैं।

शुक्लयुगोत्तर निबंध-शुक्लयुगोत्तर काल में निबंध ने अनेक दिशाओं में सफलता प्राप्त की। इस युग मं समीक्षात्मक निबंध अधिक लिखे गए। यों व्यक्तव्यंजक निबंध भी कम नहीं लिखे गए। शुक्लजी के समीक्षात्मक निबंधों को परंपरा के दूसरे नाम हैं नंददुलारे वाजपेयी। इसी काल के महत्त्वपूर्ण निबंधकार आच हजागे प्रसाद द्विवेदी हैं। उनके ललित निबंधों में नवीन जीवन-बोध है।

शुक्लयुगोत्तर निबंधकारों में जैनेंद्र कुमार का स्थान काफी ऊँचा है। उनके निबंधों में दार्शनिकता है। यह दार्शनिकता निजी है, अतः ऊब पैदा नहीं करती। उनके निबंधों में सरसता है।

हिंदी में प्रभावशाली समीक्षा के अग्रदूत शांतिप्रिय द्विवेदी हैं। इन्होंने समीक्षात्मक निबंध भी लिखे हैं और साहित्येतर भी। इनके समीक्षात्मक निर्बंधों में निर्बध का स्वाद मिलता है। रामधारीसिंह ‘दिनकर’ ने भी इस युग में महत्त्वपूर्ण निबंध लिखे। इनके निबंध विचार-प्रधान हैं। लेकिन कुछ निबंधों में उनका अंतरंग पक्ष भी उद्घाटित हुआ है। समीक्षात्मक निबंधकारों में डॉ. नगेंद्र का स्थान महत्त्वपूर्ण है। उनके निबंधों की कल्पना, मनोवैज्ञानिक दृष्टि उनके व्यक्तित्व के अपरिहार्य अंग हैं। रामवृक्ष बेनीपुरी के निबंध-संग्रह ‘गेहूँ और गुलाब’ तथा ‘वंदे वाणी विनायकौ’ हैं। बेनीपुरी की भाषा में आवेग है, जटिलता नहीं। श्रीराम शर्मा, देवेंद्र सत्यार्थी भी निबंध के क्षेत्र में उल्लेखनीय हैं। वासुदेवशरण अग्रवाल के निबंधों में भारतीय संस्कृति के विविध आयामों को विद्वतापूर्वक उद्घाटित किया गया है। यशपाल के निबंधों में भी मार्क्सवादी दृष्टिकोण मिलता है। बनारसीदास चतुर्वेदी के निबंध-संग्रह ‘साहित्य और जीवन’, ‘हमारे आराध्य’ नाम में यही प्रवृत्ति है। कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर के निबंध में करुणा, व्यंग्य और भावुकता का सन्निवेश है। भगवतशरण उपाध्याय ने ‘ठूठा आम’, और ‘सांस्कृतिक निबंध’ में इतिहास और संस्कृति की पृष्टभूमि पर निबंध लिखे। प्रभाकर माचवे, विद्यानिवास मिश्र, धर्मवीर भारती, शिवप्रसाद सिंह, कुबेरनाथ राय, ठाकुर प्रसाद सिन्हा आदि के ललित निबंध विख्यात हैं।

सामयिक निबंधों में नई चिंतन पद्धति और अभिव्यक्ति देखी जा सकती है। अज्ञेय, विद्यानिवास मिश्र, कुबेरनाथ राय, निर्मल वर्मा, रमेशचंद्रशाह, शरद जोशी, जानकी वल्लभ शास्त्री, रामेश्वर शुक्ल ‘अंचल’, नेमिचंद्र जैन, विष्णु प्रभाकर, जगदीश चतुर्वेदी, डॉ. नामवर सिंह और विवेकी राय आदि ने हिंदी गद्य की निबंध परंपरा को न केवल बढ़ाया है, बल्कि उसमें विशिष्ट प्रयोग किए हैं। समीक्षात्मक निबंधों में गजानन माधव मुक्तिबोध का नाम आता है। उनके निबंधों में बौद्धिकता है और वयस्क वैचारिकता तबोध के ‘नई कविता का आत्मसंघर्ष तथा अन्य निबंध’ नए साहित्य का सौंदर्यशास्त्र, ‘समीक्षा की समस्याएँ’ और ‘एक साहित्यिक की डायरी’ नामक निबंध विशेष उल्लेखनीय हैं। डॉ. रामविलास शर्मा के निबंध शैली में स्वच्छता, प्रखरता तथा वैचारिक संपन्नता है। हिंदी निबंध में व्यंग्य को रवींद्र कालिया ने बढ़ाया है। नए निबंधकारों में रमेशचंद्र शाह का नाम तेजी से उभरा है।

MP Board Solutions

महादेवी वर्मा, विजयेंद्र स्नातक, धर्मवीर भारती, सर्वेश्वरदयाल सक्सेना और रामेश्वर शुक्ल ‘अंचल’ के निबंधों में प्रौढ़ता है। इसके अतिरिक्त विष्णु प्रभाकर कृत ‘हम जिनके ऋणी हैं’ जानकी वल्लभ शास्त्री कृत ‘मन की बात’, ‘जो बिक न सकी’ आदि निबंधों में क्लासिकल संवेदना का उदात्त रूप मिलता है। नए निबंधकारों में : प्रभाकर श्रोत्रिय, चंद्रकांत वांदिवडेकर, नंदकिशोर आचार्य, बनवारी, कृष्णदत्त पालीवाल, प्रदीप मांडव, कर्णसिंह चौहान और सुधीश पचौरी आदि प्रमुख हैं। आज राजनीतिक-सांस्कृतिक विषयों पर भी निबंध लिखे जा रहे हैं। अतः हिंदी निबंध-साहित्य उत्तरोत्तर बढ़ता जा रहा है।

MP Board Class 12th Hindi Makrand Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा

In this article, we will share MP Board Class 12th Hindi Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा Pdf, These solutions are solved subject experts from the latest edition books.

MP Board Class 12th Hindi Makrand Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा (संस्मरण, काका कालेलकर)

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा पाठ्य-पुस्तक पर आधारित प्रश्न

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
लेखक ने राष्ट्रमाता किसे कहा है? (M.P. 2010)
उत्तर:
माँ कस्तूरबा को राष्ट्रमाता कहा गया है।

MP Board Solutions

प्रश्न 2.
राष्ट्र माँ कस्तूरबा को किस आदर्श की जीवित प्रतिमा मानता है?
उत्तर:
राष्ट्र माँ कस्तूरबा का आर्य सती स्त्री के आदर्श की जीवित प्रतिमा मानता है।

प्रश्न 3.
कस्तूरबा भाषा का सामान्य ज्ञान होने पर भी कैसे अपना काम चला लेती थीं?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा कुछ अंग्रेजी समझ लेती थीं और वे 25-30 शब्द बोल लेती थीं। उन्हीं शब्दों को समझ-बोलकर अपना काम चला लेती थीं।

प्रश्न 4.
कस्तूरबा को किन ग्रंथों पर असाधारण श्रद्धा थी?
उत्तर:
कस्तूरबा को गीता और तुलसी-रामायण पर असाधारण श्रद्धा थी।

प्रश्न 5.
महात्माजी और कस्तूरबा को पहली बार देखकर लेखक ने क्या अनुभव किया?
उत्तर:
लेखक ने अनुभव किया कि मानो उस आध्यात्मिक माँ-बाप मिल गए हैं।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
दुनिया में कौन-सी दो अमोघ शक्तियाँ मानी गई थीं? कस्तूरबा की निष्ठा किसमें अधिक थी? (M.P. 2009, 2010)
उत्तर:
दुनिया में शब्द और कृति दो अमोघ शक्तियाँ मानी गई हैं। शब्दों ने तो सारी दुनिया को हिला कर रख दिया है।

MP Board Solutions

प्रश्न 2.
कस्तूरबा को तेजस्वी महिला क्यों कहा गया है? (M.P. 2012)
उत्तर:
जब माँ कस्तूरबा को दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया तो उन्होंने अपने बचाव में कुछ नहीं कहा और न ही कोई निवेदन प्रकट किया। उन्होंने केवल यही कहा कि मुझे तो वह कानून तोड़ना है जो यह कहता है कि मैं महात्माजी की धर्मपत्नी नहीं हूँ। जेल में उनकी तेजस्विता तोड़ने में सरकार असफल रही और सरकार को घुटने टेकने पड़े इसीलिए माँ कस्तूरबा को तेजस्वी कहा गया है।

प्रश्न 3.
“सभा में जाने का मेरा निश्चय पक्का है मैं जाऊँगी ही” यह कथन किसका है और किस प्रसंग में कहा गया है?
उत्तर:
यह कथन माँ कस्तूरबा का है। यह इस प्रसंग में कहा गया है जब गाँधी जी को सरकार ने गिरफ्तार कर लिया था और माँ कस्तूरबा पति के कार्य को आगे बढ़ाने के उस सभा में भाषण देने जा रही थीं जिसमें गाँधीजी भाषण देने वाले थे। उस समय सरकारी अधिकारियों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने उक्त कथन द्वारा उन्हें उत्तर दिया।

प्रश्न 4.
“मुझे यहाँ का वैभव कतई नहीं चाहिए। मुझे तो सेवाग्राम की कुटिया ही पसंद है” माँ कस्तूरबा के इस कथन के आशय को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
आशय-माँ कस्तूरबा को गाँधीजी के साथ आगा खाँ महल में सरकार ने कैद कर रखा था। वहाँ किसी प्रकार का अभाव नहीं था। सभी प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध थीं किंतु उन्हें वहाँ कैद होना असहनीय लग रहा था। उन्हें महल में कैद होना अच्छा नहीं लगता। उन्हें किसी प्रकार सुख-सुविधा, ऐश्वर्य की आवश्यकता नहीं थी, उन्हें तो स्वतंत्रतापूर्वक सेवाग्राम की कुटिया में रहना ही पसंद था।

प्रश्न 5.
कस्तूरबा ने अपनी तेजस्विता और कृतिनिष्ठा से क्या सिद्ध कर दिखाया?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा ने अपनी तेजस्विता और कृतिनिष्ठा से यह सिद्ध कर दिखाया कि उन्हें शब्द-शास्त्र में बेशक निपुणता प्राप्त न हो परंतु कर्त्तव्य-अकर्त्तव्य के निर्णय करने में उन्हें कोई दुविधा नहीं है। उनमें तुरंत निर्णय लेने की क्षमता है।

प्रश्न 6.
बदलते आदर्शों के इस युग में कस्तूरबा के प्रति श्रद्धा प्रकट कर किस बात का प्रमाण दिया गया है?
उत्तर:
बदलते आदर्शों के इस युग में कस्तूरबा के प्रति श्रद्धा प्रकट कर इस बात का प्रमाण दिया कि आज भी हमारे देश में प्राचीन तेजस्वी आदर्श मान्य हैं और हमारी संस्कृति की जड़ें आज भी काफी मजबूत हैं।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा भाव-विस्तार/पल्लवन

प्रश्न 1.
निम्नलिखित कथन का भाव-विस्तार कीजिए।
“हमारी संस्कृति की जड़ें आज भी काफी मजबूत हैं।”
उत्तर:
हमारी भारतीय संस्कृति के जीवन-मूल्य और आदर्श आज के बदलते . आदर्शों के युग में भी महत्त्व रखते हैं। भारतीय समाज में आज भी उन आदर्शों को श्रद्धा और विश्वास की दृष्टि से देखा जाता हैं। इससे प्रमाणित होता है कि हमारी संस्कृति की जड़ें भी काफी मजबूत हैं। संस्कृति के आदर्शों और मूल्यों को सरलता से समाप्त नहीं किया जा सकता।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा भाषा-अनुशीलन

प्रश्न 1.
निम्नलिखित शब्दों की संधि-विच्छेद करते हुए संधि का नाम लिखिए –
लोकोत्तर, स्वागत, सत्याग्रह, महत्त्वाकांक्षा, निस्तेज।
उत्तर:
MP Board Class 12th Hindi Makrand Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा img-1

प्रश्न 2.
निम्नलिखित शब्दों का समास-विग्रह करते हुए समास का नाम लिखिए –
धर्मनिष्ठा, राष्ट्रमाता, देशसेवा, जीवनसिद्धि, बंधनमुक्त।
उत्तर:
MP Board Class 12th Hindi Makrand Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा img-2

प्रश्न 3.
निम्नलिखित शब्दों में से उपसर्ग अलग करके लिखिए –
उपसंहार, प्रत्युत्पन्न, असाधारण, अशिक्षित, अनपढ़।
उत्तर:
उपसर्ग – उप, प्रति, अ, अ, अन।

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
निम्नलिखित शब्दों से प्रत्यय अलग करके लिखिए –
तेजस्विता, कौटुम्बिक, चरित्रवान, शासकीय, उत्कृष्टता।
उत्तर:
प्रत्यय – ता, इक, वान, ईय, ता।

प्रश्न 5.
निम्नलिखित विदेशी शब्दों के लिए हिंदी शब्द लिखिए –
अमलदार, हासिल, खुद, कायम, आंबदार, जिद्द।
उत्तर:
MP Board Class 12th Hindi Makrand Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा img-3

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा योग्यता-विस्तार

प्रश्न 1.
ऐसी नारियों के जीवन-प्रसंगों का संकलन कीजिए जो समाज के लिए प्रेरक व आदर्श साथ ही स्वरूप रही हैं।
उत्तर:
छात्र स्वयं करें।

प्रश्न 2.
अपने आस-पास की ऐसी महिला के बारे में लिखिए, जो आपके लिए आदर्श हो।
उत्तर:
छात्र स्वयं लिखें।

प्रश्न 3.
स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाली महिलाओं के चित्रों का एलबम बनाइए।
उत्तर:
छात्र स्वयं चित्र एकत्र कर एलबम बनाएँ।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा परीक्षोपयोगी अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न

I. वस्तुनिष्ठ प्रश्नोत्तर –

प्रश्न 1.
कस्तूरवा का एकाक्षरी नाम…….था।
(क) माँ
(ख) बा
(ग) तेजस्वी
(घ) दा
उत्तर:
(ख) बा।

प्रश्न 2.
अपने आंतरिक सद्गुणों और निष्ठा के कारण कस्तूरबा…….वन पाईं।
(क) राष्ट्रमाता
(ख) वीरमाता
(ग) वीर पत्नी।
(घ) आदर्श नारी
उत्तर:
(क) राष्ट्रमाता।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
‘निष्ठामूर्ति कस्तूरबा’ संस्मरण के लेखक हैं –
(क) कन्हैयालाल मिश्र ‘प्रभाकर’
(ख) उदयशंकर भट्ट
(ग) काला कालेलकर
(घ) मैथिलीशरण गुप्त
उत्तर:
(ग) काका कालेलकर।

प्रश्न 4.
लेखक के अनुसार गाँधीजी को भारत में कहाँ गिरफ्तार किया गया था?
(क) विधानसभा हाउस
(ख) आगा खाँ महल
(ग) बिड़ला हाउस
(घ) बिड़ला मंदिर
उत्तर:
(ग) बिड़ला हाउस।

प्रश्न 5.
कस्तूरबा का निधन……….में हुआ।
(क) बिड़ला हाउस
(ख) आगा खाँ महल
(ग) सेवाग्राम
(घ) वायसराय हाउस
उत्तर:
(ख) आगा खाँ महल।

प्रश्न 6.
“अगर आप गिरफ्तार करें, तो भी मैं जाऊँगी।” यह कथन उस समय … का है?”
(क) जब कस्तूरबा को पुलिस ने घेर लिया।
(ख) जब कस्तूरवा पर सरकार ने आरोप लगाया।
(ग) जब महात्माजी को गिरफ्तार कर लिया गया।
(घ) जब कस्तूरबा से पुलिस ने पूछताछ की।
उत्तर:
(ख) जब कस्तूरबा पर सरकार ने आरोप लगाया।

II. निम्नलिखित रिक्त स्थानों की पूर्ति दिए गए विकल्पों के आधार पर कीजिए –

  1. राष्ट्र ने ………. को राष्ट्रपति का सम्मान दिया। (महात्माजी बापूजी)
  2. कस्तूरबा ………. के नाम से राष्ट्रमाता का सम्मान दिया गया। (माँ वा)
  3. दुनिया में दो अमोघ शक्तियाँ हैं ……….। (शब्द और कृति स्मृति और उपासना)
  4. लेखक को कस्तूरवा के प्रथम दर्शन ………. में हुए। (शान्तिनिकेतन/दक्षिण अफ्रीका)
  5. हमारी ………. की जड़ें आज भी काफी मजबूत हैं। (परम्परा/संस्कृति)

उत्तर:

  1. बापूजी
  2. बा
  3. शब्द और कृति
  4. शान्तिनिकेतन
  5. संस्कृति।

MP Board Solutions

III. निम्नलिखित कथनों में सत्य असत्य छाँटिए –

  1. अपने आंतरिक सद्गुणों और निष्ठा के कारण कस्तूरबा राष्ट्रमाता बन गईं।
  2. कस्तूरबा का भाषा-ज्ञान सामान्य से अधिक था।
  3. 1915 के आरंभ में महात्माजी शान्तिनिकेतन पधारे।
  4. आश्रम में कस्तूरबा लेखक के लिए देवी के समान थीं।
  5. अध्यक्षीय भाषण किसी से लिखवा लेना आसान है।

उत्तर:

  1. सत्य
  2. असत्य
  3. सत्या
  4. असत्य
  5. सत्य।

IV. निम्नलिखित के सही जोड़े मिलाइए –

प्रश्न 1.
MP Board Class 12th Hindi Makrand Solutions Chapter 10 निष्ठामूर्ति कस्तूरबा img-4
उत्तर:

(i) (घ)
(ii) (ग)
(iii) (ख)
(iv) (ङ)
(v) (क)।

V. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक शब्द या एक वाक्य में दीजिए –

प्रश्न 1.
सत्याग्रहाश्रम क्या था?
उत्तर:
महात्माजी की संस्था।

प्रश्न 2.
स्त्री-जीवन सम्बन्ध के हमारे आदर्श को हमने क्या किए हैं?
उत्तर:
काफी बदल दिए हैं।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
कस्तूरबा के सामने उनका कर्त्तव्य कैसा था?
उत्तर:
किसी दीये के समान था।

प्रश्न 4.
किन दो वाक्यों में कस्तूरबा अपना फैसला सुना देतीं।
उत्तर:
‘मुझसे यही होगा’ और ‘यह नहीं होगा।

प्रश्न 5.
कस्तूरबा में कौन-से भारतीय गुण थे?
उत्तर:
कौटुम्बिक सत्वगुण।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
माँ कस्तूरबा कौन थीं? (M.P. 2010)
उत्तर:
माँ कस्तूरबा महात्मा गाँधीजी की सहधर्मचारणी थीं।

प्रश्न 2.
माँ कस्तूरबा अंग्रेजी कैसे समझ और बोल लेती थीं?
उत्तर:
दक्षिण अफ्रीका में जाकर रहने के कारण कस्तूरबा कुछ अंग्रेजी समझ लेती थीं और 25-30 शब्द बोल भी लेती थीं।

प्रश्न 3.
माँ कस्तूरबा ने धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से इनकार क्यों कर दिया?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा एक धर्मनिष्ठ महिला थीं। धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से उनका धर्म भ्रष्ट हो जाता इसलिए उन्होंने धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से मना कर दिया।

प्रश्न 4.
लेखक को कस्तूरबा के प्रथम दर्शन कब हुए?
उत्तर:
सन् 1915 में शांतिनिकेतन पधारने पर लेखक को कस्तूरबा के प्रथम दर्शन हुए हैं।

MP Board Solutions

प्रश्न 5.
माँ कस्तूरबा को भारत में कहाँ कैद रखा गया?
उत्तर:
माँ कस्तूबा को भारत में आगा खाँ महल में कैद रखा गया।

प्रश्न 6.
आज हमारी संस्कृति की जड़ें कैसी हैं?
उत्तर:
आज हमारी संस्कृति की जड़ें काफी मजबूत हैं।

प्रश्न 7.
महात्मा गाँधी की सहधर्मिणी कौन थी?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा, महात्मा गाँधी की संहधर्मिणी थीं।

प्रश्न 8.
माँ कस्तूरबा का किसके प्रति अपार श्रद्धा थी?
उत्तर:
तुलसीदास की रामायण के प्रति माँ कस्तूरबा की अपार श्रद्धा थी।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
महात्मा गाँधीजी ने किन दो शक्तियों की उपासना की?
उत्तर:
महात्मा गाँधी ने विश्व की दो अमोघ शक्तियों-शब्द और कृति-की असाधारण उपासना की। उन्होंने इन दोनों शक्तियों में निपुणता प्राप्त की।

प्रश्न 2.
“मुझे अखाद्य खाकर जीना नहीं है। यह कथन किसका है और किस प्रसंग में कहा गया हैं?
उत्तर:
यह कथन माँ कस्तूरबा का है और यह डॉक्टर द्वारा धर्म के विरुद्ध खुराक लेने की बात के प्रसंग में कहा गया है।

MP Board Solutions

प्रश्न 3.
पति के गिरफ्तार होने पर मौकस्तूरबा ने उनके कार्य को आगे बढ़ाने के लिए क्या किया?
उत्तर:
पति के गिरफ्तार होने पर माँ कस्तूरबा ने उनके कार्य आगे बढ़ाने के लिए उस सभा में भाषण देने के लिए गईं जिसे गाँधीजी संबोधित करने वाले थे। दो-तीन बार राजकीय परिषदों या शिक्षण सम्मेलनों में अध्यक्ष का पद संभाला और अध्यक्षीय भाषण दिए।

प्रश्न 4.
माँ कस्तूरबा देश में चल रही सूक्ष्म जानकारी.कैसे रखती थीं?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा देश में क्या चल रहा है इसकी सूक्ष्म जानकारी प्रश्न पूछ-पूछकर या अखबारों पर दृष्टि डालकर प्राप्त कर लेती थीं और इस देश में चल रही गतिविधियों की जानकारी रखती थीं।

प्रश्न 5.
“मुझे यहाँ का वैभव कतई नहीं चाहिए। मुझे तो सेवाधाम की कुटिया ही पसंद है।” यह किसने, कब और क्यों कहा?
उत्तर:
“मुझे यहाँ का वैभव कतई नहीं चाहिए। मुझे तो सेवाधाम की कुटिया ही पसंद है।” यह माँ कस्तूरबा ने कहा। यह उस समय कहा, जव माँ कस्तूरबा को गाँधीजी के साथ आगा खाँ महल में सरकार ने कैद कर लिया। माँ कस्तूरबा ने यह इसलिए कहा कि उन्हें वहाँ कैद होना असहनीय हो उठा था। इसका यही कारण था कि उन्हें किसी प्रकार की सुख-सुविधा और ऐश्वर्य की आवश्यकता नहीं थी। उन्हें तो स्वतंत्रता एवं सेवाग्राम कुटिया ही पसंद थी।

प्रश्न 6.
माँ कस्तूरबा ने धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से क्यों मना कर दिया?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा ने धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से मना कर दिया क्योंकि धर्म के प्रति उनकी अपार श्रद्धा थी। इस प्रकार की खुराक उनकी अंतरात्मा के विरुद्ध थी। फलस्वरूप उन्होंने इस प्रकार की खुराक लेने की अपेक्षा मृत्यु को प्राप्त होना उचित समझा था।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा लेखक-परिचय

प्रश्न 1.
काका कालेलकर का संक्षिप्त-जीवन परिचय देते हुए उनकी साहित्यिक विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
उत्तर:
जीवन-परिचय:
काका कालेलकर का जन्म 1 दिसंबर, सन् 1885 ई० में महाराष्ट्र प्रांत के सतारा नगर में हुआ था। अहिंदीभाषी होते हुए भी आपने सबसे पहले हिंदी सीखी और कई वर्षों तक दक्षिण सम्मेलन की ओर से हिंदी का प्रचार-कार्य किया। आपने राष्ट्रभाषा प्रचार के कार्य में सक्रिय और सार्थक भूमिका निभाई। अपनी चमत्कारी सूझ-बूझ और व्यापक अध्ययनशीलता के कारण आपकी गणना प्रमुख अध्यापकों और व्यवस्थापकों में होने लगी।

गुजरात में हिंदी प्रचार के लिए. गाँधी जी ने कालेलकर को ही चुना इसलिए उन्होंने गुजराती सीखी और गहन अध्ययन के बाद ही शिक्षण-कार्य प्रारंभ किया। आप गुजरात विद्यापीठ के कुलपति पद पर रहे। आपको दो बार राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया गया। सन् 1964 ई० में आपको ‘पदम् विभूषण’ सम्मान से सम्मानित किया गया। मराठीभाषी होते हुए भी आपने हिंदी के प्रचार-प्रसार में रुचि दिखाई। आप विज्ञापन और आत्मप्रचार से दूर रहकर हिंदी की सेवा में लगे रहे। आपका निधन 21 अगस्त, 1981 को हुआ।

साहित्यिक विशेषताएँ:
आपके साहित्य में यात्राओं के वर्णन तथा लोक-जीवन के अनुभवों को स्थान मिला है। आपने हिंदी में यात्रा-साहित्य के अभाव को काफी हद तक दूर किया। आपकी रचनाओं में सजीवता के प्रत्यक्ष दर्शन होते हैं। अपनी भाषा क्षमता के कारण ही आप साहित्य अकादमी में गुजराती भाषा के प्रतिनिधि चुने गए।

रचनाएँ:
काका कालेलकर ने लगभग तीस पुस्तकें लिखी हैं, जिनमें स्मरण-यात्रा, धर्मोदय, हिमालय प्रवास, लोकमाता, जीवन और साहित्य, तक्षशिला, अमृत और विष, मुक्ति पथ, स्त्री का हृदय, युगदीप आदि प्रमुख हैं।

भाषा-शैली:
काका कालेलकर की भाषा-शैली बड़ी सजीव और प्रभावशाली है। उन्होंने अपनी रचनाओं में हिंदी खड़ी बोली का प्रयोग किया है। उनकी भाषा आम बोलचाल की है। उन्होंने अपनी भाषा में तद्भव, तत्सम और देशी-विदेशी भाषाओं के शब्दों, मुहावरों और लोकोक्तियों का प्रयोग किया है।

साहित्य में महत्त्व:
काका कालेलकर को उत्तम निबंध, सजीव यात्रा-वृत्त, प्रभावोत्पादक संस्मरण और भावुकतापूर्ण जीवनी लिखने वालों में उच्च स्थान प्राप्त है। आप अहिंदीभाषी होते हुए भी राष्ट्रभाषा हिंदी के सच्चे सेवकों में गिने जाते हैं।

MP Board Solutions

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा पाठ का सारांश

प्रश्न 1.
काका कालेलकर के संस्मरण ‘निष्ठामूर्ति कस्तूरवा’ का सार अपने शब्दों में लिखिए।
उत्तर:
लेखक ने इस संस्मरण में कस्तूरबा के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला है। लेखक का मानना है कि माँ कस्तूरबा का सम्मान गाँधी जी की पत्नी होने के कारण नहीं, अपितु उनके स्वतंत्र व्यक्तित्व के कारण है। राष्ट्र ने बापूजी को राष्ट्रपिता का सम्मान दिया है तो ‘बा’ भी राष्ट्रमाता का सम्मान पा सकीं। वे राष्ट्रमाता अपने आंतरिक सद्गुणों और निष्ठा के कारण बनीं। उन्होंने प्रत्येक स्थान पर अपने चरित्र को उजागर किया है। वे आर्य स्त्री के आदर्श की जीवंत प्रतिमा थीं।

माँ कस्तूरबा का भाषा ज्ञान विशेष नहीं था। दक्षिण अफ्रीका में जाकर कुछ अंग्रेजी के शब्द समझने में समर्थ हो सकी थी और अंग्रेजी के 25-30 शब्द बोलने के लिए भी सीख लिए थे। विदेशी मेहमानों के आने पर उन्हीं शब्दों से अपना काम चलाती थीं। माँ कस्तूरबा की गीता और तुलसी की रामायण पर अपार श्रद्धा थी। आगा खाँ महल में कारावास के दौरान वार-बार गीता का पाठ लेने का प्रयास करती रही थीं।

संसार में दो अमोघ शक्तियाँ हैं-शब्द और कृति, किंतु अंतिम अक्ति ‘कृति’ है। महात्माजी ने शब्द और कृति दोनों शक्तियों की उपासना की तो बा ने कृति शक्ति की ‘नम्रता के साथ उपासना करके संतोष प्राप्त करने के साथ-साथ जीवन-सिद्धि भी प्राप्त की थी। दक्षिण अफ्रीका में जब उन्हें जेल भेजा, तो उन्होंने अपना बचाव नहीं किया। न कोई निवेदन किया और जेल चली गईं। जेल में वहाँ की सरकार ने उनकी तेजस्विता भंग करने का बड़ा प्रयास किया किंतु वह सफल न हो सकी। डॉक्टर ने जब धर्म के विरुद्ध खुराक लेने की बात कही तो केवल इतना कहा- “मुझे अखाद्य खाकर जीना नहीं है। फिर भले ही मुझे मौत का सामना करना पड़े।”

लेखक को सन् 1915 में शांतिनिकेतन में ‘बा’ को देखने का अवसर मिला। रात को आंगन के बीच के एक चबूतरे पर अगल-बगल विस्तर लगाकर वापृ ओर बा सो गए और अन्य लोग आँगन में बिस्तर लगा सो गए। उस समय लेखक को लगा कि हमें आध्यात्मिक मां-बाप मिल गए हैं। लेखक को ‘बा’ के अंतिम दर्शन बिड़ला हाउस में गिरफ्तारी के दौरान हुए। जब गाँधी जी को गिरफ्तार करने के वाद उनसे कहा गया कि आपकी इच्छा हो । तो आप भी चल सकती हैं। ‘बा’ ने कहा अगर आप गिरफ्तार करें तो मैं भी जाऊँगी। पति के गिफ्तार होने के बाद उन्होंने उस सभा में जाने का निश्चय किया, जिसमें बापू बोलने वाले थे। सरकार ने उन्हें रोकने का प्रयास किया, तो उन्होंने उत्तर दिया कि ‘सभा में जाने का निश्चय पक्का है, मैं जाऊँगी।’

माँ कस्तूरबा को गिरफ्तार करके आगा खाँ महल में रखा गया है, जहाँ सभी प्रकार की सुख-सुविधाएँ थीं किंतु उन्हें अपना कैद में होना असह्य था। उन्होंने कई बार कहा-‘मुझे यहाँ का वैभव कतई नहीं चाहिए, मुझे तो सेवाग्राम की कुटिया ही पसंद है।” सरकार ने उनके शरीर को कैद रखा, किंतु उनकी आत्मा को वह कैद सहन नहीं हुई। उन्होंने सरकार की कैद में ही अपने प्राण त्यागे और वह स्वतंत्र हुई। माँ कस्तूरबा के सामने उनके कर्तव्य सदा स्पष्ट रहे। उन्होंने ‘मुझसे यही होगा’ और ‘यह नहीं होगा’ वाक्यों में अपना निर्णय सुना देती थीं।

आश्रम में कस्तूरबा लोगों के लिए माँ के समान थीं। आश्रम के नियम उन पर लागू नहीं होते थे। आश्रम में सभी के खाने-पीने की व्यवस्था कस्तूरबा करती थीं। आलस्य उनमें बिलकुल नहीं था। वे रसोईघर में जो भी काम करती थीं, आस्था से करती थीं। उनमें संस्था चलाने की महत्त्वाकांक्षा नहीं थी। परंतु देश में क्या हो रहा है, इसकी जानकारी वे अवश्य रखती थीं। वापूजी जब जेल में होते थे तो उन्होंने दो-तीन बार राजकीय परिषदों का या शिक्षण सम्मेलनों का अध्यक्ष पद भी सँभालना पड़ा। उनके अध्यक्षीय भाषण लेखक लिखता था। किन्तु उपसंहार माँ कस्तूरबा अपनी प्रतिभा से करती थीं, उनके भाषणों में परिस्थिति की समझ, भाषा की सावधानी और खानदानी की महत्ता आदि गुण उत्कृष्टता से दिखाई देते थे।

माँ कस्तूरबा की मृत्यु पर पूरे देश ने स्वयं स्फूर्ति से उनका स्मारक बनाया। कस्तूरबा अपने संस्कार के बल पर पातिव्रत्य को, कुटुंब-वत्सलता को और तेजस्विता को चिपकाए रहीं और उसी के बल पर बापूजी के माहात्म्य की बराबरी कैर सकीं। स्वातंत्र्य की पूर्व शिवरात्रि के दिन उनका स्मरण कर सभी देशवासी अपनी-अपनी तेजस्विता को और अधिक तेजस्वी बनाते हैं।

निष्ठामूर्ति कस्तूरबा संदर्भ-प्रसंगसहित व्याख्या

प्रश्न 1.
महात्मा गाँधी जैसे महान पुरुष की सहधर्मचारिणी के तौर पर पूज्य कस्तूरबा के बारे में राष्ट्र का आदर मालूम होना स्वाभाविक है। राष्ट्र ने महात्माजी को ‘बापूजी’ के नाम से राष्ट्रपिता के स्थान पर कायम किया ही है। इसलिए कस्तूरबा भी ‘घा’ के एकाक्षरी नाम से राष्ट्रमाता बन सकी हैं। किंतु सिर्फ महात्माजी के साथ संबंध के कारण ही नहीं, बल्कि अपने आंतरिक सद्गुणों और निष्ठा के कारण भी कस्तूरबा राष्ट्रमाता बन पाई हैं। चाहे दक्षिण अफ्रीकामें हों या हिंदुस्तान में, सरकार के खिलाफ लड़ाई के समय जब-जब चारित्र्य का तेज प्रकट करने का मौका आया, कस्तूरबा हमेशा इस दिव्य कसौटी से सफलतापूर्वक पार हुई हैं। (Page 44)

शब्दार्थ:

  • सहधर्मचारिणी – धर्म या कर्तव्यों के निर्वाह में साथ देने वाली पत्नी।
  • कायम – स्थापित।
  • एकाक्षरी – एक अक्षर वाला।
  • आंतरिक सद्गुण – हृदय के अच्छे गुण।
  • कसौटी – परख, परीक्षा।
  • खिलाफ – विरुद्ध।

प्रसंग:
प्रस्तुत गद्यांश काका कालेलकर द्वारा रचित संस्मरण ‘निष्ठामूर्ति कस्तूरबा’ से लिया गया है। लेखक इन पंक्तियों में कस्तूरबा के राष्ट्रमाता बनने के कारणों को स्पष्ट करने के साथ-साथ उनके व्यक्तित्व पर भी प्रकाश डाल रहा है।

व्याख्या:
महात्मा गाँधी की धर्म अथवा कर्तव्यों के निर्वाह में साथ देने वाली पूजनीय कस्तूरबा के संबंध में राष्ट्र के आदर को देशवासियों को ज्ञान होना स्वाभाविक है। राष्ट्र ने महात्मा गाँधी को ‘बापूजी’ कहकर सम्मानित किया है। इतना ही नहीं उन्हें राष्ट्रपिता के पद पर स्थापित किया है। सारा राष्ट्र उन्हें राष्ट्रपिता कहकर सम्मान देता है। इसलिए कस्तूरबा भी ‘बा’ एक अक्षर वाले नाम से राष्ट्रमाता बनने में सफल रही हैं।

सारा देश उन्हें राष्ट्रमाता का दर्जा देता है। महात्मा गाँधी की पत्नी होने के कारण ही वे राष्ट्रमाता नहीं बनीं, अपितु अपने सद्गुणों अर्थात् अच्छे गुणों से युक्त होने और विश्वास के कारण बनीं। वे चाहे दक्षिण अफ्रीका में रही हों अथवा भारत में, जब भी उन्हें सरकार के विरुद्ध लड़ाई लड़ते समय अपने चारित्रिक तेज को उजागर करने का अवसर मिला, वे सदा इस दिव्य परीक्षा में पूर्णतः सफल हुईं। भाव यह है कि माँ कस्तूरबा को जब भी अपने चारित्रिक तेज को उजागर करने का अवसर मिला, उन्होंने इसे उजागर किया।

विशेष:

  1. माँ कस्तूरबा का सम्मान उनकै स्वतंत्र व्यक्तित्व के कारण समूचे देश में होता है। लेखक मैं इस तथ्य को उजागर किया है।
  2. माँ कस्तूरबा के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला गया है।
  3. भाषा तत्सम, उर्दू शब्दावली से युक्त खड़ी बोली है।

गद्यांश पर आधारित अर्थग्रहण संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
माँ कस्तूरबा किस कारण से राष्ट्रमाता बन सकीं?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा महात्मा गाँधी की पत्नी होने के कारण राष्ट्रमाता नहीं बनी, अपितु वे अपने हृदय के सद्गुणों और विश्वास तथा स्वतंत्र व्यक्तित्व के कारण राष्ट्रमाता बनने में सफल रहीं।

प्रश्न (ii)
माँ कस्तूरबा किस कसौटी पर सदा खरी उतरीं?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा को दक्षिण अफ्रीका और हिंदुस्तान में सरकार के विरुद्ध लड़ाई लड़ते समय जब भी चारित्रिक तेज को प्रकट करने का मौका मिला वे सदा इस कसौटी पर खरी उतरीं।

प्रश्न (iii)
माँ कस्तूरबा के दो चारित्रिक गुणों का उल्लेख कीजिए।
उत्तर:

  1. माँ कस्तूरबा महात्मा गाँधी के धर्म और कर्तव्यों के निर्वाह में साथ देने वाली पतिव्रता नारी थीं।
  2. उनका अपना स्वतंत्र व्यक्तित्व था। सरकार के विरुद्ध लड़ाई लड़ने में वे कभी पीछे नहीं हटीं।

गद्यांश पर आधारित विषय-वस्तु संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
माँ कस्तूरबा को महात्मा गाँधी की सहधर्मचारिणी क्यों कहा गया है?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा महात्मा गाँधी की ऐसी पत्नी ही, जो अपने पति के धर्म और कर्तव्यों के निर्वाह में पूर्ण साथ देती थीं इसीलिए उन्हें महात्मा गाधी की सहधर्मचारिणी कहा गया है।

प्रश्न (ii)
राष्ट्र ने महात्मा गाँधी को किस पद पर स्थापित किया है?
उत्तर:
राष्ट्र ने महात्मा गाँधी को ‘बापूजी’ नाम से राष्ट्रपिता के पद पर स्थापित किया।

MP Board Solutions

प्रश्न 2.
दुनिया में दो अमोध शक्तियाँ हैं-शब्द और कृति। इसमें कोई शक नहीं कि ‘शब्दो’ नै सारी पक्षी को हिला दिया है। किंतु अंतिम शक्ति तो ‘कृति’ की है। महात्माजी ने इन दोनों शक्तियों की असाधारण उपासना की है। कस्तूरबा ने इन दोनों शक्तियों से ही अधिक श्रेष्ठ शक्ति कृति की नम्रता के साथ उपासना करके संतोष माना और जीवनसिद्धि प्राप्त की। (Page 45) (M.P 2011).

शब्दार्थ:

  • दुनिया – संसार, विश्व, जगत्।
  • अमोघ – अचूक।
  • कृति – रचना, कार्य, कर्म।
  • शक – संदेह।
  • स्मृति – स्मरण, चिंतन, इच्छा, पाप।
  • उपासना – आराधना, प्रजा जीवन।
  • असाधारण – जो साधारण नहीं है, विशेष।
  • नम्रता – कोमलता, विनम्रता।
  • जीवनसिद्धि – जीवन में सफलता प्राप्ति।

प्रसंग:
प्रस्तुत गद्यांश काका कालेलकर द्वारा रचित संस्मरण ‘निष्ठामूर्ति कस्तूरबा’ से लिया गया है। लेखक माँ कस्तूरवा के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाल रहा हैं।

व्याख्या:
लेखक कहता है कि संसार में दो अचूक ताकते हैं-शब्द और कृति अर्थात् शब्द और उनके माध्यम से रचित रचना। इस बात में विलकुल संदेह नहीं है कि शब्दों की शक्ति में सारे भू-मंडल को हिला दिया है। दूसरे शब्दों में, शब्दों ने अपनी शक्ति से सारे संसार को अस्थिर कर दिया है परंतु आखिरी शक्ति तो स्मरण अथवा चिंतन है। महात्मा गाँधी ने अपने जीवन में शब्द और कृति दोनों शक्तियों की विशेष आधिमा की; अर्थात् उन्होंने शब्दों की शक्ति और उससे होने वाली रचनों पर विशेष दक्षता प्राप्त की। उन्होंने किस अवसर किन शब्दों का प्रयोग करना चाहिए और रचना में किस प्रकार के शब्दों का चयन करना चाहिए। इसमें विशेष योग्यता प्राप्त की।

कस्तूरबा गांधी ने इसके विपरीत इन दोनों शक्तियों से अधिक श्रेष्ठ सृष्टि की रचना; अर्थात् महात्मा गाँधी की विनम्रता के साथ आराधना करके ही संतुष्टि प्राप्त की और जीवन में सफलता प्राप्त की। दूसरे शब्दों में, कस्तूरबा गांधी ने शब्द शक्ति की अधिक उपासना नहीं की। उनका भाषा ज्ञान अधिक नहीं था किंतु उन्होंने सृष्टि की रचना महात्मा गाँधी की सेवा द्वारा ही अपने जीवन को सफल बनाया।

विशेष:

  1. महात्मा गाँधी और कस्तूरबा के भाषा ज्ञान के अंतर को स्पष्ट किया गया है।
  2. कस्तूरबा की पतिनिष्ठा को उजागर किया गया है।
  3. भाषा तत्सम शब्दावलीयुक्त खड़ी वोली है।

गद्यांश पर आधारित अर्थग्रहण संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
किस, शक्ति ने सारी दुनिया को हिला दिया है?
उत्तर:
शब्द की अमोघ शक्ति ने सारी दुनिया को हिला दिया है।

प्रश्न (ii)
महात्मा गाँधी ने किन दो शक्तियों की उपासना की है?
उत्तर:
महात्मा गांधी ने शब्द और कृति दोनों अमोघ शक्तियों की असाधारण उपासना की है। उन्होंने इन दोनों शक्तियों पर असाधारण अधिकार प्राप्त कर लिया था।

प्रश्न (iii)
इन दोनों शक्तियों से अधिक श्रेष्ठ कृति’ किसे कहा गया है?
उत्तर:
शब्द और कृति शक्तियों से आधक श्रेष्ठ कृति महात्मा गाँधी को कहा गया है।

गद्यांश पर आधारित विषय-वस्तु संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
इस गयांश में किसके व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला गया है?
उत्तर:
इस गद्यांश में माँ कस्तूरबा के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला गया है।

प्रश्न (ii)
माँ कस्तूरबा ने किसकी उपासना करके जीवन-सिद्धि प्राप्त की?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा ने शब्द और कृति जैसी अमोघ शक्तियों से अधिक सृष्टि की श्रेष्ठ रचना महात्मा गाँधी की विनम्रता के साथ आराधना करके ही संतुष्टि और जीवनसिद्धि प्राप्त की।

प्रश्न (iii)
माँ कस्तूरबा ने किस शक्ति की अधिक उपासना नहीं की?
उत्तर:
माँ कस्तूरवा ने शब्द शक्ति की अधिक उपासना नहीं की। उन्हें भाषा ज्ञान अधिक नहीं था।

प्रश्न 3.
दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने जब उन्हें जेल भेज दिया, कस्तूरबा ने अपना बचाव तक नहीं किया। न कोई निवेदन प्रकट किया। “मुझे तो वह कानून तोड़ना ही है जो यह कहता है कि मैं महात्माजी की धर्मपत्नी नहीं हूँ।” इतना कहकर सीधे जेल चली गईं। जेल में उनकी तेजस्विता तोड़ने की कोशिशें वहाँ की सरकार ने बहुत की, किंतु अंत में सरकार की उस समय की जिद्द ही टूट गई। डॉक्टर ने जब उन्हें धर्म विरुद्ध खुराक लेने की बात कही तब भी उन्होंने धर्मनिष्टा पर कोई व्याख्यान नहीं दिया। उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा-“मुझे अखाद्य खाना खाकर जीना नहीं है। फिर भले ही मुझे पौत का सामना करना पड़े।” (Page 45)

शब्दार्थ:

  • बचाव – बचने का प्रयास।
  • निवेदन – प्रार्थना, याचिका।
  • तेजस्विता – तेजस्वी होने का भाव, प्रभावशाली होने का भाव कोशिश-प्रयास।
  • जिद – हटवादिता।
  • धर्मविरुद्ध – धर्म के विपरीत।
  • खुराक – आहार, भोजन।
  • धर्मनिष्ठा – धर्म के प्रति श्रद्धा।
  • व्याख्यान – भाषण।
  • अखाद्य – जो खाने योग्य न हो।

प्रसंग:
प्रस्तुत गद्यांश काका कालेलकर द्वारा रचित ‘निष्ठामूर्ति कस्तूरबा’ से लिया गया है। लेखक कस्तूरबा के व्यक्तित्व के तेजस्वी स्वरूप और दृढ़ता को उजागर कर रहा है।

व्याख्या:
लेखक दक्षिणी अफ्रीका में घटित घटना के द्वारा माँ कस्तूरबा के व्यक्तित्व की दृढ़ता को उजागर करते हुए आगे कहता है कि जव दक्षिणी अफ्रीका की सरकार ने माँ कस्तूरबा को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया, तो उन्होंने अपने बचाव के संबंध में कुछ नहीं कहा। न कोई तर्क दिया और न ही जेल से छूटने के लिए कोई याचिका दर्ज की। उन्होंने उस समय केवल इतना ही कहा कि मुझे तो वह कानून भंग करना है, जो मुझे महात्मा गाँधी की पत्नी स्वीकार नहीं करता। इतना कहकर वे जेल चली गईं और जेल जाकर यह सिद्ध कर दिया कि वे गांधी जी की पत्नी हैं।

जेल में उनके तेजस्वी होने के भाव और उनकी दृढ़ता तोड़ने के अनेक प्रयास वहाँ की सरकार ने किए, लेकिन वह माँ कस्तूरबा की तेजस्विता तोड़ने में सफल नहीं हो पाईं। उनकी दृढ़ता के सामने तत्कालीन दक्षिण अफ्रीका की सरकार को घुटने टेकने पड़े। जेल में रहते हुए जब उनका स्वास्थ्य गिरने लगा, तो डॉक्टर ने उन्हें हिंदू-धर्म के विरुद्ध भोजन लेने का सुझाव दिया।

उस समय उन्होंने धर्म के प्रति श्रद्धा और आस्था पर कोई भाषण नहीं दिया। उन्होंने केवल इतना ही कहा कि मुझे अखाद्य (न खाने योग्य) भोजन खाकर जीवित नहीं रहना है। चाहे मुझे मृत्यु का ही सामना करना पड़े। दूसरे शब्दों में, उन्होंने मांस-अंडे आदि खाने से साफ इनकार कर दिया। उन्होंने ऐसा भोजन खाने की अपेक्षा मृत्यु को चुना। यह उनके व्यक्तित्व की दृढ़ता का ही परिचायक है।

विशेष:

  1. माँ कस्तूरबा के व्यक्तित्व की तेजस्विता, दृढ़ता, धर्मनिष्ठा को उजागर किया गया है।
  2. भाषा तत्सम शब्दावली युक्त खड़ी बोली है।
  3. मुहावरों के प्रयोग से भाषा में अर्थवत्ता का समावेश हुआ है।

गद्यांश पर आधारित अर्थग्रहण संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
माँ कस्तूरबा ने किस कानून को तोड़ने की बात की है?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा ने दक्षिण अफ्रीका के उस कानून को तोड़ने की बात की है, जो उन्हें महात्मा गाँधी की पत्नी स्वीकार नहीं करता था।

प्रश्न (ii)
माँ कस्तूरबा को दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने बंदी क्यों बनाया?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा ने दक्षिण अफ्रीका के सरकारी कानून को तोड़ा था, इसलिए उन्हें बंदी बनाकर जेल भेज दिया गया।

प्रश्न (iii)
जेल में डॉक्टर ने उन्हें क्या परामर्श दिया?
उत्तर:
जेल में माँ कस्तूरबा का स्वास्थ्य गिरने लगा, तो डॉक्टर ने उन्हें धर्म के विरुद्ध खाना खाने का परामर्श दिया। दूसरे शब्दों में, डॉक्टर ने उन्हें मांस और अण्डे खाने की सलाह दी।

गद्यांश पर आधारित विषय-वस्तु संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
दक्षिण अफ्रीका में कस्तूरबा को जब जेल भेज दिया तो उन्होंने अपना बचाव क्यों नहीं किया?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा दक्षिण अफ्रीका के उस कानून को तोड़ना चाहती थीं जो उन्हें. महात्मा गाँधी की धर्मपत्नी नहीं मानता था इसीलिए उन्होंने अपना बचाव नहीं किया और जेल चली गईं।

प्रश्न (ii)
माँ कस्तूरबा ने धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से मना क्यों कर दिया?
उत्तर:
धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से माँ कस्तूरबा की धर्मनिष्ठा खंडित हो जाती इसीलिए उन्होंने धर्म के विरुद्ध खुराक लेने से मना कर दिया।

MP Board Solutions

प्रश्न 4.
महात्माजी को गिरफ्तार करने के बाद सरकार की ओर से कस्तूरबा को कहा गया, “अगर आपकी इच्छा हो तो आप भी साथ में चल सकती हैं।” बा बोलीं-“अगर आप गिरफ्तार करें तो मैं भी जाऊँगी। वरना आने की मेरी तैयारी नहीं है। महात्माजी जिस सभा में बोलने वाले थे उस सभा में जाने का उन्होंने निश्चय किया था। पति के गिरफ्तार होने के बाद उनका काम आगे चलाने की जिम्मेदारी बा ने कई बार उठाई है।

शाम के समय जब वह व्याख्यान के लिए निकल पड़ीं, सरकारी अमलदारों ने आकर उनसे कहा, ‘माताजी सरकार का कहना है कि आप घर पर ही रहें, सभा में जाने का कष्ट न उठाएँ।” बा ने उस समय उन्हें न देशसेवा का महत्त्व समझाया और न उन्होंने उन्हें ‘देशद्रोह करने वाले हो’ कहकर उनकी निभर्त्सना ही की। उन्होंने एक ही वाक्य में सरकार की सूचना का जवाब दिया। “सभा में जाने का मेरा निश्चय पक्का है, मैं जाऊँगी ही।” (Page 45)

शब्दार्थ:

  • व्याख्यान – भाषण।
  • अमलदारों – अधिकारियों।
  • निभर्त्सना – निंदा।

प्रसंग:
प्रस्तुत गद्यांश काका कालेलकर द्वारा लिखित संस्मरण ‘निष्ठामूर्ति कस्तूरबा’ से उद्धृत है। लेखक कस्तूरबा के व्यक्तित्व की दृढ़ता को उजागर कर रहा है।

व्याख्या:
दिल्ली के बिड़ला हाउस में पुलिस द्वारा महात्मा गाँधी को गिरफ्तार करने के बाद सरकार की तरफ़ से बा को संदेश दिया गया कि यदि आपकी इच्छा गाँधी जी के साथ जेल जाने की हो, तो आप भी साथ चल सकती हैं। इस पर बा ने उत्तर दिया कि यदि आप मुझे गिरफ्तार करेंगे तो मैं भी चलूँगी, अन्यथा जेल जाने की मेरी कोई तैयारी नहीं; अर्थात् मैं बिना गिरफ्तार किए जेल जाने के लिए तैयार नहीं हूँ। गिरफ्तार करोगे, तो मुझे जाना ही पड़ेगा। महात्मा गांधी उस दिन जिस सभा में भाषण देने वाले थे, माँ कस्तूरबा ने उस सभा में जाने का निश्चय किया।

पति के जेल जाने के बाद, उनकी अनुपस्थिति में पति के कार्य को आगे बढ़ाने का उत्तरदायित्व ‘बा’ ने कई बार उठाया। शाम के समय वे सभा में भाषण देने के लिए बिड़ला हाउस चल दीं। तो सरकारी अधिकारियों ने आकर उनसे कहा कि माताजी सरकार चाहती है कि आप घर पर ही रहें, अर्थात् आप सभा में भाषण देने जाएँ, यह सरकार नहीं चाहती। ‘बा’ ने उस अवसर पर उन सरकारी अधिकारियों को न तो देश सेवा का महत्त्व समझाया और न ही उन्होंने उन्हें देश के विरुद्ध कार्य करने वाला कहकर उनकी निंदा की। उन्होंने एक ही वाक्य में सरकार की उस सूचना का उत्तर दिया कि सभा में जाने का मेरा निश्चय पक्का है, और में अवश्य जाऊँगी। . इस प्रकार उन्होंने अपनी दृढ़ता का परिचय दिया।

विशेष:

  1. माँ कस्तूरबा की दृढ़ता को उजागर किया गया है। पति के कार्य को आगे बढ़ाने के क्षमता को उद्घाटित किया गया है।
  2. भाषा सरल, सुबोध और आम बोलचाल की खड़ी बोली है।
  3. मुहावरों का सार्थक प्रयोग किया गया है।

गद्यांश पर आधारित अर्थग्रहण संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
प्रस्तुत गद्याशं में माँ कस्तूरबा के चरित्र का कौन-सा पक्ष उजागर हुआ है?
उत्तर:
प्रस्तुत गद्यांश में माँ कस्तूरबा के चरित्र की दृढ़ता का पक्ष उजागर हुआ है।

प्रश्न (ii)
महात्मा गाँधी को गिरफ्तार करने के बाद दक्षिण अफ्रीका सरकार ने कस्तूरबा के सामने क्या प्रस्ताव रखा?
उत्तर:
महात्मा गाँधी को गिरफ्तार करने के बाद दक्षिण अफ्रीका सरकार ने माँ कस्तूरबा के सामने प्रस्ताव रखा कि अगर आपकी इच्छा हो तो आप भी (गाँधीजी के) साथ चल सकती हैं।

प्रश्न (iii)
माँ कस्तूरबा ने पति की गिरफ्तारी के बाद उनके अधूरे कार्य को आगे बढ़ाने के लिए क्या किया?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा ने पति की गिरफ्तारी के बाद उनके अधूरे कार्य को आगे बढ़ाने के लिए उस सभा को सम्बोधित करने का निश्चय किया, जिसमें वे भाषण देने वाले थे। सरकारी अधिकारियों द्वारा रोकने पर भी वे नहीं रुकीं।

गद्यांश पर आधारित विषय-वस्तु संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
माँ कस्तूरबा ने गाँधी के साथ जेल जाने से क्यों मना कर दिया?
उत्तर:
सरकार माँ कस्तूरबा को गिरफ्तार नहीं कर रही थी अपितु उसने उनकी इच्छा पर छोड़ दिया था इसलिए उन्होंने गाँधीजी के साथ जेल जाने से मना कर दिया था। दूसरे उनकी जेल जाने की तैयारी भी नहीं थी।

प्रश्न (ii)
सरकारी अमलदारों ने क्या कहकर कस्तूरबा को सभा में जाने से रोकने का प्रयास किया?
उत्तर:
सरकारी अमलदारों ने यह कहकर कि ‘माताजी सरकार का कहना है कि आप घर पर ही रहें, सभा में जाने का कप्ट न उठाएँ, यह कहकर कस्तूरबा को सभा में जाने से रोकने का प्रयास किया।

MP Board Solutions

प्रश्न 5.
आगाखाँ महल में खाने-पीने की कोई तकलीफ नहीं थी। हवा की दृष्टि से भी स्थान अच्छा था। महात्माजी का साथ भी था, किंतु कस्तूरबा के लिए यह विचार ही असह्य हुआ कि ‘मैं कैद में हूँ।’ उन्होंने कई बार कहा-‘मुझे यहाँ का वैभव कतई नहीं चाहिए, मुझे तो सेवाग्राम की कुटिया ही पसंद है।’ सरकार ने उनके शरीर को कैद रखा किंतु उनकी आत्मा को वह कैद सहन नहीं हुई। जिस प्रकार पिंजड़े का पक्षी प्राणों का त्याग करके बंधनमुक्त हो जाता है उसी प्रकार कस्तूरबा ने सरकार की कैद में अपना शरीर छोड़ा और वह स्वतंत्र हुईं। उनके इस मूक किंतु तेजस्वी? बलिदान के कारण अंग्रेजी साम्राज्य की नींव ढीली हुई और हिंदुस्तान पर उनकी हुकूमत कमजोर हुई।

कस्तूरबा ने अपनी कृतिनिष्ठा के द्वारा यह दिखा दिया कि शुद्ध और रोचक साहित्य के पहाड़ों की अपेक्षा कृति का एक क्षण अधिक मूल्यवान और आबदार होता है। शब्द-शास्त्र में जो लोग निपुण होते हैं उनको कर्त्तव्य-अकर्तव्य की हमेशा ही विचिकित्सा करनी पड़ती है। कृतिनिष्ठ लोगों को ऐसी दुविधा कभी परेशान नहीं कर पाती। कस्तूरबा के और सामने उनका कर्तव्य किसी दीये के समान स्पष्ट था। जब कभी कोई चर्चा शुरू हो जाती तब ‘मुझसे पेही होगा’ और ‘यह नहीं होगा’-इन दो वाक्यों में ही अपना फैसला सुना देतीं। (Pages 45-46)

शब्दार्थ:

  • तकलीफ़ – परेशानी।
  • असह्य – असहनीय, सहन न करने योग्य।
  • वैभव – ऐश्वर्य।
  • कतई – बिलकुल, ज़रा भी।
  • बंधनमुक्त – स्वतंत्र।
  • मूक – मौन।
  • नींव ढीली होना – आधार कमजोर होना।
  • हुकूमत-शासन – व्यवस्था।
  • आबदार – स्वाभिमानी, धारदार, चमकदार।
  • निपुण – कुशल।
  • विचिकित्सा – संदेह, शक, दुविधा।

प्रसंग:
प्रस्तुत गद्यांश काका कालेलकर द्वारा रचित ‘निष्ठामूर्ति कस्तूरबा’ से उद्धृत किया गया है। लेखक माँ कस्तूरबा की मृत्यु और उससे ब्रिटिश साम्राज्य पर पड़ने वाले प्रभाव का वर्णन कर रहा है।

व्याख्या:
भारत की ब्रिटिश सरकार ने महात्मा गाँधी और माँ कस्तूरबा को गिरफ्तार करके आगा खाँ महल में रखा। महल में खाने-पीने की व्यवस्था अच्छी थी। उन्हें खाने-पीने की कोई परेशानी नहीं थी। हवा के आने-जाने की भी अच्छी व्यवस्था थी। दूसरे शब्दों में, महल हवादार और आरामदायक था। फिर गाँधीजी भी माँ कस्तूरबा के साथ ही थे किंतु सभी प्रकार की सुविधाएँ होते हुए भी ‘बा’ के लिए यह विचार ही असहनीय था कि वे इस महल में कैद हैं। यह महल कैदखाना है। उन्होंने इस संबंध में कई बार कहा कि मुझे यहाँ का ऐश्वर्य बिलकुल नहीं चाहिए।

मुझे तो इस महल की अपेक्षा सैवाग्राम की कुटिया ही अधिक पसंद है। लेखक कहता है कि सरकार ने उनके शरीर को आगा खाँ महल में कैद कर रखा था किंतु उनकी आत्मा को यह कैद सहन नहीं हुई। जिस प्रकार पिंजरे में बंद पक्षी अपने प्राणों को त्यागकर स्वतंत्र हो जाता है। उसी प्रकार माँ कस्तूरबा सरकार की कैद में अपना शरीर छोड़ा अर्थात् सरकार की कैद में ही माँ कस्तूरबा का देहांत हो गया और वे सरकार की कैद से आजाद हो गईं। उनके इस मौन किंतु तेजस्वी बलिदान के कारण भारत में अंग्रेजी साम्राज्य के आधार को कमजोर कर दिया। हिंदुस्तान पर उनकी पकड़ ढीली पड़ गई।

माँ कस्तूरबा ने अपने कार्यों से यह दिखा दिया कि अपनी कृतिनिष्ठा अर्थात् महात्मा गाँधी के प्रति उनकी श्रद्धा और आस्था के द्वारा यह प्रमाणित कर दिया कि शुद्ध और रोचक साहित्य के विशाल भंडार की अपेक्षा सृष्टि की रचना का एक क्षण अधिक मूल्यवान और स्वाभिमान होता है। शब्द-शास्त्र अर्थात् शब्द ज्ञान में जो लोग निपुण होते हैं उनको कर्त्तव्य और अकर्तव्य का निर्णय करने में सदैव दुविधा होती हैं।

लेखक का मत है कि ईश्वर की रचना के प्रति आस्था रखने वाले लोगों को इस प्रकार की दुविधा कभी भी परेशान नहीं कर पाती अर्थात् वे तुरंत निर्णय करने में सक्षम होते हैं। माँ कस्तूरबा के सम्मुख उनका कर्त्तव्य दीये के प्रकाश के सामने बिलकुल स्पष्ट था। जब कभी कर्त्तव्य-अकर्त्तव्य के संबंध में चर्चा आरंभ हो जाती तो :मुझसे यही होगा’ और ‘मुझसे यह नहीं होगा’ कहकर वे अपना स्पष्ट निर्णय दे देती थीं। उन्हें निर्णय लेने में ज़रा भी देर नहीं लगती थी। वे तुरंत निर्णय लेने की क्षमता रखती थीं।

विशेष:

  1. माँ कस्तूरबा की कैद में मृत्यु ओर ब्रिटिश शासन पर उसके प्रभाव का वर्णन किया गया है।
  2. माँ कस्तूरबा की निर्णय क्षमता को उजागर किया गया है।
  3. भाषा तत्सम तथा उर्दू शब्दावली से युक्त खड़ी बोली है।

गद्यांश पर आधारित अर्थग्रहण संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
माँ कस्तूरबा आगा खाँ महल में क्यों नहीं रहना चाहती थीं?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा को सरकार ने आगा खाँ महल में कैद में रखा था। यद्यपि उन्हें वहाँ सारी सुविधाएँ उपलब्ध थीं तथापि उन्हें कैद में होने का विचार असह्य था इसलिए वे आगा खाँ महल में नहीं रहना चाहती थीं।

प्रश्न (ii)
माँ कस्तूरबा सरकार की कैद से कैसे स्वतंत्र हुईं?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा जेल में ही अपने प्राणों को त्यागकर सरकार की कैद से मुक्त हो गईं।

प्रश्न (iii)
प्रस्तुत गद्यांश में माँ कस्तूरबा की कौन-सी चारित्रिक विशेषता उभरकर सामने आई है?
उत्तर:
प्रस्तुत गद्यांश में माँ कस्तूरबा के चरित्र की कर्तव्य-अकर्त्तव्य के संबंध में निर्णय लेने की क्षमता उजागर हुई है। वे तुरंत निर्णय लेने में समर्थ थीं।

गद्यांश पर आधारित विषय-वस्तु संबंधित प्रश्नोत्तर

प्रश्न (i)
आगा खाँ महल में सरकारी कैद में माँ कस्तूरबा की मृत्यु होने का ब्रिटिश साम्राज्य पर क्या प्रभाव पड़ा?
उत्तर:
कैद में माँ कस्तूरबा की मृत्यु होने से भारत में अंग्रेजी साम्राज्य की नींव ढीली हुई और हिंदुस्तान पर उनकी हुकूमत कमजोर हुई।

प्रश्न (ii)
माँ कस्तूरबा को आगा खाँ महल के वैभव की अपेक्षा क्या पसंद था?
उत्तर:
माँ कस्तूरबा को आगा खाँ महल के वैभव की अपेक्षा सेवाग्राम की कुटिया का सीधा-सादा जीवन अधिक पसंद था।